एक्स रे टेक्नीशियन कैसे बने? योग्यता, कार्य, वेतन, कोर्स पात्रता, कोर्स फीस

X-ray technician kaise bane, क्या आप एक्स रे टेक्नीशियन कोर्स करने के बारे में सोच रहे हैं और इसके लिए क्या किया जाए इसके बारे में जानना चाहते हैं। दरअसल भारत में मेडिकल फील्ड में जाने के लिए केवल डॉक्टर बनना या नर्स बनना ही काफी नही होता (X Ray Technician kaise bane) है।

मेडिकल फील्ड में काम करने की अपार संभावनाएं होती हैं और उसमे एक नाम है एक्स रे टेक्नीशियन का। इनमे बिना तो किसी डॉक्टर का या अस्पताल का काम भी नही चल (How to become X Ray Technician in India in Hindi) सकता हैं।

इसलिए यदि आप भी एक्स रे टेक्नीशियन का कोर्स करने का सोच रहे हैं और यह जानना चाहते हैं कि एक एक्स रे टेक्नीशियन को क्या करना होता है (X Ray Technician in Hindi) या फिर एक्स रे टेक्नीशियन बनने के लिए क्या करना पड़ता है। तो आज हम आपको इस लेख के माध्यम से एक्स रे टेक्नीशियन बनने के ऊपर संपूर्ण जानकारी देंगे। आइए जाने एक्स रे टेक्नीशियन कैसे बने।

एक्स रे टेक्नीशियन कैसे बने? (X-ray technician kaise bane)

एक्स रे टेक्नीशियन बनने के लिए या इसका कोर्स करने के लिए आपका इसके बारे में संपूर्ण रूप से जानना आवश्यक है। साथ ही इसका कोर्स करने से पहले आपको पहले से ही क्या तैयारी करनी होगी और उसके लिए क्या क्या करना होगा इत्यदि के बारे में भी विस्तार से जानना आवश्यक है। तो आइए जाने एक्स रे टेक्नीशियन बनने के लिए आपको क्या क्या जानना चाहिए।

एक्स रे टेक्नीशियन कैसे बने? योग्यता, कार्य, वेतन, कोर्स पात्रता, कोर्स फीस

एक्स रे टेक्नीशियन कौन होता है? (X-ray technician kya hota hai)

हम आज तक कितनी ही बार डॉक्टर के पास अपनी बीमारी का उपचार करवाने के लिए गए होंगे। ऐसे में कई बार हम किसी चीज़ से टकरा कर या गिरकर चोट लग जाती है या हड्डी फ्रैक्चर हो जाती है। साथ ही अन्य बहुत से कारण होते है जिससे हमारे शरीर (X Ray Technician kya hai) के अंदर चोट लग जाती है।

ऐसी स्थिति में जब भी हम डॉक्टर के पास जाते है तो वह हमारा सीधा उपचार नही करता है और पहले हमें एक्स रे करवा कर आने को कहता है। अब इसके लिए हमें किसी एक्स रे टेक्नीशियन के पास जाना होता है और उससे अपने शरीर के किसी भाग का एक्स रे करवाना होता है। बिना उसके डॉक्टर भी हमारा उपचार नही कर पाएगा।

तो बस वही एक्स रे करने वाले व्यक्ति को ही एक्स रे टेक्नीशियन कहा जाता है लेकिन वह काम कोई सामान्य व्यक्ति नह कर सकता है। आप सोच रहे होंगे कि उसमे करना ही क्या होता है और यह काम तो कोई भी कर लेगा तो आप गलत है।

दरअसल मेडिकल की फील्ड में किसी भी व्यक्ति को यूँ ही नही रखा जाता है। यहाँ तक की उपकारों की साफ सफाई करने वाले व्यक्ति को भी मेडिकल के क्षेत्र में कोई ना कोई कोर्स करना अनिवार्य होता है अन्यथा उसकी वह नौकरी नही लग पायेगी।

इस्ले आप जिसे एक्स रे टेक्नीशियन का काम करते हुए देखते हैं, उसे बनने के लिए भी मेहनत करनी पड़ती है। इसे समझने के लिए पहले आपको उसके काम को समझना होगा। तभी आप उसके बारे में सही से जान पाएंगे। आइए जाने एक्स रे टेक्नीशियन के काम के बारे में।

एक्स रे टेक्नीशियन के काम (एक्स रे टेक्नीशियन work)

यदि आप एक्स रे टेक्नीशियन बनने का सोच रहे हैं तो आपको उसके काम के बारे में भी अच्छे से पता होना चाहिए क्योंकि बिना किसी का काम जाने आप उसके लिए तैयारी कैसे ही कर पाएंगे। तो एक्स रे टेक्नीशियन के मुख्य कामों में आते हैं:

  • जो भी व्यक्ति या रोगी उनसे अपना एक्स रे करवाने आया हैं उनका एक्स रे करके देना। इस दौरान जिस भी भाग का एक्स रे करना है, केवल उसी भाग का ही करे।
  • एक्स रे करते समय बहुत हानिकारण तरंगे निकलती हैं जिनसे बचाव का कार्य भी उसी का ही होता है। इसलिए जिसका एक्स रे हो रहा है उसे एक्स रे मशीन की हानिकारक तरंगो से बचाना।
  • रेडियोग्राफ़िक मशीन के बारे में संपूर्ण जानकारी का होना और उसकी देखभाल करना।
  • एक्स रे मशीन या रेडियोग्राफ़िक मशीन के उपकारों की साफ सफाई व उनकी देखभाल करना।
  • एक्स रे कमरे में मौजूद अन्य लोगों को भी रेडियोधर्मी किरणों से बचाना।
  • डॉक्टर के द्वारा बताये गए सभी दिशा निर्देशों का पालन करना।
  • रोगी का जो भी एक्स रे हुआ हैं उसकी रिपोर्ट तैयार करना और उसे देना।
  • हर चीज़ का रिकॉर्ड रखना ताकि यह बाद में काम आ सके।

तो इस तरह से एक एक्स रे मशीन व उससे संबंधित हर कार्य का उत्तरदायित्व एक एक्स रे टेक्नीशियन के पास ही होता है। यह काम बहुत ही संवेदनशील होता है।

ऐसा इसलिए क्योंकि इसमें किसी भी तरह की लापरवाही रोगियों के लिए और वहां मौजूद अन्य लोगों के लिए जानलेवा साबित हो सकती हैं। यही कारण हैं कि एक्स रे टेक्नीशियन के रूप में एक सर्टिफाइड व डिग्री प्राप्त व्यक्ति को ही काम पर रखा जाता है।

एक्स रे टेक्नीशियन बनने के लिए क्या करें (एक्स रे टेक्नीशियन kaise bane)

यदि आप एक्स रे टेक्नीशियन बनना चाहते हैं तो आपको सबसे पहले अपनी बारहवीं कक्षा को पास करना अनिवार्य होगा। साथ ही इस बात का ध्यान रखे कि एक्स रे टेक्नीशियन बनने के लिए आपको अपनी 11वीं कक्षा में मेडिकल स्ट्रीम लेनी होगी। अर्थात आपके पास अपनी 11वीं व 12वीं कक्षा में फिजिक्स (भौतिक विज्ञान), केमिस्ट्री (रसायन विज्ञान) व बायोलॉजी (जीव विज्ञान) होनी चाहिए।

आप चाहे तो 11वीं में नॉन मेडिकल भी ले सकते हैं और एक्स्ट्रा विषय के रूप में जीव विज्ञान ले सकते हैं लेकिन ऐसा करने से आपको गणित व जीव विज्ञान दोनों पढ़ने पढ़ेंगे।

वैसे जब आप अपनी बारहवीं कक्षा को पास कर लेंगे तब आप एक्स रे टेक्नीशियन कोर्स कर सकते हैं। हालाँकि इसके लिए आपका बारहवीं कक्षा में न्यूनतम 40 प्रतिशक अंक लाना आवश्यक है या यूँ कहे कि उसमे पास होना आवश्यक हैं।

एक्स रे टेक्नीशियन का कोर्स (एक्स रे टेक्नीशियन ka course)

अब बात करते हैं एक्स रे टेक्नीशियन का कोर्स करने की। दरअसल आपको इस क्षेत्र में ग्रेजुएट, डिप्लोमा, पोस्ट ग्रेजुएट इत्यादि करने के कई विकल्प मिल जाएंगे लेकिन वह केवल एक्स रे टेक्नीशियन बनने के लिए ही नही होते हैं।

उसमे बस एक्स रे टेक्नीशियन की चीज़ को अन्य चीजों के साथ सिखाया जाता है। इसलिए यदि आप एक्स रे टेक्नीशियन बनना चाहते हैं तो आपको इसमें बस एक कोर्स करना होगा। आइए उसके बारे में विस्तार से जाने।

एक्स रे टेक्नीशियन का कोर्स आप अपनी बारहवीं कक्षा के बाद कर सकते हैं। बस इसके लिए आपको अपनी बारहवीं कक्षा का पीसीबी में पास करना आवश्यक है। उसके बाद आप भारत के विभिन्न कॉलेज, यूनिवर्सिटी या इंस्टिट्यूट में एक्स रे टेक्नीशियन कोर्स के लिए आवेदन कर सकते हैं। इनमे प्रवेश करने के लिए आपको उनके मापदंडो का पालन करना होगा। 

जैसे कि किसी कॉलेज में तो एक्स रे टेक्नीशियन कोर्स करवाने के लिए सीधा आपके बारहवीं के अंकों को आधार बनाया जाएगा तो किसी में लिखित परीक्षा ली जा सकती हैं तो किसी किसी में केवल इंटरव्यू लिया जाएगा। यह अलग अलग कॉलेज या यूनिवर्सिटी के अलग अलग मापदंड के आधार पर होगा और आपको भी उसी के अनुसार उसमे प्रवेश मिलेगा।

एक्स रे टेक्नीशियन कोर्स की अवधि (एक्स रे टेक्नीशियन course duration)

यदि बात एक्स रे टेक्नीशियन कोर्स के समय की की जाए तो यह 2 वर्ष के आसपास होती है। हालाँकि इसके बाद आपको 3 महीने से लेकर 6 महीने की ट्रेनिंग भी करनी पड़ सकती हैं।

ऐसा इसलिए क्योंकि आपको सीधे ही रोगियों के लिए एक्सरे करने को नही रखा जा सकता हैं। उसके लिए पहले आपका पूरी तरह से तैयार होना आवश्यक होता हैं।

एक्स रे टेक्नीशियन कोर्स की फीस (एक्स रे टेक्नीशियन course fees)

यदि बात एक्स रे टेक्नीशियन कोर्स को करने में लगने वाले पैसे की की जाए तो यह अलग अलग कॉलेज या यूनिवर्सिटी पर निर्भर करती हैं।

सामान्य तौर पर एक एक्स रे टेक्नीशियन कोर्स को करने में लगभग 50 हज़ार से लेकर एक लाख तक का पैसा लगता हैं। तो आप मानकर चले कि इसे करने में आपका ज्यादा पैसा खर्च नही होगा।

एक्स रे टेक्नीशियन का सिलेबस (X-ray Technician syllabus)

यदि बात एक्स रे टेक्नीशियन कोर्स में आने वाले सिलेबस की की जायर तो इसमें आपको मेडिकल से संबंधित निम्नलिखित विषय पढ़ने पढ़ सकते हैं:

  • Chemistry
  • Image Acquisition
  • Anatomy
  • Physiology
  • Radiography
  • Physics
  • Light intensity
  • MRI
  • CT Scan
  • Ultrasound
  • Photo Electric Emission
  • Electrical Hazards etc.

इस तरह से आपको एक्स रे टेक्नीशियन कोर्स में कई विषयों को पढ़ाया जाएगा। हालाँकि आप एक्स रे टेक्नीशियन में डिप्लोमा या ग्रेजुएट भी कर सकते हैं। यह पूर्ण रूप से अप पर निर्भर करता हैं कि आप एक्स रे टेक्नीशियन बनने के लिए किसी कोर्स को करेंगे या डिप्लोमा या ग्रेजुएशन।

एक्स रे टेक्नीशियन बनने के लिए कॉलेज या यूनिवर्सिटी (X Ray Technician course college)

अब आपका यह भी जानना आवश्यक हैं कि भारत में एक्स रे टेक्नीशियन बनने के लिए या उसका कोर्स या डिग्री लेने के लिए आप किन किन कॉलेज में आवेदन कर सकते हैं या उसमे पढ़ सकते हैं। तो आइए जाने बेस्ट एक्स रे टेक्नीशियन कोर्स कॉलेज इन इंडिया के नाम।

  • आल इंडिया इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंस, दिल्ली
  • श्रीराममूर्ति मेडिकल कॉलेज, बरेली
  • बेलगाम इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंस, कर्नाटक
  • SVS मेडिकल कॉलेज, महबूबनगर
  • ॐ साईं पेरामेडिकल कॉलेज, हरियाणा
  • जवाहर लाल मेडिकल कॉलेज, राजस्थान
  • कॉलेज ऑफ लाइफसाइंस, मध्यप्रदेश
  • इंडियन पैरामेडिकल इंस्टीट्यूट, गाजियाबाद
  • हिन्द इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंस, लखनऊ
  • रमा यूनिवर्सिटी, कानपुर
  • तीर्थंकर महावीर यूनिवर्सिटी, मुरादाबाद
  • आदेश पैरामेडिकल कॉलेज, मोहाली

एक्स रे टेक्नीशियन बनने के लिए डिग्री (X Ray Technician degree)

यदि आप एक्स रे टेक्नीशियन कोर्स नहीं करके उसमे डिग्री लेना चाहते हैं तो आज हम आपको उसके नाम से भी बता देते हैं। दरअसल इसमें आप अपना डिप्लोमा, ग्रेजुएशन व पोस्ट ग्रेजुएशन सभी कर सकते हैं। आइए एक एक करके तीनो के बारे में जाने।

एक्स रे टेक्नीशियन में डिप्लोमा (Diploma in X-ray)

  • Diploma in Radiography
  • Diploma in X-Ray
  • Technician Diploma in CT Scan Technician
  • Technician Diploma in Radiography and Imaging Technology

एक्स रे टेक्नीशियन में ग्रेजुएशन (Graduation in X-ray)

  • Bachelor in Radiology
  • Bachelor of Diagnostic Radiography
  • B.Sc in Radiography
  • B.Sc in Radiography and Imaging Technology
  • Bachelor of Radiography and Imaging Technology

एक्स रे टेक्नीशियन में पोस्ट ग्रेजुएशन (Post graduation or masters in X-ray)

  • M.Sc Medical Radio Imaging
  • M.Sc Clinical Radiology
  • M.Phil in Medical Science Radiology

तो इस तरह से आप एक्स रे टेक्नीशियन बनने के लिए ऊपर बताये गए कोर्स को करके उसमे एक आधिकारिक डिग्री प्राप्त कर सकते हैं। इसे करने की अवधि भी अलग अलग हैं जिसमें आपको 3 से 6 वर्ष का समय लग सकता हैं। यदि इसमें लगने वाले पैसे की बात की जाए तो वह 3 लाख से लेकर 10 लाख तक हो सकती हैं।

एक्स रे टेक्नीशियन में करियर (X Ray Technician career)

अब जब आपने एक्स रे टेक्नीशियन का कोर्स किया हैं या उसमे कोई डिग्री प्राप्त की हैं तो आपको यह भी जानना होगा कि आगे चलकर इसमें करियर की क्या क्या संभावनाएं हैं। तो आज हम आपको बता दे कि एक्स रे टेक्नीशियन बनकर आप बहुत जगह नौकरी के लिए आवेदन कर सकते हैं या फिर खुद की भी एक एक्स रे टेक्नीशियन लैब खोल सकते (एक्स रे टेक्नीशियन job) हैं।

उदाहरण के तौर पर आप भारत के असंख्य अस्पतालों में एक्स रे टेक्नीशियन की नौकरी करने के लिए आवेदन कर सकते हैं। यदि आपको किसी बड़े अस्पताल में एक्स रे टेक्नीशियन की नौकरी चाहिए तो उसके लिए आपका किसी अच्छी जगह से इसका कोर्स किया जाना आवश्यक हैं। उसके साथ ही आपको एक्स रे टेक्नीशियन का पहले का कुछ अनुभव हैं तो वह भी चलेगा।

यदि आप किसी अस्पताल में नौकरी नही करना चाहते हैं तो आप प्राइवेट लैब में भी नौकरी कर सकते हैं। शुरुआत आप चाहे तो किसी एक्स रे टेक्नीशियन का सहायक बनकर कर सकते हैं और फिर धीरे धीरे इसमें अपना करियर बना सकते हैं। एक तरह से एक्स रे टेक्नीशियन के रूप में आपके पास काम करने की अपार संभावनाएं हैं। इनमे से कुछ इस प्रकार हैं:

  • सरकारी अस्पताल में एक्स रे टेक्नीशियन की सरकारी नौकरी पाना
  • भारतीय सेना में एक्स रे टेक्नीशियन की नौकरी पाना
  • निजी अस्पताल में एक्स रे टेक्नीशियन की नौकरी करना
  • किसी निजी लैब में एक्स रे टेक्नीशियन की नौकरी करना
  • शैक्षिक संस्थानों में एक्स रे टेक्नीशियन का विषय पढ़ाना
  • अनुसन्धान प्रयोगशाला में नौकरी करना
  • एक्स रे टेक्नीशियन का सहायक बनना
  • रेडियोलोजी में तकनीशियन बनना
  • अल्ट्रासाउंड में तकनीशियन बनना
  • रेडियोग्राफर की नौकरी करना
  • डायग्नोस्टिक मेडिकल सोनोग्राफर बनना इत्यादि।

इस तरह एक्स रे टेक्नीशियन के रूप में आप कई तरह की नौकरी कई सकते हैं और वो भी अलग अलग जगह में। इसी के साथ यदि आप कही नौकरी नही भी करना चाहते हैं तो अपनी खुद की एक प्राइवेट लैब खोल सकते हैं जहाँ पर आप एक्स रे टेक्नीशियन का काम कर सकते हैं।

एक्स रे टेक्नीशियन की सैलरी

अंत में सबसे महत्वपूर्ण बात और वो है कि एक एक्स रे टेक्नीशियन को कितना वेतन मिलता है। यदि हम किसी सामान्य एक्स रे टेक्नीशियन की बात करे तो उसका वेतन 10 हज़ार से लेकर 25 हज़ार तक का होता है। हालाँकि समय के साथ साथ व उसके अनुभव के आधार पर यह वेतन बढ़ता रहता हैं जो अधिकतम 60 हज़ार तक हो सकता हैं।

हालाँकि यदि आप किसी बड़े अस्पताल में या बड़े पद पर एक्स रे टेक्नीशियन की नौकरी लगते हैं तो आपकी सैलरी 40 हज़ार से लेकर एक लाख तक भी हो सकती हैं। इसके लिए आपको बहुत मेहनत करने की आवश्यकता हैं तथा अपना रिकॉर्ड भी एकदम साफ सुथरा रखना होगा।

एक्स रे टेक्नीशियन कैसे बने – Related FAQs

प्रश्न: एक्स रे टेक्नीशियन क्या है?

उत्तर: X Ray टेक्निशियन वो होता है जो लोगों का रेडियो एक्टिव टेस्ट करते है और उसकी रिपोर्ट बनाता है।

प्रश्न: डिप्लोमा इन क्ष रे टेक्नोलॉजी क्या है?

उत्तर: डिप्लोमा इन क्ष रे टेक्नोलॉजी का अर्थ हुआ रेडियोग्राफी के विषय में डिप्लोमा प्राप्त कर अस्पताल में नौकरी करना।

प्रश्न: रेडियोग्राफी कोर्स कितने साल का होता है?

उत्तर: रेडियोग्राफी कोर्स दो साल का होता है।

प्रश्न: बीएससी रेडियोलॉजी क्या है?

उत्तर: बीएससी रेडियोलॉजी का मतलब एक्स रे तकनीशियन का कोर्स करना और उसमे डिग्री प्राप्त करना होता है।

प्रश्न: 12वीं के बाद रेडियोलॉजिस्ट कैसे बनें?

उत्तर: 12वीं के बाद रेडियोलॉजिस्ट बनने के लिए आपको उसमे 2 साल का कोर्स करना पड़ेगा या फिर डिप्लोमा या ग्रेजुएशन भी करनी पड़ सकती है।

तो आज आपने जाना कि एक्स रे टेक्नीशियन क्या होता है, उसका काम क्या क्या होता है, उस पर क्या क्या उत्तरदायित्व होते है, एक्स रे टेक्नीशियन के कोर्स क्या होते है, उसमे क्या डिग्री की जा सकती है, उनकी अवधि क्या होती है, एक्स रे टेक्नीशियन में करियर कैसे बनाया जा सकता है तथा उसका वेतन कितना होता है इत्यादि।

Contents show
Spread the love:

Leave a Comment

सुकन्या समृद्धि योजना के नियम अपने बिज़नेस को ऑनलाइन कैसे करे? मुख्यमंत्री गौमाता पोषण योजना फ्लेक्स प्रिंटिंग का बिज़नेस कैसे करें? जिम कैसे खोले? | नया जिम खोलने की लागत, मुनाफा व मशीनें