खिलौने बनाने का बिजनेस कैसे शुरू करें? खिलौना बनाने की लागत और विधि (Toys manufacturing business in Hindi)

toys manufacturing business in Hindi:- क्या आप खिलौने बनाने का बिज़नेस शुरू करना चाहते हैं और सके बारे में पूरी जानकारी पाना चाहते हैं? यदि आपकी खिलोने बनाने का बिज़नेस शुरू करने में रुचि हैं तो (Khilaune kaise banate hain) आज हम आपके साथ खिलौने बनाने के ऊपर संपूर्ण जानकारी शेयर करने वाले हैं। ऐसा इसलिए क्योंकि किसी भी व्यापार को शुरू करने से पहले उसके बारे में पूर्ण रूप से जान लेना आवश्यक (Khilone banane ka business) होता हैं तभी उस व्यापार को शुरू किया जाना चाहिए।

ऐसे में आज आपको इस लेख के माध्यम से खिलौने बनाने के बिज़नेस के ऊपर शुरू से लेकर अंत तक संपूर्ण जानकारी जानने को मिलेगी। इसमें आप खिलौने कैसे बना सकते हैं और उसके लिए आपको क्या क्या अन्य काम करने पड़ेगे और किस किस चीज़ में ज्यादा काम करना पड़ेगा, इत्यादि सब जानने (Khilaune banane ka tarika) को मिलेगा। आइए जाने खिलौने बनाने के बिज़नेस के ऊपर संपूर्ण जानकारी।

Contents show

खिलौने बनाने के बिज़नेस के ऊपर जानकारी (toys manufacturing business in Hindi)

खिलौने बनाने का बिज़नेस शुरू करना और इसके बारे में सोचना एक अलग अलग कार्य हैं। आप किसी भी बिज़नेस को शुरू करने के बारे में सोच सकते हैं लेकिन जब आप उसे असलियत में शुरू करते हैं तब आपको पता चलता हैं कि इसमें किस किस तरह की चुनौतियों का आपको सामना करना पड़ सकता हैं। ऐसे में यदि आपको खिलौने देखने में आकर्षक लगते हैं और आप इसको लेकर बिज़नेस में उतरना चाहते हैं तो उससे पहले इसके बारे में संपूर्ण जानकारी ले ले।

खिलौने बनाने का बिजनेस कैसे शुरू करें खिलौना बनाने की लागत और विधि Toys manufacturing business in Hindi

कहने का अर्थ यह हुआ कि खिलौने का बिज़नेस शुरू करने के लिए आपको इसमें आने वाली लागत, अपनी पसंद, जमीन, कच्चा माल, मशीन इत्यादि कई बातो के बारे में जानकारी जुटानी होगी। जब आप सब जानकारी जुटा लेंगे तभी आप खिलौने बनाने के बिज़नेस में आगे बढ़ सकते है। यदि आप इसके बारे में सही से जानना चाहते हैं तो आइये जाने इसके लिए आपको पहले से ही क्या क्या तैयारी करने की आवश्यकता होगी।

खिलौने बनाने के बिज़नेस का प्लान बनाना

आप चाहे खिलौने बनाने का बिज़नेस करे या कुछ और, यदि आप उससे पहले अपना बिज़नेस प्लान ही नही बनायेंगे तो फिर आप कभी भी उस बिज़नेस में सफल नही हो सकते। सफल होना तो दूर की बात, आपको तो उसमे नुकसान ही झेलना पड़ेगा। इसलिए यदि आप खिलौने बनाने के बिज़नेस में सफल होना चाहते हैं तो न्सबसे पहले एक परफेक्ट बिज़नेस प्लान तैयार करे।

इसके लिए आपको कई चीज़े देखने होगी। जैसे कि आप किस तरह के खिलौने के व्यापार में उतरना चाहते हैं। कहने का अर्थ यह हुआ कि अब बच्चों के खिलौने एक तरह के तो होते नही हैं। इनमे कई तरह की विविधता देखने को मिलती हैं। कोई खिलौना सिंपल होता हैं तो कोई बैटरी वाला तो कोई इलेक्ट्रिक वाला। ऐसे में आप किस तरह के खिलौने के बिज़नेस में उतरना चाहेंगे।

साथ ही आप किस स्तर पर अपने खिलौने बनाने के बिज़नेस की शुरुआत करने जा रहे हैं। उसके लिए आप क्या क्या करेंगे और क्या नही। आप कितना निवेश कर सकते हैं और क्या आपको लोन लेने की भी आवश्यकता हैं। आप उसे किस जगह पर शुरू करेंगे और कितने कारीगर काम पर रखेंगे। आप खिलौने बनाने के लिए कच्चा माल कहां से खरीदेंगे तथा उसके लिए मशीन किस ब्रांड की होगी इत्यादि। इस तरह से आपको अपना एक पूरा बिज़नेस प्लान सेट करना होगा और तभी आगे बढ़ना होगा।

खिलौने बनाने का बिज़नेस शुरू करने से पहले मार्किट रिसर्च

अब यदि आप खिलौने बनाने के व्यापार में उतर रहे हैं या उतरने जा रहे हैं और उसके लिए एक बिज़नेस प्लान भी तैयार कर रहे हैं तो इसके लिए आपको मार्किट के बारे में जानकारी होना भी बहुत जरुरी हैं। ऐसा इसलिए क्योंकि यदि आपको मार्किट में क्या चल रहा हैं और क्या नही, इसके बारे में ही सही से जानकारी नही होगी तो फिर आप कैसे ही इसमें कुछ अच्छा कर पाएंगे।

इसलिए खिलौने का बिज़नेस शुरू करने से पहले आपको मार्किट की नब्ज जाननी होगी। आपको यह पता करना होगा कि आजकल किस तरह के खिलौने मांग में हैं और उनमे से खिलौने पहले से बन रहे हैं उनमे किस तरह की विशेषताएं हैं। साथ ही बच्चों को किस तरह के खिलौने ज्यादा पसंद आ रहे हैं और उनका क्या भाव होना चाहिए इत्यादि।

यदि आप खिलौने बनाने का बिज़नेस शुरू करने से पहले उसके बारे में संपूर्ण रूप से मार्किट की रिसर्च कर लेंगे तो फिर बहुत बढ़िया रहेगा। इससे आपको पता चल जाएगा कि आपको किस दिशा में आगे बढ़ना चाहिए और किस दिशा में नही। एक तरह से यह आपके बिज़नेस को सही दिशा में आगे बढ़ाने में बहुत आवश्यक कदम होगा। इसलिए इसे करना बिल्कुल ना भूले अन्यथा बाद में पछतावा होगा।

खिलौने बनाने के बिज़नेस की मांग

अब आपका अगला प्रश्न होगा कि क्या खिलौने बनाने के बिज़नेस की मांग है भी या नही। ऐसा इसलिए क्योंकि बाजार में पहले से असंख्य खिलौने उपलब्ध हैं और प्रतिदिन नए नए खिलौने भी आ रहे हैं। ऐसे में यदि आप भी खिलौने के बिज़नेस में आ जाएंगे तो फिर उससे क्या ही लाभ। तो अब आपिसके लिए हमारे देश के प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी को धन्यवाद कह सकते हैं।

ऐसा इसलिए क्योंकि आज से पहले देश में बिकने वाले खिलौने का एक बड़ा हिस्सा शत्रु देश चीन से आ रहा था। एक तरह से चीन से ही भारत के अधिकतर खिलौने आया करते थे। भारतीय बाजार में खिलौने बनाने के बिज़नेस में चीन की भागीदारी 70 प्रतिशत से अधिक थी। किंतु अब भारत सरकार ने चीन का भारत में प्रभुत्व कम करने और देश के उद्यमियों को बढ़ावा देने के उद्देश्य से बहुत सारे कदम बढ़ाये हैं।

इसी में एक कदम हैं भारतीय बाजार में ही लोगों को खिलौने बनाने के लिए प्रोत्साहित करना। एक तरह से भारत सरकार ही हमें कह रही हैं कि आप लोग ही अपने घर में या अपने शहर में खिलौने का निर्माण करे और उन्हें भारतीय बाजार में बेचे। इसके लिए भारत सरकार कई तरह की सुविधा भी दे रही हैं। इसलिए आप चिंतामुक्त होकर खिलौने बनाने के बिज़नेस में आगे बढ़ सकते हैं और इनका निर्माण कार्य शुरू कर सकते हैं।

खिलौने बनाने की बिज़नेस की शुरुआत कैसे करे (Khilone banane ka business kaise shuru kare)

अब जब आपने खिलौने बनाने का बिज़नेस शुरू करने का मन बना लिया हैं और इस दिशा में आगे बढ़ने जा रहे हैं तो इसके लिए सबसे पहले आपको कही ना कही से तो शुरुआत करनी ही होगी। इसमें सबसे पहले बात आती हैं बजट की। अर्थात आप खिलौने बनाने के लिए कितना निवेश कर सकते हैं और कितना नही। यदि आपको लोन लेने की आवश्यकता हैं तो वह आप कहां से लेंगे।

इसके साथ ही आपको खिलौने बनाने का बिज़नेस शुरू करने से पहले उसके लिए सरकार से तथा कुछ अन्य संस्थाओं से लाइसेंस व सर्टिफिकेट भी लेने होंगे। इसी के बाद आप खिलौने बनाने का बिज़नेस शुरू कर सकते हैं। इसके बाद आप खिलौने बनाने के लिए कच्चा माल व मशीन खरीदेंगे और उसके बाद होई जाएगा खिलौने बनाने का काम शुरू। तो आइए जाने क्रमानुसार आपको इसके लिए क्या क्या करना पड़ेगा।

किस टाइप के खिलौने बनाने का बिज़नेस शुरू करे (Khilaune ke types)

अब यदि आप खिलौने बनाने का बिज़नेस शुरू करने वाले हैं तो आपको यह भी समझना होगा कि आजकल का समय बहुत ही तेजी के साथ दर्द रहा हैं। ऐसे में हर दिन कुछ ना कुछ नया आता जा रहा हैं। इसलिए यह आपको देखना पड़ेगा कि आप किस तरह के खिलौने बनाने जा रहे हैं। कहने का अर्थ यह हुआ कि आपको अपने बिज़नेस के लिए खिलौने के एक सेट को चुनना होगा।

हालाँकि आप एक से अधिक प्रकार के खिलौने भी बना सक्तेभैन लेकिन फिर उसके लिए आपको ज्यादा निवेश करने की आवश्यकता होगी। कम निवेश में आप खिलौने बनाने का बिज़नेस नही कर पाएंगे। इसलिए यदि आप चाहते हैं कि आप एक से अधिक खिलौने बनाने शुरू करें तो अपनी जेब भारी रखे। आइए जाने आप किस किस तरह के खिलौने बनाने के बिज़नेस में जा सकते हैं।

  • बच्चों के खिलौने में सबसे पहले आते हैं सॉफ्ट टॉयज। आधुनिक तकनीक चाहे कितनी ही आगे क्यों ना बढ़ जाए लेकिन सॉफ्ट टॉयज की जगह कोई नही ले सकता। साथ ही बेबी को हम केवल सॉफ्ट टॉयज ही दे सकते हैं। इनमे गुड्डे, गुड्डियां, टेडी बियर, इत्यादि तरह के खिलौने आते हैं। इसलिए आप इन सॉफ्ट टॉयज को बनाने का काम कर सकते हैं।
  • सॉफ्ट टॉयज के बाद अगले आते हैं टीथर को बनाना। अब आप पूछेंगे कि यह टीथर क्या होते हैं। दरअसल टीथर वह होते हैं जो बच्चों के दांत आने से पहले उन्हें चबाने के लिए दिए जाते हैं। यह बहुत ही सॉफ्ट होते हैं और इसे बच्चे पकड़ लकर चबाते हैं तो उनकी दांतों की खुजली शांत हो जाती हैं। आजकल टीथर का इस्तेमाल बहुत ज्यादा बढ़ गया हैं।
  • अब बच्चों के सबसे मुख्य खिलौने और वे हैं प्लास्टिक वाले खिलौने। यह खिलौने भारतीय बाजार में सबसे ज्यादा बिकते भी हैं और इनकी मांग भी सबसे ज्यादा होती हैं। साथ ही लास्टिक के खिलौने में विविधता भी बहुत देखने को मिल जाती हैं। कहने का तात्पर्य यह हुआ कि प्लास्टिक के खिलौने बाजार में बहुत ज्यादा मात्रा में मिल जाएंगे।
  • खिलौने बनाने की श्रेणी में जो अगले खिलौने आएंगे उन्हें कहेंगे संगीत वाले खिलौने या म्यूजिकल टॉयज। एक तरह से वे खिलौने जो संगीत बजाते हैं या जिन्हें चलाने पर संगीत की आवाज आती हैं। इस तरह के खिलौने बच्चों को अपनी ओर आकर्षित करते हैं और बिकते भी बहुत हैं। यह खिलौने ज्यादातर छोटे बच्चों में अधिक लोकप्रिय है।
  • अब आते हैं इलेक्ट्रॉनिक वाले खिलौने अर्थात ऐसे खिलौने जो या तो बिजली से चलते हैं या फिर जिन्हें चार्जे करना पड़ता हैं। पहले इन खिलौने की मांग कम थी लेकिन बदलते आधुनिक परिवेश में इन खिलौने की मांग भी तेजी के साथ बढ़ी हैं।
  • आजकल ऐसे खिलौने भी बाजार में आने लगे हैं जो आर्टिफीसियल इंटेलिजेंस ओअर आधारित होते हैं। अर्थात ऐसे खिलौने जो बच्चे के मनोभाव को देखते हुए या केवल आदेश पर काम करे। हालाँकि इन खिलौनों को बनाने की लागत बहुत आती हैं और ये महंगे भी होते हैं।

खिलौने बनाने का बिज़नेस शुरू करने के लिए लागत

यदि आप खिलौने बनाने का बिज़नेस शुरू करने जा रहे हैं तो आपको इसके लिए आने वाले खर्चे का हिसाब भी लगाना होगा। कहने का अर्थ यह हुआ कि आपको इसके लिए जगह, सामान, मशीन, कारीगर का पैसा इत्यादि सभी के बारे में एक बजट बना कर चलना होगा और उसी के अनुसार काम करना होगा। ऐसे में यह आप पर निर्भर करता हैं कि आप किस तरह के और किस स्तर पर खिलौने बनाने का व्यापार शुरू करने जा रहे हैं।

यदि आप छोटे स्तर पर खिलौने बनाने का बिज़नेस शुरू करने जा रहे हैं तो इसके लिए आपको कम से कम 1 से 2 लाख तक का हर्चा करना होगा। वही यदि आप केवल सामान्य खिलौने या सॉफ्ट टॉयज बनाने का ही सोच रहे हैं तो आपको 30 से 50 हज़ार का ही खर्चा करना होगा। एक तरह से यह खिलौने बनाने की श्रेणी पर ही निर्भर करेगा।

यदि आप बड़े स्तर पर और कई तरह के खिलौने बनाने का विचार कर रहे हैं तो इसके लिए आपको 10 से 15 लाख तक का खर्चा करना पड़ेगा। इसमें आपको कई तरह की मशीन खरीदनी होगी और उसके लिए अन्य काम भी करने होंगे। तो यह पूर्णतया आप पर ही निर्भर करेगा कि आप किस तरह क्र और किस स्तर पर खिलौने बनाने का बिज़नेस शुरू करने जा रहे हैं।

खिलौने बनाने का बिज़नेस शुरू करने के लिए लोन

अब यदि आप खिलौने बनाने का बिज़नेस भी शुरू करना चाहते हैं लेकिन यदि आपके पास उसके लिए इतना पैसा नही हैं तो फिर आप कही से उसके लिए लोन भी ले सकते हैं। हमने अपकोपहले ही कहा कि भारत सरकार तो इस बिज़नेस के लिए लोगों को प्रोत्साहित कर रही हैं। अब यही प्रोत्साहन केवल बातो में ही नही बल्कि लोन देने से भी जुड़ा हुआ हैं।

किंतु उससे पहले आपको अपना पूरा बिज़नेस प्लान बनाकर उन्हें दिखाना होगा। इसके लिए आप किसी भी सर्क्कारी बैंक में जाकर लोन के लिएआवेदन कर सकते हैं। इसलिए सबसे पहले तो खिलौने बनाने के बिज़नेस के लिए पूरा बिज़नेस प्लान तैयार करे और उसके बाद उसे बैंक में जाकर दिखाए और लोन लेने के लिए कहे। बैंक के अधिकारी उस पूरे प्लान को देखकर आपको एक समझौते के अंतर्गत लोन दे देंगे। इसमें आपको बहुत ही कम ब्याज की दर पर लोन मिल जाएगा।

इसके अलावा आप निजी बैंक या किसी धनी व्यापारी से फाइनेंस पर रुपए भी ले सकते हैं। एक तरह से आप कई जगहों से लोन के लिए आवेदन कर सकते हैं। खिलौने बनाने का बिज़नेस शुरू करने के लिए आपको 1 लाख से लेकर 25 लाख तक का लोन मिल सकता हैं। यह पूर्णतया आपकी प्रॉपर्टी, घर, दुकान, बिज़नेस का स्तर इत्यादि कई कर्कोपर निर्भर करता है।

खिलौने बनाने का बिज़नेस शुरू करने के लिए लाइसेंस (Khilone banane ki business ka licence)

अब यदि आप खिलौने बनाने का बिज़नेस शुरू करने जा रहे हैं तो उसके लिए आपको कई तरह के लाइसेंस लेने की भी आवश्यकता होगी। बिना लाइसेंस के तो आप किसी भी चीज़ का निर्माण नही कर सकते। साथ ही यह चीज़ तो बच्चो से जुड़ी हुई हैं तो ऐसे में आपको लाइसेंस लेने की तो सख्त आवश्यकता होती हैं। यदि आप बिना लाइसेंस लिए खिलौने बनाने का काम शुरू करेंगे तो आपको ऊपर कानूनी कार्यवाही हो सकती हैं।

ऐसे में आप पहले से ही सब कानूनी प्रक्रिया का पालन करेंगे तो बेहतर रहेगा। इसके लोए आपको कई तरह के लाइसेंस लेने की आवश्यकता होगी। हालाँकि यह खिलौने बनाने के स्तर व किस टाइप के खिलौने बनाए हैं, उस पर भी निर्भर करता हैं। जो लाइसेंस आपको लेने ही पड़ेंगे उनकी जानकारी इस प्रकार हैं:

  • बिज़नेस का ट्रेड मार्क
  • खिलौने बनाने वाली कंपनी के नाम का रजिस्ट्रेशन
  • मालिक का पैन कार्ड
  • कर्मचारियों की संख्या का प्रमाण
  • खिलौने बनाने वाली जगह या फैक्ट्री का रजिस्ट्रेशन व प्रमाण पत्र
  • खिलौने बनाने वाली हर मशीन का ब्यौरा
  • खिलौने के सभी प्रकार व उनकी जानकारी
  • खिलौने बनाने में किसी तरह का प्रदूषण हो तो प्रदूषण बोर्ड से NOC इत्यादि।

इस तरह से आपको इन सभी लाइसेंस को अनिवार्य रूप से लेना होगा। बाकि आप जिस स्तर पर खिलौने बनाने का बिज़नेस कर रहे होंगे, यह उस पर भी निर्भर करेगा। एक तरह से आपको कई तरह की चीएजो को देखना होगा। इसलिये आप जिस तरह के भी खिलौने बनाने जा रहे हैं उसके बारे में संपूर्ण जानकारी पहले ही जुटा ले।

खिलौने बनाने का बिज़नेस शुरू करने के लिए जगह (Khilone banane ki jagah)

खिलौने बनाने का बिज़नेस शुरू करने के लिए अब अगला चरण होगा एक जगह का चुनाव करना। अब यह जगह भी आपके खिलौने बनाने के ऊपर निर्भर करेगी। कहने का अर्थ यह हुआ कि यदि आप छोटे स्तर आर इसे शुरू करना चाहते हैं तो आप इसे अपने घर के ही किसी कमरे में या खाली पड़े प्लाट में शुरू कर सकते हैं। इसके लिए आपको ज्यादा स ज्यादा 25 बाय 50 फुट के हिसाब से ही जगह चाहिए होगी।

वही यदि आप इसे बड़े स्तर पर शुरू करना चाहते हैं तो आपको एक फैक्ट्री के लिए जमीन तलाशनी होगी। यह आप किसी भी जगह पर ले सकते हैं। हालाँकि यदि आप इसे शहर से बाहर किसी जगह पर लेंगे तो ज्यादा सही रहेगा क्योंकि शहर के अंदर खिलौने का निर्माण करने के लिए आपको जल्दी से अनुमति नही मिलेगी। ऐसे में आप पहले यह निर्धारित कर ले कि आप किस स्तर पर और कौन से खिलौने का निर्माण करेंगे और उसी हिसाब से ही जगह का चुनाव करें।

खिलौने बनाने का बिज़नेस शुरू करने के लिए कच्चा माल (Khilone banane ka raw material)

अब बात करते हैं कि खिलौने बनाने का बिज़नेस शुरू करने के लिए आपको किस तरह के कच्चे माल की आवश्यकता पड़ सकती हैं। तो अब यह भी इसी पर मनिर्भर करेगा कि आप किस तरह के खिलौने बनाने जा रहे हैं। यदि आप सॉफ्ट टॉयज बनाना चाहते हैं तो इसके लिए आपको रुई, फोम, सॉफ्ट कपड़ा, कुछ सजावटी सामान इत्यादि ही चाहिए होंगे। फिर आपको कपड़े को किसी आकार में सील कर और उसमे फोम को भरकर उसे सिलाई करके तैयार कर देना होगा।

यदि आप किसी अन्य खिलौने को बनाने का विचार कर रहे हैं तो आपको इसके लिए अन्य तरह के सामान की आवश्यकता हो सकती हैं। इसमें से कुछ प्रमुख सामान इस प्रकार हैं:

  • फॉर्म या रुई
  • सॉफ्ट कपड़ा
  • प्लास्टिक
  • लकड़ी
  • लोहा व अन्य धातु
  • गत्ता
  • जेली
  • अन्य सजावटी सामान

इस तरह यह आप पर निर्भर करेगा कि आप किस तरह के खिलौने बनाने जा रहे हैं और उनका आकार व डिजाईन कैसे रहने वाला हैं। इसी के अनुसार आपको कच्चा माल मंगवाना होगा।

खिलौने बनाने का बिज़नेस करने के लिए मशीन (Khilone banane ki machine)

अब जब आपने कच्चा माल मंगवा लिया हैं तो खिलौने बनाने के लिए मशीन की भी आवश्यकता होगी। हालाँकि सभी तरह के खिलौने बनाने के लिए किसी ना किसी मशीन की आवश्यकता होती ही हैं। इसमें से कुछ मशीन फुल आटोमेटिक होती हैं तो कुछ हाथ से चलने वाली होती हैं। कहने का अर्थ यह हुआ कि यह खिलौने की श्रेणी और उसके डिजाईन पर निर्भर करेगा कि उसके लिए किस तरह की मशीन चाहिए होगी।

खिलौने बनाने में जिन जिन मचिन का इस्तेमाल हो सकता हैं, वे हैं:

  • सिलाई मशीन
  • ड्रिलिंग मशीन
  • टूल किट
  • कई तरह की बैटरी फिलिंग मशीन
  • रिमोट कंट्रोल यूनिट
  • कंप्यूटर

तो यह कुछ सामान्य मशीन थी जो खिलौने बनाने की अलग अलग श्रेणी पर निर्भर होगी। जैसे कि यदि आपको सॉफ्ट टॉयज का निर्माण करना होगा तो आपको बस सिलाई मशीन पर उसका कपड़ा सीलन होगा और फिर उसमे रुई या फॉर्म को भर कर उसमे चैन लगाकर या टांका लगाकर उसे बंद कर देना होगा। इसी तरह से बाकि खिलौने बनाने के लिए भी अलग अलग तरह की मशीन की ही आवश्यकता पड़ेगी।

खिलौने बनाने की प्रक्रिया (Khilaune kaise banate hain)

अब जब हम खिलौने बनाने की प्रक्रिया के बारे में बात करेंगे तो यह भी पूर्णतया उस खिलौने के डिजाईन और श्रेणी पर ही निर्भर करेगा। उदाहरण के तौर पर यदि आपको टीथर का निर्माण करना होगा तो उसके लिए आपको किसी प्लास्टिक वाली सॉफ्ट चीज़ को लेना होगा। अब उसे इतना पतला करना होगा कि वह हार्ड ना हो और ना ही चुभे।

साथ ही यह इतना पतला भी ना हो कि आसानी से फट जाए। अब इसमें आपको जेली को भर देना होगा और टांका लगा देना होगा या पेस्ट कर देना होगा। इस तरह से एक टीथर का निर्माण हो जाएगा। इसी तरह आप बाकि खिलौने का भी अलग अलग विधि के द्वारा निर्माण कर सकते हैं। छे खिलौने एक ही श्रेणी के हो लेकिन यादी उनके डिजाईन अलग अलग हैं तो उनको निर्माण करने की चीज़ व विधि भी अलग अलग ही होगी।

खिलौने बनाने के बिज़नेस की मार्केटिंग

अब यदि आपने खिलौने बनाने का बिज़नेस शुरू कर दिया हैं तो आपको यह भी देखना पड़ेगा कि आपके बनाए खिलौने बाजार में बिके कैसे। कहने का अर्थ यह हुआ कि यदि आप इन खिलौनों का निर्माण करके यूँ ही उन्हें अपने आप बिकने के लिए छोड़ देंगे तो यह नही बिक पाएंगे। इसके लिए भी आपको अलग से मेहनत करने की जरुरत पड़ेगी।

इसी मेहनत के बल पर ही आपके खिलौने बाजार में बिक पाएंगे। अब उस मेहनत को कहा जाएगा मार्केटिंग या उन खिलौनों का प्रमोशन करना। इसके लिए आपको कई तरह की स्ट्रेटेजी पर काम करना होगा। उसके बाद ही आप खिलौने बनाकर उन्हें बाजार में बेच पाएंगे। आइए जाने।

  • अब यदि आपको खिलौने की मार्केटिंग करनी हैं तो उसके लिए आपको ऐसी दुकानों से संपर्क साधना होगा जो बच्चों के खिलौने रखते हैं या उन्हें बेचते हैं। इसके लिए आप अपने आसपास के सभी खिलौने वाली दुकानों की सूची निकाल लीजिए और एक एक कर उनसे संपर्क करें।
  • जब आप उन दुकानदारो से संपर्क कर रहे होंगे तो उन्हें अपने बनाए खिलौने सैंपल के तौर पर दे और बताये कि इसकी क्या क्या विशेषता हैं और यह किस तरीके से दूसरों के खिलौने से अलग होगा। आप शुरुआत में उन्हें कुछ कम दाम में भी वह खिलौने उपलब्ध करवा सकते हैं।
  • यदि आप कम दाम में वह खिलौने उन्हें देंगे तो इससे उनका मार्जिन ज्यादा बनेगा। ऐसे में ज्यादा मार्जिन कमाने के चक्कर में वे आपसे खिलौने लेना पसंद करेंगे। फिर धीरे धीरे आप उन्हें निश्चित कीमत पर ही वह खिलौने दे।
  • साथ ही आप बच्चों को और उनके माता पिता को अपने खिलौने की ओर आकर्षित करने के लिए उन्हें घर घर जाकर बेचने की योजना पर भी काम कर सकते हैं। इसके लिए आप कुछ बन्दे रख सकते हैं और उन्हें घर घर जाकर खिलौने बेचने के काम पर लगा सकते हैं।
  • इसके साथ ही आप अपने बिज़नेस से संबंधित कुछ बैनर या पोस्टर भी बनवाए। उसमे आपके द्वारा बनवाए जा रहे खिलौनों की फोटो और उनकी विशेषताएं भी छपी हुई हो। इन्हें आप ऐसी जगह ज्यादा लगवाए जहाँ बच्चे ज्यादा आते जाते हो। जब बच्चे इन्हें देखेंगे तो अवश्य ही वे इन्हें लेने की जिद्द करेंगे।
  • इस तरह से आप सीधे बच्चों तक पानी पहुँच बना पाएंगे। एक बार आपके खिलौने बिकने लग गए तो फिर यह रुकेंगे नही। यह एक से दूसरे बच्चे और दूसरे से तीसरे बच्चे के पास जाएंगे और हर कोई इन्हें खरीदने की जिद्द करेगा।
  • इसी के साथ आपोंलिने प्लेटफार्म की भी सहायता ले। कहने का अर्थ यह हुआ कि अब आप अपने बनाए खिलौने केवल दुकानदारो को ही नही बल्कि ऑनलाइन शॉपिंग वेबसाइट पर भी बेच सकते हैं। जैसे कि अमेज़न, फ्लिपकार्ट, मीशो या अन्य कोई ऐप या वेबसाइट।
  • इन वेबसाइट पर आप अपने बनाए खिलौनों की फोटो, उनका मूल्य, उनकी विशेषताएं तथा अन्य जानकारी डाले। ऑनलाइन अपने खिलौने डालने से आपकी बहुत मार्केटिंग होंगी और दुनिया का कोई भी बंदा इन्हें देख सकता हैं।
  • इसी के साथ अपने खिलौने बनाने के बिज़नेस की मार्केटिंग करने के लिए आप ऑनलाइन सोशल मीडिया का आश्रय भी ले सकते हैं। कहने का अर्थ यह हुआ कि आप अपनी कंपनी के नाम से फेसबुक पर एक पेज बना सकते हैं और उस पर खिलौने इत्यादि की फोटो लगा सकते हैं।

खिलौने बनाने के बिज़नेस में कमाई

अभी तक अपने खिलौने बनाने के बिज़नेस के बारे में सब चीज़े जान ली हैं लेकिन एक बात रह गयी हैं और वह हैं इस बिज़नेस में होने वाली कमाई। यदि आपको इसके बारे में ही सही से नही पता होगा तो फिर आप खिलौने बनाने के बिज़नेस को शुरू ही क्यों करेंगे। इसलिए किसी भी बिज़नेस को शुरू करने से पहले उसमे आपकी कितनी कमाई हो सकती हैं, इसके बारे में भी अवश्य पता होना चाहिए।

खिलौने बनाने के बिज़नेस में कमाई के बारे में जानने के लिए भी यह उसके डिजाईन, श्रेणी इत्यादि कई कारको पर निर्भर करेगा। कहने का अर्थ यह हुआ कि आप किस तरह के और कैसे खिलौने बना रहे हैं, आपकी कमाई भी उसी पर ही निर्भर करेगी। सामान्य रूप से आप 1 लाख का निवेश कर एक वर्ष में 5 लाख से ज्यादा की कमाई कर लेंगे।

खिलौने बनाने का बिज़नेस कैसे शुरू करे – Related FAQs

प्रश्न: खिलौने कैसे बनाते हैं?

उत्तर: खिलौने बनाने के लिए आपको पहले यह चुनना होगा कि आप किस तरह के खिलौने बनाना चाहते हैं जैसे कि सॉफ्ट टॉयज, प्लास्टिक के खिलौने या कुछ और।

प्रश्न: खिलौने बनाने के तरीके क्या हैं?

उत्तर: खिलौने बनाने के तरीके में कई तरह के तरीके होते हैं जैसे कि सिलाई मशीन से सॉफ्ट टॉयज का बनना या फिर प्लास्टिक व जेली की सहायता से टीथर का बनना।

प्रश्न: खिलौने बनाने की फैक्ट्री कहां लगाए?

उत्तर: खिलौने बनाने की फैक्ट्री आप शहर से दूर ही लगाएंगे तो बेहतर रहेगा।

प्रश्न: खिलौने बनाने की तरकीब क्या है?

उत्तर: खिलौने बनाने की तरकीब यही है कि आप इसके लिए पहले एक बिज़नेस प्लान बनाए और फिर ही इसके बारे में आगे सोचे।

इस तरह से आप खिलौने बनाने के बिज़नेस में पान गुणा तक प्रॉफिट कमा सकते हैं। अब यह आप पर निर्भर करता हैं कि आप इसे किस स्तर तक आगे ले जा सकते हैं और इसकी किस तरह से मार्केटिंग करते हैं। यदि आपकी मार्केटिंग अच्छी रही और यह बच्चों के बीच प्रसिद्ध हो गया तो फिर आपकी कमाई आसमान छूने लगेगी।

Leave a Comment