सुकन्या समृद्धि योजना में 1000 जमा करने पर कितना मिलेगा? सुकन्या समृद्धि योजना कैल्कुलेटर

|| सुकन्या समृद्धि योजना में 4000 जमा करने पर कितना मिलेगा, सुकन्या समृद्धि योजना में 5000 जमा करने पर कितना मिलेगा, सुकन्या समृद्धि योजना में 50000 जमा करने पर कितना मिलेगा, सुकन्या समृद्धि योजना में २००० जमा करने पर कितना मिलेगा, सुकन्या समृद्धि योजना में 2000 जमा करने पर कितना मिलेगा 2024 ||

प्रत्येक मां बाप अपनी बच्चियों को अच्छी शिक्षा देना चाहते हैं। शान से उसकी करना चाहते हैं। कुल मिलाकर उसका भविष्य बेहतर बनाना चाहते हैं। इसके लिए वे विभिन्न बचत योजनाओं में निवेश भी करते हैं। इसी प्रकार की एक योजना केंद्र सरकार द्वारा भी सुकन्या समृद्धि योजना नाम से एक ऐसी ही योजना चलाई जा रही है, जिसमें निवेश करके वे अपनी बच्चियों को एक अच्छी खासी धनराशि का स्वामी बना सकते हैं। आइए, आज इस पोस्ट में जान लेते हैं कि सुकन्या समृद्धि योजना में जमा करने पर एक निवेशक को कितना मिलेगा-

Contents show

सुकन्या समृद्धि योजना को आप कितना जानते हैं? (How much do you know about sukanya samridhi yojana?)

सबसे पहले सुकन्या समृद्धि योजना के बारे में थोड़ी जानकारी कर लेते हैं। इस योजना का नाम तो आपने अवश्य सुना होगा। यह योजना केंद्र सरकार बेटियों के लिए लेकर आई थी। मूल रूप से यह एक बचत योजना (saving scheme) एवं केंद्र सरकार द्वारा चलाए जा रहे ‘बेटी बचाओ, बेटी पढाओ’ अभियान का ही एक हिस्सा है।

इस योजना के अंतर्गत 10 वर्ष से कम उम्र की बालिकाओं के माता-पिता अथवा कानूनी अभिभावक द्वारा बालिकाओं का उनके नाम पर अकाउंट खोला जाता है। यह अकाउंट बैंकों एवं पोस्ट ऑफिस में खोला जा सकता है। इस खाते में न्यूनतम डिपॉज़िट राशि 250 रुपए रखी गई है, जबकि कोई व्यक्ति इसमें एक वित्तीय वर्ष में अधिकतम 1.5 लाख रुपए जमा करा सकता है। इस एकाउंट को 21 वर्ष तक अथवा 18 वर्ष की आयु के पश्चात उसका विवाह होने तक चलाया जा सकता है।

सुकन्या समृद्धि योजना में जमा करने पर कितना मिलता है? (How much one can get after depositing in sukanya samridhi yojana?)

यह एक बेहद महत्वपूर्ण जानकारी है। जो भी व्यक्ति अपनी पुत्री के लिए सुकन्या समृद्धि योजना में अपना पैसा निवेश कर रहा है, वह जानना चाहता है कि इस योजना में पैसा जमा करने पर उसे आखिर में कितना पैसा मिलेगा? तो आपको पहले आप यह जान लीजिए कि वर्तमान में इस योजना में जमा पर ब्याज दर 7.6% प्रति वर्ष निर्धारित की गई है। वित्त वर्ष 2022-23 की पहली तिमाही के बाद से अब तीसरी तिमाही (अक्टूबर से लेकर दिसंबर 2022 तक) के लिए, इस योजना की ब्याज दरों में कोई बदलाव नहीं किया गया है।

सुकन्या समृद्धि योजना में जमा करने पर कितना मिलेगा? सुकन्या समृद्धि योजना कैल्कुलेटर

विशेष बात यह है कि इस योजना में जमा को इनकम टैक्स अर्थात आयकर अधिनियम -1961 की धारा 80(C) के तहत छूट प्रदान की जाती है। यह आप भी जानते होंगे कि किसी भी निवेश का लाभ इस आधार पर निर्धारित किया जा सकता है कि समय के साथ निवेश में कितनी बढ़ोतरी हुई है। सुकन्या समृद्धि योजना में निवेश करके आपको कितना मिलेगा, यह आप निम्न प्रकार से आंकलित कर सकते हैं-

मान लीजिए, बालिका का जन्म वर्ष 2020 है। इसी वर्ष से माता-पिता उसके नाम पर सुकन्या समृद्धि योजना के अंतर्गत अकाउंट खुलवाते हैं। प्रतिमाह एक हजार रुपए के हिसाब से वे प्रति वर्ष इसमें 12 हजार रुपए जमा किया जाना सुनिश्चित करते हैं। यदि वे यह अकाउंट 21 साल तक चलाते हैं तो उन्हें प्राप्त होने वाली मैच्योरिटी राशि निम्न प्रकार से होगी-

  • प्रतिमाह निवेश = 1,000 रुपए
  • वार्षिक निवेश = 12,000 रुपए
  • निवेश की अवधि =15 वर्ष
  • 15 वर्ष के अंत तक निवेश की गई कुल धनराशि = 1,80,000 रुपए
  • 1 वर्ष के लिए ब्याज दर = 7.6%
  • 21 वर्ष तक पैसा जमा रहने पर कुल ब्याज जुड़ेगा =-3,29,212 रुपए
  • 21 साल के बाद कुल जमा+कुल ब्याज जोड़कर पैसा मिलेगा-
  • 5,09,212 रुपए

हरियाणा मुख्यमंत्री परिवार समृद्धि योजना 2024 पंजीकरण ऑनलाइन आवेदन

क्या किसी बालिका के नाम एक से अधिक अकाउंट खोले जा सकते हैं? (Can many accounts be opened in the name of one girl?)

बहुत से अभिभावकों की इच्छा होती है कि वे अपनी बच्ची के नाम एक से अधिक एकाउंट खुलवाएं, क्योंकि एक एकाउंट में वे अधिकतम सीमित मात्रा में जमा कर सकते हैं। लेकिन ऐसा चाहने वाले अभिभावकों के हाथ केवल निराशा लगेगी, क्योंकि एक से अधिक सुकन्या समृद्धि अकाउंट नहीं खोले जा सकते।

एक परिवार को केवल दो ही सुकन्या समृद्धि अकाउंट खोलने की इजाजत है। अर्थात दो बालिकाएं होने पर दोनों के लिए एक-एक अकाउंट। केवल कुछ विशेष मामलों में ही दो से अधिक बालिकाओं के लिए सुकन्या समृद्धि अकाउंट खोले जा सकते हैं। जैसे-यदि दूसरी बच्ची जुड़वां पैदा हुई हो अथवा किसी महिला के एक साथ तीन बच्चे पैदा हुए हों। लेकिन यदि जुड़वां बच्चियों के पश्चात एक लड़की का जन्म होता है तो ऐसी स्थिति में तीसरा सुकन्या समृद्धि अकाउंट नहीं खोला जा सकता है।

सुकन्या समृद्धि योजना मुख्य मुख्य किस प्रकार के लाभ प्रदान करती है? (What are the main benefits sukanya samridhi yojana offers?)

यदि आप भी अपनी बालिका के लिए सुकन्या समृद्धि योजना के अंतर्गत खाता खुलवाने की मंशा बना रहे हैं तो वह आवश्यक है कि आप इसके तहत मिलने वाले सभी लाभों के विषय में जानें, जो कि निम्न प्रकार से हैं-

गारंटीड रिटर्न–

सुकन्या समृद्धि योजना के सरकार समर्थित योजना होने की वजह से यह योजना अपने निवेशकों को गारंटीड रिटर्न प्रदान करती है।

अधिक ब्याज दर–

सुकन्या समृद्धि योजना बेहतर ब्याज दर वाली योजना है। इस योजना में वर्तमान में वित्तीय वर्ष 2022-23 की पहली तिमाही के मुताबिक ही 7.6% की दर से ब्याज प्रदान किया जा रहा है।

टैक्स लाभ–

सुकन्या समृद्धि योजना की धारा 80C के अंतर्गत इस योजना में निवेश पर टैक्स में सालाना 5 लाख रुपए तक की छूट मिलती है। दरअसल, टैक्स के नजरिए से सुकन्या समृद्धि निवेश को EEE निवेश अर्थात जिस निवेश पर टैक्स लागू नहीं होता, के रूप में नामित किया गया है। इसका अर्थ यह है कि निवेश किए गए मूलधन व ब्याज के साथ-साथ मैच्योरिटी अमाउंट पर भी टैक्स नहीं लगेगा।

सुविधा के अनुसार निवेश –

कोई भी व्यक्ति इस योजना में अपनी सुविधा एवं आर्थिक स्थिति के अनुसार एक वर्ष में न्यूनतम 250 रुपए से लेकर अधिकतम 1.5 लाख रुपए. तक निवेश कर सकता है।

कंपाउंडिंग का लाभ–

सुकन्या समृद्धि योजना (SSY) एक लंबी अवधि की निवेश योजना है। ऐसे में यदि आप कम निवेश भी करते हैं तो भी आपको शानदार रिटर्न मिलेगा। क्योंकि यह योजना वार्षिक कंपाउंडिंग (चक्रवृद्धि) ब्याज का लाभ प्रदान करती है।

आसानी से ट्रांसफर–

सुकन्या समृद्धि खाते को देश के एक हिस्से से दूसरे (बैंक/ पोस्ट आफिस) में स्वतंत्र रूप से ट्रांसफर किया जा सकता है। ऐसे में ट्रांसफर वाली नौकरी से जुड़े माता पिता को सुविधा हो जाती है। इसके लिए उन्हें केवल एक ट्रांसफर रिक्वेस्ट फॉर्म भरकर उसे इंडिया पोस्ट ऑफिस के पोस्ट मास्टर के पास जमा करना होगा, जहां आपका अकाउंट खुला है। यदि आप एक बैंक शाखा से दूसरी शाखा में डिपॉज़िट अकाउंट ट्रांसफर करना चाहते हैं तो भी इसी प्रकार के ट्रांसफर फॉर्म जमा करने होंगे। ये फार्म ऑनलाइन और ऑफलाइन दोनों प्रकार से उपलब्ध हैं।

15 साल तक पैसा जमा करने पर मैच्योरिटी तक ब्याज –

खाता खोलने की तारीख से 15 साल तक हर साल कम से कम न्यूनतम राशि अकाउंट में जमा करनी होती है। इसके बाद अकाउंट में मैच्योरिटी तक ब्याज मिलता रहता है। चाहे आपने इसके पश्चात कोई रकम डिपाजिट न की हो। यह इस योजना का बड़ा लाभ है।

डिफाल्ट अकाउंट पर भी मैचोरिटी तक ब्याज-

बहुत से लोगों की आर्थिक स्थिति ऐसी होती है कि वे सुकन्या समृद्धि योजना में पैसा जमा करना शुरू तो करते हैं, लेकिन उसे जारी नहीं रख पाते। ऐसे में यदि कोई खाताधारक योजना में निर्धारित 250 रुपए की न्यूनतम राशि भी जमा नहीं कर पाता तो उसके अकाउंट को डिफ़ाल्ट अकाउंट कहा जाता है। लेकिन इस योजना के साथ अच्छी बात यह है कि खाताधारक को उसके डिफाल्ट अकाउंट पर भी मैच्योरिटी की तारीख तक ब्याज मिलता रहेगा।

डिफ़ाल्ट अकाउंट को रिवाइव करने की सुविधा-

इस योजना के साथ एक लाभ यह भी है कि डिफॉल्ट किए गए अकाउंट को रिवाइव भी किया जा सकता है। इसके लिए अकाउंट खोलने के 15 साल पूरे होने से पहले न्यूनतम 250 रुपए + 50 रुपए (जुर्माना) देकर अकाउंट को रिवाइव किए जाने की सुविधा दी गई है।

बालिका स्वयं अपना अकाउंट मैनेज कर सकती है-

इस योजना में एक बालिका 18 वर्ष की आयु पूरी करने के पश्चात अपना अकाउंट स्वयं मैनेज कर सकती है। इसके लिए उसे ऑफिस/बैंक, जहां उसका अकाउंट है, में अपने सभी आवश्यक दस्तावेज़ जमा करने होंगे।

पढ़ाई के लिए 50 प्रतिशत तक पैसा निकालने की सुविधा-

बालिका की पढ़ाई की सुविधा के लिहाज से यह योजना अच्छी सुविधा देती है। जैसे-लड़की की उम्र 18 वर्ष से अधिक होने पर अथवा उसके 10वीं पास करने के पश्चात आगे की पढ़ाई के लिए उसके अकाउंट से 50% तक पैसा निकाला जा सकता है। यह पैसा एक साथ अथवा किश्तों में लिया जा सकता है। यह भी जान लीजिए कि यह पैसा एक साल में केवल एक बार एवं अधिकतम पांच साल तक लिया जा सकता है।

क्या सुकन्या समृद्धि योजना समय से पहले बंद की जा सकती है? (When sukanya samridhi yojana can be closed?)

अब प्रश्न उठता है कि क्या सुकन्या समृद्धि योजना समय से पूर्व बंद की जा सकती है? यह भी बालिका के हाथों में है। 18 वर्ष की हो जाने के पश्चात बालिका द्वारा विवाह के खर्च के लिए इस अकाउंट को समय से पूर्व बंद किया जा सकता है। यद्यपि कुछ ऐसी विशेष स्थितियां भी हैं, जिनमें इस खाते को बंद किया जा सकता है एवं अकाउंट में जमा राशि निकाली जा सकती है। ये स्थितियां निम्न प्रकार से हैं-

खाताधारक की अचानक मौत होने पर- यदि बालिका की अचानक मौत हो जाती है, तो माता- पिता अथवा उसके कानूनी अभिभावक अकाउंट में जमा राशि एवं उस पर अर्जित ब्याज को निकाल सकते हैं। इस खाते के नॉमिनी के अकाउंट में यह राशि तुरंत जमा कर दी जाती है। इसके लिए उसके माता- पिता या कानूनी अभिभावक को खाताधारक की मृत्यु संबंधित दस्तावेज, जो संबंधित अधिकारियों द्वारा वेरिफाई हों, जमा कराने होंगे।

अकाउंट जारी रखने में असमर्थता: यदि केंद्र सरकार द्वारा कोई निर्देश जारी कर अकाउंट बंद करने में असमर्थता जताई जाती है
तो सुकन्या समृद्धि अकाउंट समय से पूर्व बं‍द किया जा सकता है।

यदि निवेशक की आर्थिक स्थिति ठीक न हो- यदि अकाउंट में निवेश करने की वजह से जमाकर्ता को किसी भी प्रकार की आर्थिक कठिनाई का सामना करना पड़ रहा है तो इसे बंद किया जा सकता है।

सुकन्या समृद्धि योजना के लिए आवेदन कैसे करें? (How to apply for sukanya samridhi yojana?)

यदि आप अपनी बालिका के लिए सुकन्या समृद्धि योजना (SSY) में खाता खोलना चाहते हैं तो इसकी प्रक्रिया बेहद आसान है। जानिए, आपको कौन कौन से क़दम उठाने होंगे-

  • आवेदन फॉर्म पास के पोस्ट ऑफिस या इसमें शामिल सार्वजनिक/ निजी क्षेत्र के बैंक से प्राप्त करें।
  • आप चाहें तो रिजर्व बैंक आफ इंडिया/इंडिया पोस्ट की वेबसाइट के अलावा सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों जैसे -SBI, PNB, BOB के साथ ही आदि निजी क्षेत्र के बैंकों, जैसे, ICICI बैंक, एक्सिस बैंक एवं HDFC आदि की वेबसाइट से भी खाता आवेदन फॉर्म डाउनलोड कर सकते हैं।
  • इस फार्म में बालिका के साथ ही उसकी ओर से खाता खोलने/ निवेश करने वाले माता-पिता/ अभिभावक की जानकारी भरनी होगी। जैसे-
  1. बालिका का नाम (प्राथमिक खाता धारक)।
  2. अकाउंट खोलने वाले माता-पिता/अभिभावक का नाम (संयुक्त खाताधारक धारक)।
  3. प्रारंभिक जमा राशि।
  4. जमा राशि का चेक/डीडी नंबर एवं दिनांक (प्रारंभिक जमा के लिए उपयोग हेतु)।
  5. बालिका की जन्म तिथि।
  6. बालिका के जन्म प्रमाण पत्र का विवरण, जैसे-प्रमाण पत्र संख्या, जारी करने की तारीख आदि।
  7. माता-पिता/अभिभावक का पहचान पत्र, जैसे-ड्राइविंग लाइसेंस, आधार कार्ड आदि।
  8. वर्तमान एवं स्थाई पता (माता-पिता/अभिभावक की आईडी के मुताबिक)।
  9. किसी अन्य KYC दस्तावेज की जानकारी (पैन कार्ड, वोटर आईडी कार्ड आदि)।
  10. फार्म भरने के पश्चात आवश्यक दस्तावेजों की कॉपी संलग्न कर फार्म को पोस्ट ऑफिस/बैंक में जमा करा दें।

सुकन्या समृद्धि योजना क्या है?

यह योजना मूलतः एक बचत योजना है। यह केंद्र की बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ योजना का हिस्सा है।

सुकन्या समृद्धि योजना में न्यूनतम कितनी राशि जमा की जा सकती है?

सुकन्या समृद्धि योजना में न्यूनतम 250 रुपए जमा किए जा सकते हैं।

सुकन्या समृद्धि योजना में अधिकतम कितनी राशि जमा की जा सकती है?

सुकन्या समृद्धि योजना में अधिकतम 1.5 लाख रुपए की राशि जमा की सकती है।

download app

सुकन्या समृद्धि योजना की मैच्योरिटी अवधि क्या है?

इस योजना की मैच्योरिटी अवधि 15 वर्ष है।

सुकन्या समृद्धि योजना कब बंद की जा सकती है?

यह योजना किन स्थितियों में बंद की जा सकती है, इसकी डिटेल्स हमने आपको पोस्ट में बताई है।

क्या एक बालिका के नाम एक से अधिक अकाउंट खोले जा सकते हैं?

जी नहीं, एक बालिका के नाम एक से अधिक अकाउंट नहीं खोले जा सकते।

वर्तमान में सुकन्या समृद्धि योजना में जमा पर कितना ब्याज मिल रहा है?

वर्तमान में इस योजना पर 7.6 प्रतिशत वार्षिक की दर से ब्याज मिल रहा है।

इस पोस्ट में हमने आपको बताया कि आपको सुकन्या समृद्धि योजना के अंतर्गत जमा करने पर कितना मिलेगा। उम्मीद करते हैं कि इसकी पूरी कैलकुलेशन आपको समझ में आ गई होगी। बालिकाओं के माता पिता एवं अभिभावकों के हितार्थ इस पोस्ट को अधिक से अधिक शेयर करें। धन्यवाद।

————————-

मृदुला वर्मा
मृदुला वर्मा
मृदुला हिंदी में स्नातकोत्तर हैं। उसके पास बीएड की डिग्री भी है। वह अध्यापन के पेशे में हैं और जब शैक्षिक विषयों की बात आती है तो उन्हें लिखना अच्छा लगता है। वह वंचितों के लिए शिक्षा की प्रबल समर्थक और सभी के लिए शिक्षा की हिमायती हैं। उनकी रुचि में समाजसेवा, लेखन और लोगों से बात कर उनकी समस्याओं को जानना शामिल था ताकि वे उन्हें हल करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकें।
WordPress List - Subscription Form
Never miss an update!
Be the first to receive the latest blog post directly to your inbox. 🙂

Leave a Comment