Voter Verification Program 2019: Voter Satyapan Kaise Kare? How To do Voter Verfication In Hindi

Voter Verification Program 2019 In Hindi – हमारा देश भारत एक लोकतांत्रिक देश है। किसी भी लोकतंत्र की सबसे बड़ी शक्ति उसके Voter होते हैं। यही लोग Vote के जरिए तय करते हैं कि देश में या राज्य में किसकी सरकार बनेगी। यही वजह है कि चुनाव के वक्त पार्टी कोई भी हो, सभी नेता लोगों के आगे-पीछे घूमते नजर आते हैं। उनके साथ जीतने के बाद बड़े काम करने के वादे करते हैं। उन्हें पता होता है, अगर जनता यानी Voter चाहेंगे तो ही वह सत्ता तक पहुँच पाने में कामयाब होंगे। जनता को जनार्दन इसीलिए कहा गया है।

Voter Verification Program 2019: Voter Satyapan Kaise Kare? How To do Voter Verfication In Hindi

हमारे देश में संसद, विधानसभा, शहरी निकायों और पंचायतों के चुनाव होते हैं। ऐसे में Voter की अहमियत का अंदाज़ा सहज ही लगाया जा सकता है। चुनाव के दौरान कई बार मत सूचियों यानी Voter List में गड़बड़ी की बात सामने आती है। ऐसे में इस समस्या से निपटने के लिए किसी भी चुनाव से पहले Voter Verification किया जाता है। देश में चुनाव कराने का जिम्मा चुनाव आयोग के पास है। आयोग ने बीती एक सितंबर को electoral Verification Programme (EVP) शुरू किया है।

बहुत बड़े पैमाने पर शुरू किये गए इस वृहद Programme का नाम mega million Programme रखा गया है। इसके तहत Online और Offline दोनों तरीके से Voter Verification कराया जा सकता है। आज हम आपको इन दोनों तरीकों से Voter Verification कैसे कराएँ इसकी कदम-दर-कदम जानकारी देंगे।

Voter Satyapan Kaise Kare? Online Voter Verification kaise kare –

वोटर वेरिफिकेशन करने के लिए आपके पास 3 तरीके उपलब्ध हैं. आप ऑफिसियल वेबसाइट के जरिये Online Voter Verification कर सकतें हैं. आप ऑफिसियल अप्प डाउनलोड करके Online Voter Verification कर सकतें हैं या फिर आप Offline Voter Verification करवा सकतें हैं. नीचे आपको तीनो तरीके के बारें में पूरी डिटेल्स के साथ जानकारी दी गई है.

nvsp.in के द्वारा Online Voter Verification कैसे करें –

  • ऑनलाइन वेरिफिकेशन प्रोग्राम के जरिये अपनी एंव अपने परिवार की डिटेल्स वेरीफाई करने के लिए आपको सबसे पहले विभाग की ऑफिसियल वेबसाइट https://nvsp.in/Account/Login पर जाना होगा आप चाहें तो यहाँ क्लीक करके भी जा सकतें हैं।
  • website के home page पर login पर click करें। जिसके बाद आपके सामने नीचे दिखाई गई इमेज की तरह पेज ओपन होगा

Voter Verification Program 2019: Voter Satyapan Kaise Kare? How To do Voter Verfication In Hindi

  • अगर nvsp पोर्टल पर registered नहीं हैं तो सबसे नीचे उपलब्ध register option पर click करें।
  • इसके बाद registration form आपके सामने खुल जाएगा।
  • -इसमें आपको अपनी डिटेल जैसे कि mobile number capcha code डालना होगा।

 

Voter Verification Program 2019: Voter Satyapan Kaise Kare? How To do Voter Verfication In Hindi

  • डाले गए mobile number पर एक OTP यानी one time password आपके दिए mobile number पर भेजा जाएगा। इसके जरिये mobile number Verify होने के बाद आपको EPIC number, email, password डालना होगा
  • password डालने के बाद register option पर click कर दें।
  • इसके बाद आपके सफलतापूर्वक registration का message पेज पर show करने लगेगा।
  • इसी पेज पर एक dialog box दिखेगा, जिस पर username और password डालना होगा। captcha code enter करने के बाद login पर click कर दें। जिसके बाद आप अपने अकाउंट में लॉग इन हो जायेगें।

Voter Verification Program 2019: Voter Satyapan Kaise Kare? How To do Voter Verfication In Hindi

वोटर वेरिफिकेशन प्रोग्राम 2019 –

  • इसके बाद portal का home page show होने लगेगा। यहाँ Electors Verification Programme पर click करना होगा।
  • जैसे ही आप इस आप्शन पर क्लीक करेंगें।  आपके सामने Voters की details show होने लगेंगी। Verification और authentication status ‘not submitted’ show करेगा। यहाँ View details पर click करें।

Voter Verification Program 2019: Voter Satyapan Kaise Kare? How To do Voter Verfication In Hindi

  • इसके पश्चात् आपको वेरीफाई डिटेल्स आप्शन पर क्लीक करना है।  जिसके बाद आपकी Voter ID की सारी details दिखाई जायेंगी।
  • यहाँ यदि दिखाई गई डिटेल्स सही है तो आप Information displayed above is correct के आगे टिक मार्क लगायें. नहीं तो Information displayed above needs correction आप्शन के आगे टिक मार्क लगायें. और नीचे दिए गए नेक्स्ट बटन पर क्लीक करें.
  • अब आपके सामने कुछ box में entry tick करना है, जिन्हें correct किया जाना है।  जैसा आपको नीचे इमेज में दिखाया गया है. यहाँ हमने नाम और फोटोग्दूराफ पर टिक किया है.

Voter Verification Program 2019: Voter Satyapan Kaise Kare? How To do Voter Verfication In Hindi

  • टिक करने के बाद ओपन हुए box में सही details enter भर दें। photograph upload कर दें। अगर नाम में कोई change हो तो उसका proof भी upload कर दें। place और date enter करने के बाद ‘View Application Preview’ option पर click करें।
  • Preview आपके सामने screen पर होगा। सभी entries को ध्यान से check करें। इसके बाद submit option पर click कर दें। इस तरह फाइनल सही details submit हो जाएँगी। और My details section में यह status दिखने भी लगेगा।
  • कभी भी आप अपने करेक्शन की स्थिति ऑनलाइन अकाउंट में लॉग इन करके चेक कर सकतें हैं.

अपने परिवार का Online Voter Verification कैसे करें? यूं करें अपने परिवार की detail add –

आप अपने साथ ही परिवार के सदस्यों का भी Verification कराना चाहेंगे। family के सदस्यों को add करने के लिए family Listing और family authentication विकल्प पर click करें। इसके बाद खाने में सदस्य का EPIC no. डालें और add to family option पर click कर दें। इस तरह सदस्य का ब्योरा add हो जाएगा।

इस तरह आपने देखा कि परिवार का कोई भी सदस्य user name और password के जरिये अपने परिवार के अन्य Voters का ब्यौरा इस पर upload कर सकता है। उसे हर Voter के Verification में बस एक ID upload करनी होती है। जब Voter अपनी सूचनाएं Verify करेगा उसके बाद ही BLO उसे Verify करने smart phone के साथ घर-घर जाएंगे। वोटर को अपनी ID और बाकी दस्तावेज उस वक़्त दिखाने होंगे। इस तरह घर बैठे उनका Voter Verification हो जाएगा।

Official App या Voter Helpline के जरिये भी कर सकते हैं Verification –

अपने smart mobile phone से जिसमें internet connection हो आप Google प्ले स्टोर से या app स्टोर में जाकर Voter helpline app download करके यहां भी register कर सकते हैं। इतना ही नहीं, इसके अलावा चुनाव आयोग की ओर से एक Voter helpline भी जारी की गई है, जिसके जरिये Voter अपनी details Verify कर सकते हैं। इस helpline का number है-1950। इस helpline के जरिये Verfication कराना भी बेहद आसान है। जरुरत इस बात की है कि Voter Verification की महत्ता को समझा जाए और फ़ौरन से पेश्तर इस काम या यूँ कहें कि इस जिम्मेदारी को अंजाम दिया जाए।

ज्यादा अच्छे तरीके से समझने के लिए विडियो देखें –

Common Service Center Online Voter Verification कैसे करें  –

अगर आपके smart phone, laptop या internet connection की सुविधा नहीं है तो आप Voter Verification के लिए किसी common serVice center यानी CSC की भी help ले सकते हैं। यहाँ से सारे दस्तावेज upload करा सकते हैं। यह काम हालांकि मुफ्त नहीं होगा, लेकिन center इसके लिए बेहद ही मामूली सी फीस लेकर इस काम को अंजाम देंगे। इतना ही नहीं, इस काम के लिए ली जाने वाली फीस हर CSC पर display भी की जाएगी।

ऐसा प्रावधान इसलिए किया गया है ताकि CSC Voters से Verification के नाम पर ज्यादा fee या ज्यादा पैसा न वसूल पायें। वर्ना पहले कई बार इस तरह की शिकायतें आती थी की अमुक CSC डाक्यूमेंट्स की scanning या uploading के लिए ज्यादा चार्ज कर रहा है।  एक निश्चित fee का प्रावधान CSC पर scanning और uploading के लिए किये जाने से Voters को कम से कम ज्यादा fee वसूले जाने की दिक्कत से निजात मिलेगी।

Online Voter Verification करने के लिए CSC पर यह fee देनी होगी –

  • form-6 भरने या electoral roll में नाम add करने के लिए application- 1/- और 18% GST
  • form 6A भरे जाने या oVerseas Voters की आवेदन fee – 1/- और 18% GST
  • electoral roll -form 7 से नाम हटवाने का आवेदन शुल्क – 1/- और 18% GST
  • electoral roll form 8 में नाम में संशोधन करने को fee – 1/- और 18% GST
  • application status जांचने और complaint registration करने की fee- 1/- और 18% GST
  • EPIC में photo replace करने को application fee- 1/- और 18% GST
  • web camera के जरिये photograph और दस्तावेज scanning की fee- 2/- और 18% GST
  • EPIC replacement/printing fee- 25/- और 18% GST
  • पहली बार वोट करने वालों के लिए EPIC की printing ( इसमें home delieVeryभी शामिल है) – 30/- और 18% GST

Online Voter Verification के लिए जरूरी हैं यह दस्तावेज –

Passport, ड्राइविंग लाइसेंस, आधार, राशनकार्ड, बैंक पासबुक, किसान पहचान पत्र, सरकारी या अर्धसरकारी अधिकारियों के Identity Card।

यह तीन और दस्तावेज जोड़े हैं चुनाव आयोग ने –

Voter की details Verify करने के लिए चुनाव आयोग ने जरूरी दस्तावेजों की सूची में तीन और दस्तावेज जोड़े हैं। यह Documents हैं – PAN Card RGI की तरफ से जारी Smart Card और Address Proof के लिए पानी, Telephone, बिजली या गैस कनेक्शन का बिल। इस बात पर खास ध्यान दें कि यह तमाम बिल आवेदक के नाम पर या उनके माता पिता के नाम पर ही होने चाहिए। पानी और बिजली का बिल latest हो तो बेहतर होगा।

यूं करा सकते हैं Offline Voter Verification –

Online ही नहीं आपके पास Offline Voter Verification का भी मौका है। इसके लिए आप किसी भी Voter Verification center की मदद ले सकते हैं। इसके लिए आपको अपने दस्तावेज संबंधित सेंटर पर लेकर जाना होगा।

Voter Verification Programme Last Date Kya Hai –

जब चुनाव आयोग ने यह evp लांच किया तो सबसे पहले आयोग के ही कर्मचारियों ने इसके तहत अपना और अपने परिवारों की detail को Verify करा Voter Verification कराया। देश के सभी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में यह कार्यक्रम इस वक़्त चलाया जा रहा है। आपको बता दें कि पहले यह Program केवल 15 अक्टूबर तक चलाया जाना था, लेकिन बाद में इसे 18 नवंबर तक चलाने का फैसला लिया गया। अब यह Program अगले महीने की 18 तारीख तक चलेगा।

केवल दिल्ली में Voter Verification का यह program आने वाली 31 अक्तूबर तक चलेगा। आपको बता दें कि इस राज्य में अगले साल यानी 2020 की पहली तिमाही में विधानसभा चुनाव होने हैं। यही वजह है कि वहां Voter Verification, electoral roll के review draft के प्रकाशन और अंतिम मतदाता सूची के प्रकाशन के लिए एक अलग ही कार्यक्रम तय किया गया है। उसका अलग ही shedaule रखा गया है।

जनवरी में होगा अंतिम मतदाता सूची का प्रकाशन –

चुनाव आयोग के Voter Verification के मकसद से लांच किये गए mega million Program के तहत राज्य मुख्यालय स्तर पर 36 सीईओ, जबकि जिला स्तर पर 740 जिला चुनाव अधिकारी अगुवाई करेंगे। वहीँ करीब दस लाख चुनाव केंद्रों पर BLO और चुनाव पंजीकरण अधिकारी कार्य करेंगे। सारा कार्य संपन्न होने के पश्चात बाद एक review draft का प्रकाशन किया जाएगा। इसकी आखिरी तिथि एक जनवरी, 2020 रखी गई है।

इसमें तमाम electoral rolls की details का review किया जाएगा। आपको यह भी बता दें कि इससे जुड़ी अंतिम मतदाता सूची का प्रकाशन आने वाले जनवरी माह के पहले या दूसरे सप्ताह में किया जाएगा। यह बहुत बड़ा कदम है कि मतदाता सूची यानी Voter List को croud sourcing यानी जन भागीदारी के जरिये update किया जा रहा है। इससे Voters को details Verify करने में सुविधा हो रही है। साथ ही BLO को भी इस कदम के जरिये बहुत सुविधा हो रही है।

Voter होना गर्व की बात, Vote की Value पहचानें –

आज के जमाने में भी कई लोग ऐसे हैं, जो चुनाव कोई भी हो, लेकिन वोट करना कतई पसंद नहीं करते। इसका कारण यह है कि वह तमाम सरकारों की कार्यप्रणाली से संतुष्ट नहीं होते। उन्हें लगता ही नहीं कि उनके एक अदद वोट का क्या मूल्य है। उन्हें लगता है कि उनके एक वोट न डालने से क्या फर्क पड़ जाएगा? दरअसल, यह सोच ही बेहद गलत है। एक-एक वोट कीमती है। कई बार हार-जीत महज एक वोट से हो जाती है। इसका पता चुनाव में खड़े लोगों को बखूबी होता है, लेकिन जो Vote डालते हैं, यानी Voter हैं, उन्हें भी इसकी कीमत का अहसास जरूर होना चाहिए।

आप भी खुद तो Vote करें ही, साथ वालों को भी Vote करने को जरूर प्रेरित करें। इस दिशा में एक साधारण सी कोशिश भी मायने रखती है। इस वक्त सरकार की ओर से भी कई Voter जागरूकता कार्यक्रम चलाए जा रहे हैं। आप भी ऐसे किसी कार्यक्रम का हिस्सा बन आम लोगों को जागरूक करने का काम कर सकते हैं। आने वाले समय में हरियाणा में चुनाव होने जा रहे हैं। इसके बाद दिल्ली में चुनाव होंगे। फिर कुछ समय बाद आपके राज्य में भी चुनाव की बारी आएगी। इस बार चूकें नहीं। Vote अवश्य डालें।

जरुरी बात : बगैर किसी लालच में आये सोच समझकर करें Vote –

देश में इस वक्त electronic Voting machine यानी EVM के जरिये चुनाव हो रहे हैं। माना जा रहा था कि इनके जरिये चुनाव से वक्त बचेगा। जिस दिन चुनाव होगा, उसके बाद जल्द से जल्द counting कराकर नतीजा घोषित कर दिया जाएगा। ऐसा ही हुआ भी। लेकिन कई लोगों ने EVM के इस्तेमाल पर सवाल भी खड़े किए। कई राज्यों में हुए चुनावों पर निशाना साधा। कहा कि EVM में की गई गड़बड़ी से संबंधित पार्टी ने चुनाव जीते। उन्होंने एक बार फिर से ballet paper के जरिये चुनाव कराने की मांग की। बीते संसदीय चुनाव के दौरान यह बात प्रमुख तौर से उठी थी। तब प्रचंड बहुमत से भाजपा सत्ता में आई थी और नरेंद्र मोदी एक बार फिर देश के प्रधानमंत्री चुने गए थे।

हालांकि उनकी यह मांग मानी नहीं गई। अलबत्ता, कई विशेषज्ञों ने demostration देकर इस बात को साबित किया कि EVM के जरिये चुनाव कराया जाना पूरी तरह से सुरक्षित है। इसके बावजूद कई पार्टियां इस मसले को लेकर मुख्य चुनाव आयुक्त के कार्यालय के चक्कर काट चुकी हैं। EVM के साथ ही VVPAT का भी प्रयोग किया गया। इसके जरिये मतपर्चियों का EVM से मिलान किया जाता है, ताकि यह साबित किया जा सके कि, जिस Voter ने जिस चुनाव चिन्ह के आगे बटन दबाया है, वो सही है। Voter भी same है। यानी यह बताना कि EVM गड़बड़ नहीं है और चुनाव के दौरान पूरी निष्पक्षता बरती गई है। तो दोस्तों, इतनी सारी detail share करने के बाद हमारी आपसे अपील यही है कि आप भी Voter Verification कराएँ और Vote जरुर दें। बहुत सोच-समझकर और बगैर किसी दबाव या फिर लालच में आये हुए।

Leave a Comment