उत्तराखंड खेल महाकुंभ -2022, उत्तराखंड में खेल महाकुंभ कब से है? उत्तराखंड खेल महाकुंभ में कौन कौन सी स्पर्धा होंगी?

उत्तराखंड खेल महाकुंभ क्या है? [What is Uttarakhand Khel Mahakumbh?] उत्तराखंड खेल महाकुंभ -2022, उत्तराखंड में खेल महाकुंभ कब से है? [Uttarakhand Khel Mahakumbh-2022, Since when is Khel Mahakumbh in Uttarakhand?] उत्तराखंड खेल महाकुंभ में कौन कौन सी स्पर्धा होंगी? [Which events will be held in Uttarakhand Khel Mahakumbh?]

उत्तराखंड राज्य (uttarakhand state) में खेलों को बढ़ावा देने के उद्देश्य से प्रदेश सरकार ने उत्तराखंड खेल महाकुंभ कराने का निश्चय किया है। आपको बता दें कि शूटिंग, क्रिकेट, फुटबॉल समेत कई खेलों में उत्तराखंड की खेल प्रतिभाओं ने चमक बिखेरी है। निचले स्तर से खेल प्रतिभाओं को सामने लाने के उद्देश्य से सरकार इन खेलों का आयोजन कर रही है। खास बात यह है कि इस महाकुंभ में शिरकत करने के लिए खिलाड़ियों का पंजीकरण यानी रजिस्ट्रेशन (registration) मुफ्त में होगा।

खेल महाकुंभ में अधिक से अधिक खिलाड़ियों की सहभागिता (participation) सुनिश्चित की जा सके, इसके लिए खेलों का आयोजन ग्राम पंचायत, प्राथमिक विद्यालय, जूनियर हाईस्कूल, माध्यमिक विद्यालय, इंटर कालेज, युवा कल्याण, खेल एवं शिक्षा कार्यालयों में किए जाने की भी सुविधा दी गई है।

Contents show

उत्तराखंड खेल महाकुंभ का आयोजन कब से कब तक होगा? (From and till When uttarakhand khel mahakumbh will be organised?)

दोस्तों, आपको बता दें कि उत्तराखंड राज्य में खेल महाकुंभ का आयोजन 2 अक्टूबर 2022 से शुरू होने जा रहा है। यह खेल महाकुंभ 25 जनवरी, 2023 तक चलेगा। आपको बता दें मित्रों कि इस उत्तराखंड खेल महाकुंभ के तहत खेलों का आयोजन चार स्तर पर किया जाएगा। इनमें न्याय पंचायत स्तर (panchayat), विकास खंड स्तर (block level), जिला (district) और राज्य स्तर (state level) पर खेल स्पर्धाओं का आयोजन शुमार है। आपको बता दें कि राज्य स्तर पर होने वाले खेलों में विजेताओं को नकद पुरस्कार राशि के साथ ही विशेष पुरस्कार देकर भी सम्मानित किया जाएगा।

उत्तराखंड खेल महाकुंभ -2022, उत्तराखंड में खेल महाकुंभ कब से है? उत्तराखंड खेल महाकुंभ में कौन कौन सी स्पर्धा होंगी?

उत्तराखंड खेल महाकुंभ में कितने खिलाड़ी शिरकत करेंगे? (How many players will participate in uttarakhand khel mahakumbh?)

दोस्तों, आइए अब आपको जानकारी देते हैं कि उत्तराखंड खेल महाकुंभ में कितने खिलाड़ी शिरकत करेंगे? आपको बता दें कि खेल महाकुंभ में उत्तराखंड के 13 जिलों की 662 न्याय पंचायतों के दो लाख से भी अधिक खिलाड़ी हिस्सा लेंगे। दोस्तों, आपको बता दें कि राज्य में जो कुल 662 न्याय पंचायतें हैं, उनमें सबसे बड़ी न्याय पंचायत सिसौना, सितारगंज है। इस न्याय पंचायत में कुल 22 गांव शामिल हैं।

इस वर्ष खेल महाकुंभ में कौन से पारंपरिक खेल शामिल किए जा रहे हैं? (Which traditional games have been included in khel mahakumbh this year?)

साथियों, आइए अब आपको बताते हैं कि इस बार उत्तराखंड खेल महाकुंभ में कौन से पारंपरिक खेल (traditional games) शामिल किए जा रहे हैं। आपको बता दें कि इस वर्ष राज्य के खेत महाकुंभ कै दौरान मुर्गा झपट, अड्डू, गुल्ली डंडा, रस्साकशी जैसे पारंपरिक खेल भी देखने को मिलेंगे।

उत्तराखंड सरकार (uttarakhand government) ने पारंपरिक खेलों को बढ़ावा देने के नजरिए से इन खेलों को महाकुंभ में शामिल करने का निश्चय किया है। दरअसल, सरकार इन खेलों को पुनर्जीवित (relive) करना चाहती है। लिहाजा, इन खेलों को प्रदर्शन खेल के रूप में खेल महाकुंभ में शामिल किए जाने का फैसला किया गया है।

खेल महाकुंभ के तहत विभिन्न स्तरों पर खेल स्पर्धाओं का शेड्यूल क्या रहेगा? (What will be the schedule of different sports events during khel mahakumbh?)

दोस्तों, यह तो हम आपको बता ही चुके हैं कि खेल महाकुंभ का आयोजन चार स्तरों पर किया जाएगा। इनका विस्तृत ब्योरा (details description) इस प्रकार है-

1. न्याय पंचायत स्तर- इस स्तर पर ये खेल 2 अक्टूबर 2022 से शुरू होकर 15 अक्टूबर 2022 तक चलेंगे। इनकी शुरुआत न्याय पंचायत रायपुर से होगी। इस दौरान अंडर-14 एवं अंडर-17 आयु वर्ग की कबड्डी, खो-खो, वालीबाल एवं दौड़ की स्पर्धाएं आयोजित की जाएंगी।

2. विकासखंड स्तर पर-इस स्तर पर खेलों का आयोजन 20 अक्टूबर 2022 से लेकर 5 नवंबर, 2023 तक किया जाएगा। इसमें अंडर-14, अंडर-17 एवं अंडर-21 आयु वर्ग की बैडमिंटन तथा फुटबाल की प्रतियोगिताएं आयोजित की जाएंगी।

3. जिला स्तर पर- जिला स्तर पर यह आयोजन 9 नवंबर, 2023 से 27 नवंबर, 2023 तक किया जाएगा। इस दौरान अंडर-14, अंडर-17 एवं अंडर-21 आयु वर्ग की जूडो, बाक्सिंग, टेबिल टेनिस, ताइक्वांडों, हैंडबाल, बास्केटबाल, कराटे एवं हाकी की प्रतियोगिताएं आयोजित की जाएंगी।

4. राज्य स्तर पर -इस स्तर पर खेल महाकुंभ का आयोजन 5 दिसंबर, 2023 से 25 जनवरी, 2023 तक किया जाएगा। आपको बता दें दोस्तों कि जिला स्तर पर विजयी खिलाड़ियों को इस स्तर पर खेलने का अवसर मिलेगा।

खेल महाकुंभ में इस वर्ष पेंटाथलान का भी आयोजन (this year pentathlon will also be organised in khel mahakumbh)

मित्रों, आपको बता दें कि उत्तराखंड राज्य खेल महाकुंभ में इस बार पेंटाथलान (pentathlon) का भी आयोजन किया जाएगा। ऐसा पहली बार होगा। उत्तराखंड की खेल मंत्री रेखा आर्य (Uttarakhand’s Sports minister Rekha Arya) की ओर से दिए गए बयान के अनुसार पेंटाथलान में 17 साल की उम्र से लेकर 21 वर्ष आयुवर्ग के खिलाड़ी हिस्सा ले सकेंगे। उनके अनुसार पेंटाथलान में 1600 मीटर दौड़, लंबी कूद, ऊंची कूद, क्रिकेट बाल थ्रो एवं चिनअप की प्रतियोगिता होगी। इसमें आर्मी, होमगार्ड, अर्द्ध सैनिक बलों के साथ ही पुलिस जवान भी शिरकत कर सकते हैं।

साथियों, आपको बता दें मित्रों कि राज्य के युवाओं को सेना, अर्द्धसैनिक बल एवं पुलिस सेवा की ओर आकर्षित करने के उद्देश्य से इस स्पर्धा का आयोजन किया जा रहा है। अब थोड़ा पेंटाथलान के बारे में जान लेते हैं। दोस्तों यदि बात आधुनिक पेंटाथलान की करें तो यह एक ओलंपिक खेल है। इसमें पांच अलग-अलग प्रतिस्पर्धाएं फेंसिंग, फ्रीस्टाइल तैराकी (200 मीटर), घुड़सवार शो कूद, और पिस्टल शूटिंग एवं क्रॉस कंट्री रनिंग (3200 मीटर) शामिल हैं।

उत्तराखंड सरकार 2021 के खेल महाकुंभ का सफल आयोजन कर चुकी है (uttarakhand government has successfully organised the 2021 khel mahakumbh)

मित्रों, आपको जानकारी दे दें कि उत्तराखंड सरकार पिछले वर्ष 2021 में भी उत्तराखंड राज्य खेल महाकुंभ का सफलतापूर्वक आयोजन कर चुकी हैं। पिछले साल ये खेल 18 अक्टूबर से शुरू हुए थे। इसमें राज्य के 13 जिलों से हजारों खिलाड़ियों ने हिस्सा लिया था। इसके बाद अब सरकार 2023 के इस खेल महाकुंभ के सफल आयोजन के लिए पूरी तरह आत्मविश्वास से भरी हुई है।

उत्तराखंड से अभी तक खेल के कौन बड़े खिलाड़ी निकले हैं? (Which big players have come out from uttarakhand till now?)

उत्तराखंड से ऐसे कई खिलाड़ी निकले हैं, जिन्होंने उत्तराखंड का नाम राष्ट्रीय एवं अंतर्राष्ट्रीय फलक पर चमकाया है। बात देश के सबसे मशहूर खेल क्रिकेट की करें तो उत्तराखंड के रुड़की से संबंध रखने वाले ऋषभ पंत (Rishabh pant) भारतीय क्रिकेट टीम की रीढ़ बने हुए हैं। वह टीम में विकेटकीपर की भूमिका अदा करते हैं। भारतीय कप्तान तक की भूमिका निभा चुके हैं।

इससे पूर्व भारतीय क्रिकेट टीम (indian cricket team) के सबसे सफल कप्तान रहे महेंद्र सिंह धोनी (Mahendra Singh dhoni) का मूल निवास भी उत्तराखंड के अल्मोड़ा (almora) में है। उनके पिता पान सिंह धोनी (pan Singh Dhoni) केवल नौकरी के लिए झारखंड गए थे। अब बैडमिंटन पर आते हैं। उत्तराखंड के अल्मोड़ा के लक्ष्य सेन (lakshya sen) बैडमिंटन (badminton) की दुनिया की नई सनसनी हैं। अपने शानदार प्रदर्शन से वे प्रतिष्ठित थामस कप (Thomas Cup) जीतने के साथ ही कामनवेल्थ मेडल भी अपने नाम कर चुके हैं।

यदि बात शूटिंग (shooting) यानी निशानेबाजी की करें तो जसपाल राणा (Jaspal Rana) उत्तराखंड की शान कहे जा सकते हैं उनके द्वारा कॉमनवेल्थ खेलों (commonwealth games) में कायम किया गया 15 पदकों का रिकॉर्ड (record) अभी तक किसी भी खिलाड़ी द्वारा ध्वस्त नहीं किया जा सका है।

दोस्तों, यदि अन्य खेलों की बात करें तो फुटबॉल में 70 के दशक में उत्तराखंड के अमर बहादुर गुरुंग (Amar bahadur gurung), राम बहादुर छेत्री (Rambahadur chhetri) श्याम थापा (shyam thapa) जैसे खिलाड़ी राष्ट्रीय फलक पर छाई रहे हैं। इसके अलावा भी ऐसे खिलाड़ियों की एक लंबी फेहरिस्त रही है, जिनका उत्तराखंड से नाता रहा है और जिन्होंने बड़े स्तर पर अपना नाम एवं राज्य का नाम जगमगाया है।

खेल महाकुंभ कहां होने जा रहा है?

खेल महाकुंभ का आयोजन उत्तराखंड राज्य में होने जा रहा है।

उत्तराखंड खेल महाकुंभ का आयोजन कब से कब तक होगा?

उत्तराखंड खेल महाकुंभ 2 अक्टूबर 2022 से 25 जनवरी, 2023 तक होगा।

उत्तराखंड खेल महाकुंभ का आयोजन कितने स्तरों पर होगा?

उत्तराखंड खेल महाकुंभ का आयोजन चार स्तरों पर होगा। ये स्तर हैं-न्याय पंचायत, विकासखंड, जिला स्तर एवं राज्य स्तर।

राज्य स्तर पर खेलने का मौका किन खिलाड़ियों को मिलेगा?

जिला स्तर के विजयी खिलाड़ियों को राज्य स्तर पर खेलने का मौका मिलेगा।

उत्तराखंड खेल महाकुंभ में कौन कौन से पारंपरिक खेल भी रखे गए हैं?

उत्तराखंड खेल महाकुंभ में रस्साकशी, अड्डू, मुर्गा झपट जैसे पारंपरिक खेल भी देखने को मिलेंगे।

खेल महाकुंभ में पारंपरिक खेलों को रखने का क्या उद्देश्य है?

खेल महाकुंभ में पारंपरिक खेलों को रखने का उद्देश्य इन्हें पुनर्जीवित करना है।

क्या खेल महाकुंभ में हिस्सा लेने के लिए खिलाड़ियों को कोई फीस देनी होगी?

जी नहीं, खेल महाकुंभ में हिस्सा लेने के लिए खिलाड़ियों को कोई फीस नहीं देनी होगी। उनका रजिस्ट्रेशन मुफ्त है।

न्याय पंचायत स्तर की प्रतियोगिताएं किस आयु वर्ग में होंगी?

ये प्रतियोगिताएं अंडर-14 एवं अंडर-17 आयु वर्ग में होंगी।

उत्तराखंड खेल महाकुंभ में क्या पेंटाथलान को भी रखा गया है?

उत्तराखंड खेल महाकुंभ में पेंटाथलान को भी रखा गया है।

पेंटाथलान में कितनी स्पर्धाएं आयोजित की जाती हैं?

इसमें पांच स्पर्धाएं आयोजित की जाती हैं।

उत्तराखंड खेल महाकुंभ में पेंटाथलान रखने की क्या वजह है?

इसका उद्देश्य युवाओं को पुलिस सेवा, अर्द्ध सैनिक बलों के प्रति आकर्षित करना है।

साथियों, इस पोस्ट (post) में हमने आपको उत्तराखंड खेल महाकुंभ के विषय में विस्तार से जानकारी दी। खेलों को बढ़ावा देने के उद्देश्य से आयोजित किए जा रहे इस खेल महाकुंभ के बारे में जानकारी आप अपने अपनों के साथ भी पोस्ट शेयर कर साझा कर सकते हैं। इस पोस्ट पर आपकी प्रतिक्रिया आप नीचे दिए कमेंट बॉक्स (comment box) में कमेंट (comment) करके दे सकते हैं। ।।धन्यवाद।।

—————-

1 thought on “उत्तराखंड खेल महाकुंभ -2022, उत्तराखंड में खेल महाकुंभ कब से है? उत्तराखंड खेल महाकुंभ में कौन कौन सी स्पर्धा होंगी?”

Leave a Comment

सवर्ण 10% आरक्षण लाभ कैसे मिलेगा ? मोबाइल से Slow Motion Video कैसे बनाए? दिल्ली रोजगार बाजार पोर्टल ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन आत्मनिर्भर कृषक समन्वित विकास योजना 2023 मुख्यमंत्री बालक बालिका प्रोत्साहन योजना 2023 ऑनलाइन आवेदन