वेबसाइट कैसे बनाए? | सिर्फ 5 मिनट में प्रोफेशनल वेबसाइट कैसे बनाये? | Website Kaise Banaye

Website Kaise Banaye:- आज के समय में इंटरनेट ही सब कुछ हैं। हमे कुछ भी जानना हो या किसी चीज़ के बारे में पता करना हो या कही आवेदन करना हो या दैनिक काम करने हो, हुम इसके लिए इंटरनेट को ही उपयोग में लाते हैं। अब हम यह तो कह देते हैं कि (Apni Website kaise banaye in Hindi) गूगल में सब मिलता हैं और आप वहां जो जानना चाहे वो आपको जानने को मिल जाएगा और वह भी विस्तार सहित। किंतु यह सब क्या गूगल खुद करता हैं या यह सब कंटेंट गूगल के द्वारा लिखा जाता हैं? यदि आप ऐसा सोच रहे हैं तो आप बिल्कुल गलत हैं।

दरअसल गूगल तो बस एक माध्यम होता हैं और वहां दिखने वाला कंटेंट अलग अलग वेबसाइट का होता हैं। जिस प्रकार हम एक मॉल में जाते हैं और वहां अलग अलग दुकान पर जाकर शॉपिंग करते हैं। ठीक उसी तरह गूगल एक बहुत बड़ा मॉल हैं और उसमे दुकान के रूप में (Website kaise banate hain) असंख्य वेबसाइट हैं जिन पर अलग अलग सामान मिलता हैं। अब आपको जो भी सामान चाहिए या जिस किसी भी चीज़ के बारे में जानकारी चाहिए आपको उस वेबसाइट पर जाकर वह जानकारी मिल जाएगी।

शायद अब आपको समझ आ गया होगा कि गूगल की क्या भूमिका होती हैं और उसमे एक वेबसाइट क्या करती हैं। ऐसे में यदि आप भी अपनी एक वेबसाइट बनाने का सोच रहे हैं और इसके लिए क्या किया जाए और क्या नही, यह जानने को इच्छुक हैं तो आज हम आपके साथ (Website kaise banai jaati hai) इसी पर ही चर्चा करने वाले हैं। आज के इस लेख में आप यह जान पाएंगे कि किस तरह से आप अपनी वेबसाइट को बना सटे हैं और उसके जरिये पैसे कमा सकते हैं।

वेबसाइट क्या होती है (Website kya hai)

वेबसाइट कैसे बनाए या खुद की वेबसाइट कैसे शुरू करे, यह सब जानने से पहले आपका यह जानना आवश्यक हैं कि आखिरकार एक वेबसाइट होती क्या है और यह क्या काम करती है। तो अब हम सबसे पहले यही जानेंगे कि वेबसाइट किसे कहा जाता है और इसके जरिये हम लोगों को किस तरह की सुविधा मिलती है। तो वेबसाइट एक तरह से कंटेंट का खजाना होता हैं। उस वेबसाइट (Website ka matlab kya hai) पर अपने क्षेत्र से संबंधित कई तरह की जानकारी लिखी हुई होती हैं।

उदाहरण के तौर पर यदि आपकी वेबसाइट फैशन से जुड़ी हुई हैं या किसी प्रोडक्ट की हैं तो आपकी वेबसाइट पर अपने द्वारा उपलब्ध करवाए जा रहे प्रोडक्ट्स या सेवाओं के बारे में जानकरी लिखी हुई होगी। इसी के साथ उस पर कई तरह के लेख होंगे जिनमे अलग अलग तरह का कंटेंट होगा। वही कुछ वेबसाइट केवल कंटेंट पर बेस होती हैं और उनमे तरह तरह के विषय पर कंटेंट लिखा गया होता हैं।

वेबसाइट कैसे बनाए सिर्फ 5 मिनट में प्रोफेशनल वेबसाइट कैसे बनाये Website Kaise Banaye

अब यह आप पर ही निर्भर करता हैं कि आप किस चीज़ के लिए वेबसाइट खोलने जा रहे हैं या आपका उद्देश्य क्या हैं और आप आगे क्या कुछ करना चाहते हैं। यह किसी भी तरह की हो सकती हैं, यह चाहे किसी प्रोडक्ट का प्रमोशन के लिए भी हो सकती हैं या पूर्ण रूप से ब्लॉगिंग की वेबसाइट भी हो सकती हैं। तो पहले अपने बिज़नेस का पता कर ले और उसके बाद ही किसी वेबसाइट की शुरुआत करें।

वेबसाइट कैसे बनाए (Website Kaise Banaye)

अब जब आपने यह जान लिया हैं कि वेबसाइट क्या होती हैं तो आपको भी यह जानने की जिज्ञासा उठ रही होगी कि आखिरकार किसी वेबसाइट के निर्माण करने के लिए आपको क्या कुछ करना पड़ेगा। तो यह तो हम आपको पहले ही स्पष्ट कर दे कि वेबसाइट को बनाना तो आसान होता हैं लेकिन उसे संभालना मुश्किल होता हैं। वह इसलिए क्योंकि गूगल पर पहले से ही बहुत सारी वेबसाइट चलन में हैं और उनके द्वारा विषय पर लिखा जाता रहता हैं।

तो ऐसे में आपको एक पूरी स्ट्रेटेजी बनाकर ही आगे बढ़ना चाहिए ताकि किसी भी चीज़ की कमी ना रह जाए और बाद में चलकर आपको पछतावा ना हो। तो इसके लिए आपको शुरू से ही कुछ बातों को ध्यान में रखकर चलना होगा ताकि वेबसाइट का निर्माण सही से हो सके। आइए जाने आप अपनी खुद की वेबसाइट कैसे बना सकते हैं और उसके लिए आपको क्या कुछ करने की आवश्यकता हैं।

वेबसाइट का प्रकार चुने (Website ka prakar)

यदि आप अपनी खुद की वेबसाइट बनाने का रहे हैं तो उसके लिए आवश्यक है वेबसाइट के प्रकार को चुनना। यदि आप इसके बिना आगे बढ़ते हैं तो बहुत बड़ी भूल कर रहे हैं। कहने का तात्पर्य यह हुआ कि किसी ही चीज़ को शुरू करने से पहले यह अवश्य ध्यान में रख ले कि आप करने क्या जा रहे हैं और आपका लक्ष्य क्या है ताकि आप सही दिशा में आगे बढ़ सके अन्यथा आप चलते रहेंगे और मिलेगा कुछ नही।

इसलिए पहले यह देख ले कि आप जो भी वेबसाइट शुरू करने जा रहे हैं वह आप किस क्षेत्र से संबंधित बनायेंगे। क्या वह फैशन से संबंधित होगी या स्वास्थ्य से संबंधित। क्या उसमे किसी तरह का कंटेंट लिखा जाएगा या फिर किसी का प्रचार किया जाएगा या फिर आप किसी को सेवा देंगे या कोई और काम होगा। तो उक्त बातो को ध्यान में रखकर एक प्रॉपर प्लानिंग बनाए और उसी के तहत ही आगे बढ़ें।

वेबसाइट को एक नाम दे (Website ka name kya rakhe)

अब जब आप वेबसाइट बनायेंगे तो उसे एक नाम भी तो देना होगा। दरअसल आप चाहे कुछ भी शुरू करें फिर चाहे वह दुकान हो या स्टोर या इंटरनेट पर अपनी वेबसाइट या कोई सोशल मीडिया अकाउंट या कुछ और। यदि आप कुछ नया शुरू कर रहे हैं जो कि आपका हैं तो उसे एक नाम देना आवश्यक हो जाता हैं। बिना नाम के तो कोई भी चीज़ नही बनेगी। तो ऐसे में अपनी वेबसाइट के लिए एक अच्छा सा नाम सोच ले। अब नाम सोचते समय इस बात का भी ध्यान रखे कि वह नाम किसी अन्य व्यक्ति के द्वारा ना ख़रीदा गया हो।

कहने का अर्थ यह हुआ कि आपने अपनी वेबसाइट के लिए एक नाम तो सोच लिया लेकिन तब क्या हो जब वह नाम आपको मिलेगा ही नही क्योंकि उस नाम से पहले से ही एक वेबसाइट हैं। इसलिए आप अपने दिमाग में 2 से 3 नाम सोचकर रखे ताकि इसमें से कोई एक नाम तो मिल जाए। यह नाम निर्धारित करते समय इस बात का भी ध्यान रखे कि आप वेबसाइट जिस भी क्षेत्र से संबंधित बनाने जा रहे हैं वह नाम भी उसी से ही जुड़ा हुआ हो। 

यह ना हो कि आपकी वेबसाइट तो स्वास्थ्य से जुड़ी हुई हैं लेकिन नाम फैशन के क्षेत्र से संबंधित हैं। इसलिए नाम को लेकर पहले से ही सतर्कता बरतेंगे तो ज्यादा बेहतर परिणाम मिलेंगे। नाम ही उस वेबसाइट की मुख्य पहचान होगा और लोग आगे चलकर आपकी वेबसाइट को उसी नाम से ही याद रखेंगे।

वेबसाइट का डोमेन नाम ख़रीदे (Website domain name)

अब जब आपने नाम सोच लिया हैं और आपको लगता हैं कि यह नाम आपकी वेबसाइट के लिए सबसे बेहतर नाम रहेगा तो अब समय हैं अपनी वेबसाइट के लिए उस नाम को खरीदने का। कहने का अर्थ यह हुआ कि केवल नाम को सोच लेना ही पर्याप्त नही होता हैं बल्कि उस नाम का अवेलेबल होना और उसे खरीदना भी मायने रखता हैं। अब क्या पता वह नाम आपको वैसा ही ना मिले और उसमे कुछ परिवर्तन होने के बाद आपको मिले तो वह भी आपको दिखाई दे जाएगा।

वेबसाइट का नाम खरीदने के लिए कई तरह की वेबसाइट होती हैं और उन वेबसाइट की ऐड आपने टीवी पर या सोशल मीडिया पर देखी भी होगी। जैसे कि godaddy या hostgator इत्यादि। इस तरह की कई वेबसाइट आपको मिल जएगी जहाँ से आप अपनी वेबसाइट के लिए डोमेन नाम खरीद सकते हैं। यहाँ पर आपको बस अपने द्वारा सोचा गया नाम डालना हैं और उसके बाद यह वेबसाइट अपने आप दिखा देगी कि कौन कौन से नाम और किस रूप में आपके लिए अवेलेबल हैं और उनका मूल्य क्या हैं।

वेबसाइट का नाम नाम खरीदते समय उसका मूल्य भी बहुत निर्भर करता हैं क्योंकि किसी डोमेन नाम को बस 300 से 400 रुपए में भी ख़रीदा जा सकता है तो दूसरी ओर, कुछ कुछ वेबसाइट के नाम हजारों में भी होते हैं। ऐसे में आप यह देख ले कि आप किस तरह के नाम को लेने जा रहे हैं और उसे आप कितने समय के लिए लेंगे जैसे कि एक वर्ष के लिए या दो वर्ष या उससे अधिक वर्ष। इसके बाद आप आगे का काम कर पाएंगे।

वेबसाइट का टेम्पलेट चुनना (Website template)

अब जब आप डोमेन नाम खरीद रहे होंगे तो उसी जगह आपको अपनी वेबसाइट का टेम्पलेट चुनने को कहा जाएगा। एक तरह से आपकी वेबसाइट कैसी दिखेगी यह चुनने के लिए आपसे कहा जाएगा। अब आप अपनी वेबसाइट के लिए किस तरह का टेम्पलेट चुनते हैं यह आप पर निर्भर करेगा। आपको कई तरह के टेम्पलेट मिलेंगे जिनमे से कुछ फ्री होंगे तो कुछ का मूल्य होगा। इन टेम्पलेट में आपको कई तरह के डिजाईन मिलेंगे और उन डिजाईन में भी कई तरह के प्रारूप मिल जाएंगे।

एक तरह से आपके पास अपनी वेबसाइट को डिजाईन करने के लिए कई तरह के विकल्प होंगे लेकिन यह आप पर निर्भर करेगा कि आप किस तरह के टेम्पलेट का चुनाव कर आगे बढ़ेंगे। वेबसाइट का टेम्पलेट चुनते समय यह भी ध्यान रखे कि आप वेबसाइट जिस भी क्षेत्र में बनाने जा रहे हैं और उसका उद्देश्य जो भी हैं, उसका टेम्पलेट उससे मैच करता हो। यदि आप अपनी वेबसाइट के लिए एक उचित टेम्पलेट चुन लेंगे तो यह आपके लिए ही बेहतर रहेगा।

वेबसाइट को डिजाईन करना (Website ko design karna)

अब वेबसाइट का टेम्पलेट चुनना ही पर्याप्त नही होता हैं बल्कि आप उसे किस तरह से डिजाईन करते हैं, यह भी मायने रखता हैं। अब यदि आपको थोड़ी बहुत कोडिंग आती हैं और टेक्निकल जानकारी हैं तो आप यह काम खुद भी कर सकते हैं और क्योंकि इसमें आपको वेबसाइट को सही से डिजाईन करना होगा और उसे अपने अनुसार कस्टमाइज करना होगा।

कहने का मतलब यह हुआ कि जब आप टेम्पलेट चुन लेंगे तो वह प्रारूप तो आपके सामने आ जाएगा लेकिन उसमे मेन्यू में क्या विकल्प होंगे, ऊपर क्या दिखाई देगा और नीचे क्या, यह सब तो आपको ही देखना होगा ना। एक तरह से वेबसाइट को जो भी खोलेगा, उसे यह किस तरह से दिखाई देगी यह आपको ही डिजाईन करना होगा। इसे डिजाईन करते समय इस बात का ध्यान रखे कि जो भी इस वेबसाइट को खोले तो उसे इसमें ज्यादा परेशानी ना हो। वह आसानी से इस वेबसाइट को खोलकर इसे स्क्रॉल कर सके और सब कंटेंट देख सके।

इसके लिए आप चाहे तो किसी टेक्निकल एक्सपर्ट की या सॉफ्टवेर इंजिनियर की सहायता ले सकते हैं और उन्हें अपनी वेबसाइट को डिजाईन करने को कह सकते हैं। बदले में आप उन्हें उनके द्वारा किये गए काम का भुगतान कर सकते हैं या उन्हें क्रेडिट दे सकते हैं। इससे आपकी वेबसाइट को डिजाईन करने में बहुत मदद मिल जाएगी और आपका काम भी बन जाएगा।

वेबसाइट की होस्टिंग खरीदना (Website ki hosting lena)

अब आप सोच रहे होंगे कि यह होस्टिंग क्या होती हैं और इसका वेबसाइट में क्या काम। तो हम आपको स्पष्ट करते हुए यह बता दे कि वेबसाइट बनाते समय उसकी होस्टिंग लेना बहुत ही जरुरी होता हैं अन्यथा कोई भी आपकी वेबसाइट को नही देख पाएगा। वेबसाइट की होस्टिंग करने के बाद ही उसे बाकि लोग इंटरनेट पर देख पाएंगे। अन्यथा केवल आप ही अपनी वेबसाइट को देख पाएंगे और आपके अलावा कोई भी आपकी वेबसाइट को नही देख पाएगा।

आइए इसे एक उदाहरण से समझते हैं ताकि आपको सब कुछ स्पष्ट हो जाए। मान लीजिए आप एक दुकान खोलने जा रहे हैं और आपने वह दुकान खोल भी ली। आपने दुकान पर सब सामान रख लिया और उसे अच्छे से डिजाईन भी कर लिया। वहां आपने एक से बढ़कर एक सामान रखा हैं जो लोगों को देखते ही पसंद आ जाए लेकिन यह सब करने के बाद आप अपनी दुकान का शटर ही नही खोलते हैं तो ग्राहक आपकी दुकान में आएगा कैसे? ग्राहक तो आपकी दुकान से तभी सामान खरीद पाएगा ना जब आप उसका शटर खोले और ग्राहक के आने का रास्ता खुल सके।

ठीक उसी तरह वेबसाइट का डोमेन नाम खरीद लेना और उसका टेम्पलेट चुन कर उसको अच्छे से डिजाईन कर लेना ही पर्याप्त नही होता हैं। अब यह वेबसाइट तो आपकी हो चुकी हैं लेकिन इसे इंटरनेट पर बाकि लोग नही देख पाएंगे। कहने का अर्थ यह हुआ कि यदि आप अपनी वेबसाइट का लिंक भी उन्हें भेजेंगे तो भी वे उसे नही खोल पाएंगे और उन्हें इसमें एक एरर दिखाई देगा। इसके लिए वेबसाइट की होस्टिंग लेकर उसे इंटरनेट पर लाइव किया जाता हैं।

इसके लिए भी आपको उन्हीं वेबसाइट से ही होस्टिंग खरीदनी होगी जहाँ से आपने वेबसाइट का डोमेन नाम ख़रीदा था। एक तरह से जो वेबसाइट वेबसाइट का डोमेन नाम देती हैं वही होस्टिंग की सुविधा भी देती हैं। ऐसे में आप दोनों का कॉम्बो पैक भी ले सकते हैं ताकि आपको भी यह सस्ता पड़े। होस्टिंग के भी वेबसाइट के समय के अनुसार अलग अलग रेट होते हैं जैसे कि एक वर्ष की होस्टिंग का अलग भाव तो 2 वर्ष के लिए अलग और ऐसे ही अन्य। तो बस आप अपने लिए एक बेस्ट प्लान चुने और वेबसाइट की होस्टिंग लेकर उसे लाइव बना दे।

वेबसाइट पर कंटेंट डालना (Website par content dalna)

अब जब वेबसाइट लोगों को दिखने लगी हैं तो अब है उस पर मुख्य काम जो आपको हर दिन और हमेशा करना होगा। वह काम है वेबसाइट पर कंटेंट डालना ताकि उसे पढ़ने के लिए लोग आपकी वेबसाइट पर आये। इसके लिए आपको पूरी रणनीति बनानी होगी और उसी रणनीति के तहत ही आगे बढ़ना होगा। यदि आप बिना रणनीति के ही अपनी वेबसाइट पर कंटेंट डालते चले गए तो आगे चलकर इसका परिणाम कुछ नही निकलेगा और आपकी सारी मेहनत बेकार चली जाएगी।

इसलिए यदि आप चाहते हैं कि आपकी वेबसाइट अच्छी चले और आप उसके जरिये बहुत सारा पैसा कमाए तो आपको बहुत बातो का ध्यान रखना होगा। आपको एक अच्छी सी वेबसाइट बनाने के लिए उसमे लिखे जाने वाले कंटेंट की गुणवत्ता, टाइमिंग, प्लानिंग इत्यादि सभी बातो का ध्यान रखना होगा। इसके अलावा भी बहुत सी ऐसी चीज़े हैं जो आपको सीखनी पड़ेगी और शायद कुछ लोगों को भी काम पर लगाना पड़े जो आपकी वेबसाइट को आगे बढ़ाने में अपना योगदान दे सके।

वेबसाइट का SEO करना (Website ka SEO karna)

यह किसी भी वेबसाइट के लिए सबसे बड़ा सफलता का मंत्र होता हैं। इसे एक उदाहरण से समझिये। आप जिस भी चीज़ पर लिखने जा रहे हैं क्या आप पहले व्यक्ति हैं या आपकी वेबसाइट पहली हैं जो उस विषय पर लिख रही हैं? ऐसा बहुत ही कम देखने को मिलेगा कि उस विषय पर किसी और ने ना लिखा हुआ हो। ऐसे में गूगल में किसी व्यक्ति के द्वारा उस विषय पर ढूंढे जाने पर आपकी वेबसाइट ही आये या आपका लिखा कंटेंट ही शो करें तो यह कैसे हो पाएगा?

तो इसका उत्तर होता हैं बेहतर SEO और गुणवत्तापूर्ण कंटेंट का लिखा जाना। यदि आपकी वेबसाइट का कंटेंट अच्छा हुआ और उसका SEO भी अच्छे से किया गया तो अवश्य ही आपकी वेबसाइट गूगल के पहले पेज पर आ जाएगी और लोग उस पर लिखा हुआ कंटेंट पढ़ने लगेंगे। यह आपकी वेबसाइट पर ट्रैफिक लाने में बहुत ही सहायक होगा और आपको जल्द ही उन्नति मिलेगी।

वेबसाइट कैसे बनाए – Related FAQs

प्रश्न: एक वेबसाइट बनाने में कितना खर्च आता है?

उत्तर: एक वेबसाइट बनाने में 10 से 50 हज़ार रुपए का खर्च आता है।

प्रश्न: फ्री में वेबसाइट कैसे बनाएं?

उत्तर: आप फ्री में वेबसाइट नही बना सकते हैं।

प्रश्न: वेबसाइट कैसे शुरू करें?

उत्तर: वेबसाइट शुरू करने के लिए उसकी होस्टिंग ले और उसके बाद ही वह इंटरनेट पर लाइव हो पायेगी।

प्रश्न: भारत में वेबसाइट की लागत कितनी है?

उत्तर: भारत में वेबसाइट की लागत 10 हज़ार से लेकर एक लाख रुपए तक की होती है।

तो इस तरह से आप अपनी खुद की वेबसाइट का निर्माण कर सकते हैं और उस पर कंटेंट डालना शुरू कर सकते है। इस बात का हमेशा ध्यान रखे कि आपकी वेबसाइट एक दम से ही प्रसिद्ध नही होगी बल्कि इसमें समय लगेगा। बस आपको निरंतर इस वेबसाइट पर काम करते रहना होगा और बाकियों से बेहतर कंटेंट उपलब्ध करवाना होगा। तभी जाकर आपकी वेबसाइट प्रसिद्ध हो पायेगी और आगे बढ़ेगी।

Leave a Comment