साहित्य अकादमी पुरस्कार क्या है? कैसे कब और क्यों दिया जाता है? साहित्य अकादमी पुरस्कार 2019

Sahitya Akademi Awards In Hindi – भारत एक ऐसा देश है जहाँ आप भाषा और संस्कृति में विविधता देख सकते है भारत में विभिन्न धर्मों के लोग रहते हैं जो विभिन्न भाषाएं बोलते हैं। हमारे देश में हर साल लोगों को अलगअलग पुरस्कार से सम्मानित किया जाता है और ये उनके लिए है जिन्होंने कुछ हासिल किया है या किसी तरीके से समाज में सेवा प्रदान की हो एक ऐसे ही पुरस्कार है साहित्य अकादमी जो प्रमुख भाषाओं में सर्वोत्कृष्ट साहित्यिक कृति के लिए प्रदान किया जाता है सन 1955 में सबसे पहले यह पुरस्कार साहित्यकार को प्रदान किया गया था यह साहित्यिक कृति का पुरस्कार कुल २४ भाषाओं को लिए दिया जाता है जिसमें अंग्रेजी भी शामिल है

साहित्य अकादमी पुरस्कार क्या है? कैसे कब और क्यों दिया जाता है? साहित्य अकादमी पुरस्कार 2019

साहित्य अकादमी पुरस्कार क्या है? साहित्य अकादमी पुरस्कार के विवरण –

इसकी स्थापना १९५५ को हुई थी जहाँ माखनलाल चतुर्वेदी पहले ऐसे लेखक है जिन्हें यह सम्मान से नवाजा गया थाउन्हें उनकी कविता हिम तरंगिनी के लिए यह पुरस्कार के लिए चुना गया था यह पुरस्कार २४ भाषाओं में दिया जाता हैसाहित्य अकादमी पुरस्कार का मुख्य केंद्र दिल्ली में है आज इस पुरस्कार के कई ओर कार्यालय है जैसे की कोलकाता, मुंबई, बेंगलुरु और चेन्नई। साहित्य अकादमी पुरस्कार की कुछ विशेषताएं निम्न हैं –

  • साहित्यिक सम्मान में दिए जाना वाला यह दूसरा ऐसा सर्वोच्च सम्मान है और इससे पहले साहित्य अकादमी फैलोशिप है
  • इस पुरस्कार के तहत १ पट्टिका और नकद दिया जाता है इसकी पट्टिका का डिज़ाइन लोकप्रिय फिल्म निर्माता सत्यजीत रे ने किया है
  • शुरुआत में ५००० रुपये नकदी दिए जाते थे जो १९८३ में १०,००० कर दिए गए और १९८८ में २५००० रुपये है। इस नकदी रुपये को २००१ से ४०,००० कर दिया गया और २००३ से ५०,००० है
  • साहित्य अकादमी के तहत पुस्तकें कुल २४ भाषाओं में प्रकाशित होती है यह पुस्तकें लेखकों के मोनोग्राफ, इतिहास, अनुवाद, उपन्यास, कविता और गद्य, आत्मकथाओं के आधार पे होती है।
  • साहित्य अकादमी पुरस्कार का उद्देश्य भारतीय भाषाओं को प्रोत्साहन करना है जिससे और भी लोग इससे प्रभावित हो साहित्य में महत्त्वपूर्ण योगदान करने वाले साहित्यकारों को उनके अद्भुत लेख के लिए यह सम्मान दिया जाता है
  • हर वर्ष एक सप्ताह भर का साहित्योत्सव आयोजित होता है जिसमें पुरस्कार वितरण समारोह, संवत्सर भाषण माला और राष्ट्रीय संगोष्ठी होता है यह समारोह अधिकता फरवरी माह में होता है जिसमें लोग बढ़ चढ़ के हिस्से लेते है
  • इस आयोजन के तहत हर वर्ष २४ भाषाओं के लेखकों को इस पुरस्कार से सम्मानित किया जाता है प्रत्येक वर्ष श्रेष्ठ महिला साहित्यकार को फैलोशिप भी प्रदान की जाती है जिसका मुख उद्देश्य महिलाओं को इस क्षेत्र में बढ़ावा देना है

साहित्य अकादमी पुरस्कार की चयन प्रक्रिया के कुछ नियम –

साहित्य अकादमी पुरस्कार परैत करने अथवा प्रदान करने के लिए निम्न नियम को फॉलो करना होता है –

  • किसी भी पुस्तक को पुरस्कार के विचारार्थ होने के लिए संबद्ध भाषा तथा साहित्य में योगदान होना चाहिए। पुस्तक को सर्जनात्मक या समालोचनात्मक होना चाहिए तो ही कार्य मंडल उसे विचारणीय करेंगे
  • यदि कोई कृति लेखक के मृत्यु के बाद प्रकाशित हुई तो सिर्फ ३ वर्ष के लिए ही विचारणीय होगी
  • यदि कार्यकारी मंडल को ऐसा लगता है या सबूत प्राप्त होते है की प्रतिष्ठित करने के लिए समर्थन जुटाया गया है तो ऐसी पुस्तक पुरुरस्कार के लिए अयोग्य होगी
  • ऐसी पुस्तक जो की पूर्व प्रकाशित पुस्तकों के संग्रह या रचनाओं के आधार पर लिखी गयी है वे मंडल द्वारा अयोग्य होगी यदि कोई नयी लिखित पुस्तक में ७५ % भाग पहली बार ही प्रकाशित हुआ है तो वह पुस्तक पुरस्कार विचारणीय होगी ऐसी पुस्तक जो किसी प्रकाशित पुस्तक का बेस हो लेकिन खुद में पूर्ण हो तो वह भी पुरस्कार के लिए चयन की जा सकती है
  • यदि कोई पुस्तक पहले से ही साहित्य अकादमी पुरस्कार से सम्मानित साहित्यकार ने लिखी है या तो अकादमी के कार्यकारी मंडल का सदस्य है तो वह पुरस्कार के लिए चयन नहीं होगी यदि कोई अनूदित कृति है या तो फिर विश्वविद्यालय या परीक्षा के लिए तैयार किया गया है वे भी पुरस्कार के लिए अयोग्य होगी

ये भी पढ़ें –

पुरस्कार की चयन प्रक्रिया –

साहित्य अकादमी पुरस्कार प्रदान करने के लिए निम्न प्रक्रिया से गुजरना होता है –

  • वर्ष के शरुआत में ही प्रत्येक भाषा की मान्यता प्राप्त साहित्यिक संस्थाएं से संस्तुतियाँ निर्धारित प्रपत्र को भेजना का अनुरोध किया जाता है लेकिन ये ३ से अधिक नहीं होना चाहिए
  • (i)सभी भाषा के परामर्श मंडल एक व्यक्ति को चाहेंगे जिसे तय की गई अवधि में एक सूचि तैयार करनी होगी जिसमें प्रकाशित अनूदित कृतियों के शीर्षक होंगे उस व्यक्ति को सुनमेमी द्वारा निर्धारित राशि प्रदान की जाएगी लेकिन किसी कारण से ये सूचि तैयार न हो पाए तो अध्यक्ष दूसरे व्यक्ति को नियुक्त करेगा
  • (i)संदर्भित पत्र समस्त भाषा परामर्श मंडल को भेजा जान चाहिए और साथ ही उन्हें अपनी संस्तुतियाँ को निर्धारित प्रपत्र के अनुसार भेजी जनि चाहिए
  • (ii)क्षेत्रीय सचिव परामर्श मंडल के सदस्य को आधारसूची पिछले वर्ष की आधारसूची सहित दी जाएगी।
  • धारा ३(i) और ३(ii) के अनुसार प्राप्त संस्तुतियाँ को संकलित कर नियम के आधार पे ४(i)समिति के समक्ष
  • धारा ३(ii)निष्पादन हेतु के साथ आधारसूची के भी प्रस्तुत की जाती है

जूरी पुस्तक का चयन कैसे करती है?

  • प्रारंभिक पैनल द्वारा अनुशंसित पुस्तक खरीद कर उन्हें अकादमी के संयोजक और साथ ही जूरी के सदस्यों को भेजी जाती है
  • जूरी के सदस्य सर्वसम्मति या तो फिर बहुमत के आधार पे पुस्तक का चयन करेगी जिसे पुरस्कार से सम्मानित किया जायेगा यदि जूरी को १ भी पुस्तक सही नहीं लगती तो किसी की भी पुरस्कार नहीं दिया जायेगा
  • इस पुरस्कार ले लिए एक संयोजक को भी नियुक्त किया जाता है जो सुनिश्चित करते है की जूरी की बैठक उचित और संतोषजनक रूप से संपन्न हो और साथ ही जूरी की रिपोर्ट पे अपने हस्ताक्षर करते है।

साहित्य अकादमी पुरस्कार 2019 लिस्ट –

2019 में साहित्य अकादमी पुरस्कार प्राप्त करने वाले लोगों के नाम निम्न लिखित है –

भाषाशीर्षक और शैलीलेखक
असमियाचाणक्य (उपन्यास)जयश्री गोस्वामी महंत
बांग्लाघुमेर दरजा ठेले (निबंध)चिन्मय गुह
बोडोआखाइ आथुमनिफ्राय (कविता)फुकन चन्द्र बसुमतारी
डोगरीबंदरालता दर्पण (निबंध)ओम शर्मा ‘जन्द्रयाड़ी’
अंग्रेजीएन एरा आॅफ़ डार्कनेस (कथेतर गद्य)शशि थरूर
गुजरातीमोजमा रेवुंरे (निबंध)रतिलाल बोरीसागर
हिन्‍दीछीलते हुए अपने को (कविता)नन्दकिशोर आचार्य
कन्‍नड़कुड़ी एसारू (आत्मकथा)विजया
कश्‍मीरीअख़ याद अख़ कयामत (कहानी संग्रह)अब्दुल अहद हाज़िनी
कोंकणीद वर्डस् (कविता)निलबा आ. खांडेकार
मैथिलीजिनगीक ओरिआओन करैत (कविता)कुमार मनीष अरविन्द
मलयालमअचन पिरन्ना वीदु (कविता)वी. मधुसूदनन नायर
मणिपुरीऐ अमदी अदुङैगी इथत (उपन्यास)बेरील थांगा (एल. बीरमंगल सिंह)
मराठीकदाचित अजूनही (कविता)अनुराधा पाटील
उडियाभास्वती (कहानी संग्रह)तरुण कांति मिश्र
पंजाबीअंतहीन (कहानी संग्रह)किरपाल कज़ाक
राजस्‍थानीबारीक बात (कहानी संग्रह)रामस्वरूप किसान
संस्कृतप्रज्ञाचाक्षुषम् (कविता)पेन्ना-मधुसूदनः
संथालीसिसिरजाली (कहानी संग्रह)काली चरण हेम्ब्रम
सिंधीजीजल (कहानी संग्रह)ईश्वर मूरजाणी
तमिलसूल (उपन्यास)चो. धर्मन
तेलुगुवसेप्ताभूमि (उपन्यास)बंदि नारायणा स्वामी
उर्दूसवनेह-ए-सर सैयद: एक बाज़दीद (जीवनी)शाफ़े किदवई

साहित्य अकादमी पुरस्कार आज एक बहुत ही सम्मानित पुरस्कार है जो साहित्यकारों को उनके अद्भुत लेख और कविता के लिए प्रदान किया जाता है। इस पुरस्कार से सम्मानित किये जाने वाले साहित्यकार भारत के किसी भी राज्य से हो सकते है। जिन लोगो को लिखना और पढ़ना के शौक है उन्हें साहित्य अकादमी पुस्तकालय की एक मुलाकात जरूर से लेनी चाहिए। इस पुस्तकालय में अकादमी द्वारा मान्यता कुल चौबीस भाषाओं में विविध विषयों की पुस्तकें उपलब्ध हैं।

तो दोस्तों, यह थी साहित्य अकादमी पुरस्कार क्या है? कैसे कब और क्यों दिया जाता है? और साहित्य अकादमी पुरस्कार 2019 लिस्ट की  जानकारी अच्छी लगे तो अपने दोस्तों के साथ भी शेयर करें। ताकि उंहें भी यह महत्वपूर्ण जानकारी मिल सके। साथ ही यदि आपका किसी भी प्रकार का कोई सवाल हो तो नीचे कमेंट बॉक्स में कमेंट करें।। धन्यवाद।।

Spread the love

2 thoughts on “साहित्य अकादमी पुरस्कार क्या है? कैसे कब और क्यों दिया जाता है? साहित्य अकादमी पुरस्कार 2019”

  1. क्या अकादमी आत्मकथा प्रकाशित करती है? क्या अपनी रचना प्रकाशन के लिए भेज सकती हूँ?

    Reply
    • सुधा जी, भारतीय साहित्य अकादमी के द्धारा लेखकों के लिये कई योजनायें संचालित की जा रही हैं। लेकिन इन योजनाओं की जानकारी करने के बाद यह स्पष्ट नहीं हो पा रहा है कि वह किसी योजना के तहत आत्मकथा को पुस्तक के रूप में प्रकाशित करती है अथवा नहीं। अधिक जानकारी के लिये आपको साहित्य अकादमी के निदेशक को पत्र लिख कर जानकारी प्राप्त करनी होगी। इसके अतिरिक्त कोई चारा नहीं है।

      Reply

Leave a Comment