स्मार्ट राशन कार्ड ऑनलाइन आवेदन कैसे करें? आवेदन पत्र, Smart Ration Card Apply 2021

सरकार डिजिटलीकरण की ओर बढ़ रही है। एक एक करके सभी सेवाओं को स्मार्ट बनाया जा रहा है। इसी क्रम में उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड समेत अन्य राज्यों में भी सरकार राशन कार्ड को भी स्मार्ट बनाने जा रही है। इसके लिए वह स्मार्ट राशन कार्ड योजना लेकर आई है। आज इस पोस्ट में हम आपको इसी योजना की जानकारी देंगे और साथ ही यह भी बताएंगे कि इस योजना के लिए online आवेदन कैसे किया जा सकता है।

यदि आप भी इस सेवा के बारे में पूरी जानकारी प्राप्त करना चाहते हैं तो आपको बस इस पोस्ट (post) को अंत तक ध्यान से पढ़ना है। आइए, शुरू करते हैं-

स्मार्ट राशन कार्ड क्या है? What is a smart ration card?

दोस्तों, आपको बता दें कि खाद्य एवं सुरक्षा योजना के तहत स्मार्ट राशन कार्ड बनाए जा रहे हैं। इसमें एक क्यू आर कोड (QR code) होगा, जिसे स्कैन (scan) करके उपभोक्ता से जुड़ी सारी जानकारी सामने होगी। ये कार्ड आधार से link होंगे और इनमें फीडिंग electronic होगी। ऐसे में राशन चोरी पर लगाम लगेगी और राशन देने में गड़बड़ी करना संभव नहीं होगा। इस कार्ड का इस्तेमाल स्मार्ट कार्ड रीडर और राइटर के जरिये होगा। कोटेदार स्मार्ट कार्ड को मशीन में लगाकर देखेंगे कि उपभोक्ता कितने राशन का हकदार है और फिर उसे उसी तौल में राशन दिया जाएगा। यानी एक एक तौर का हिसाब रहेगा। इस तरह से हर transaction की monitoring होती रहेगी।

स्मार्ट राशन कार्ड ऑनलाइन आवेदन कैसे करें? आवेदन पत्र, Smart Ration Card Apply 2021

योजना का नाम  स्मार्ट राशन कार्ड 2021
विभाग खाद्य और नागरिक आपूर्ति विभाग
उद्देश्य सभी को पूर्ण रूप से राशन उपलब्ध हो
आवेदन का तरीका ऑफलाइन /ऑनलाइन
आधिकारिक वेबसाइट http://fcs.uk.gov.in

स्मार्ट राशन कार्ड के लाभ – Benefits of smart ration card

साथियों, अब आपको बताते हैं कि स्मार्ट राशन कार्ड के क्या-क्या लाभ हैं-

  • राशन प्रणाली डिजिटाइज हो जाएगी। राशन का online ब्योरा होगा। इससे मानिटरिंग की प्रक्रिया आसान हो जाएगी।
  • इस स्मार्ट राशन कार्ड में एक क्यूआर कोड होगा, जिससे हकदार को ही राशन मिलेगा।
  • राशन कार्ड में होने वाला भ्रष्टाचार रूक सकेगा। किसी और का राशन किसी और को नहीं दिया जा सकेगा।
  • उपभोक्ता को राशन मिला या नहीं, इस पर भी आसानी से नजर रखी जा सकेगी।
  • इस कार्ड को आधार से लिंक किया जाएगा, जिससे राशन घोटाले पर रोक लग सकेगी।
  • परिवार के सभी सदस्यों को एक ही कार्ड से जोड़ जाएगा, इससे फर्जी तरीके से बनने वाले राशन कार्डों पर रोक लगेगी।
  • केवल कार्डधारक परिवार के मुखिया को ही राशन मिलेगा, कोई अन्य इस कार्ड से राशन नहीं ले सकेगा।

Also Read –

स्मार्ट राशन कार्ड बनवाने को आवश्यक दस्तावेज – Documents required for smart ration card

मित्रों, अब आपको जानकारी देते हैं कि यदि आप अपना राशन कार्ड बनवाना चाहते हैं तो आपको उसके लिए किन-किन दस्तावेजों की आवश्यकता होगी। यह दस्तावेज वह हैं, जो इस बात के परिचायक हैं कि आपने अपनी पहचान, अपने आवास और संपर्क आदि की सही सही जानकारी फॉर्म में दी है। योजना के लाभ से पूर्व खाद्य एवं आपूर्ति विभाग की ओर से इन दस्तावेजों का सत्यापन किया जाता है। इसके बाद ही योजना का लाभ दिया जाता है। यह दस्तावेज इस प्रकार से हैं-

  • आवेदक का आधार कार्ड
  • आवेदक का पहचान पत्र
  • एंव आवेदक का मोबाइल नंबर
  • आवेदक का निवास प्रमाण पत्र
  • आवेदक की पासपोर्ट साइज फोटो

Also Read –

किसी भी शिकायत का त्वरित निराकरण संभव –

सबसे पहले बात देश के सबसे बड़े राज्य उत्तर प्रदेश की। आपको बता दें कि उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अधिक से अधिक उपभोक्ताओं से राशन कार्ड के लिए आवेदन करने की अपील की है। यह स्मार्ट कार्ड मूल रूप से सामान्य राशन कार्ड का ही नया स्वरूप है, जिसके इस्तेमाल से आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग के परिवारों को सरकार रियायती दरों पर खाद्य पदार्थ मुहैया कराती है।

जनता को अन्य योजनाओं का लाभ दिया जाता है। कमजोर परिवारों को जीवनयापन करने में बुनियादी सुविधाओं का लाभ प्राप्त होता है। इस स्मार्ट राशन कार्ड के बन जाने से जहां गड़बड़ियों पर लगाम लगेगी, वहीं किसी भी शिकायत का त्वरित निराकरण भी संभव होगा। सारी जानकारी ऑनलाइन होने से विभाग किसी भी उपभोक्ता का डाटा एक क्लिक पर निकाल सकेगा। उसे तमाम तरह की फाइलों को खंगालने की आवश्यकता नहीं होगी।

उत्तराखंड में 23 लाख को मिलेंगे राशन कार्ड –

उत्तराखंड की बात करें तो कि इस योजना के तहत यहां के 23 लाख से भी अधिक राशन कार्ड धारकों को यह कार्ड मिलेंगे। वह अपने वर्तमान राशन कार्ड को रिन्यू कराकर उसे स्मार्ट राशन कार्ड में तब्दील कर सकते हैं। जिन उपभोक्ताओं ने राशन कार्ड के लिए आवेदन किया है, सबसे पहले उनके स्मार्ट राशन कार्ड बनाए जाएंगे। इसके पश्चात अन्य उपभोक्ताओं के स्मार्ट राशन कार्ड बनाए जाएंगे। टेंडर के बाद एजेंसी को छपाई के लिए उपभोक्ताओं को लिस्ट दी जाने शुरू हो चुकी है।

अब शासन की ओर से छपाई का आदेश आते ही स्मार्ट कार्ड बनने का काम शुरू हो जाएगा। उत्तराखंड की राजधानी देहरादून की बात करें तो इस जिले में एक हजार से अधिक सस्ते गल्ले की दुकानें हैं। इनमें से करीब पौने चार लाख राशन कार्ड हैं। जिनमें सवा दो लाख सफेद कार्ड राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम (NFSA) के तहत बने हैं। वहीं, 15 हजार कार्ड अंत्योदय हैं, जबकि पीले कार्ड करीब डेढ़ लाख हैं।

स्मार्ट कार्ड की फीस क्या है? What is the fee for a smart card?

बताया जा रहा है कि उपभोक्ताओं को स्मार्ट कार्ड मुफ्र्त में नहीं मिलेंगे। इसके लिए उन्हें कुछ स्मार्ट शुल्क चुकाना पड़ सकता है। उत्तराखंड में स्मार्ट कार्ड नवीनीकरण की फीस बेहद मामूली है। यह केवल 17 रूपये रखी गई है। जिन उम्मीदवारों के राशन कार्ड में गडबड़ी है और उपभोक्ता डुप्लीकेट कार्ड चाहता है तो यह बनवाने के लिए उसे बतौर शुल्क 25 रूपये चुकाने होंगे। किसी राज्य में यह शुल्क 50 रूपये तक हो सकता है।

स्मार्ट कार्ड पर विभागीय अधिकारी के हस्ताक्षर आवश्यक हैं। उपभोक्ता को नया कार्ड बनवाते वक्त पुराने कार्ड को जमा करना होगा। वह इस कार्ड को अपने पास नहीं रख सकेगा। दोस्तों, आपको यह भी बता दें कि सबसे पहले उन राशन डीलरों की दुकानों के उपभोक्ताओं के राशन कार्ड बनेंगे, जिनके 90 प्रतिशत उपभोक्ताओं के सत्यापन का कार्य पूरा हो चुका है। इस स्मार्ट कार्ड के जरिये राशन आवंटन में पारदर्शिता आएगी।

इससे उपभोक्ताओं को राशन आसानी से मिल पाएगा। उत्तर प्रदेश सरकार इस संबंध में जागरूकता जगाने की भी कोशिश कर रही है। वह तरह तरह के विज्ञापन देकर लोगों से लोगों के लिए राशन कार्ड बनवाने की अपील कर रही है, ताकि जिन लोगों के लिए सरकारी योजनाएं शुरू की गई हैं, उन तक इसका लाभ पहुंच सके।

उत्तराखंड स्मार्ट राशन कार्ड कैसे बनवाये? The process to apply for a smart ration card

दोस्तों, यदि आप उत्तर प्रदेश या उत्तराखंड में निवास करते हैं और राशन कार्ड के लिए आवेदन करना चाहते हैं तो उसकी प्रक्रिया इस प्रकार से है-

  • सबसे पहले आपको संबंधित राज्य की खाद्य एवं आपूर्ति विभाग की official https://fcs.uk.gov.in/ वेबसाइट पर जाना होगा। इसके पश्चात आपके सामने वेबसाइट का होम पेज खुल जाएगा।
  • यहां पर आपको डाउनलोडस का आप्शन दिखाई देगा। आपको इस विकल्प पर क्लिक करना होगा।
  • इसके पश्चात आपके सामने नया पेज खुल जाएगा। यहां आपको राशन कार्ड एप्लिकेशन फॉर्म के विकल्प पर क्लिक करना होगा।

उत्तराखंड स्मार्ट राशन कार्ड कैसे बनवाये? The process to apply for a smart ration card

  • इसके बाद आपके सामने एप्लिकेशन फॉर्म की पीडीएफ खुल जाएगी। इस एप्लिकेशन फॉर्म को डाउनलोड करने के बाद आपको इसमें पूछी गई सभी जानकारी भरनी होगी। डायरेक्ट डाउनलोड करने के लिए यहाँ क्लीक करें।
  • पूरी जानकारी भरने के बाद इसका प्रिंट लेकर आपको पूछे गए दस्तावेजों को संलग्न करना होगा। इसके पश्चात फॉर्म को अपने नजदीकी खाद्य एवं आपूर्ति विभाग में जमा करना होगा।
  • सभी दस्तावेजों के सत्यापन के बाद आपको आपका राशन कार्ड निर्गत कर दिया जाएगा।

स्मार्ट राशन कार्ड के लिए ऑनलाइन आवेदन को अभी इंतजार

साथियों, बेशक स्मार्ट राशन कार्ड बनाने के लिए प्रक्रिया विभिन्न राज्यों में सरकार के स्तर पर शुरू करदी गई है, लेकिन अभी उपभोक्ताओं के लिए स्मार्ट राशन कार्ड बनाने को ऑनलाइन आवेदन करने की प्रक्रिया सरकार ने अभी शुरू नहीं की है। जैसे ही यह प्रक्रिया शुरू हो जाएगी, हम आपको उसके संबंध में अवगत कराएंगे। इसके लिए आप लगातार हमारी वेबसाइट चेक करते रहें। जैसे ही सरकार की ओर से इस योजना के संबंध में कोई भी अपडेट आएगा, हम आपको उससे तुरंत अपडेट कराएंगे। सरकार की ओर से किसी भी दिन इस प्रक्रिया को शुरू किया जा सकता है।

मित्रों, आप जानते ही हैं कि सरकार ने कमजोर वर्ग को रियायती दरों पर राशन मुहैया कराने के लिए और विभिन्न सरकारी योजनाओं का लाभ लेने के लिए बतौर पहचान स्वरूप राशन कार्ड जारी किए हैं। कई बार कोटेदारों पर राशन चोरी का आरोप लगता है। विभागीय अधिकारी कोटेदारों के राशन जारी करने में गड़बड़झाला पकड़ते हैं। यह भी होता है कि रियायती दरों पर आए राशन को कोटेदार थोड़े अधिक दाम लेकर अन्य किराने की दुकानों पर बेच देते हैं।

Smart Ration Card Apply 2021 In Hindi

ऐसी शिकायतों की खाद्य विभाग में भरमार रहती है। छापेमारी के बाद कई पकड़े भी जाते हैं और उनकी राशन की दुकानों का लाइसेंस निरस्त हो जाता है। ग्रामीण इलाकों में खास तौर पर इस तरह की शिकायतें आम हैं। वहां राशन कार्ड उपभोक्ताओं में सरकारी योजनाओं के प्रति जागरूकता न होने का फायदा कोटेदार उठाते हैं। वह आम उपभोक्ता के नाम का राशन अन्य दुकानों पर बिक्री करते हैं।

कई बार इस तरह के मामलों में विभागीय अधिकारियों की भी मिलीभगत सामने आती है। ऐसे में स्मार्ट राशन कार्ड आ जाने से रियायती दरों पर राशन खरीदने वालों का हक नहीं मारा जा सकेगा। कोटेदारों की गड़बड़ियों पर रोक लग सकेगी। फिलहाल इंतजार इस बात का है कि स्मार्ट राशन कार्ड बनने की प्रक्रिया जल्द से जल्द पूरी हो जाए।

केंद्र में नरेंद्र मोदी सरकार आने के बाद डिजिटलीकरण की ओर तेजी से कार्य हुआ है। सुविधाओं को जल्द से जल्द ऑनलाइन किए जाने पर जोर दिया जा रहा है, ताकि विभिन्न लोग घर बैठे इन सुविधाओं के लिए आवेदन कर सकें और उनका लाभ उठा सकें। उन्हें अपने किसी भी कार्य के लिए विभागों के चक्कर काटने की आवश्यकता न पड़े। सरकार की ओर से डिजिटल पेमेंट पर भी जोर दिया जा रहा है।

अंतिम शब्द –

इसके लिए विभिन्न एप लांच किए गए हैं, जिनके जरिये लोगों के लिए पैसे का Transaction बेहद आसान रह गया है। कोरोना संक्रमण काल को देखते हुए भी इस कदम को बेहद आवश्यक माना जा सकता है, क्योंकि नकदी के लेन-देन को इस दौरान हतोत्साहित किया जा रहा है।

दोस्तों, यह थी स्मार्ट राशन कार्ड के संबंध में जानकारी। यदि आप हमसे किसी अन्य योजना के बारे में जानकारी चाहते हैं तो हमें नीचे दिए गए कमेंट बाक्स में कमेंट करके बता सकते हैं। यदि आपकी इस स्मार्ट राशन कार्ड योजना के बारे में कोई प्रतिक्रिया या सुझाव है तो हमें उससे अवगत करा सकते हैं। हम सुझाव पर अमल की पूरी कोशिश करेंगे। आपके सवालों का भी हमें इंतजार रहेगा।।।धन्यवाद।।

Spread the love

Leave a Comment