प्रधानमंत्री टीबी मुक्त भारत अभियान क्या है? | PM TB mission yojana in Hindi

|| प्रधानमंत्री टीबी मुक्त भारत अभियान क्या है? | PM TB mission yojana in Hindi | PM TB Mukt Bharat Abhiyan UPSC in Hindi | PM TB Mukt Abhiyan | TB kya hai | PM TB Mukt Bharat Abhiyan results | प्रधानमंत्री टीबी मिशन योजना का लक्ष्य ||

PM TB mission yojana in Hindi :- प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी के द्वारा कुछ समय पहले ही एक योजना को शुरू किया गया है जिसका लक्ष्य भारत को टीबी जैसी गंभीर बीमारी से मुक्त करना है। इस योजना को प्रधानमंत्री टीबी मुक्त भारत अभियान नाम (PM TB Mukt Bharat Abhiyan) दिया गया है या फिर हम इसे प्रधानमंत्री टीबी मिशन योजना भी कह सकते हैं। अब आपके मन में इस योजना को लेकर कई तरह के सवाल होंगे और उनके बारे में आप जानकारी चाहते होंगे।

इसलिए आज के इस लेख में (PM TB Mukt Bharat Abhiyan UPSC in Hindi) हम आपके साथ प्रधानमंत्री टीबी मुक्त भारत अभियान के बारे में ही बात करने वाले हैं जिसके जरिये आप यह जान (PM TB Mukt Abhiyan) पाएंगे कि आखिरकार इस योजना को कब व क्यों शुरू किया था तथा इसके तहत किस किस तरह के लक्ष्य निर्धारित किये गए हैं। तो आइए जाने प्रधानमंत्री टीबी मिशन योजना के बारे में विस्तार से।

प्रधानमंत्री टीबी मुक्त भारत अभियान क्या है? (PM TB mission yojana in Hindi)

सबसे पहले बात करते हैं प्रधानमंत्री टीबी मुक्त भारत अभियान के बारे में और उसकी बेसिक जानकारी लेने की कोशिश करते हैं। तो इस योजना को प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी तथा महामहिम राष्ट्रपति श्रीमती द्रौपदी मुर्मू जी के द्वारा वर्ष 2022 में शुरू किया गया था जिसका लक्ष्य संस्थाओं, लोगों तथा समाज की सहायता से देश को टीबी मुक्त करवाना है। अब इस प्रधानमंत्री टीबी मिशन योजना के तहत समाज की भागीदारी सुनिश्चित की जाएगी और उन्हें जागरूक करने का काम भी किया जाएगा।

प्रधानमंत्री टीबी मुक्त भारत अभियान क्या है PM TB mission yojana in Hindi

इसी के साथ साथ लोगों को इसमें अपना सहयोग करने और धन देने के लिए भी आमंत्रित किया जाएगा जिसके लिए वेबसाइट भी बनाई गयी है। इस वेबसाइट के (PM TB Mukt Bharat Abhiyaan) जरिये कोई भी व्यक्ति, संस्था, उद्योग, कंपनी इत्यादि भारत को टीबी मुक्त करवाने के लिए अपना सहयोग दे सकता है। इसके लिए वह किसी भी स्तर पर सहायता कर सकता है और सभी तरह के विकल्प इसके लिए खुले हैं। उदाहरण के तौर पर वह डॉक्टर की सेवाएं दे सकते हैं, किसी की जिम्मेदारी उठा सकते हैं या आर्थिक रूप से सहयोग कर सकते हैं इत्यादि।

अब जो व्यक्ति टीबी जैसी बीमारी से जूझ रहे हैं उन्हें इसके निदान के लिए सरकार के द्वारा प्रधानमंत्री टीबी मुक्त भारत अभियान के तहत (PM TB mission yojana kya hai) सहयोग किया जाएगा जिसमे उसका उपचार किया जाना, उसकी काउन्सलिंग करना तथा उसे अन्य सभी तरह का सहयोग व सहायता करना सम्मिलित है। इस तरह से प्रधानमंत्री टीबी मिशन योजना का लक्ष्य भारत को वर्ष 2025 तक पूर्ण रूप से टीबी मुक्त करवाना है। यही इस योजना का मुख्य उद्देश्य है जिसके तहत जोरों शोरों से कार्य चल रहा है और सभी का उपचार किया जा रहा है।

टीबी बीमारी क्या है? (What is TB in Hindi)

अब जब आप प्रधानमंत्री टीबी मुक्त भारत अभियान के बारे में जान रहे हैं तो आपको उसके साथ साथ टीबी बीमारी है क्या चीज़, इसके बारे में भी साथ के साथ जान लेना चाहिए। तो टीबी एक बहुत ही गंभीर बीमारी होती है जो ट्यूबरक्‍युलोसिस बैक्टीरिया के कारण मनुष्य (TB kya hoti hai) के शरीर में चली जाती है। यह एक ऐसे विषाणु होते हैं जो मनुष्य के फेफड़ों को जल्दी संक्रमित करते हैं लेकिन यह शरीर के किसी भी हिस्से में फैल सकती है। इस बीमारी के कारण मनुष्य को कई तरह के गंभीर लक्षण हो जाते हैं।

इन लक्षणों में सांस लेने में दिक्कत आना, बहुत ज्यादा खांसी का हो जाना, शरीर से लगातार पसीना आना, पूरा दिन थकान का अनुभव करना इत्यादि सम्मिलित है। कभी कभी तो टीबी के रोगियों को चक्कर आने या उल्टी आने जैसा भी होता है। अब यदि इसका समय रहते उपचार ना (TB kya hai) किया जाए तो यह टीबी के विषाणु शरीर के जिस भी हिस्से में फैले हुए हैं, वे वहां के हिस्से को पूरी तरह से नष्ट कर देते हैं और उनका कोई काम नहीं रह जाता है।

एक तरह से कहा जाए तो टीबी के बैक्टीरिया शरीर के जिस भी हिस्से में फैले हुए हैं, वहां को वे पूरी तरह से खोखला कर देते हैं। साथ ही यह बीमारी संक्रामक भी है अर्थात यह संक्रमित व्यक्ति के द्वारा किसी दूसरे व्यक्ति के शरीर में प्रवेश कर जाती है। ऐसे में समाज के लोग टीबी के मरीजों का बहिष्कार कर देते हैं और उन्हें परायों की नज़र से देखा जाने लगता है।

प्रधानमंत्री टीबी मिशन योजना क्यों शुरू की गयी? (PM TB Mukt Bharat Abhiyan launch date)

जैसा कि आपने ऊपर टीबी की परिभाषा में जाना की यह बीमारी कितनी घातक होती है लेकिन उससे भी बुरी चीज़ है इस बीमारी का संक्रामक होना। अब यह बीमारी जिस भी व्यक्ति को अपनी जकड़ में लेती है वह व्यक्ति पूर्ण रूप से टीबी की चपेट में आ जाता है लेकिन साथ ही उसके द्वारा बाकि लोगों को भी संक्रमण रहने का डर बना रहता है। यही कारण है कि वह व्यक्ति एकदम अकेला पड़ जाता है और कोई भी उसके पास नहीं आना चाहता है।

साथ ही यह एक गंभीर बीमारी होने के कारण इसका उपचार (PM TB mission yojana kab shuru hui thi) भी बहुत महंगा होता है तथा हर किसी के लिए इसको सहना संभव नहीं होता है। अब यदि वे अपना उपचार नहीं करवाएंगे तो स्वयं तो दुःख भोगेंगे ही लेकिन बाकियों को भी संक्रमित करेंगे। इसी को देखते हुए ही भारत सरकार ने पूरे भारत को इस बीमारी से पीछा छुडवाने के लिए ही प्रधानमंत्री टीबी मुक्त भारत अभियान की शुरुआत की।

इस योजना के तहत भारत सरकार के द्वारा टीबी से ग्रस्त रोगियों को ना केवल गोद लिया जा रहा है बल्कि अन्य स्वयं सेवी संस्थाओं तथा लोगों को भी इसके साथ जोड़ा जा रहा है ताकि वे भी टीबी रोगियों को गोद ले सके और उनका उपचार करवा सके। इसी का परिणाम है कि आज के समय में लगभग हर टीबी रोगी को गोद लिया जा चुका है और उनका उपचार भी अच्छे से हो रहा है।

प्रधानमंत्री टीबी मुक्त भारत अभियान का परिणाम (PM TB Mukt Bharat Abhiyan results)

अब आपको इस योजना के परिणामों के बारे में भी जानना होगा ताकि आपको इसकी विशालता का अनुमान लग सके। तो यहाँ हम आपको बता दें कि देश में लगभग 13 लाख के आसपास टीबी के मरीज है और यह भारत सरकार का आधिकारिक आंकड़ा है। तो इन 13 लाख लोगों में से प्रधानमंत्री टीबी मिशन योजना के तहत सरकारी तथा गैर सरकारी संस्थाओं के द्वारा लगभग 9 लाख टीबी रोगियों को गोद लिया जा चुका है।

अब आप कहेंगे कि बाकि के 4 लाख का क्या हुआ तो यहाँ आपको बता दें कि बाकि के 4 लाख लोगों ने इसके लिए मना कर दिया। कहने का अर्थ यह हुआ कि बाकि के 4 लाख लोग स्वयं का उपचार करवाने में सक्षम है जबकि अन्य 9 लाख लोग जो अपना उपचार करवाने में समर्थ नहीं थे, उन्हें इस प्रधानमंत्री टीबी मिशन योजना के तहत गोद ले लिया गया है। अब उनका बेहतर तरीके से उपचार हो रहा है और साथ ही उनकी काउन्सलिंग भी की जा रही है।

प्रधानमंत्री टीबी मिशन योजना का लक्ष्य (PM TB Mukt Bharat Abhiyan milestone)

प्रधानमंत्री टीबी मुक्त भारत अभियान के कुछ लक्ष्य निर्धारित किये गए हैं। इसका पहला लक्ष्य तो यही है कि आज के समय में जो भी टीबी के रोगी भारत देश में रह रहे हैं, उन्हें सरकार या अन्य किसी संस्था के तहत गोद लिया जाएगा और उन्हें उपचार में हरसंभव सहायता की जाएगी। इस लक्ष्य को लगभग पूरा ही कर लिया गया है और सभी टीबी रोगियों को जिन्हें उपचार की आवश्यकता थी, उन्हें गोद ले लिया (PM TB mission yojana ka lakshya) गया है।

अब इसका दूसरा लक्ष्य है भारत देश को वर्ष 2025 तक पूर्ण रूप से टीबी नामक महामारी या बीमारी से मुक्त करवाना है। इसके लिए टीबी मुक्त भारत का आह्वान भी किया गया है ताकि देश में कोई भी व्यक्ति इस गंभीर बीमारी के संपर्क में ना आये। प्रधानमंत्री व राष्ट्रपति दोनों ने मिल कर देश के लोगों को इस मुहीम के साथ जुड़ने के लिए आमंत्रित किया है ताकि इस लक्ष्य को जल्द से जल्द प्राप्त किया जा सके।

प्रधानमंत्री टीबी मुक्त भारत अभियान की वेबसाइट (PM TB Mukt Bharat Abhiyan website)

अब यदि हम प्रधानमंत्री टीबी मिशन योजना की वेबसाइट की बात करें तो उसका लिंक https://communitysupport.nikshay.in/# है। यहाँ पर क्लिक कर आपको प्रधानमंत्री टीबी मुक्त भारत अभियान के बारे में समूची जानकारी मिल जाएगी। उदाहरण के तौर पर इस प्रधानमंत्री टीबी मिशन योजना के तहत कितने लोगों को गोद लिया जा चुका है, उनमें से कितनो का उपचार चल रहा है, आगे की क्या योजना है, आप इसमें कैसे अपना योगदान दे सकते हैं तथा अभी तक कौन कौन इस योजना में अपना योगदान दे चुका है इत्यादि।

तो एक तरह से प्रधानमंत्री टीबी मुक्त भारत अभियान की पूरी जानकारी आपको उनकी वेबसाइट पर मिल जाएगी। अब यदि आप भी इस अभियान का हिस्सा बनना चाहते हैं तो आपका तहे दिल से स्वागत है। वहीं यदि आप या आपका कोई जानकार टीबी नामक बीमारी से पीड़ित है तो आप इस वेबसाइट पर जाकर उसकी जानकारी भी दे सकते हैं ताकि उसे एक बेहतर उपचार मिल सके।

download app

प्रधानमंत्री टीबी मिशन योजना क्या है – Related FAQs

प्रश्न: टीबी के मरीज को कितना पैसा मिलता है?

उत्तर: टीबी के मरीज को हर महीने 500 रुपए के आसपास पैसा मिलता है।

प्रश्न: क्या TB जड़ से खत्म हो सकती है?

उत्तर: यदि आप समय रहते डॉक्टर को दिखा देंगे तो अवश्य ही टीबी जड़ से ख़त्म हो सकती है।

प्रश्न: टीबी की दवा कितने दिन में असर करती है?

उत्तर: सामान्य तौर पर टीबी की दावा 6 से 9 महीने तक चलती है।

प्रश्न: टीबी एक दूसरे से फैलता है क्या?

उत्तर: हां, टीबी एक दूसरे से फैलता है और यह एक संक्रामक रोग है।

इस तरह से आज का यह लेख आपको यह बताने के लिए था कि प्रधानमंत्री टीबी मुक्त भारत अभियान क्या है और इसको कब व क्यों शुरू किया गया था। इसके साथ ही आपने प्रधानमंत्री टीबी मिशन योजना के बारे में शुरू से लेकर अंत तक पूरी जानकारी इस लेख के माध्यम से ले ली है। आशा है कि अब आपके मन की सभी शंकाएं दूर हो गयी होंगी और यदि नहीं भी हुई है तो आप नीचे कमेंट करके हमसे पूछ सकते हैं।

लविश बंसल
लविश बंसल
लविश बंसल वर्ष 2010 में लवली प्रोफेशनल यूनिवर्सिटी में कंप्यूटर साइंस इंजीनियरिंग में प्रवेश लिया और वहां से वर्ष 2014 में बीटेक की डिग्री ली। शुरुआत से ही इन्हें वाद विवाद प्रतियोगिता में भाग लेना या इससे संबंधित क्षेत्रों में भाग लेना अच्छा लगता था। इसलिए ये काफी समय से लेखन कार्य कर रहें हैं। इनके लेख की विशेषता में लेख की योजना बनाना, ग्राफ़िक्स का कंटेंट देखना, विडियो की स्क्रिप्ट लिखना, तरह तरह के विषयों पर लेख लिखना, सोशल मीडिया कंटेंट लिखना इत्यादि शामिल है।
WordPress List - Subscription Form
Never miss an update!
Be the first to receive the latest blog post directly to your inbox. 🙂

Leave a Comment