तमिलनाडु स्कूल नाश्ता योजना सरकारी स्कूल में बच्चो को मिलेगा भोजन

तमिलनाडु स्कूल नाश्ता योजना क्या है? | What is Tamilnadu school breakfast scheme? | इस योजना का क्या उद्देश्य है? | तमिलनाडु नाश्ता योजना का विस्तार कब और किसके द्वारा किया गया है? | तमिलनाडु स्कूल नाश्ता योजना के तहत नाश्ते का मेन्यू क्या है? ||

हमारे देश में सरकारी स्कूलों की स्थिति किसी से छुपी नहीं है। कहा जाता है कि केवल गरीबों के बच्चे ही सरकारी स्कूलों में शिक्षा प्राप्त करते हैं। वहीं, ऐसे मां-बाप की भी कमी नहीं है, जो आर्थिक विपन्नता के चलते अपने बच्चों को सरकारी स्कूलों तक में भी नहीं भेज पाते। ऐसे बच्चों को स्कूल तक लाने, उनकी मौजूदगी बनाए रखने, उनके पोषण तथा विकास को लिए मिड डे मील जैसी योजनाएं चलाई जा रही हैं।

तमिलनाडु सरकार द्वारा चलाई जा रही तमिलनाडु स्कूल नाश्ता योजना (tamilnadu school breakfast scheme) भी एक ऐसी ही एक योजना है। आज इस पोस्ट में हम आपको इसी योजना के संबंध में विस्तार से जानकारी देंगे। आइए, शुरू करते हैं-

Contents show

बच्चों के लिए सुबह का नाश्ता क्यों आवश्यक है? (Why morning breakfast is necessary for children?)

दोस्तों इससे पूर्व कि हम तमिलनाडु नाश्ता योजना की बात करें, आइए सबसे पहले यह जान लेते हैं कि बच्चों के लिए सुबह का नाश्ता क्यों आवश्यक है? दोस्तों, बच्चों के लिए सुबह का नाश्ता इसलिए आवश्यक है, क्योंकि वयस्कों की तुलना में वे शारीरिक और मानसिक रूप से अधिक सक्रिय (active) रहते हैं। ऐसे में बच्चों को ऊर्जा की अधिक आवश्यकता होती है।

तमिलनाडु स्कूल नाश्ता योजना सरकारी स्कूल में बच्चो को मिलेगा भोजन

बच्चों को सुबह-सुबह पौष्टिक नाश्ता दिया जाए तो यह उन्हें उनकी बैटरी रिचार्ज (battery recharge) करने में मदद करता है। यह आपने भी देखा होगा कि, जो बच्चे नियमित रूप से नाश्ता नहीं कर पाते, वे अक्सर थके हुए, चिड़चिड़े, आलस भरे व बेचैन से रहते हैं। उनके शरीर को भरपूर पोषण देने के लिए और उनके अच्छे शारीरिक व मानसिक विकास के लिए उन्हें पौष्टिक नाश्ता दिया जाना बेहद आवश्यक है।

तमिलनाडु नाश्ता योजना क्या है? (What is tamilnadu school breakfast scheme ?)

मित्रों, आइए अब जान लेते हैं कि तमिलनाडु स्कूल नाश्ता योजना क्या है? (what is tamilnadu school breakfast scheme?) दोस्तों, आपको बता दें कि तमिलनाडु स्कूल नाश्ता योजना (Tamilnadu school breakfast scheme) का शुभारंभ 15 सितंबर, 2022 को मदुरै (Madurai) में राज्य के मुख्यमंत्री एमके स्टालिन (CM MK Stalin) द्वारा किया गया था।

इस योजना के अंतर्गत तमिलनाडु राज्य के 1,545 सरकारी प्राथमिक विद्यालयों में कक्षा 1 से 5 तक के 1.14 लाख छात्रों को नाश्ता प्रदान किया जा रहा था। योजना को लेकर अच्छा रिस्पांस देखते हुए तमिलनाडु सरकार द्वारा 25 अगस्त, 2023 को योजना का विस्तार किया गया है। इसका लाभ तमिलनाडु के 31 हजार से भी अधिक स्कूलों के करीब 17 लाख विद्यार्थियों को होगा। दोस्तों, आपको बता दें कि तमिलनाडु ही पहला ऐसा राज्य था, जिसने सबसे पहले सरकारी स्कूल के छात्रों के लिए मिड-डे मिल शुरू किया था।

इस योजना का क्या उद्देश्य है? (What is the objective of this scheme?)

दोस्तों, तमिलनाडु स्कूल नाश्ता योजना का मुख्य उद्देश्य यह सुनिश्चित किया जाना है कि बच्चे बिना खाए स्कूल न आएं। दरअसल, सरकार का मानना है कि नियमित रूप से पोषक नाश्ता मिलने से बच्चों के भीतर ध्यान केंद्रित करने, सीखने एवं सीखे हुए को सकारात्मक रूप से मस्तिष्क में बनाए रखने की क्षमता विकसित होती है।

नियमित पोषक नाश्ते की आदत उन्हें शारीरिक रूप से भी विकसित करती है, क्योंकि योजना के अंतर्गत उन्हें जो नाश्ता दिया जाता है, उसमें पर्याप्त मात्रा में सूक्ष्म पोषक तत्व (micro nutrient elements) होते हैं। इस दौरान बच्चों में एनीमिया (anemia) यानी खून की कमी न हो, कद (height) सही से बढ़े एवं वजन (height) कम या ज्यादा न हो जैसे पहलुओं का भी ध्यान रखा जाता है। इस योजना के मुख्य उद्देश्य इस प्रकार से हैं-

  • बच्चों को कुपोषण से दूर रखना।
  • स्कूलों में विद्यार्थियों की उपस्थिति अनुपात में सुधार करना।
  • स्कूलों के ड्रॉप आउट रेशो में कमी लाना।
  • कामकाजी माताओं के ऊपर से बोझ कम करना।

तमिलनाडु नाश्ता योजना का विस्तार कब और किसके द्वारा किया गया है? (When and by whom tamilnadu school breakfast scheme has been extended?)

दोस्तों, आपको बता दें कि शुरुआती दौर में तमिलनाडु स्कूल नाश्ता योजना को मिले बेहतरीन रिस्पॉन्स (response) को देखते हुए सरकार वहां की सरकार द्वारा योजना के विस्तार (extension) का निर्णय लिया गया।

7 जून, 2023 को तमिलनाडु राज्य के शहरी एवं ग्रामीण क्षेत्रों (urban and rural areas) को मिलाकर कुल 31,008 सरकारी प्राथमिक विद्यालयों में नाश्ता योजना के विस्तार (extension) का आदेश जारी कर दिया गया। इसका लाभ प्रदेश के लगभग 1.7 मिलियन स्कूली बच्चों को होगा। मुख्यमंत्री एमके स्टालिन द्वारा नागतिपट्टम जिले स्थित तिरुक्कुवलाई में एक स्कूल में बच्चों को स्वयं नाश्ता परोसकर इस योजना के विस्तार (extension) का शुभारंभ किया गया।

दोस्तों, विशेष बात यह है कि यह स्थान तमिलनाडु के पूर्व मुख्यमंत्री (ex CM) एवं डीएमके (DMK) के बड़े नेता एम करुणानिधि (M Karunanidhi) का जन्म स्थान भी है। चेन्नई (Chennai) में स्टालिन के बेटे एवं कैबिनेट मंत्री उदयनिधि स्टालिन (Udaynidhi Stalin) द्वारा इस योजना के विस्तार को हरी झंडी दिखाई गई। इसके अलावा निर्वाचित प्रतिनिधियों द्वारा संबंधित निर्वाचन क्षेत्रों में एक सरकारी प्राथमिक विद्यालय (government primary schools) में योजना के विस्तार का शुभारंभ किया गया।

तमिलनाडु स्कूल नाश्ता योजना के लिए कितना बजट निर्धारित किया गया है? (How much budget is set aside for Tamilnadu school breakfast scheme?)

मित्रों, आइए अब तमिलनाडु स्कूल नाश्ता योजना (Tamilnadu school breakfast scheme) के बजट के बारे में जान लेते हैं। दोस्तों, आपको बता दें कि यह तमिलनाडु सरकार की बेहद महत्वाकांक्षी योजना है। इस जनपरक योजना के लिए तमिलनाडु की स्टालिन सरकार (Stalin government) पैसे की कोई कमी नहीं रखना चाहती। लिहाजा इस योजना के लिए उसके द्वारा फिलहाल 404 करोड रुपए का बजट रखा गया है।

तमिलनाडु स्कूल नाश्ता योजना के जरिए बच्चों को कितना पोषण प्रदान करने का लक्ष्य रखा गया है? (What target of nutrition has been set to give a child under tamilnadu school breakfast scheme?)

साथियों, आपको जानकारी दे दें कि तमिलनाडु प्रदेश सरकार द्वारा स्कूल नाश्ता योजना के दायरे में आने वाले बच्चों को हर रोज औसत रूप से 293 कैलोरी एवं 9.85 ग्राम प्रोटीन प्रदान करने का लक्ष्य रखा गया है। दोस्तों, आपको बता दें कि स्कूलों में छात्रों को पहले से केंद्र की योजना के तहत दिए जा रहे मिड डे मील में औसतन 553 कैलोरी और 18 ग्राम प्रोटीन होता है। इस प्रकार, स्कूल नाश्ता योजना के तहत मिल रहे पोषण को भी मिला दें तो छात्र हर रोज 846 कैलोरी एवं लगभग 28 ग्राम प्रोटीन हासिल करता है।

तमिलनाडु स्कूल नाश्ता योजना के तहत नाश्ते का मेन्यू क्या है? (What is the menu of breakfast under Tamilnadu school breakfast scheme?)

दोस्तों, तमिलनाडु स्कूल नाश्ता योजना के अंतर्गत सरकार का जोर इस बात पर भी है कि बच्चों को सप्ताह में दो दिन मोटे अनाज जैसे बाजरा से बने व्यंजन मिलें, जो कि सेहत के लिए बेहतर माने जाते हैं। इसके अलावा प्रत्येक छात्र को सब्जियों के सांबर के साथ 150-500 ग्राम का पका हुआ भोजन बतौर नाश्ता उपलब्ध कराया जाएगा। तमिलनाडु स्कूल नाश्ता योजना का मेन्यू आम तौर पर इस प्रकार से रहता है-

सोमवार (Monday)सब्जियों के सांभर संग उपमा चावल/रवा उपमा/गेहूं उपमा।
मंगलवार (Tuesday)सब्जियों के सांभर संग रवा खिचड़ी/वेजिटेबल खिचड़ी।
बुधवार (Wednesday) रवा पोंगल के साथ वेजिटेबल सांभर।
बृहस्पतिवार (Thursday)रवा उपमा एवं चावल/रवा केसरी।
शुक्रवार (Friday): रवा खिचड़ी/वेजिटेबल खिचड़ी एवं रवा केसरी

(इस मेन्यू में कभी भी बदलाव संभव है।)

बच्चों के लिए सुबह का नाश्ता क्यों आवश्यक है?

बच्चों को वयस्कों से अधिक ऊर्जा की आवश्यकता होती है। लिहाजा उन्हें सुबह का नाश्ता दिया जाना आवश्यक है।

बच्चों को सुबह का नाश्ता ना मिले तो क्या होता है?

सुबह का नाश्ता न मिलने से बच्चे थके हुए, चिड़चिड़े एवं बेचैन से रहते हैं।

तमिलनाडु स्कूल नाश्ता योजना किस सरकार की योजना है?

जैसा कि नाम से स्पष्ट है, यह तमिलनाडु सरकार की योजना है।

तमिलनाडु स्कूल नाश्ता योजना को किसके द्वारा शुरू किया गया?

तमिलनाडु स्कूल नाश्ता योजना को तमिलनाडु के मुख्यमंत्री एमके स्टालिन द्वारा शुरू किया गया।

इस योजना का विस्तार कब किया गया है?

इस योजना का विस्तार 25 अगस्त 2023 को किया गया है।

download app

इस योजना को विस्तार दिए जाने का क्या कारण था?

स्कूल नाश्ता योजना को मिला शुरुआती अच्छा रिस्पांस इस योजना को विस्तार दिए जाने का कारण था।

तमिलनाडु स्कूल नाश्ता योजना का उद्देश्य क्या है?

इस योजना के मुख्य उद्देश्य स्कूलों में बच्चों की उपस्थिति में सुधार करना, उन्हें कुपोषण से दूर रखना एवं कामकाजी माता के ऊपर से बोझ कम करना है।

तमिलनाडु स्कूल नाश्ता योजना का मेन्यू क्या है?

इस मेन्यू की जानकारी हमने आपको ऊपर पोस्ट में विस्तार से दी है। आप वहां से देख सकते हैं।

तमिलनाडु स्कूल योजना का लाभ राज्य के कितने बच्चों को मिलेगा?

इस योजना का लाभ तमिलनाडु राज्य के 31 हजार से भी अधिक स्कूलों के 1.7 मिलियन बच्चों को मिलेगा।

इस योजना के लिए कुल कितना बजट रखा गया है?

तमिलनाडु सरकार द्वारा इस योजना के लिए कुल 404 करोड रुपए का बजट रखा गया है।

दोस्तों, इस पोस्ट (post) में हमने आपको तमिलनाडु स्कूल नाश्ता योजना के संबंध में विस्तार से जानकारी दी। उम्मीद है कि इस योजना से तमिलनाडु में रहने वाले आपके मित्र/परिचितगण लाभ उठा सकेंगे। आप उनके साथ इस पोस्ट को अधिक से अधिक शेयर करें। इस पोस्ट के संबंध में आपके प्रत्येक सवाल एवं सुझाव का भी स्वागत है। ।।धन्यवाद।।

प्रवेश
प्रवेश
मास मीडिया क्षेत्र में अपनी 15+ लंबी यात्रा में प्रवेश कुमारी कई प्रकाशनों से जुड़ी हैं। उनके पास जनसंचार और पत्रकारिता में मास्टर डिग्री है। वह गढ़वाल विश्वविद्यालय, श्रीनगर से वाणिज्य में मास्टर भी हैं। उन्होंने गुरुकुल कांगड़ी विश्वविद्यालय से व्यक्तिगत प्रबंधन और औद्योगिक संबंधों में डिप्लोमा भी किया है। उन्हें यात्रा और ट्रेकिंग में बहुत रुचि है। वह वाणिज्य, व्यापार, कर, वित्त और शैक्षिक मुद्दों और अपडेट पर लिखना पसंद करती हैं। अब तक उनके नाम से 6 हजार से अधिक लेख प्रकाशित हो चुके हैं।
WordPress List - Subscription Form
Never miss an update!
Be the first to receive the latest blog post directly to your inbox. 🙂

Leave a Comment