(ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन) मुख्यमंत्री गौमाता पोषण योजना | लाभ, पात्रता, उद्देश्य व आवेदन प्रक्रिया | Mukhyamantri Gau Mata Poshan Yojana

|| मुख्यमंत्री गौमाता पोषण योजना | Mukhyamantri Gau Mata Poshan Yojana | मुख्यमंत्री गौमाता पोषण योजना 2023 क्या है? | What is Mukhyamantri Gau Mata Poshan Yojana 2023 | मुख्यमंत्री गौमाता पोषण योजना में आवेदन कैसे कैसे करें? ।How to Apply Application for Mukhyamantri Gau Mata Poshan Yojana 2023 ||

Mukhyamantri Gau Mata Poshan Yojana 2023 :- हमारे देश में गाय को हमेशा से ही एक बहुत ही पवित्र पशु माना गया है और इस कारण हिन्दू धर्म के लोग गाय को माता के तौर पर पूजते है। लेकिन आज के समय में बहुत से लोग गाय को सड़क पर छोड़ देते है जिसके कारण गायों की देश में हालत काफी ख़राब हो गयी है। गायों की इस स्थिति को देखते हुए गुजरात सरकार ने राज्य में एक नई योजना की शुरुआत की है जिसका नाम मुख्यमंत्री गौमाता पोषण योजना है। इस ब्लॉग में आपको Mukhyamantri Gau Mata Poshan Yojana 2023 के बारे में सभी जानकारी दी जाएगी। इसलिए आप इस ब्लॉग को अंत तक पढ़ें।

जैसा की आप जानते है कि आये दिन लोग उन गायों को सड़क पर छोड़ रहे है जो गाय दूध नही देती है और सड़क पर छोड़ने या गावों में छोड़ने पर इस तरह की गाय फसलों का नुकसान करती है जिससे राज्य के नागरिक काफी परेशान हो रहे है। इसलिए अब Mukhyamantri Gau Mata Poshan Yojana के अंतर्गत गुजरात सरकार राज्य में गायों की स्थिति को बेहतर बनाने के लिए कई तरह के अभियान चलाये जायेगे जिससे इस योजना के माध्यम से गोवंश और गायों के रहने की व्यवस्था की जाएगी जिससे राज्य में गायों की हालत को बेहतर बनाया जा सके। आइये इसके बारे में विस्तार से जानने की कोशिश करते है –

Contents show

मुख्यमंत्री गौमाता पोषण योजना 2023 क्या है? । What is Mukhyamantri Gau Mata Poshan Yojana 2023?

मुख्यमंत्री गौमाता पोषण योजना को गुजरात में प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी द्वारा नवरात्रि के पावन अवसर पर शुक्रवार के दिन आद्यशक्ति धाम अंबाजी में लांच किया गया है। इसके अलावा गुजरात सरकार द्वारा वित्तीय वर्ष 2022-23 के बजट में भी इस मुख्यमंत्री गौमाता पोषण योजना को शुरू करने के लिए बजट निर्धारित किया गया है। इस योजना के तहत राज्य में गायों की रखवाली और रहने के लिए नई गौशालायें खोली जाएगी और उनके संचालकों को आर्थिक मदद दी जाएगी।

इसके साथ ही राज्य में ऐसी गौशालायें जो पहले से ही चल रही है उन गौशालाओं के संचालकों को सरकार द्वारा आर्थिक सहायता भी दी जाएगी और साथ ही गौशालाओं में गायों के लिए स्वास्थ्य संबधी सेवाओं को भी जोड़ा जाएगा जिससे गायों को खाने के लिए अच्छा चारा दिया जाये और गायें स्वास्थ्य रह सके। Mukhyamantri Gau Mata Poshan Yojana के अंतर्गत कुछ ऐसे लोगो को भी भर्ती की जाएगी जो इन गौशालाओं पर गायों की रखवाली और रखरखाव कर सके।

रजिस्ट्रेशन मुख्यमंत्री गौमाता पोषण योजना लाभ पात्रता उद्देश्य व आवेदन प्रक्रिया
योजना का नाम मुख्यमंत्री गौमाता पोषण योजना
साल 2023
राज्यगुजरात
लाभार्थीगुजरात की आवारा गौ माता/गोवंश और गौशाला/पंजरापोल
निर्धारित बजट500 करोड़ों रुपए
उद्देश्यगायों को सुरक्षा प्रदान करने के लिए गौशाला निर्माण पर आर्थिक सहायता देना
आवेदन प्रक्रिया अभी शुरू नहीं हुई
वेबसाइट अभी लांच नहीं की गयी है

मुख्यमंत्री गौमाता पोषण योजना का उद्देश्य । Objective of Mukhyamantri Gau Mata Poshan Yojana

गुजरात सरकार द्वारा इस योजना को शुरू करने का मुख्य उद्देश्य गुजरात राज्य में सड़कों और खेतों में फसलों को ख़राब कर रही उन गायों को सुरक्षा और प्रदान करना है जिनको राज्य के राज्य के ही नागिरकों द्वारा आवारा छोड़ दिया गया है।  इस योजना के शुरू होने से इन गायों को समय से और पेट भरकर खाना मिल सकेगा जिससे गायों को होने वाली समस्याओं का समाधान हो सकेगा।

Mukhyamantri Gau Mata Poshan Yojana 2023 के शुरू होने से राज्य में रोजगार भी बढेगा क्योंकि इस योजना के तहत गौशालाओं पर काम करने के लिए कुछ नागरिको की भी भर्ती की जाएगी जिससे गौशालाओं पर गायों की रखवाली की जा सके और बीमार होने वाली गायों का समय पर इलाज कराया जा सके क्योंकि सड़कों पर गिरा हुआ खाना खाने से उनका मानसिक और शारीरिक स्वास्थ्य बिगड़ जाता है जिससे लोगो को परेशानी का सामना करना पड़ता है। इसलिए इस समस्या को खत्म करने के लिए सरकार द्वारा इस योजना को शुरू किया गया है।

मुख्यमंत्री गौमाता पोषण योजना 2023 के लाभ । Benefits of Mukhyamantri Gau Mata Poshan Yojana 2023

गुजरात सरकार द्वारा शुरू की गयी इस योजना के अपने कई लाभ है जिनके बारे में आपको नीचे बताया जा रहा है।

  • मुख्यमंत्री गौमाता पोषण योजना का सबसे पहला लाभ यह है कि इस योजना के शुरू होने से राज्य में सड़कों पर घुमने वाली गायों को रहने के लिए एक गौशाला मिल सकेगी।
  • इस Mukhyamantri Gau Mata Poshan Yojana के लिए गुजरात सरकार द्वारा सत्र 2022-23 के बजट में अतिरिक्त धनराशि दी गयी है और इस योजना का सुचारु रुप से संचालन करने के लिए प्रतिवर्ष लगभग ₹500 करोड़ का बजट निर्धारित किया गया है।
  • इस मुख्यमंत्री गौमाता पोषण योजना को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी के द्वारा नवरात्रि के पावन अवसर पर शुरू किया गया है।
  • इस योजना के अंतर्गत राज्य में जरूरत के अनुसार जगह जगह नई नई गौशालाएं खोली जाएगी और उनको मुख्यमंत्री गौमाता पोषण योजना से जोड़ा जाएगा।
  • Mukhyamantri Gau Mata Poshan Yojana 2023 के तहत राज्य में खोली गयी सभी गौशालाओं की रखवाली करने और उसका संरक्षण करने के लिए लोगों को काम पर रखा जाएगा, जिससे गाँव में बेरोजगारों को रोजगार मिल सकेगा।
  • इस योजना के अंतर्गत बनी हुई गौशालाओं में गायों के चारे और भूसे का उचित प्रबंध किया जाएगा जिससे गायों को किसी तरह की कोई परेशानी ना हो और गायें स्वस्थ रहें।
  • क्योंकि इस योजना के बाद आवारा गाय नही होगी जिससे राज्य के किसानों और आम नागरिको को काफी लाभ होगा और उनकी फसलों की सुरक्षा बढेगी।

मुख्यमंत्री गौमाता पोषण योजना का लाभ लेने के लिए जरुरी पात्रता । Eligibility for Mukhyamantri Gau Mata Poshan Yojana 2023

अगर आप इस Mukhyamantri Gau Mata Poshan Yojana 2023 के तहत गौशाला खोलकर या रखवाली करने का काम करना चाहते है जो सरकार द्वारा इसके लिए कुछ नियम बनाये गये है जिसके बाद ही आप इस योजना का लाभ ले सकते है।

  • इस योजना का लाभ केवल गुजरात राज्य का स्थाई नागरिक ही ले सकता है।
  • इस योजना का लाभ गुजरात के केवल उन्ही नागरिकों को दिया जायेगा जो अपने घरों में पशु पालन करते है।
  • अगर आप पहले से ही कोई गौशाला चला रहे है तो भी आप इस योजना में आवेदन कर सकते है और इस योजना का लाभ ले सकते है।
  • आगर आप या आपके घर में कोई व्यक्ति सरकारी नौकरी कर रहा है तो आप इस योजना का लाभ नही ले सकते है।

मुख्यमंत्री गौमाता पोषण योजना के लिए आवश्यक दस्तावेज । Important Documents for Mukhyamantri Gau Mata Poshan Yojana 2023

अगर आप इस मुख्यमंत्री गौमाता पोषण योजना में आवेदन करते है तो आपके  पास नीचे बताये जा रहे सभी दस्तावेज होने भी जरुरी है जिनकी सूची नीचे दी जा रही है।

  • इस मुख्यमंत्री गौमाता पोषण योजना में आवेदन करने वाले आवेदक के पास अपना आधार कार्ड होना अनिवार्य है।
  • आवेदक के पास अपना गुजरात राज्य का निवास प्रमाण पत्र होना भी जरुरी है।
  • इस Mukhyamantri Gau Mata Poshan Yojana में आवेदन करने के लिए आपके पास एक वैध मोबाइल नंबर होना भी अनिवार्य है जिससे कोई अधिकारी या डॉक्टर आपको फ़ोन करके गौशाला के बारे में जानकारी ले सके।
  • मुख्यमंत्री गौमाता पोषण योजना  के तहत मिलने वाले लाभ को लेने के लिए आपका किसी बैंक में खाता होना भी जरुरी है और उसकी पासबुक आपके पास होनी भी अनिवार्य है।
  • अगर आप कोई पुरानी गौशाला या पांजरा पोल का संचालन कर रहे है तो आपके पास उसका पंजीयन प्रमाण पत्र भी होना जरुरी है।
  • अगर आप नई गौशाला खोलन चाहते है तो उसके लिए आपके पास पर्याप्त जगह एवं संसाधन प्रमाण पत्र होना जरुरी है।

मुख्यमंत्री गौमाता पोषण योजना में आवेदन कैसे कैसे करें? ।How to Apply Application for Mukhyamantri Gau Mata Poshan Yojana 2023

अगर आप गुजरात राज्य के नागरिक है और आप इस मुख्यमंत्री गौमाता पोषण योजना में आवेदन करना चाहते है तो आपको बता दूँ की अभी सरकार द्वारा केवल इस योजना की घोषणा की गयी है और इसके लिए कोई नई वेबसाइट या पोर्टल की शुरुआत नही की गयी है।

जब भी गुजरात सरकार द्वारा इस योजना से सम्बंधित कोई वेबसाइट या पोर्टल शुरू किया जायेगा तो उसकी जानकारी आपको इस वेबसाइट पर दे दी जाएगी।

Mukhyamantri Gau Mata Poshan Yojana 2023 Related FAQ

मुख्यमंत्री गौमाता पोषण योजना क्या है?

यह योजना गुजरात सरकार द्वारा शुरू की गयी एक योजना है जिसके तहत आवारा गायों के लिए गौशालायें बनी जाएगी।

मुख्यमंत्री गौमाता पोषण योजना का लाभ कौन ले सकता है?

इस योजना का लाभ केवल गुजरात के मूल नागरिक ही ले सकते है।

मुख्यमंत्री गौमाता पोषण योजना के लाभ क्या है?

गुजरात सरकार द्वारा इस योजना को शुरू करने के कई लाभ है जैसे इस योजना से सड़कों पर घूमने वाली गायों को गौशाला मिल सकेगी, गाँव के आवारा पशुओं से किसानों को छुटकारा मिलेगा।

मुख्यमंत्री गौमाता पोषण योजना के अंतर्गत क्या लाभ मिलता है?

मुख्यमंत्री गौमाता पोषण योजना के तहत लाभार्थी को हर महीने सरकार की तरफ से आर्थिक मदद दी जाती है।

मुख्यमंत्री गौमाता पोषण योजना में आवेदन कैसे करें?

इस योजना में आवेदन करने की पूरी प्रोसेस को आर्टिकल में बताया गया है जिसको पढने के बाद इस योजना में आवेदन कर सकते है।

Leave a Comment