Online Vehicle Ownership Transfer कैसे करें? Bike RC Transfer Kaise Kare?

Online Vehicle Ownership Transfer In Hindi – महंगाई दिन प्रतिदिन बढ़ती जा रही है। मार्केट में नई कार और बाइक की कीमतें भी हर साल 5 से 10 परसेंट बढ़ जाती है। एक नॉरमल बाइक की कीमत 55 – 60000 से शुरू होती है। और वही एक घरेलू छोटी कार की कीमत भी 3.30 लाख से शुरू होते हैं। ऐसे में एक आम आदमी को अपने लिए नई कार अथवा नई बाइक खरीदना थोड़ा मुश्किल हो जाता है। हांलाकि आज मार्केट में काफी ऐसी संस्थाएं हैं। जो तुरंत ही आपको बाइक अथवा कार के लिए लोन उपलब्ध कराते हैं। आप कम से कम डाउन पेमेंट जमा करके बड़ी आसानी से नई बाइक या कार ले सकते हैं।

लेकिन फिर भी कई लोग ज्यादा पैसे नहीं खर्च करना चाहते हैं। और साथ ही वह अपने शौक और जरूरतों को भी पूरा करना चाहते हैं। तो ऐसे लोगों के लिए एक सेकेंड हैंड बाइक अथवा कार खरीदना काफी अच्छा ऑप्शन रहता है। 1 सेकंड हैंड बाइक कार बड़ी आसानी से आपको कम कीमत पर मिल जाती है। जिसे आप अपनी जरूरतों को पूरा कर सकते हैं।

लेकिन एक पुरानी कार या बाइक खरीदने के लिए आपको कौन कौन सी सावधानियां रखनी चाहिए। पुरानी कार बाइक खरीदते समय आपको क्या ध्यान रखना है। और पुरानी कार बाइक की Online Vehicle Ownership Transfer आप कैसे कर सकते हैं। इन सभी प्रश्नों के उत्तर आपको किस आर्टिकल के माध्यम से प्राप्त होंगे। जिससे आप अपने लिए एक अच्छी सेकंड हैंड कार या बाइक आसानी से खरीद सकते हैं।

Online Vehicle Ownership Transfer क्या है?

कोई भी सेकंड हैंड वाहन खरीदने के पश्चात आपको उसकी Vehicle Ownership Transfer अर्थात RC को अपने नाम ट्रांसफर करवाने की जरूरत पड़ती है। जब तक आप ओनरशिप अपने नाम ट्रांसफर नहीं करेंगे। तब तक आप कानूनी तौर पर उस वाहन के मालिक नहीं बन पाएंगे। पहले कोई भी सेकंड हैंड वाहन खरीदने के बाद ओनरशिप ट्रांसफर कराने में काफी मशक्कत करनी पड़ती थी। आरटीओ ऑफिस के चक्कर लगा – लगा कर लोग काफी परेशान हो जाते थे।

कभी-कभी इस प्रोसेस में महीनों का समय भी लग जाता था। लेकिन अब सरकार ने नागरिकों को काफी सुविधाएं प्रदान कर रखी हैं। और अब कोई भी नागरिक घर बैठे ऑनलाइन ही किसी भी कार या बाइक Online Vehicle Ownership Transfer कर सकता है।

सेकंड हैंड कार या बाइक की Online Vehicle Ownership Transfer से पहले ध्यान देने वाली बातें –

गाड़ी के पेपर चेक करें –

कोई सेकंड हैंड गाड़ी करने से पहले आप गाड़ी के पेपर को अच्छी तरह से जांच ले। गाड़ी के पेपर चेक करने के लिए आज सरकार द्वारा ऑनलाइन सुविधा प्रदान की गई है। बहुत से लोग धोखाधड़ी करने के लिए फर्जी कागज भी बना कर चोरी की बाइक भी बेच देते हैं। इसलिए आप गाड़ी खरीदने से पहले ही आप गाड़ी वाहन के मालिक के बारे में और अन्य जानकारी जरूर प्राप्त करें। ऑनलाइन वाहन की डिटेल्स चेक करने के लिए आप यह आर्टिकल पढ़ें –Gadi Number Se Malik Ka Naam कैसे पता करें? Vehicle Details By Number Plate In Hindi

कोई चालान बाकी तो नहीं –

सेकंड हैंड कार या बाइक खरीदने से पहले आपको यह भी चेक करना आवश्यक है। कि उसका वाहन पर कोई चालान पेंडिंग में तो नहीं है। कोई चालान पेंडिंग में है। या नहीं इसकी जानकारी प्राप्त करने के लिए आप ट्रैफिक पुलिस की ऑफिशियल वेबसाइट पर जाकर चेक कर सकते हैं। ऑफिशियल साइट पर जाकर आपको रजिस्ट्रेशन नंबर डालना होगा। और फिर आपको गाड़ी के चालान संबंधी जानकारी प्राप्त हो जाएगी।

बाइक की कंडीशन चेक करें –

सेकंड हैंड कार या बाइक खरीदने से पहले आप उसकी कंडीशन अच्छी तरह से चेक करें। हो सके तो आप कोई अच्छा मकैनिक ले जाकर वाहन को चेक कराएं। क्योंकि एक अच्छा मकैनिक वाहन की अच्छी तरह से जानकारी दे सकता है। आम तौर पर देखा गया है कि 1 साल पुरानी पुराने वाहन की कीमत 20 से 30 परसेंट कम हो जाती है। इसलिए गाड़ी की कंडीशन के अनुसार ही आप उसे खरीदें।

Online Vehicle Ownership Transfer Kaise Kare?

किसी भी वाहन की ओनरशिप ट्रांसफर करने के लिए सेम ही प्रोसेस होती हैं। फिर चाहे आप कोई कार ट्रांसफर कर रहे हो या बाइक ट्रांसफर कर रहे हो। आप नीचे बता जा रहे प्रोसेस को सावधानीपूर्वक कंप्लीट करके Online Vehicle Ownership Transfer कर सकते हैं।

  • वाहन ओनरशिप ट्रांसफर करने के लिए सबसे पहले आपको मिनिस्ट्री ऑफ रोड ट्रांसपोर्ट हाईवे की ऑफिशियल वेबसाइट https://parivahan.gov.in/parivahan/ पर जाना होगा। आप चाहे तो यहां क्लिक करके डायरेक्ट भी जा सकते हैं।
  • साइट पर पहुंचने के पश्चात आपको सबसे पहले अपना एक अकाउंट वेबसाइट पर बनाना होगा। इसके लिए आप रजिस्टर नाउ बटन पर क्लिक करके एक अकाउंट बना सकते हैं। अकाउंट बनाने के पश्चात आपको अपने अकाउंट में अपना यूजर आईडी और पासवर्ड डालकर लॉग इन करना होगा।
Online Vehicle Ownership Transfer कैसे करें? Bike RC Transfer Kaise Kare?

Bike Or Car Rc Transfer Process Bike Transfer Kaise Hota Hai –

  • जैसे ही आप अपने अकाउंट में लॉगइन करेंगे। आपके सामने वाहन सर्विस का डैशबोर्ड ओपन होगा। यहां पर आपको ऑनलाइन सर्विसेज के dropdown-menu में से Vehicle Related Services पर क्लिक करना होगा।
Car Transfer, Car Transfer Online, Car Transfer Kaise Kare, Car Transfer Fee, Car Transfer Process, Car Transfer Form,
  • जैसे ही आप Vehicle Related Services पर क्लिक करेंगे। आपके सामने एक ऑनलाइन एप्लीकेशन फॉर्म ओपन होकर आएगा। यहां पर आपको अपने वाहन का रजिस्ट्रेशन नंबर और चेचिस नंबर डालकर वन टाइम पासवर्ड जनरेट करना होगा।
  • आपके दिए गए मोबाइल नंबर पर एक वन टाइम पासवर्ड आएगा। जिससे आपको दिए गए वापस में भरकर वेरीफाई करना होगा।
  • वन टाइम पासवर्ड वेरीफाई करने के पश्चात आपके सामने एक नया पेज ओपन होगा। यहां पर आपको ट्रांसफर आफ ओनरशिप ऑप्शन को टिक करके सबमिट बटन पर क्लिक करना होगा।
Car Transfer, Car Transfer Online, Car Transfer Kaise Kare, Car Transfer Fee, Car Transfer Process, Car Transfer Form,
  • जैसे आप सम्मिट बटन पर क्लिक करेंगे। आपके सामने ओनरशिप ट्रांसफर करने के लिए फॉर्म ओपन होकर आएगा। यहां पर आपको आप से पूछी गई सभी जानकारी को सावधानीपूर्वक भरना होगा। और सबमिट करना होगा।
Car Transfer, Car Transfer Online, Car Transfer Kaise Kare, Car Transfer Fee, Car Transfer Process, Car Transfer Form,

Bike RC Transfer Kaise Kare –

  • सभी जानकारी को सही-सही भरने के पश्चात फॉर्म सबमिट करें। इसके बाद आप अपनी सुविधा अनुसार आरटीओ ऑफिस में अप्वाइंटमेंट डेट ले ले।
  • आपको जो डेट मिली होगी। उस डेट पर आपको अपने सभी ओरिजिनल डाक्यूमेंट्स के साथ आरटीओ ऑफिस विजिट करना होगा।
  • अप्वाइंटमेंट बुक करने के पश्चात आपको आरटीओ ऑफिस की फीस पे करना होगा। आप ऑनलाइन ही अपने क्रेडिट कार्ड, डेबिट कार्ड अथवा नेट बैंकिंग के माध्यम से फीस भर सकते हैं।
  • फीस भरने के पश्चात आप को कुछ फॉर्म प्रोवाइड किए जाएंगे। जिसमें फॉर्म नंबर 29,  फॉर्म नंबर 30, फॉर्म नंबर 35 और फॉर्म नंबर 36 होंगे।
  • फॉर्म नंबर 29 और फॉर्म नंबर 30 सेल लेटर के होते हैं। और फॉर्म नंबर 30 Hypothecation Terminated के लिए होता है।
  • इन सभी फॉर्म को का प्रिंट आउट निकाल कर buyer और seller दोनों को सिग्नेचर करना होता है। सिग्नेचर किए हुए डॉक्यूमेंट को buyer या seller  में से कोई भी अप्वाइंटमेंट डेट पर आरटीओ ऑफिस जाकर जमा कर सकता है।
  • जिसके बाद आरटीओ ऑफिस द्वारा buyer के नाम से RC जारी कर दी जाती है। और buyer कानूनी तौर पर उस वाहन का मालिक बन जाता है।

व्हीकल ओनरशिप ट्रांसफर करने से जुड़ी कुछ आवश्यक जानकारी।

बाइक अपने नाम कैसे करे?

ट्रांसफर करने के लिए पहले आप बाइक बेचने वाले से आरसी ले और ऊपर बताई गई है। ऑनलाइन प्रक्रिया को पूरा करने के लिए स्टेप बाय स्टेप पूरा करें। 7 वर्किंग Days में बाइक का नाम ट्रांसफर हो जाएगा।

Hypothecation Terminated होना क्यों जरूरी है?

ओनरशिप ट्रांसफर करते समय वाहन Hypothecation Terminated होना चाहिए। यदि  वाहन Hypothecation Terminated नहीं है। तो आपका वाहन ट्रांसफर नहीं होगा। इसके लिए आपको फॉर्म नंबर 35 को भर के अपने फाइनेंसर से स्टैंप लगावाकर हस्ताक्षर करवाने होंगे। तभी आपकी आपका वाहन ट्रांसफर होगा।

ऑनलाइन बाइक ओनरशिप ट्रांसफर करने में कितने रुपए लगते हैं।

व्हीकल ओनरशिप ट्रांसफर करने के लिए टू व्हीलर, फोर व्हीलर के लिए अलग-अलग फीस निर्धारित की गई है जिसको आप नीचे दिए गए टेबल के माध्यम से अच्छी तरह से समझ सकते हैं।

क्र. सं.VehicleTransfer फ़ीससर्विस फ़ीस
1दो पहिया30200
2LML100200
3Tractor/Other100200

Bike Transfer Karne Ka Tarika –

कार या Bike Transfer Karne Ka Tarika आप विडियो के माध्यम से भी देख सकतें हैं। विडियो से आप आसानी से समझ सकतें हैं –

तो दोस्तों इस तरह से आप घर बैठे Online Vehicle Ownership Transfer कर सकते हैं। वाहन और सिर्फ ट्रांसफर करने की प्रोसेस में आपको आरटीओ ऑफिस भी विजिट करना होगा। लेकिन पहले की तरह अब आपको आरटीओ ऑफिस के ज्यादा चक्कर नहीं काटने होंगे। आपको केवल अपॉइंटमेंट वाली डेट पर ही ऑफिस विजिट करना होगा। इससे आपके काफी समय की बचत होगी। यदि आपको वाहन ट्रांसफर करने के बारे में किसी प्रकार का कोई सवाल है। तो नीचे कमेंट बॉक्स में कमेंट करें। और साथ ही आपको यह जानकारी अच्छी लगे। तो अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करें।। धन्यवाद।।

Spread the love

28 thoughts on “Online Vehicle Ownership Transfer कैसे करें? Bike RC Transfer Kaise Kare?”

  1. sir meri bike RJ 12 ki hai muje transfer karne ke liye kya karna chaye sir muje process bataye plz sir mere mob no 8890825707 bike lene wala hai vo bhi rajasthan ka hai

    Reply
  2. Sir, main UP se hun. But main Delhi number ki bike khareed Raha hun. Lekin jo seller hia bo bol Raha hai ki adhar card Delhi ke person ka hona chahiye. To bataiye kya main UP k adhar card se ane nam nhi karwa sakta?

    Reply
  3. सर मे देहरादून से विकासनगर का रहने वाला हू मेने जिसे गाडी बेची हे वो उतरकाशी का रहने वाला है वो अलग जिला पडता है उसके लिए कया करना होगा मेरा फोन नमबर
    8126560026

    Reply
  4. Mein delhi me car finance karwane the and ab me dusre state settle ho gaya hu. Loan complete ho gaya hai. Ab mujhe mere state me transfer karwana hai and mere naam pe car transfer karwani hai. Kya process hoga and kya mujhe rto delhi jana padey ga?

    Reply
    • Delhi ke adhar ki jarurat nahi padti hai. Jo vykti jis state me kharid rha hai use apne use state ke district rto office me jakar gaadi transfer krne ki prakriya puri karni hoti hai.

      Reply
    • फिर आप उत्तराधिकार सर्टिफिकेट का उपयोग करके ही अपने नाम से बीके ट्रांसफर करवा सकतें हैं|

      Reply
  5. Sir, muze two vihcal m.p. se Maharashtra transfer krwana hai. Vahan mere damad ke Naam or hai, muze pune mere Naam pr transfer krna hai. Khrcha kitna lgega.

    Reply
  6. सर मैंने न ओ सी ले ली है लेकिन वेबसाइट पर रजिस्ट्रेशन no डालने पर noc issue बता रहा है में क्या करू

    Reply
    • अभी ऑनलाइन फीड नहीं किया गया होगा. इसीलिए अभी पुराना स्टेटस शो कर रहा होगा.

      Reply
  7. Sir , maine Apne dost ke Naam se bike kharidi thi Delhi me . Aur ab Mai Ghaziabad me shift ho Gaya hu . Ab mujhe Apne Naam par bike ki ownership Leni h. Aur dost se bhi relations off ho Gaye. Ab Mai kya karu. Plzzz advice me.

    Reply

Leave a Comment