स्माम किसान योजना ऑनलाइन आवेदन, आवश्यक दस्तावेज, लाभ | SMAM Yojana Registration

भारत अभी भी एक कृषि प्रधान देश है और देश की एक बड़ी आबादी खेती से गुजर बसर करती है। लेकिन दोस्तों, यह भी एक कड़वी सच्चाई है कि अधिकांश किसानों की हालत इतनी अच्छी नहीं कि वे खेती को आधुनिक तरीके से कर सकें। इसके लिए उपकरण खरीद सकें। इसलिए केंद्र सरकार ने स्माम किसान योजना शुरू की है। उसका मकसद है कि किसान बेहतर फसल उत्पादन के जरिये अपनी आय में बढ़ोत्तरी कर सकें। हम जानते ही हैं कि केंद्र सरकार का लक्ष्य 2022 तक किसानों की आय को दोगुना करना है। इसके लिए सरकार सभी प्रयोजन कर रही है। दोस्तों, आज इस पोस्ट के जरिये हम आपको स्माम किसान योजना के बारे में विस्तार से बताएंगे। आइए शुरू करते हैं-

स्माम किसान योजना क्या है? What Is SMAM Yojana?

स्माम किसान योजना के बारे में जानकारी देने से पहले आइए आपको सबसे पहले आपको स्माम यानी SMAM किसान योजना का पूरा नाम बताते हैं। इस योजना का पूरा नाम Sub Mission On Agriculture Mechandization (SMAM) रखा गया है। इस योजना का केंद्र सरकार ने किसानों के लिए शुरू किया है। वह इसलिए ताकि उन्हें खेती के लिए आधुनिक उपकरण खरीदने में किसी तरह दिक्कत पेश न आए।

स्माम किसान योजना ऑनलाइन आवेदन, आवश्यक दस्तावेज, लाभ | SMAM Yojana Registration

इस योजना के तहत किसानों को उपकरणों की खरीद पर 50 प्रतिशत से लेकर 80 फीसदी तक की सब्सिडी का प्रावधान किया गया है। इससे किसान के लिए कम समय और लागत में बेहतर पैदावार लेना संभव है। कुल मिलाकर यह योजना आर्थिक रूप से बहुत सक्षम न होने वाले किसानों के लिए तो बहुत ही लाभकारी है। स्माम किसान योजना के तहत मिलने वाली सब्सिडी उनके लिए अच्छी खासी मदद साबित हो सकती है। वह अपनी खेती से मिलने वाले लाभ को बढ़ा सकते हैं और अपने जीवन स्तर में सुधार ला सकते हैं।

स्समा किसान योजना से किसानों को क्या लाभ है? What are the benefits to farmers from SMAM Kisan Yojana?

साथियों, आप जानते ही हैं कि ज्यादातर किसान पुराने तरीके से खेती करते हैं। ऐसे में खेती के लिए उपकरण खरीदने की क्षमता न रखने वालों के लिए यह योजना बेहद लाभदायी है। दोस्तों, आपको पता ही है कि किसान के लिए पैदावार को बढ़ाना बहुत मुश्किल है। आजकल खेती से जुड़े छोटे से छोटे काम के लिए बेहतरीन उपकरण किसानों के लिए उपलब्ध हैं। इनसे फसल की क्वालिटी को सुधारा जा सकता है। फसल सुरक्षित रहती है।

जमीन के हर हिस्से में फसल को उगाया जा सकता है। इसके साथ ही कम समय और लागत में अच्छी खेती संभव है। इसके लिए किसानों को आर्थिक सहायता उपलब्ध कराने के लिए ही स्माम योजना को शुरू किया गया है। ताकि वह इस वित्तीय सहायता से आधुनिक उपकरण खरीद सकें और अपनी खेती को बेहतर बना सकें।

आपको यह भी बता दें कि इस योजना से अनुसूचित जाति, जनजाति और अन्य पिछड़ा वर्ग को अधिक लाभ मिलता है। यह योजना इस वर्ग के किसानों को ऊपर उठाने के लिए एक महत्वपूर्ण योजना है। यदि इस योजना का ठीक से प्रचार हो और बड़ी संख्या में किसान इसका लाभ उठाने में सक्षम हों तो इसमें कोई दो राय नहीं कि इससे उनका खेती का अंदाज पूरी तरह बदल जाएगा। मंत्रालय इसके लिए कई तरह के जागरूकता कार्यक्रम भी आयोजित कर रहा है।

इसके अलावा कार्यशालाओं में भी इन योजनाओं की जानकारी दी जा रही है। इन दिनों डिजिटल जागरूकता पर फोकस है। गांवों में घर घर पहुंचे टीवी, स्मार्ट मोबाइल फोन और इंटरनेट का प्रसार भी योजनाओं का लाभ किसानों तक पहुंचाने में अहम भूमिका अदा कर रहे हैं।

स्माम योजना में आवेदन करने के लिए जरूरी दस्तावेज – Documents required to apply in the SMAM Yojana

स्माम किसान योजना के तहत लाभ उठाने के लिए आपको आवेदन करना होगा। आवेदन करने को आपके पास कुछ दस्तावेज होने जरूरी हैं। इनके बगैर आप इस योजना का लाभ लेने के लिए आवेदन नहीं कर सकेंगे। आइए जान लेते हेँ कि यह दस्तावेज कौन-कौन से हैं-

  • आवेदक का आधार कार्ड
  • आवेदक की पासपोर्ट साइज फोटो
  • जमीन का विवरण जोड़ने वक्त रिकार्ड करने को भूमि का अधिकार
  • आवेदक के बैंक खाते की पासबुक की फोटो कॉपी
  • आवेदक की वोटर आईडी, ड्राइविंग लाइसेंस, पैन कार्ड या पासपोर्ट की कॉपी
  • एंव आवेदक के निवास का प्रमाण पत्र
  • यदि आवेदक अनुसूचित जाति या जनजाति से संबंधित है तो इस जाति का प्रमाण पत्र

स्माम किसान योजना ऑनलाइन आवेदन कैसे करें? SMAM Yojana Registration Process In Hindi

साथियों, आपको बता दें कि स्माम किसान योजना का लाभ लेने के लिए देश का कोई भी किसान आवेदन कर सकता है। यह भी साफ है कि वह भारत का नागरिक होना चाहिए। आपको बता दें कि वह इस योजना का लाभ लेने के लिए ऑनलाइन भी आवेदन कर सकता है। आइए, अब आपको इसकी आवेदन प्रक्रिया की जानकारी दे दें-

  • सबसे पहले कृषि, सहकारिता एवं किसान कल्याण मंत्रालय के DBT portal पर योजना के लिंक https://agrimachinery.nic.in/ पर click करें। आप चाहें तो यहाँ क्लिक करके डायरेक्ट जा सकतें हैं।
  • आपको DBT का अर्थ भी बता दें। इसका अर्थ है Direct Benefit Transfer यानी कि सीधे लाभ हस्तांतरण।

स्माम किसान योजना ऑनलाइन आवेदन कैसे करें? SMAM Yojana Registration Process In Hindi

  • इस लिंक के जरिये आप साइट के होमपेज पर आ जाएंगे। यहां आपको registration के option पर जाना होगा। यहां आपको farmer का option दिखाई देगा।
  • farmer का option पर click करने के बाद आपके सामने एक नया पेज खुलेगा। इस पर आपको अपना राज्य या केंद्र शासित प्रदेश बताना होगा।

स्माम किसान योजना ऑनलाइन आवेदन कैसे करें? SMAM Yojana Registration Process In Hindi

  • इसके साथ ही आपको अपना आधार कार्ड नंबर भी यहां डालना होगा। जानकारी भरने के बाद आपके सामने एक नया पेज खुलेगा।

स्माम किसान योजना ऑनलाइन आवेदन कैसे करें? SMAM Yojana Registration Process In Hindi

  • इसमें आपको एक और फार्म दिखाई देगा। आपको इस फार्म में पूछी गई सारी जानकारी भरनी होगी। जानकारी भरने के बाद आपको Register बटन पर क्लीक करके form को submit करना होगा।
  • इसके बाद आपको अपने दस्तावेज अपलोड करने होंगे। इस तरह आपका registration हो जाएगा।
  • registration के बाद आप सरकार की ओर से दी जाने वाली मदद का लाभ उठा सकेंगे।

सही जानकारी भरें, वरना कैंसिल हो जाएगा आवेदन

आपको यह बता दें कि आपको आवेदन करते समय अपनी सही-सही जानकारी आवेदन में भरनी होगी। जैसे कि आवेदक को उसका जिला, उप जिला, ब्लॉक, गांव ड्राप लिस्ट में सही सही चुनना होगा। किसान का नाम भी आधार कार्ड के अनुसार सही होना चाहिए। इसके अलावा किसान की श्रेणी भी सही होनी चाहिए।

यानी कि वह सामान्य वर्ग से ताल्लुक रखता है या फिर किसी दूसरी श्रेणी जैसे कि अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति या अन्य पिछड़ा वर्ग से आता है। वह छोटा किसान है, मध्यम या बड़ा किसान है। वह महिला है या पुरुष है। इस तरह की सभी जानकारी भी सब्सिडी लेने के इच्छुक किसानों को अपने आवेदन में साफ और सही भरनी होगी। वरना संबंधित अधिकारियों की ओर से भौतिक सत्यापन के वक्त आवेदन फार्म को कैंसिल कर दिया जाएगा।

महिला किसान भी कर सकती हैं स्माम योजना ऑनलाइन आवेदन –

इस स्माम किसान योजना के तहत केवल पुरुष किसान ही नहीं, बल्कि महिला किसान भी आवेदन कर सकती हैं। देश के अन्य सभी दूसरे किसानों की ही तरह उन्हें भी ऑनलाइन आवेदन करना होगा। इसके साथ ही अन्य आवश्यक दस्तावेज अपलोड करने होंगे। सही तरीके से आवेदन भरने पर महिला किसान स्माम किसान योजना के तहत कृषि उपकरणों यानी कृषि यंत्रों की खरीद पर सब्सिडी की हकदार होंगी। देश में महिला किसान कम नहीं हैँ। धीरे धीरे इनकी संख्या में बढ़ोत्तरी ही हो रही है।

कई स्थानों पर पति की मृत्यु के पश्चात उसकी पत्नी के ऊपर ही खेती-किसानी का जिम्मा आ जाता है। देश के गांवों में बड़ी संख्या में ऐसी महिलाएं हैं, जो खेती के इस कार्य को बेहतर तरीके से अंजाम दे रही हैं। कई किसान तो ऐसी हैं, जो आधुनिक और प्रगतिशील किसान के रूप में अपना लोहा मनवा चुकी हैं। नए तरीके से खेती के लिए कई राज्यों में इस तरह की महिला किसानों को सम्मानित भी किया जा चुका है। परंपरागत खेती करने वाले पुरुष किसानों की जगह ऐसी महिला किसानों ने नाम कमाया है।

स्माम किसान योजना ऑनलाइन आवेदन सम्बंधित अधिक जानकारी यहां से ले सकते हैं

यदि आप स्माम किसान योजना के संबंध में किसी तरह की अन्य जानकारी चाहते हैं तो उसके लिए फोन घुमाकर भी जानकारी प्राप्त कर सकते हैं। हमने आपकी सुविधा के लिए कई राज्यों के यह फोन नंबर जुटाए हैं। आप जिस प्रदेश में रहते हैं, उसी प्रदेश का नंबर डायल कर इस स्माम किसान योजना का लाभ उठा सकते हैं।

यानी जैसे आप उत्तराखंड राज्य में रहते हैँ तो वहां का फोन नंबर डायल कर इस योजना के संबंध में जानकारी हासिल कर सकते हैं। और यदि आप उत्तर प्रदेश के रहने वाले हैं तो वहां का फोन नंबर डायल कर योजना का विस्तृत ब्योरा हासिल कर सकते हैं। दोस्तों, प्रमुख राज्यों के यह नंबर इस प्रकार से हैं-

उत्तराखंड – 0135-2771881

उत्तर प्रदेश – 0522-2204223

पंजाब – 0172-2970605

हरियाणा – 9569012086

मध्य प्रदेश – 0755-2583313

बिहार – 9431818911

झारखंड – 9503390555

अंतिम शब्द

यह तो आपको पता ही है कि केंद्र सरकार किसानों की आर्थिक मदद के लिए कई योजनाएं चला रही है। प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि भी एक ऐसी ही योजना थी। अब यह स्माम किसान योजना भी उन्हें कृषि यंत्रों की खरीद में सब्सिडी देकर मदद दिलाने से जुड़ी योजना है। इन योजनाओं का लाभ किसानों तक पहुंचे और उसमें किसी तरह की गड़बड़ी न हो, इसके लिए हीसरकार ने ऑनलाइन आवेदन की व्यवस्था भी की है। इससे सभी का डाटा कंप्यूटर में फीड होगा और योजना के बिचौलिए किसी भी प्रकार का घोटाला नहीं कर सकेंगे।

इन योजनाओं के साथ बड़ी दिक्कत यह है कि इनका प्रचार, प्रसार ज्यादा न होने से अधिकांश किसान चाहते हुए और जरूरत होते हुए भी इन योजनाओं का लाभ उठाने से वंचित रह जाते हैं। ऐसे में जरूरी है कि गांव के पढ़े-लिखे युवा गांव-देहात के किसानों तक केंद्र सरकार की किसानों के हितों के लिए शुरू की गई योजनाओं की जानकारी उन तक पहुंचाएं। कृषि, सहकारिता और किसान कल्याण मंत्रालय को भी इस संबंध में और तेजी दिखाने की जरूरत है। हालांकि अब स्थिति थोड़ी बदली है। पढ़े-लिखे किसानों की बाबत गांवों में योजनाओं का लाभ लेने वाले बढ़े हैं और किसानों की स्थिति में भी सुधार आया है।

दोस्तों, यह थी स्माम किसान योजना के संबंध में पूरी जानकारी। उम्मीद है कि आपको इस पोस्ट से लाभ होगा। आप यदि इस योजना का लाभ लेना चाहते हैँ तो इसके लिए आवेदन कर सकेंगे या फिर अपने परिचित किसी किसान को योजना के बारे में जागरूक करेंगे। यदि योजना पर आपका कोई सवाल है तो हम तक उसे नीचे दिए गए कमेंट बाक्स में कमेंट करके पहुंचा सकते हैं। आप सभी तरह के सुझावों और प्रतिक्रियाओं का भी हम स्वागत करते हैं। उन्हें भी आप नीचे दिए गए कमेंट बाक्स में कमेंट करके हम तक आसानी से पहुंचा सकते हैं।।धन्यवाद।।

Spread the love

1 thought on “स्माम किसान योजना ऑनलाइन आवेदन, आवश्यक दस्तावेज, लाभ | SMAM Yojana Registration”

Leave a Comment