राजस्थान जन आधार कार्ड योजना क्या है? ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन कैसे करें?

अनुक्रम

कांग्रेस सरकार को राजस्थान में १ वर्ष हो गया और उसी के उपलक्ष में मुख्यमंत्री अशोक गहलोत जी ने एक नयी योजना शुरू की जिसका नाम राजस्थान जन आधार कार्ड योजना है। राजस्थान में कांग्रेस से पहले जो सरकार थी उन्हों ने भामाशाह कार्ड शुरू किया था जिसका मुख्य उद्देश्य लोगो को मदद करना और महिला सशक्तिकरण था। जैसे सरकार बदली उन्होंने राजस्थान जन आधार कार्ड योजना शुरू कर दिया जिसमें पुरानी सरकार के फ्लैगशिप कार्ड में कई सारे बदलाव कर दिए है। यह कार्ड भी लोगो की सहायता करेगा और उन्हें छोटी बड़ी योजनाओं से लाभ होगा। यह कार्ड की घोषणा २०१९-२०२० की बजट मीटिंग में हुई है और इस्पे काम शुरू हो गया है।

राजस्थान जन आधार कार्ड योजना क्या है?

राजस्थान में पुरानी सरकार ने भामाशाह कार्ड शुरू किया था जिसके तहत कुछ ५६ योजनाओं का लाभ लोगो को मिल रहा था पर अब सरकार के बदलने से यह कार्ड भी बदल गया। यह कार्ड का नाम है राजस्थान जन आधार कार्ड योजना जिसका रूप और योजनाओं में भी बदलाव किया जायेगा। यह कार्ड राजस्थान के निवासियों को नि:शुल्क दिया जायेगा जिससे लोगो को सुविद्याओ का लाभ मिल सके। एक परिवार में एक ही कार्ड दिया जायेगा और जो व्यक्ति इस योजना के पात्र नहीं होगा उसे कोई लाभ नहीं दिया जायेगा।

राजस्थान जन आधार कार्ड योजना क्या है? ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन कैसे करें?

भामाशाह कार्ड में कुछ ५६ योजनायें शामिल थी जिसका लाभ १.७६ करोड़ राजस्थानी निवासियों ने लिया था लेकिन इस कार्ड में कुछ कमी थी जो नए कार्ड से दूर कर दी जाएगी। राजस्थान जन आधार कार्ड योजना में ये सारी सुविधाएं तो होगी और साथ ही कुछ नयी योजनायें भी शामिल की जाएगी।इस कार्ड की प्रक्रिया में कुछ १७ से १८ करोड़ का खर्च होगा और इसका मुमकिन करने के लिए उन्नत तकनीक का प्रयोग किया जायेगा।

जन आधार योजना का मुख्य उद्देश्य क्या हैं?

जन आधार कार्ड योजना का सञ्चालन के पीछे सरकार का क्या उद्देश्य हैं। इसे आप इस तरह से समझ सकतें हैं –

  • राजस्थान जन आधार कार्ड योजनाका मुख्य उद्देश्य ;एक कार्ड, एक नंबर, एक परिवार ; का लाभ देना है। इस कार्ड की मदद से लोगो को सरकारी योजनाओं का लाभ दिलाना है। इस कार्ड के तहत ५६ योजनाओं के साथ और भी नयी योजनायें शामिल होगी जिसका लाभ लोगो को मिलेगा और उनका जीवन आसान हो जायेगा।
  • जन आधार कार्ड योजना के द्वारा लोगो को पहचान और योजनाओं के तहत लाभ प्रदान कराना है। इस कार्ड के लिए परिवार के सभी सदस्यों की पहचान और पते को database में एंटर किया जायेगा और मान्यता प्रदान की जाएगी।
  • लोगो को योजनाओं के लाभ उनके घर के समीप ही उपलब्ध करायें जायेगा और साथ ही बीमा सुविधा भी ग्रामीण क्षेत्रों में प्रदान होगी।
  • इस कार्ड से महिला सशक्तिकरण को बढ़ावा दिया जायेगा और राज्य के इलेक्ट्रानिक ढांचे का विस्तार और सुदृढ़ीकरण किया जायेगा।
  • इस कार्ड द्वारा परिवार की पात्रता अनुसार लाभ दिए जायें गे और उन्हें प्रमाणीकरण भी दिया जायेगा।
  • लोगो को नकद लाभ इस कार्ड के अधिप्रमाणन उपरांत दिया जा सकता है जिससे धोखाधड़ी और भ्रष्टाचार पर रोक लगा सके।

मुख्यमंत्री जन आधार कार्ड योजना की विशेषताएं क्या हैं?

जन आधार कार्ड योजना लांच करने के बाद इसका लाभ सभी पात्र नागरिक उठा सकतें हैं। इस योजना की प्रमुख विशेषताएं निम्नलिखित हैं –

  • राजस्थान जन आधार कार्ड योजना के आवेदक राजस्थान निवासी होना चाहिए। जन आधार कार्ड को आधार कार्ड से लिंक करवाया जायेगा।
  • राजस्थान सरकर इस कार्ड के लिए अग्रिम प्रौद्योगिकी का प्रयोग करेगी और इस कार्ड में क्यूआर कोड होगा जिससे स्कैन करते ही धारक की सभी जानकारी स्क्रीन पर आ जाएगी। इस कार्ड को मुमकिन बनाने के लिए सरकार को १८ करोड़ रुपए खर्च करने होंगे।
  • भामाशाह कार्ड में एक परिवार को १ नंबर दिया जाता था लेकिन जन आधार कार्ड योजना में एक परिवार के सभी सदस्यों को अलग नंबर दिया जायेगा। इस कार्ड से भामाशाह कार्ड के फायदों के साथ और भी नयी योजनाओं को शामिल किया जायेगा जिससे ज्यादा से ज्यादा लोगो को लाभ प्राप्त हो सके।
  • सरकार नए राशन कार्ड की जगह जन आधार कार्ड को देना का विचार कर रही है। इससे राशन कार्ड बनाने की झंझट ख़तम हो जाएगी और साथ ही सरकार भी खर्च बचा सकेगी।

मुख्यमंत्री जन आधार कार्ड योजना के तहत पंजीकरण करवाने की सुविधा कहाँ है?

जिन परिवारों ने पहले से ही पंजीकृत करवा लिया है उन्हें पुनः पंजीकरण करवानी की ज़रुरत नहीं है। पंजीकृत परिवारों को इस कार्ड को प्राप्त करने के लिए १० अंक का जनाधार नंबर सेंड किया जायेगा जिसे नगर निकाय, पंचायत राज और ईमित्र के माध्यम से नि:शुल्क राजस्थान जन आधार कार्ड योजना मिल सके। यदि पंजीकृत परिवार चाहे तो ऑफिसियल वेबसाइट से भी कार्ड को डाउनलोड कर सकते है। इस कार्ड के लिए कुछ नियमों में बदलाव किये है और इसलिए पंजीकृत परिवारों को अपडेशन की सुविधा दी जाएगी जहाँ वो अन्य जानकारी दर्ज करवा सके। जिन परिवारों का पंजीकरण नहीं हुआ वे पंजीकरण केंद्र या ऑनलाइन पोर्टल से पंजीकरण करवा सकते है।

राजस्थान जन आधार कार्ड योजना के लिए निर्धारित पात्रता मापदंड –

  • इस कार्ड के लिए पंजीकरण करवाने का हक़ राजस्थान निवासी को ही हैं।
  • महिलाओं के लिए यह कार्ड बहुत लाभदायक है और उनके लिए बहुत सी योजनायें शामिल की गयी है। इसलिए इस कार्ड के तहत महिला मुखिया होगी लेकिन किसी परिवार में यदि महिला नहीं हैं तो पुरुष मुखिया होगा।
  • इस योजना का लाभ लेने के लिए धारक की उम्र १८ वर्ष या उससे अधिक होनी चाहिए।

राजस्थान जन आधार कार्ड योजना 2020 के लिए ऑनलाइन पंजीकरण कैसे करे?

राजस्थान के निवासी आसानी से इस कार्ड के लिए पंजीकरण करवा सकते है। आपको पोर्टल के द्वारा पंजीकरण करना है और यह नि: शुल्क सेवा है।

  • आपको इसके लिए सबसे पहले ऑफिसियल वेबसाइट यानी के http://janaadhaar.rajasthan.gov.in/content/raj/janaadhaar/en/home.html पे जाना होगा।
  • फॉर्म आपको आपको तभी दिखेगें जब आप अपनी SSO में लॉग इन करेगें। लॉग इन करने के लिए होम पेज पर शो हो रहे SSO लॉग इन आप्शन पर क्लिक करें।

राजस्थान जन आधार कार्ड योजना क्या है? ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन कैसे करें?

  • यदि आपका SSO अकाउंट नही है तो आप पहले अकाउंट बनायें। आप यहाँ अपना अकाउंट फेसबुक गूगल आधार कार्ड भामाशाह कार्ड आदि के माध्यम से अपना अकाउंट बना सकते हैं।
  • जैसे ही आप अपने अकाउंट में लॉग इन करेगें। आपको Jan Adhaar Enrollment का विकल्प दिखाई देगा। आपको इस पर क्लिक करना होगा जिससे एक नया पेज खुल जायेगा।
  • आपको इस पेज पे बहुत से विकल्प देख सकते है लेकिन आपको Citizen Registration पर क्लिक करना होगा । क्लिक करने के तुरंत बाद आपको एप्लीकेशन फॉर्म दिखाई देगा जिसमें आपको सारी जानकारी जैसे के नाम, मोबाइल नंबर, लिंग, आधार नंबर सब दर्ज करनी होगी।
  • फॉर्म के नीचे submit का बटन होगा जो आपको जानकारी दर्ज करने के बाद क्लिक करना है और आप इस तरह जन आधार कार्ड योजना के लिए पंजीकरण कर सकते है।

जन आधार कार्ड योजना की मार्गदर्शिका डाउनलोड करने के लिए यहाँ क्लिक करें।

आप अपनी एप्लीकेशन फॉर्म का स्टेटस भी चेक कर सकते है और इसके लिए आपको ओफ्फ़ोसिअल साइट पे जाना होगा और Jan Adhaar Enrollment पे क्लिक करना होगा। यहाँ आपको citizen enrollment पर क्लिक करना होगा जिसके बाद एक नया पेज आएगा और आपको इसमें रजिस्ट्रेशन नंबर डालना होगा। नंबर दर्ज करने के बाद सबमिट बटन पे क्लिक करिये जिससे आपको कार्ड का स्टेटस मिल सके।

जन कल्याणकारी योजनाओं हेतु लाभार्थियों की पात्रता के निर्धारण का माध्यम –

इस कार्ड के हेतु सरकार ने बहुत से विभाग बनाये है और कार्ड धारक की सारी जानकारी डाटा रिपॉजिटरी में सेव की गई है। इन विभागों द्वारा डाटा के अनुसार और पात्रता के निर्धारित लाभ / सेवाएं दी जाएंगी। यदि किसी परिवार की जानकारी गलत है और उन्हें लाभ से वंचित किया गया है तो परिवार को रिपॉजिटरी में ही परिवर्तन करवाना होगा।

आप ये ऑनलाइन पोर्टल से कर सकते है और जैसे ही दर्ज सुचना परिवर्तित हो जाएगी आपको उसके अनुसार सारे लाभ मिलना शुरू हो जायेगा।

राजस्थान जन आधार कार्ड योजना के लाभ क्या हैं?

  • जिन लोगो के पास यह कार्ड होगा उन्हें सरकार द्वारा सेवाएं प्राप्त होगी जो नीचे निम्नलिखित हैं:
  • मुख्यमंत्री युवा रोजगार योजना जिसके तहत सभी युवाओ को उनकी प्रामाणिकता अनुसार काम मिल सकेगा।
  • स्वास्थ्य सुविधाएं मिलेगी जैसे के ;आयुष्मान भारत; योजना और भी चिकित्सा सहायता दी जाएगी।
  • इस कार्ड में बहुत सारी योजनायें है जिसमें से एक हैं छात्रवृत्ति योजना जहाँ सभी छात्र को पढ़ना के मौका मिलेगा।
  • मेधावी छात्र और देवनारायण छात्र को इस योजना के तहत फ्री में स्कूटर दी जाएगी।
  • पंजीकृत परिवारों को उनकी पात्रता अनुसार नकद और गैर – नकद लाभ भी दिए जायेंगे।

जन-आधार सम्बन्धी सामान्यतः पूछे जाने वाले सवाल –

कुछ ऐसे सवाल हैं जो आपके मन में अक्सर आते रहतें हैं। जिनके जवाब नीचे दिया गया है –

क्या जन आधार कार्ड योजना शुरू होने के बाद भामाशाह कार्ड बंद हो जायेगा?

हाँ, जन आधार कार्ड योजना शुरू होने के बाद भामाशाह कार्ड कार्य करना बंद हो जायेगा।

जन आधार कार्ड योजना कब से शुरू होगा?

01 अप्रैल 2020 से कार्य करना शुरू कर देगा(31 मार्च 2020 के बाद भामाशाह कार्ड बंद हो जायेगा)

क्या जन आधार कार्ड योजना के लिए मोबाइल नंबर होना जरुरी है?

जी हाँ, मोबाइल नंबर पर आपके कार्ड की सूचना और ओटीपी नंबर आएंगे।

जन आधार कार्ड योजना में कौन कौन सी योजना में कार्य करेगा?

राजस्थान सरकार द्वारा सभी सरकारी योजनाओं में जन आधार कार्ड काम करेगा।

क्या जन आधार कार्ड को आईडी कार्ड के रूप में भी काम में ले सकते है?

जी हाँ, जरूर यह आपके परिवार की पहचान के रूप में कार्य करेगा।

जन-आधार योजना क्या है?

जन-आधार “एक नंबर, एक कार्ड, एक पहचान” योजना है, इसका मुख्य उद्देश्य राज्य के निवासी परिवारों की जन-सांख्यकीय एवं सामाजिक-आर्थिक सूचनाओं का डेटा बेस तैयार किया जाना है एवं जन-आधार कार्ड के माध्यम से परिवार एवं उसके सदस्यों की पहचान तथा पते दस्तावेज के रूप में मान्यता प्रदान करना है । इस योजना के माध्यम से राज्य की विभिन्न नगद विभागीय योजनाओं के लाभ पारदर्शी रूप से सीधे ही लाभार्थी के बैंक खाते में तथा राज्य के निवासियों काे जनकल्याण की योजनाओ के लाभ उनके घर के समीप उपलब्ध कराना एर्वं इ -कॉमर्स और बीमा सुविधाओं का ग्रामीण क्षेत्रों में विस्तार करना।

जन-आधार कार्ड से आम-जन काे क्या क्या लाभ प्राप्त होगें?

इस याजे ना में लाभ वितरण हेतु मानवीय हस्तक्षेप को कम कर सूचना प्रोद्योगिकी को अपनाकर, विभिन्न राजकीय योजनाओं के नगद व गैर-नगद लाभ सीधे व पारदर्शी रूप से पात्र वास्तविक लाभार्थी काे ही हस्तांतरित किये जाते है। जिसकी सूचना नियमित रूप से माेबाइल पर भी प्रदान की जाती है। इस प्रकार लाभ वितरण की प्रक्रियाओं मे पारदर्षिता को बढ़ावा मिलेगा।

क्या राज्य के सभी निवासियों काे जन-आधार नामांकन करवाये जाने की आवष्यकता है?

नहीं, स्टेट रेजीडेंट डाटा रिपोजिटरी में पूर्व पंजीकृत परिवारों काे 10 अंकीय जन-आधार परिवार पहचान संख्या प्रदान की गई है। जन-आधार पहचान संख्या को माबेाइल नम्बर पर एस.एम.एस. एवं वाॅयस काॅल के माध्यम से प्रेषित किया जाएगा। इसे नजदीकी इ -मित्र/ई-मित्र प्लस पर आधार/परिवार पहचान संख्या देकर भी प्राप्त किया जा सकता है।

नवीन पंजीकरण कैसे किया जा सकेगा?

जन-आधार पंजीयन हेतु राज्य के निवासी व परिवार का व्यस्क सदस्य जन-आधार पोर्टल पर स्वयं अथवा नजदीकी ई-मित्र पर निषुल्क पंजीयन करा सकता है। ज्ञात रहे पंजीयन से पूर्व जांच ले कि निवासी पहले से पंजीकृत है या नहीं। परिवार द्वारा दर्ज करवाई र्गइ सूचनाओं व अपलाेड किए गए दस्तावेजों के आधार पर सत्यापन उपरातं 10 अंकीय जन-आधार परिवार संख्या प्रदान की जाएगी तथा उसके पंजीकृत माेबाइल नम्बर पर सूचित किया जायेगा।

जन-आधार कार्ड कैसे प्राप्त किया जा सकेगा?

परिवार को जन-आधार पहचान संख्या जारी होने के उपरान्त मुद्रित कार्ड सीधे सम्बन्धित नगर निकाय/पंचायत समिति/इर्- मित्र को वितरण हेतु प्रेषित किए जाएंगे। राज्य सरकार द्वारा समय-समय पर निर्धारित प्रक्रिया अनुसार सम्बन्धित नगर निकाय/पंचायत समितिके द्वारा सम्बन्धित परिवार को एकबारीय निःषुल्क कार्ड वितरित किया जाएगा। नामांकित परिवार जन-आधार ई-कार्ड, जन-आधार पोर्टल अथवा एस.एस.ओ. आई डी के माध्यम से भी निःषुल्क डाउनलोड कर सकता है।

क्या जन-आधार में संषाेधन/अद्यतन करवाया जा सकता है?

हां, जन-आधार पंजीयन में दर्ज सूचनाओं में किसी भी प्रकार का संषोधन/अद्यतन ई-मित्र पर करवाया जा सकेगा। संषोधन/अद्यतन परिवार के मुखिया/वयस्क सदस्य द्वारा आधार अधिप्रमाणन के माध्यम से कराया जा सकेगा। निवासी चाहे ताे अद्यतन जन-आधार ई-कार्ड काे ई-मित्र प्लस पर जाकर भी डाउनलोड कर सकता है अथवा निर्धारित षुल्क देकर पी.वी.सी. कार्ड भी प्राप्त कर सकता है।

जन-आधार नामांकन के समय किन दस्तावेजाें की आवश्यकता है?

जन-आधार नामांकन के समय कम से कम निम्नलिखित में से दो दस्तावेजों की आवष्यकता है। इसमें यह भी ध्यान रखने योग्य बात है किउक्त दो दस्तावेजाें में एक पहचान सिद्ध करता हो तथा एक पते की जानकारी देता हो। ये दस्तावेज हैं- आधार कार्ड, बी.पी.एल. कार्ड, नरेगा कार्ड, राशन कार्ड, मतदाता पहचान पत्र, पैन कार्ड, पासपोर्ट, पानी का बिल, बिजली बिल, टेलीफाने बिल, निवासी की फोटो एवं बैंक खाता संख्या (बैंक की पासबुक)।

जन-आधार नामांकन के समय किन लोगांे की उपस्थितिआवश्यक है?

जन-आधार योजना के अन्तगर्त परिवार के सभी सदस्यों का नामांकन किया जाना आवश्यक है। जन-आधार याजे ना का उद्देष्य प्रदेष के प्रत्येक परिवार को एक पारिवारिक समूह में नामांकित कर एक जन-आधार कार्ड जारी करना भी है अतः परिवार के सभी सदस्यों की उपस्थितिआवश्यक है।

क्या जन-आधार नामांकन के लिए आधार नामांकन हानेा आवश्यक है?

हाँ। चूँकि जन-आधार का मुख्य उद्देष्य सही निवासी की पहचान भी है जिसके लिए निवासी की उँगलियों के निषान तथा आखों की पुतलियाँ की फोटो हानेा आवष्यक है अतः जन-आधार नामांकन के लिए आधार नामांकन होना आवश्यक है। बिना आधार नामाकं न के किसी भी निवासी का जन-आधार योजना के अन्तर्गत नामाकं न नहीं किया जायेगा।

परिवार का मुखिया किसे घाेषित किया जा सकता है?

सामान्यतः पारिवारिक सहमतिसे 18 वर्ष से अधिक आयु की परिवार की महिला काे परिवार की मुखिया बनाया जाएगा। यदिपरिवार में 18 वर्ष या उससे अधिक आयु की महिला नहीं है तो 21 वर्ष या उससे अधिक आयु का पुरूष मुखिया हो सकता है। यदिपरिवार में 18 वर्ष या उससे अधिक आयु की महिला और 21 वर्ष या उससे अधिक आयु का पुरूष भी नहीं हो तो परिवार में अधिकतम आयु का कोई भी सदस्य, परिवार का मुखिया होगा।

क्या जन-आधार नामांकन/जन-आधार नामांकन प्रपत्र का र्काइे शुल्क देय होगा?

नहीं। जन-आधार नामांकन निःषुल्क है तथा जन-आधार नामांकन प्रपत्र का भी काेई शुल्क देय नहीं है।

सभी राजस्थानी निवासिओं से आवेदन है के वो जल्द से जल्द अपने राजस्थान जन आधार कार्ड योजना के लिए पंजीकरण करवा लीजिये। यदि पहले से ही पंजीकरण करवा लिया है तो अपडेशन द्वारा इस नयी योजना के लाभार्थि बने| परिवारों को प्रदान किये जाने वाले लाभ की जानकारी मोबिएल द्वारा दी जाएगी और इस योजना से लोगो को बहुत से लाभ की प्राप्ति होगी। पंजीकृत परिवार योजना के ऑनलाइन पोर्टल पे जाकर अधिक जानकारी और मिलने वाले लाभ के विषय में जान सकते है।

Spread the love

Leave a Comment