सहारा इंडिया का पैसा कब मिलेगा 2022? सहारा इंडिया हेल्पलाइन नंबर क्या है?

|| सहारा निवेशकों का पैसा कब वापस मिलेगा? सहारा निवेशकों के लिए पुलिस हेल्पलाइन नंबर क्या है? When will Sahara investors get their money back? What is the police helpline number for Sahara investors? ||

लाखों लोगों ने बड़े अरमान कै साथ सहारा इंडिया परिवार की चिटफंड समेत अन्य कई कंपनियों में निवेश किया था। उन्हें उम्मीद थी कि मैच्योरिटी पीरियड के बाद कंपनी इस पैसे को वापस करेगी तो वे इस पैसे से अपने अधूरे सपने, अधूरे कार्य पूरे करेंगे, लेकिन हुआ इसका ठीक उल्टा।

मैच्योरिटी पीरियड के बाद से उनके हिस्से अपनी राशि पाने के लिए केवल संघर्ष हाथ आया है।ब्याज तो छोड़िए मूल राशि तक लोगों के हाथ से निकल गई। उन्हें सालों एड़ियां घिसते गुजर चुकी हैं। सेबी-सहारा खाते से करोड़ों के भुगतान के बावजूद अब तक लाखों अपने पैसे का इंतजार कर रहे हैं।

अब झारखंड के लोगों में पैसा वापसी की उम्मीद जागी है। वहां राज्य वित्त विभाग ने एक सहारा इंडिया हेल्पलाइन नंबर जारी किया है, जिस पर सहारा के पीड़ित निवेशक अपनी शिकायत दर्ज करा सकेंगे।

इसके पश्चात सरकार इन वादों का प्राथमिकता के आधार पर निस्तारण कराएगी। आज इस पोस्ट में हम आपको सहारा इंडिया हेल्पलाइन नंबर की जानकारी देने के साथ ही बताएंगे कि निवेशकों को कब तक पैसा वापस मिल सकता है। आइए, शुरू करते हैं-

सहारा इंडिया हेल्पलाइन नंबर क्या है? (What is the helpline number to help Sahara investors?)

यदि आप भी झारखंड के रहने वाले हैं और सहारा में आपका भी पैसा फंसा है तो अब निराश होने की जरूरत नहीं है। सरकार अब सहारा इंडिया के रिफंड को लेकर एक्शन मोड में है। ऐसे लोग जिनके पैसे सहारा इंडिया में लगे हैं, सरकार के वित्त विभाग ने उनके लिए एक सहारा इंडिया हेल्पलाइन नंबर जारी किया है।

यह हेल्पलाइन नंबर 112 है। सहारा इंडिया हेल्पलाइन नंबर पर सहारा के अलावा अन्य नॉन बैंकिंग कंपनियों (non banking finance companies) यानी (NBC) और को-आपरेटिव सोसाइटी (co-operative society) के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई जा सकती है। सहारा की कंपनियों में निवेश करने वाले पीड़ित निवेशक सहारा इंडिया हेल्पलाइन नंबर पर कॉल करके इसका लाभ ले सकते हैं।

सहारा इंडिया का पैसा कब मिलेगा 2022? सहारा इंडिया हेल्पलाइन नंबर क्या है?

सहारा इंडिया हेल्पलाइन नंबर पर शिकायत के पश्चात क्या होगा? (What will happen after registering complaint on helpline number?)

दोस्तों, अब आपके मन में यह सवाल उठ रहा होगा कि शिकायत के पश्चात क्या होगा? आपको बता दें कि सहारा के पीड़ित निवेशकों से शिकायत मिलने के पश्चात राज्य वित्त विभाग (state finance department) सीआईडी (आर्थिक अपराध शाखा, झारखंड) यानी CID (economic offence branch, jharkhand) के साथ मिलकर इस शिकायत की जांच करेगा एवं शिकायतों के निस्तारण में सहायता करेगा।

विभिन्न राज्यों में विधानसभा में उठाया गया है सहारा निवेशकों को भुगतान का मुद्दा (in different states sahara investors payment issue has been raised)

दोस्तों, यह तो आपको निश्चित रूप से पता होगा कि सहारा इंडिया (sahara india) में लोगों के करोड़ों रुपये फंसे हैं। स्थानीय लोगों के दबाव को देखते हुए उनके निवेश की राशि लौटाने से जुड़ा यह मामला विभिन्न राज्यों की विधानसभाओं में भी उठ चुका है। इसी 10 मार्च, 2022 को झारखंड (jharkhand) विधानसभा के बजट सत्र (budget session) में विधायक नवीन जायसवाल ने नॉन बैंकिंग कंपनियों में झारखंड के लोगों का करीब 2500 करोड़ फंसे होने की बात उठाई थी।

उन्होंने कहा था कि करीब तीन लाख लोग अपने पैसों को लेकर परेशान हैं। लिहाजा, सरकार को चाहिए कि वह कोई हेल्प लाइन नंबर जारी करे। सहारा इंडिया हेल्पलाइन नंबर के जरिए ही यह पता चल सकेगा कि इन कंपनियों में किसका कितना पैसा फंसा है। इनमें सहारा कंपनी भी शामिल थी।

नवीन जायसवाल ने सहारा में काम करने वाले 60 हजार लोगों का भी मुद्दा उठाया था। कहा था कि इन लोगों की हालत ऐसी हो गई है कि किसी की जान भी जा सकती है। राज्य के वित्त मंत्री रामेश्वर उरांव ने भी माना कि सहारा में गांव-देहात के लोगों का पैसा फंसा बड़ी मात्रा में फंसा है। और लोग इसमें फंसे पैसे की वापसी के लिए बेहद परेशान हैं।

अब तक सहारा कितने निवेशकों के पैसे वापस कर पाया है? (How many sahara investors have got their money back till now?)

दोस्तों, आपको जानकारी दे दें कि सहारा इंडिया की योजनाओं में निवेश किए गए लाखों निवेशकों को उनका पैसा अब तक नहीं मिल पाया है‌। सरकार ने संसद (parliament) में बताया है कि सेबी (SEBI) सहारा इंडिया के निवेशकों को अभी तक 138.07 करोड़ रुपये ही वापस कर पाया है।

सहारा इंडिया ने 232.85 लाख निवेशकों से 19400.87 करोड़ रुपये और सहारा हाउसिंग इन्वेस्टमेंट कॉरपोरेशन लिमिटेड (SHICL) ने 75.14 लाख निवेशकों से 6380.50 करोड़ रुपये एकत्र किए हैं। आपको बता दें कि सुप्रीम कोर्ट (supreme court) के 31 अगस्त, 2012 के बाद के आदेशों के अनुसार, SIRECL एवं SHICL ने निवेशकों (investors) से जुटाई गई 25,781.37 करोड़ की मूल राशि (principal amount) के मुकाबले 31 दिसंबर, 2021 तक सेबी-सहारा रिफंड खाते (SEBI-sahara refund account) में 15,503.69 करोड़ रुपये जमा किए हैं।

आपको बता दें कि सेबी को 81.70 करोड़ रुपये की कुल मूल राशि के लिए 53,642 ओरिजिनल बॉन्ड सर्टिफिकेट / पास बुक (original bond certificate/passbook) से जुड़े कुल 19,644 आवेदन प्राप्त हुए, जिसमें से सेबी ने 138.07 करोड़ रुपये की कुल राशि 48,326 ओरिजिनल बॉन्ड सर्टिफिकेट/पासबुक वाले 17,526 बांड होल्डर्स को रिफंड किया है।

डाटा में रिकॉर्ड ट्रेस न हो पाने की वजह से शेष आवेदन क्लोज कर दिए गए हैं (remaining applications were closed due to non traceable address)

सहारा मामले में सरकार की ओर से कहा गया है कि बाकी बचे शेष आवेदन या तो SIRECL और SHICL द्वारा उपलब्ध कराये गए दस्तावेजों (documents) एवं डाटा (data) में उनका रिकॉर्ड ट्रेस (record trace) न हो पाने के कारण बंद कर दिए गए हैं। या फिर सेबी (SEBI) द्वारा पूछे गए प्रश्नों को लेकर बांडधारकों (bond holders) से कोई प्रतिक्रिया (reaction) प्राप्त नहीं होने के कारण बंद कर दिए गए हैं।

सेबी ने अपना रिफंड किस आधार पर किया है? (SEBI has done refund on which basis?)

दोस्तों, अब आपको बताते हैं कि सेबी ने अपना रिफंड किस आधार पर किया है? वित्त राज्य मंत्री के अनुसार सुप्रीम कोर्ट (supreme court) द्वारा जारी निर्देशों (instructions) और सुप्रीम कोर्ट द्वारा नियुक्त पूर्व जस्टिस बीएन अग्रवाल (ex justice BN Agarwal) द्वारा दी गई सलाह (advise) के आधार पर सेबी ने रिफंड किया है।

आपको बता दें कि सेबी ने 21 अक्टूबर, 2021 को सुप्रीम कोर्ट में एक इंटरलोक्यूटरी एप्लिकेशन (interlocutory application) भी दायर की है। इस संबंध में कोर्ट से और दिशा निर्देश की मांग है।

वित्त विभाग ने सेबी एवं सहारा प्रमुख को पत्र भेजा है (finance department has sent letter to SEBI and sahara head)

मित्रों, यह तो आप जानते ही हैं कि सहारा लिस्टेड कंपनी (listed company) है, जिसे सेबी कंट्रोल (SEBI control) करता है। वित्त विभाग (finance department) की ओर से सेबी और सहारा प्रमुख को एक लेटर भेजा गया है।

वित्त मंत्री की ओर से कहा गया है कि सहारा के खिलाफ जो भी शिकायत मिल रही है, उसे सरकार देख रही है। विभाग इसके निदान के लिए हरसंभव प्रयास करेगा।

सहारा निवेशकों को उनका भुगतान कब तक मिलेगा? (Till when sahara investors will get their money back?)

जैसा कि हमने आपको बताया कि झारखंड सरकार सहारा निवेशकों के पैसे वापस दिलाने के लिए एक्शन मोड में है। ऐसे में इस राज्य के सहारा में पैसा लगाने वाले निवेशक इसकी उम्मीद कर सकते हैं कि उन्हें जल्द ही उनका बहुप्रतीक्षित पैसा वापस मिलेगा।

उधर, सहारा मामले में सहारा प्रमुख एवं उनके परिजनों को प्रतिवादी बनाने जाने की भी तैयारी चल रही है। कुल मिलाकर चौतरफा दबाव को देखते हुए यह माना जा सकता है कि सहारा निवेशकों का भुगतान उन्हें जल्द मिल सकता है।

सहारा निवेशकों की वर्तमान स्थिति क्या है? (What is the present condition of sahara investors?)

दोस्तों, बात यदि सहारा के निवेशकों की वर्तमान स्थिति की करें तो वह कोई बहुत बेहतर नहीं है। ऐसे हजारों लोग हैं जिनके कार्य अपने निवेश का पैसा वापस ना मिलने की वजह से अटके हुए हैं। ऐसे बहुत से लोग थे, जिनको अपनी लड़कियों की शादी करनी थी या अपने बच्चों के नए काम धंधे शुरू कराने थे या फिर उस पैसे से कोई और महत्वपूर्ण कार्य करना था, पैसा ना होने की वजह से बहुत से लोग इन कार्यों को शुरू नहीं कर सके हैं।

ऐसे भी बहुत से लोग हैं जिनकी मृत्यु हो चुकी है। उनका गम यह रहा कि वे सालों तक सहारा की योजनाओं में पैसे जमा करते रहे, लेकिन उन्हें अपने जीते जी यह राशि नहीं मिल पाई। वहीं जिन एजेंटों ने लोगों से लेकर कंपनी में पैसा जमा किया था उनका भी फील्ड में निकलना बहुत दूभर हो चुका है।

देश के कई शहरों में यह स्थिति है। यहां तक कि सहारा में काम करने वाले कर्मचारियों तक को उनका पैसा नहीं मिला है उनमें कंपनी को लेकर गुस्सा पनप रहा है। विभिन्न राज्यों में सरकारें बड़ी संख्या में लोगों से जुड़े इस मुद्दे को लेकर दबाव में हैं। यही वजह है कि अब उनके लिए आश्वासन देने से काम चलने वाला नहीं है। उनके लिए एक्शन ही एकमात्र उपाय बचा है।

सहारा निवेशकों के लिए पुलिस हेल्पलाइन नंबर क्या है?

सहारा निवेशकों के लिए पुलिस हेल्पलाइन नंबर 112 है।

सहारा इंडिया हेल्पलाइन नंबर किस राज्य ने जारी किया है?

यह हेल्पलाइन नंबर झारखंड राज्य के वित्त विभाग ने जारी किया है।

क्या सहारा एक लिस्टेड कंपनी है?

जी हां, सहारा एक लिस्टेड कंपनी है, जिसका कंट्रोल सेबी करता है।

सहारा निवेशकों का भुगतान कब तक होने की संभावना है?

सहारा निवेशकों का भुगतान चौतरफा दबाव को देखते हुए जल्द होने की संभावना है।

अभी तक सहारा निवेशकों को कितना भुगतान हो सका है?

अभी तक सहारा निवेशकों को 138.07 करोड़ रुपए ही रिफंड कर पाया है।

बहुत से आवेदन क्लोज किए जाने का क्या कारण है?

बहुत से आवेदनों को कंपनी द्वारा उपलब्ध कराए गए डाटा में पता ट्रेस न हो पाने के चलते क्लोज कर गया है। ऐसा सेबी के सवालों पर बांड होल्डर्स के कोई प्रतिक्रिया जाहिर न करने पर भी किया गया है।

निवेशकों का भुगतान किस खाते से किया गया है?

निवेशकों का भुगतान सेबी सहारा खाते से किया गया है।

दोस्तों, हमने आपको इस पोस्ट में बताया कि सहारा निवेशकों का भुगतान कब तक होगा? सहारा निवेशकों के लिए जारी किया गया हेल्पलाइन नंबर क्या है? उम्मीद है कि यदि आपका पैसा भी सहारा कंपनी में फंसा है तो बहुत जल्द आपको आप का भुगतान हो जाएगा। यदि इस पोस्ट को लेकर आपका कोई सवाल है तो आप उसे नीचे दिए गए कमेंट बॉक्स में कमेंट करके पूछ सकते हैं। आपकी प्रतिक्रियाओं का हमें इंतजार है। ।।धन्यवाद।

——————-

Contents show
Spread the love:

5 thoughts on “सहारा इंडिया का पैसा कब मिलेगा 2022? सहारा इंडिया हेल्पलाइन नंबर क्या है?”

  1. Sir,Sahara india Lucknow nivesaak help line Uttar Pradesh ,ka help line contact number,kya hai,aur sir,kab tak bhugtan karenge,, thanks sir,,

    Reply
  2. महोदय नमस्कार, मेरा नाम राकेश नेगी है मैं उत्तराखण्ड के रुद्रप्रयाग जिले का रहने वाला हूं। 2011से मैंने भी सहारा इंडिया में एजेंट का काम किया और कई लोगों को इस योजना से जोड़ा किंतु अब लोगों का पैसा वापस करना मुश्किल हो गया है लोग मेरे को परेशान कर रहे हैं मेरे पास सहारा की पास बुक व जमा रसीदें भी हैं लेकिन मैं उन्हें कहां लेकर जाऊं समझ में नहीं आ रहा।

    Reply

Leave a Comment

एक देश एक राशन कार्ड योजना नानाजी देशमुख कृषि संजीवनी योजना यूपी जनसंख्या कानून क्या है? मुख्यमंत्री कृषि आशीर्वाद योजना झारखण्ड कम्युनिकेशन स्किल इम्प्रूव करने के 8 तरीके