आरएएस अधिकारी बनने के लिए क्या करें? RAS Officer Kaise Bane?

|| आरएएस अधिकारी बनने के लिए क्या करें? (What to do to become a RAS officer? घर बैठे RAS की तैयारी कैसे करे?, आर ए एस का फॉर्म भरने के लिए क्या क्या डॉक्यूमेंट चाहिए?, RAS में कौन कौन से सब्जेक्ट आते हैं?, RAS में कितने पद होते हैं? ||

हमारे देश में प्रशासनिक सेवाओं (administrative services) में जाने के लिए युवाओं में एक अलग ही तरह का क्रेज (craze) देखने को मिलता है। इस सेवा के साथ जुड़ा रुतबा ज्यादातर को अपनी ओर खींचता है। मां-बाप भी अपने बच्चों को बड़ा अफसर बनने की चाहत में उनके लिए बड़ी से बड़ी कुर्बानी देने से नहीं चूकते।

सबसे अधिक प्रतियोगी आईएएस यानी भारतीय प्रशासनिक सेवाओं में जाना चाहते हैं। इसके बाद उनकी प्राथमिकता अपने राज्यों की प्रशासनिक सेवा होती है। यदि बात राजस्थान (rajasthan) की करें तो यहां के युवाओं में भी आरएएस का खूब क्रेज है। वे भी राज्य की सबसे प्रतिष्ठित सेवा के अधिकारी बनकर नाम कमाने की चाह रखते हैं।

यदि आप भी राजस्थान के रहने वाले हैं और प्रशासनिक सेवा में जाना चाहते हैं तो आज आप एकदम सही ठिकाने पर हैं। आज हम आपको इस पोस्ट में आरएएस (RAS) से संबंधित सारी जानकारी देने का प्रयास करेंगे। उम्मीद है कि आपको यह पोस्ट पसंद आएगी-

आरएएस क्या होता है? (What is RAS?)

जैसा कि हमने आपसे वादा किया है कि हम आपको आरएएस (RAS) से संबंधित सारी जानकारी देंगे, सबसे पहले हम जानेंगे कि आरएएस क्या होता है? (What is RAS) यदि फुल फार्म (full form) की बात करें तो आरएएस की फुल फार्म राजस्थान एडमिनिस्ट्रेटिव सर्विस (rajasthan administrative service) होती है। इसे हिंदी में राजस्थान प्रशासनिक सेवा भी कहा जाता है।

आरएएस अधिकारी बनने के लिए क्या करें? RAS Officer Kaise Bane?

आरएएस के क्या क्या कार्य होते हैं? (What are the functions of a RAS)

आप बेशक एक आरएएस अधिकारी बनना चाहते हैं, लेकिन क्या आप जानते हैं कि एक राजस्थान प्रशासनिक सेवा का अधिकारी क्या करता है? आपके लिए यह जानना भी बेहद आवश्यक है। एक आरएएस की निम्न जिम्मेदारियां होती हैं-

  • * राज्य सरकार के निर्देशों का अनुपालन कराना।
  • * सरकारी योजनाओं को कागजों से धरातल तक पहुंचाना।
  • * सरकारी योजनाओं की प्रगति रिपोर्ट बनाकर उच्च अधिकारियों तक भेजना।
  • * अधीनस्थ अधिकारियों के कार्यों को मानिटर करना।
  • * नियम विरुद्ध कार्य करने वाले लोगों पर कार्रवाई करना।

आरएएस के लिए परीक्षा का आयोजन कौन कराता है? (Who conduct the exam for RAS)

आरएएस के लिए भर्ती राजस्थान लोक सेवा आयोग (Rajasthan Public Service Commission) अर्थात आरपीएससी (RPSC) द्वारा की जाती है। यह राजस्थान सरकार (rajasthan government) के अधीन एक ऐसा बोर्ड है, जो प्रदेश में प्रशासनिक कार्यों के लिए अधिकारियों के चयन के लिए जिम्मेदार है।

आयोग ही राजस्थान के अभ्यर्थियों/नागरिकों के लिए वर्ष में एक बार भर्ती निकालता है। आयोग के द्वारा ही आरएएस (RAS) के लिए प्रवेश परीक्षा का आयोजन किया जाता है। इससे पूर्व परीक्षा के लिए बाकायदा अधिसूचना (notification) जारी की जाती है एवं विज्ञापन (advertisement) निकाला जाता है।

ताकि प्रत्येक पात्र अभ्यर्थी (eligible contestent) परीक्षा में बैठने के लिए आवेदन कर सके। इसी में परीक्षा संबंधी नियमों एवं अर्हताओं (rules and eligibility) आदि की भी जानकारी दी जाती है।

आरएएस की परीक्षा में बैठने के लिए न्यूनतम शैक्षिक योग्यता क्या है? (What is the minimum eligibility to apply for exam of RAS?)

आरएएस की परीक्षा में बैठने के लिए न्यूनतम शैक्षिक योग्यता (minimum educational qualification) किसी भी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय (recognised university) से ग्रेजुएशन की डिग्री हासिल होना रखी गई है। इसमें स्ट्रीम की किसी प्रकार की कोई बाध्यता नहीं है।

इसका अर्थ है कि आर्ट्स, साइंस अथवा कॉमर्स किसी भी शाखा में ग्रेजुएट छात्र अथवा छात्रा आरएएस के लिए आयोजित परीक्षा में बैठने का हकदार हो सकता/सकती है। इसके अतिरिक्त अंक प्रतिशत की भी कोई बाध्यता नहीं रखी गई है।

आरएएस की परीक्षा में कितनी उम्र तक बैठा जा सकता है? (What is the age related eligibility to take RAS exam?)

आरएएस (RAS) में बैठने की उम्र न्यूनतम (minimum) 21 वर्ष एवं अधिकतम (maximum) 35 वर्ष निर्धारित की गई है। साफ है कि आरएएस की परीक्षा की तैयारी के लिए प्रतियोगी के पास खासा समय होता है।

आम तौर पर एक छात्र 21 वर्ष की उम्र तक ग्रेजुएशन कर चुका होता है। यही कारण है कि आरएएस बनने के लिए न्यूतनम उम्र 21 निर्धारित की गई है।

क्या आरएएस परीक्षा के लिए आरपीएससी द्वारा कोई शुल्क भी लिया जाता है? (Is there any fee to apply for RAS exam?)

प्रत्येक सरकारी भर्ती परीक्षा की भांति आवेदकों को आरएएस परीक्षा में बैठने के लिए आवेदन करते वक्त शुल्क चुकाना होता है। 2021 तक सामान्य आवेदकों के लिए यह शुल्क 350 रूपये निर्धारित था। विभिन्न आरक्षित श्रेणियों के अभ्यर्थियों को राजस्थान सरकार के नियमानुसार उम्र एवं आवेदन शुल्क में छूट प्रदान की जाती है।

आरएएस परीक्षा कितने चरणों में आयोजित की जाती है? (RAS exam is conducted in how many parts?)

आरएएस परीक्षा अन्य तमाम प्रशासनिक सेवा परीक्षाओं की भांति तीन ही चरणों में आयोजित की जाती है। ये चरण निम्नवत हैं-

1. प्रारंभिक परीक्षा (preliminary exam)

इस परीक्षा में बहु विकल्पीय प्रश्न (multiple choice questions) पूछे जाते हैं। यह परीक्षा 200 अंकों की होती है। 200 ही प्रश्न पूछे जाते हैं। इसका अर्थ है कि प्रत्येक सवाल के लिए एक अंक निर्धारित है। परीक्षा के दूसरे चरण में जाने के लिए यह परीक्षा पास करना अनिवार्य है।

2. मुख्य परीक्षा (main exam)

जो परीक्षार्थी प्रारंभिक परीक्षा उत्तीर्ण कर लेते हैं, केवल उन्हें ही मुख्य परीक्षा में बैठने का अवसर दिया जाता है। यह परीक्षा कुल 800 अंकों की होती है। इसमें चार पेपर होते हैं, जो कि 200-200 अंकों के होते हैं। इस परीक्षा को पास करने वाले ही परीक्षा के अंतिम चरण तक पहुंचते हैं।

3. साक्षात्कार (interview)

यह परीक्षा का अंतिम चरण है। जो परीक्षार्थी मुख्य परीक्षा उत्तीर्ण कर लेते हैं, उन्हें साक्षात्कार (interview) के लिए न्योता भेजा जाता है। इंटरव्यू पास करने वाले अभ्यर्थियों का मेरिट लिस्ट (merit list) तैयार कर नतीजा (result) घोषित किया जाता है। इसकी रैंकिंग (ranking) के आधार पर अभ्यर्थियों को विभिन्न पदों के लिए चुना जाता है।

आरएएस की परीक्षा आनलाइन होती है अथवा आफलाइन? (RAS exam is conducted online or offline?)

इन दिनों आनलाइन का युग है। प्रत्येक कार्य इन दिनों व्यक्ति आनलाइन करने में सक्षम है। विभिन्न परीक्षाओं का आयोजन भी आनलाइन ही किया जाता है। लेकिन आरएएस की परीक्षा का आयोजन ऑफलाइन ही किया जाता है। इससे संबंधित नियम-निर्देश सभी परीक्षा से पूर्व प्रवेश पत्र में आवेदकों के ध्यानार्थ लिख दिए जाते हैं, ताकि सभी इन्हें पढ़कर परीक्षा दें।

एक आरएएस का वेतन कितना होता है? (What is the salary of a RAS officer?)

आरएएस की तैयारी करने वाला प्रत्येक अभ्यर्थी यह अवश्य जानना चाहता है कि एक आरएएस का वेतन कितना होता है? आपकी इसी उत्सुकता को देखते हुए हम आपको यह जानकारी देने जा रहे हैं। एक आरएएस का वेतन निम्नवत है-

  • राजस्थान प्रशासनिक सेवा
  • राजस्थान ग्रामीण विकास सेवा
  • राजस्थान लेखा सेवा
  • राजस्थान पुलिस सेवा
  • राजस्थान बीमा सेवा
  • राजस्थान महिला एवं बाल विकास सेवा

नोट – इन पदों पर वेतनमान 15,600-39,100 रुपये एवं ग्रेड पे 5,400 रुपये (L-14) है। वेतन 61,100-66,000 रुपये है

  • राजस्थान वाणिज्यिक कर सेवा
  • राजस्थान पर्यटन सेवा
  • राजस्थान उद्योग सेवा
  • राजस्थान जेल सेवा
  • राजस्थान परिवहन सेवा
  • राजस्थान खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति सेवाएं
  • राजस्थान देवस्थान सेवा
  • राजस्थान सहकारी सेवा
  • राजस्थान नियोजन कार्यालय सेवा
  • राजस्थान श्रम कल्याण सेवा
  • राजस्थान उत्पाद शुल्क सामान्य सेवा
  • राजस्थान आबकारी रोकथाम अधिकारी सेवा
  • राजस्थान सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता सेवा

नोट – इन पदों पर वेतनमान 9,300-34,800 रूपये एवं ग्रेड पे 4,800 रुपये (L-12) है। वेतन 40,000-45,500 रुपये है

  • राजस्थान सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता सेवा परिवीक्षा एवं कारागृह कल्याण अधिकारी
  • राजस्थान सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता सेवा सामाजिक सुरक्षा अधिकारी
  • राजस्थान तहसीलदार सेवा
  • राजस्थान रोजगार अधीनस्थ सेवा
  • राजस्थान महिला एवं बाल विकास अधीनस्थ सेवा
  • राजस्थान अल्पसंख्यक मामले सेवा

नोट – इन पदों पर वेतनमान 9,300-34,800 रुपये, ग्रेड पे 4,200 रुपये (L-11) है। वेतन 35,500-42,500 रुपये है

  • राजस्थान अधीनस्थ देवस्थान सेवा
  • राजस्थान आबकारी अधीनस्थ सेवा
  • राजस्थान वाणिज्यिक कर अधीनस्थ सेवा
  • राजस्थान खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति अधीनस्थ सेवा
  • राजस्थान अधीनस्थ सेवा नियोजन
  • राजस्थान सहकारी अधीनस्थ सेवा
  • राजस्थान श्रम कल्याण अधीनस्थ सेवा

नोट – इन पदों पर वेतनमान 9,300-34,800 रुपये एवं ग्रेड पे 3,600 रुपये (L-10) है। वेतन 33,500-38-500 रूपये है
वेतन के अतिरिक्त आरएएस (RAS) को कई प्रकार के भत्ते एवं सुविधाएं भी मिलती हैं, जो कि निम्नवत हैं-

  • गाड़ी/ड्राइवर।
  • मकान किराया भत्ता।
  • नौकर-चाकर।
  • इंटरनेट सुविधा।
  • राज्य द्वारा टेलीफोन/मोबाइल/ब्राडबैंड कनेक्शन/बिजली बिल के भुगतान की सुविधा।
  • स्टडी लीव।
  • पेंशन आदि।

एक आरएएस की पहली पदोन्नति कब होती है? (When does a RAS officer get his first promotion?)

सामान्य रूप से आरएएस अधिकारी (RAS officer) का वेतन, पदोन्नति, पद एवं अन्य कारणों के मद्देनजर बढ़ता है। किसी आरएएस की पदोन्नति कब होगी, यह राजस्थान सरकार तय करती है। अमूमन पहली पदोन्नति 9 से लेकर 10 साल की सेवा के पश्चात हो जाती है।

आरएएस बनने के लिए क्या करें? (What to do to become a RAS officer?)

अब हम मुख्य सवाल पर आते हैं। सवाल यह कि आरएएस बनने के लिए क्या करें? जवाब यह है कि आरएएस बनने के लिए आपको आरपीएससी (RPSC) द्वारा आयोजित परीक्षा उत्तीर्ण करनी होगी।

इससे पूर्व आप इस परीक्षा में बैठने के पात्र हो जाएं, उसके लिए आपको किसी भी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय से ग्रेजुएशन (graduation) अर्थात स्नातक की परीक्षा उत्तीर्ण करनी होगी। आपको उम्र संबंधी पात्रता भी पूरी करनी आवश्यक है। इसका अर्थ यह है कि आपकी उम्र 21 वर्ष से कम एवं 35 वर्ष से अधिक न हो।

इसके बाद आपको प्रारंभिक परीक्षा (preliminary exam), मुख्य परीक्षा (main exam) एवं साक्षात्कार (interview) इन तीनों चरणों को पास कर इन पर खरा उतरना होगा। इसके पश्चात ही आप एक आरएएस अधिकारी बन पाएंगे।

आरएएस बनने के लिए तैयारी कब से शुरू कर देनी चाहिए? (From when one should start preparations to become a RAS?)

बहुत से प्रतियोगी यह जानना चाहते हैं कि आरएएस बनने के लिए तैयारी कब शुरू कर देनी चाहिए? इसका कोई तय मापदंड नहीं है। अधिकांश छात्र/छात्राएं 12वीं की परीक्षा उत्तीर्ण करने के बाद से आरएएस की परीक्षा में बैठने के लिए तैयारी शुरू कर देते हैं।

राजस्थान में कई कोचिंग संस्थान (coaching institutes) ऐसे हैं, जो इस परीक्षा के लिए तैयारी भी कराते हैं। छात्र चाहें तो इन संस्थानों की भी मदद ले सकते हैं।

आरएएस क्या होता है?

आरएएस की फुल फार्म राजस्थान एडमिनिस्ट्रेटिव सर्विस होती है। इसे हिंदी में राजस्थान प्रशासनिक सेवा भी कहा जाता है।

आरएएस के लिए परीक्षा का आयोजन कौन करता है?

आरएएस के लिए परीक्षा का आयोजन आरपीएससी अर्थात राजस्थान लोक सेवा आयोग करता है।

एक आरएएस बनने के लिए न्यूनतम शैक्षिक योग्यता क्या है?

आरएएस बनने के लिए न्यूनतम शैक्षिक योग्यता ग्रेजुएशन है।

आरएएस बनने के लिए क्या उम्र निर्धारित है?

आरएएस बनने के लिए न्यूनतम 21 वर्ष एवं अधिकतम 35 वर्ष निर्धारित की गई है।

क्या आरएएस के लिए आवेदन करने को कोई अंक प्रतिशत संबंधी बाध्यता भी है?

जी नहीं, आरएएस के लिए आवेदन करने को कोई अंक प्रतिशत संबंधी बाध्यता निर्धारित नहीं की गई है।

क्या राजस्थान के अतिरिक्त किसी अन्य राज्य का निवासी आरएएस परीक्षा में बैठ सकता है?

जी नहीं, यह परीक्षा केवल राजस्थान के अभ्यर्थियों के लिए आयोजित की जाती है।

आरपीएससी द्वारा आयोजित परीक्षा के कितने चरण होते हैं?

आरपीएससी द्वारा आयोजित प्रवेश परीक्षा के तीन चरण होते हैं-प्रारंभिक परीक्षा, मुख्य परीक्षा एवं साक्षात्कार।

आरएएस बनने के लिए क्या करें?

आरएएस बनने के लिए क्या करें, इस संबंध में जानकारी ऊपर पोस्ट में दे दी गई है, आप वहां से सारी जानकारी प्राप्त कर सकते हैं।

हमने आपको इस पोस्ट में जानकारी दी है कि आप आरएएस अधिकारी बनने के लिए क्या करें। उम्मीद है कि आपने सारी प्रक्रिया पढ़ ली होगी। और आपके सामने यह स्पष्ट हो भी गई होगी। जागरूकता के उद्देश्य से इस पोस्ट को अधिक से अधिक शेयर करना न भूलें। ।।धन्यवाद।।

————————–

Contents show
Spread the love:

1 thought on “आरएएस अधिकारी बनने के लिए क्या करें? RAS Officer Kaise Bane?”

Leave a Comment

शेयर मार्किट से पैसे कैसे कमाए? जमीन का सरकारी रेट कैसे पता करें? ओटीटी प्लेटफॉर्म क्या है? OTT कैसे काम करता है? सरकारी बैंकों से लोन कैसे लें? इनकम टैक्स चोरी की शिकायत कैसे करें?