एनपीएस पेंशन खाते के नियमों में क्या बदलाव किए गए हैं? ये बदलाव कब से लागू होंगे?

एनपीएस में निवेश की तरफ लोगों का रुझान लगातार बढ़ रहा है। वे एफडी जैसे पारंपरिक निवेश विकल्प की जगह एनपीएस को तरजीह दे रहे हैं। हाल ही में एनपीएस द्वारा इसके पेंशन खाते के नियमों में कुछ बदलाव किए गए हैं। एनपीएस पेंशन खाते के नियमों में क्या बदलाव किए गए हैं? ये बदलाव कब से लागू होंगे? इस संबंध में आज हम आपको इस पोस्ट में विस्तार से जानकारी देंगे। आइए, शुरू करते हैं –

Contents show

एनपीएस क्या होता है? (What is NPS?)

दोस्तों, आइए सबसे पहले एनपीएस का अर्थ जान लेते हैं। यह समझ लेते हैं कि एनपीएस क्या है? मित्रों, एनपीएस (NPS) की फुल फाॅर्म नेशनल पेंशन सिस्टम (national pension system) है। इसे हिंदी में राष्ट्रीय पेंशन प्रणाली भी पुकारा जाता है।

एनपीएस पेंशन खाते के नियमों में क्या बदलाव किए गए हैं ये बदलाव कब से लागू होंगे 2

आपको बता दें कि एनपीएस सरकार के अधीन एनपीएस ट्रस्ट की रिटायरमेंट स्कीम (retire scheme) है। इसे आज से करीब 20 वर्ष पूर्व सन् 2004 में सरकारी नौकरी वालों के लिए प्रारंभ किया गया था। लेकिन आज से लगभग 15 वर्ष पहले यानी एक मई, 2009 से इसे सभी नागरिकों के लिए खोल दिया गया।

एनपीएस का उद्देश्य क्या है? (What is the objective of NPS?)

दोस्तों लिए अब जान लेते हैं कि एनपीएस का उद्देश्य क्या है? आपको बता दें कि एनपीएस (NPS) का प्राथमिक उद्देश्य देश के सभी नागरिकों को उनकी सेवानिवृत्ति के पश्चात वित्तीय/ आर्थिक सुरक्षा (economic security) प्रदान करना है।

यह योजना रिटायरमेंट (retirement) के पश्चात भविष्य की सुरक्षा (future security) के मद्देनजर एक अच्छी योजना तो है ही, लेकिन यदि आप भी अपने भविष्य के लिए प्लानिंग करना चाहते हैं, टेंशन के बगैर अपनी आने वाली जिंदगी को जीना चाहते हैं तो एनपीएस में निवेश (invest) कर सकते हैं। अच्छी बात यह है कि एनपीएस अकाउंट (NPS account) आनलाइन अथवा आफलाइन (online/offline) दोनों तरीके से खोला जा सकता है।

एनपीएस पेंशन खाते के नियमों में क्या बदलाव किए गए हैं? (what changes have been made in the rules of NPS pension account?)

दोस्तों, यदि आप नेशनल पेंशन सिस्टम (National Pension System) यानी एनपीएस (NPS) में निवेश करते हैं तो आपको बता दें कि आपको बता दें कि यदि पेंशन फंड नियामक एवं विकास प्राधिकरण (Pension Fund Regulatory and Development Authority) यानी पीएफआरडीए (PFRDA) द्वारा एनपीएस (NPS) के अंतर्गत पेंशन निकालने (pension withdrawal) के नियमों में बदलाव किए गए हैं।

नए नियमों के अनुसार अब एनपीएस सदस्य (NPS member) अपने पेंशन खाते (pension account) से 25 प्रतिशत से अधिक राशि (amount) नहीं निकाल सकेंगे। उन्हें अपने खाते से रकम निकालने के लिए कारण अवश्य बताना होगा।

इसके अतिरिक्त एनपीएस अकाउंट होल्डर (NPS account holder) अपने पर्सनल पेंशन खाते (personal pension account) से ही रकम निकाल सकेगा। उसे नियोक्ता/नियोजक (employer) के योगदान (contribution) से निकासी की कोई इजाजत नहीं होगी। दोस्तों, आपको बता दें कि खाताधारक द्वारा अपने खाते से अधिकतम तीन बार ही पैसा निकाला जा सकेगा।

एनपीएस के नियमों में हुआ बदलाव कब से लागू होगा? (From when the changes in rules of NPS will be implemented?)

दोस्तों, अब सबसे अहम सवाल यह है कि एनपीएस के नियमों में हुए यह बदलाव कब से लागू होंगे? तो आपको बता दें मित्रों कि एनपीएस के नियमों में हुए ये बदलाव (changes) एक फरवरी, 2024 से लागू/प्रभावी (effective) होंगे। यानी साफ है यदि स्थिति के पश्चात आप निश्चित से अधिक राशि निकालना चाहेंगे तो वह संभव नहीं हो सकेगा।

एनपीएस अकाउंट खोलने के लिए क्या पात्रता निर्धारित की गई है? (What is the eligibility described for NPS?)

दोस्तों, आइए अब यह जान लेते हैं कि एनपीएस अकाउंट खोलने के लिए क्या पात्रता (eligibility) निर्धारित की गई है? यह इस प्रकार से है –

  • -आवेदक भारत का नागरिक (citizen of India) हो।
  • -एनआरआई (NRI) द्वारा भी यह एकाउंट (account) खोला जा सकता है।
  • -आवेदक की आयु न्यूनतम (minimum age) 18 वर्ष होनी चाहिए।
  • -आवेदक की अधिकतम आयु (maximum age) 70 वर्ष से अधिक न हो।
  • -आवेदक के पास आधार कार्ड (adhaar card) हो।
  • -आवेदक के पास वैध मोबाइल नंबर/ईमेल आईडी (valid mobile number/email ID) हो।
  • -आवेदक का बैंक एकाउंट एक्टिव (bank account active) हो तथा उसमें नेट बैंकिंग सुविधा (net banking facility) हो।

एनपीएस एकाउंट खोलने के लिए किन दस्तावेजों की आवश्यकता होगी? (What documents are required to open NPS account?)

दोस्तों, यह तो आप जानते ही हैं कि आपको बैंक एकाउंट (Bank account) खुलवाने के लिए आईडी प्रूफ (id proof) एवं एड्रेस प्रूफ (address proof) जैसे दस्तावेजों (documents) की आवश्यकता होती है। यदि आप एनपीएस एकाउंट (NPS account) खुलवाना चाहते हैं तो इसके लिए भी आपको कुछ दस्तावेजों (documents) की आवश्यकता होगी, जो कि इस प्रकार से हैं-

  • -आवेदक का आधार कार्ड एवं पैन कार्ड (adhaar and Pan Card)।
  • -आवेदक का आईडी प्रूफ (ID card)।
  • -आवेदक का एड्रेस प्रूफ (address proof)।
  • -आवेदक का वैध मोबाइल नंबर (valid mobile number)।
  • -आवेदक की पासपोर्ट साइज फोटोग्राफ (passport size photograph)।
  • -आवेदक के बैंक खाते का ब्योरा (bank account details)।

एनपीएस एकाउंट कैसे खुलवाएं? (How to open NPS account?)

मित्रों, यदि आप नेशनल पेंशन सिस्टम (National pension system) के तहत खाता खोलना चाहे हैं तो हम आपको बताएंगे कि आप यह अकाउंट (account) कैसे खोल सकते हैं। यह तो हम आपको बता ही चुके हैं कि इस खाते को आप अपनी इच्छा एवं सुविधा अनुसार ऑनलाइन अथवा ऑफलाइन (online or offline) खुलवा सकते हैं। इसकी ऑनलाइन प्रक्रिया (online process) इस प्रकार से है-

  • -सबसे पहले एनपीएस ट्रस्ट की वेबसाइट https://www.npstrust.org.in/ पर जाएं।
  • -यहां होम पेज (home page) पर इंडिविजुअल कैटेगरी (individual category) के आप्शन पर क्लिक करें।
एनपीएस पेंशन खाते के नियमों में क्या बदलाव किए गए हैं ये बदलाव कब से लागू होंगे
  • -इसके पश्चात आपको अपना आधार कार्ड नंबर (aadhar card number) अथवा पैन कार्ड नंबर (Pan card number) डालना होगा।
  • -ऐसा करते ही आपके मोबाइल फोन पर एक ओटीपी (OTP) आएगा। इसके जरिए अपना नंबर सत्यापित (verify) कर दें।
  • -इसके आप आपको अपनी पर्सनल डिटेल्स (personal details) सही सही भरनी होगी।।
  • -अब पेंशन फंड मैनेजर (pension fund manager) का चुनाव करें।
  • -इसके पश्चात आपको निवेश (investment) का माध्यम चुनना।
  • -अब आपको नाॅमिनी (nominee) दर्ज करना होगा।
  • -इतना करने के बाद अपनी फोटो एवं हस्ताक्षर अपलोड (photo and signature upload) करें।
  • -अब आपका एकाउंट जनरेट (account generate) हो जाएगा।
  • -आप टियर-1 (tier-1) एकाउंट में न्यूनतम 500 रुपए, जबकि टियर-2 (tier-2) एकाउंट में न्यूनतम 1,000 रुपए से निवेश शुरू कर सकते हैं।

एनपीएस एकाउंट आफलाइन खुलवाने के लिए क्या करना होगा? (What to do to open NPS account offline?)

दोस्तों, आई अब आपको बता दे कि आप एनपीएस अकाउंट को ऑफलाइन (offline) कैसे खोल सकते हैं। यह प्रक्रिया (process) इस प्रकार से है –

-आपको सर्वप्रथम प्वाइंट्स आफ प्रेजेंस (points of presence) यानी पीओपी (pop) पर जाना होगा। दोस्तों, आपको बता दें कि ये प्वाइंट्स अधिकांशतः बैंक (bank), बीमा कंपनियां (insurance companies) एवं वित्तीय संस्थान (financial institutions) ही होते हैं।

  • -आप एनपीएस की वेबसाइट (website) से भी इन सारे प्वाइंट आफ प्रेजेंस का पता कर सकते हैं।
  • -यहां पहुंचकर आपको एनपीएस एकाउंट खुलवाने के लिए एक रजिस्ट्रेशन फाॅर्म (registration form) भरना होगा।
  • -अब आपको रजिस्ट्रेशन फाॅर्म के साथ मांगे गए सभी आवश्यक दस्तावेज (necessary documents) अटैच करने होंगे।
  • -रजिस्ट्रेशन हो जाने के पश्चात आप कैश अथवा चेक (cash or cheque) के माध्यम से 500 रुपए का शुरुआती निवेश कर अपना एकाउंट चालू कर सकते हैं।

वर्तमान में एनपीएस की संपत्ति एवं ग्राहक आधार क्या है? (What is the NPS’s assets and customer base at present?)

दोस्तों, आइए अब एनपीएस की संपत्ति (assets) एवं इसके ग्राहक आधार (customer base) पर बात कर लेते हैं।आपको बता दें कि एनपीएस के प्रबंधन के तहत वर्तमान में कुल संपत्ति 11 लाख करोड़ रुपए है। अच्छी बात यह है कि इसमें निजी क्षेत्र के निवेश (private sector’s investment) करीब एक लाख करोड़ के आस-पास है।

यह आंकड़ा इस बात की तस्वीर करने के लिए काफी है कि एनपीएस की ओर निजी क्षेत्र का रुझान लगातार बढ़ रहा है। यही नहीं दोस्तों, इसका ग्राहक आधार भी बढ़कर 51.8 लाख पर पहुंच गया है। इसमें कॉरपोरेट ग्राहकों (corporate customers) की संख्या में पिछले वित्तीय वर्ष (last financial year) के मुकाबले 16% की बढ़ोतरी दर्ज की गई है। यह संख्या अब 18 लाख को भी पार कर चुकी है।

एनपीएस की तरफ निजी ग्राहकों का रुझान क्यों बढ़ रहा है? (Why private sectors customers are giving preference to NPS?)

दोस्तों, यह तो हमने आपको बता दिया है कि एनपीएस में निजी सेक्टर का ग्राहक आधार भी लगातार बढ़ रहा है। अब इसकी वजहों पर बात कर लेते हैं। दोस्तों, पूर्व में व्यक्ति अपनी कमाई से अपना रिटायरमेंट (retirement) आने तक घर बनाने अथवा बच्चों के शादी-ब्याह जैसी जिम्मेदारियों से निपटने के बारे में सोचता था। बहुत हुआ तो वह अपनी बची राशि की एफडी करा लेता था और उसके ब्याज के साथ ही पेंशन के सहारे अपनी जिंदगी चलाता था। लेकिन अब मामला थोड़ा अलग है।

युवा लोग नौकरी ज्वाइन करते ही अपनी रिटायरमेंट के बाद की जिंदगी के बारे में सोचने और प्लान करने लगते हैं। सरकारी तौर पर भी पर एनपीएस का खूब प्रचार प्रसार किया गया है। एनपीएस एकाउंट टैक्स सेविंग एवं रिटर्न (tax saving and return) के मामले में एफडी से बेहतर माना जा रहा है। साफ है कि वह रिटायरमेंट के बाद की लाइफ के लिए एक बेहतरीन ऑप्शन उपलब्ध कराता है।

एनपीएस के बारे में अधिक जानकारी कहां से प्राप्त की जा सकती है? (Where one can get more information about NPS?)

दोस्तों, हमने आपको एनपीएस के साथ ही सरकार द्वारा इसके नियमों में की गई तब्दीली के बारे में विस्तार से बताया है। इसके बावजूद यदि आप एनपीएस के संबंध में और अधिक जानकारी चाहते हैं तो आप इसकी वेबसाइट https://npscra.nsdl.co.in/hindi/index.php पर जाकर भी इस प्रणाली के बारे में अधिक जानकारी प्राप्त कर सकते हैं।

एनपीएस की फुल फाॅर्म क्या है?

एनपीएस की फुल फाॅर्म नेशनल पेंशन सिस्टम है।

एनपीएस की शुरुआत कब हुई

एनपीएस की शुरुआत आज से करीब 20 साल पहले सन् 2004 में हुई।

इसे आम नागरिकों के लिए कब शुरू किया गया?

आम नागरिकों को एनपीएस में सन् 2009 में शामिल किया गया।

एनपीएस पेंशन खाते के नियमों में क्या बदलाव किए गए हैं?

अब एनपीएस पेंशन अकाउंट होल्डर अपने पेंशन अकाउंट से 25 फीसदी से अधिक राशि नहीं निकाल सकेंगे।

एनपीएस का खाता कैसे खुलवाया जा सकता है?

यह खाता आनलाइन एवं आफलाइन दोनों तरीके से खुलवाया जा सकता है।

download app

एनपीएस अकाउंट कौन खुलवा सकता है?

18 वर्ष से लेकर 70 वर्ष तक का कोई भी भारतीय नागरिक एनपीएस अकाउंट खुलवा सकता है।

एनपीएस एकाउंट खुलवाने के लिए क्या दस्तावेज आवश्यक हैं?

एनपीएस एकाउंट खुलवाने के लिए आवश्यक दस्तावेजों की सूची हमने आपको ऊपर पोस्ट में दी है। आप वहां से देख सकते हैं।

एनपीएस के बारे में अधिक जानकारी कहां से प्राप्त की जा सकती है?

एनपीएस के बारे में अधिक जानकारी इसकी वेबसाइट https://npscra.nsdl.co.in/hindi/index.php से प्राप्त की जा सकती है।

एनपीएस की ओर निजी क्षेत्र का कैसा रुझान है?

एनपीएस की ओर निजी क्षेत्र के रुझान में बढ़ोत्तरी दर्ज की गई है।

एनपीएस पेंशन खाते के नियमों में हुए नए बदलाव कब से लागू होंगे?

ये बदलाव एक फरवरी, 2024 से लागू होंगे।

दोस्तों इस पोस्ट (post) में हमने आपको जानकारी दी कि एनपीएस पेंशन खाते के नियमों में क्या बदलाव किए गए हैं? ये बदलाव कब से लागू होंगे? उम्मीद करते हैं कि आपने इन सभी बदलावों को अच्छी तरह से समझ लिया होगा। जागरूकता के मद्देनजर इस पोस्ट को अधिक से अधिक शेयर करना न भूलें। अपना कोई भी सवाल आप हमें पहले की ही तरह नीचे दिए गए कमेंट बॉक्स (comment box) में कमेंट (comment) करके भेज सकते हैं। ।।धन्यवाद।।

प्रवेश
प्रवेश
मास मीडिया क्षेत्र में अपनी 15+ लंबी यात्रा में प्रवेश कुमारी कई प्रकाशनों से जुड़ी हैं। उनके पास जनसंचार और पत्रकारिता में मास्टर डिग्री है। वह गढ़वाल विश्वविद्यालय, श्रीनगर से वाणिज्य में मास्टर भी हैं। उन्होंने गुरुकुल कांगड़ी विश्वविद्यालय से व्यक्तिगत प्रबंधन और औद्योगिक संबंधों में डिप्लोमा भी किया है। उन्हें यात्रा और ट्रेकिंग में बहुत रुचि है। वह वाणिज्य, व्यापार, कर, वित्त और शैक्षिक मुद्दों और अपडेट पर लिखना पसंद करती हैं। अब तक उनके नाम से 6 हजार से अधिक लेख प्रकाशित हो चुके हैं।
WordPress List - Subscription Form
Never miss an update!
Be the first to receive the latest blog post directly to your inbox. 🙂

Leave a Comment