परमाणु बम क्या है ? यदि परमाणु हमला हुआ तो कैसे बचें ? Parmanu Bomb In Hindi

Parmanu Bomb In Hindi – तकरीबन सभी विकासशील देशों के पास अपनी सुरक्षा से संबंधित खतरनाक हथियार मौजूद हैं | जिन का इस्तेमाल वह या तो परीक्षण के तौर पर करते हैं | या फिर दुश्मनों का खात्मा करने के लिए | इन्ही हथियारों की सूची में एक विशेष बम का नाम आता है | जिस का नाम है | “परमाणु बम” | इस बम को अगर ब्रम्ह अस्त्र की संज्ञा दी जाए तो गलत नहीं होगा | क्यों की इस के वार से लड़ाई आर या पार की स्थिति में पहुंच जाती है |

परमाणु बम क्या है ? यदि परमाणु हमला हुआ तो कैसे बचें ? Parmanu Bomb In Hindi

किसी देश की ताकत का अंदाजा उसके पास परमाणु बमों से लगाया जा सकता है | लगभग कुछ ही देशों के पास यह कुछ मात्रा में मौजूद भी है | Parmanu Bomb को सबसे खतरनाक बम क्यों कहा जाता है |, इसके फटने से किस हद तक नुकसान पहुंचाया जा सकता है | ऐसे सभी सवालों के जवाब आप को इस लेख के माध्यम से दिए जायेंगे जिस से आप भी इस की ताकत का अंदाजा लगा सकते हैं |  आइये जानते है कि क्या है परमाणु बम ?

Parmanu Bomb क्या होता है –

परमाणु बम एक विस्फोटक हथियार है | Parmanu Bomb रूप से नाभकीय (नुक्लेअर) विखंडन ( फिशन) पर आधारित होते हैं | इस में हथियार में लगे हुए संवर्धित यूरेनियम या प्लटोनियम परमाणु के टूटने पर एक भारी मात्रा में ऊर्जा उत्पन्न होती है | इसी ऊर्जा से एक बड़े स्तर पर विनाश सम्पन्न होता है | इस बम का अविष्कार Parmanu Bomb के पिता कहे जाने वाले रोबर्ट ओप्पेन्हेइमर द्वारा किया गया था | दूसरे विश्व युद्ध के समय मैंनहट्न परियोजना के तहत काम करने वाले वैज्ञानिकों के एक दल ने इसमें मुख्य भूमिका निभाई थी व रोबर्ट इस प्रोजेक्ट के डायरेक्टर के रूप में कार्यबद्ध थे |

Parmanu Bomb से होने वाला नुकसान –

परमाणु बम से होने वाले नुकसान का अंदाजा इस कदर लगाया जा सकता है | की अगर 15 किलोटन के 100 परमाणु बम धरती पर विस्फोट किये जाये तो आसमान पूरी तरह अंधरे की चपेट में आ जायेगा | सूरज द्वारा भेजी जाने वाली रौशनी धरती तक नहीं पहुंच पायेगी | लगभग आधी से ज्यादा ओज़ोन लेयर पूरी तरह से खत्म हो सकती है | इस के साथ ही इस तरह की जानलेवा बिमारियों का जन्म होगा | की जिस से धरती पर मौजूद अनेक प्रजातियां पूरी तरह से नष्ट हो जाएँगी | इस के दुष्ट परिणाम भविष्य में भी देखने को मिलेंगे | इस के फटने के 100 सालों से ज्यादा तक इसके प्रभाव झेलने पड़ सकते हैं |

यह इतना खतरनाक होता है | जिस स्थान पर इस गिराया जायेगा | उस स्थान पर मौजूद इंसान इसके फटने से पहले ही मर जायँगे | क्योंकि इस की आवाज इतनी दमदार होती है | कि जिसे मानव शरीर नहीं झेल सकता है | Parmanu Bomb की आवाज के बाद दूसरे नंबर पर  ज्वालामुखी की आवाज सबसे तेज होती है | आने वाली अगली पीढ़ी को भी इसका नुकसान झेलना पड़ता है | क्योंकि वह विकलांग शरीर के साथ पैदा होते हैं | और कुछ तो जन्म लेते ही मर जाते हैं | इस का प्रभाव समुद्र की निचली सतह तक को झेलना पड़ता है | व समुद्री जीव पूरी तरह से नष्ट हो जाते हैं | क्योंकि यह एक तरह की रेडिएशन को छोड़ता है | जिस का असर हर जीवित वस्तु पर पड़ता है |

अमेरिका ने किया परमाणु बम इस्तेमाल –

यूँ तो आम हथियारों की तरह इसका इस्तेमाल करना ना के बराबर है | इस के इतेमाल के लिए विश्व स्तर पर नियम कायदे भी बनाये गए हैं | जिसे सभी मौजूदा परमाणु बम वाले देशों को मानना भी चाहिए |

अमेरिका केवल एक मात्र ऐसा देश है | जिस ने अपने युद्ध के दौरान Parmanu Bomb का इस्तेमाल किया है | अमेरिका ने जापान के साथ युद्ध के समय में जापान के दक्षिण भाग के हिरोशिमा नामक शहर पर Parmanu Bomb को गिराया था | अमेरिका ने उस समय दो परमाणु बमों का इस्तेमाल किया था | जिस ने युद्ध की काया पलट दी थी | इस के फटने पर जापान को भारी नुकसान हुआ था | पहले बम के दौरान अनुमानित आंकड़े दर्शाते हैं | की एक लाख चालीस हजार जापानी लोग मारे जा चुके थे | दूसरे बम ने जापान के नागा |साकी शहर को पूरी तरह से तबाह कर दिया था |

इस से तकरीबन 74,000 लोग मारे गए थे | इन परमाणु बमों ने जापान की अधिकतर इमारतों को तोड़ गिराया था व आसापास के सभी शहरों में संक्रमण फैल गया था |  जिस से लोगों की जानेलवा बीमारियों के चलते मृत्यु हो गयी थी |  लोगो की जीवित चलते फिरते शरीर मिनटों में ही बांप में तब्दील हो गए थे |  जब अमेरिका ने जापान पर परमाणु बम से हमला किया तो उस के बाद अंत में  जापान को हार स्वीकार करनी पड़ी थी | उस के बाद अमरीका शांत हुआ और युद्ध को रोका गया था | तब से  अब तक किसी भी अन्य देश ने युद्ध के लियाज़ से परमाणु बम का इस्तेमाल नहीं किया है |

पहला परमाणु बम का परीक्षण –

परमाणु बम के पूर्ण रूप से तैयार होने के उपरांत इसका सबसे पहले परीक्षण न्यू मैक्सिको के अलमोगार्डो नामक जगह में 16 जुलाई 1945 में हुआ था | इस परीक्षण के दौरान 20 किलोंटन टीएनटी का प्रयोग किया गया था | इस Parmanu Bomb  को “द गैजेट” के नाम दिया गया था | जब इसका धमाका किया गया तब आसमान में 600 मीटर की ऊंचाई तक काला अंधेरा छा गया था |

किस देश में कितने परमाणु बम –

एक ताजा आंकड़ों के अनुसार केवल दुनिया भर के नौ देशों के पास ही यह विशाल शक्ति है | जिन के आधार पर ही यह देश अपनी शक्ति का प्रदर्शन करते हैं | इन नो देशो के पास कुल मिलाके 16300 परमाणु शक्तियां है |

रूस :- इस सूची में सबसे पहला नाम रूस देश का आता है | इस के सबसे ज्यादा परमाणु बम मौजूद है | रूस की सेना के पास कुल मिलाके 8000 परमाणु बम है |

अमेरिका :- परमाणु बम की संख्या में दूसरा नाम अमेरिका का है | सिप्री के अनुसार अमेरिका में 7300 Parmanu Bomb फिलाहल मौजूद है | अमेरिका अन्य देशों के मुकाबले परमाणु बमों पर सबसे ज्यादा पैसे खर्च करता है |

फ़्रांस :- इस विकासशील देश में बताया जाता है | की 300 परमाणु बम है | युरोपियन देशों की संख्या में सबसे ज्यादा परमाणु बम फ्रांस में हैं |

चीन :- तकनीक के क्षेत्र में सबसे आगे इस देश के पास अनुमानित 250 परमाणु बम हैं |

ब्रिटेन :- परमाणु बमों की संख्या में ब्रिटेन देश भी शामिल है | इस देश के पास 225 परमाणु बम मौजूद है |

पाकिस्तान :- एक रिपोर्ट के आकड़ों के अनुसार बताया जाता है | की पाकिस्तान देश के पास 120 परमाणु बम है | 1988 में इस देश ने परीक्षण के तौर पर परमाणु बम का इस्तेमाल किया था |

भारत :- इन नौ शक्तिशाली देशों में भारत भी शामिल है | भारत में 110 परमाणु बमों की संख्या बताई जाती है |

इज़राइल :- हथियारों के निर्यातक इज़राइल में भी Parmanu Bomb है | जिनकी संख्या 80 बताई जाती है | लेकिन बता दें की परमाणु बम से संबंधित इज़राइल की बहुत कम जानकारी सार्वजनिक की गयी है |

उत्तर कोरिया :- तानशाही देश उत्तर कोरिया में परमाणु बमों की संख्या छ बताई जाती है |

ये बचेंगे परमाणु बम से –

इस खतरनाक बम से किसी का भी बचना वैसे तो नामुनकिन है | क्योंकि इसे विशेष रूप से विनाश के लिए ही बनाया गया है | लेकिन विशेषज्ञों के अनुसार बताया जाता है | की इस से कॉकरोच नहीं मरते हैं | क्योंकि कॉकरोच में इंसानों की अपेक्षा ज्यादा संक्रमण सहने की शक्ति मौजूद है | इसी कारण कॉकरोचों पर इस का प्रभाव बहुत कम पड़ता है | इस के बाद चींटी भी एक ऐसा जीव है | जिस के ऊपर Parmanu Bomb का असर बहुत कम होता है |

दोस्तों, इस लेख के माध्यम से आप को सबसे ज्यादा खतरनाक जानलेवा  बम यानी Parmanu Bomb से संबंधित सभी जानकारी दी गयी है | अगर आप इस विषय से संबंधित अन्य किसी जानकारी या सवाल को हमसे साझा करना चाहते है | तो आप हमे नीचे कमेंट बॉक्स में अपना संदेश लिख सकते हैं | हम जल्द से जल्द आप के संदेश पर प्रक्रिया देने की कोशिश करेंगे |  साथ ही अगर आप को यह जानकारी पसंद आती है | तो आप इसे अपने दोस्तों और रिश्तेदारों के साथ शेयर भी कर सकते हैं |धन्यवाद |

Spread the love

Leave a Comment