[PMUY] PM Ujjwala Yojana 2.0 Apply Online 2021, पीएम उज्जवला योजना फॉर्म डाउनलोड

उज्ज्वला योजना पीएम ऑनलाइन आवेदन, PM Ujjwala Yojana 2.0 Apply Online 2021, पीएम उज्जवला योजना फॉर्म डाउनलोड, Ujjwala Yojana Application Form, उज्ज्वला योजना एप्लीकेशन फॉर्म, PMUY Apply Online In Hindi

प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना के पहले चरण ने महिलाओं एवं विशेषकर ग्रामीण महिलाओं के जीवन को काफी सरल कर दिया है। उन्हें अब चूल्हे पर अस्वास्थ्यकर धुएं से जूझते खाना बनाने को मजबूर नहीं होना पड़ता। इस चरण में करोड़ों लाभार्थियों को फायदा पहुंचा है। अब केंद्र पीएम उज्जवला योजना 2.0 का दूसरा चरण प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना का दूसरा चरण 2.0 लेकर हाजिर हुआ है। आज इस पोस्ट में हम आपको इसी योजना के बारे में विस्तार से जानकारी देंगे। आइए, शुरू करते हैं-

पीएम उज्जवला योजना 2.0 क्या है?

देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 10 अगस्त, 2021 को प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना 2.0 यानी उज्ज्वला योजना के दूसरे चरण का शुभारंभ किया। इसकी शुरुआत उत्तर प्रदेश के महोबा से हुई, जबकि पहले चरण का शुभारंभ उत्तर प्रदेश के ही बलिया जिले से किया गया था। योजना का यह दूसरा चरण पहले चरण की तुलना में काफी बेहतर है। खास बात यह है कि इस दफा आपको गैस कनेक्शन (lpg gas connection) के साथ-साथ एक रिफिल और गैस चूल्हा भी मुफ्त दिया जाएगा।

इतना ही नहीं, गैस कनेक्शन के लिए आपको एड्रेस प्रूफ देने की आवश्यकता भी नहीं होगी। जाहिर सी बात है कि सरकार के इस कदम से बड़े ऊपर लाभार्थियों को फायदा होगा, खास तौर पर उनको, जो रोजगार अथवा किसी अन्य कारण से अपने गांव, शहर के स्थान पर कहीं और निवास करने पर मजबूर हैं। उनके लिए अपने पते का प्रमाण जुटाना एक मुश्किल काम होता था।

पीएम उज्जवला योजना के पहले एवं दूसरे चरण में क्या अंतर है?

दोस्तों, अब हम आपको बताएंगे कि प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना के पहले एवं दूसरे चरण में क्या अंतर है। आपको बता दें कि पहले चरण में मोदी सरकार की तरफ से मुफ्त गैस कनेक्शन देने के साथ-ही पहला गैस सिलेंडर खरीदने के लिए 1600 रुपये की आर्थिक सहायता दी जाती थी। इसके अलावा आसान किस्तों में गैस चूल्हा भी दिया जाता था।

लेकिन दूसरे चरण में लाभार्थी को और सुविधा दी गई है। सरकार मुफ्त गैस कनेक्शन तो देगी ही, इसके साथ पहले गैस सिलेंडर की रीफिलिंग (refilling) भी मुफ्त कराएगी। इसके साथ ही लाभार्थी को मुफ्त में गैस चूल्हा भी प्रदान किया जाएगा। दूसरे चरण में पहले चरण की अपेक्षा एक यह बड़ा अंतर यह है कि लाभार्थी को अपने पते का कोई सुबूत अथवा प्रूफ देने की आवश्यकता नहीं। न राशन कार्ड, न हलफनामा, न कुछ और।

इस व्यवस्था से सबसे बड़ा लाभ प्रवासी मजदूरों को हुआ है। अब वे बिना स्थाई पते के भी नया कनेक्शन आराम से ले सकेंगे। उन्हें केवल अपने हाथ से एक कागज पर लिखकर देना होगा कि वह कहां रहते हैं। इसी के आधार पर उन्हें प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना 2.0 के दूसरे चरण में मुफ्त गैस कनेक्शन मिल जाएगा।

[PMUY] PM Ujjwala Yojana 2.0 Apply Online 2021, पीएम उज्जवला योजना फॉर्म डाउनलोड

प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना 2.0 ऑनलाइन आवेदन डीटेल्स

योजना का नामप्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना 2.0
शुरू किया गयाप्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी के द्वारा
चरणयोजना का दूसरा चरण चालू
लॉन्च की तिथि10 August 2021
लाभार्थीदेश की करोड़ों महिलाएं
उद्देश्यपात्र लाभार्थियों को मुफ्त एलपीजी गैस कनेक्शन दिलाना
लाभमुफ्त एलपीजी गैस कनेक्शन के साथ एलपीजी सिलेंडर पर सब्सिडी की सुविधा
योजना की अंतिम तिथिकोई लास्ट डेट नहीं
Official WebsiteClick Here

प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना के तहत आवेदन करने के लिए आवश्यक शर्तें –

प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना 2.0 के तहत आप आवेदन करने के लिए आपको कुछ शर्तें पूरी करनी होंगी, जो कि इस प्रकार से हैं-

  • आवेदक महिला भारत की रहने वाली हो।
  • आवेदन करने वाली महिला की उम्र 18 साल से अधिक होनी चाहिए।
  • महिला का किसी भी बैंक में एक खाता होना चाहिए।
  • आवेदक महिला बीपीएल वर्ग से ताल्लुक रखती हो।
  • आवेदक महिला का आधार कार्ड।

प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना के तहत आनलाइन आवेदन कैसे करें?

साथियों, अभी हमने आपको प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना 2.0 से जुड़ी बेसिक जानकारी दी। अब हम आपको बताएंगे कि इसके लिए आवेदन कैसे किया जा सकता है। आवेदन प्रक्रिया इस प्रकार से है-

Total Time: 25 minutes

पीएम उज्जवला योजना की ऑफिशियल वेबसाइट पर जाएं –

ऑनलाइन आवेदन के लिए आपको सबसे सबसे पहले प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना की आधिकारिक वेबसाइट https://www.pmuy.gov.in/ पर जाना होगा। आप चाहे तो यहां क्लिक करके डायरेक्ट भी जा सकते हैं।
प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना के तहत आनलाइन आवेदन कैसे करें?

गैस कंपनी सेलेक्ट करें –

यहां होमपेज पर ऑनलाइन आवेदन के option पर click करें। अब आपको यह select करना होगा कि आप किस कंपनी का गैस कनेक्शन लेना चाहते हैं। आपके सामने तीन कंपनियों के विकल्प प्रदर्शित होंगे-इंडेन (indane), भारत (bharat) एवं एचपी (HP)।
प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना के तहत आनलाइन आवेदन कैसे करें?

अपने नजदीकी डीलर सर्च करें –

नेक्स्ट पेज पर आपको यह सेलेक्ट करना होगा कि आप नॉर्मल गैस कनेक्शन के लिए आवेदन करना चाहते हैं या फिर आप पीएम उज्जवला योजना के अंतर्गत आवेदन करना चाहते हैं। साथ ही यहाँ पर आपको अपने नजदीकी डीलर को सर्च करना होगा। आपको अपने सबसे नजदीकी डीलर को सेलेक्ट करना होगा। डीलर के सबसे नजदीक हो आप उससे कनेक्शन लेंगे तो आपको ज्यादा सुविधा रहेगी।
प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना के तहत आनलाइन आवेदन कैसे करें?

मोबाइल नंबर भरे –

गैस कंपनी की वेबसाइट पर पहुंचने के पश्चात आपको अपना मोबाइल नंबर डालकर वेरीफाई करना होगा
प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना के तहत आनलाइन आवेदन कैसे करें?

पीएम उज्जवला योजना फार्म भरे –

इसके पश्चात आपसे नाम, मोबाइल नंबर, एड्रेस आदि जैसी कुछ बेसिक जानकारियां मांगी जाएंगी। आपको इस जानकारी को बताई गई जगह भरना होगा।

डॉक्यूमेंट अपलोड करें –

सभी जानकारी भरने के साथ ही आपको जरूरी दस्तावेज जैसे- एक फोटो, राशन कार्ड, पहचान पत्र, एवं एड्रेस प्रूफ अपलोड करना होगा।

फार्म सबमिट करें –

सभी जानकारी करने एवं जरूरी दस्तावेज अपलोड करने के पश्चात आपको अपना फार्म सबमिट कर देना है। फॉर्म सबमिट करने के पश्चात डीलर के द्वारा आज की जानकारी सत्यापित की जाएगी। जानकारी सत्यापित (verify) करने के पश्चात करीब हफ्ते भर में आपको कनेक्शन प्रदान कर दिया जाएगा।

प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना आवेदन डायरेक्ट लिंक –

आपको ऊपर स्टेप बाय स्टेप प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना में ऑनलाइन आवेदन करने की जानकारी दी गई है। आप नीचे दिए गए डायरेक्ट लिंक पर क्लिक करके इंडियन गैस, भारत गैस और एचपी गैस कंपनी में से किसी गैस कंपनी में आवेदन कर सकते हैं –

Indane Gas Ujjwala Connection 2.0 Online ApplyClick Here
Bharat Gas Ujjwala Connection 2.0 Online ApplyClick Here
HP Gas Ujjwala Connection 2.0 Online ApplyClick Here

प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना के तहत आफलाइन आवेदन कैसे करें?

पीएम उज्जवला योजना के अंतर्गत यदि आप ऑफलाइन आवेदन करना चाहते हैं तो आप ऑफलाइन आवेदन कर सकते हैं। ऑफलाइन आवेदन करने के लिए आप नीचे बताए गए तरीके का प्रयोग कर सकते हैं –

  • प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना 2.0 के तहत आफलाइन आवेदन करने के लिए सबसे पहले आपको उज्जवला योजना फॉर्म की आवश्यकता होगी। आवेदन फॉर्म ऑफ उज्ज्वला योजना की ऑफिशल वेबसाइट https://www.pmuy.gov.in/ से डाउनलोड कर सकते हैं।
  • या फिर आप नीचे दिए गए फार्म को डाउनलोड करके प्रिंट आउट निकाल सकते हैं। इसके साथ ही आप डीलर पर जाकर भी आवेदन फार्म ले सकते हैं।
  • आवेदन फॉर्म लेने के पश्चात आपको फार्म में पहुंची गई सभी जानकारी सही-सही भरना है । साथ ही फार्म में आवश्यक दस्तावेज की प्रमाणित प्रतिलिपि संलग्न करना है ।
  • पूरी तरह सही-सही फार्म भरने के पश्चात आपको नजदीकी गैस एजेंसी डीलर के पास जमा कर दें।
  • जानकारी सत्यापन के पश्चात आपके नाम पर गैस कनेक्शन जारी कर दिया जाएगा।

प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना के पहले चरण की शुरुआत कब हुई –

साथियों, आपको जानकारी दे दें कि प्रधानमन्त्री उज्ज्वला योजना के प्रथम चरण की शुरुआत करीब पांच साल पहले एक मई, 2016 को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की थी। योजना का नारा स्वच्छ ईंधन, बेहतर जीवन निर्धारित किया गया था। रियायती दरों पर बीपीएल लाभार्थियों को एलपीजी कनेक्शन पीएम उज्जवला योजना 2.0 के अंतर्गत मुहैया कराए गए। ‌यह योजना लाने के पीछे लक्ष्य प्रदूषण को कम करना एवं पेड़ पौधों को बतौर ईंधन इस्तेमाल करने के लिए कटने से बचाना था।

पीएम उज्जवला योजना के तहत अब तक कितने कनेक्शन उपलब्ध कराए गए –

मित्रों, आपको बता दें कि जहां प्रधानमन्त्री उज्जवला योजना 1.0 के तहत पांच साल में 8 करोड़ गैस कनेक्शन बांटे जाने का लक्ष्य रखा गया था। अच्छी बात यह रही कि करीब साढ़े चार साल में ही 8 करोड़ से अधिक कनेक्शन बांटे जा चुके थे। यदि बात प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना 2.0 योजना की करें तो इसके तहत 11 अक्टूबर, 2021 तक 41,69,305 लाभार्थी कनेक्शन ले चुके हैं।

पीएमयूवाई राज्य-वार कनेक्शन वितरण

आप नीचे देगा लिस्ट के अनुसार प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना के अंतर्गत दिया गया गैस कनेक्शन की जानकारी समझ सकते हैं –

S.RName of the StatesTotal Connections Provided
1 Andaman & Nicobar Islands [अंडमान और निकोबार द्वीप समूह] 13,103
2 Andhra Pradesh [आंध्र प्रदेश] 3,90,998
3Arunachal Pradesh [अरुणाचल प्रदेश] 44,668
4 Assam [असम] 34,93,730
5 Bihar [बिहार] 85,71,668
6 Chandigarh [चंडीगढ़] 88
7 Chhattisgarh [छत्तीसगढ़] 29,98,629
8 Dadra and Nagar Haveli [दादरा और नगर हवेली] 14,438
9 Daman and Diu [दमन और दीव] 427
10 Delhi [दिल्ली] 77,051
11 Goa [गोआ] 1,082
12 Gujarat [गुजरात] 29,07,682
13 Haryana [हरियाणा] 7,30,702
14 Himachal Pradesh [हिमाचल प्रदेश] 1,36,084
15 Jammu and Kashmir [जम्मू और कश्मीर] 12,03,246
16 Jharkhand [झारखंड] 32,93,035
17 Karnataka [कर्नाटक] 31,51,238
18 Kerala [केरल] 2,56,303
19 Lakshadweep [लक्षद्वीप] 292
20 Madhya Pradesh [Madhya Pradesh] 71,79,224
21 Maharashtra [महाराष्ट्र] 44,37,624
22 Manipur [मणिपुर] 1,56,195
23 Meghalaya [मेघालय] 1,50,664
24 Mizoram [मिज़ोरम] 28,123
25 Nagaland [नागालैंड] 55,143
26 Odisha [ओडिशा] 47,50,478
27 Puducherry [पुदुचेरी] 13,566
28 Punjab [पंजाब] 12,25,067
29 Rajasthan [राजस्थान] 63,92,482
30 Sikkim [सिक्किम] 8,747
31 Tamil Nadu [तमिलनाडु] 32,43,190
32 Telangana [तेलंगाना] 10,75,202
33 Tripura [त्रि‍पुरा] 2,72,323
34 Uttar Pradesh [Uttar Pradesh] 1,47,86,745
35 Uttarakhand [उत्तराखंड] 4,04,703
36 West Bengal [पश्चिम बंगाल] 88,76,053

कोई भी समस्या हो तो इस टोल फ्री हेल्पलाइन नंबर पर संपर्क करें

प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना 2.0 के तहत एक टोल-फ्री हेल्पलाइन (helpline number) 1800 -2333–555 जारी किया गया है। किसी भी प्रकार की समस्या अथवा जिज्ञासा होने पर आप इस नंबर पर संपर्क कर सकते हैं। इसके अतिरिक्त यदि आप चाहें तो टोल फ्री नंबर 1906 पर संपर्क करके भी अपनी जिज्ञासा का समाधान कर सकते हैं।

ग्रामीण महिलाओं की सेहत एवं पर्यावरण के लिए हानिकारक है चूल्हे, अंगीठी का धुआं

भारतीय परिवारों में यदि काम के बंटवारे की बात करें तो अभी भी वे परंपरागत पद्धति पर चलते हैं। यहां अभी भी पुरुष आजीविका का जिम्मा उठाते हैं, जबकि भोजन पकाने का जिम्मा महिलाओं के ही कंधों पर है। जिन परिवारों में महिलाएं भी रोजी रोटी के लिए घर से बाहर जाती हैं, वहां भी उनकी स्थिति में कोई बदलाव नहीं है। परिवार के भोजन का जिम्मा उन्हीं के सिर पर होता है। ‌‌अभी भी बहुत से परिवार ऐसे हैं, जहां महिलाओं ने गैस चूल्हे की शक्ल नहीं देखी है।

ऐसे में चूल्हे एवं अंगीठी जलाने से निकलने वाला धुआं उन्हें बीमार कर देता है। उनकी आंखों के साथ ही फेफड़ों पर भी इनसे निकलने वाली हानिकारक गैस असर करती है। उन्हें श्वास संबंधी बीमारी हो जाती है। इसके अलावा लकड़ी जलाने से पर्यावरण भी प्रभावित होता है। लकड़ी के लिए पेड़ काटने से भी लोग नहीं चूकते। प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना 2.0 ऐसी मुश्किलों का निदान बनेगी, यह मानकर चला जा सकता है।

कई जिलों में उज्ज्वला योजना लाभार्थी महिलाओं का ऐसा हाल

साथियों, प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना 2.0 का एक व्याहारिक पहलू भी है। और वो यह है कि पीएम उज्जवला योजना 2.0 से जुड़ी लाभार्थियों को मुफ्त सिलेंडर तो मिल गये , लेकिन एलपीजी (LPG) की कीमतों में हो रही बेतहाशा बढ़ोतरी की वजह से उनके परिवार वाले सिलेंडर नहीं भरवा पा रहे हैं। इसका नतीजा यह हुआ है कि कई जिलों में लोगों के घरों में योजना के तहत मिले सिलेंडर धूल फांक रहे हैं।

ग्रामीण क्षेत्रों में गरीब महिलाएं पूर्व की भांति चूल्हे पर खाना पकाने को मजबूर हैं। इन महिलाओं का दर्द वाजिब लगता है। इनका स्पष्ट कहना है कि सरकार ने सिलेंडर तो मुफ्त में दे दिए हैं, लेकिन गैस की कीमतों में हर दिन, हर रोज बेतहाशा इजाफा हो रहा है। सबसे बड़ी समस्या यह हो गई है कि कोरोना काल में लोगों के रोजगार खत्म हो गए। घरों में आने वाली एक नियमित आमदनी बंद हो गई।

ऐसे में अब जब घर चलाने के लिए ही पूरे पैसे नहीं हैं, तो सिलेंडर भरवाने के लिये पैसे कहां से आएं। अपने विषय आर्थिक हालात को देखते हुए बहुत सी महिलाओं ने अपने स्वास्थ्य को नजर अंदाज कर गैस का चूल्हा होते हुए भी लकड़ी के चूल्हे पर खाना पकाना आरंभ कर दिया है।

पहले चरण में दूसरे रीफिल के आंकड़ों में गिरावट दर्ज की गई

प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना के पहले चरण में लाभार्थियों को मुफ्त कनेक्शन बांटे गए, किंतु पीएम उज्जवला योजना 2.0 के रीफिल के आंकड़े भी इस बात की गवाही देते हैं कि कई जनों ने पहले रीफिल के बाद दूसरे रीफिल में दिलचस्पी नहीं दिखाई। यदि महंगाई डायन का मुंह इसी प्रकार फैलता रहा तो उन्हें अपने अन्य आवश्यक खर्चों में भी कटौती करने पर मजबूर होना पड़ेगा।

यह कहना भी अतिश्योक्ति नहीं होगा कि जिस प्रकार पेट्रोल, डीजल के दाम देश के अधिकांश राज्यों में सौ रुपए प्रति लीटर से ऊपर पहुंच गए हैं, उसे देखते हुए छोटे शहरों में लोग बड़ी संख्या में साइकिल पर नजर आ रहे हैं। लगभग पांच राज्यों में चुनावी आहट के बावजूद महंगाई का मुंह सुरसा की भांति फैलता ही जा रहा है। सरकार कौन अपनी मुफ्त एवं सब्सिडी योजनाओं को लाते एवं लागू करते समय इस पहलू पर भी आवश्यक रूप से ध्यान केंद्रित करना होगा।

पीएम उज्जवला योजना फॉर्म डाउनलोड करने की प्रक्रिया –

यदि आप प्रधानमंत्री उज्जवला योजना के अंतर्गत ऑफलाइन आवेदन करना चाहते हैं, तो आपको उज्जवला योजना आवेदन फॉर्म के साथ अन्य फॉर्म करने की आवश्यकता पड़ेगी। आप नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करके अपने आवश्यकता अनुसार फॉर्म डाउनलोड करके प्रिंट आउट निकाल सकते हैं –

पीएम उज्जवला योजना आवेदन फॉर्म डाउनलोड – [PM Ujjwala Yojana Application Form Download -]

यदि आप पीएम उज्जवला योजना आवेदन फॉर्म डाउनलोड करना चाहते हैं तो आप नीचे दिया गया फार्म डाउनलोड कर सकते हैं –

पीएम उज्जवला योजना केवाईसी फॉर्म डाउनलोड – [PM Ujjwala Yojana KYC Form Download -]

यदि आप ऑफलाइन योजना के लिए आवेदन करना चाहते हैं, तो आपको उज्जवला योजना केवाईसी फॉर्म की आवश्यकता है। आप नीचे दिया गया पीएम उज्जवला योजना केवाईसी फॉर्म डाउनलोड कर सकते हैं –

पीएम उज्जवला योजना सेल्फ डिक्लेरेशन फॉर्म फॉर माइग्रेंट डाउनलोड – [PM Ujjwala Yojana Self Declaration Form Download -]

प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना सेल्फ डिक्लेरेशन फॉर्म फॉर माइग्रेंट डाउनलोड करने के लिए आप नीचे दिए गए फार्म डाउनलोड कर सकते हैं –

प्रीइंस्टॉलेशन फॉर्म डाउनलोड – [Preinstallation Form Download -]

प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना प्रीइंस्टॉलेशन और आप नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करके डाउनलोड कर सकते हैं –

प्रधानमंत्री उज्जवला सप्लीमेंट्री केवाईसी फॉर्म – [Prime Minister Ujjwala Supplementary KYC Form -]

पीएम उज्जवला योजना सप्लीमेंट्री का फॉर्म डाउनलोड करने के लिए नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करके डाउनलोड कर सकते हैं –

गैस बुकिंग नंबर –

इंडेनHP, Bharat , Indane Gas Subsidy Status Online Check Kaise Kare?
आईवीआरएस7718955555
मिस्ड कॉल8454955555
व्हाट्सएप7588888824
भारत गैस ऑनलाइन, SMS भेजकर GAS Booking कैसे करे? Online Gas Booking Karne Ka Tarika
आईवीआरएस7715012345, 7718012345
मिस्ड कॉल7710955555
व्हाट्सएप1800224344
एचपी गैस HP Gas Subsidy Check Status Online कैसे करें?
आईवीआरएसयहां क्लिक करें
मिस्ड कॉल9493602222
व्हाट्सएप9222201122

पीएम उज्जवला योजना से जुड़े सवाल-जवाब –

प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना 2.0 का शुभारंभ कब हुआ?

प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना 2.0 का शुभारंभ 10 अगस्त, 2021 को हुआ।

पीएम उज्जवला योजना 2.0 की खासियत क्या है?

पीएम उज्जवला योजना 2.0 की सबसे बड़ी खासियत यह है कि लाभार्थी को कनेक्शन लेने के लिए कोई एड्रेस प्रूफ अथवा हलफनामा देने की आवश्यकता नहीं।

क्या पीएम उज्जवला योजना 2.0 के तहत गैस चूल्हे को कोई धनराशि देनी होगी?

जी नहीं, पीएम उज्जवला योजना 2.0 के तहत मुफ्त गैस कनेक्शन के साथ ही रीफिल एवं गैस चूल्हा भी मुफ्त मिलेगा।

प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना 2.0 के तहत कितने कनेक्शन दिए गए हैं?

प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना 2.0 के तहत 11 अक्टूबर, 2021 तक 41,69,305 लाभार्थी कनेक्शन ले चुके हैं।

योजना के संबंध में यदि कोई दिक्कत हो तो कहां संपर्क करें?

पीएम उज्जवला योजना 2.0 के संबंध में कोई भी दिक्कत होने पर टोल-फ्री हेल्पलाइन (helpline number) 1800 -2333–555 पर संपर्क कर सकते हैं।

मित्रों, यह थी [PMUY] PM Ujjwala Yojana 2.0 Apply Online 2021, पीएम उज्जवला योजना फॉर्म डाउनलोड के संबंध में आवश्यक जानकारी। यदि आपकी भी कोई परिचित महिला पीएम उज्जवला योजना 2.0 का लाभार्थी होने की शर्त पूरी करती हो तो उसके साथ इस पोस्ट को साझा करें। हम तक अपनी बात कैसे पहुंचानी है, यह आप जानते ही हैं। आपको बस नोचे दिए गए कमेंट बॉक्स में कमेंट करना है। आपकी प्रतिक्रियाओं का हमें हमेशा की तरह इंतजार है। ।। धन्यवाद।।


Spread the love

अनुक्रम

Leave a Comment