यूपीआई क्या होती है? | यूपीआई फुल फॉर्म, फ़ायदे व कैसे उपयोग करें? | UPI kya hai

|| UPI id kya hai, यूपीआई क्या होता है?, यूपीआई का फुल फॉर्म क्या है?, यूपीआई पेमेंट के फायदे, UPI Autopay क्या है?, यूपीआई कैसे यूज़ करते हैं? ||

UPI kya hai :- कोरोना काल के बाद देश क्या पूरी दुनिया में ऑनलाइन पेमेंट की सुविधा में लगभग भूचाल सा आ गया है। अब जब सब काम ऑनलाइन होने लगे हैं तो पैसों का लेनदेन क्यों ऑफलाइन माध्यम से किया जाए। साथ ही जो लोग नौकरी करते हैं, उन्हें उनका वेतन उनके बैंक खाते में मिलता (UPI kya hoti hai) है। अब इन पैसों को एटीएम जाकर निकालो और फिर उन्हें संभाल कर रखो इत्यादि झंझट कौन लेगा भला। तो इसी झंझट से बचने के लिए ज्यादातर सभी लोग ऑनलाइन पेमेंट को महत्ता देने लगे हैं।

इस ऑनलाइन पेमेंट में भी जिसका सर्वाधिक इस्तेमाल किया जाता है वह होता है यूपीआई, जिसका चलन कोरोना के बाद से बहुत तेजी के साथ बढ़ा है। पहले ज्यादातर सभी ऐप्स के अपने खुद के वॉलेट होते थे इससे पैसे भेजने में समस्या आती (UPI meaning in Hindi) थी। किंतु धीरे धीरे इसमें बदलाव देखने को मिला और फिर भारत सरकार के द्वारा यूपीआई को लांच किया गया। इसे आप अपनी किसी भी ऐप की सहायता से स्कैन करके पैसे भेजे और वह सीधे सामने वाले के बैंक खाते में पहुँच जाएंगे।

अब आज की बढ़ती तकनीक में केवल यूपीआई से ही काम चलाया जाए तो ऐसा जरुरी नही। यूपीआई की तर्ज पर ही UPI Autopay का विकल्प आया जो लोगों को बार बार की जाने वाली पेमेंट के लिए एक नया फीचर उपलब्ध करवाता था और वह होता है उनकी अनुमति लिए बिना ही एक निश्चित समय अंतराल के बाद पैसों का अपने आप कट (UPI ki jankari) जाना। आज के इस लेख में हम आपके साथ यूपीआई क्या है और UPI Autopay का क्या मतलब होता है, इन दोनों के बारे में ही चर्चा करने वाले हैं।

यूपीआई क्या होता है? (UPI kya hai)

सबसे पहले बात करते है यूपीआई के बारे में और इसका क्या मतलब होता है, इसके बारे में। तो ऑनलाइन पेमेंट करने के बारे में तो आप सभी जानते होंगे और आपने बहुत बार इसका इस्तेमाल भी किया होगा। आपके मोबाइल में भी ऑनलाइन भुगतान करने से संबंधित कई तरह की ऐप्स उपलब्ध होंगी जैसे कि पेटीएम, फोन पे, भीम, गूगल पे, अमेज़न पे, बैंक की ऐप इत्यादि। दिनों दिन इस तरह की ऐप और इनमे मिलने वाले फीचर में भी बढ़ोत्तरी देखने को मिल रही है।

यूपीआई क्या होती है यूपीआई फुल फॉर्म फ़ायदे व कैसे उपयोग करें UPI kya hai

यही कारण है कि लगभग हर व्यक्ति कैश में लेनदेन की बजाए इन ऐप को महत्ता देने लगा है और इसके जरये ही किसी चीज़ की खरीदी, बिक्री, बिल इत्यादि का कार्य करने लगा है। इससे कैश रखने का झंझट समाप्त होता है और आसानी से किसी भी चीज़ के लिए लेनदेन संभव हो जाता (UPI ke bare mein jankari) है। तो क्या यूपीआई का संबंध ऑनलाइन पेमेंट से है और क्या यह सभी तरह की ऑनलाइन पेमेंट पर लागू होता है। यदि आप ऐसा सोच रहे हैं तो आप गलत है।

दरअसल ऑनलाइन पेमेंट के लिए आपके पास कई तरह के विकल्प होंगे जिनके माध्यम से आप किसी को भी कही भी भुगतान कर सकते हैं या पा सकते हैं। इन विकल्प में से मुख्य विकल्प इस प्रकार हैं:

  • QR कोड स्कैन करके
  • मोबाइल नंबर के माध्यम से
  • बैंक खाते का अकाउंट नंबर
  • यूपीआई के माध्यम से

तो अब आपको समझ में आ गया होगा कि ऑनलाइन पेमेंट के सभी विकल्प यूपीआई पेमेंट में नहीं आते हैं और यह ऑनलाइन पेमेंट का एक प्रकार होता है। तो जिस तरह से आप किसी का मोबाइल नंबर लेकर उसके जरिये पेमेंट करते हैं या फिर सीधा उसका बैंक खाता व IFSC कोड इत्यादि लेकर उसके बैंक में पैसे भेजते हैं या फिर उनके QR कोड को स्कैन करके पैसे भेजते हैं तो उसी तरह ऑनलाइन पेमेंट करने के लिए तीसरा विकल्प यूपीआई आईडी का होता है।

इसके जरिये आपको बस अपनी यूपीआई आईडी देनी होती है और सामने वाला व्यक्ति अपने मोबाइल की ऑनलाइन पेमेंट करने वाली ऐप में उस यूपीआई आईडी को डालकर आपको पेमेंट कर देता है। इसके जरिये उसके द्वारा भेजे गए पैसे सीधे आपके खाते में पहुँच जाते हैं। ठीक उसी तरह आप भी सामने वाले व्यक्ति के बैंक खाते में उसकी यूपीआई आईडी के जरिये पैसे भेज सकते हैं।

यूपीआई का फुल फॉर्म क्या है? (UPI full form in Hindi)

अब आपने यूपीआई की महत्ता और काम के बारे में तो जान लिया कि किस तरह से इसके जरिये ऑनलाइन भुगतान और वो भी सीधे बैंक खाते में किया जा सकता है किंतु आपके मन में इसकी फुल फॉर्म को लेकर प्रश्न उठ रहे होंगे। अवश्य ही यह तो आपको पता होगा कि यह एक शोर्ट फॉर्म है और इसकी फुल फॉर्म कुछ ना कुछ तो होगी ही। तो यहाँ हम आपको यूपीआई की फुल फॉर्म बताने जा रहे हैं।

यूपीआई की फुल फॉर्म यूनिफाइड पेमेंट इंटरफ़ेस (Unified Payments Interface) होती है। वही इसे हिंदी में एकीकृत भुगतान इंटरफेस कहते हैं। यह ऑनलाइन भुगतान करने के लिए इंटरफ़ेस होता है जो व्यक्ति आधारित होता (UPI ka full form kya hai) है। कहने का अर्थ यह हुआ कि हर व्यक्ति की अपनी एक यूनिक यूपीआई आईडी होती है या उसकी एक से अधिक भी यूपीआई आईडी हो सकती है।

यूपीआई आईडी क्या होती है? (UPI id kya hoti hai)

अब आपको यह भी जान लेना चाहिए कि आखिरकार यह यूपीआई आईडी होती क्या है और इसको कैसे बनाया जाता है। तो यहाँ हम आपको यह पहले ही स्पष्ट कर दे कि यह ऑनलाइन पेमेंट की सुविधा देने वाली हर ऐप की एक स्पेशल आईडी होती है जो आपके बैंक खाते से लिंक की गयी होती (UPI id kya hai) है। इसे उदाहरण से समझते हैं। आप अपने दैनिक जीवन में कई तरह की सोशल मीडिया का इस्तेमाल करते होंगे जैसे कि फेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम इत्यादि। अब आपको इन सभी पर लॉग इन करने के लिए या अपना खाता बनाने के बाद एक आईडी मिलती होगी जिसकी सहायता से आप इन सोशल मीडिया पर लॉग इन कर पाते होंगे।

इसी तरह यदि आपको और कही भी लॉग इन करना होगा तो वहां भी आपको अपना यूजर नाम और पासवर्ड डालना ही होगा और इसके बिना आपका काम नहीं चल (UPI Id kya hoti hai) पाएगा। उसी तरह आप यह कैसे सोच सकते हैं कि ऑनलाइन पेमेंट का काम करने वाली इन महत्वपूर्ण ऐप्स की भी आपके लिए एक यूजर नाम या आईडी नही होगी। तो आपकी इन सभी पेमेंट ऐप पर अपनी एक यूनिक आईडी होती है और उसे ही यूपीआई आईडी के नाम से जाना जाता है।

आप चाहे तो अभी के अभी अपने मोबाइल में इनस्टॉल ऑनलाइन पेमेंट की ऐप को खोल कर देख सकते हैं। वहां पर आपको फ्रंट पेज पर ही अपनी यूपीआई आईडी लिखी हुई दिख जाएगी या फिर आप वहां दिए गए विकल्प पर क्लिक कर अपनी यूपीआई आईडी को देख सकते हैं। तो आपके मोबाइल में जितनी ऑनलाइन पेमेंट की ऐप होगी, आपकी यूपीआई आईडी भी उतनी ही होगी। कहने का अर्थ यह हुआ कि यदि आपने अपने मोबाइल में ऑनलाइन भुगतान करने के लिए 3 ऐप्स को इनस्टॉल किया है तो इसका अर्थ हुआ आपकी 3 यूपीआई आईडी है।

यूपीआई पेमेंट के फायदे (UPI ke fayde)

आपने यूपीआई आईडी, पेमेंट, फुल फॉर्म इत्यादि के बारे में तो जान लिया है लेकिन आपके मन में रह रह कर यह विचार आ रहा होगा कि जब ऑनलाइन पेमेंट करने के पहले से ही इतने सारे विकल्प है जैसे कि फोन नंबर, QR कोड, बैंक खाता इत्यादि तो फिर इस यूपीआई पेमेंट को लांच करने की क्या ही आवश्यकता थी या फिर इसका क्या फायदा (UPI payment benefits in Hindi) होगा। तो आज हम आपके समक्ष इस यूपीआई पेमेंट को इस्तेमाल करने से मिलने वाले फायदों को रखने जा रहे हैं।

  • यूपीआई का चलन इसलिए आया था कि लोग अपना मोबाइल नंबर या बैंक खाता देने से हिचकिचाते थे। मान लीजिए आपको किसी व्यक्ति से पेमेंट मंगवानी है या आपको किसी अनजान व्यक्ति या किसी संस्था इत्यादि से पेमेंट लेनी है और आप उन्हें अपना नंबर या बैंक खाता निजी कारणों के कारण साँझा नहीं करना चाहते हैं तो आप उन्हें अपनी यूपीआई आईडी शेयर कर सकते हैं और सफलतापूर्वक पेमेंट मंगवा सकते हैं।
  • बहुत से लोग ऑनलाइन बिज़नेस कर रहे हैं और इसमें महिलाएं भी हैं। कोई महिला किसी कंपनी के लिए कुछ बनाने का काम कर रही है तो किसी के द्वारा अपना ही छोटे या बड़े स्तर पर व्यापार चलाया जा रहा है। अब इसके जरिये वे ऑनलाइन ऑर्डर भी लेती हैं और उसका भुगतान भी ऑनलाइन माध्यम से ही लिया जाता है। तो इसके लिए उन्हें अपना मोबाइल नंबर या बैंक खाता नही देना पड़े और फिर भी काम हो जाये तो उसके लिए यूपीआई आईडी का इस्तेमाल किया जाता है।
  • जब आप किसी के यहाँ जाते हैं तो वहां रखे हुए कोड को स्कैन करके उन्हें आसानी से पैसे भेज सकते हैं लेकिन यदि आपको उन्हें दूर से पेमेंट भेजनी हो या लेनी हो तो फिर इसमें दिक्कत हो सकती है। तो इसके लिए भी यूपीआई पेमेंट की सुविधा उपलब्ध करवाई गयी थी।
  • यूपीआई पेमेंट में कई अन्य तरह के विकल्प भी मिलते हैं जिनमे से एक UPI Autopay प्रमुख है। इसके बारे में हम आपको नीचे विस्तार से बतायेंगे जिसे आपको अभी से ही इस्तेमाल करना शुरू कर देना चाहिए।
  • यूपीआई केवल एक आईडी होती है और इसमें आपको अपनी कोई भी निजी जानकारी साँझा नहीं करनी होती है। इस तरह यह व्यक्ति की निजी जानकारी शेयर किये बिना ही ऑनलाइन भुगतान का एक सुरक्षित विकल्प माना जाता है।

तो इस तरह से यदि आप यूपीआई आईडी का इस्तेमाल कर भुगतान कर रहे हैं तो आप बहुत ज्यादा फायदे में रहने वाले हैं। हालांकि इसमें कोड भी उतनी ही महत्वपूर्ण भूमिका निभाने लगा है क्योंकि आज के समय में इसे किसी भी ऑनलाइन पेमेंट ऐप से स्कैन करके पैसे भेजने का काम किया जा सकता है।

UPI Autopay क्या है? (UPI autopay in Hindi)

अब बात करते हैं UPI Autopay के बारे में जो कि यूपीआई आईडी या पेमेंट का ही एक महत्वपूर्ण फीचर है। जैसा कि हमने आपको पहले ही बताया कि बढ़ती हुई तकनीक और प्रतिदिन आ रहे नए नए फीचर की इस दुनिया में यूपीआई भी क्यों पीछे रहती। अब उसने लोगों की दुविधा को समझा और उसी को देखते हुए उसने अपने विकल्प में एक फीचर या सुविधा और जोड़ दी। वर्तमान समय में इसी UPI Autopay फीचर का इस्तेमाल लाखों लोगों के द्वारा किया जा रहा है।

तो यदि आप भी UPI Autopay के बारे में जानना चाहते हैं तो अब हम आपके सामने वही रखने जा रहे (UPI autopay kya hai) हैं। दरअसल ऑनलाइन पेमेंट की इस दुनिया में आज के समय में हम लगभग हर चीज़ की ऑनलाइन पेमेंट ही करने लगे हैं, फिर चाहे वह ऋण की किश्त का भुगतान हो, बिल का भुगतान करना हो या ऐसी ही कोई अन्य चीज़। अब इनमे से बहुत सारी चीजें ऐसी होती है जिन्हें हमें एक निश्चित अंतराल के बाद भुगतान करना ही होता है।

अब यह अंतराल कई दिनों से लेकर कई महीनो का हो सकता है जैसे की एक दिन या एक ही दिन में कई बार या फिर एक सप्ताह, 15 दिन, एक महीना, 2 महीने, 3 महीने, 6 महीने, एक वर्ष इत्यादि। ज्यादातर ऐसे भुगतान एक महीने के अंतराल पर किये जाते हैं तो कुछ एक दिन या एक सप्ताह के अंतराल में भी किये जाते हैं। अब मान लीजिए आपके घर पर बिजली का बिल हर दो महीने में एक बार आता है और आप इसका ऑनलाइन ही भुगतान करते हैं।

मान लीजिए किसी दिन आप बिजली बिल का भुगतान करना भूल गए और फिर आपके ऊपर पेनल्टी लग गयी तो आपको अगली बार इसी बिजली बिल का भुगतान पेनल्टी के साथ करना होगा और बेवजह आपका नुकसान होगा वो अलग। तो इस तरह की स्थिति से बचने के लिए ही UPI Autopay की सुविधा को लांच किया गया। इसके द्वारा आप अपनी ऑनलाइन पेमेंट करने वाली ऐप को किसी व्यक्ति, संस्था या कंपनी को एक निश्चित अवधि के बाद कुछ रुपयों या जनरेट हुए बिल का अपने आप भुगतान करने की अनुमति प्रदान कर देते हैं।

इसके बाद जब भी वहां से बिल जनरेट होता है या एक निर्धारित किश्त होती है, और आपने जो भी तिथि निर्धारित की है या जब भी उसकी अंतिम तिथि होती है, उस दिन या उस तिथि से पहले या बिल जनरेट होने पर उसका आपकी यूपीआई पेमेंट के द्वारा अपने आप ही भुगतान हो जाता है। इसमें आपको हर बार उसके लिए अनुमति प्रदान करने की आवश्यकता नहीं होती है और आपको अलग से ध्यान भी नहीं रखना होता है। बस आपके बैंक खाते में इतने पैसे होने चाहिए कि उसका अपने आप ही भुगतान किया जा सके।

UPI Autopay कैसे होता है? (UPI autopay kaise kare)

UPI Autopay क्या है, इसको जानने के साथ साथ यह भी जान लेना चाहिए कि यह कैसे किया जाता है। तो इसे करने के एक या दो नहीं बल्कि कई तरीके होते हैं और वो भी अपनी अलग अलग ऐप पर अलग अलग माध्यम से। अब हर ऐप के अपने अलग अलग फीचर तो होंगे ही और उनको इस्तेमाल करने की प्रक्रिया भी भिन्न भिन्न होगी। तो इसी में UPI Autopay को करने की प्रक्रिया भी भिन्न भिन्न होती है। फिर भी हम आपको मुख्य तौर पर UPI Autopay का किस प्रकार इस्तेमाल किया जाए, यह बता देते हैं।

इसके लिए आप अगली बार जिस भी बिल या किश्त का ऑनलाइन ऐप के जरिये भुगतान करे तो उसका भुगतान करते ही आपको यह फीचर देखने को मिलेगा जिसमे लिखा होगा अगली बार इसी तरह की पेमेंट के लिए क्या आप UPI Autopay की सुविधा को चालू करना चाहते हैं। यदि आप इसकी हामी दे देते हैं तो यह आपको उस चीज़ के लिए कुछ जानकारी मांगेगा जैसे कि आप कब और कैसे इसकी UPI Autopay को चालू करना चाहते हैं। यह सब सेट करने के पश्चात अपने आप ही UPI Autopay के माध्यम से भुगतान हो जाया करेगा।

इसी तरह आप अपनी भुगतान संबंधी ऐप पर जाकर उसके विकल्प पर क्लिक कर वहां UPI Autopay का विकल्प देख सकते हैं। इस पर क्लिक करने पर आपके द्वारा पहले की गयी UPI Autopay की सुविधा का सब ब्यौरा आ जाएगा जो आपके द्वारा इस्तेमाल की गयी थी। अब आप इन्हें प्रतिबंधित करने का काम कर सकते हैं और इसी में ही किसी नयी यूपीआई आईडी को डालकर उसके लिए वही सुविधा को चालू कर सकते हैं।

UPI Autopay के फायदे (UPI autopay benefits in Hindi)

UPI Autopay को इस्तेमाल करने के एक नहीं बल्कि कई फायदे देखने को मिलते हैं। इसका अनुमान तो आपने तभी लगा लिया होगा जब हमने आपको यह बताया की यह फीचर किस उद्देश्य के तहत लांच किया गया (UPI autopay ke fayde) था। फिर भी हम इसे विस्तृत रूप देते हुए आपको यह बता देते हैं कि UPI Autopay का इस्तेमाल करने पर आपको किस किस तरह के फायदे देखने को मिल सकते हैं।

  • UPI Autopay का इस्तेमाल करने पर आप अपने समय की बचत कर सकते हैं। अब ऐसे कई भुगतान होते हैं जो आपको एक निश्चित अवधि के पश्चात करने ही होते हैं तो हर बार वही प्रक्रिया दोहराने की बजाए यदि आप UPI Autopay को ऑन कर देंगे तो आपका बहुत समय बच जाएगा।
  • कई बार यह देखने को मिलता है कि हम अपने काम में इतना अधिक व्यस्त होते हैं कि किसी जरुरी किश्त या बिल का समय पर भुगतान करना ही भूल जाते हैं या फिर वह हमारे दिमाग से निकल जाता है जिस कारण हमें उसके लिए पेनल्टी देनी पड़ती है। तो UPI Autopay का इस्तेमाल करने पर इस दुविधा से भी बचा जा सकता है।
  • आप जब चाहे UPI Autopay को चालू कर सकते हैं और बंद भी। यह मत सोचिये कि एक बार आपने किसी के लिए UPI Autopay को चालू कर दिया तो आप उसे बंद नहीं कर पाएंगे। आप जब चाहे उसे किसी भी समय बंद कर सकते हैं।
  • UPI Autopay में कई तरह की सुविधा आपको मिलती है जैसे कि आपने इसे हर महीने के लिए सेट कर दिया लेकिन आप इसे केवल 12 महीने के लिए ही चालू रखना चाहते हैं। कहने का अर्थ यह हुआ कि आप नहीं चाहते कि 12 किश्त कटने के बाद 13 वें महीने भी इसी तरह की किश्त कटे। तो उसके लिए भी आप इसमें लिमिट सेट कर सकते हैं।
  • अब मान लीजिए आपने अपनी बिजली बिल के लिए ऑनलाइन पेमेंट की सुविधा चालू की हुई है लेकिन आपको यह पक्का यकीन है कि आपका महीने का बिजली बिल 10 हज़ार से ज्यादा आ ही नहीं सकता है और यदि यह आया है तो इसकी जांच की जाने की जरुरत है। तो UPI Autopay के माध्यम से इसमें भी लिमिट सेट की जा सकती है। उसमे एक फीचर ऐसा भी है जिसके जरिये आप एक निश्चित राशि से ज्यादा राशि होने पर UPI Autopay को अपने आप बंद करने का विकल्प चुन सकते हैं।

इस तरह जब आप UPI Autopay का इस्तेमाल करने लगेंगे तब आपको इसके और भी बहुत सारे फायदे जानने को मिलेंगे जिनका आप अलग अलग UPI Autopay की पेमेंट के लिए लाभ उठा सकते हैं। इस बात का प्रमुखता के साथ ध्यान रखे कि आप अपने बैंक खाते में आवश्यक राशि रखे ताकि जब UPI Autopay का समय आये तो वह फेल ना हो।

download app

यूपीआई व UPI Autopay क्या है – Related FAQs

प्रश्न: यूपीआई सिस्टम क्या होता है?

उत्तर: यूपीआई सिस्टम के माध्यम से हम किसी व्यक्ति को उसकी यूपीआई आईडी के जरिये सीधे बैंक खाते में पैसे भेज सकते हैं।

प्रश्न: यूपीआई द्वारा पैसे भेजने को क्या कहते हैं?

उत्तर: यूपीआई द्वारा पैसे भेजने को यूनिफाइड पेमेंट इंटरफ़ेस कहते हैं।

प्रश्न: यूपीआई कैसे यूज़ करते हैं?

उत्तर: यूपीआई को इस्तेमाल करने के लिए आपके पास सामने वाले की यूपीआई आईडी होनी चाहिए और उसके जरिये आप उसे पैसे भेज सकते हैं।

प्रश्न: भारत में कौन सा पेमेंट ऐप सबसे सुरक्षित है?

उत्तर: भारत में Paytm, फोन पे, गूगल पे इत्यादि पेमेंट ऐप सबसे सुरक्षित है।

तो इस तरह से इस लेख के माध्यम से आपने जाना कि यूपीआई क्या होती है और इसके जरिये किस तरीके से भुगतान सुनिश्चित किया जाता है। साथ ही यूपीआई आईडी और उसके एक अन्य फीचर UPI Autopay के बारे में भी आपने जाना। UPI Autopay से आपको क्या कुछ फायदे देखने को मिल सकते हैं और यूपीआई आईडी को इस्तेमाल करने के भी क्या क्या फायदे होते हैं, यह सब जानकारी भी आपने इस लेख के माध्यम से ले ली है।

लविश बंसल
लविश बंसल
लविश बंसल वर्ष 2010 में लवली प्रोफेशनल यूनिवर्सिटी में कंप्यूटर साइंस इंजीनियरिंग में प्रवेश लिया और वहां से वर्ष 2014 में बीटेक की डिग्री ली। शुरुआत से ही इन्हें वाद विवाद प्रतियोगिता में भाग लेना या इससे संबंधित क्षेत्रों में भाग लेना अच्छा लगता था। इसलिए ये काफी समय से लेखन कार्य कर रहें हैं। इनके लेख की विशेषता में लेख की योजना बनाना, ग्राफ़िक्स का कंटेंट देखना, विडियो की स्क्रिप्ट लिखना, तरह तरह के विषयों पर लेख लिखना, सोशल मीडिया कंटेंट लिखना इत्यादि शामिल है।
WordPress List - Subscription Form
Never miss an update!
Be the first to receive the latest blog post directly to your inbox. 🙂

Leave a Comment