रीट क्या है? रीट एग्जाम योग्यता, एग्जाम पैटर्न, कोर्स, जॉब, सैलरी, करियर की पूरी जानकारी

|| REET kya hai, रीट में कितने पेपर होते हैं, रीट परीक्षा क्या है, REET level 2 Kya Hota Hai, रीट में पास होने के लिए कितने नंबर चाहिए, रीट परीक्षा के बारे में जानकारी, REET level 3 kya hota hai, रीट 2021 के लिए अधिकतम आयु सीमा, REET Level 1 Kya hota Hai ||

क्या आप राजस्थान के निवासी हैं और अध्यापक बनना चाहते हैं। यदि हां, तो आपके लिए राजस्थान में अध्यापक की भर्ती के लिए रीट परीक्षा में बैठना (Reet kya hota hai) अनिवार्य होता हैं। हालाँकि देशव्यापी तौर पर शिक्षक भर्ती के लिए TET या CTET की परीक्षा का आयोजन करवाया जाता हैं किंतु यदि आपको राजस्थान के किसी भी सरकारी, अर्ध सरकारी (Reet kaise pass kare) या निजी स्कूल में प्राइमरी टीचर की नौकरी चाहिए तो आपको रीट की परीक्षा देनी होगी।

रीट की परीक्षा देने के लिए आपको पहला अपनी स्नातक की पढ़ाई पूरी करनी होगी। उसके बाद ही आप रीट की परीक्षा में बैठ पाएंगे। ऐसे में रीट क्या है (What is reet exam in Hindi) और इसे कैसे दे, इत्यादि सभी विषयों के बारे में विस्तार से जानने के लिए इस लेख को अंत तक पढ़ें। आइए जाने रीट के बारे में सबकुछ विस्तार से।

रीट क्या है (REET kya hai)

राजस्थान सरकार के द्वारा उसके अंदर जितने भी स्कूल आते हैं उन्हें राजस्थान माध्यमिक शिक्षा बोर्ड के द्वारा मान्यता दी जाती हैं। इसी प्रकार हर राज्य का अपना माध्यमिक बोर्ड होता हैं। इनका पाठ्यक्रम भी अलग अलग होता है और इनके अंदर आने वाला स्कूल भी अलग अलग होते हैं।

इस तरह से राजस्थान मंधामिक शिक्षा बोर्ड के द्वारा अपने स्कूल में तीएसरी श्रेणी के अध्यापक अर्थात थर्ड ग्रेड टीचर की भर्ती के लिए रीट की परीक्षा आयोजित करवाई जाती हैं। इसमें जो छात्र पास होते हैं फिर उन्हें एक सर्टिफिकेट प्रदान किया जाता हैं। इसी सर्टिफिकेट के आधार पर ही उन्हें राजस्थान के विभिन्न शैक्षिक संस्थानों में नौकरी मिलती हैं।

रीट क्या है? रीट एग्जाम योग्यता, एग्जाम पैटर्न, कोर्स, जॉब, सैलरी, करियर की पूरी जानकारी

रीट की फुल फॉर्म (Reet ka full form)

यदि बात रीट की फुल फॉर्म की की जाए तो इसका पूरा नाम होगा राजस्थान एलेजिबिलिटी एग्जामिनेशन फॉर टीचर्स (Rajasthan Eligibility Examination for Teachers). यदि रीट के हिंदी नाम की बात की जाए तो रीट का हिंदी नाम होगा राजस्थान अध्यापक पात्रता परीक्षा। इस तरह से यदि आप राजस्थान में माध्यमिक विद्यालय के थर्ड ग्रेड टीचर बनने के लिए आवेदन करना चाहते हैं तो उसके लिए आपको रीट की परीक्षा देनी होगी।

रीट के तहत थर्ड ग्रेड टीचर की भर्ती (Reet ki bharti)

यदि आप रीट का पेपर देंगे तो आपको पास होने पर दो तरह की भाति मिल सकती हैं या फिर आप दो तरह की भर्ती के लिए आवेदन कर सकते हैं। यह दोनों (What is reet level 1 and 2 in Hindi) ही भर्ती थर्ड ग्रेड टीचर के लिए की जाएगी। लेकिन इसमें बच्चों को पढ़ाने का स्तर अलग अलग हो जाएगा। आइए दोनों के बारे में जाने।

रीट लेवल 1 के तहत भर्ती (Reet level 1 ki bharti)

यदि आप रीट की परीक्षा में लेवल 1 का पेपर देंगे तो आपकी नौकरी कक्षा एक से कक्षा पांच तक बच्चों को पढ़ाने की होगी। इस तरह से रीट का लेवल 1 पास करने पर आप सरकारी व अर्ध सरकारी स्कूल में कक्षा 1 से 5 तक के छात्रों के लिए थर्ड ग्रेड टीचर के रूप में नियुक्त किये जाएंगे।

रीट लेवल 2 के तहत भर्ती (Reet level 2 ki bharti)

यह रीट लेवल 1 से बड़ा होता हैं और इसके तहत मिलने वाली नौकरी और वेतन भी अधिक होता हैं। इसलिए यदि आप रीट का लेवल 2 का पेपर पास कर लेते हैं तो आप राजस्थान सरकार के अंतर्गत आने वाले सभी सरकारी व अर्ध सरकारी स्कूल के कक्षा 6 से कक्षा 8 तक के बच्चों को पढ़ा पाएंगे।

रीट की परीक्षा देने के लिए योग्यता (Reet ke liye yogyata)

अब यदि आप रीट की परीक्षा देना चाहते हैं तो इसके लिए आपका इसके लिए योग्य भी होना चाहिए। हालाँकि यह आप पर निर्भर करता हैं कि आप रीट की कौन इ लेवल की परीक्षा देना चाहते हैं क्योंकि इसके लिए योग्यताएं अलग अलग होती हैं। इसलिए यदि आप रीट लेवल 1 का पेपर देंगे तो उसके लिए अलग मप्दंद्द हैं और यदि लेवल 2 का देंगे तो उसके लिए अलग मापदंड हैं।

हालाँकि दोनों ही परीक्षा देने के लिए आपका न्यूनतम बारहवीं पास होना आवश्यक हैं। उसके बाद आपने क्या किया हुआ हैं, यह रीट की लेवल देने के ऊपर निर्भर करता हैं। तो आइए उनके बारे में भी जान लेते हैं कि रीट की परीक्षा देने के लियेआप्का कितना पढ़ा होना आवश्यक होता हैं।

रीट लेवल 1 देने के लिए योग्यता

रीट का लेवल 1 की परिखा देने के लिए आपके पास एलीमेंट्री एजुकेशन में डिप्लोमा की डिग्री होनी चाहिए। इसके साथ झी आपके बारहवीं कक्षा में न्यूनतम 50 प्रतिशक अंक आने चाहिए। इसलिए यदि आपके बारहवीं कक्षा में न्यूनतम 50 प्रतिशक अंक आये हैं और आपने 2 वर्ष का डिप्लोमा या उससे बड़ी कोई डिग्री ली हुई हैं तो फिर आप रीट की परीक्षा में बैठ सकते हैं।

हालाँकि यह अनिवार्य नही हैं कि आपने अपनी बारहवीं कक्षा में कौन सी स्ट्रीम ली थी। आपने चाहे अपनी 11वीं व बारहवीं कक्षा में आर्ट्स ली हो या कॉमर्स या अन्य कोई विषय, आप रीट लेवल 1 की परीक्षा में बैठ सकते हैं। इसके साथ ही आपका 2 वर्षीया डिप्लोमा किया हुआ होना आवश्यक हैं। आप चाहे तो बीएड करके भी रीट लेवल 1 का एग्जाम दे सकते हैं।

रीट लेवल 2 देने के लिए योग्यता

अब बात करते हैं कि यदि आप रीट का लेवल 2 का पेपर देने जा रहे हैं तो उसके लिए आपका कितना योग्य होना चाहिए। दरअसल यह पेपर देकर आप सरकारी व अर्ध सरकारी स्कूल में बड़ी कक्षा अर्थात कक्षा 6 से 8 तक के बच्चों को पढ़ा पाएंगे। ऐसी स्थिति में आपकी पढ़ाई भी ज्यादा होनी चाहिए।

तो यदि आप रीट की लेवल 2 की परीक्षा देना चाहते हैं तो सबसे पहले अपनी बारहवीं की कक्षा को पास करें। इसमें आपके न्यूनतम 50 प्रतिशत अंक आने चाहिए। यदि आपके बारहवीं कक्षा में 50 प्रतिशत अंक हैं तो आपको फिर से बारहवीं करनी पड़ेगी। हालाँकि आप बारहवीं किसी भी क्षेत्र में कर सकते हैं लेकिन आर्ट्स से करेंगे तो बेहतर रहेगा।

बारहवीं करने के बाद आपको किसी विषय में स्नातक की डिग्री लेनी पड़ेगी। आप वह अपने अनुसार चुन सकते हैं। आप चाहे तो बीए कर सकते हैं या फिर बीकॉम भी। यह आप पर निर्भर करता हैं कि आप आगे क्या पढ़ना चाहते हैं और फिर रीट की परीक्षा देना चाहते हैं।

जब आप स्नातक की डिग्री ले लेंगे तो आपका उसके बाद दो वर्ष के लिए बीएड का कोर्स करना और उसकी डिग्री लेना अनिवार्य होता हैं। यदि आपके पास बीएड की डिग्री हैं तभी आप रीट की लेवल 2 की परीक्षा में बैठ पाएंगे। यह बात हमेशा ध्यान रखे कि यदि आपको सरकारी स्कूल में प्राइमरी मास्टर या थर्ड ग्रेड टीचर में उच्च श्रेणी की नौकरी चाहिए तो आपके पास बीएड की डिग्री होना अनिवार्य हैं।

यदि किसी कारणवश आप बीएड नही करना चाहते हैं या नही कर पाते हैं तो आप रीट की लेवल 2 की परीक्षा में बैठने के लिए कुछ अन्य कोर्स जो कि बीएड से ही संबंधित हैं वह कर सकते हैं। उन कोर्स में कुछ के नाम B.A/B.Sc.Ed or B.A.Ed/B.Sc.Ed. है। जब आप यह सब कर ले तो आप रीट की परीक्षा में बैठ सकते हैं।

रीट के लिए आवेदन करना (Reet form kaise bhare)

अब यदि आपने ऊपर बताये गए सभी मापदंडो को पूरा कर लिया हैं तो आप रीट की परीक्षा भी देना चाहते होंगे। तो हम आपको बता दे किक समय समय पर राजस्थान सरकार के द्वारा इसके लिए अधिसूचना निकाली जाती हैं। इसमें रीट से संबंधित हर जानकारी का ब्यौरा होता हैं। यदि आप रीट की परीक्षा देना चाहते हैं तो आपको रीट के लिए निकालने वाले notification का ध्यान रखना होगा।आइए जाने चरण डर चरण तरीके से कि आप रीट के लिए कैसे आवेदन कर सकते हैं।

  • सबसे पहले आपको राजस्थान सरकार की माध्यमिक शिक्षा बोर्ड वाली वेबसाइट पर जाना होगा जिसका लिंक https://rajeduboard.rajasthan.gov.in/ है।
  • इसके बाद जैसे ही आप यहाँ क्लिक करेंगे तो आपको रीट से संबंधित अधिसूचना मिल जाएगी और आपको बस संबंधित लिंक पर क्लिक करना होगा।
  • यह लिंक आपको वर्ष के आधार पर दिखाई देंगे जिसे आप अपने वर्तमान वर्ष के आधार पर क्लिक कर खोल सकते हैं।
  • अब जब आप वह लिंक खोल लेंगे तो वहां आपको रीट के लिए आवेदन करने के बारे में सबकुछ मिल जाएगा।
  • जैसे ही रीट की भर्ती निकलेगी तो उसमे आपको आवेदन करने को कहा जाएगा।
  • आप अपनी सब जानकारी ऑनलाइन माध्यम से भर दे और उसे सबमिट कर दे।
  • इसमें आपकी जानकारी में आपका नाम, जन्म तिथि, घर का पता, मोबाइल नंबर, बारहवीं के नंबर. स्नातक की डिग्री इत्यादि चीज़े मांगी जाएगी।
  • जब आप यह सब भर देंगे तो उसके कुछ समय के बाद रीट की परीक्षा के लिए प्रवेश पत्र ऑनलाइन दे दिए जाएंगे।
  • आप चाहे तो फिर से ऊपर दी गयी वेबसाइट पर क्लिक कर रीट का प्रवेश पत्र डाउनलोड कर सकते हैं।
  • इस प्रवेश पत्र में आपकी रीट की परीक्षा से संबंधित हर जानकारी लिखी होगी जैसे कि आपका रोल नंबर, नाम, फोटो, परीक्षा की तिथि, समय व स्थान इत्यादि।
  • आप इस प्रवेश पत्र को ध्यान से पढ़ें और इसमें दी गयी सभी जानकारी का पालन करें। ऐसा इसलिए क्योंकि यदि आप बिना जानकारी पढ़े रीट की परीक्षा देने गए तो किसी महत्वपूर्ण चीज़ को भूल सकते हैं।

रीट परीक्षा का सिलेबस (Reet 2022 syllabus in Hindi)

अब जब आप रीट की परीक्षा देने जा रहे हैं तो आपका रीट की परीक्षा का सिलेबस के बारे में जानना भी आवश्यक हैं। यदि आपको सिलेबस के बारे में अच्छे से जानकरी होगी तो आप उसका पेपर भी सही दे पाएंगे। इसलिए आइए जाने रीट का सिलेबस (Reet ka syllabus) क्या हैं और उसमे किन किन विषयों से क्या क्या प्रश्न पूछे जा सकते हैं।

सबसे पहले तो यह जान ले कि रीट की परीक्षा में कुल 150 प्रश्न पूछे जाते हैं जिन्हें करके के लिए 2 घंटे 30 मिनट का समय होता हैं। साथ ही इसमें प्रत्येक प्रश्न का एक नंबर मिलता हैं और गलत उत्तर देने पर कोई अंक नही काटे (Reet me negative marking) जाते हैं। कहने का अर्थ यह हुआ कि आप नीट की परीक्षा में सभी प्रश्नों के उत्तर दे सकते हैं क्योंकि इसमें गलत उत्तर पर आपके कोई भी अंक नही काटे जाएंगे।

नीट की परीक्षा में आपसे चार से पांच विषय पर प्रश्न पूछे जाएंगे। उन विषयों के प्रश्न भी निर्धारित होंगे और उनके अंक भी। इसलिए आइए जाने की नीट की परीक्षा में किस विषय से किते प्रश्न पूछे जा सकते हैं।

  • भाषा प्रथम (हिंदी/ अंग्रेजी/ संस्कृत/ पंजाबी/ गुजराती/ सिन्धी/ उर्दू) – कुल 30 प्रश्न
  • भाषा द्वितीय (हिंदी/ अंग्रेजी/ संस्कृत/ पंजाबी/ गुजराती/ सिन्धी/ उर्दू) – कुल 30 प्रश्न
  • बाल विकास व शिक्षा – कुल 30 प्रश्न
  • गणित – कुल 30 प्रश्न
  • पर्यावरण शिक्षा – कुल 30 प्रश्न

इस तरह से रीट की परीक्षा में आने वाले हर विषय के प्रश्न और उनके अंक सामान होंगे। इसमें कुल 5 विषय होंगे जिनमे प्रत्येक के 30 प्रश्न व 30 अंक निर्धारित होंगे। इसी के आधार पर आपका चयन किया जाएगा।

रीट की परीक्षा कैसे होती है (Reet exam kaise hota hai)

अब आपको जानना होगा कि आखिरकार रीट की परीक्षा कैसे होती हैं। अर्थात रीट की परीक्षा ऑनलाइन होती है या ऑफलाइन माध्यम से। दरअसल आज एक समय में जब ज्यादातर सभी परीक्षाएं ऑनलाइन माध्यम से होने लगी हैं तो वही रीट की परीक्षा को ऑफलाइन माध्यम से ही लिया जाता हैं। इसमें आपको ओएमआर शीत दी जाएगी जिसमें आपको कडिये गए विकल्प में से एक विकल्प का चुनाव करना होगा।

रीट का पेपर कौन सी भाषा में दे (Reet exam language)

अब जब आप रीट की परीक्षा देने जा रहे हैं तो आपको यह प्रश्न पेपर दो भाषाओँ में मिलेगा। पहली भाषा हिंदी होगी तो दूसरी अंग्रेजी। इस तरह से आप जिस भी भाषा में ज्यादा सहज हैं आप उसी भाषा में रीट के पेपर को दे सकते हैं।

रीट की तैयारी कैसे करें (Reet ki taiyari kaise kare)

यदि आप रीट की परीक्षा में जल्दी से जल्दी पास होना चाहते हैं तो आपको इसकी तैयारी भी जमकर करनी होगी। दरअसल हर वर्ष लाखों की संख्या में परीक्षार्थी रीट की परीक्षा देते हैं। अब उनमे से आपका भी चयन हो जाए तो इसके लिए आपकी तैयारी भी पक्की होनी चाहिए।

इसलिए रीट की तैयारी आप अपने कॉलेज के स्तर पर ही शुरू कर दीजिए। कहने का अर्थ यह हुआ कि जब आप्नाप्नी स्नातक या डिग्री कर रहे होंगे तभी आप रीट की तैयारी भी कर देंगे तो ज्यादा बेहतर रहेगा। इससे रीट में सिलेक्शन होने के चांस बढ़ जाएंगे।

साथ ही आप अपने पूरे दिन का एक निर्धारित schedule बनाए और उसी के अनुसार रीट की परीक्षा की तैयारी करे। यदि आप एक निर्धारित दिनचर्या के अनुसार रीट की तैयारी करेंगे तो अवश्य ही सफल होंगे। साथ ही प्रतिदिन 3 से 4 घंटे की सिटिंग दे ताकि पूरा सिलेबस कवर हो सके।

रीट की परीक्षा देने के बाद (Reet selection process 2022 in Hindi)

अब जब आप रीट की परीक्षा को सफलता पूर्वक दे देंगे तो उसके बाद आपको कुछ समय के लिए प्रतीक्षा करनी होगी। यह सभी पेपर जांच के लिए जाएंगे और आपकी ओएमआर शीत को उत्तर तालिका से जंचा जाएगा। इसी के आधार पर सभी का परिणाम निकलेगा। इस बात का ध्यान रखे कि रीट में 60 प्रतिशत से ज्यादा अंक लाने पर आप उसमे उत्तीर्ण माने जाएंगे।

कहने का अर्थ यह हुआ कि यदि आपके रीट में 60 प्रतिशत से ज्यादा अंक आते हैं तो समझ जाइये कि आपने रीट की परीक्षा को पास कर लिया हैं। अब आपको रीट के द्वारा एक सर्टिफिकेट दिया जाएगा जो कि 7 वर्ष के लिए मान्यता प्राप्त होगा। पहले इसकी मान्यता केवल 3 वर्ष के लिए ही होती थी लेकिन अब इसे बढ़ाकर 7 वर्ष कर दिया गया हैं।

साथ ही पहले इस सर्टिफिकेट में रीट में मिले अंकों का प्रतिशत 70 होता था और डिग्री में मिले अंकों का प्रतिशत 30 होता था जो कि अब 90 व 10 कर दिया गया हैं। इस तरह से रीट में मिले अंकों का प्रतिशत 70 से बढ़कर 90 हो गया है और डिग्री में मिले अंकों का प्रतिशत 30 से घटकर 10 रह गया हैं।

रीट में नौकरी करना (Reet jobs)

अब जब आप रीट की परीक्षा को पास कर लेंगे तो राज्य सरकार के द्वारा आपके नाम पर एक सर्टिफिकेट जारी किया जाएगा जिसे आप ऑनलाइन व ऑफलाइन दोनों माध्यम से प्राप्त कर सकते हैं। अब इस सर्टिफिकेट व रीट में मिले आपके अंकों के आधार पर आपको स्कूल में आवेदन करना होगा।

आपको कौन सा स्कूल मिलेगा और कहां पर मिलेगा यह पूर्ण रूप से आपके रीट में आये अंकों पर ही निर्धारित करेगा। हालाँकि एक बार जब आपको रीट में नौकरी मिल गयी तो आप कुछ वर्षों तक उस स्कूल में नौकरी करने के पश्चात वहां से स्थानान्तरण की अर्जी दे सकते हैं।

रीट का पेपर देने के लिए टिप्स (Reet exam tips in Hindi)

यदि आप रीट का पेपर देने जा रहे हैं तो इसके लिए कुछ जरुरी चीज़े हैं जिनका आपको ध्यान रखना चाहिए। दरअसल पिछले कुछ समय में हुई रीट भर्ती की परीक्षा एम् परीक्षार्थियों को कई समस्याओं का सामना करना पड़ा था। ऐसा उनके द्वारा रीट के नियमो का पालन नही करने या उन्हें अनदेखा करने के कारण हुआ।

जैसे कि कुछ परीक्षार्थी रीट की परीक्षा (Reet preparation tips in Hindi) में देरी से पहुंचे तो कुछ गलत जगह पहुँच गए। कहने का अर्थ यह हुआ कि रीट की परीक्षा राजस्थान के गाँव, शहर, कस्बो इत्यादि कही भी आयोजित करवाई जा सकती हैं। इस्लीय आपको मिला सेंटर कही भी हो सकता हैं। अब कई शहर में जो गाँव होते हैं उनके नाम एक जैसे होते हैं या उनके नाम में थोड़ा बहुत ही अंतर होता हैं।

ऐसे में आपका रीट का जो प्रवेश पत्र आया हैं, उसे अच्छे से चेक कर ले और स्थान, तिथि आदि को ध्यान से पढ़ें ताकि बाद में कोई समस्या ना हो। इसके अलावा आप अपने सेंटर पर 3 घंटे पहले ही पहुँच जाएंगे तो ज्यादा बेहतर रहेगा।

इसी के अथ उस प्रवेश पत्र में जो जो बातें लिखी गयी हैं व दिशा निर्देश दिए गए हैं, उन्हें ध्यान से और बारीकी से पढ़ें। ऐसा इसलिए क्योंकि बहुत से परीक्षार्थी इस पर ध्यान नही देते जिसका परिणाम उन्हें बाद में भुगतना पड़ता हैं। इसलिए आप ऐसी गलती बिल्कुल ना करें और इन्हें ध्यान से पढ़ें।

रीट की नौकरी में सैलरी (Reet me salary kitni hoti hai)

यदि रीट की नौकरी में मिलने वाली सैलरी की बात की जाए तो वह लेवल 1 के अध्यापकों के लिए 20 हज़ार से लेकर 40 हज़ार के बीच में होगी जबकि लेवल 2 के अध्यापकों के लिए 30 हज़ार से लेकर 50 हज़ार के बीच में होगी। इसी के साथ सरकार के द्वारा अन्य भत्ते भी दिए जाएंगे जैसे कि पेट्रोल, बिजली, पानी इत्यादि का खर्चा व बिल।

रीट क्या है – Related FAQs

प्रश्न: Reet में पास होने के बाद क्या होता है?

उत्तर: Reet में पास होने के बाद आप राजस्थान के सरकारी व अर्ध सरकारी स्कूल में थर्ड ग्रेड टीचर बनते हैं।

प्रश्न: रीट के लिए क्या योग्यता होनी चाहिए?

उत्तर: रीट लेवल 1 की परीक्षा देने के लिए आपका स्नातक होना और लेवल 2 की परीक्षा देने के लिए बीएड की हुई होनी चाहिए।

प्रश्न: रीट की परीक्षा से कौन सी नौकरी लगती है?

उत्तर: रीट की परीक्षा से सरकारी विद्यालय में तृतीय श्रेणी अध्यापक की नौकरी लगती है।

प्रश्न: रीट में कौन कौन से सब्जेक्ट है?

उत्तर: रीट में हिंदी, अंग्रेजी, गणित, बाल शिक्षा व पर्यावरण से संबंधित सब्जेक्ट आते हैं।

प्रश्न: रीट में पास होने के लिए कितने नंबर चाहिए?

उत्तर: रीट में पास होने के लिए 60 प्रतिशत नंबर चाहिए।

Contents show
Spread the love:

Leave a Comment

एक देश एक राशन कार्ड योजना नानाजी देशमुख कृषि संजीवनी योजना यूपी जनसंख्या कानून क्या है? मुख्यमंत्री कृषि आशीर्वाद योजना झारखण्ड कम्युनिकेशन स्किल इम्प्रूव करने के 8 तरीके