यूपी प्रवासी मजदूर घर वापसी ऑनलाइन पंजीकरण: UP Migrant Workers Return Registration Online

यूपी प्रवासी मजदूर घर वापसी ऑनलाइन पंजीकरण: जैसा कि आप जानते हैं पूरी दुनिया इस समय कोरोनावायरस के संक्रमण से जूझ रही है लगभग सभी देश अपनी क्षमता के अनुसार विभिन्न प्रकार की योजनाएं बना रहे हैं ताकि इस कोविड-19 से छुटकारा पा सके। इसी को ध्यान में रखते हुए भारत सरकार ने भी 3 मई तक के लॉक डाउन को 17 मई तक बढ़ा दिया है जिससे कि भारत में फैल रहे कोरोनावायरस संक्रमण को रोका जा सके।

देश में चल रहे इस लॉक डाउन की वजह से कई प्रकार की हानियां हो रही है परंतु हम कोरोनावायरस संक्रमण से लड़ने में सफल हो रहे हैं। यदि हम दूसरे तरह से सोचे तो इस लॉक डाउन के वजह से भारत की अर्थव्यवस्था दिन प्रतिदिन गिरती ही जा रही है तथा विभिन्न वर्गों को कई प्रकार की क्षति हो रही है इन वर्गों में से एक मजदूर वर्ग भी है।

UP Migrant Workers Return Registration Form 2020 – यूपी प्रवासी श्रमिक पंजीकरण पंजीकरण फॉर्म 2020

मजदूर प्रतिदिन कार्य करता है और उससे प्राप्त पैसे को अपनी दिनचर्या के अनुसार उपयोग करता है परंतु कोविड-19 के कारण देश में लॉक डाउन चल रहा है। इस वजह से मजदूर वर्ग को ना ही किसी प्रकार का रोजगार प्राप्त हो रहा है और ना ही उन्हें अपना जीवन चलाने के लिए भोजन प्राप्त हो रहा है। इस कारणवश भारत में कई प्रकार की योजनाएं बनाई है तथा अपने अनुसार वह लागू भी कर रही है जिसका फायदा मजदूर वर्ग को हो रहा है।

यूपी प्रवासी मजदूर घर वापसी ऑनलाइन पंजीकरण: UP Migrant Workers Return Registration Online

यदि हम बात करें तो भारत के कई राज्यों में भी अपने आवश्यकता अनुसार राज्य सरकारें कई प्रकार की योजनाएं चला रही है इन्हीं राज्यों में से एक यूपी राज्य में है। यूपी के मुख्यमंत्री श्री योगीनाथ ने अपनी प्रदेश के मजदूरों को दूसरे राज्य से वापस लाने के लिए एक योजना चलाई है जिसका नाम है यूपी प्रवासी घर वापसी योजना

साथियों हम यूपी प्रवासी घर वापसी योजना के बारे में आपको इस आर्टिकल के माध्यम से बताएंगे हम आपको यह भी बताएंगे कि इसमें रजिस्ट्रेशन कैसे करें तथा इसका लाभ कैसे प्राप्त होगा इसके बारे में हम आपको विस्तारपूर्वक बताएंगे।

यूपी प्रवासी मजदूर घर वापसी योजना क्या है? What is UP Pravasi Mazdoor Ghar Wapsi Yojana?

यह योजना यूपी राज्य सरकार द्वारा संचालित की जाती है कोविड-19 का संक्रमण पूरे देश में प्रतिदिन बढ़ता ही जा रहा है इसको देखते हुए भारत सरकार ने 3 मई का लॉक डाउन 17 मई तक बढ़ा दिया है। जिस वजह से लोगों को काफी मुसीबतों का सामना करना पड़ रहा है।

यूपी क्षेत्रफल की दृष्टि से बड़े राज्यों में शामिल होता है यदि हम इस प्रदेश की जनसंख्या की बात करें तो यह जनसंख्या की दृष्टि से भी बड़े राज्यों में शामिल होता है। स्वभाविक सा है कि यदि जनसंख्या ज्यादा है तो मजदूर वर्ग की संख्या भी ज्यादा होगी इसीलिए बहुत से मजदूर रोजगार प्राप्त करने के लिए विभिन्न राज्यों में जाते हैं और वहां पर अपना रोजगार प्राप्त कर जीवन यापन करते हैं।

इसके चलते हुए मजदूर वर्ग को भी इसका सामना करना पड़ रहा है। यह योजना केवल मजदूरों के लिए है यह योजना उस मजदूर के लिए है जो मजदूर रोजगार की प्राप्ति के लिए अपने राज्य को छोड़कर अन्य राज्य में रोजगार प्राप्त करने जाते हैं उन मजदूरों को अपने राज्य में वापस लाने के लिए यूपी सरकार ने यह योजना बनाई है।

यह योजना केवल यूपी के नागरिकों के लिए है जो प्रवासी मजदूर है उन्हीं को इस योजना का लाभ प्राप्त हो पाएगा इसमें यूपी सरकार प्रवासी मजदूरों को विभिन्न राज्यों में लॉक डाउन के चलते फंसे रहने के कारण अपने घर भेजने के लिए इस योजना का निर्माण किया है।

यूपी प्रवासी मज़दूर योजना का उद्देश्य क्या है? What is the purpose of UP Pravasi Mazdoor Ghar Wapsi Yojana?

आप सभी को विदित होगा कि कोरोना वायरस के चलते कई राज्यों में प्रवासी मजदूर फंसे हुए हैं उन्हें अपने राज्य में वापस लाने के लिए राज्य सरकार ने इस योजना को शुरू किया इस योजना का निम्नलिखित उद्देश्य है।

  • यह योजना कोविड-19 के संक्रमण को रोकने का प्रयास है।
  • प्रवासी मजदूरों का कोविड-19 संक्रमण के जांच करना।
  • इस योजना के माध्यम से प्रवासी मजदूरों को घर वापस लाया जा सकता है।
  • प्रवासी मजदूरों को ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन करके उन्हें वापस अपने राज्य लाना।
  • प्रवासी मजदूरों को खाने-पीने की समस्याओं से छुटकारा दिलाना।
  • लॉक डाउन के चलते प्रवासी मजदूरों को आधारभूत आवश्यक सामग्री प्रदान करना।
  • प्रवासी मजदूरों का स्वास्थ्य संबंधी टेस्ट करना।
  • प्रवासी मजदूरों को कोविड-19 के प्रति जागरूक करना।

यह भी जाने –

यूपी प्रवासी मज़दूर पंजीकरण के लिए आवश्यक दस्तावेज – Documents required for UP Pravasi Mazdoor Ghar Wapsi Yojana

उत्तर प्रदेश मजदूर घर वापसी योजना में पंजीकरण करने के लिए आपको कुछ जरूरी दस्तावेजों की आवश्यकता होगी। जिनका विवरण कुछ इस प्रकार है –

  • आवेदक यूपी का निवासी होना चाहिए।
  • आवेदक के पास यूपी का रहवासी होने का प्रमाण पत्र होना चाहिए।
  • मूल निवास प्रमाण पत्र
  • आधार कार्ड
  • पासपोर्ट साइज का फोटो
  • मोबाइल नंबर
  • स्थाई पता दूसरे राज्य में रहने का पता

यह भी जाने –

उत्तर प्रदेश प्रवासी मजदूर घर योजना के लिए पंजीकरण कैसे करें? How to register for UP Pravasi Mazdoor Ghar Wapsi Scheme?

नोट – प्रदेश सरकार द्वारा अभी ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन की प्रक्रिया शुरू नहीं की गई है। हालांकि कुछ राज्यों में ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन की प्रक्रिया शुरू की जा चुकी है। और जल्द ही यूपी सरकार भी यह प्रक्रिया शुरू कर सकती है। जिसे आप नीचे बताए गए स्टेप्स को फॉलो करके रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं। इस बीच यदि आपको किसी प्रकार की कोई समस्या आती है, तो नीचे बताए जा रहे हेल्पलाइन नंबर पर कॉल करके आप हेल्प प्राप्त कर सकते हैं।

हम इस बिंदु के अंतर्गत आपको यह बताएंगे कि इस योजना के अंतर्गत रजिस्ट्रेशन की प्रक्रिया क्या है जिससे कि आपको इस योजना का लाभ प्राप्त हो सके आपको इसके लिए निम्नलिखित स्टेप्स फॉलो करना होगा। जो इस प्रकार है:-

  • सबसे पहले आपको इसकी ऑफिशियल वेबसाइट http://www.uplabour.gov.in/ में जाना होगा। विभाग की ऑफिशियल वेबसाइट पर डायरेक्ट जाने के लिए यहां क्लिक कर सकते हैं।
  • इसके पश्चात आपके सामने एक होम पेज खुल जाएगा। होम पेज पर क्लिक करने के बाद आपके सामने प्रवासी मजदूर रजिस्ट्रेशन का ऑप्शन दिखाई देगा।
  • इस ऑप्शन पर आपको क्लिक करना होगा। क्लिक करने के पश्चात एक साधारण सा फॉर्म खुल जाएगा इस फोन पर कुछ बॉक्स बने हुए हैं।
  • इस फॉर्म में आप के संबंध में कुछ जानकारी पूछी जाएगी जैसे नाम, पिता का नाम, पति का नाम, पता, आधार कार्ड नंबर आदि जानकारी आपको दर्ज कर देनी है।
  • सभी जानकारी भर देने के बाद आपसे मांगे गए सभी दस्तावेज अपलोड कर दे।
  • अपलोड करने के बाद आपके सामने सबमिट का बटन दिखाई देगा उस पर आप क्लिक कर दें।
  • इस तरह से आप इस योजना के अंतर्गत रजिस्टर हो जाएंगे।

यह भी जाने –

यूपी प्रवासी मजदूर घर वापसी योजना हेतु हेल्पलाइन नंबर – Helpline number for UP Pravasi Mazdoor Ghar Wapsi Scheme

इस योजना के अंतर्गत यूपी सरकार ने जिन राज्यों में प्रवासी मजदूर फंसे हुए हैं। उनके लिए राज्य के अनुसार हेल्पलाइन नंबर जारी किए हैं प्रवासी मजदूर और हेल्पलाइन नंबर के माध्यम से अपने राज्य में कांटेक्ट कर सकते हैं नीचे दिए गए निम्नलिखित नंबर है:-

 स्थान Helpline Number
महाराष्ट्र से यूपी हेल्पलाइन नंबर 7007304242, 9454400177
तेलंगाना और आंध्र प्रदेश से यूपी हेल्पलाइन नंबर 98866400721, 9454402544, 9454400135
गोवा और कर्नाटक से यूपी हेल्पलाइन नंबर 9415904444, 9454400135
पंजाब और चंडीगढ़ से यूपी हेल्पलाइन नंबर 9455351111, 9454400190
पश्चिम बंगाल और अंडमान एवं निकोबार से यूपी हेल्पलाइन नंबर 9639981600, 9454400537
राजस्थान से यूपी हेल्पलाइन नंबर 9454410235, 9454405388
हरियाणा से यूपी हेल्पलाइन नंबर 94544 18828, 9454418828
बिहार,झारखंड से यूपी हेल्पलाइन नंबर 9621650067, 9454400122
गुजरात, दमन, दीव, दादरा एवं नगर हवेली से यूपी हेल्पलाइन नंबर 8881954573, 9454400191
उत्तराखंड,हिमाचल प्रदेश से यूपी हेल्पलाइन नंबर 8005194092, 9454400155
मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़ से यूपी हेल्पलाइन नंबर 9454410331, 9454400157
दिल्ली,जम्मू एवं कश्मीर, लद्दाख से यूपी हेल्पलाइन नंबर 8920827174, 7839854579, 9454400114, 7839855711, 7839854569
उड़ीसा से यूपी हेल्पलाइन नंबर 9454400133
तमिलनाडु,पांडिचेरी से यूपी हेल्पलाइन नंबर 9415114075, 9454400162
अरुणाचल प्रदेश, असम, नागालैंड/ मेघालय, मणिपुर, त्रिपुरा, मिजोरम से यूपी हेल्पलाइन नंबर 9454441070, 9454400148
केरल, लक्ष्यदीप से यूपी हेल्पलाइन नंबर 6386725278, 9936619394, 9412194347, 9454400162

आशा करता हूं मेरे द्वारा दी गई जानकारी से आप संतुष्ट होंगे। हमारा उद्देश्य यूपी प्रवासी मजदूर घर वापसी योजना का लाभ ज्यादा से ज्यादा लोगों तक पहुंचा सके ताकि इस विकट संकट में लोग तथा प्रवासी मजदूर अपने घर वापस लौट सकें।

Spread the love

Leave a Comment