रेलवे जूनियर इंजीनियर (JE) कैसे बने? भर्ती परीक्षा की तैयारी कैसे करें? योग्यता, सैलरी, कार्य

जूनियर इंजीनियर इन हिंदी – रेलवे भर्ती बोर्ड हर साल बड़ी संख्या में नौकरियों के लिए अधिसूचना जारी करता है। इसमें छोटे बड़े सभी स्तरों के पद शामिल होते हैं। रेलवे में क्लेरिकल स्टाफ की जरूरत होती है तो इंजीनियरों की भी। रेलवे जूनियर इंजीनियरों की भर्ती भी बड़े पैमाने पर की जाती है। रेलवे की ओर से भर्ती निकाली जाती है तो इसके लिए लाखों युवा आवेदन करते हैं। आज इस postके जरिए हम आपको बताएंगे कि आप रेलवे में रेलवे JE यानी रेलवे जूनियर इंजीनियर कैसे बन सकते हैं? इसके अलावा हम आपको जानकारी देंगे कि इस परीक्षा का पैटर्न क्या है? एक रेलवे जूनियर इंजीनियर का वेतन क्या है? परीक्षा की तैयारी कैसे करें? आदि। तो दोस्तों, आइए शुरू करते हैं-

रेलवे जूनियर इंजीनियर (JE) कैसे बने? How to become a Railway Junior Engineer (JE)?

रेलवे में अन्य तमाम पदों पर भर्तियों की तरह रेलवे जूनियर इंजीनियरों की भर्ती भी रेलवे भर्ती बोर्ड ही करता है। इसे अंग्रेजी में railway recruitment board (RRB) भी कहा जाता है। यह सबसे बड़ा भर्ती बोर्ड है, जिसके जरिए संपूर्ण देश में रेलवे के विभिन्न zones में भर्ती को अंजाम दिया जाता है। हर जोन में उसकी आवश्यकता के अनुसार रिक्तियां निकाली जाती हैं। इससे पहले पदों का पूरा लेखा-जोखा तैयार किया जाता है। 

रेलवे जूनियर बनने के लिए योग्यता क्या है? What is the qualification to become a Railway Junior?

रेलवे जूनियर इंजीनियर (JE) कैसे बने? भर्ती परीक्षा की तैयारी कैसे करें? योग्यता, सैलरी, कार्य

रेलवे जूनियर इंजीनियर बनने के लिए अभ्यर्थी को संबंधित विषय में डिप्लोमा या डिग्री हासिल होना चाहिए। उदाहरण के लिए अगर रेलवे जूनियर इंजीनियर आईटी (IT) की भर्ती होनी है तो इसके लिए अभ्यर्थी के पास आईटी यानी information technology में डिप्लोमा/ डिग्री होनी चाहिए। दोस्तों, आपको बता दें कि आवेदक का अच्छा शैक्षिक रिकार्ड बहुत मायने रखता है। ऐसे आवेदकों के तैयारी के बाद चुने जाने की उम्मीद काफी होती है।

रेलवे जूनियर इंजीनियर बनने के लिए कितनी उम्र होनी चाहिए? What should be the age to become a Railway junior engineer?

जहां तक उम्र का संबंध है, रेलवे जूनियर इंजीनियर बनने के लिए न्यूनतम 18 साल की आयु निर्धारित है। वहीं इस पद पर भर्ती के लिए अधिकतम आयु 33 साल निर्धारित की गई है। दोस्तों आवेदन के लिए उम्र में नियमानुसार छूट का भी प्रावधान किया गया है। अनुसूचित जाति और जनजाति के लिए आयु सीमा में 5 साल की छूट का प्रावधान किया गया है। वहीं अन्य पिछड़ा वर्ग यानी OBC के अभ्यर्थियों के लिए उम्र में तीन साल की छूट का प्रावधान किया गया है।

रेलवे जूनियर इंजीनियर भर्ती परीक्षा के लिए आवेदन शुल्क क्या है? What is the application fee for Railway Junior Engineer Recruitment Examination?

रेलवे में रेलवे जूनियर इंजीनियर भर्ती के लिए आवेदन को सामान्य और अन्य पिछड़ा वर्ग के अभ्यर्थियों के लिए आवेदन शुल्क 500 रुपए निर्धारित किया गया है। आपको यह भी बता दें कि कई वर्गों को आवेदन शुल्क में छूट भी दी गई है। जैसे, महिलाओं, अनुसूचित जाति/ जनजाति वर्ग और शारीरिक रूप से अक्षम अभ्यर्थियों के लिए आवेदन शुल्क में 250 रुपए की छूट दी गई है। यानी कि उन्हें fee के रूप में महज 250 रुपए चुकाने पड़ेंगे।

रेलवे जूनियर इंजीनियर की भर्ती प्रक्रिया क्या है? What is the recruitment process of Railway Junior Engineer?

दोस्तों, रेलवे की ओर से संबंधित पद पर भर्ती का नोटिफिकेशन निकाला जाता है। इसमें रिक्त पदों की संख्या, आवेदन के लिए आवश्यक शैक्षिक और आयु संबंधी योग्यता, आवेदन शुल्क, आवेदन में आरक्षण, परीक्षा प्रक्रिया, परीक्षा तिथि जैसी तमाम बातों की जानकारी दी जाती है। अभ्यर्थी को रेलवे भर्ती बोर्ड की वेबसाइट पर online आवेदन करना पड़ता है। इसके लिए fee भी online ही जमा होती है। इसके बाद निर्धारित तिथि से admit card download कर अभ्यर्थी निश्चित तिथि को परीक्षा में सम्मिलित हो सकते हैं।

रेलवे जूनियर इंजीनियर भर्ती परीक्षा का पैटर्न | Railway Junior Engineer Recruitment Exam Pattern –

रेलवे जूनियर इंजीनियर पद पर भर्ती के लिए कंप्यूटर आधारित परीक्षा यानी CBT का आयोजन किया जाता है। इसके तहत कुल दो पेपर होते हैं। CBT-1 में शामिल होने वाले अभ्यर्थियों को ही CBT-2 में शामिल होने के लिए न्योता भेजा जाता है। इसमें पास होने वालों को document verification के लिए बुलाया जाता है। 

इनके सत्यापित होने के बाद संबंधित अभ्यर्थियों का medical examination कराया जाता है। इसमें खरे उतरने वाले अभ्यर्थियों को नियुक्ति पत्र भेज दिया जाता है। यदि किसी अभ्यर्थी के documents में कोई गड़बड़ी पाई जाती है तो उसे reरेलवे जूनियरct कर दिया जाता है और कई मामले में ऐसे अभ्यर्थियों के खिलाफ जांच भी बिठा दी जाती है।

CBT-1 में 100, CBT-2 में आते हैं 150 प्रश्न –

CBT-1 में 100, जबकि CBT-2 में 150 प्रश्न पूछे जाते हैं। हर सवाल के लिए एक एक अंक निर्धारित किया गया है। यानी पेपर-1 सौ, जबकि पेपर-2 150 अंकों का होता है। आइए अब आपको CBT-1 और CBT-2 में पूछे जाने वाले सवालों की जानकारी देते हैं। पहले CBT-1 के बारे में जानते हैं। जैसा कि हम आपको बता चुके हैं कि पेपर में कुल सौ नंबर के सौ सवाल आते हैं, इसमें अलग अलग विषय और इनमें पूछे जाने वाले सवालों की संख्या इस प्रकार है। 

विषय – प्रश्न संख्या 

———————–
गणित – 30
सामान्य बुद्धि और तर्क – 25
सामान्य जागरूकता – 15
एंव सामान्य विज्ञान – 30

अब आते हैं CBT-2 पर। हम आपको पहले ही बता चुके हैं कि इस पेपर में 150 सवाल आते हैं और इसके लिए 150 ही अंक निर्धारित हैं। अब हम आपको बताएंगे कि इसमें किन विषयों से जुड़े सवाल आते हैं। दोस्तों, यह विषय इस प्रकार से हैं-

General knowledge
Physics & chemistry
Basics of computer application
Basics of environment & pollution control
Technical abilities

बहुविकल्पीय प्रश्नों पर आधारित है परीक्षा | The exam is based on multiple choice questions –

रेलवे में रेलवे जूनियर इंजीनियर की भर्ती के लिए आयोजित कंप्यूटर आधारित परीक्षा यानी CBT बहुविकल्पीय प्रश्नों यानी multiple choice questions (MCQ) पर आधारित होती है। दोस्तों, CBT-2 के लिए 120 मिनट यानी दो घंटे की अवधि निर्धारित की गई है। शारीरिक रूप से कमी यानी PWD अभ्यर्थियों को सवाल हल करने के लिए 40 मिनट अतिरिक्त दिए जाने की व्यवस्था की गई है।

निगेटिव मार्किंग का प्रावधान है | There is a provision for negative marking –

इस परीक्षा के लिए negative marking का प्रावधान किया गया है। यानी कि परीक्षा में तीर तुक्के नहीं चलेंगे। किसी भी गलत जवाब के लिए आपको 1/3 अंकों से हाथ धोना पड़ेगा। लिहाजा, दोस्तों, आप भी सावधानी बरतें। अगर किसी सवाल का जवाब आपको ठीक से नहीं आता है तो उसे छोड़ दें। गलत जवाब न दें।

रेलवे के रेलवे जूनियर का वेतन कितना होता है? What is the salary of Railway Junior in Railways?

एक रेलवे जूनियर इंजीनियर को वेतन आयोग के पे मैट्रिक्स बैंड 6 के अनुसार वेतनमान मिलता है। इसके साथ ही यह भी जान लीजिए कि वेतन आयोग में बदलाव होने के साथ-साथ ही वेतन में भी बदलाव हो जाता है। छठे वेतन आयोग के मुताबिक यह 9300-35400 ग्रेड पे 4200 रुपए है। एक अनुमान के मुताबिक रेलवे के नव नियुक्त रेलवे जूनियर इंजीनियर को 32000/- से लेकर 38000/- रुपए तक वेतन का भुगतान किया जाता है।

रेलवे जूनियर इंजीनियर परीक्षा की तैयारी कैसे करें? How to prepare for Railway Junior Engineer Examination?

  • सबसे परीक्षा के सिलेबस (syllabus) की जानकारी हासिल करें। इसी के मुताबिक अपनी तैयारी को अंजाम दें। एक टाइम टेबल बनाएं और इसमें सभी विषयों के लिए पर्याप्त समय रखें। तैयारी के लिए समयावधि का निर्धारण अपनी आवश्यकता के अनुसार करें।
  • Syllabus को छोटे छोटे टुकड़ों में तोड़कर तैयारी करें। जिस सेक्शन में आप कमजोर हों, उस सेक्शन पर अधिक ध्यान दें। इन सेक्शन को पहले prepare करें।
  • General knowledge की तैयारी के लिए अपने current affairs को update रखें। इसके लिए नियमित किसी न्यूज चैनल और समाचार पत्र का अध्ययन आवश्यक है।
  • General awareness में आपसे भारतीय संस्कृति, भूगोल, भारतीय इतिहास, भारतीय स्वतंत्रता आंदोलन, भारतीय राजनीति और संविधान, भारतीय अर्थव्यवस्था, पर्यावरण से जुड़े मुद्दे, विश्व से जुड़े मसले, खेल, सामान्य विज्ञान एवं तकनीकी विकास से जुड़े सवाल पूछे जा सकते हैं। इन पर खास तौर पर ध्यान दें। इसके लिए आप इंटरनेट की मदद ले सकते हैं। एक विषय को complete करने के बाद ही दूसरे विषय पर आगे बढ़ें।
  • यहां reasoning की लगातार प्रैक्टिस मददगार साबित होगी। यदि आप चाहें तो किसी coaching center की सहायता ले सकते हैं। यह भी आपके लिए फायदेमंद साबित होगी।
  • Railway recruitment board (RRB) की website पर परीक्षा से पूर्व mock test का link active हो जाता है। इसकी मदद जरूर लें।
  • कई website mock test की सुविधा भी देती हैं, उनका भी लाभ आप उठा सकते हैं। Regular practice ही आपको परीक्षा में कामयाबी दिलाएगी। दोस्तों, आपको बता दें कि यह परीक्षा बहुत आसान नहीं होती। बेहतरीन तैयारी और फोकस ही आपको इस परीक्षा में सफलता दिला सकती है।

इस वक्त देश में रेलवे के 21 भर्ती बोर्ड –

इस वक्त देश में 21 रेलवे रिक्रूटमेंट यानी भर्ती बोर्ड है। जो कि अहमदाबाद, अजमेर, इलाहाबाद, बेंगलुरु, भोपाल, बिलासपुर, चंडीगढ़, चेन्नई, गोरखपुर, गुवाहाटी, जम्मू, कोलकाता, मालदा, मुंबई, मुजफ्फरपुर, पटना, सिकंदराबाद, सिलीगुड़ी, और त्रिवेंद्रम में हैं। दोस्तों, आपको बता दें कि रेलवे रिक्रूटमेंट बोर्ड यानी आरआरबी की स्थापना 27 अप्रैल 1998 में हुई थी। हालांकि रेलवे बोर्ड की स्थापना की बात करें तो उसकी स्थापना 16 अप्रैल, 1853 में हुई।

हर साल नहीं होता भर्ती परीक्षा का आयोजन

साथियों, आपको बता दें कि रेलवे में रेलवे जूनियर इंजीनियर के लिए भर्ती परीक्षा हर साल आयोजित नहीं की जाती। इसका आयोजन रेलवे की ओर से निकाले जाने वाली सीटों पर आधारित होता है। मसलन अगर किसी साल रेलवे रिक्तियां नहीं निकालता तो उस साल स्पष्ट है कि भर्ती परीक्षा का आयोजन भी नहीं किया जाता। आपको लगे हाथों यह भी बता दें कि रेलवे रिक्रूटमेंट बोर्ड 2017 तक 63 हजार से भी अधिक ग्रुप सी के पदों पर भर्ती को अंजाम दे चुका है। इसके साथ ही दोस्तों, लगे हाथों आपको यह भी जानकारी दे दें कि रेलवे में रेलवे जूनियर इंजीनियर ग्रुप सी का पद है। उसे ग्रुप ए तक पहुंचने में 20-22 साल का समय लग सकता है। 

हालांकि ग्रुप ए के पदों पर भर्ती के लिए संघ लोक सेवा आयोग यानी यूपीएससी (upsc) की ओर से परीक्षा का आयोजन किया जाता है। वहीं, ग्रुप बी के पदों के लिए भर्ती परीक्षा आयोजित नहीं की जाती। इन पदों को ग्रुप सी के लिए आयोजित विभागीय प्रमोशन परीक्षा के जरिए भरा जाता है। आपको एक और बात से सचेत कर दें और वो ये कि कई बार फर्जी वेबसाइट भी युवाओं को फर्जी भर्ती के जाल में फंसाने का काम करती हैं। अतः आप भी रेलवे भर्ती के बारे में कोई जानकारी पाना चाहें तो उसके लिए भारतीय रेलवे की अधिकृत वेबसाइट www.indianrailways.gov.in पर ही log on करें।

दोस्तों, इस post के माध्यम से हमने आपको railway में रेलवे जूनियर इंजीनियर बनने से जुड़ी सारी जानकारी देने की भरपूर कोशिश की है। उम्मीद है कि यह post आपको पसंद आई होगी। हमें आपकी प्रतिक्रिया, सुझाव और सवालों का इंतजार है। आप नीचे दिए comment box के जरिए अपनी बात हम तक पहुंचा सकते हैं। तो फिर देर किस बात की। भेज दीजिए हमें अपनी राय। ।। धन्यवाद।।

Spread the love

अनुक्रम

Leave a Comment