UP Budget 2020 In Hindi, क्या क्या मिला उत्तर प्रदेश को? यहां पाएं पूरी जानकारी

UP Budget 2020 In Hindi – उत्तर प्रदेश के लोगों को UP Budget 2020 का इंतजार था। उन्हें इस बात की प्रतीक्षा थी कि बजट उनके लिए क्या सौगात लाने वाला है। उत्तर प्रदेश के इतिहास का सबसे बड़ा बजट मंगलवार को पेश किया गया। वित्त मंत्री सुरेश खन्ना ने 5 लाख 12 हजार करोड़ रुपए के UP Budget 2020 को सदन के पटल पर रखा। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बजट को युवाओं की शिक्षा, संवर्धन और रोजगार को समर्पित बताया।

दोस्तों, बजट में उत्तर प्रदेश की सरकार ने महिलाओं, युवाओं, किसानों और अन्य वर्गों के लिए क्या-क्या खास सौगातें दी हैं? और क्या-क्या विशेष प्रावधान किए गए हैं? आज इस post के जरिए हम आपको उन सभी की जानकारी देंगे-

UP Budget 2020 In Hindi, क्या क्या मिला उत्तर प्रदेश को? यहां पाएं पूरी जानकारी

UP Budget 2020 में प्रदेश की अर्थव्यवस्था को एक ट्रिलियन का लक्ष्य-

सबसे पहले बात अर्थव्यवस्था की। उत्तर प्रदेश के बजट में प्रदेश की अर्थव्यवस्था को एक ट्रिलियन का बनाने का लक्ष्य रखा गया है। इसके अलावा राज्य नीति आयोग का गठन किए जाने का प्रस्ताव रखा गया है। इसका मतलब यह है कि प्रदेश के लिए नीतियों का निर्माण करने का काम नीति आयोग के जिम्मे होगा। आयोग ही इसके लिए प्रदेश में उपलब्ध संसाधनों का आंकलन करेगा।

UP Budget 2020 में जीएसटी यानी गुड्स एंड सेल्स टैक्स के साथ ही वैट यानी वैल्यू एडेड टैक्स से 91,568 करोड़ रुपये मिलने का अनुमान है। आबकारी से 37,500 और स्टांप एवं पंजीयन से 23,197 व वाहन कर से 8,650 करोड़ रुपये का राजस्व हासिल करने का लक्ष्य रखा गया है। ।

UP Budget 2020 में बेरोजगारों के लिए 2500 भत्ते का प्रावधान –

जैसा कि हम बता चुके हैं, सरकार ने अपने बजट को युवाओं और बेरोजगारों के लिए समर्पित किया है, UP Budget 2020 सरकार ने रोजगार के लिए 1200 करोड़ का प्रावधान किया है। और सबसे बड़ी बात तो यह है कि बेरोजगार युवाओं को 2500 रुपए बतौर भत्ता दिए जाएंगे। UP Budget 2020 के तहत श्रम, रोजगार से जुड़ी एक अन्य योजना मनरेगा योजना के लिए भी 4800 करोड़ आवंटित किए गए हैं।

UP Budget 2020 में खेती किसानी के लिए दिल खोलकर दिया –

सरकार ने बजट में किसानों का खूब ख्याल रखा है। उनके लिए दिल खोलकर दिया है। आइए, बिंदुवार किसानों के लिए किए गए प्रावधानों पर नजर डालते हैं, जो कि इस प्रकार से हैं –

  • गन्ना की कीमत 325 रुपये प्रति क्विंटल करने का प्रस्ताव दिया गया है।
  • मुख्यमंत्री किसान दुर्घटना कल्याण बीमा के नाम से नई योजना चलाई जाने की घोषणा की है। इसके लिए 500 करोड़ रुपये आवंटित हुए हैं।
  • राष्ट्रीय कृषि बाजार के लिए भी बजट रखा गया है। शुगर मिलों के लिए भी UP Budget 2020 का प्रस्ताव दिया गया है।
  • बीमा का लाभ बंटाई वाले किसानों को भी। बजट में यह व्यवस्था की गई है कि अब बंटाई वाले किसान भी बीमा की योजना का लाभ ले सकते हैं। इससे पहले यह होता था कि यदि किसान कभी दुर्घटना में मृत हो जाता था तो उसके परिवार को कोई लाभ नहीं मिलता था, लेकिन अब ऐसा नहीं होगा।
  • अटल भूजल योजना प्रारंभ की जा रही है। 14 सिंचाई योजनाओं को इस वर्ष पूर्ण करने का लक्ष्य है। गांवों में जल जीवन मिशन को 3000 करोड़ का बजट आवंटित किया गया है।

UP Budget 2020 में एक्सप्रेस-वे, एयरपोर्ट, रैपिड रेल की सौगात –

UP Budget 2020 में एक्सप्रेस वे, एयरपोर्ट, रैपिड रेल की सौगात दी गई है। प्रदेश में देश के सबसे लंबे गंगा एक्सप्रेस वे का निर्माण कराया जाएगा। मेरठ से प्रयागराज तक इस एक्सप्रेस वे का निर्माण कराया जाएगा। इसके निर्माण के लिए 2000 करोड़ का बजट प्रस्तावित किया गया है। अयोध्या में 500 करोड़ रुपए से एक इंटरनेशनल एयरपोर्ट बनाने की घोषणा की गई है। इसके जल्द निर्माण के लिए इस बजट को आवंटित किया गया है।

इसके अलावा बजट में बुंदेलखंड एक्सप्रेस वे का शुभारंभ भी इसी माह हो जाने की घोषणा की गई है। दिल्ली से मेरठ के बीच बहु प्रतीक्षित रैपिड ट्रांजिट सिस्टम के लिए 900 करोड़ के बजट का प्रस्ताव भी किया गया है। इसके अलावा गोरखपुर और अन्य शहरों में मेट्रो के लिए प्रस्ताव तैयार है। आगरा मेट्रो के लिए 286 करोड़ रुपये का प्रावधान किया गया है, जबकि कानपुर मेट्रो के लिए 358 करोड़ रुपये का आवंटन किया गया है।

बजट में एक और महत्वपूर्ण घोषणा की गई है और वो ये कि वाराणसी, प्रयागराज, लखनऊ और आगरा में इलेक्ट्रिक बसें चलेंगी। इसके अलावा वित्त मंत्री सुरेश खन्ना ने बजट में जेवर एयरपोर्ट के लिए 2000 करोड़ रुपये का एलान किया है।

UP Budget 2020 में सेहत का भी ध्यान, नए बने जिलों में खुलेंगे अस्पताल –

अब आते हैं सेहत की बात पर। बजट में प्रदेशवासियों के स्वास्थ्य को भी नजरंदाज नहीं किया गया है। नवसृजित जिलों में अस्पताल बनेंगे। जिला अस्पतालों के लिए 70 करोड़ का प्रावधान किया गया है। सैफई PGI को 309 करोड़ रुपये का बजट प्रस्तावित है। इसके अलावा सरकार ने बजट में गांव, तहसील में स्वास्थ्य सेवा सुदृढ किए जाने पर भी जोर दिया है। सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र के लिए 35 करोड़ रुपये का, जबकि नए प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों के लिए 81 करोड़ रुपये का प्रस्ताव दिया गया है।

ग्रामीण CHC यानी सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र की बेहतरी के लिए 50 करोड़ का बजट प्रस्तावित किया गया है। इसके अलावा स्चच्छ भारत मिशन के लिए भी 5791 करोड़ रुपये आवंटित किए गए हैं। वहीं, राष्ट्रीय पोषण अभियान के लिए भी सरकार ने 4000 करोड़ रुपये का प्रावधान इस बार के बजट में किया है।

UP Budget 2020 में महिलाओं के जीवन यापन, उनकी सुरक्षा की चिंता भी –

उत्तर प्रदेश के बजट में महिलाओं की सुरक्षा की भी चिंता की गई है। देर रात तक काम करने वाली महिलाओं को रात के 10 बजे से सुबह 6 बजे तक घर पहुंचाने के लिए हेल्पलाइन नंबर जारी किया गया है। रात के वक्त जरूरत पड़ने पर महिलाएं 112 नंबर पर कॉल कर सकती हैं। पुलिस तत्काल बताई गई जगह पहुंचेगी और इसके बाद उन्हें उनके घर तकपहुंचाएगी।

इसके अलावा सरकार ने तलाकशुदा महिलाओंं की भी खबर ली है। उनके लिए पेंशन की सुविधा की गई है। उन्हें 500 रुपये प्रति महीने पेंशन दी जाएगी। इसके अलावा सरकार ने दिव्यांग पेंशन योजना के लिए 621 करोड़ भी आवंटित किए हैं। कन्या सुमंगला योजना के लिए भी सरकार की ओर से UP Budget 2020 में 1200 करोड़ रुपए का आवंटन किया गया है।

उत्तर प्रदेश को शिक्षा का केंद्र बनाने की कोशिश –

सरकार ने UP Budget 2020 -21 के माध्यम से उत्तर प्रदेश को शिक्षा का केंद्र बनाने की कोशिश की है। समग्र शिक्षा अभियान के लिए 18363 करोड़ रुपये का बजट आवंटित किया गया है। इसके अलावा नई सीएम शिक्षा प्रोत्साहन योजना लाई जाएगी। जल्दी ही 8 नए मेडिकल कॉलेज भी सामने होंगे। इनमें इलाहाबाद यानी प्रयागराज में लॉ यूनिवर्सिटी, गोरखपुर में आयुष विश्वविद्यालय, सहारनपुर, अलीगढ़ और आजमगढ़ में 3 नए राज्य विश्वविद्यालय के साथ ही प्रदेश में पुलिस फॉरेंसिक यूनिवर्सिटी की स्थापना प्रस्तावित है। युवाओं को 2500 रुपये हर महीने वजीफा दिया जाएगा।

साथ ही प्रदेश के हर जिले में युवा हब बनाया जाएगा। जहां उन्हें कौशल विकास यानी skill development की ट्रेनिंग दी जाएगी। इनके लिए 200 करोड़ का बजट आवंटित किया गया है। इसके अतिरिक्त मेडिकल कॉलेज आजमगढ़ के लिए 96 करोड़, जबकि लोहिया आयुर्विज्ञान संस्थान, लखनऊ के लिए 477 करोड़ रुपए का आवंटन इस बजट के अंतर्गत किया गया है।

UP Budget 2020 में पुलिस को आधुनिक बनाने पर जोर –

सरकार ने इस बजट में पुलिस को आधुनिक बनाने पर भी खासा जोर दिया है। अग्निशमन यानी फायर ब्रिगेड के लिए 10 करोड़ रुपए का आवंटन किया गया है, जबकि विधि विज्ञान प्रयोगशालाओं के लिए 60 करोड़ का प्रावधान किया गया है। पुलिस बल योजना को 122 करोड़ रुपये रुपए दिए जाने की बात कही गई है। यह साइबर क्राइम का दौर है, लिहाजा, बजट में इसे भी नजर अंदाज नहीं किया गया है। साइबर क्राइम के लिए 3 करोड़ रुपये का बजट रखा गया है।

वहीं, बजट पेश करते हुए उत्तर प्रदेश सरकार ने यह भी साफ कर दिया है कि कानून व्यवस्था पर जीरो टॉलरेंस की नीति अपनाई जाएगी। केसों को हल करने के लिए 16 साइबर थाने का निर्माण किया जाएगा।

मंदिरों, मठों पर भी दिखाई मेहरबानी –

जैसी कि उम्मीद की जा रही थी, उस पर खरा उतरते हुए सरकार ने बजट में मंदिरों, मठों पर भी खास मेहरबानी दिखाई है। बजट में काशी विश्वनाथ मंदिर के लिए 200 करोड़ रुपए की व्यवस्था की गई है। राष्ट्रीय प्रेरणा स्थल के लिए 50 करोड़ रुपए और निर्माण के लिए 60 करोड़ रुपए की व्यवस्था की गई है। तुलसी स्मारक भवन के लिए 10 करोड़ का प्रावधान किया गया है।

फिर दिखाया अपने घर का सपना –

सरकार ने पीएम आवास योजना के तहत धन की कमी न होने देने की बात कही। सभी को एक बार फिर अपने घर का सपना दिखाया। वित्त मंत्री सुरेश खन्ना ने बजट पेश करते हुए ‘गैर परों से उड़ सकते हैं, हद से हद दीवारों तक, अंबर तक तो वही उड़ेंगे जिनके अपने पर होंगे’ जैसे शेर पढ़ते हुए पेश किए गए बजट में आवास योजना की प्रगति पर प्रकाश डाला। बताया कि 2020-21 के बजट में 2022 तक सभी को घर के लक्ष्य पर काम हो रहा है। इस बजट में पीएम आवास योजना के लिए 6241 करोड़ रुपए की व्यवस्था की गई है।

UP Budget 2020 का सारांश –

दोस्तों इस तरह आपने देखा कि सरकार ने बजट में हर वर्ग को कुछ ना कुछ देने और कुल मिलाकर उसे खुश करने की कोशिश की है। इसमें युवा भी शामिल हैं, इसमें महिलाएं भी शामिल हैं, इसमें किसान भी शामिल हैं और यहां तक कि इसमें संत महात्मा तक शामिल हैं। बजट के जरिए सरकार का उद्देश्य यह है कि प्रत्येक वर्ग को कुछ ना कुछ देकर उसकी निराशा को दूर किया जा सके। और दोस्तों, यह कहना गलत न होगा कि उसमें लह काफी हद तक कामयाब भी हुई हैं। जानने वालों ने पिछले बजट के मुकाबले इस बजट को थोड़ा बेहतर बताया है।

अलबत्ता, विपक्ष ने बजट को बेकार करार दिया है। उसका कहना है कि युवाओं के लिए रोजगार संबंधी कोई बड़ी या विशेष घोषणा इस बजट में नहीं। कारोबारियों के लिए भी इसमें कुछ नहीं और महिलाओं की दृष्टि से भी इस बजट में कुछ नहीं रखा है। बाकी तो भविष्य में देखने वाली बात होगी कि सरकार बजट की अपनी घोषणाओं पर कितना खरा उतर पाती है।

अंतिम शब्द –

तो दोस्तो, यह थी UP Budget 2020 In Hindi से जुड़ी सारी जानकारी। वह सारे बिंदु जो कि कोई भी बजट के बारे में जानना चाहेगा। उम्मीद है कि आपको बजट से जुड़ी हमारी यह post अवश्य पसंद आई होगी। अगर आपको कोई बिंदु स्पष्ट नहीं है और आप किसी भी बिंदु पर उलझे हैं और हम से अपनी बात कहना चाहते हैं तो नीचे दिए गए comment box में comment कर सकते हैं।

इसके अलावा अगर किसी अन्य विषय पर आप जानकारी पाने के इच्छुक है तो उस विषय का नाम भी नीचे दिए गए comment box में लिखकर हमें भेज सकते हैं। हम आपको संबंधित विषय में जानकारी मुहैया कराने की पूरी-पूरी कोशिश करेंगे। आपकी प्रतिक्रियाओं का हमें इंतजार रहेगा। आप चाहें तो अपने सुझाव भी हमें भेज सकते हैं। हमारी आपके दिए सुझाव पर भी अमल करने की पूरी कोशिश रहेगी। ।।धन्यवाद।।

Spread the love

Leave a Comment