अटल भूजल योजना क्या है? अटल भूजल योजना की जानकारी

मोदी सरकार ने नागरिकों के लिए बहुत सी योजना शुरू की हैं जिनका मुख्य उद्देश्य लोगो को मदद करना और उनकी समस्या का समाधान लाना है। हमारे देश में भूजल भंडार खूब तेजी से घट रहा है जो की एक बहुत ही बढ़ा चिंता का विषय है खास कर के किसानों के लिए। नरेंद्र मोदी ने 2018 में यह प्रस्ताव रखा था जिसको मुमकिन करने के लिए वर्ल्ड बैंक ने भी सहायता की और इस योजना का 2018-19 से 2022-23 कार्यान्वित करना तय हुआ है। यह योजना हमारे पूर्व मुख्यमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के 95 वे जयंती के दिन शुरू की जिसके तहत हर घर में पीने का पानी और किसानों को खेती के लिए पानी दिया जायेगा।

यदि आपको अटल भूजल योजना क्या है? अटल भूजल योजना के क्या लाभ हैं? और इसका लाभ किसे मिलेगा इन सभी सवालों के जवाब प्राप्त करना चाहतें हैं। तो आपको इन सभी सवालों के जवाब इस आर्टिकल के माध्यम से मिलेगा बस आपको यह आर्टिकल लास्ट तक पढना है।

अटल भूजल योजना क्या है?

भारत के कई सारे क्षेत्रों में भूजल का स्तर लगातार कम हो रहा है जिस वजह से वहाँ के लोगो को पानी की समस्या हो सकती है। इस समस्या का हल लाने के लिए मोदी सरकार ने अटल भूजल योजना प्रारम्भ की जो हमारे पूर्व मुख्यमंत्री के नाम से रखी गयी है। भारत के जिन राज्यों का भूजल स्तर काफी कम हो गया है उन में इस योजना के तहत भूजल स्तर बढ़ाया जायेगा। इस योजना से किसानों का खेती करने के लिए पर्याप्त जल मिल सकेगा और उनको खेती करने में आसानी होगी।

अटल भूजल योजना का लाभ गुजरात, हरियाणा,महाराष्ट्र,उत्तर प्रदेश, कर्नाटक, मध्य प्रदेश और राजस्थान के 8350 गांवों का होगा। हमारी केंद्र सरकार का इस योजना के लिए ६००० करोड़ की सहायता प्राप्त हुई है जिसमें ३००० करोड़ वर्ल्ड बैंक द्वारा दिए जायें गे और बाकी के ३००० भारत सरकार देगी। सरकार इस योजना के साथ ही लोगो में पानी के लिए जागरूकता लाने के लिए अभियान भी चलाएगी।

अटल भूजल योजना क्या है? Atal Bhujal Yojana In Hindi

इस योजना में 2 प्रकार से काम किया जायेगा जिसमें पहले तो संगठन को भूजल प्रबंधन के लिए तैयार किया जायेगा और नेटवर्क की निगरानी राखी जाएगी। यह काम इतना आसान नहीं हैं और इसलिए जल संरक्षण योजना,भूजल प्रबंधन का अभ्यास किया जायेगा जिससे लागू करने के समय इसमें कोई समस्या न हो और सभी लोगो को पानी मिल सके।

Atal Bhujal Yojana को क्यों शुरू किया जाए?

भूजल में पानी का स्तर कम होना एक बहुत ही बढ़ी समस्या है जिसका हल लाना बहुत ही आवश्यक है। भारत में आज भी बहुत ही कम ग्रामीण घर है जिनमें पानी के पाइप की सुविधा है जिसके कारण का लोगो का बहुत सी समस्या होती है। इस मुहिम द्वारा सभी ग्रामीण घरों में सुविधा पहुंचना ही इस योजना के लक्ष्य है। जल संकट एक बहुत ही कठिन समस्या है जिससे इस योजना के तहत हल किया जा सकता है। हमारे पूर्व मुख्यमंत्री अटल जी के लिए पानी की समस्या बहुत ही गंभीर थी और उन्हें इसकी बहुत चिंता होती थी। इसलिए मोदी सरकार ने इस समस्या का हल लाने के लिए योजना का प्रारम्भ किया।

इस योजन के तहत जो ग्राम पंचायत इन 7 राज्यों में आते है उन्हें राशि दी जाएगी जिससे वो टेक्नोलॉजी द्वारा भूजल प्रबंधन सुधर सके और पानी की समस्या को हल कर सके| जो ग्राम पंचायत अपना कम अच्छे से करेगी सरकार द्वारा उन्हें काम के लिए ज्यादा राशि दी जाएगी। इसलिए सभी को जल शक्ति मंत्रालय के इस मुहिम में उनकी मदद करनी चाहिए और पानी का इस्तेमाल सही ढंग से करना चाहिए।

अटल भूजल योजना का उद्देश्य –

इस योजना में भूजल का स्तर रोकने के साथ पानी का सही इस्तेमाल करने का भी अभियान शुरू किया जायेगा जिससे पानी की अनावश्यक खपत को रोका जा सके। इस मुहिम से भूजल संबंधित प्रबंधन और साथ ही व्यावहारिक बदलाव लाना भी है जिससे लोग इस योजना को मुमकिन बना सके। 2013 से भूजल प्रबंधन और विनियमन योजना है। जिसके तहत भूजल स्त्रोत और पानी को बचाया जा सके। लेकिन मोदी सरकार ने इस नई योजना के लिए संघ और बजट बनाया जिससे प्रदर्शन अच्छा किया जा सके।

नरेंद्र मोदी ने सभी ऐसे गांवों में जहाँ भूजल स्तर नीचे जा रहा है,लोगो से जल निधि का अनुरोध किया तक सभी मिल के पानी को बचा सके। इतना ही नहीं उन्हों ने किसानों को जल बजट बनाना के भी अनुरोध किया जिससे पता चले के उन्हें फसल के लिए कितना पानी चाहिए। उन्हों ने किसानों से आग्रह किया है की यदि भूजल स्तर नीचे है तो उन्हें वही फसल बोनी चाहिए जिसमें पानी की खपत काम हो। मोदी सरकार ने टेक्नोलॉजी क्षेत्र में भी संशोधन की मांग की है जिससे कम पानी में भी फसल की सिंचाई की जा सके।

अटल भूजल योजना के अंतर्गत प्राथमिकता वाले क्षेत्र कौन कौन से हैं?

अटल भूजल योजना के अंतर्गत कुछ विशेष राज्यों को प्राथमिकता दो जाएगी। पहचान किये गए प्राथमिकता वाले क्षेत्रों में गुजरात, हरियाणा, कर्नाटक, मध्य प्रदेश, महाराष्ट्र, राजस्थान और उत्तर प्रदेश राज्य का नाम शामिल हैं।

इन सभी राज्यों में भारत के कुल भूजल के दोहन के संदर्भ में 25 प्रतिशत प्रतिनिधित्व करते हैं जहाँ अत्यधिक दोहन वाले, अत्यधिक जोखिम तथा कम जोखिम वाले ब्लॉक हैं।

Atal Bhujal Yojana के फायदे –

अटल भूजल योजना से आम नागरिक को क्या क्या सुविधा अथवा लाभ मिलेगा इसे आप इस तरह समझ सकतें हैं –

  • इस योजना से भूजल का स्तर बढ़ सकता है जिससे लोगो की पानी की समस्या हल हो सके। गांवों में सभी को पीने के लिए और किसानों को खेती के लिए अवश्यक पानी मिल सके।
  • इस योजना से ७ राज्यों के ७८ जिलों के ८३५० ग्राम पंचायत को पानी की प्राप्ति होगी और सभी को पानी उपलब्ध होगा।
  • भूजल योजना से सरकार किसानों के लिए जल भंडारण करना चाहती है जिससे उन्हें खेती के लिए ज़रुरत अनुसार पानी मिल सके।

पानी एक बहुत बड़ी समस्या है और इससे लड़ने के लिए मोदी सरकार ने अटल भूजल योजना शुरू की है जिसके तहत ७ राज्यों में भूजल स्तर बढ़ाने ले लिए ६००० करोड़ रुपए की राशि इकट्ठा की गई है। इस से लोगो को पीने के लिए और खेती के लिए पानी मिल सकेगा और लोग अपना जीवन आसान कर सकेंगे।

तो दोस्तों यहां पर प्रदान की गई जानकारी अटल भूजल योजना क्या है? Atal Bhujal Yojana In Hindi आपको कैसी लगी हमें जरूर बताएं। और अपने दोस्तों के साथ शेयर करना ना भूलें। ताकि उन्हें भी इस योजना की जानकारी मिल सके। साथ ही  यदि आपका किसी भी प्रकार का सवाल हो तो नीचे कमेंट बॉक्स में कमेंट करें। हम जल्दी आपके सवालों का जवाब देंगे।। धन्यवाद।।

Spread the love

Leave a Comment