पीएम जन आरोग्य योजना (PM-JAY), राशन कार्ड से रजिस्ट्रेशन, लाभार्थी, कवरेज, एप्लीकेशन फॉर्म

देशवासियों के कल्याण के लिए केंद्र सरकार विभिन्न स्वास्थ्य, शिक्षा एवं अन्य क्षेत्रों से जुड़ी योजनाओं का संचालन कर रही है। पीएम जन आरोग्य योजना 2022 भी ऐसी ही योजना है, जिसके जरिए लाभार्थियों को स्वास्थ्य बीमा कवर उपलब्ध कराया जा रहा है। पांच लाख रुपए तक कवर देने वाली इस योजना के लाभार्थियों का दायरा अब और भी बड़ा करने की तैयारी चल रही है। आज इस पोस्ट में हम आपको इस योजना से जुड़ी सारी जानकारी बिंदुवार उपलब्ध कराएंगे। आइए, शुरू करते हैं-

पीएम जन आरोग्य योजना क्या है?

सबसे पहले आपको इस बात की जानकारी देते हैं कि प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना क्या है। दोस्तों, आपको बता दें कि यूनिवर्सल हेल्थ कवरेज (UHC) के उद्देश्य से केंद्र सरकार ने 2017 में आयुष्मान भारत योजना की शुरुआत की थी। इसके तहत पात्र नागरिकों को पांच लाख रुपए का स्वास्थ्य बीमा (health insurance) कवरेज प्रदान किया जाता है। आयुष्मान भारत योजना (ABY) का ही एक घटक प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना है।

इसे PMJAY के नाम से भी जाना जाता है। इसका शुभारंभ 2018 में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रांची, झारखंड में किया। इसे दीनदयाल उपाध्याय की जयंती पर 23 सितंबर, 2018 को देश भर में लागू किया गया। यह दुनिया की सबसे बड़ी स्वास्थ्य आश्वासन योजना है, जिसका उद्देश्य गरीब और वंचित परिवारों को प्रति परिवार प्रति वर्ष 5 लाख रुपये तक का मुफ़्त इलाज मुहैया कराना है।

पीएम जन आरोग्य योजना (PM-JAY), राशन कार्ड से रजिस्ट्रेशन, लाभार्थी, कवरेज, एप्लीकेशन फॉर्म

प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना डिटेल्स –

योजना का नामआयुष्मान भारत योजना 2022
लांच की गईप्रधान मंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी द्वारा
आवेदन प्रक्रियाऑनलाइन जनसेवा केंद्र से
योजना का लाभस्वास्थ्य हेतु बीमा
घोषित की गई14 अप्रैल 2018
मुख्य उदेश्यबीमा के द्वारा गरीब नागरिकों को 5 लाख तक का मुफ्त इलाज
रजिस्ट्रेशन शुरआतफॉर्म अभी उपलब्ध हैं
आखिरी तारीखकोई नहीं
लाभार्थीगरीब व पिछड़े परिवार
आधिकारिक वेबसाइटpmjay.gov.in

50 करोड़ लाभार्थी, अब 80 करोड़ तक योजना का दायरा बढ़ाने पर विचार

दोस्तों, आपको बता दें कि फिलहाल 10.74 करोड़ से भी अधिक गरीब और वंचित परिवारों के करीब 50 करोड़ लाभार्थियों को पीएम जन आरोग्य योजना का लाभ पहुंच रहा है। यह भारतीय आबादी का कुल 40% है। अब इस संख्या को बढ़ाकर 80 करोड़ तक पहुंचाने पर विचार चल रहा है। इसके लिए इस योजना को राशन कार्ड से जोड़ने पर विचार किया जा रहा है। इस कदम से लाभार्थियों की ट्रैकिंग भी संभव होगी।

आपको जानकारी दे दें कि इस बिंदु पर राज्यों व नेशनल हेल्थ अथॉरिटी यानी एनएचए (NHA) के बीच कई राउंड की बैठक हो चुकी है। एनएचए ने लाभार्थियों का दायरा बढ़ाने के संबंध में विकल्प पर विभिन्न राज्यों से सुझाव आमंत्रित किए थे। पीएम जन आरोग्य योजना की तीसरी वर्षगांठ यानी 23 सितंबर, 2021 तक इस संबंध में ऐलान किया जा सकता है।

राशन कार्ड से जोड़ने से लाभार्थियों की ट्रैकिंग आसान होगी –

दोस्तों, हमने आपको बताया कि जनगणना 2011 के अनुसार पीएम जन आरोग्य योजना के 10.74 करोड़ परिवार यानी करीब 50 करोड़ लाभार्थी हैं। इस योजना के दायरे में ग्रामीण इलाके के 8.03 करोड़ परिवार, जबकि.शहरी इलाके के 2.33 करोड़ परिवार आते हैं। लेकिन दिक्कत यह आ रही है कि लाखों लोगों का स्थान बदल चुका है और कई लोग बताए पते पर नहीं मिल पा रहे हैं।

कई राज्यों से इस तरह की शिकायतें सामने आईं। इसके अलावा बड़ी संख्या ऐसे लोगों की है जो वास्तव में गरीब हैं लेकिन उनका नाम एसईसीसी में नहीं है। ऐसे में योजना को राशन कार्ड से जोड़ने पर योजना के वास्तविक लाभार्थियों की ट्रैकिंग भी हो सकेगी।

लाभार्थियों के आंकड़े किस आधार पर तय किए गए थे?

मित्रों, शायद आपको इस बात की जानकारी न हो कि अभी जो प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना के लाभार्थी हैं, उनका आंकड़ा 2011 की सामाजिक आर्थिक जातिगत जनगणना (social economic caste census) यानी एसईसीसी (SECC) के आंकड़ों के आधार पर तय किए गए थे। जाहिर सी बात है कि यह आंकड़े करीब 10 साल पुराने हैं। ऐसे में बड़ी संख्या में जरूरतमंदों के पीएम जन आरोग्य योजना से बाहर होने की बात से केंद्र चिंतित है।

लिहाजा, वह लाभार्थियों की संख्या बढ़ाए जाने की कवायद पर फोकस कर रहा है। एनएचए के पास आए सुझावों में सबसे अधिक राज्यों की ओर से योजना को राशनकार्ड से जोड़ने का प्रस्ताव दिया गया है। अब एनएचए द्वारा इसके आर्थिक पहलुओं की समीक्षा की जा रही है।

प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना से जुड़ी खास बातें –

  • प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना दुनिया की सबसे बड़ी स्वास्थ्य बीमा/आश्वासन योजना है।
  • इस योजना के माध्यम से देश में सार्वजनिक व निजी सूचीबद्ध अस्पतालों में प्रति परिवार प्रति वर्ष 5 लाख रुपये तक की धनराशि लाभार्थियों को इलाज के लिए मुहया कराई जाती है।
  • इस योजना के लाभार्थियों की संख्या 50 करोड़ है। इसका मकसद अस्पतालों में चिकित्सा उपचार से उत्पन्न अत्यधिक ख़र्चे को कम करने में लाभार्थियों की सहायता करना है।
  • जन आरोग्य योजना में करीब 1,393 पैकेज मुफ्त शामिल किए गए हैं, मसलन दवाएं, डाक्टरों की फीस, रूम रेंट, ओटी व आईसीयू फीस आदि। स्वास्थ्य मंत्रालय ने इसके पैकेज में कोरोनरी बाईपास, घुटना बदलना और स्टंट डालने जैसे इलाज भी शामिल किए हैं।
  • पीएम जन आरोग्य योजना के तहत अस्पताल में भर्ती होने के तीन दिन पहले और 15 दिन बाद तक का नैदानिक उपचार, स्वास्थ्य इलाज व दवाइयां मुफ्त में मिलती हैं।
  • प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना के तहत परिवार के आकार, आयु या लिंग संबंधी कोई सीमा नहीं है। लाभार्थी इस योजना का लाभ पूरे देश में किसी भी सार्वजनिक या निजी इनपैनल अस्पताल में उठा सकतें हैं।

जन आरोग्य योजना के तहत लाभार्थियों का इलाज कहां होता है?

सभी सरकारी अस्पतालों में प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना के लाभार्थी इलाज करा सकते हैं। इसके साथ ही सरकार के पैनल में शमिल निजी अस्पतालों में भी इस योजना के लाभार्थियों के इलाज का प्रावधान किया गया है। आपको बता दें दोस्तों कि पैनल में शामिल होने के लिए निजी अस्पताल में कम से कम 10 बेड और इसे बढ़ाने की क्षमता होनी चाहिए।

प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना का लाभ उठाने के लिए आवश्यक दस्तावेज –

साथियों, प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना का लाभार्थी बनने के लिए आपके पास कुछ दस्तावेज होने चाहिए, जो कि इस प्रकार से हैं-

  • आवेदक का आधार कार्ड
  • परिवार के सभी लोगो का राशन कार्ड
  • आवेदक का मोबाइल नंबर
  • आय संबंधी प्रमाण पत्र
  • आवेदक का निवास प्रमाण पत्र

प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना के लिए योग्यता –

दोस्तों, आपको बता दें कि प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना का लाभार्थी बनने के लिए सरकार द्वारा कुछ योग्यता/पात्रता निर्धारित की गई है। ग्रामीण व शहरी क्षेत्रों के लिए यह पात्रता भिन्न भिन्न है-

ग्रामीण क्षेत्रों के लिए निर्धारित योग्यता –

ग्रामीण इलाके में कच्चा मकान, परिवार में किसी व्यस्क (16-59 साल) का नहीं होना, परिवार की मुखिया महिला हो, परिवार में कोई दिव्यांग हो, अनुसूचित जाति/जनजाति से हों और भूमिहीन व्यक्ति/दिहाड़ी मजदूर हों। इसके अलावा ग्रामीण इलाके के बेघर व्यक्ति, निराश्रित, दान या भीख मांगने वाले, आदिवासी और क़ानूनी रूप से मुक्त बंधुआ आदि भी पीएम जन आरोग्य योजना के हिस्से होंगे।

शहरी क्षेत्रों के लिए योग्यता –

भिखारी, कूड़ा बीनने वाले, घरेलू कामकाज करने वाले, रेहड़ी-पटरी दुकानदार, मोची, फेरी वाले, सड़क पर कामकाज करने वाले. किसी कंस्ट्रक्शन साइट पर काम करने वाले मजदूर, प्लंबर, राजमिस्त्री, मजदूर, पेंटर, वेल्डर, सिक्योरिटी गार्ड, कुली और भार ढोने वाले अन्य कामकाजी व्यक्ति, स्वीपर, सफाई कर्मी, घरेलू काम करने वाले, हेंडीक्राफ्ट का काम करने वाले, टेलर, ड्राइवर, रिक्शा चालक, दुकान पर काम करने वाले भी प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना का हिस्सा होंगे।

प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना के लिए पात्रता कैसे जांचें?

मित्रों, पीएम जन आरोग्य योजना का लाभ लेने के लिए आवेदक को सबसे पहले अपनी पात्रता जांचनी होगी। इसकी एक निर्धारित प्रक्रिया है। आवेदक को यह steps follow करने होंगे-

Total Time: 20 minutes

ऑफिसियल वेबसाइट पर जाएँ –

आवेदक को सबसे पहले प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना की आधिकारिक वेबसाइट https://pmjay.gov.in/ पर जाना होगा। आप यहाँ क्लीक करके डायरेक्ट जा सकतें हैं

AM I Eligible के option पर क्लीक करें –

यहां होम पेज पर AM I Eligible का option दिखाई देगा। आवेदक को इस option पर क्लिक करना होगा। अब आवेदक के सामने एक नई विंडो खुलेगी।

मोबाइल नंबर से लॉग इन करें –

यहां आवेदक को लॉगिन के लिए अपने मोबाइल नंबर को OTP के साथ verify करना होगा।[नई लिस्ट] मोबाइल से Ayushman Bharat Yojana List 2018-19 में अपना नाम कैसे देखें ?

अपने परिवार के सदस्य को सर्च करें –

लॉगिन के बाद ‘अपने परिवार की पात्रता की जांच करें’ के लिंक पर क्लिक करें। अब आवेदक को दो विकल्प दिखेंगे। पहले विकल्प में अपना राज्य चुनना होगा। इसके बाद दूसरे विकल्प में तीन कैटेगरी होंगी 1-नाम से 2-अपने राशन कार्ड से तथा 3- मोबाइल नंबर से इनमें से किसी एक को चुनें।[नई लिस्ट] मोबाइल से Ayushman Bharat Yojana List 2018-19 में अपना नाम कैसे देखें ?

सबमिट बटन पर क्लीक करें –

सारी जानकारी सही सही भरकर submit के option पर क्लिक कर दें। जैसे ही सबमिट बटन पर क्लीक करेगें।आपके सामने आपकी सारी डिटेल्स दिखाई देगी।ayushman bharat yojana list 2018 19 me apna nam kaise dekhe 3

सीएससी के जरिए भी पात्रता जांच सकते हैं?

मित्रों, प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना के लिए लाभार्थी के पास पात्रता जांचने का एक और तरीका है। और यह है जन सेवा केंद्र यानी common service center। इन्हें सीएससी (CSC) भी पुकारा जाता है। इसके जरिए अपने परिवार की पात्रता की जांच करने के लिए आवेदक को जनसेवा केंद्र में जाना होगा। यहां उसे और अपने सभी मूल दस्तावेज़ सीएससी संचालक को देने होंगे। वह इन दस्तावेज़ों के जरिए पात्रता की जांच के लिए अपने जन सेवा केंद्र (CSC) से लॉगिन कर लेगा। आप योजना के दायरे में हैं कि नहीं जांच करके आपको बता देगा।

प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना में आवेदन कैसे करें?

मित्रों, प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना के तहत आवेदन करने के लिए आवेदक को एक निर्धारित प्रक्रिया अपनानी होगी, जो इस प्रकार है-

  1. आवेदक को सबसे पहले जन सेवा केंद्र (CSC) में जाना होगा।
  2. यहां उसे अपने सभी मूल दस्तावेजों की फोटो कॉपी जमा करनी होगी।
  3. अब जन सेवा केंद्र (CSC) का संचालक आवेदक के सभी दस्तावेज़ों का वेरिफिकेशन करेगा।
  4. इसके पश्चात वह लाभार्थी के रूप में आवेदक का रजिस्ट्रेशन सुनिश्चित करेगा।
  5. रजिस्ट्रेशन के बाद 10 से 15 दिन के भीतर आवेदक को आयुष्मान भारत का गोल्डन कार्ड मिल जाएगा, जो उसके योजना के लिए रजिस्ट्रेशन को पुख्ता कर देगा।

प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना के तहत अस्पताल में भर्ती होने की प्रक्रिया क्या है?

दोस्तों, प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना के तहत अस्पताल में भर्ती होने की प्रक्रिया कोई जटिल नहीं। आपको बता दें कि लाभार्थी को अस्पताल में भर्ती होने के लिए कोई चार्ज नहीं देना होता। अस्पताल में दाखिल होने से लेकर इलाज तक का सारा खर्च इस योजना के भीतर कवर किया जाता है। यह हम पहले ही बता चुके हैं कि योजना के तहत अस्पताल में दाखिल होने से पहले और बाद के खर्च भी कवर किए जाते हैं।

पैनल में शामिल हर अस्पताल में एक आयुष्मान मित्र होता है। वह अस्पताल की सुविधाएं दिलाने में मरीज की सहायता करता है। आपको बता दें कि दोस्तों कि अस्पताल में एक हेल्प डेस्क भी होती है, जो दस्तावेज चेक करने, योजना में नामांकन के लिए वेरिफिकेशन आदि में सहायता करती है।

कोई ग्रीवांस है तो कहां और कैसे दर्ज कराएं?

मित्रों, यदि आपको प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना से संबंधित कोई ग्रीवांस है तो आप उसे दर्ज करा सकते हैं। इसकी प्रक्रिया कुछ यूं है-

  1. सबसे पहले आवेदक को प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।
  2. यहां आपके सामने होम पेज खुल जाएगा। आवेदक को यहां मेनू बार के टैब पर क्लिक करना होगा।
  3. यहां ग्रीवांस पोर्टल के लिंक पर क्लिक करें। इस लिंक पर क्लिक करते ही आवेदक के सामने नया पोर्टल खुल जाएगा।
  4. आवेदक को Register your grievance AB-PMJY के लिंक पर क्लिक करना होगा। अब आवेदक के सामने ग्रीवांस फॉर्म होगा।
  5. उसे इस फार्म में grievance by, case type, enrolment, beneficiary details, grievance details भरने के बाद डिक्लेरेशन पर टिक करना होगा।
  6. इतना करने के बाद submit के option पर क्लिक कर दें। आपका grievance दर्ज हो जाएगा।

प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना अस्पताल कैसे ढूंढें?

मित्रों, अब आपको बताते हैं कि आप प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना के तहत सूचीबद्ध अस्पताल कैसे ढूंढ सकते हैं-

  1. आवेदक को सबसे पहले प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।
  2. अब आपके सामने होम पेज खुल जाएगा। यहां मेनू के टैब पर क्लिक करें।
  3. अब आपको find hospital के लिंक पर क्लिक करना होगा। अब आपके सामने एक नया पेज खुल जाएगा।
  4. यहां आपको अपने राज्य, जिले, हॉस्पिटल टाइप, स्पेशलिटी व हॉस्पिटल का नाम चुनना। इसके बाद आपको कैप्चा कोड दर्ज करना होगा।
  5. अब search के option पर क्लिक करें। संबंधित जानकारी आपके सामने आ जाएगी।

प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना के तहत हेल्थ बेनिफिट पैकेज कैसे देखें?

साथियों, प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना के तहत उपलब्ध हेल्थ बेनिफिट पैकेज देखने के लिए ऐसा करें-

  • सबसे पहले आपको नेशनल हेल्थ अथॉरिटी की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।
  • अब आपके सामने होम पेज खुल जाएगा। अब आपको menu के option पर क्लिक करना होगा।
  • इसमें आपको हेल्थ बेनिफिट पैकेज के विकल्प पर क्लिक करना होगा। अब आपके सामने एक नया पेज खुल जाएगा।
  • यहां सभी हेल्थ बेनिफिट पैकेज की सूची पीडीएफ फॉर्मेट में उपलब्ध होगी। आपको अपनी जरूरत के हिसाब से हेल्थ बेनिफिट पैकेज के विकल्प पर क्लिक करना होगा।
  • संबंधित जानकारी आपके सामने आ जाएगी।

कोई समस्या आने पर हेल्पलाइन नंबर पर संपर्क करें

दोस्तों, अस्पताल में आयुष्मान मित्र तथा हेल्प डेस्क होने के बावजूद यदि किसी मरीज अथवा उसके परिजनों को कोई समस्या आती है तो वह सरकार द्वारा जारी हेल्पलाइन नंबर 14555 पर भी काल कर सकते हैं। इस नंबर पर वह योजना के संबंध में कोई सवाल भी कर सकते हैं व जानकारी प्राप्त कर सकते हैं।

प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना से जुड़े सवाल जवाब –

योजना का शुभारंभ किसने किया?

योजना का शुभारंभ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रांची, झारखंड से किया।

प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना की शुरुआत कब हुई?

प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना की शुरुआत 23 सितंबर, 2018 को हुई।

प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना के तहत क्या प्रावधान किया गया है?

प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना के तहत गरीबों वह वंचितों को प्रति वर्ष प्रति परिवार पांच लाख तक का मुफ्त इलाज मुहैया कराने का प्रावधान किया गया है।

क्या इस योजना में परिवार के आकार, लिंग जैसी कोई बाध्यता रखी गई है?

जी नहीं, योजना के तहत ऐसी कोई सीमा निर्धारित नहीं की गई है।

क्या किसी भी राज्य का नागरिक पीएम जन आरोग्य योजना का लाभ ले सकता है?

जी हां, देश में किसी भी प्रदेश का नागरिक इस योजना का लाभ लै सकता है।

योजना के तहत क्या मरीज का मुफ्त इलाज केवल उसी राज्य में होगा, जिसमें वह निवास करता‌ है?

जी नहीं, वह देश के किसी भी योजना में सूचीबद्ध अस्पताल में अपना इलाज करा सकता है।

क्या अस्पताल में भर्ती होते समय मरीज से कोई चार्ज वसूला जाएगा?

जी नहीं, अस्पताल में भर्ती होते हुए मरीज से कोई चार्ज नहीं वसूला जाएगा।

देश में प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना के कितने लाभार्थी हैं?

देश में प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना के पांच करोड़ के करीब लाभार्थी हैं?

क्या योजना का दायरा बढ़ाया जा सकता है?

इस योजना का दायरा बढ़ाकर 80 करोड़ किए जाने पर विचार चल रहा है।

क्या सरकार की ओर से योजना को लेकर कोई हेल्पलाइन नंबर जारी किया गया है?

जी हां, सरकार की ओर से हेल्पलाइन नंबर 14555 जारी किया गया है।

तो दोस्तों इस तरह से आप अपना नाम Ayushman Bharat Yojana List 2022 में देख सकते हैं। और पता कर सकते हैं। कि आपका नाम आयुष्मान भारत योजना लिस्ट 2022 लिस्ट में है अथवा नहीं। और आप आयुष्मान भारत योजना लिस्ट 2022 का लाभ प्राप्त कर सकते हैं। यदि आपको आयुष्मान भारत योजना के विवरण, जानकारी अच्छी लगे, तो अपने दोस्तों के साथ शेयर करना बिल्कुल ना भूलें। साथ ही यदि आपका किसी भी प्रकार का कोई भी सवाल हो तो नीचे कमेंट बॉक्स में कमेंट करें। हम जल्दी आपके सवालों का जवाब देंगे।। धन्यवाद।।

Contents show
Spread the love:

Leave a Comment