गैस सब्सिडी नहीं आ रही तो क्या करें? कैसे और कहां शिकायत करें?

केंद्र सरकार ने घरेलू गैस उपभोक्ताओं को गैस सिलेंडर पर सब्सिडी की सुविधा दी है। उन्हें पूरे रेट पर सिलेंडर खरीदना होता है, जिसके बाद सब्सिडी सीधे उपभोक्ताओं के बैंक खाते में ट्रांसफर कर दी जाती है। लाखों उपभोक्ताओं को सब्सिडी मुहैया कराई जा रही है। कई लोग हालांकि सब्सिडी खाते में न आने या किसी और के खाते में आने की समस्या झेलते हैं। लेकिन उन्हें यह नहीं पता होता कि वह इस संबंध में कहां, किसे शिकायत करें। दोस्तों, यदि आपकी भी ऐसी समस्या है तो चिंता कतई न करिये। आज हम आपको इस पोस्ट के जरिये बताएंगे कि यदि गैस सब्सिडी नहीं आ रही तो क्या करें? कैसे और कहां शिकायत करें? आइए शुरू करते हैं।

गैस सब्सिडी क्या है? What is Gas Subsidy?

गैस सब्सिडी नहीं आ रही तो क्या करें? कैसे और कहां शिकायत करें?

इससे पहले कि हम आपको सब्सिडी न आने पर शिकायत की प्रक्रिया बताएं आइए जान लेते हैं कि सब्सिडी और रसोई गैस सब्सिडी क्या है। मित्रों, सामान्य शब्दों में कहें तो सब्सिडी का एक सीधा सा अर्थ है-आर्थिक सहायता। सरकार उर्वरक, पेट्रोलियम पदार्थ आदि पर सब्सिडी देती है। इसे ज्यादातर किसानों, उद्योगों और अन्य उपभोक्ताओं (निर्धन) को दिए जाने का प्रावधान किया गया है। डायरेक्ट बेनिफिट ट्रांसफर यानी डीबीटी के तहत लोगों के खातों में इसका पैसा ट्रांसफर किया जाता है।

आपको बता दें कि केंद्र पेट्रोलियम सब्सिडी के साथ ही केरोसिन और एलपीजी सब्सिडी का भी आवंटन करती है। कोई भी व्यक्ति जिसकी सालाना 10 लाख या उससे कम है, वह सब्सिडी का हकदार है। लोग चाहें तो सब्सिडी का त्याग भी कर सकते हैं। इसके लिए विकल्प का प्रावधान भी किया गया है।

गैस सब्सिडी योजना कब शुरू हुई? When did the gas subsidy scheme start?

बता दें कि इस योजना को जून, 2013 में तत्कालीन यूपीए सरकार ने शुरू किया था। लेकिन अदालत के आदेश के बाद 2014 के शुरू में इसे बंद कर दिया गया। एनडीए सरकार ने इसे 15 नवंबर, 2014 को 54 जिलों से शुरू किया था। इसका लाभ लेने के लिए पहले आधार नंबर होना जरूरी था। अब सरकार ने इसे खत्म कर दिया है। अब बैंक खाता संख्या देकर भी इस योजना में शामिल हुआ जा सकता है। उन्हें इसके लिए एक 17 अंकों की एलपीजी आईडी मिलेगी।

दोस्तों, यही आईडी सबसे काम की चीज होती है, जिसका आपको बार-बार इस्तेमाल करना होगा। चाहे आप अपनी सब्सिडी की जांच करना चाहेंगे तब भी और सब्सिडी नहीं आने की शिकायत करना चाहेंगे तब भी। जरूरी है कि आप इसे संभालकर रखें।

गैस सब्सिडी नहीं आ रही तो क्या करें? What to do if gas subsidy is not coming?

सरकार ने बेशक सब्सिडी देने की व्यवस्था कर दी है, लेकिन ज्यादातर लोगों की शिकायत रहती है कि उन्हें सब्सिडी नहीं मिल रही, या उनके खाते में सब्सिडी नहीं आ रही। इस तरह के केसेज देश में हर जगह देखने को मिलते हैं। वह इस बात का रोना जरूर रोते हैं, लेकिन शिकायत को दूर कराने में सफल नहीं होते, क्योंकि उन्हें यह पता नहीं होता कि शिकायत किसको करनी है? कैसे करनी है? यह आनलाइन होगी या फिर आफलाइन।

और ऐसे कोई एक दो नहीं, बल्कि हजारों लोग हैं, जो सब्सिडी न होने पर शिकायत का तरीका नहीं जानते। जबकि यह बेहद आसान तरीका है। जो लोग गैस एजेंसी जा सकते हैं, वह आफ लाइन शिकायत दर्ज करा सकते हैं, जबकि जो लोग वहां नहीं जाना चाहते, वह लोग घर बैठे ही आनलाइन तरीके से गैस सब्सिडी न आने को लेकर अपनी शिकायत दर्ज करा सकते हैं।

गैस सब्सिडी नहीं आ रही तो टोल फ्री नंबर पर दर्ज कराएं अपनी शिकायत –

घरेलू उपभोक्ताओं को एक साल में 12 सिलेंडर पर सब्सिडी मिलती है। इससे ज्यादा खरीदने पर बाजार भाव से भुगतान करना होता है। आपको बता दें कि अभी तक प्रत्येक सिलेंडर पर 291.48 रुपये सब्सिडी मिल रही थी, जिसे बढ़ाकर 312.48 रुपये कर दिया गया है। यदि आपके बैंक एकाउंट में सब्सिडी नहीं पहुंच रही है तो इसके लिए आप पेट्रोलियम मंत्रालय से सीधे शिकायत कर सकते हैं। इसके लिए मंत्रालय की ओर से एक टोल फ्री नंबर 18002333555 जारी किया गया है। इंडेन, भारत गैस या एचपी, आप जिस भी गैस के कनेक्शनधारक हैं, इस नंबर पर कॉल कर आप अपनी व्यथा दर्ज करा सकते हैं।

गैस सब्सिडी न मिलने के कारण – Reasons for not getting gas subsidy

आप सब्सिडी न मिलने की शिकायत तो कर रही सकते हैं। इससे पूर्व आप अपने एलपीजी गैस डिस्ट्रीब्यूटर के पास जाकर यह सुनिश्चित कर लें कि आपका बैंक एकाउंट आपके आधार कार्ड से लिंक है या नहीं। इसके साथ ही जिस बैंक में आपका खाता खुला हुआ है, जहां आपने सब्सिडी के लिए फॉर्म भरा है, वहां जाकर भी अपना डाटा चेक कर लें। ऐसा न हो कि आपने इस फॉर्म में कोई गलत जानकारी भर दी हो, जिसकी वजह से आपकी सब्सिडी नहीं पहुंच पा रही हो।

ऐसा कई उपभोक्ता कर देते हैं, जिसकी वजह से सब्सिडी उनके बैंक खाते में आने से रुक जाती है। वह समझ भी नहीं पाते कि ऐसा क्यों हुआ। इस बारे में सावधानी बरतें।

किसी और के खाते में गैस सब्सिडी जा रही हो क्या करें?

यदि आपकी सब्सिडी की रकम किसी और के खाते में जा रही हो तो भी आप कतई परेशान न हों। आप इस संबंध में आनलाइन शिकायत दर्ज करा सकते हैं। आनलाइन के साथ ही आफलाइन तरीके से एजेंसी जाकर भी आप अपनी शिकायत दर्ज करा सकते हैं।

Gas Service से जुड़ी ज्यादातर सेवाएं हुईं आनलाइन –

गैस सर्विस से जुड़ी ज्यादातर सेवाएं इन दिनों आनलाइन कर दी गई हैं। बुकिंग से लेकर सब्सिडी चेक करना या अन्य कार्य आप www.mylpg.in पर login करके कर सकते हैं। यदि आप सब्सिडी योजना से जुड़ना चाहते हैं तो उसके लिए आप petroleum.nic.in रजिस्ट्रेशन करा सकते हैं।

गैस सब्सिडी वापस पाने के लिए आवश्यक दस्तावेज – Documents required to get gas subsidy back

साथियों, अब हम आपको बताएंगे कि आप इसके लिए offline आवेदन कैसे कर सकते हैं। इसके लिए आपको गैस एजेंसी पर जाकर एक application form भरना होगा। इस फॉर्म के साथ आपको कुछ दस्तावेज भी लगाने होंगे। यह दस्तावेज कौन कौन से हैं, जान लीजिए-

साथ में यह दस्तावेज देने होंगे-

  • आईडी प्रूफ
  • एड्रेस प्रूफ
  • गैस कनेक्शन के पेपर
  • इन्कम प्रूफ

गिव इट अप अभियान में गैस सब्सिडी छोड़ दी थी तो फिर से गैस सब्सिडी कैसे शुरू करें? How do I get back the gas subsidy?

जिस वक्त सब्सिडी के लिए आवेदन करने की बारी थी, ढेरों ऐसे लोग थे, जिन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के आह्वान पर सब्सिडी छोड़ दी थी। उनका कहना था कि जो लोग आर्थिक रूप से सक्षम हैं और सब्सिडी की आवश्यकता नहीं तो वह अन्य लोगों के भले के लिए सब्सिडी छोड़ दें। ऐसे में हजारों लोगों ने तुरंत सब्सिडी छोड़ दी थी। इन लोगों ने माना था कि सब्सिडी की इनसे ज्यादा जरूरत ऐसे लोगों को है, जो आर्थिक मोर्चे पर परेशानी भुगत रहे हैं। लेकिन मित्रों अब कोरोना संक्रमण काल है। चौथी बार लाकडाउन बढ़ाने की बारी आ गई है। लोग आर्थिक संकट से भी जूझ रहे हैं। ऐसे में ढेरों लोग ऐसे हैं, जो चाहते हैं कि वह सिलेंडर के लिए मिलने वाली सब्सिडी को फिर से पा लें।

यदि आप भी उन्हीं ढेरों लोगों में शामिल हैं, जिन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के आह्वान पर सब्सिडी छोड़ दी थी और अब इसे फिर से हासिल करना चाहते हैं। तो यह संभव है। आप इसके लिए online या offline आवेदन कर सकते हैं। और आपको यह भी जानकारी दे दें कि इसे बहाल कराने में अधिक वक्त नहीं लगता। गैस एजेंसी के नुमाइंदे आपकी सब्सिडी छोड़ने की जांच करते हैं और यह कहने की जरूरत नहीं कि जांच करने के बाद करीब एक सप्ताह के भीतर आपकी सब्सिडी पहले की तरह बहाल कर दी जाएगी। अब हम आपको बताएंगे कि आप इसके लिए आवेदन कैसे कर सकते हैं।

  • आपको इसके लिए PAHAL (DBTL) का हिस्सा बनना होगा।
  • इसके लिए आपको https://mylpg.in/index.aspx पर click करके अपनी 17 digit वाली LPG ID डालनी होगी।
  • यदि आपको इस नंबर की जानकारी नहीं है तो आप अपनी पेट्रोलियम कंपनी का चयन कर consumer number और LPG Distributor के जरिये जानकारी हासिल की जा सकती है।
  • LPG ID डालने के बाद submit पर click करना होगा। इसके बाद process शुरू हो जाएगी।

गैस सब्सिडी वापस पाने के लिए ऑफलाइन अप्लाई कैसे करें? How to apply offline to get gas subsidy back?

आपको यह भी बता दें कि 10 लाख या उससे कम इन्कम वाला व्यक्ति ही इसके लिए आवेदन कर सकता है। एजेंसी जांच के बाद एक सप्ताह में सब्सिडी बहाल कर देती है। इसके लिए नजदीकी डीलर या अपनी गैस एजेंसी से संपर्क किया जा सकता है। साथ ही अभी भी ढेरों लोगों को यह नहीं पता कि एक बार सब्सिडी छोड़ देने के लिए बाद उसे दोबारा ले सकना संभव है। इस बारे में कोई प्रचार न होने की वजह से भी लोग इसके बारे में बहुत ज्यादा नहीं जानते।

गैस सब्सिडी आ रही है या नहीं, कैसे पता करें? How to know if gas subsidy is coming or not?

दोस्तों, जैसा कि हमने आपको पहले बताया कि इन दिनों सभी सर्विस आनलाइन हो गई हैं। यदि आपको भी यह शक है कि रसोई गैस सब्सिडी आपके खाते में नहीं आ रही है या किसी और के खाते में जमा हो रही है तो भी आप परेशान न हों। ऐसे में आप चंद क्लिक के जरिये यह जान सकते हैं कि सब्सिडी आपके खाते में आ रही है या नहीं। इसकी लिए एक निर्धारित प्रक्रिया है। आइए, आपको बताएं कि आप कैसे पता लग सकते हैं। यह कदम follow करें-

  • सबसे पहले आप अधिकृत वेबसाइट https://www.mylpg.in पर जाएं। होम पेज पर तीन एलपीजी सिलेंडर कंपनियों का टैब तस्वीर के साथ दिखेगा।

गैस सब्सिडी नहीं आ रही तो क्या करें? कैसे और कहां शिकायत करें?

  • अपनी कंपनी (जिसका सिलेंडर हो) का चयन करें। जैसे कि यदि किसी के घर में इंडेन का सिलेंडर है, यानी वह इसका कनेक्शनधारक है तो वह इसी सिलेंडर की तस्वीर पर क्लिक करे।
  • सब्सिडी आई या नहीं, इसके लिए नया इंटरफेस खुलेगा। बार मेन्यू में जाकर give your feedback online पर click करें।

न्यू भारत गैस सब्सिडी स्टेटस ऑनलाइन कैसे चेक करें? भारत गैस सब्सिडी कस्टमर केयर

  • अपना मोबाइल नंबर, एलपीजी कंज्यूमर आईडी, राज्य का नाम, डिस्ट्रीब्यूटर की जानकारी भर दें। इसके बाद feedback type पर click करें।

न्यू भारत गैस सब्सिडी स्टेटस ऑनलाइन कैसे चेक करें? भारत गैस सब्सिडी कस्टमर केयर

  • complaint विकल्प को चुनकर next का बटन click करें। नए इंटरफेस में आपका बैंक का ब्योरा निकल आएगा। इससे पता चल जाएगा कि सब्सिडी की रकम खाते में आई है या नहीं।

न्यू भारत गैस सब्सिडी स्टेटस ऑनलाइन कैसे चेक करें? भारत गैस सब्सिडी कस्टमर केयर

दोस्तों, इस पोस्ट के जरिये हमने आपको बताया कि गैस सब्सिडी नहीं आ रही तो क्या करें? कैसे और कहां शिकायत करें? यदि आप गैर सब्सिडी से सम्बंधित अन्य कोई जानकारी चाहते हैं, तो उसके लिए हमें लिख भेज सकते हैं। आपको हम तक अपनी बात पहुंचाने के लिए नीचे दिए गए कमेंट बाक्स में कमेंट करना होगा। आप अपना कोई भी सुझाव और प्रतिक्रिया भी हमको नीचे दिए गए कमेंट बाक्स में कमेंट करके भेज सकते हैं। तो फिर देर किस बात की। लिख डालिए हमें। आपके कमेंट्स का हमें इंतजार है। ।।धन्यवाद।।

Spread the love

अनुक्रम

Leave a Comment