[शिकायत पंजीकरण] Uttar Pradesh Anti Corruption Portal ऑनलाइन शिकायत पंजीकरण कैसे करें ?

Uttar Pradesh Anti Corruption Portal  – उत्तर प्रदेश सरकार प्रदेश के विकास करने के लिए लगातार प्रयास कर रही हैं। प्रदेश सरकार लगातार प्रदेश के नागरिकों का विकास करने के लिए नई नई योजनाओं का गठन कर रही है। साथ ही योजनाओं को पारदर्शी ढंग से लोगों तक पहुंचाने के लिए भी नियमों को और अधिक कठोर बना रही है। ताकि योजनाओं का लाभ समय पर सही लाभार्थी को प्राप्त कराया जा सके। उत्तर प्रदेश सरकार ने हाल में ही Uttar Pradesh Anti Corruption Portal का शुभारंभ किया है। ताकि प्रदेश के नागरिक ऐसे लोगों के खिलाफ शिकायत कर सकें। जिनकी वजह से सही लाभार्थियों को लाभ प्राप्त नहीं हो पा रहा है। और वह लाभ से वंचित रह गए हैं। जिससे प्रदेश और देश के विकास में भी बाधा उत्पन्न हो रही है।

[शिकायत पंजीकरण] Uttar Pradesh Anti Corruption Portal ऑनलाइन शिकायत पंजीकरण कैसे करें ?

उत्तर प्रदेश एंटी करप्शन पोर्टल क्या है ? Uttar Pradesh Anti Corruption Portal के माध्यम से आप शिकायत कैसे दर्ज करा सकते हैं ? इसकी पूरी जानकारी प्राप्त करने के लिए आपको यह आर्टिकल लास्ट तक पढ़ना होगा। हम आपको यहां पर पूरी जानकारी उपलब्ध करा रहे हैं।

Uttar Pradesh Anti Corruption Portal क्या है –

उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा प्रदेश के विकास में बाधा उत्पन्न करने वाले लोगों के खिलाफ शिकायत दर्ज करने के लिए Uttar Pradesh Anti Corruption Portal का शुभारंभ किया गया है। इस पोर्टल के माध्यम से देश के नागरिक भ्रष्ट अफसरों के खिलाफ शिकायत दर्ज कर सकते हैं। बीजेपी प्रवक्ता शलभ मणि त्रिपाठी ने बताया कि सिर्फ 1 साल के अंदर नागरिकों द्वारा प्राप्त शिकायतों से 192 भ्रष्ट अफसरों को बर्खास्त किया जा चुका है।

इसके साथ ही 415 से अधिक अधिकारियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई भी की जा चुकी है। कई अफसरों को जेल भी भेजा जा चुका है। सरकार देश से भ्रष्टाचार को जड़ से उखाड़ फेकेगी। कोई भी कर्मचारी , अधिकारी को माफ नहीं किया जाएगा। जो भ्रष्टाचार करते हैं। अथवा किसी प्रकार से भ्रष्टाचार को बढ़ावा देते हैं। जिससे प्रदेश और देश के विकास में बाधा उत्पन्न होती है।

प्रदेश का कोई भी नागरिक किसी भी विभाग अथवा अफसर के खिलाफ इस पोर्टल के माध्यम से शिकायत दर्ज कर सकता है। जिसके पश्चात ऐसे भ्रष्ट विभाग या ऑफिसरों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। और यदि वह दोषी पाए गए , तो उनके खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाई की जाएगी।

Uttar Pradesh Anti Corruption Portal के लाभ –

उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा प्रदेश की  व्यवस्था को और अधिक पारदर्शी बनाने के लिए Uttar Pradesh Anti Corruption Portal का गठन किया गया है। इस पोर्टल के लांच होने से प्रदेश के नागरिकों को निम्नलिखित लाभ प्राप्त होंगे –

  • इस पोर्टल के माध्यम से कोई भी नागरिक घर बैठे किसी भी भ्रष्ट विभाग अथवा अधिकारी के खिलाफ अपनी शिकायत दर्ज कर सकता है।
  • उत्तर प्रदेश एंटी करप्शन पोर्टल पर शिकायत दर्ज करने से ऐसे भ्रष्ट अफसरों के खिलाफ तुरंत कार्रवाई की जाएगी। और दोषी पाने पर सख्त से सख्त दंड भी प्रदान किया जाएगा।
  • उत्तर प्रदेश एंटी करप्शन पोर्टल के द्वारा प्रदेश में भ्रष्टाचार में कमी आएगी। और जिससे प्रदेश के विकास में सहायता प्राप्त होगी।
  • उत्तर प्रदेश एंटी करप्शन पोर्टल के माध्यम से शिकायत दर्ज करने वाले गोपनीयता बनाए रखी जाएगी।
  • उत्तर प्रदेश एंटी करप्शन पोर्टल से उत्तर प्रदेश भ्रष्टाचार मुक्त प्रदेश बनेगा।

Uttar Pradesh Anti Corruption Portal पर अपनी शिकायत ऑनलाइन पंजीकरण कैसे करें –

यदि आप तो उत्तर प्रदेश Uttar Pradesh Anti Corruption Portal पर अपनी शिकायत पंजीकरण करना चाहते हैं। तो आप यहां पर बताया जा रहे आसान से स्टेप्स को फॉलो करके उत्तर प्रदेश एंटी करप्शन पोर्टल पर अपनी शिकायत पंजीकरण कर सकते हैं।

  • उत्तर प्रदेश Uttar Pradesh Anti Corruption Portal पर अपनी शिकायत दर्ज कराने के लिए सबसे पहले आपको विभाग की ऑफिशियल वेबसाइट https://jansunwai.up.nic.in/HomeE.html पर जाना होगा। आप चाहें तो यहां क्लिक करके डायरेक्ट भी जा सकते हैं।
[शिकायत पंजीकरण] Uttar Pradesh Anti Corruption Portal ऑनलाइन शिकायत पंजीकरण कैसे करें ?
  • विभाग की वेबसाइट के होम पेज पर ही आपको एंटी करप्शन शिकायत पंजीकरण का लिंक मिलेगा। जिस पर आपको क्लिक करना होगा।
  • जैसे ही आप इस लिंक पर क्लिक करेंगे। आपके सामने एक फॉर्म ओपन होगा।
  • यहां पर आपको अपना मोबाइल नंबर , अपनी ईमेल आईडी और कैप्चा कोड भरकर वन टाइम पासवर्ड प्राप्त करना होगा। वन टाइम पासवर्ड प्राप्त करने के पश्चात आपको यहां फिल करके अपने मोबाइल नंबर को वेरीफाई करना होगा।
[शिकायत पंजीकरण] Uttar Pradesh Anti Corruption Portal ऑनलाइन शिकायत पंजीकरण कैसे करें ?
  • जिसके पश्चात आपके सामने एक नया फॉर्म ओपन होगा। यहां पर आपको अपनी सभी जानकारी को भरना होगा।
  • जानकारी भरने के साथ-साथ आपको यदि आपके पास कुछ एविडेंस हो तो उन्हें भी यहां आपको अपलोड करना होगा।
  • सभी जानकारी भरने के पश्चात आपको अपना फार्म सबमिट करना होगा। अपनी शिकायत समिट करने के पश्चात आपको एक रजिस्ट्रेशन स्लिप प्रदान की जाएगी। जिसमें आपकी शिकायत पंजीकरण का नंबर वगैरह दिया जाएगा। जिससे आप कभी भी अपनी शिकायत की स्थिति को चेक कर सकते हैं।

अपनी शिकायत पंजीकरण की स्थिति कैसे देखें –

  • अपनी शिकायत पंजीकरण की स्थिति को देखने के लिए सबसे पहले ऊपर बताए गए Uttar Pradesh Anti Corruption Portal पर जाएं और यहां पर उपलब्ध ट्रक ग्रीवेंस पर क्लिक करें।
[शिकायत पंजीकरण] Uttar Pradesh Anti Corruption Portal ऑनलाइन शिकायत पंजीकरण कैसे करें ?
  • जैसे ही आप इस पर क्लिक करेंगे। आपको आपकी शिकायत संख्या , मोबाइल नंबर अथवा ईमेल ID और कैप्चा कोड भरने को कहा जाएगा।
  • जैसे ही आप का नंबर मोबाइल नंबर और कैप्चा कोड भरकर सबमिट करेंगे। आपके सामने आपकी शिकायत का पूरा विवरण दिखा दिया जाएगा।

Uttar Pradesh Anti Corruption Portal से सम्बंधित सवाल जवाब

Uttar Pradesh Anti Corruption Portal क्या है?

यह उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा प्रदेश के विकास में बाधा उत्पन्न करने वाले लोगों के खिलाफ शिकायत दर्ज करने वाला ऑनलाइन पोर्टल है। इस पोर्टल पर कोई भी नागरिक आसानी से किसी भी भ्रष्ट अफसरों के खिलाफ शिकायत दर्ज कर सकता है।

Uttar Pradesh Anti Corruption Portal पर कौन शिकायत दर्ज कर सकता है?

उत्तर प्रदेश रायपुर में निवास करने वाला कोई भी नागरिक किसी भी सरकारी अफसर के खिलाफ इस पोर्टल के माध्यम से शिकायत दर्ज करा सकता है और स्टे

Uttar Pradesh Anti Corruption Portal को शुरू करने का मुख्य उद्देश्य क्या है?

इस पोर्टल को शुरू करने का मुख्य उद्देश्य उत्तर प्रदेश राज्य में भ्रष्टाचार को कम करना है ताकि प्रदेश का विकास करने में किसी भी प्रकार की समस्या का सामना ना करना पड़े।

Uttar Pradesh Anti Corruption Portal किसके द्वारा शुरू किया गया हैं?

उत्तर प्रदेश राज्य के मुख्यमंत्री श्री आदित्य योगी नाथ जी के द्वारा Uttar Pradesh Anti Corruption Portal कि शुरुआत की है।

मैं अपनी किसी शिकायत को यूपी एन्टी करप्शन पोर्टल पर कैसे दर्ज कर सकता हूँ?

Uttar Pradesh Anti Corruption Portal https://jansunwai.up.nic.in/HomeE.html वेबसाइट पर आप आसानी से किसी भी विभाग की शिकायत को ऑनलाइन दर्ज कर सकते हैं। जिसके बारे में ऊपर हमने आपको बताया हैं।

क्या मैं अपनी शिकायत की स्थिति चेक कर सकता हूँ?

जी हां अगर आपने Uttar Pradesh Anti Corruption Portal पर अपनी किसी तरह की शिकायत दर्ज की है तो आप उसकी स्थिति को https://jansunwai.up.nic.in/HomeE.html पर जाकर चेक कर सकते हैं। अधिक जानकारी के लिए आप ऊपर पढ़ सकते हैं।

तो दोस्तों इस तरह से आप किसी भी भ्रष्ट ऑफिसर के खिलाफ Uttar Pradesh Anti Corruption Portal पर ऑनलाइन शिकायत पंजीकरण करा सकते हैं। और ऐसे भ्रष्ट अफसरों को सबक सिखा सकते हैं। यदि आपको यह जानकारी अच्छी लगे , तो अपने दोस्तों के साथ शेयर करना ना भूले। साथ ही यह भी आपका किसी भी प्रकार का कोई सवाल हो तो नीचे कमेंट बॉक्स में कमेंट करें। हम जल्द ही आपके सवालों का जवाब देंगे || धन्यवाद ||

Spread the love:

49 thoughts on “[शिकायत पंजीकरण] Uttar Pradesh Anti Corruption Portal ऑनलाइन शिकायत पंजीकरण कैसे करें ?”

  1. Sir me government polytechnic college Alapur ka student hu
    Sir lagbhag sabhi students ki scholarship 2021-22 ka payment unke account me transfer kar diya gya but sir abhi Mera scholarship status verify show ho raha h aur mere scholarship ka payment abhi tak nahi aya h
    Sir hum poor family se vilong Karte h agar mere scholarship aa jye to aapki mahan kirpa hogi

    प्रतिक्रिया
  2. महोदय प्रणाम,

    विषय: आय से अधिक संपत्ति के मामले में।

    प्रयागराज (इलाहाबाद) के धूमनगंज थाने में तैनात 2012 बैच की महिला सिपाही श्वेता सिंह इनके पति संजय सिंह चौहान s/o हाकिम सिंह चौहान मूल निवासी ग्राम माया राम खेड़ा पोस्ट कोटिया जिला फतेहपुर पिन कोड 212664 जोकि पेशे से एक मेडिकल रिप्रेजेंटेटिव की नौकरी करते है इन दोनो लोगो की संपत्ति की जांच करवाने की कृपा करे हाल ही में इन्होंने प्रयागराज के झलवा एरिया में 60 लाख की कीमत का मकान लिया है तथा टाटा हैरियर गाड़ी जिसका नंबर UP 70 FL 4856 लिया है तथा कम से कम 150 ग्राम सोने की ज्वैलरी भी खरीदी है और अपने पैतृक ग्राम मायाराम खेड़ा में भी ग्राम समाज की जगह कब्जा करके मकान बनवाया है तथा संजय सिंह चौहान विधानसभा 261 शहर पश्चिमी प्रयागराज से जनसत्ता दल लोकतांत्रिक पार्टी से विधायिकी की उम्मीद वारी भी तय कर रहा है ।
    महोदय पुलिस की सिपाही की नौकरी और प्राइवेट मेडिकल रिप्रेजेंटेटिव की नौकरी से कोई इतनी संपत्ति कैसे एकत्र कर सकता है अतः मेरा निवेदन है कि उक्त दोनों व्यक्तियों की आय के साधन और संपत्ति की जांच करवाने की कृपा करे महान दया होगी।
    महोदय से विनम्र निवेदन है की मेरी पहचान गुप्त रखी जाए।
    उक्त प्रकरण में मुझे राह दिखाए की मैं कहा कंप्लेन करू जिससे मेरी पहचान गुप्त रहे और इन जैसे लोगो पर कार्यवाही भी हो।

    प्रतिक्रिया
  3. सेवा में ,
    आदरणीय जी
    India
    विषय :-(1-)भूमि विकास बैंक सरकारी कर्मचारी एवं फील्ड अफसर ने फर्जी दस्तावेज बनाकर सरकार और जनता को कर रहा है गुमराह इसके संबंध में/
    (2-)दोषी के विरुद्ध न्याय दिलाने में असफल रहा कानून व्यवस्था/
    (3-)नीलम देवी के साथ दुर्घटना जान पर होने पर जिम्मेदार पुलिस प्रशासन और न्यायालयऔर तहसील के संबंध में/
    (4-)नीलम देवी के केस में असफल रहा पिछले 11 महीने से न्याय दिलाने में असफल रहा कानून व्यवस्था के संबंध में/
    माननीय महोदय,
    सविनय निवेदन यह है कि नीलम देवी पत्नी अजय कुमार तिवारी निवासी नेवादा कानू थाना संग्रामपुर जनपद अमेठी महोदय आप हमारे ? प्रदेश के महान ? जी हैं और मैं ईश्वर से कामना करता हूं कि आप कुशल से होंगे आशा ही नहीं अपितु पूर्ण विश्वास है कि आप सकुशल होंगे मैं हमेशा आपकी स्वास्थ्य की मंगल कामना करता हूं पत्र का प्रयोजन सीमित है/
    (1)श्रीमान महोदय मेरे को थाना अमेठी पुलिस प्रशासन बुलाकर यह बोला कि इसमें आरोपी के साथ समझौता कर लो क्योंकि आरोपी एक भू माफिया एवं गैंगस्टर है और पैसे वाला है तो इसलिए हम उसके ऊपर कुछ कार्रवाई नहीं कर सकते हैं यह आप समझौता कर लो नहीं तो आपको भी जान से मार देगा हम उसमें कुछ नहीं कर सकते यह जवाब है अमेठी पुलिस प्रशासन का सहयोग ना करके आरोपी का ही साथ दे रहे हैं इसमें कुछ होगा नहीं वह बैल ऑर्डर आएगा और हम इसमें कुछ नहीं करेंगे आप ही ने FIR किया है आपने ही कंप्लेंट किया है आप ही समझौता कीजिए इसमें कुछ होना जाना नहीं है तो श्रीमान मौके पर अमेठी पुलिस प्रशासन यह कह रही है कि अभी तो आपको उस जान से अभी तक मारा तो है नहीं है कि जान से मार दिया आपका हाथ पैर तोड़ देगा तो तब आप मुझे बताना तब हम कार्रवाई करेंगे तो क्या तब यह प्रशासन की बात कहां तक वाजिब है कहां तक सही है और बोलेंगे हम महिला का इज्जत करते हैं और महिला को हम न्याय दिलाने की मदद करने की दुहाई देते हैं लेकिन आप ऐसी बात बोलेंगे हमें आप लोगों से यह उम्मीद नहीं थी अब आपसे हमारा भरोसा उठ चुका है कि आप कानून खाली धनवानो के रक्षा के लिए बनाया गया है निर्धनों और कमजोर गरीबों के रक्षा के लिए नहीं है
    2- यह अमेठी भूमि विकास बैंक है उसमें जो फील्ड अफसर है वह भूमाफिया और गैंगस्टर के साथ यह सम्मिलित है हर चीज में लिप्त रहता है यह बैंक खाली नाम के लिए यह वहां पर कार्यरत है बाकी इसका काम कुछ और है लोगों को डराना धमकाना और उनसे धन उगाही करना यही इसका लक्ष्य रहता है श्रीमान महोदय एवं विकास के कर्मचारी जो फील्ड अफसर हैं उनका इसमें बहुत बड़ा है इसमें बुराइयों में बहुत बड़ा काम है यह हर काम में गैर कानूनी काम में लिप्त रहते हैं फर्जी डॉक्यूमेंट बनाने में और लोगों से लोन भरने का पैसा लेकर अपनी जेब में रख लेते हैं और बोलते हैं कि हम भर देंगे ऐसे ही नीलम देवी से भी ₹300000 ले लिया था बनने के लिए लेकिन अभी तक भरा नहीं है और नीलम देवी ने बोला कि मैं इसके बारे में शिकायत करूंगी डीएम साहब को और एसडीएम साहब को यह पुलिस अधिकारियों को मैं आपके अधिकारियों को रिपोर्ट करूंगी तो इस डर से उसने फील्ड ऑफिसर ने बोला है कि मैं तुम्हें पैसा नहीं दूंगा जो करना है मेरा कर लेना और ऊपर से जब मांगने जाओ तो बेजती करता है और बैंक में अब महिलाओं के साथ अभद्र शब्द का उपयोग करता है जो कि नंदनीय है मैं उसको इस पर नहीं लिख सकती ना आपको बता सकती हूं इतना ही गिरा हुआ इंसान है ऐसे इंसान को नौकरी पर ना रखकर इनको घर पर बैठाया जाए क्योंकि और भी महिला इनसे परेशान हैं यह को धोखा देकर लोन भरने की लालच देता है कि आप इतना पैसा दे दो मैं भर दूंगा लोन मुक्त हो जाएगा फिर जब देख लेता है कि अब इस से पैसा ले लिया है तो इसके ऑपोजिट में जो भी रहते हैं उनको दूसरी जगह से लोन दिला देता है उनसे भी पैसा ले लेता है यही ही फी हेराफेरी और चार सौ बीस यही काम करता है यह बैंक में सही काम कभी भी नहीं किया कि ईमानदारी से किया हो श्रीमान आप से अनुरोध है कि इस को जल्द से जल्द इस को सस्पेंड किया जाए इसके और भी जनता को इस परेशानी से निजात दिला सकें इस भूमि विकास फील्ड अफसर अधिकारी के साथ कुछ और भी सरकारी कर्मचारी मिले हुए हैं लेकिन यह इसमें सब को भड़काने वाला यह फील्ड अफसर है जो कि इसी की वजह से यह गैर कानूनी फर्जी दस्तावेज बनाने में लिप्त है कार्रवाई चल रही है जो कि नंदनीय है श्रीमान अनुरोध है कि भूमि विकास बैंक की इंक्वायरी कराई जाए हम इनके ऊपर झूठी लालचंद नहीं लगा रहे हैं हम ने जो पुलिस अधिकारियों ने विवेचना किया है उसका कॉपी संलग्न कर रहे हैं आप उसमें देख सकते हैं जो राम सिंह पुत्र नंदू सिंह फर्जी काम किया है उसके साथ फील्ड अफसर भी सम्मिलित है उसी का पूरा हाथ है
    3- जनपद अमेठी एफ आई आर नंबर 31949004200451होने के बावजूद क्यों नहीं किया गया क्यों नहीं किया गया चार्जशीट दाखिल क्यों दोषी के ऊपर कोई कार्रवाई नहीं किया गया/
    4-आई जी आर एस जनसुनवाई आवेदन ऑनलाइन प्रार्थना पत्र द्वारा रजिस्ट्रेशन नंबर इस प्रकार से है /
    40020320017838,40020320017243,40020320017242,40020320017217,40020320017215,40020320018763,40020320018767,40020320020732,40020320021733,40020321001873,4002032001880,40020321001883,40029321001884,40020321003699,40020321003698,40020321003527,40020321003526,40020321002377,40020321002374,40020321002298,40020321002297,40020321002197,40020321002111
    (5-)लोक शिकायत विभाग आवेदन ऑनलाइन द्वारा प्रार्थना पत्र रजिस्ट्रेशन नंबर इस प्रकार से है 60000200138330, 60000200139790,60000200139558,60000200144591,60000200143988,60000200152201,6000020015308,60000200181397,60000200183563,60000200143988,60000200144591,60000200152201,60000200152308महोदय हम गरीबों की मदद करने वाला कोई नहीं है महोदय 2013 वर्षों से पुलिस प्रशासन संघर्ष कर रही हूं इसी कारण आप से मदद की गुहार कर रही हूं कृपा आप कोई ठोस कदम उठाएं और इस मुसीबत से गरीबों की मदद करने की कृपा करें इसके लिए मैं सदा आपकी आभारी रहूंगी पत्र लिखने में अगर मैंने किसी भी अधिकारी का अनादर किया हो तो माफी मांगना चाहती हूं/
    धन्यवाद
    नीलम देवी तिवारी पति अजय कुमार तिवारी
    पता:- ग्राम – नेवादा कानू , पोस्ट ऑफिस – विशेश्वरगंज , पुलिस स्टेशन- संग्रामपुर, तहसील- अमेठी , जिला – अमेठी, (उत्तर प्रदेश) pin no 227407
    mobile no 8948614420

    प्रतिक्रिया
  4. Sir ग्राम पंचायत के प्रधान ने विकास का रियो में बहुत बडी धां धली की है , मेरे द्वा रा मागी गई आ र टी आई भी नहीं मिल पाई है जि ला स्त र पर किसी भी शि कायत पर कोई कार्यवाही नहीं हो रही है अब इस समवंध में मु झे कहां शिकायत दर्ज़ करानी होगी ता कि विकास कार्यों की सही जां च हो सके

    प्रतिक्रिया
    • ्रीमान हमारे गांव में चौधरी जावेद अहमद खान ने नियुक्ति के नाम पर करोड़ों रुपये की जमीन मकान ङिगरी कालेज बन वा रखा हैं जबकि आय काकोई सोर्स नही है उसकी कहाँ शिकायत कहाँ करे।

      प्रतिक्रिया
  5. Yaha up Rampur m bhut risvat chal rhi h jinhe pass paise h wo logo police walo ko paise de kr jhuta case kr diya h jis ki wajaha se mahila thana moradabad ki jyoti singh public bhut pareshan kr rhi h yaha up m sirf police kisi kaam. Ki nhi h yaha aurat kitna julam kre sasural walo pr saare kanun sirf aurat k liye h aadmi to sirf bekr h ye mera ph no 9760345116 m bhut pareshan hu

    प्रतिक्रिया
  6. Gram Panchayat Ranipur block Dharampur hadia Prayagraj
    Gram pradhan ki Dadagiri aam Garib Janata Pradhan Ji ki Shikayat karne par maa bahan Galiyan marnye ki dahmiki di ja rahi sab adhikari sup kyo hai kya itna dadagiri ki koi awaj nahi utha raha hai ab modi sarkar ke rahtye ye hal hai garib janta mar kha rahe hai mai modi ji sarkar se ye khana cahta hu ki iski karwai karye

    प्रतिक्रिया
  7. कुछ नहीं करते हैं किसी का भी, केवल आपकी शिकायत स्वीकार करके आपको एक registration नंबर दे देते हैं जिससे आप खुस हो जाओ। फिर वो शिकायत सालों साल पड़ी रहेगी ठन्डे बस्ते में। मेरी खुद की दो शिकायतें पड़ी हैं सालों से।

    प्रतिक्रिया
  8. Santosh yadav dist- azamgarh up, 9918418683, Sir mai murgi paln krna chahta hu aur mere pas jamin hai road bhi hai gaon se bahar bahi hai but usko bnawana hai to kya banawane ke liye bhi bank loan degi, aur sir mai jitni bar bank me gya manager ne mna kr diya ki loan nhi milta hai aise ,mere pass sabhi proof bhi hai jo documents ap bole ho sir please help me.

    प्रतिक्रिया

Leave a Comment