यूपी सप्लाई मित्र क्या है? | लाभ, उद्देश्य व पंजीकरण कैसे करे? | What is UP Supply Mitra in Hindi

|| यूपी सप्लाई मित्र क्या है? | What is UP Supply Mitra in Hindi | How to register on UP Supply Mitra Portal | यूपी सप्लाई मित्र पोर्टल की विशेषताएं | Features of UP Supply Mitra Portal in Hindi | यूपी सप्लाई मित्र पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन कैसे करें? ||

What is UP Supply Mitra in Hindi :- सप्लाई मित्र योजना की शुरुआत उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा कि गई है ताकि वे राज्य के सभी गरीब लोगों की मदद कर सकें और साथ ही वे खाद्य सामग्री जो गेहूं, चावल और कुछ प्रकार की दाल भी उन सभी लोगों तक पहुंचा सकें जो लाभ प्राप्त करने में सक्षम नहीं (Benefits of UP Supply Mitra Home Delivery Porta) हैं। सप्लाई मित्र पोर्टल आपको अपने इलाके में पके हुए भोजन की खोज करने में भी मदद करेगा ताकि आप वहां जा सकें और अपने मुफ्त पके हुए भोजन का दावा कर सकें और फिर वित्तीय धन की चिंता किए बिना एक अच्छा जीवन जी सकें।

उत्तर प्रदेश सप्लाई मित्र योजना के कई लाभ हैं जो उत्तर प्रदेश सरकार और मुख्य रूप से मुख्यमंत्री श्री योगी आदित्यनाथ द्वारा शुरू की गई है। यह पहल राज्य के गरीब लोगों के विकास की दिशा में एक बहुत अच्छी पहल है क्योंकि बहुत से गरीब लोग इस लॉकडाउन और गरीबी के कारण अच्छे भोजन के अवसर प्राप्त नहीं कर पा रहे (How to register on UP Supply Mitra Portal) थे। यह पहल उन सभी लोगों के लिए बहुत महत्वपूर्ण है जो देश के सामान्य लोगों की तुलना में अपेक्षाकृत गरीब हैं।

कोरोना संक्रमण के समय लोगों की सुरक्षा एवं सुविधा को ध्यान में रखते हुए उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने नागरिकों को राशन एवं अन्य खाद्य सामग्री की अनुपलब्धता की समस्या को दूर करने के 8 अप्रैल 2020 यूपी में सप्लाई मित्र पोर्टल शुरू किया गया। इस पोर्टल के माध्यम से नागरिक घर बैठे खाद्य वितरण केन्द्रों एवं खाद्य सामग्री की जानकारी प्राप्त कर राशन सामग्री मंगाने की होम डिलीवरी की सुविधा डी गई (Features of UP Supply Mitra Portal) थी। इसके साथ ही अगर कोई दुकानों से खाद्य या खाद्य सामग्री फाइनेंस या होम डिलीवरी करने का इच्छुक है तो वह भी यूपी सप्लाई मित्र पोर्टल की आधिकारिक वेबसाइट पर आप अपना रजिस्ट्रेशन करा सकते हैं।

यूपी सप्लाई मित्र क्या है? (What is UP Supply Mitra in Hindi)

उत्तर प्रदेश सरकार ने कोविड-19 से उत्पन्न स्थिति में सभी को भोजन उपलब्ध कराने के लिए प्राथमिकता के तौर पर ‘होम डिलीवरी सप्लाई मित्र’ पोर्टल लॉन्च किया था। राज्य सरकार के एक प्रवक्ता ने कहा कि कोविड-19 महामारी से उत्पन्न परिस्थितियों में सभी को भोजन उपलब्ध कराना उत्तर प्रदेश सरकार की सर्वोच्च प्राथमिकता है, जिसके लिए राज्य सरकार द्वारा कई महत्वपूर्ण कदम उठाए गए हैं।

होम डिलीवरी सप्लाई मित्र का पोर्टल राज्य कर विभाग द्वारा तैयार किया गया है। इस पोर्टल पर उत्तर प्रदेश के सभी जिलों में दैनिक उपयोग की वस्तुओं जैसे किराना, राशन आदि की होम डिलीवरी में व्यापारियों एवं डिलीवरी करने वालों के नाम, मोबाइल नंबर, जिला एवं स्थानीय क्षेत्र से संबंधित जानकारी शामिल है।

यूपी सप्लाई मित्र क्या है लाभ, उद्देश्य व पंजीकरण कैसे करे What is UP Supply Mitra in Hindi

सोशल मीडिया के माध्यम से लोगों तक जानकारी पहुंचाने के लिए ‘होम डिलीवरी सप्लाई मित्र’ और ‘अन्नपूर्णा’ नाम से दो फेसबुक पेज भी बनाए गए हैं। सभी आवेदक जो ऑनलाइन आवेदन करने के इच्छुक हैं तो आधिकारिक अधिसूचना डाउनलोड करें और सभी पात्रता मानदंड और आवेदन प्रक्रिया को ध्यान से पढ़ें। हम “अन्नपूर्णा, होम डिलीवरी और खाद्य वितरण केंद्र यूपी” के बारे में पूरी जानकारी देते हैं, इसलिए कृपया आवेदन पत्र की चरण दर चरण प्रक्रिया का सावधानीपूर्वक पालन करें।

योजना का नाम सप्लाई मित्र
राज्य यूपी
साल 2024
कब शुरू हुई 8 अप्रैल 2020
लाभार्थी उत्तर प्रदेश के नागरिक
उद्देश्य नागरिकों को खाद्य वस्तुओं की होम डिलीवरी की सुविधा प्रदान करना
वेबसाइट supplymitra-up.com

यूपी सप्लाई मित्र पोर्टल की विशेषताएं (Features of UP Supply Mitra Portal in Hindi)

सप्लाई मित्र पोर्टल यूपी के मुख्यमंत्री के द्वारा शुरू की गई रक बहुत ही लाभदयक योजना है। जिसका लाभ आज यूपी के बहुत से नागरिक उठा रहे हैं। इस योजना की कुछ विशेषताएं भी हैं जो कि कुछ इस प्रकार से हैं।

निवासियों की सुविधा सुनिश्चित करना: लोग जरूरी सामान खरीदने के लिए घरों से बाहर नहीं निकल पा रहे हैं। पोर्टल शुरू करने के पीछे मुख्य उद्देश्य सूचना के उचित प्रसार के साथ आम लोगों की सुविधा को सुनिश्चित करना है।

महत्वपूर्ण जानकारी प्रदान करना: उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री ने इस बात पर प्रकाश डाला कि राज्य के भंडार गृहों में पर्याप्त खाद्यान्न और आवश्यक किराने का सामान है। हालांकि, आम लोगों को उन केंद्रों के बारे में जानकारी नहीं होती है, जहां से वे वस्तुओं को एकत्र कर सकते हैं।

वेबसाइट घटकों की संख्या: उत्तर प्रदेश आपूर्ति मित्र पोर्टल के तीन अलग-अलग घटक हैं। एक किराने का सामान और राशन के वितरण से संबंधित है। दूसरे में खाद्य वितरण केंद्रों के विवरण पर प्रकाश डाला गया है। तीसरा घटक सामुदायिक रसोई या अन्नपूर्णा पके भोजन वितरण केंद्रों पर प्रकाश डालता है।

केंद्रों का विवरण: आम लोग, जिन्हें खाद्यान्न, किराने का सामान, पके हुए भोजन या अन्य वस्तुओं की होम डिलीवरी की आवश्यकता होती है, वे पोर्टल से दुकानों और केंद्रों के नाम और संपर्क विवरण प्राप्त कर सकेंगे।

ऑनलाइन पंजीकरण: स्टोर, एनजीओ और कम्युनिटी किचन इस नेक काम का हिस्सा बन सकते हैं। ऐसे संगठनों को इन सेवाओं की पेशकश के लिए पोर्टल पर लॉग इन करना होगा और पंजीकरण कराना होगा।

डायनामिक लिस्टिंग: मुख्यमंत्री ने इस बात पर प्रकाश डाला है कि पोर्टल पर उपलब्ध लिस्टिंग गतिशील हैं। दिनों में, पंजीकृत होम डिलीवरी केंद्रों की संख्या बढ़ या घट सकती है। कुछ किराना, भोजन वितरण और भोजन वितरण केंद्र सेवा बंद कर सकते हैं, जबकि सूची में नए स्टोर जोड़े जा सकते हैं।

राशन व किराना दुकानों की संख्या: आम लोग पोर्टल पर 9451 किराना और राशन होम डिलीवरी स्टोर का विवरण देख सकते हैं।

सामुदायिक भोजन वितरण केन्द्रों की संख्या: अब तक पोर्टल पर 1218 अन्नपूर्णा रसोइयों और पके हुए भोजन वितरण केंद्रों का पंजीकरण किया जा चुका है।

download app

यूपी सप्लाई मित्र पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन कैसे करें (How to register on UP Supply Mitra Portal in Hindi)

यूपी मित्र पोर्टल पर जो भी दुकानदार या व्यापारी अपना नाम सूची में शामिल करना चाहते हैं तो ऐसा करने के लिए उन्हें अपने नाम को ऑनलाइन पंजीकरण करना होगा।

  • सबसे पहले आपको यूपी सप्लाई मित्र पोर्टल की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।
  • जिसके बाद आपके सामने स्क्रीन पर होम पेज खुल जाएगा।
  • यहां होम पेज पर आपको दिए गए लिंक में से किराना/राशन सामग्री की होम डिलीवरी लिस्ट में आपका नाम दुकान/ट्रेड नेम डालने के विकल्प पर क्लिक करना होगा।
यूपी सप्लाई मित्र क्या है 1
  • अब आपकी स्क्रीन पर अगला पेज खुलेगा, यहां आपको मांगी गई जानकारी जैसे यूजर टाइप, और मोबाइल नंबर दर्ज करना होगा।
  • अब इसके बाद आपको वेरीफाई के बटन पर क्लिक करना है, इस तरह आपका रजिस्ट्रेशन प्रोसेस पूरा हो जाएगा।

अपने नजदीकी राशन वितरक का नाम कैसे खोजें (The process to find the name of your nearest ration distributor in Hindi)

यूपी सप्लाई मित्र पोर्टल के माध्यम से नागरिक अब यहां वर्णित प्रक्रिया को पढ़कर अपने नजदीकी किराना एवं राशन सामग्री के वितरण की जानकारी आसानी से प्राप्त कर सकते हैं।

  • इसके लिए आपको सबसे पहले सप्लाई मित्र पोर्टल की आधिकारिक वेबसाइट पर जाने की आवश्यकता होगी।
  • अब होम पेज पर आपको तीन कॉम्पोनेन्ट और सेवाएं दिखाई देंगी।
  • अब राशन वितरकों के नाम खोजने के लिए अपने नजदीकी कृषि/राशन होम नोट डेवलपर की जानकारी प्राप्त करने के लिए इस विकल्प पर क्लिक करें।
यूपी सप्लाई मित्र क्या है
  • इसके बाद आपकी स्क्रीन पर अगला पेज ओपन हो जाएगा। आपको सप्लायर, डिस्ट्रीब्यूटर ऑप्शन डालकर फिर जिला, वार्ड और गली का नाम चुनना होगा।
  • जिस जिले/वार्ड में होम डिलीवरी सप्लाई मित्र की जानी है, वहां होम डिलीवरी सप्लाई मित्र का पता लगाना आवश्यक है।

पके हुए भोजन वितरण केन्द्रों की सूची देखने की प्रक्रिया (Process to view list of cooked food distribution centers in Hindi)

  • आपको सबसे पहले यूपी मित्र पोर्टल की ऑफिसियल वेबसाइट पर जाना होगा।
  • अब आपको होम पेज पर पके हुए भोजन की सूची देखने के लिए वितरकों को पके हुए भोजन की जानकारी प्राप्त करने के लिए केंद्र के लिंक पर क्लिक करें।
  • अब निकटतम पका हुआ भोजन केंद्र जिला / नगर निगम / ग्राम पंचायत चुनें।
  • इसके बाद आपकी स्क्रीन पर आपके नजदीकी पके हुए भोजन वितरण केंद्रों की सूची खुल जाएगी।
  • अगर आपके आस-पास कोई फूड सेंटर नहीं है तो आप यूपी कोविड-19 हेल्पलाइन नंबर 1076 या 1070 पर जा सकते हैं।

सप्लाई मित्र होम डिलीवरी पोर्टल के लाभ (Benefits of UP Supply Mitra Home Delivery Portal in Hindi)

  • कोविड 19 महामारी से उत्पन्न परिस्थितियों में सभी को भोजन उपलब्ध कराना उत्तर प्रदेश सरकार की सर्वोच्च प्राथमिकता है, जिसके लिए राज्य सरकार द्वारा कई महत्वपूर्ण कदम उठाए गए हैं।
  • उत्तर प्रदेश सरकार के राज्य कर विभाग द्वारा “होम डिलीवरी सप्लाई मित्र पोर्टल” तैयार किया गया है।
  • इस पोर्टल पर किराना, राशन आदि दैनिक उपयोग की वस्तुओं की होम डिलीवरी करने वाले व्यापारियों एवं होम डिलीवरी करने वालों के नाम/मोबाइल नंबर सहित जिला एवं स्थानीय क्षेत्र से संबंधित जानकारी उपलब्ध है.
  • राज्य के सभी जिलों में। विभिन्न जिलों में पका हुआ भोजन उपलब्ध कराने वाली स्वयंसेवी संस्थाओं एवं सरकार द्वारा संचालित सामुदायिक रसोइयों की जानकारी भी इस पोर्टल पर उपलब्ध है।
  • होम डिलीवरी करने वाले 9415 व्यापारियों की जानकारी इस पोर्टल पर उपलब्ध है।
  • इसके अलावा 1218 खाद्य वितरण केन्द्रों की जानकारी भी इस पोर्टल पर उपलब्ध है।
  • फूड डिलीवरी और होम डिलीवरी में रुचि रखने वाले लोगों/संस्थानों और व्यापारियों को भी पोर्टल पर अपना पंजीकरण कराने की सुविधा दी गई है।
  • पोर्टल को मोबाइल फोन के माध्यम से आसानी से संचालित किया जा सकता है।

यूपी सप्लाई मित्र क्या है – Related FAQs

प्रश्न: यूपी सप्लाई मित्र पोर्टल क्या है ?

उत्तर: यूपी सप्लाई मित्र पोर्टल उत्तरप्रदेश की राज्य सरकार द्वारा नागरिकों को कोरोना संक्रमण से सुरक्षित रखने और घर बैठे ही अपने नजदीकी राशन या खाद्य सामग्री दुकानों से खाद्य सामग्री की होम डिलीवरी की सुविधा प्राप्त करने के लिए शुरू किया गया एक पोर्टल है।

प्रश्न: सप्लाई मित्र पर नागरिकों को क्या सुविधाएँ दी गई है ?

उत्तर: सप्लाई मित्र पर नागरिक अपने नजदीकी किराना स्टोर या खाद्य सामग्री वित्तरण केंद्रों व डिलीवरी करने वाले व्यापारी का नाम, मोबाइल नंबर की जानकारी प्राप्त कर सकेंगे, इसके साथ ही जो इच्छुक नागरिक खाद्य सामग्री वित्तरण के लिए अपनी अपनी दुकान का नाम पोर्टल में शामिल करना चाहते हैं, वह पोर्टल पर आवेदन कर सकेंगे।

प्रश्न: सप्लाई मित्र पोर्टल को कब लांच किया गया?

उत्तर: सप्लाई मित्र पोर्टल को 8 अप्रैल 2020 को लांच किया गया था।

लविश बंसल
लविश बंसल
लविश बंसल वर्ष 2010 में लवली प्रोफेशनल यूनिवर्सिटी में कंप्यूटर साइंस इंजीनियरिंग में प्रवेश लिया और वहां से वर्ष 2014 में बीटेक की डिग्री ली। शुरुआत से ही इन्हें वाद विवाद प्रतियोगिता में भाग लेना या इससे संबंधित क्षेत्रों में भाग लेना अच्छा लगता था। इसलिए ये काफी समय से लेखन कार्य कर रहें हैं। इनके लेख की विशेषता में लेख की योजना बनाना, ग्राफ़िक्स का कंटेंट देखना, विडियो की स्क्रिप्ट लिखना, तरह तरह के विषयों पर लेख लिखना, सोशल मीडिया कंटेंट लिखना इत्यादि शामिल है।
WordPress List - Subscription Form
Never miss an update!
Be the first to receive the latest blog post directly to your inbox. 🙂

Leave a Comment