शिशु मुद्रा लोन कैसे मिलेगा? प्रधानमंत्री मुद्रा योजना कैसे मिलता है?

सरकारी नौकरियों की संख्या सीमित है। ऊपर से कोरोना काल ने सर्विस सेक्टर को बुरी तरह प्रभावित किया है। ऐसे में बड़े पैमाने पर लोग अपना खुद का काम धंधा शुरू करने की ओर अग्रसर हुए हैं। यदि आप भी ऐसे ही लोगों में शामिल हैं एवं आत्मनिर्भर बनने के लिए अपना कोई कार्य अथवा व्यापार शुरू करना चाहते हैं, लेकिन आपके पास शुरुआती पूंजी नहीं है तो चिंता न करें। आप शिशु मुद्रा लोन (shishu mudra loan) के माध्यम से अपनी आवश्यकता को पूरा कर सकते हैं। आज इस पोस्ट में हम आपको शिशु मुद्रा लोन से जुड़ी सारी जानकारी बिंदुवार मुहैया कराएंगे। आइए, शुरू करते हैं-

शिशु मुद्रा लोन क्या है? [What is Shishu Mudra Loan?]

दोस्तों, शिशु मुद्रा लोन प्रधानमंत्री मुद्रा लोन योजना का ही एक हिस्सा है। इस योजना को केंद्र सरकार ने 8, अप्रैल 2015 में शुरू किया था। इसका उद्देश्य छोटे व्यापारियों, कारोबारियों मसलन रेहड़ी, पटरी आदि लगाने वालों को अपना कार्य शुरू करने के लिए वित्तीय सहायता मुहैया कराना था। आपको बता दें कि मुद्रा (MUDRA) की फुल फॉर्म माइक्रो यूनिट्स डेवलपमेंट एंड रिफाइनेंस एजेंसी (Micro Units Development and Refinance Agency) है। इसी के तहत बैंक माइक्रो, स्मॉल एंड मीडियम एंटरप्राइज (MSMEs) यानी छोटे और मध्यम व्यवसायों को लोन देते हैं। ‌‌‌‌

इसी योजना की एक कैटेगरी (category) यानी श्रेणी शिशु मुद्रा लोन (shishu mudra loan) के तहत आप बैंक से 50 हजार रुपये तक का लोन ले सकते हैं। इस लोन की सबसे अच्छी बात यह है कि इसके लिए आपको बैंक को किसी तरह की कोई प्रोसेसिंग फीस (processing fee) नहीं देनी पड़ेगी। न ही आपको किसी गारंटी (gurantee) अथवा गारंटर (guaranter) की आवश्यकता पड़ेगी।

शिशु मुद्रा लोन योजना डीटेल्स

योजना का नामप्रधानमंत्री मुद्रा लोन योजना 
किसके द्वारा शुरू की गयीप्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी के द्वारा
लाभार्थीदेश के नागरिक
उद्देश्यबिना गारंटी लोन प्रदान करना
ऑफिसियल वेबसाइटhttps://www.mudra.org.in/
शिशु मुद्रा लोन कैसे मिलेगा? प्रधानमंत्री मुद्रा योजना कैसे मिलता है?

शिशु मुद्रा लोन लेने के लिए आवश्यक दस्तावेज –

साथियों, अब हम आपको बताएंगे कि शिशु मुद्रा लोन के लिए आवेदन को आपको किन किन दस्तावेजों की आवश्यकता पड़ेगी। ये इस प्रकार से हैं-

  • 1. आवेदक के पहचान पत्र के बतौर आपकी वोटर आईडी/ड्राइविंग लाइसेंस/ पैन कार्ड/आधार कार्ड/पासपोर्ट में से किसी की भी स्व प्रमाणित (self attested) फोटो कॉपी।
  • 2. आवेदक के एड्रेस प्रूफ (address proof) के तौर पर आपका लेटेस्ट टेलीफोन बिल/बिजली बिल/ प्रापर्टी टैक्स की रसीद ( यह 2 महीने से अधिक पुरानी न हो)/ वोटर आईडी/आधार कार्ड/पासपोर्ट/ बैंक पासबुक/ निवास प्रमाण पत्र में से किसी की भी प्रति।
  • 3. आवेदक के दो पासपोर्ट साइज फोटो (ये 6 महीने से पुराने नहीं होने चाहिए)।
  • 4. आवेदक को अपना बिजनेस शुरू करने के लिए जिस सामान एवं मशीनरी की आवश्यकता है, उसकी कोटेशन।
  • 5. सामान/मशीनरी के सप्लायर का ब्योरा जैसे नाम, पता आदि। साथ ही मूल्य सहित मशीनरी की डिटेल।
  • 6. दुकान या आफिस का एड्रेस प्रूफ/आइडेंटिट। इसमें लाइसेंस अथवा रजिस्ट्रेशन सर्टिफिकेट हो सकता है। अथवा मालिकाना हक के साथ दुकान/आफिस का पता लिखे दस्तावेज।
  • 7. आवेदक यदि एससी/एसटी/ओबीसी/अल्पसंख्यक श्रेणी से हैतो जाति प्रमाण पत्र।

शिशु मुद्रा लोन लेने के लिए आनलाइन आवेदन कैसे करें?

दोस्तों, अब हम आपको बताएंगे कि आप शिशु मुद्रा लोन लेने के लिए आनलाइन आवेदन कैसे कर सकते हैं। इसकी एक आसान प्रक्रिया है। बस आपको यहां दिए गए steps follow करने होंगे-

Total Time: 30 minutes

उद्यम मित्र पोर्टल पर जाएं –

सबसे पहले आपको उद्यम मित्र (udhyan mitra) की आधिकारिक वेबसाइट https://site.udyamimitra.in/Login/Register पर जाना होगा।

रजिस्ट्रेशन फॉर्म भरे –

अब आपके सामने वेबसाइट का होम पेज खुल जाएगा। यहा न्यू रजिस्ट्रेशन (new registration) पर क्लिक करें। आगे आपके सामने नया पेज खुलेगा। यहां आप रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर से login कर अपने बिज़नेस का रजिस्ट्रेशन करें।
शिशु मुद्रा लोन लेने के लिए आनलाइन आवेदन कैसे करें?

मोबाइल नंबर वेरीफाई करें –

यहां मोबाइल नंबर एवं ईमेल दर्ज कर ओटीपी के माध्यम से अपने मोबाइल नंबर को वेरीफाई (verify) करें।

अकाउंट में लॉगिन करें –

पोर्टल पर अपना रजिस्ट्रेशन करने के पश्चात आपको अपने यूजर आईडी एवं पासवर्ड के माध्यम से अपने अकाउंट में वापस लॉगइन करना है।

शिशु मुद्रा लोन योजना फॉर्म भरें –

अकाउंट में लॉग इन करने के पश्चात आप इस मुद्रा लोन योजना फॉर्म भरें। फॉर्म में पूछे गए सभी जानकारी जैसे – आवेदक का नाम, आवेदक के पिता का नाम, एड्रेस, डेट ऑफ बर्थ, क्वालिफिकेशन आदि जानकारी सही-सही भरें।
शिशु मुद्रा लोन लेने के लिए आनलाइन आवेदन कैसे करें?

डॉक्यूमेंट अपलोड करें-

फार्म भरने के पश्चात आपको आवश्यक दस्तावेज की स्कैन की हुई कॉपी अपलोड करनी है।

फॉर्म सबमिट करें-

पूरी तरह सही-सही फार्म भरने के पश्चात एवं आवश्यक दस्तावेज अपलोड करने के पश्चात आपको अपना फार्म सबमिट करना है। फॉर्म सबमिट करते ही आपका आवेदन हो जाएगा। जिसके पश्चात आप की आवेदन की जांच की जाएगी और पात्र होने पर आपको लोन उपलब्ध कराया जाएगा।

शिशु मुद्रा लोन योजना फॉर्म डाउनलोड करें –

दोस्तों, आपको बता दें कि आप अपने नजदीकी बैंक में जाकर भी इस योजना के लिए आवेदन कर सकते हैं। इसके अतिरिक्त जिस बैंक से आपको लोन लेना है, उसकी वेबसाइट पर जाकर आवेदन फार्म डाउनलोड कर लें। इसके बाद इसे भरकर निर्धारित दस्तावेजों के साथ बैंक में जमा कर दें।

किन बैंकों से शिशु मुद्रा लोन के लिए आवेदन किया जा सकता है?

इन दिनों करीब करीब सभी बैंकों से मुद्रा लोन लेने की सुविधा है। प्रधानमंत्री मुद्रा योजना (pradhanmantri mudra loan Yojana) के तहत किसी भी सरकारी बैंक, ग्रामीण बैंक, सहकारी बैंक, प्राइवेट बैंक अथवा विदेशी बैंकों से लोन लिया जा सकता है।

आपको बता दें भारतीय रिजर्व बैंक ने कुल 27 सरकारी बैंकों, 17 प्राइवेट बैंकों, 31 ग्रामीण बैंकों, 4 सहकारी बैंकों, 36 माइक्रो फाइनेंस संस्थानों एवं 25 गैर बैंकिंग वित्तीय कंपनियों (non banking finance company) यानी एनबीएफसी (NBFC) को मुद्रा लोन के वितरण के लिए अधिकृत किया है।

मुद्रा लोन कौन कौन सी बैंक देती है?

आपकी सहूलियत को देखते हुए हम आपको इन बैंकों की सूची दें देते हैं, जो कि इस प्रकार से है-

  • इलाहाबाद बैंक [Allahabad Bank]
  • बैंक ऑफ इंडिया [Bank of india]
  • कॉर्पोरेट बैंक [Corporate bank]
  • आईसीआईसीआई बैंक [ICICI Bank]
  • जेएंडके बैंक [J&K Bank]
  • पंजाब एंड सिंध बैंक [Punjab And Sind Bank]
  • सिंडिकेट बैंक [Syndicate Bank]
  • आंध्र बैंक [Andhra Bank]
  • बैंक ऑफ महाराष्ट्र [Bank Of Maharashtra]
  • यूनियन बैंक आफ इंडिया [Union Bank Of India]
  • बैंक ऑफ इंडिया [Bank of india]
  • देना बैंक [Dena Bank]
  • कर्नाटक बैंक [Karnataka Bank]
  • आईडीबीआई बैंक [IDBI Bank]
  • पंजाब नेशनल बैंक [Punjab National Bank]
  • इंडियन बैंक [Indian Bank]
  • कोटक महिंद्रा बैंक [Kotak Mahindra Bank]
  • केनरा बैंक [Canara Bank]
  • एक्सिस बैंक [Axis Bank]
  • बैंक ऑफ बड़ौदा [Bank Of Baroda]

इसके अतिरिक्त भी कुछ गैर बैंकिंग संस्थाएं हैं, जो इच्छुकों को शिशु मुद्रा लोन उपलब्ध कराती हैं।

कोरोना काल में ब्याज दर में दो फीसदी छूट का प्रावधान किया गया

मित्रों, आपको बता दें कि आत्मनिर्भर भारत अभियान के अंतर्गत केंद्र सरकार की ओर से शिशु मुद्रा लोन ग्राहकों को राहत प्रदान की गई है। जब दुनिया भर में कोरोना संकट गहरा गया था एवं भारत में भी लोगों को अपने रोजगार से हाथ धोना पड़ रहा था। ऐसे में छोटे कारोबारियों को राहत प्रदान करने के उद्देश्य से केंद्र सरकार ने शिशु मुद्रा लोन के ब्याज पर 2 फीसदी तक छूट देने का भी ऐलान किया।

शिशु मुद्रा लोन पर ब्याज किस दर से वसूला जाता है

मित्रों, यह तो आप जानते ही होंगे कि तमाम वाणिज्यिक बैक, आरआरबी, स्मॉल फाइनेंस बैंक, एमएफआई, एनबीएफसी आदि की ओर से शिशु मुद्रा लोन प्रदान किया जाता है। ऐसे में यदि ब्याज दर की बात करें तो शिशु मुद्रा लोन पर कोई निश्चित ब्याज दर नहीं है। अलग-अलग बैंक इस लोन पर अलग अलग ब्याज दर वसूलते हैं। मूलतः इस ब्याज दर का निर्धारण बिजनेस की प्रकृति और उससे जुड़े जोखिम के आधार पर तय होता है। अमूमन शिशु मुद्रा लोन पर नौ फीसदी से लेकर 12 प्रतिशत तक का सालाना ब्याज चुकाना पड़ता है।

लाखों लोग शिशु मुद्रा लोन को बना चुके हैं रोजी रोटी के लिए सहारा

दोस्तों, आपको बता दें कि देश के लाखों लोग रोजी रोटी के लिए शिशु मुद्रा लोन को सहारा बना चुके हैं। यदि 2020-2021 के लिए जारी किए गए सरकारी आंकड़ों की बात करें तो 19 मार्च 2021 तक प्रधानमंत्री मुद्रा लोन के तहत कुल 2.66 लाख करोड रुपए की धनराशि आवंटित की जा चुकी थी, जिसमें से लगभग 88% शिशु लोन थे। इसी से शिशु मुद्रा लोन की ओर लोगों का रूझान समझा जा सकता है। आसान प्रोसेसिंग होने की वजह से लोगों को यह लोन बेहद आसानी से मिला भी। ऐसे में यह लोन लेने वालों की संख्या में बढ़ोतरी हुई है।

कोरोना काल ने तोड़े लोगों के सपने

कोरोना काल ने कई लोगों के सपने तोड़ दिए। जिंदगी ठहर सी गई। स्कूल, कॉलेज बंद होने से छात्र छात्राओं के सपनों पर ग्रहण लग गया। इस साल सभी को प्रमोट कर दिया गया, लेकिन मेधावी छात्र-छात्राओं के लिए यह साल एक धक्का बनकर सामने आया। एक ओर जहां ठीक से पढ़ाई नहीं हुई, वहीं, प्रतियोगी परीक्षाओं की तिथि भी लगातार पीछे खिसकती रही। लोगों का काम-धंधा, रोजगार तो छिना ही।

इस काल में सबसे ज्यादा नुकसान रेहड़ी, पटरी आदि लगाकर रोजी रोटी कमाने वालों का हुआ। ये वे लोग थे, जो प्रतिदिन की कमाई से अपने परिवारों का गुजारा करते थे। काम बंद हो जाने से उन्हें आजीविका के लिए बेहद मुश्किलों का सामना करना पड़ा। कई तो ऐसे थे, जो काम न होने की स्थिति में अपने गांवों, शहरों की तरफ लौट गए।

ऐसे लोगों की आर्थिक मदद के लिए सरकार ने पहले भी योजना चलाई थी। इसके अलावा प्रधानमंत्री मुद्रा लोन के तहत शिशु लोन कैटेगरी का प्रावधान किया कि वे 50 हजार तक का लोन लेकर अपना काम शुरू कर सकते हैं। कहना न होगा कि यह योजना बेहद लाभकारी साबित हुई है।

शिशु लोन ही नहीं, किशोर एवं तरुण लोन की सुविधा

मुद्रा लोन के तहत शिशु मुद्रा लोन जहां नव एवं लघु कारोबारियों के लिए उपलब्ध है, वहीं प्रधानमंत्री मुद्रा लोन के तहत किशोर मुद्रा लोन एवं तरुण मुद्रा लोन की भी सुविधा दी जा रही है। दोस्तों, आपको बता दें कि किशोर मुद्रा लोन के तहत 50 हजार रूपए से लेकर 5 लाख रूपये तक का लोन लिया जा सकता है, वहीं, तरुण ऋण के तहत ग्राहक 5 लाख रुपए से लेकर 10 लाख तक का लोन बैंक के द्वारा ले सकता है।

इस प्रकार दोस्तों, आपने देखा कि लोगों के कारोबार की जरूरतों के अनुसार उसे शुरू करने अथवा उसे बढ़ाने यानी विस्तार (extension) के लिए केंद्र सरकार की ओर से लोन की सुविधा मुहैया कराई जा रही है।

सावधान रहें, लोन दिलाने संबंधी फ्राड से बचें

दोस्तों, कुछ कमीशन देकर लोन उपलब्ध कराने के बहुत मामले सामने आ रहे हैं। ऐसा आपके साथ न हो, इसलिए सतर्क रहें। अपने फोन पर आए लोन दिलाने संबंधी किसी भी मैसेज पर भरोसा न करें, न ही मैसेज में आए किसी लिंक पर क्लिक करें। कोई भी जानकारी सीधे बैंक जाकर हासिल करें अथवा संबंधित बैंक की official website से। यह मंत्र हमेशा याद रखिए-सावधानी ही बचाव है।

शिशु मुद्रा लोन योजना से जुड़े सवाल-जवाब

शिशु मुद्रा लोन योजना क्या है?

यह योजना प्रधानमंत्री मुद्रा लोन योजना का हिस्सा है। इसके तहत छोटे कारोबारियों को लोन के रूप में वित्तीय सहायता प्रदान की जाती है।

इस योजना के तहत कितनी राशि का लोन लिया जा सकता है?

इस योजना के तहत 50 हजार रुपए तक का लोन लिया जा सकता है।

शिशु मुद्रा लोन के लिए आवेदन कैसे किया जा सकता है?

इसके लिए आप आनलाइन एवं ऑफलाइन दोनों तरीके से आवेदन कर सकते हैं। आवेदन प्रक्रिया हमने पोस्ट में समझा दी है।

शिशु मुद्रा लोन के लिए क्या ब्याज दर तय की गई है?

इसके लिए कोई निश्चित ब्याज दर नहीं है। प्रत्येक बैंक अलग-अलग ब्याज दर वसूलता है।

ब्याज दर का निर्धारण किस आधार पर होता है?

इस दर का निर्धारण बिजनेस की प्रकृति एवं जोखिम के आधार पर होता है।

दोस्तों, यह थी शिशु मुद्रा लोन के संबंध में संपूर्ण जानकारी। आशा करते हैं कि यह जानकारी आपके लिए उपयोगी साबित होगी। आपसे आशा है कि आप इस पोस्ट को अधिक से अधिक साझा करेंगे, ताकि ज्यादा से ज्यादा लोग अपना रोजगार शुरू करने में शिशु मुद्रा लोन से फायदा उठा सकें। यदि आप ऐसे ही किसी अन्य रोचक एवं उपयोगी विषय पर हम से जानकारी चाहते हैं तो नीचे दिए गए कमेंट बॉक्स में कमेंट करके हमें बता सकते हैं। आपकी प्रतिक्रियाओं का हमें इंतजार रहेगा। ‌‌।।धन्यवाद।।

Spread the love

अनुक्रम

Leave a Comment