WazirX क्या है? वजीरएक्स कैसे काम करता है? P2P Crypto Exchange

यह डिजिटल का दौर है। लिहाजा, करेंसी (currency) इससे कैसे अछूती रह सकती है? इन दिनों Bitcoin जैसी कई डिजिटल करेंसी के जरिए दुनिया भर में transactions हो रहे हैं। कई देशों ने इन्हें लीगल स्टेटस भी दिया है। ऐसे में crypto currency exchange भी अस्तित्व में आ गए हैं, जो peer to peer crypto currency भुगतान को support करते हैं। WazirX एक ऐसा ही crypto currency exchange है। आज हम आपको WazirX के बारे में विस्तार से जानकारी देंगे। आइए, शुरू करते हैं-

वजीरएक्स क्या है?

दोस्तों, आपको बता दें कि WazirX एक नया crypto currency exchange है। और खास बात यह है कि यह भारत का सबसे बड़ा cryptocurrency exchange है। यह Peer to Peer crypto Transaction allow करता है। यानी यह बिटकॉइन (Bitcoin) एथेरियम, रिपल (ripple), ट्रोन (Tron), लिटकान (litcoin) और दूसरी क्रिप्टो करेंसी में ट्रेड करने की सुविधा देता है। इसकी स्थापना निश्चल शेट्टी, समीर महात्रे और सिद्धार्थ मेनन ने साथ मिलकर की है। इनका हेड आफिस मुंबई में है।

दोस्तों, आपको बता दें कि ये तीनों सालों से साथ हैं। आज से करीब 11 साल पहले यानी सन् 2010 में ये तीनों Crowdfire नाम का एक social media management app बनाकर भी खासी चर्चा बटोर चुके हैं। अब ये WazirX नाम का crypto currency exchange लेकर हाजिर हुए हैं और इसे दुनिया भर में आगे ले जाने के लिए कार्य कर रहे हैं।

WazirX क्या है? वजीरएक्स कैसे काम करता है?

WazirX के कुछ खास Features –

  • इस crypto currency exchange में INR में Deposit और Withdraw किया जाता है।
  • WazirX P2P का इस्तेमाल crypto के buy/sell करने के लिए संभव है।
  • यह service users को 24×7 प्रदान की जाती है।
  • इस exchange में transaction पूरे भारत में सबसे Fastest यानी हर मिनट एक ट्रेड होता है।
  • इसमें Automated P2P open order book होता है।
  • Zero transaction या बेहद मामूली फीस होती है।
  • इसकी Dispute Resolution पूरी तरह से robust होती हैं।
  • USDT Market में सबसे ज्यादा liquidity प्रदान करती है।
  • ये तीनों platform जैसे Android, Web, और iOS पर मुहैया है।
  • इसका User interface बहुत आसान है।

WazirX का खुद का coin WRX coin

इसे इस्तेमाल करना बेहद आसान है। इस बीच WazirX ने अपना खुद का टोकन भी शुरू किया है, जिसका नाम WRX Coin रखा गया है। users आसानी से इसका इस्तेमाल कर सकते हैं। इसके संस्थापकों की तमन्ना इसे भारत का सबसे trusted Bitcoin exchange बनाने की है। इस वक्त इस crypto currency exchange के जरिए दुनिया भर से digital currency trade हो रहा है। विभिन्न देशों के लोग घर बैठे डिजिटल करेंसी में लेन देन कर पा रहे हैं।

WazirX की कुछ खास खास बातें-

  • इस platform पर लगभग डेढ़ लाख से भी ज्यादा users registered हैं।
  • WazirX P2P exchange बहुत ही unique है। इस पर सरकार का कोई नियम काम नहीं करता।
  • यह exchange समुचित liquidity, फंड सिक्योरिटी और बेहतर support system प्रदान करता है।
  • इस exchange में INR में deposit और Withdraw किया जा सकता है।
  • जब कोई user खरीद का order देता है, जब तक वो order complete नहीं हो जाता तब तक buyer कोई नया buy order नहीं डाल सकता है।
  • किसी भी dispute को solve होने में 24 घंटे तक का समय लग जाता है।

क्या WazirX P2P सुरक्षित है?

कई users के मन में सवाल उठता है कि क्या WazirX P2P सुरक्षित है? तो दोस्तों इसका जवाब हां है। दरअसल, WazirX में एक escrow system होता है। यह ख़ास ख्याल रखता है कि कोई भी party किसी किसी दूसरी party को धोखा न दे सके। इस system की खास बात यह है कि इसमें WazirX तब तक seller के cryptos को रिलीज नहीं करता, जब तक कि भुगतान पूरा न हो जाए। भुगतान कन्फर्म होने के बाद ही यह cryptos को रिलीज करता है।

दोस्तों, आपको यह भी बता दें कि यदि किसी वजह से buyer और seller के बीच कोई dispute हो जाता है तो Wazirx robust Dispute Resolution system की मदद से इस dispute को resolve करता है।

WazirX का बैंकों के साथ नहीं होता कोई transaction

मित्रों, आपको बता दें कि भारत सरकार ने cryptocurrency exchanges के बैंकों के साथ transaction करने पर रोक लगाई हुई है। इस वजह से Zebpay और Unocoin जैसे बड़े एक्सचेंज अब बंद हैं। लेकिन WazirX के P2P यानी (peer 2 peer) model की खास बात यह है कि यह बैंकों से कोई transactions कर ही नहीं रहा। इसमें एक व्यक्ति दूसरे व्यक्ति के साथ currency exchange करता है। Wazirx का काम बस ये देखना है कि दोनों पक्ष अपने लेन देन में कोई हेरा-फेरी तो नहीं कर रहे? इसलिए भारतीय लोग आसानी से अपने cryto को cash in और cash out कर सकते हैं।

WazirX कैसे यूज करें? WazirX अकाउंट कैसे बनायें?

साथियों, हमने आपको बताया कि WazirX क्या है। इसके खास फीचर्स और खास बातें क्या हैं। आइए, अब आपको बताते हैं कि आप इस पर sign up और Login कैसे कर सकते हैं। दोस्तों, इसकी भी एक निर्धारित प्रक्रिया है, जो कि इस प्रकार से है-

Total Time: 30 minutes

वेबसाइट पर जाएँ या अप्प डाउनलोड करें –

इसके लिए आपको सबसे पहले WazirX की official वेबसाइट https://wazirx.com/ पर जाना होगा। या फिर यहाँ क्लीक करके IOS या एंड्राइड WazirX अप्प डाउनलोड करें

WazirX अकाउंट बनाएं –

इसके बाद आपको home page पर top right में दिख रहे Sign-Up के विकल्प पर click करना होगा। अपनी email आईडी और पासवर्ड enter करें। ये वही email address होगा, जिसके जरिए आप बाद में login करेंगे । इसे बाद में बदला नहीं जा सकेगा। पासवर्ड strong हो और ऐसा हो, जिसे आप याद रख सकें।WazirX कैसे यूज करें? WazirX अकाउंट कैसे बनायें?

अकाउंट वेरीफाई करें –

इतना करने के बाद sign up के विकल्प पर click करें। अब आपको verification email मिलेगा। इसके पश्चात आपको verify email के option पर click करना होगा। इसके बाद आप WazirX की website पर direct हो जाते हैं। यहां आपका verification confirm हो जाता है।

Email Verification वेरीफाई करें –

आपको बता दें कि की verification email केवल 30 minutes के लिए ही valid होती है। यदि आपने इस समय के भीतर login नहीं किया तो आपको फिर से Resend verification email के option पर click करना होगा। इसके अलावा कुछ cases में verification mail को जाने में कुछ टाइम लगता है। यदि 10 से 15 min के भीतर भी email नहीं आती तो spam/junk/promotions folder को check करें।

फ़ोन नंबर वेरीफाई करें –

email verify होने के बाद आपको अपना mobile number verification करना होगा। अपना 10 digit Indian mobile number enter करना होगा। इसके बाद आपको send otp का option चुनना होगा। यह OTP आपको via SMS मिलेगा।

KYC फॉर्म भरें –

इस OTP को verification box में एंटर करें और verify पर click कर दें। email और mobile number verify होने के बाद आपको अपनी details भरकर KYC documents को verification के लिए upload करना होगा।

रियल इनफार्मेशन भरें –

PAN Card के अनुसार अपना पूरा नाम भरना होगा। Aadhaar card के अनुसार पता भरना होगा। अपनी जन्म तिथि यानी DOB को DD/MM/YYYY format में भरनी होगी। इसके बाद PAN Card Number डालें।

डॉक्यूमेंट अपलोड करें –

PAN Card के front की scanned copy अपलोड करें। Aadhaar Card number डालें और इसके front की scanned copy अपलोड करें। इसके बाद Bank Account की details भरें। एक बार भरी गई जानकारी चेक करें और फिर submit के option पर click कर दें।

WazirX अकाउंट Verification में कितना टाइम लगता है?

दोस्तों, आपको बता दें कि verification documents को submit करने के बाद आपकी verification process चालू हो जाती है। इस प्रक्रिया को पूरा होने में 24-48 घंटे लग जाते हैं। आपको यह भी जानकारी दे दें कि यदि किसी वजह से आपका account approve नहीं होता तो आपको reject होने के कारणों की जानकारी देता एक mail आता है। इसे पढ़कर आप verification के लिए फिर से आवेदन कर सकते हैं। हालांकि, अब WazirX के संस्थापकों की ओर दावा किया गया है कि वे verification की process में लगने वाले समय को कम करने की दिशा में भी कार्य कर रहे हैं।

WazirX P2P कैसे काम करता है?

WazirX P2P के मदद से आप आसानी से USDT यानी US digital transaction कर सकते हैं। INR में directly खरीद-बिक्री कर सकते हैं। आपको बता दें कि यह 24×7 उपलब्ध होता है। इसकी दो terms हम आपको समझाते हैं। इनमें एक है cash in और cash out। इनका मतलब इस प्रकार से है-

Cash In – यदि आप INR का इस्तेमाल cryptos के trade के लिए करना चाहते हैं तो P2P के जरिए USDT खरीदना औश्र इस USDT को WazirX पर दूसरी crypto खरीदने के लिए इस्तेमाल करना।

यदि आप INR को अपने bank account में भेजना करना चाहते हैं तो इसके लिए आप अपने cryptos को USTD के आकार में बेच सकते हैं और इसके बाद p2p के जरिए उस USDT को INR के बदले में बेच सकते हैं।

कुल मिलाकर WazirX उन लोगों के साथ मैच करता है, जो USDT INR के बदले में buy करना चाहते है। और जो USDT INR के बदले में sell करना चाहते हैं। WazirX USDT को safekeeping के लिए transactions के दौरान escrows करता है।

आपको बता दें कि Buyer INR को transfer करने के लिए IMPS/UPI का इस्तेमाल कर सकते हैं। Seller जब भुगतान को कन्फर्म करता है तो WazirX USDT को buyer के लिए रिलीज कर देता है।

WazirX P2P USDT का इस्तेमाल क्यों करता है?

दोस्तों, आपके मन में सवाल होगा कि WazirX P2P USDT का इस्तेमाल क्यों करता है? तो आपको बता दें कि लेन-देन को सरल और high liquidity करने के लिए इसका इस्तमाल होता है। आपको जानकारी दे दें कि USDT एक stable coin होता है। इसका मतलब यह है कि ये एक ऐसी cryptocurrency है, जिसकी value ज्यादातर stable रहती है। price fluctuation यानी मूल्य में उतार-चढाव बहुत कम होता है।

मसलन 1 USDT की value लगभग $1 ही होती है। इसलिए जब भी कोई crypto sell की जाती है तो crypto को पहले USDT में convert किया जाएगा और फिर उस USDT को sell किया जाएगा।

wazirX app को भी डाउनलोड कर सकते हैं?

मित्रों, आपको बता दें कि आप wazirX ऐप को गूगल प्ले स्टोर से डाउनलोड कर बिटकॉइन या दूसरे डिजिटल करेंसी में ट्रेड कर सकते हैं। इसे 3.9 की रेटिंग मिली है और 1 मिलियन से ज्यादा लोग डाउनलोड कर चुके हैं। यह एंड्रॉएड आईओएस मैक एप सब पर काम करता है। एंड्रॉयड के लिए गूगल प्ले स्टोर से, जबकि आईओएस के लिए इसे app store से download किया जा सकता है। इसके अलावा विंडोज और मैक एप के लिए भी इसे डाउनलोड किया जा सकता है।

भारत में क्रिप्टो करेंसी के इस्तेमाल को नियंत्रित करने की तैयारी

दोस्तों, यह आप जरूर जानते होंगे। भारत सरकार सरकार क्रिप्टो करेंसी के इस्तेमाल को नियंत्रित करने की तैयारी में है। उसने संसद में क्रिप्टो करेंसी एंड रेगुलेशन ऑफ़ ऑफ़िशियल डिजिटल करेंसी बिल (crypto currency and regulation of official digital currency bill) पेश करने का फ़ैसला लिया है।

यह अलग बात है कि इस विधेयक के बारे में जानकारी अभी तक भी सार्वजनिक नहीं की गई है। दोस्तों, आपको बता दें कि यह विधेयक भारत में क्रिप्टो करेंसी के इस्तेमाल को क़ानूनी रूप से यानी legal तरीके से नियंत्रित करेगा।

क्रिप्टो करेंसी पर पूरी तरह प्रतिबंध की कोई मंशा नहीं

मित्रों, केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण पहले ही अलबत्ता यह साफ़ कर चुकी हैं कि सरकार की योजना क्रिप्टो करेंसी पर पूरी तरह प्रतिबंध लगाने की नहीं है। उनका कहना है कि इन दिनों डिजिटल करेंसी का कारोबार निरंतर बढ़ रहा है। सरकार क्रिप्टो करेंसी के आधार वाली तकनीक ब्लॉकचेन को रक्षा कवच देना चाहती है।

भारतीय बड़ी संख्या में digital currency खरीद रहे

दोस्तों, आप भी इस तथ्य से अंजान नहीं होंगे। भारतीय भी बड़ी संख्या में digital करेंसी ख़रीद रहे हैं। यह अलग बात है कि इसे लेकर कोई भी official डाटा उपलब्ध नहीं है। बहुत से लोग ऐसे हैं, जिन्होंने भविष्य को देखते हुए digital currency में निवेश किया है। कई ऐसे लोग भी हैं, जो इस करेंसी पर प्रतिबंध की खबरों से उत्तेजित हो जाते हैं और ऐसा होने से पहले लाभ कमाने का मौका नहीं छोड़ना चाहते। ये तो वे जानते ही हैं कि इसको कोई सरकार या कोई regulatory authority जारी नहीं करती।

आपको यह भी बता दें कि सन् 2018 में रिजर्व बैंक आफ इंडिया यानी आरबीआई (RBI) ने क्रिप्टो करेंसी के लेन-देन का समर्थन करने पर कुछ बैंकों और विनियमित वित्तीय संस्थानों को प्रतिबंधित भी कर दिया था। इसके बाद मार्च, 2020 में सुप्रीम कोर्ट ने आरबीआई के प्रतिबंध के ख़िलाफ़ फ़ैसला सुनाया था।

आरबीआई खुद तलाश रहा crypto currency लाने के options

मित्रों, आपको जानकारी दे दें कि आरबीआई भारत की ख़ुद की क्रिप्टो करेंसी लाने के विकल्प तलाश रहा है। उधर, वित्त मंत्रालय का भी बयान आ चुका है कि वह भारत की ख़ुद की डिजिटल करेंसी और उसके विनियमन के लिए क़ानून बनाने पर विचार करेगा‌। हालांकि, लोगों के दिलों में सवाल है कि क्या भारत के लिए ख़ुद की डिजिटल करेंसी लाना आसान है? विशेषज्ञों का मानना है कि डिजिटल लीगल टेंडर को जारी करना एक चुनौतीपूर्ण कार्य है। उनके मुताबिक भारत सरकार के सामने कई चुनौतियां खड़ी होंगी।

जैसे- क्या यह केवल थोक स्तर पर डिजिटल लीगल टेंडर होंगे? या इनका आम जनता भी इस्तेमाल कर सकेगी? क्या डिजिटल करेंसी अकाउंट के बाद वाणिज्यिक बैंक खातों पर लगाम होगी? इसके अलावा टैक्स, मनी लॉन्ड्रिंग, इनसोल्वेंसिंग कोड, पेमेंट सिस्टम, प्राइवेसी,, डाटा प्रोटेक्शन जैसी चुनौतियां भी सामने होंगी। कुछ विशेषज्ञों का सुझाव है कि क्रिप्टो एक्सचेंज पॉइंट नो यॉर कस्टमर (केवाईसी) इकट्ठा करके इसके transaction सिर्फ़ बैंक अकाउंट के ज़रिए कर सकते हैं। इस तरीक़े से गड़बड़ी भी रुकेगी, क्योंकि ब्लॉकचेन तकनीक इसमें transperancy ला पाएगी।

कोरोना संक्रमण काल में crypto currency में निवेश बढ़ा

मित्रों, आपको बता दें कि कोरोना संक्रमण काल के दौरान crypto currency में निवेश की बढ़ोतरी हुई है। हालांकि, जैसा हम ऊपर बता चुके हैं-अभी तक इसका कोई आधिकारिक आंकड़ा सामने नहीं है कि कितने भारतीयों के पास क्रिप्टो करेंसी है या कितने लोग इसमें व्यापार करते हैं। लेकिन करोड़ों लोगों के डिजिटल करेंसी में निवेश की संभावना जताई गई है। विशेषज्ञों ने कोरोना के चलते भारत की डिजिटल अर्थव्यवस्था (Digital economy) में बदलाव की बात दोहराई है।

आंकड़ों की मानें तो 2020 में इंटरनेट की उपलब्धता के कारण डिजिटल पेमेंट में 42 फ़ीसदी की बढ़ोतरी हुई है।एक सामान्य सी बात है-जिसके पास इंटरनेट है, वह आसानी से क्रिप्टो करेंसी ले सकता है। दरअसल, कोरोना काल में एक तरफ जहां लोगों की नौकरियां और रोजगार छूटा है, वही भविष्य को लेकर भी उन में अनिश्चितता पैदा हो गई है। अब खर्च से ज्यादा बचत की तरफ उनका जोर है। और इसी के लिए भविष्य की ओर नजर रखते हुए वे निवेश को ज्यादा प्राथमिकता दे रहे हैं।

कोरोना संक्रमण काल के दौरान डिजिटल करेंसी में निवेश इसी की तरफ इशारा करता है। इसके अलावा संक्रमण के फैलने के डर से भी लोगों ने रेगुलर करेंसी से दूरी बनाई है और डिजिटल करेंसी को अपनाया है। दूसरे उन्हें इसमें लाभ की संभावना अधिक नजर आती है। और सिस्टम में पारदर्शिता भी अधिक है।

WazirX पर कोविड-19 का प्रभाव भी पड़ा है

कोविड-19 का असर वजीरएक्स पर भी देखने को मिला है। टीम के कई लोग इसके शिकार हुए हैं। और दूसरा इस दौरान डिजिटल ट्रांजैक्शन बढ़ने से भुगतान और issue resolution की दर भी थोड़ी धीमी हुई है। हालांकि, WazirX की ओर से कहा गया है कि वे इसे तेज करने का पूरा पूरा प्रयास कर रहे हैं। इसके अलावा रोजगार का भी एक अच्छा जरिया WazirX उपलब्ध करा रहा है।

इसमें सोशल मीडिया मैनेजर, सोशल मीडिया एग्जीक्यूटिव, प्रोडक्ट मैनेजर, डिजिटल मीडिया मार्केटिंग, डिजिटल मीडिया राइटर जैसे पदों के साथ ही और अन्य कई पदों पर आवेदन आमंत्रित किए गए हैं।कोरोना काल में जहां कई युवाओं को अपनी नौकरी से हाथ धोना पड़ा है, वहीं, WazirX युवाओं को रोजगार उपलब्ध करा रहा है। इसे एक अच्छा कदम माना जा सकता है।

WazirX को प्रवर्तन निदेशालय का नोटिस

मित्रों, आपको बता दें कि प्रवर्तन निदेशालय यानी enforcement directorate (ED) ने WazirX को कारण बताओ नोटिस जारी किया है। यह नोटिस इस भारत के सबसे बड़े crypto currency exchange को फेमा (FEMA) उल्लंघन के आरोप में भेजा गया है। ईडी की ओर से एक ट्वीट (tweet) किया गया है, जिसमें कहा गया है कि 2790.74 करोड़ के लेन-देन के मामले में WazirX के खिलाफ यह नोटिस जारी किया गया है।

नोटिस में WazirX के निदेशकों के नाम शामिल हैं। जांच एजेंसी के मुताबिक एक चीनी के स्वामित्व वाली गैरकानूनी online betting APP से संबंधित मनी लॉन्ड्रिंग की जांच के दौरान उसे कंपनी के लेनदेन की जानकारी मिली है। जांच के दौरान पता चला कि चीन के नागरिकों ने भारतीय रुपए की जमा की क्रिप्टो करेंसी टीथर में बदलकर ₹570000000 का अपराध किया है। बाद में इस कमाई को (बाइनेंस केमैन आईलैंड में रजिस्टर्ड एक्सचेंज) वॉलेट को स्थानांतरित कर दिया गया। ईडी के अनुसार बाइनेंस ने 2019 में WazirX का अधिग्रहण किया था।

फेमा क्या है?

साथियों, अभी हमने आपको बताया कि WazirX को ईडी फेमा के उल्लंघन में नोटिस भेजा है आइए, जानते हैं कि यह फेमा क्या है। मित्रों, आपको बता दें कि अपने भारत में सभी लेन देन, जिनमें विदेशी मुद्रा भी शामिल हैं, विदेशी मुद्रा विनियमन अधिनियम यानी foreign exchange regulatory act यानी फेरा (FERA) के जरिए विनियमित किए जाते थे। यह एक्ट 1973 में बना था। इसका उद्देश्‍य भारतीय कंपनियों द्वारा देश के बाहर तथा भारत में विदेशी कंपनियों द्वारा व्‍यापार के संचालन के कुछ पहलुओं को नियंत्रित करना था।

सन् 1999 में बाहरी व्यापार तथा भुगतान को सुगम बनाने तथा भारत में विदेशी मुद्रा के व्यवस्थित विकास एवं रख-रखाव के के लिए विदेशी मुद्रा से संबंधित कानून में संशोधन किया गया। इसका नाम बदलकर विदेशी मुद्रा प्रबंधन अधिनियम यानी (foreign exchange management act) फेमा (FEMA) किया गया। यह एक जून, 2000 में लागू हुआ। इसका मकसद विदेशी व्यापार तथा भुगतानों को आसान बनाना और विदेशी मुद्रा बाजार का अनुरक्षण और संवर्धन करना था।

फेमा की खास बातें –

आपको बता दें कि करीब चार साल पहले यानी 2017 में आरबीआई ने एक अधिसूचना जारी कर विदेशी मुद्रा प्रबंधन अधिनियम में अब तक किये गए 93 संशोधनों को एक ही अधिसूचना के अंतर्गत लाकर अधिनियम को सरल बना दिया। इन बदलावों से विदेशी निवेशकों के लिये देश में निवेश करना अपेक्षाकृत आसान हो गया।

अब कोई भी व्यक्ति जो भारत में निवेश करना चाहता है, इस अधिसूचना के माध्यम से यह जाने में सक्षम है कि वह किस कंपनी में तथा कैसे निवेश कर सकता हैं। इसके अलावा विदेशी निवेशों पर बनाए गए निम्नलिखित दो नियमों को एक साथ जोड़ दिया गया है-

FEMA 20 : इसे भारतीय कंपनी में किये गए विदेशी निवेश अथवा पार्टनरशिप अथवा सीमित देयता भागीदारी के रुप में जाना जाता है।

FEMA 24 : किसी पार्टनरशिप फर्म में हुए निवेश को FEMA 24 कहा जाता है।

इसके अलावा, गैर- प्रवासी भारतीय से किसी गैर- प्रवासी को किया गया निवेश self operated mide के तहत लाया जाएगा। और इसे दर्ज किया जाएगा। आपको बता दें मित्रों कि फेमा की शुरुआत एक इन्वेस्टर फ्रेंडली ला के रूप में की गई थी, लेकिन अब यह एक सिविल ला है, क्योंकि इसके उल्‍लघंन में केवल मौद्रिक शास्तियां तथा अर्थदंड का भुगतान करना ही शामिल है। इसके तहत किसी व्‍यक्ति को सिविल कारावास का दंड तभी दिया जा सकता है, जब वह नोटिस मिलने की तिथि से 90 दिन के भीतर निर्धारित अर्थदंड का भुगतान न करे।

लेकिन यह दंड भी उसे कारण बताओ नोटिस तथा वैयक्तिक सुनवाई की औपचारिकताओं के पश्‍चात् ही दिया जा सकता है। दूसरे, फेमा में केवल अधिकृत व्‍यक्तियों को ही विदेशी मुद्रा या विदेशी प्रतिभूति में लेनदेन करने की अनुमति दी गई है। अधिनियम के तहत, ऐसे अधिकृत व्‍यक्ति का अर्थ अधिकृत डीलर, मनी चेंजर, विदेशी बैंकिंग यूनिट या कोई अन्‍य व्‍यक्ति जिसे उसी समय रिजर्व बैंक ने प्राधिकृत किया गया हो, से है।

वजीरएक्स से जुड़े सवाल –

WazirX क्या है?

WazirX एक crypto currency exchangeहै। यह P2P crypto currency transaction को support करता है।

वजीरएक्स स्थापना किसने की?

WazirX की स्थापना निश्चल शेट्टी, समीर महात्रे और सिद्धार्थ मेनन ने साथ मिलकर की है।

WazirX का हेड आफिस कहां है?

WazirX का हेड आफिस मुंबई में है।

क्या WazirX का अपना coin भी है?

जी हां, उसका नाम WRS coin है।

क्या wazirX सुरक्षित है?

दरअसल, WazirX में एक escrow system होता है। यह ख़ास ख्याल रखता है कि कोई भी party किसी किसी दूसरी party को धोखा न दे सके।

साथियों, यह थी crypto currency एक्सचेंज WazirX के संबंध में जानकारी। यदि आप ऐसे ही किसी जानकारी परक विषय के संबंध में अप-टू-डेट होना चाहते हैं तो अपनी बात हमें नीचे दिए गए कमेंट बॉक्स में कमेंट करके बता सकते हैं। आपके प्रतिक्रिया का हमें हमेशा की तरह इंतजार है। ।।धन्यवाद।।

Contents show
Spread the love:

8 thoughts on “WazirX क्या है? वजीरएक्स कैसे काम करता है? P2P Crypto Exchange”

  1. पहली बार किसी usdt को खरीदना बहुत ही टिपिकल लग रहा है समझ नही आ रहा कैसे वजीरेक्स में कैसे usdt खरीदे और अगर हम pày
    ment किसी दूसरे ac se karna hai to kaise करें
    अगर हमारा वो बैंक wazirx में add nahi hai

    प्रतिक्रिया

Leave a Comment