यूपी रूफ टॉप सोलर पैनल सब्सिडी योजना (UP roof top Solar Panel Subsidy scheme)

इन दिनों महंगाई चरम पर है। खास तौर पर एलपीजी, पेट्रोल की बढ़ती कीमतें आम आदमी की कमर तोड़ रही हैं। ‌ऐसे में बिजली बिल (Electricity Bill) में थोड़ी सी भी राहत उनके लिए काफी हो सकती है। उपभोक्ताओं को बिजली बिल के झंझट से मुक्त करने के लिए उत्तर प्रदेश सरकार यूपी रूफ टॉप सोलर पैनल सब्सिडी योजना लाई है। इसका सबसे बड़ा लाभ यह है कि सोलर पैनल लगवाने में आपके केवल एक बार पैसे लगेंगे, लेकिन आपको 25 साल तक मुफ्त बिजली मिलेगी। आज हम आपको इस पोस्ट के माध्यम से इसी उत्तर प्रदेश सोलर रूफ टॉप पैनल योजना के संबंध में विस्तार से जानकारी देंगे। आइए, शुरू करते हैं-

यूपी रूफ टॉप सोलर पैनल योजना क्या है?

दोस्तों, जैसा कि नाम से ही स्पष्ट है, यह योजना छत पर सोलर पैनल लगवाने से संबंधित है। इस योजना का संचालन उत्तर प्रदेश सरकार का नवीन एवं नवीकरणीय ऊर्जा विकास मंत्रालय (Uttar Pradesh new and renewable energy development agency) कर रहा है। इस योजना के तहत रूफ टॉप सोलर पैनल लगवाने वाले को उत्तर प्रदेश सरकार की ओर से सब्सिडी का प्रावधान किया गया है।

यूपी रूफटॉप सोलर पैनल योजना के तहत सब्सिडी की राशि कितनी होगी –

दोस्तों, आपको बता दें कि उत्तर प्रदेश सरकार की ओर से सोलर प्लांट पर 15 हजार से 30 हजार रुपए तक सब्सिडी का प्रावधान किया गया है। वहीं एक से तीन किलोवाट तक के सोलर पैनल पर 15 हजार की सब्सिडी देगी है। वहीं तीन से लेकर 10 किलोवाट तक के सोलर पैनल पर 30 हजार रुपए तक की सब्सिडी देती है। वहीं, केंद्र सरकार की ओर से पहले तीन किलोवाट पर 40 फीसदी, जबकि शेष 7 किलोवाट पर 20 फीसदी की सब्सिडी का प्रावधान किया गया है।

यूपी रूफ टॉप सोलर पैनल सब्सिडी योजना (UP roof top Solar Panel Subsidy scheme)

सोलर रूफ टॉप पैनल लगवाने के लाभ [Benefits of installing solar roof top panels] –

आइए दोस्तों, अब आपको बताते हैं कि सोलर रूफ टॉप पैनल लगवाने के क्या क्या लाभ हैं-

  • 1. बिजली के बिल में कमी। [Reduction in electricity bill]
  • 2. पर्यावरण संरक्षण। [Environment protection.]
  • 3. 25 वर्ष तक मुफ्त बिजली। [Free electricity for 25 years.]
  • 4. संयंत्र स्थापना पर आने वाली लागत की कुछ ही समय में भरपाई। [Reimbursement of plant installation cost in no time.]
  • 5. बिजली ग्रिड को बेचकर कमाई। [Earnings by selling the electricity grid.]

रूफटॉप सोलर पैनल सब्सिडी योजना का लाभ उठाने के लिए आवश्यक दस्तावेज –

मित्रों, आपको बता दें कि इस योजना का लाभ उठाने के लिए प्रत्येक सरकारी योजना की तरह कुछ दस्तावेज आवश्यक हैं, जो इस प्रकार से हैं-

1. आवेदक का आधार कार्ड। [Aadhar Card of the applicant.]
2. आवेदक का मोबाइल नंबर। [Applicant’s mobile number.]
3. बिजली का बिल। [Electricity bill of the applicant.]
4. आवेदक का पासपोर्ट साइज फोटो। [Passport size photograph of the applicant.]
5. सोलर प्लांट साइट का फोटोग्राफ। [Photograph of solar plant site.]

नेट मीटरिंग क्या होता है? [What is Net Metering?]

दोस्तों, अभी हमने सोलर रूफ टॉप पैनल योजना के तहत आवेदन प्रक्रिया में नेट मीटरिंग का जिक्र किया। क्या आप नेट मीटरिंग का अर्थ जानते हैं? यदि नहीं तो हम आपको बताते हैं। दरअसल, सोलर पैनल वर्षा एवं सर्दी के मौसम में भी व्यक्तिगत खपत के लिए पर्याप्त यूनिट्स बनाता है। इसमें से कुछ यूनिट ग्रिड को भी दे देता है। इसे नेट मीटरिंग कहते हैं।

सरल शब्दों में कहें तो नेट मीटरिंग में रूफ टॉप सोलर प्लांट से बनाई हुई बिजली ग्रिड को भी बेची जा सकती है। इसमें सोलर प्लांट के साथ एक मीटर लगाया जाता है। यह मीटर डिस्कॉम (discom) के कनेक्शन से जुड़ा होता है। मीटर में सोलर प्लांट में कितनी बिजली बनी? खपत कितनी हुई? और कितनी बिजली उपभोक्ता ने डिस्कॉम से ली? इन सब बिंदुओं का हिसाब होता है। नेट मीटरिंग में उपभोक्ता का बिल तो कम होता ही है, अतिरिक्त बिजली को बेचकर कमाई भी की जा सकती है।

नेट मीटरिंग के लिए अप्लाई कैसे करें? [How to apply for net metering?]

रूफ टॉप सोलर पैनल सब्सिडी योजना का लाभ प्राप्त करने के लिए आपको नेट मीटरिंग रजिस्ट्रेशन नंबर की आवश्यकता होगी। आवेदन करने से पहले आपको और नेट मीटरिंग के लिए आवेदन करना होगा। नेट मीटरिंग का रजिस्ट्रेशन नंबर आपको आवेदन करते समय भरना होगा। नेट मीटरिंग के लिए आप नीचे बता जा रहे आसान से स्टेप्स को फॉलो करके आवेदन कर सकते हैं –

नेट मीटरिंग के लिए अप्लाई कैसे करें? [How to apply for net metering?]
  • न्यू एप्लीकेशन रजिस्ट्रेशन ऑप्शन पर क्लिक करके अपना एक अकाउंट बनाना होगा। जैसे ही आप न्यू एप्लीकेशन रजिस्ट्रेशन ऑप्शन पर क्लिक करेंगे। आपके सामने एक फॉर्म ओपन होगा। इस फॉर्म में पूछी गई सभी जानकारी भर के अपना एक अकाउंट बनाना होगा।
नेट मीटरिंग के लिए अप्लाई कैसे करें? [How to apply for net metering?]
  • अकाउंट बनाने के पश्चात अपने अकाउंट में लॉगिन करके नेट मीटिंग के लिए आवेदन करना होगा।
  • आवेदन करने के पश्चात आपको एक रजिस्ट्रेशन नंबर प्राप्त होगा जिसको आप सोलर सब्सिडी योजना में आवेदन करते समय भर सकते हैं।

सोलर रूफटॉप सब्सिडी योजना प्रोग्रेस रिपोर्ट – [Solar Rooftop Subsidy Scheme Progress Report -]

  • PUVVNL कुल लक्ष्य 10,000.00 किलोवाट
  • अब तक की गयी आवेदन क्षमता 4,254.26 किलोवाट
  • PUVVNL अवशेष क्षमता 5,745.74 किलोवाट
  • PVVNL कुल लक्ष्य 12,000.00 किलोवाट
  • अब तक की गयी आवेदन क्षमता 4,915.85 किलोवाट
  • PVVNL अवशेष क्षमता 7,084.15 किलोवाट
  • MVVNL कुल लक्ष्य 19,000.00 किलोवाट
  • अब तक की गयी आवेदन क्षमता 18,992.00 किलोवाट
  • MVVNL अवशेष क्षमता 8.00 किलोवाट
  • DVVNL कुल लक्ष्य 11,000.00 किलोवाट
  • अब तक की गयी आवेदन क्षमता 2,832.02 किलोवाट
  • DVVNL अवशेष क्षमता 8,167.98 किलोवाट
  • KESCO कुल लक्ष्य 4,000.00 किलोवाट
  • अब तक की गयी आवेदन क्षमता 737.13 किलोवाट
  • KESCO अवशेष क्षमता 3,262.87 किलोवाट
  • NPCL कुल लक्ष्य 2,000.00 किलोवाट
  • अब तक की गयी आवेदन क्षमता 344.96 किलोवाट
  • NPCL अवशेष क्षमता 1,655.04 किलोवाट
  • TPEL कुल लक्ष्य 2,000.00 किलोवाट
  • अब तक की गयी आवेदन क्षमता 1,778.82 किलोवाट
  • TPEL अवशेष क्षमता 221.18 किलोवाट

रूफ टॉप सोलर पैनल सब्सिडी के लिए आवेदन कैसे करें? [How to Apply for Roof Top Solar Panel Subsidy?]

साथियों, रूफ टॉप सोलर पैनल सब्सिडी (Subsidy) के लिए ऑनलाइन और ऑफलाइन दोनों तरह से आवेदन किया जा सकता है। सबसे पहले आपको आनलाइन आवेदन की प्रक्रिया के बारे में बताते हैं-

Total Time: 30 minutes

ऑफिशियल वेबसाइट पर जाएं –

सबसे पहले Uttar Pradesh newable and renewable energy development agency की आफिशियल वेबसाइट https://upnedasolarrooftopportal.com/ पर जाएं। अब आपके सामने पोर्टल का होमपेज खुल जाएगा।

अप्लाई आप्शन पर क्लीक करें –

होमपेज के साइड बार में जाकर आपको अप्लाई ऑनलाइन (apply menu) के option पर क्लिक करना होगा। इसके बाद आपके सामने ऑनलाइन आवेदन का फॉर्मेट (format) खुल जाएगा।
रूफ टॉप सोलर पैनल सब्सिडी के लिए आवेदन कैसे करें [How to Apply for Roof Top Solar Panel Subsidy]

आवेदन फॉर्म भरें –

आपको इसमें पूछी गई सारी जानकारी सही सही भरनी होगी। जैसे-आवेदन का प्रकार, आवेदन का उप प्रकार, आवेदक का नाम, पिता का नाम, आधार संख्या मोबाइल नंबर, ईमेल आईडी, बिजली खाता संख्या, स्वीकृत लोड (किलो वाट में) कनेक्शन का प्रकार, जिला, पता, फर्म का नाम, संयंत्र स्थापना का स्थान, बैंक खाते का विवरण भरना होगा।
रूफ टॉप सोलर पैनल सब्सिडी के लिए आवेदन कैसे करें [How to Apply for Roof Top Solar Panel Subsidy]

आवेदन फॉर्म सबमिट करें –

आवेदन पत्र में पूछी गई सारी जानकारी सही सही भरने के बाद आप सबमिट (submit) के विकल्प पर क्लिक कर दें। इतना करने के बाद आपके फार्म में दिए गए रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर एसएमएस (sms) के माध्यम से एक ओटीपी (OTP) आएगा।

OTP वेरीफाई करें –

इसे OTP को दिए गए स्थान में दर्ज करने के बाद आपका आवेदन सुरक्षित यानी save हो जाएगा। इसके पश्चात आपके मोबाइल पर एक और एसएमएस आएगा। इसमें आपके application फॉर्म का रजिस्ट्रेशन नंबर और लॉगिन पासवर्ड होगा। लॉगइन आईडी एंड पासवर्ड मैसेज कुछ इस तरह होगा -“Your application id for solar rooftop plant is : 00011 and Login password is fknd7d”

यूजर आईडी और पासवर्ड सेव करें –

मेसेज में मिले यूजर आई दी और पासवर्ड को अपने पास सुरक्षित रख लें ये आपको अपने अकाउंट में लॉग इन करने में काम आएगी।

अपने अकाउंट में लॉगिन करें –

रजिस्ट्रेशन नंबर एवं लॉगिन पासवर्ड मिलने के बाद आपको वेबसाइट के होम पेज पर यूजर लॉगइन (user login) के ऑप्शन पर क्लिक करना होगा। आपको बता दें कि यदि आपकी लॉगइन आईडी और पासवर्ड खो जाए तो ऐसी स्थिति में आप अपने रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर को लॉगइन आईडी के रूप में इस्तेमाल कर सकते हैं।

डॉक्यूमेंट अपलोड करें –

यूजर लॉगइन करने के बाद अगला पेज खुलेगा। यहां आवेदक को अपने दस्तावेज (document) अपलोड करने होंगे। याद रखें कि आपके डॉक्यूमेंट पीडीएफ (PDF) जेपीजी (jpg) फाइल में हो एवं इनका साइज 200केबी से ज्यादा ना हो।
रूफ टॉप सोलर पैनल सब्सिडी के लिए आवेदन कैसे करें [How to Apply for Roof Top Solar Panel Subsidy]

आवेदन फार्म सबमिट करें –

आवश्यक दस्तावेज अपलोड करने के बाद आपको submit के ऑप्शन पर क्लिक करना होगा। इस तरह आपका आवेदन सुरक्षित हो जाएगा। आपके मोबाइल नंबर पर इस आशय का एसएमएस भी आएगा। अब आपको अपने पसंद के निर्माता, जिनका विवरण वेबसाइट पर दिया गया है को select कर plant की स्थापना नेट-मीटरिंग सहित कराकर डिस्काम/ यूपी नेडा के अधिकारी एवं संबंधित निर्माता से इसका निरीक्षण कराना होगा।

प्लांट निरीक्षण रिपोर्ट चेक करें –

प्लांट मानकों व गाइडलाइन के अनुरूप होने पर ही अधिकारियो की ओर से प्लांट निरीक्षण की रिपोर्ट दी जाएगी। निरीक्षण के 120 दिन यानी चार माह के भीतर आपको यह joint commissioning report पोर्टल पर अपलोड करनी होगी।
रूफ टॉप सोलर पैनल सब्सिडी के लिए आवेदन कैसे करें [How to Apply for Roof Top Solar Panel Subsidy]

अपने एप्लीकेशन का स्टेटस चेक करें –

आवेदक अपनी आईडी से लॉगिन कर application का स्टेटस पता कर सकता है। पूरी प्रक्रिया संपूर्ण होने के बाद आवेदन पर अनुदान की कार्रवाई शुरू कर दी जाएगी। अनुदान राशि सीधे अभ्यर्थी के खाते में भेज दी जाएगी।

सोलर पैनल पर कितनी लागत आती है?

दोस्तों, आपको बता दें कि दो किलोवाट के आन ग्रिड सोलर पैनल (solar panel) की लागत करीब सवा लाख रुपए तक आती है। इसमें सोलर पैनल, उसके इंस्टालेशन, मीटर और इनवर्टर शामिल हैं। आपको बता दें कि केंद्र सरकार (अक्षय ऊर्जा मंत्रालय) की ओर से इस पर आपको 40 फीसदी तक की सब्सिडी मिल सकती है वहीं, यूपी सरकार 30 हजार रुपए तक की छूट दे रही है। ऐसे में दो किलोवाट तक के सौर ऊर्जा पैनल को लगवाने में आपका करीब 50 हजार रुपए तक खर्च होगा।

सोलर पैनल का मेंटेनेंस जीरो, 10 साल में बदलनी होगी बैटरी

मित्रों, आपको बता दें कि सोलर पैनलों की उम्र 25 वर्ष होती है। लेकिन इसका मेटनेंस खर्च बेहद कम होता है। अलबत्ता, हर 10 साल में एक बार बैटरी बदलनी होती है। बैटरी बदलने का खर्च करीब 20 हजार रुपए तक होता है।

एक से तीन किलोवाट के प्रोजेक्ट घरेलू श्रेणी में

मित्रों, एक से तीन किलोवाट तक के सोलर रूफ टॉप प्रोजेक्ट घरेलू यानी डोमेस्टिक (domestic) श्रेणी में रखे गए हैं। आपको यह भी जानकारी दे दें कि यूपी नेडा (UPNEDA) की ओर से यह सब्सिडी केवल रेजिडेंशियल रूफटॉप सोलर प्रोजेक्ट के लिए ही मान्य होगी।

सोलर रूफ टॉप पैनल से जुड़ी खास बातें –

  • 1. सोलर पैनल के माध्यम से एक किलोवाट से लेकर 10 किलोवाट तक का प्लांट लगाया जा सकता है।
  • 2. एक किलोवाट का सोलर पैनल प्लांट प्रतिदिन 5 यूनिट बिजली पैदा करता है।
  • 3. घर की छत पर सौर ऊर्जा का उत्पादन करके बिजली बचाने एवं पैसा कमाने के लिए छत पर कम से कम 10×10 फीट की जगह होनी चाहिए।
  • 4. यदि किसी के घर पर छत नहीं है तो आस पास स्थित खाली प्लॉट पर भी इसे लगाया जा सकता है।

सोलर पैनल की औसत आयु से क्या आशय है?

मित्रों, सोलर पैनल की औसत आयु 25 साल होती है। हालांकि इसका मतलब यह नहीं होता है कि इस समय के बाद वे इलेक्ट्रिसिटी प्रोड्यूस करना अथवा बिजली उत्पादन बंद कर देंगे। इसका मतलब सिर्फ इतना है कि संयंत्र निर्माता की गारंटी के इस पॉइंट के बाद संयंत्र से ऊर्जा उत्पादन में कमी आ सकती है।

सोलर रूफ टॉप पैनल की कमियां क्या क्या है?

दोस्तों, हमने आपको रूफ टॉप सोलर पैनल से जुड़े फायदों के बारे में जानकारी दी। आइए, अब इनकी कुछ मामूली सी कमियों पर बात कर लेते हैं। इसके कुछ नुकसान इस प्रकार से हैं-

  • 1. रूफ टॉप सोलर पैनल हर तरह की हर तरह की छत पर काम नहीं करता है।
  • 2.यदि आप बार-बार घर बदलते हैं तब इसकी स्थापना को आदर्श नहीं माना जा सकता है।
  • 3. बिजली लागत कम होने का अर्थ है कम बचत।
  • 4.सोलर रूफ टॉप पैनल की अपफ्रंट लागत ज्यादा हो सकती है।
  • 5. सही संयंत्र निर्माता चुनना भी एक चुनौती है।

सोलर रूफ टॉप पैनल को बढ़ावा क्यों दिया जा रहा?

साथियों, यह बात सबको मालूम है कि परंपरागत ऊर्जा के स्रोत बेहद सीमित हैं और उपभोक्ताओं की आवश्यकताएं दिन प्रतिदिन बढ़ रही हैं। ऐसे में ऊर्जा के वैकल्पिक स्रोत तलाशने पर जोर दिया जा रहा है। रूफटॉप सोलर पैनल को बढ़ावा देने की कोशिश इसी कवायद का एक हिस्सा हैं। प्रयास यही है कि बिजली के परंपरागत स्रोतों पर लोगों की निर्भरता कम हो जाए एवं ऊर्जा के नवीकरणीय स्रोतों पर लोग ध्यान केंद्रित करें।

सोलर रूफटॉप पैनल से जुड़े सवाल जवाब –

उत्तर प्रदेश सोलर रूफ टॉप पैनल योजना क्या है?

इस योजना के तहत उत्तर प्रदेश सरकार का नवीकरणीय ऊर्जा मंत्रालय यूपीनेडा के जरिए सोलर रूफ टॉप पैनल लगाने के लिए सब्सिडी दे रहा है।

योजना के तहत सब्सिडी की राशि कितनी है?

उत्तर प्रदेश सोलर रूफ टॉप पैनल योजना के तहत 15 हजार से लेकर 30 हजार तक सब्सिडी दी जा रही है।

क्या योजना के तहत आनलाइन आवेदन किया जा सकता है?

जी हां, योजना के तहत आनलाइन आवेदन की सुविधा दी गई है।

सोलर रूफ टॉप पैनल की औसत आयु क्या है?

सोलर रूफ टॉप पैनल की औसत आयु 25 वर्ष है।

सोलर रूफ टॉप पैनल लगवाने का सबसे बड़ा फायदा क्या है?

बिजली के भारी भरकम बिल से मुक्ति सोलर रूफ टॉप पैनल लगवाने का सबसे बड़ा फायदा है।

यूपी रूफटॉप सोलर पैनल सब्सिडी योजना हेल्पलाइन नंबर –

यदि आपको सोलर पैनल सब्सिडी योजना से जुड़ी कोई अन्य जानकारी प्राप्त करना हो या फिर इस योजना से जुड़ी कोई सहायता एवं शिकायत दर्ज कराना हो। तो आप हेल्पलाइन नंबर पर संपर्क करके सहायता प्राप्त कर सकते हैं। एवं अपनी शिकायत दर्ज करा सकते हैं हेल्पलाइन नंबर नीचे दिया गया है –

Solar Rooftop Help Line : 9415609078

दोस्तों, हमने इस मैं आपको उत्तर प्रदेश में सोलर रूफ टॉप पैनल लगाने के लिए चलाई जा रही सब्सिडी योजना की जानकारी दी। उम्मीद है कि यह पोस्ट आपके लिए उपयोगी साबित हुई होगी। यदि आप ऐसी ही जानकारीपरक पोस्ट पढ़ने के इच्छुक हैं तो उसके लिए हमें नीचे दिए गए कमेंट बॉक्स में कमेंट कर सकते हैं। इस पोस्ट को अधिक से अधिक शेयर कर लोगों को इस योजना के संबंध में जागरूक करें।। धन्यवाद ।।

Spread the love

अनुक्रम

Leave a Comment