जेड प्लस सिक्योरिटी क्या होती है? Z Plus Security किसे दी जाती है? Z Plus Security In Hindi

Z Plus Security In Hindi  – अव्वल नंबर का दर्जा रखने वाली Z प्लस सिक्योरिटी जो हर समय देश में एक चर्चा का विषय बनी रहती है। सुरक्षा के नजरिये से दी जाने वाली इस सेवा से संबंधित लोगों में अधिकतर सवाल रहते हैं। जैसे यह सिक्योरिटी होती क्या है। इसकी क्या कीमत है। सिक्योरिटी किस कारणों से प्रदान की जाती है। यह कितनी श्रेणियों में विभाजित है। अगर यह महत्वपूर्ण जानकारी से आप रु-ब-रु हैं,आप इसके बारे में जानकारी रखते हैं? तो अच्छा है,परन्तु नहीं भी जानते तो हम आपको महत्वपूर्ण भूमिका निभाने वाली सिक्योरिटी Z Plus Security के बारे में बताएंगे। जिसे हम जेड प्लस सिक्योरिटी से पुकारते हैं।

जेड प्लस सिक्योरिटी क्या होती है? Z Plus Security किसे दी जाती है? Z Plus Security In Hindi

Z Plus Security क्या है –

जब भी किसी भी तरह की सुरक्षा की बात आती है,तो हमें विभिन्न तरह की सुरक्षा कंपनी का नाम सुनने में आता है। अगर देश की सुरक्षा की बात है। तो हमारे देश में BSF,CRPF, एयर फोर्स इस तरह के नाम सुनने को मिलते हैं। और इसी तरह से अगर किसी सामान्य व्यक्ति की सुरक्षा की बात आती है। तो उसके लिए पुलिस होती है। व इसी तरह से अगर किसी नेता या अभिनेता हो उसकी सुरक्षा की बात आती है। तो उसके लिए आपने बहुत सी कैटेगरी का नाम सुना होगा जैसे Z सिक्योरिटी, Z+ सिक्योरिटी, Y सिक्योरिटी, x सिक्योरिटी आदि होती है।

Z Plus Security भारत की सबसे बड़ी वी-वी-आई-पी सुरक्षा सेवा है। इस सुरक्षा के तहत व्यक्ति के साथ कुल 36 लोगों का एक बल होता है। जिसमे से एनएसजी और एसपीजी के 10 कमांडों होते हैं। व साथ ही 10 लोग पुलिस बल से भी लिए जाते हैं।

यह सुरक्षा सबसे सख्त व कड़ी सुरक्षा की श्रेणी में आती है। इस सिक्योरिटी के अंतर्गत आने वाले जवान किसी भी गंभीर परिस्थिति में अपने आप को ढाल कर अपने कार्यों को अंजाम देते हैं। व जिसकी रक्षा के लिए यह तैनात किये जाते हैं। उसको हर समस्या से निकाल कर, अपनी जान जोखिम में डाल कर व्यक्ति की जान बचाने के लिए हर दम तैयार रहते हैं।

Z Plus Security इन श्रेणियों में होते हैं जवान तैनात –

Z प्लस सिक्योरिटी से उपयुक्त व्यक्ति के साथ चलते वक्त पहले घेरे में एनएसजी के अधिकारी होते हैं। जो चारों दिशाओं की गतिविधियों को बारीकी से देखते हैं। और किसी अन्य व्यक्ति को घेरे में घुसने नहीं देते हैं। वही दूसरे घेरे के अंतर्गत एसपीजी और आईटीबीपी, सीआरपीएफ के जवान होते हैं। जो किसी भी प्रकार की अंदरूनी कार्यवाही की देख रेख करते हैं।

महत्वपूर्ण बात यह है कि जेड प्लस सिक्योरिटी कैसे मिलती है? यानि किस नागरिक को यह महत्वपूर्ण अधिकार प्राप्त है –

भारत में Z प्लस सिक्योरिटी की मांग को लेकर कई मशहूर लोग देखे जाते हैं। लेकिन बता दें यह सुरक्षा राजनितिक लोग जिनको अपने ऊपर किसी भी प्रकार के हमले की आशंका होती हैं। उन्हें दी जाती है। इसके बाद देश में रह रहे अन्य वीआईपी या वीवीआईपी लोगों को भी यह सुरक्षा प्रदान की जाती है। जो इसके लिए सरकार से आवेदन करते हैं। इस के उपरांत जब सरकारी ख़ुफ़िया एजेंसियां यह परख लेती हैं। की इस व्यक्ति को Z प्लस सुरक्षा दी जानी चाहिए या नहीं। इसके बाद ही यह सुनिश्चित किया जाता है। की व्यक्ति किस श्रेणी की सुरक्षा के लिए उपयुक्त है।

साथ ही भारत में मुख्य सचिव और गृह सचिव का समुदाय यह निर्णय लेता है। कि दावा करने वाले व्यक्ति को किस प्रकार की सुरक्षा की आवश्यकता है। व किस प्रकार की सिक्योरिटी प्रदान करनी चाहिए।

Z Plus Security किसे दी जाती है –

जेड प्लस सिक्योरिटी राष्ट्रपति, प्रधान मंत्री, सर्वोच्च और उच्च न्यायालय के न्यायाधीश, राज्यपाल, मुख्यमंत्री और कैबिनेट मंत्री डिफ़ॉल्ट रूप से इस प्रकार की सुरक्षा सेवा दे सकते हैं। और वे स्वयं भी इस सेवा के पात्र हो जाते हैं। यह सेवा (सुरक्षा) उनके लिए मान्य है। व पूर्व प्रधानमंत्री को भी सुरक्षा प्रदान की जाती है। जेड प्लस सिक्योरिटी निम्न व्यक्तियों को दी जा सकती है –

  • राष्ट्रपति
  • उपराष्ट्रपति
  • प्रधानमंत्री
  • सुप्रीम कोर्ट या हाई कोर्ट जज
  • राज्यपाल
  • मुख्यमंत्री
  • प्रमुख नेता
  • प्रसिद्ध कलाकार
  • कोई खिलाड़ी
  • देश का कोई प्रसिद्ध तथा महत्वपूर्ण नागरिक

Z Plus Security का गठन –

आज़ादी के बाद अनेक फोर्स भारत में आई पर जब लोगों को अपनी जान का खतरा सताने लगा तो अनेक अन्य बलों को गठन किया गया था। इसी कड़ी में Z Plus Security भी सामने आई जिस का गठन 8 अप्रैल 1985 में किया गया था। इसमें शामिल किये जाने वाले जवानों को एक विशेष रूप की ट्रेनिंग दी जाती है। जिसके बाद ही भारत के तत्कालीन प्रधानमंत्री और पूर्व प्रधानमंत्री उस जवान को SPG कमांडों का सुरक्षा कवच देते हैं। एक अन्य बात यह भी जाननी जरूरी है। की केवल 15 लोगों को ही यह सुरक्षा दी गयी है।

Z Plus Security के मुख्य हथियार –

मौके वारदात को अंजाम देने के लिए इनके पास German Heckler & Koch MP5 submachine guns, Koch PSG1 sniper rifles, Austrian Glock-17 pistols और Swiss SIG SG 551 assault rifles होते हैं। साथ ही यह अपनी ड्यूटी के दौरान हाई ग्रेड बुलेट प्रूफ वेस्ट पहनते हैं। जिसका वजन 2. 2 किलोग्राम का होता है। इन खतरनाक हत्यारों को इस्तेमाल में लाने के लिए इन जवानों को कई नियम कायदों का पालन करना पड़ता है। परिस्थिति की गंभीरता को ध्यान में रख कर ही यह जवान इन असलों का प्रयोग कर पाने में सक्षम हो पाते हैं।

भारत में जेड प्लस सिक्योरिटी की कीमत क्या है –

सुरक्षा कीमत एन-एस-जी कमांडो की संख्या पर निर्भर करती है, लेकिन मुख्य रूप से Z Plus Security 7 लाख से 25 लाख तक है,लेकिन स्तिथि के अनुसार कीमत में विवधता हो सकती है। केवल अगर इस सिक्योरिटी के बजट की बात की जाये तो बता दें इसका साल भर का बजट तकरीबन 300 करोड़ के आस पास पहुंचता है। इस सुरक्षा को देश की सबसे महंगी सुरक्षा में दर्जा प्राप्त है।

जेड प्लस सिक्योरिटी के लाभ –

जेड प्लस सिक्योरिटी एक ऐसे सुरक्षा प्रदान करती है। जिस से उनके दायरे में कोई पंछी भी पर नहीं मार पाता है। व्यक्ति जिसने भी इस सेवा का लाभ लिया वह समाज में जिस भी सफल कार्य को करने में लगा है। वह बिना किसी भय के अपने काम को कर सकता है। जिस से समाज के विकास में आने वाली किसी भी रुकावट को मौके पर ही रोक दिया जाता है।

छवि निर्माण:- जेड प्लस सिक्योरिटी का एक लाभ यह भी है। की यह विशेष व्यक्ति की समाज में एक अलग ही छवि का निर्माण करती है। क्योंकि यह सुरक्षा केवल चुनिंदा लोगों को ही मिलती है।

Z Plus Security और अन्य सिक्योरिटीज से भिन्न कैसे है –

खतरे के स्तर के आधार पर सिक्योरिटी को 4 मुख्य भागों में बांटा है –  X,Y,Z,Z+

जेड प्लस को सबसे उच्चतम स्तर प्राप्त है। क्योंकि इसमें केवल वे ही जवान शामिल हो पाते हैं। जो मानसिक और शारारिक रूप से अन्य जवानों से मजबूत होते हैं। अपनी सख्त ट्रेनिंग में सभी चरणों में पास होकर ही इन्हे इस सिक्योरिटी में शामिल किया जाता है। यह अन्य सिक्योरिटी से भिन्न इस लिए भी है। क्योंकि देश में लगभग 450 लोगों को सुरक्षा दी जा रही है। परन्तु Z प्लस मात्र 15 लोगों को दी जा रही है। इसमें जो जवान शामिल होते है। उनके पास अन्य सिक्योरिटी से ज्यादा अधिकार प्राप्त हैं। जिनका वह लोग कभी भी इस्तेमाल कर सकते हैं।

दोस्तों, इस लेख में आपको देश की सर्वश्रेष्ट सुरक्षा Z Plus Security से जुडी सभी बातों की जानकारी दी गयी है। यह देश की सुरक्षा बल का प्रतिनिधित्व तो करती ही है। साथ ही दुश्मन के नियहते कारनामों को विफल भी करती है। अगर आप Z प्लस सिक्योरिटी से जुड़े अन्य सवालों की जानकारी चाहते हैं। तो आप हमे नीचे कमेंट कर सकते हैं। साथ ही अगर यह जानकारी आप को पसंद आती है। तो आप इसे आसानी से शेयर भी कर सकते हैं।।धन्यवाद।।

Spread the love

अपना सवाल यहाँ पूछें। कमेंट में अपना मोबाइल नंबर, आधार नंबर और अकाउंट नंबर जैसी पर्सनल जानकारी न शेयर करें।