पति को खुश कैसे रखे? पति को खुश रखने के 15 आसान तरीके | Pati Ko Khush Kaise Rakhe?

|| Pati ko khush kaise rakhe, अपने पति को अपना दीवाना कैसे बनाएं? पति को काबू में कैसे रखें? अपने पति को अपनी ओर आकर्षित कैसे करें? जब पति आप पर ध्यान नहीं देता कि क्या करना है? पति को प्यार कैसे करे?, पति को कैसे सुधारें, पति को रात में कैसे खुश रखें, पति को अपना कैसे बनाये ||

यदि आप सोचते हैं कि केवल पत्नी ही नाराज़ होने का अधिकार रखती है या फिर उन्हें ही मनाया जाता है तो (Pati ko khush karne ke upay) आप गलत हैं। दरअसल पति भी पत्नी से नाराज़ हो सकते हैं या फिर उदासीन रवैया अपना सकते हैं। शादी के बाद केवल एक स्त्री के जीवन में ही बदलाव नही आता है बल्कि एक पति भी कई (Pati ko khush kaise rakhna chahie) तरह के बदलावों का सामना कर रहा होता है।

ऐसे में आप यदि पति को खुश करने के तरीके खोज रही हैं या फिर आप जानना चाहती हैं कि पति को किस तरीके से खुश किया जाए या फिर उसके उपाय क्या हैं तो आज वह सब आपको इस लेख (Pati ko khush kaise rakhe Hindi) में जानने को मिलेंगे। इस लेख में आपको एक दो नही बल्कि कई ऐसे तरीके जानने को मिलेंगे जिनकी सहायता से आप अपने पति को आसानी से खुश कर सकती हैं।

पति को खुश कैसे रखे (Pati ko khush kaise rakhe)

यदि किसी महिला का पति खुश नही हैं या फिर वह उससे नाराज़ है तो फिर कोई भी काम आसानी से नही बन पाता है। ऐसे में (Pati ko kaise samjhe) यदि आप चाहती हैं कि आपके पति आपसे खुश रहे और आपका घर परिवार बसा रहे तो आपको अपने पति को कीच खास तरीको से खुश रखना चाहिए। ऐसे में आप अपने पति को किन तरीको से खुश रख सकती हैं यह बहुत मायने रखता हैं।

पति को खुश कैसे रखे? पति को खुश रखने के 15 आसान तरीके | Pati Ko Khush Kaise Rakhe?

पति को खुश रखने के आसान तरीके

जिस प्रकार पत्नियों को खुश करना कठिन होता है ठीक उसी प्रकार पतियों का स्वभाव भी अलग अलग होता है लेकिन उन्हें खुश करने के तरीके लगभग (Pati ko kaise khush rakhe) समान ही है। ऐसे में आप अपने पति को खुश करने के लिए हमारे बताये गए तरीको को अपना सकती हैं। आइए जाने पति को खुश करने के सरल तरीको के बारे में विस्तार सहित।

#1. पति का स्वभाव समझे

यदि आप अपने पति को खुश रखना चाहती हैं तो सबसे पहले आपको अपने पति के स्वभाव को समझना होगा। किसी पुरुष का स्वभाव अलग होता है तो किसी का अलग। ऐसे में सभी को एक ही तराजू में नही तुला जा सकता है। हर व्यक्ति का स्वभाव अलग होता है। ऐसे में आपका पति किस स्वभाव का है, इसे समझना बहुत ही आवश्यक है।

कहने का अर्थ यह हुआ कि किसी के पति का स्वभाव शांत होता है तो कोई ज्यादा उग्र स्वभाव का होता है तो कोई किसी स्वभाव का। यदि आप अपने पति के स्वभाव को समझ कर उसी के अनुरूप व्यवहार करेंगी तो बहुत उत्तम रहेगा। कहने का अर्थ यह हुआ कि यदि आपके पति का स्वभाव उग्र हैं तो आप उनके सामने ऐसी स्थिति आने ही ना दे जो उन्हें और उग्र बना दे।

जो महिलाएं अपने पति के स्वभाव को समझ कर व्यवहार करई हैं वे अवश्य ही अपने पति को खुश रख पाती हैं। ऐसे महिलाओं के पति भी उनसे प्रसन्न रहते हैं और उनके साथ उनकी बनती भी हैं। इसलिए आगे से आप अपने पति के साथ उनके स्वभाव के अनुसार ही व्यवहार करने का नियम बना ले।

#2. पति को सम्मान दे

कुछ महिलाएं आज के समय में इतनी आगे बढ़ चुकी हैं कि वे अपनी पति को सम्मान देना भूल चुकी हैं। ऐसे में आपको लगेगा नही लेकिन यह आपके व्यवहार से पता चलेगा। यदि आप अपने पति को उचित सम्मान नही देती हैं या उनकी कही बातो का अनादर करती हैं या फिर उनकी काबिलियत पर शक करती हैं तो अवश्य ही वे आपसे खुश नही रहेंगे।

कहने का अर्थ यह हुआ कि यह आवश्यक नही कि आप कुछ कहकर ही अपने पति का अनादर करती हो। महिलाएं बहुत तरीके से अपने पति का अनादर कर सकती हैं जिनका ध्यान शायद वे ना रखती हो। जैसे कि आपके पति ने आपसे कुछ कहा हो लेकिन आपने उसे अनसुना कर दिया (Pati ko kaise khush kiya jata hai) या उस बात को हलके में लिया या फिर आप अपने पति की दूसरो से तुलना कर उन्हें शर्मिंदा महसूस करवाए इत्यादि।

पति को खुश कैसे रखे? पति को खुश रखने के 15 आसान तरीके | Pati Ko Khush Kaise Rakhe?

इस बात का हमेशा ध्यान रखे कि आपके पति का सम्मान ही आपका सम्मान है। यदि आप ही अपने पति का सम्मान नही करेंगी या फिर उनका अनादर करेंगी तो इसे ना केवल आपके पति की बल्कि आपके भी इज्जत समाज नही करेगा। इसलिए आगे से हमेशा अपने पति का उचित सम्मान करे।

#3. पति के घरवालों को भी दे सम्मान

बहुत से पति शादी के बाद यही चाहते हैं कि जिसे भी जीवन संगिनी के रूप में अपने घर लेकर आये हैं वह उसके माता पिता को अपने माता पिता समान ही माने। वह भी उनकी उतनी ही देखभाल करे जितनी वह स्वयं करता है। अब चाहे माता पिता कैसा बी व्यवहार करे लेकिन एक पति कभी भी यह नही चाहेगा कि उसकी पत्नी कोई ऐसा काम करे जिससे की उसका उया उसके परिवार का अनादर हो।

ऐसे में यदि आप अपने पति को दिल से खुश रखना चाहती हैं तो आप केवल उन्ही को ही प्रसन्न करने में ना लगी रहे। यदि आप सोचती हैं कि आपका उत्तरदायित्व केवल आपके पति पर ही ध्यान देना हैं और इससे आपके पति भी खुश हो जाएंगे लेकिन मन ही मन वे इसके लिए आपसे चिड़ने लग जाएंगे। एक दिन यही चिड़ना लाफि झगड़े में बदल जाएगा और बात बहुत बढ़ जाएगी।

इसलिए आप जितना सम्मान अपने पति का करती हैं उतना ही या उससे अधिक सम्मान अपने पति के माता पिता का भी करें। आप अपने सास ससुर की हर चीज़ का ध्यान रखे, उनकी देखभाल करे और घर का उत्तरदायित्व अच्छे से संभाले। इससे ना केवल आपके पति खुश होंगे बल्कि आप भी खुश रहेंगी।

#4. घर को अच्छे से संभाले

अब पति तो हमेशा बाहर का काम करते हैं। वे बाहर कई तरह की चीजों को देखते हैं और उन्हें संभालते है। दिन भर काम करके वे जब घर आएंगे और ऐसे में घर अच्छे से नही संभाला गया हो तो वह अवश्य ही दुखी होंगे। एक पति हमेशा ऐसी पत्नी चाहेगा जो उसके घर को ना केवल अपना घर समझ कर बल्कि अच्छे तरीके से भी संभाले।

अब तक जो उसकी माँ करते आई थी, अब वह आपको करना होगा। इसमें घर का प्रबंधन भी आपको देखना होगा तथा अन्य चीज़े भी आपको करनी होगी। घर का संभालने का अर्थ यह नही कि आपको घर की साफ सफाई करनी हैं या बर्तन माजने है, इत्यादि। यदि इन सब कामो को ही घर को संभालने का काम बोलते तो वह इसके लिए एक कामवाली बाई भी रख सकता था जो घर को हमेशा अच्छे से संभाल कर रखती।

घर को संभालने का अर्थ हुआ घर की जिम्मेदारी उठाना। घर में हर चीज़ को अच्छे से प्रबंधन करके रखना। फिर चाहे वह रिश्ते हो, घर की आर्थिक स्थिति हो, बच्चों का पढ़ना हो, किसी सदस्य का जन्मदिन या वर्षगांठ हो या अन्य कोई महत्वपूर्ण चीज़। इन सब चीजों को संभालने का जिम्मा यदि आप सही से उठा लेंगी तो अवश्य ही वे आपसे खुश हो जाएंगे।

#5. खाने में हो स्वाद

अब जो पति आज तक अपनी माँ के हाथ का स्वादिष्ट खाना खाते आया है उसे आपके हाथ से उतने ही स्वादिष्ट खाना खाने की उम्मीद होगी। उनकी माँ तो इतने वर्षों से खाना बनाते बताने एक्सपर्ट हो चुकी होंगी। साथ ही उन्हें यह भी पता होगा कि उनके पति या बेटे को किस तरह का खाना पसंद हैं या किस तरह का नही। क्या उन्हें सब्जियों में तीखा खाना पसंद है या कम तीखा। उन्हें सब्जी में धनिया पसंद है या नही इत्यादि।

तो ऐसी बहुत सी चीज़े होंगी जो आपको अपनी सासु माँ से सीखनी होगी। यदि आपकी रसोई में वो स्वाद नही आएगा तो आपके पति कैसे खुश रह पाएंगे। अथ ही आज तक आप जो भी करती आई हो, लेकिन नए घर में आकर सब बदल जाता है। हर घर की रसोई अलग तरीके से बनती हैं और उनमे चीज़े बनाने का अंदाज भी अलग होता है।

ऐसे में आप जितनी जल्दी नए घर में ढल जाएँगी और अपने पति की पसंद का खाना बनाकर उन्हें देंगी तो अवश्य ही वे उँगलियाँ चाटते रह जाएंगे। इस बात का ध्यान रखे कि आदमी के दिल का रास्ता उसके पेट से होकर जाता है। इसलिए यदि आपने अपने पति के पेट को खुश कर दिया तो समझ जाइये कि उनके दिल को भी खुश कर दिया।

#6. पति की पसंद नापसंद का ध्यान रखे

यदि आप वाकई में अपने पति को खुश रखना चाहती है और चाहती है कि वे आपसे प्रेम करे तो आपको उनकी हर चीज़ का ध्यान रखने की आवश्यकता है। आपको पता होना चाहिए कि आपके पति को क्या पसंद है और क्या नही। यदि आप इन सभी बातो को ध्यान में नही रखेंगी तो अवश्य ही आपके पति आपसे खुश नही होंगे और आपके प्रति उदासीन रवैया अपनाएंगे।

यदि आप अपने पति की हर पसंद को ध्यान में रखेंगी तो इससे उन्हें अहसास होगा कि आपकी नज़र में इनकी अहमियत (Pati ko kaise rijhaye) है। साथ ही वे आपसे इम्प्रेस भी हो जाएंगे। उन्हें यह ध्यान रहेगा कि आप हमेशा उनकी पसंद नापसंद का ध्यान रखे। यदि आप उन्हें उनकी पसंद की चीज़ करके दिखाएंगी तो अवश्य ही उन्हें अच्छा लगेगा।

जैसे कि आपके पति को किस रंग के कपड़े पसंद हैं तो वे किस चीज़ को खाना पसंद करते हैं, उन्हें किस तरह के गाने पसंद हैं तो वे टीवी में किस तरह की मूवी देखना पसंद करते हैं इत्यादि। इसलिए आप जितना हो सके अपने पति को करीब से जानने का प्रयास करे। इससे वे आपसे खुश हुए बिना नही रह पाएंगे।

#7. पति पर बेवजह शक ना करे

दरअसल स्त्रियों का दिमाग बहुत ही शकी होता है। वे बात बात पर अपने पति पर शक करने लग जाती है। इससे पति के मन में भी उदासीन रवैया आ जाता है। यदि आप भी बात बात पर अपने पति पर शक करती हैं तो आज से ही इस आदत को छोड़ दे। कहने का अर्थ यह हुआ कि पति पर हर बात पर शक करना उन्हें क्रोधित कर सकता है।

अब पति काम के सिलसिले में बाहर जाते है तो उनकी कई लोगों से बात भी होती होगी। अब ऐसा तो है नही कि वे बस वही पर समाप्त हो जाती होंगी। कभी कभार यह बाते घर पर भी होती होंगी या फिर उन्हें आपके साथ यह सब साँझा करना होता होगा। ऐसे में यदि आप उनकी बात पर हमेशा शक की सुई ही घुमायेंगी तो फिर बात कैसे बन पायेगी।

जो पत्नियाँ अपने पति पर हर बात पर शक करती हैं या उनके चरित्र पर लांछन लगाती है, अक्सर ऐसी महिलाओं के पति तनाव में होते हैं और किसी से बात करने तक से हिचकिचाने लग जाते हैं। इसलिए यदि आप अपने पति को खुश करना चाहती हैं तो उन पर बेवजह में शक करना बंद कर दे।

#8. घर की हर समस्या बताना नही है जरुरी

आप क्या सोचती है कि अपने पति को घर की अनबन या हर समस्या बताना आवश्यक होता है? क्या इसे बात सुलझ जाती है? क्या इससे आप दोनों के बीच का रिश्ता मजबूत बनता है? यदि आप ऐसा सोचती है तो आप गलत है। यदि आप सोच रही है कि पति से तो हर बात शेयर करनी चाहिए तो इसमें यह बाते बी आती है तो आज से ही ऐसा करना बंद कर दे।

दरअसल आपके पति दिनभर ऑफिस या दुकान में काम करके थके हुए घर पर आते है। यदि घर आते ही उन्हें यह सब सुने को मिले या फिर जब वे नहा धोकर आराम करने बैठे या अपने बिस्तर में हो और आप उन्हें तरह तरह की शिकायत करने लग जाए या उन्हें घर की हज़ार समस्याएं बताने लग जाए तो अवश्य ही उन्हें आपसे चिढ़ मचने लग जाएगी।

फिर ना केवल वे आपकी सुनना बंद कर देंगे बल्कि घर आने पर उदासीन रवैया अपनाने लगेंगे। हम आपको यह नही कह रहे हैं कि आप अपने पति से घर की समस्याएं शेयर ना करें। लेकिन आप उन्हें अपने स्तर पर सुलझाने का प्रयास करें। फिर भी यदि वह नही सुलझे और आपकी सीमा से बाहर हो जाए तो कभी शांत समय में उन्हें यह सब बताये।

#9. खुद खुश रहेंगी तो पति भी रहेंगे खुश

यह सुनकर अवश्य ही आपको आश्चर्य लगेगा लेकिन यदि आप चाहती हैं कि आपके पति खुश रहे तो उससे पहले आपको खुद को खुश रहना पड़ेगा। दरअसल बहुत से पति केवल इसलिए खुश नही रहते क्योंकि उनकी पत्नियाँ खुश नही हैं। फिर चाहे आपके दुखी रहने का कारण कुछ भी हो। यदि आप खुश नही है तो आप यह मत सोचिये कि आपके पति खुश हो जायंगे।

अब समस्या हर किसी के जीवन में होती है फिर चाहे वह किसी भी चीज़ को लेकर हो। कोई इन्हें सहजता से स्वीकार कर लेता है तो किसी के लिए यह बहुत बड़ी बाधा होती है और वह इसे देखकर दुखी हो जाता है। ऐसे में यदि आप भी छोटी छोटी बातो को लेकर दुखी हो जाती है फिर चाहे वह सास से अनबन हो या घर में किसी ने कुछ कह दिया या पति ने ही कुछ कह दिया और आप इस बात को लेकर मुहं फुला लेंगी या दुखी हो जाएँगी तो आपके पति भी खुश नही रह पाएंगे।

अवश्य ही वे आपसे नाराज़ होंगे या (Pati ko kaise pataye) नही भी होंगे लेकिन वे आपको खुश ना देखकर खुद भी खुश नही रह पाएंगे। इसलिए आप यह मत सोचे कि आप खुद खुश ना रहकर अपने पति को खुश कर लेंगी। ऐसे में आप अपने चेहरे पर हमेशा मुस्कान बनाए रखे और अपने पति को पूरा प्यार दे। वे आपके इस व्यवहार से हमेशा खुश रहेंगे।

#10. पति की आमदनी को ही अपना जीवन माने

कई महिलाओं की इच्छाएं बहुत ज्यादा होती है। वे चाहती है कि उनके जीवन में ववाह सब आये जो वह चाहती है फिर चाहे उसका पति इतना कमा पाता हो या नही। अक्सर महिलाएं दूसरी महिलाओं के रहन सहन या अपने रिश्तेदारों को देखकर अपने पति से मांग करती हैं कि वे भी उन्हें ऐसी ही महँगी चीज़ दिलवाए। जैसे कि कोई महँगी साड़ी हो गयी हो या कोई सूट, या फिर घर इ एसी लगवाना या कुछ अन्य काम करवाना।

ऐसे में यदि आप अपने पति की आमदनी का भी ध्यान नही रखेंगी और इसके लिए उन्हें शर्मिंदा महसूस करवाएंगी तो आपके पति के मन में अवश्य ही यह भाव जागृत हो जाएगा कि आप उन्हें कमतर आंकती है। इस बात का हमेशा ध्यान रखे कि इस संसार में सभी एक समान नही कमाते हैं और सभी का समय भी एक जैसा नही रहता हैं। कभी किसी का समय अच्छा होता हैं तो कभी बुरा।

ऐसे में यदि आप अपने पति के बुरे समय में ही उसके साथ नही खड़ी नही रहेंगी तो फिर वे खुश रहना तो दूर आपको अपना मानने से ही इंकार कर देंगे। उनके मन में यह भाव आ जाएगा कि आप उनके साथ नही हो और वे बस अकेले है। ऐसी स्थिति में तो वे तनाव में भी जा सकते हैं। इसलिए आप अपने पति की काबिलियत पर शक ना करे और उनकी आमदनी में ही अपना घर खर्च चलाये, इससे ज्यादा की मांग ना करे।

#11. पति की सच्ची मायनो में जीवन संगिनी बने

यदि आप सच में अपने पति को खुश रखना चाहती हैं या उन्हें दिल से खुश करना चाहती हैं तो आपको इसके लिए एक काम करना पड़ेगा जो ना उन्हें खुश कर देगा बल्कि उन्हें आपके और भी करीब ला देगा। एक तरह से वे आपसे इम्प्रेस हो जाएंगे और आपका दिल से सम्मान करेंगे। अब यदि आप सोच रही हैं कि आप उनकी जीवन संगिनी तो पहले से ही हैं तो अब आपको इसके लिउए क्या करना पड़ेगा।

दरअसल केवल नाम से ही जीवन संगिनी होने से कुछ नही होता। आप उसके लिए कर क्या रही हैं। इसके लिए आपको अपने पति का साथी बनना पड़ेगा। हर चीज़ में ना केवल उनका सहयोग करना पड़ेगा बल्कि उनको अपने जीवन में आगे बढ़ते रहने के लिए उत्साहित भी करना पड़ेगा। जब कभी भी वे निराश हो तो उनका हौसला बढ़ाना पड़ेगा।

कहने का अर्थ यह हुआ कि जीवन के हर सुख दुःख में आपको उनकी असली मायनों में जीवन संगिनी की भूमिका निभानी पड़ेगी। उनकी सब चीजों को देखना होगा, उन्हें समझना होगा, उनके परिवार को समझना होगा, उनकी भावनाओं का सम्मान करना होगा, उन्हें हर चीज़ में मान सम्मान देना होगा, उनके लिए खड़ा होना पड़ेगा, उनके लिए लड़ना पड़ेगा इत्यादि। यदि अपने यह सब कर लिया तो फिर आपको कुछ भी अलग से करने की आवश्यकता नही।

#12. पति के साथ रोमांस भी करते रहे

अब यदि आप सोचती हैं कि आप दोनों की शादी हो गयी तो जीवन में रोमांस की आवश्यकता नही। यदि आप अपने पति को घर के अन्य सदस्यों के जिससे ही ट्रीट करेंगी तो अवश्य ही बात आगे नही बढ़ पायेगी और अप अपने पति को खुश करने के मामले में मात खा जाएँगी। ऐसे में आपके पति भी आपके साथ वैसा ही व्यवहार करेंगे जैसा वे ओरो के साथ करते हैं।

इसलिए यदि आप चाहती हैं कि आप अपने पति का दिल जीत ले और उन्हें हमेशा खुश रखे तो जीवन में रोमाम्चे का बने रहना भी बहुत आवश्यक है। यह जरुरी नही (Pati ko khush rakhne ke tips) कि आप पहले के जैसे ही उनके साथ रोमांस करे। दरअसल इसकी परिभाषा उम्र के साथ साथ बदलती रहती है और आप अपने पति के साथ अलग तरीके से भी रोमांस कर सकती हैं।

उदाहरण के तौर पर आप रसोई में काम करते हुए उनके साथ रोमांस करे या कुछ मीठी बाते बोल दे। या फिर कभी काम करते हुए उन्हें आँख मार दे या फिर कुछ ऐसा ही नाय चीज़ करे जिससे वे खुश हो जाए। इस तरीके से आप अपने पति के उग्र स्वभाव को भी नरम बना सकती हैं और घर के माहौल को शांत कर सकती हैं। यदि आपके पति का आपके साथ प्यार भरा रिश्ता बना रहता हैं तो यह आप दोनों के लिए ही बहुत अच्छा रहेगा।

#13. खुद को साफ सुथरा रखे

बहुत सी महिलाओं की आदत होती हैं कि वे जब बाहर निकलेंगी या किसी फंक्शन में जाएँगी तभी तैयार होंगी। यदि वे घर में है तो तैयार होना वे अपना कर्तव्य नही समझती (Pati ko khush rakhne ka tarika)। नहाने के मामले में ती महिलाएं पुरुषों से पीछे होती हैं क्योंकि उन्हें नहाना एक झंझट सा लगता है। ऐसे में यदि आप घर में सही से नही रहेंगी तो आपके पति कैसे खुश रह पाएंगे।

शादी से पहले तो यह सब चलता था क्योंकि आपके माता पिता या भाई बहन आपको इसके लिए कुछ नही कहते होंगे। लेक्जिन अब जब आपका विवाह हो चुका हैं तो आपको अपने शरीर की साफ सफाई अच्छे से रखनी पड़ेगी। यदि आप अपने पति के करीब जाएँगी या आपके पति आपके करीब आएंगे और आपका शरीर साफ सुथरा नही हुआ तो अवश्य ही उनका मूड ख़राब हो जाएगा।

इसलिए सबसे पहले तो आप प्रतिदिन नहाने का नियम बनाए। वह भी सुबह के समय ही, शाम या दोपहर के समय नही। साथ ही नहाते समय अपने शरीर को अच्छे से साफ करे ताकि शरीर का सारा मैल निकल जाए और उसमे से बदबू ना आये। इसके साथ ही यासी दिन में आपको ज्यादा पसीना आता है तो शाम के समय एक बार और नहा ले ताकि जब आप बिस्तर में अपने पति के साथ हो तब आपके शरीर में से बदबू आने की बजाए सुगंध आये।

#14. किसी पुरुष से ज्यादा ना चिपके

यह बात बहुत ही महिलाएं समझ नही पाती हैं और ना ही उनके पति इस बारे में उनसे बात कर पाते हैं और यही दोनों के बीच की दूरियों का एक प्रमुख कारण बन जाता है। कहने का अर्थ यह नही कि हम आपके चरित्र पर लांछन लगा रहे हैं या आप पर शक कर रहे हैं। ऐसा कहने का कोई अर्थ नही हैं क्योंकि यह तो बात ही दूसरी हो गयी।

यहाँ कहने का अर्थ यह हुआ कि अब आपके पति तो ब्याह कर अपने ससुराल गए नही। ऐसे में वे (Pati ko khush rakhna) जब कभी भी ससुराल जाते होंगे तो कुछ समय के लिए ही जाते होंगे और उस समय वे ज्यादातर शर्मीले व्यवहार में ही रहते होंगे। या फिर अपनी सालियों या आपके दोस्तों के साथ थोड़ी बहुत ही मस्ती करते होंगे क्योंकि उन्हें अपनी मान मर्यादा का पता होता है, खासकर अपने ससुराल में।

लेजिन आप तो ब्याह कर एक नए घर में सदस्य बन कर आ गयी हैं। ऐसे में तो आपको अपने पति के भाइयों, अर्थात अपन्वे देवरों, अन्य लोगों के साथ एक सदस्य की भांति ही रहना होगा। अब आप तो अपने देवर इत्यदि से खुलकर बात करती होंगी या उनके साथ हंसी मजाक करती होगी लेकिन आपका उनके साथ आवश्यकता से अधिक मेल मिलाप अवश्य ही आपके पतिऊ को खुश करने की बजाए दुखी कर सकता हैं। इसलिए आगे से इस बात का अवश्य ही ध्यान रखें।

#15. मन की बात शेयर करे

अब आखिरी और सबसे महत्वपूर्ण बात जो ना केवल आपके पति को खुश करेगी बल्कि आप दोनों के रिश्ते को एक नयी मजबूती प्रदान करेगी। ऊपर हमने आपको बताया कि आप अपने पति के सामने घर की हर शिकायत ना करें या फिर उन्हें अपनी हर समस्या ना शेयर करें तो उसका इस बात से कोई मतलब नही कि आप अपने मन की बात भी उनसे करना बंद कर दे।

कहने का अर्थ यह हुआ कि मन की बात करने का मतलब यह नही हुआ कि आप उनसे शिकायत करे या उन्हें अपनी समस्याएं बताये। मन की बात करने का मतलब हुआ आप क्या सोचती है, आप क्या करना चाहती है, आपकी क्या पसंद है या आप अपने पति के बारे में क्या सोचती है, परिवार को कैसे आगे बढ़ाना चाहती है, आपके खुद के परिवार में क्या चल रहा है, इत्यादि सब बाते अपनी पति के साथ करे।

इसके साथ ही मन की बात करते समय आप अपने पति के मन की बात को भी सुने। इस तरह यदि आप दोनों के बीच संवाद बेहतर रहेगा तो मतलब रिश्ता भी मजबूत रहेगा। फिर आपको अपने पति को अलग से खुश करने की आवश्यकता भी नही होगी। एक तरह से आपके पति आपके व्यवहार से ही खुश हो जाएंगे।

पति को खुश कैसे रखे – Related FAQs

प्रश्न: अपने पति को अपना दीवाना कैसे बनाएं?

उत्तर: अपने पति को अपना दीवाना बनाने के लिए आप उनकी पसंद नापसंद का पूरा ध्यान रखें और उन्हें उचित सम्मान दे।

प्रश्न: जब पति आप पर ध्यान नहीं देता कि क्या करना है?

उत्तर: जब पति आप पर ध्यान नहीं देता तो आपको उनके मन की बात जननी चाहिए और उनके स्वभाव के अनुसार व्यवहार करना चाहिए।

प्रश्न: पति को अपने प्यार में पागल कैसे करें?

उत्तर: पति को अपने प्यार में पागल करने के लिए पहले आपको उनके प्यार में पागल बनना पड़ेगा। इसके लिउए आप उनकी पसंद की हर चीज़ करें और उन्हें खुश कर दे।

प्रश्न: मेरे पति मेरी बात नहीं मानते क्या करें?

उत्तर: यदि आपके पति आपकी बात नही मानते हैं तो आपको उनसे बात करनी चाहिए और उनका दिल जीतने का प्रयास करना चाहिए।

तो यह थे पति को खुश कैसे रखे? पति को खुश रखने के 15 आसान तरीके जिनकी सहायता से आप अपने पति को खुश रख सकती हैं। इन तरीको को अपनाने से ना केवल आपके पति आपसे खुश होंगे बल्कि वे आपके लिए भी कुछ स्पेशल करने का प्रयास करेंगे। इन सभी चीजों को करने से आप दोनों के रिश्ते में मजबूती देखने को मिलेगी जो आप दोनों के लिए ही बेहतर सिद्ध होगी।

Contents show
Spread the love:

Leave a Comment

सुकन्या समृद्धि योजना के नियम अपने बिज़नेस को ऑनलाइन कैसे करे? मुख्यमंत्री गौमाता पोषण योजना फ्लेक्स प्रिंटिंग का बिज़नेस कैसे करें? जिम कैसे खोले? | नया जिम खोलने की लागत, मुनाफा व मशीनें