Online Jeevan Praman Patra Kaise Banaye – घर बैठे बनायें अपना जीवन प्रमाणपत्र

अनुक्रम

What is Jeevan Praman Patra in Hindi : भारत में बहुत से लोग सरकारी क्षेत्र की नौकरियों में अपनी सेवायें देते हैं। जब वह रिटायर्ड हो जाते हैं, तब उन्‍हें पेंशन (Pension) मिलनी शुरू हो जाती है।

इसी पेंशन के जरिये अपने पदों से सेवानिवृत्‍त हो चुके लोगों के परिवार का गुजारा चलता है। लेकिन इस पेंशन को पाने के लिये कई प्रकार की कागजी कार्रवाही से भी गुजरना पड़ता है।

Online Jeevan Praman Patra Kaise Banaye in Hindi

जिसके बाद ही रिटायर्ड व्‍यक्तियों को पेंशन मिलना चालू होती है। लेकिन हर माह निश्चित दर से मिलने वाली इस पेंशन को सुचारू रूप से चालू रखने के लिये, लाभार्थियों को हर साल जमा करना पड़ता था।

जिसे बनवाना हर किसी के लिये आसान बात नहीं थी। खासकर बूढ़े और कमजोर लोगों के लिये। इसी बात को ध्‍यान में रखते हुये केंद्र सरकार ने Digital India प्रोग्राम के तहत Online Jeevan Praman Patra बनाये जाने की सुविधा प्रदान कर दी है।

दोस्‍तों आज की इस पोस्‍ट में हम Life Certificate for Pensioners के बारे में विस्‍तार से जानकारी प्रदान करने जा रहे हैं। साथ ही आपको इस पोस्‍ट में इस बात की भी जानकारी प्राप्‍त होगी कि ऑनलाइन जीवन प्रमाण पत्र घर बैठे आप कैसे बनवा सकते हैं?

Jeevan Praman Patra क्‍या होता है? Life Certificate for Pensioners in Hndi

Jeevan Praman Patra एक ऐसा प्रमाण पत्र है। जिसके जरिये यह साबित किया जाता है, कि अमुक व्‍यक्ति जीवित है। न कि मरा हुआ।

जीवन प्रमाण पत्र की सबसे ज्‍यादा जरूरत रिटायर्ड पेंशनभोगी व्‍यक्तियों को पड़ती है। क्‍योंकि हर साल यह प्रमाण पत्र प्रस्‍तुत करना पड़ता है, कि वह जीवित हैं, इसलिये उनकी पेंशन निर्बाध रूप से जारी रहनी चाहिये।

पेंशनर्स को Jeevan Praman Patra कब देना पड़ता है?

देश के ऐसे पेंशनभोगी व्‍यक्ति जिनको पेंशन मिल रही है, उन्‍हें हर साल नवंबर – दिसंबर माह में इस प्रमाण पत्र को प्रस्‍तुत करना पड़ता है।

Online Jeevan Praman Patra की व्‍यवस्‍था कब से शुरू हुई और क्‍यों?

दोस्‍तों वर्ष 2014 से पहले तक देश भर के सभी पेंशनर्स को अपना Life Certificate संबंधित बैंकों में जाकर प्रस्‍तुत करना पड़ता था।

लेकिन वर्ष 2014 में केंद्र सरकार ने एक बड़ा फैसला किया और Life Certificate for Pensioner को लेकर बड़ा बदलाव किया। जिसके बाद से Online Life Certificate for Pensioner की शुरूआत हुई और इस व्‍यवस्‍था को आधार केंद्र से जोड़ दिया गया।

ऐसा इसलिये किया गया क्‍योंकि पहले बैंकों में Jeevan Praman Patra प्रस्‍तुत करने के बाद भी पेंशनर्स को आधार केंद्र में जाकर खुद को अपडेट करवाना ही पड़ता था।

Also Read :

Online Jeevan Praman Patra की मुख्‍य विशेषता क्‍या है?

ऑनलाइन जीवन प्रमाण पत्र के लिये सरकार के द्धारा एक राष्‍ट्रीय पोर्टल बनाया गया है। जिस पर कोई भी व्‍यक्ति अपना Account बना कर अपना रजिस्‍ट्रेशन कर सकता है।

एक बार सफलतापूर्वक रजिस्‍ट्रेशन कर लेने के बाद यह प्रक्रिया आपके आधार कार्ड और आपके ईमेल से जुड़ जाती है।

Jeevan Praman Patra मांगे जाने की स्थिति में आप ऑनलाइन मोड से ही खुद के लिये इलेक्‍ट्रानिक जीवन प्रमाण पत्र जेनरेट कर सकते हैं। इस प्रकार का जीवन प्रमाण पत्र आपको आपकी ईमेल आईडी पर प्राप्‍त होता है।

ईमेल पर प्राप्‍त Life Certificate for Pensioner का आप प्रिंट आउट निकाल सकते हैं। इस प्रकार आपका पेंशन Account अपडेट बना रहता है।

अब तक कितने लोग जीवन प्रमाण का रजिस्‍ट्रेशन करवा चुके हैं?

दोस्‍तों, जीवन प्रमाण की आधिकारिक वेबसाइट पर जारी आंकड़ों के अनुसार अब तक पूरे देश में 1.63 करोड़ लोग अपना Registration करवा चुके हैं।

जीवन प्रमाण केंद्रों का पता कैसे लगायें?

यदि आप घर बैठे जीवन प्रमाण पत्र नहीं बना पा रहे हैं। तो आपको परेशान होने की जरूरत नहीं है। आप अपने शहर में नजदीकी जीवन प्रमाण केंद्र पर जाकर भी ऑनलाइन Life Certificate बनवा सकते हैं।

Locate a Centre for Life Certificate

आप जैसे ही ऊपर दिये गये लिंक पर क्लिक करेंगें तो आप जीवन प्रमाण की आधिकारिक वेबसाइट के Locate a Centre के पेज पर पहुंच जाएंगें।

  • यहां सबसे पहले आप अपनी लोकेशन का चुनाव करें।
  • फिर अपना राज्‍य चुनें
  • अंत में अपना जिला चुनें
  • आपके द्धारा इतना करते ही आपके सबसे नजदीकी जीवन प्रमाण केंद्र की जानकारी आपको दे दी जाएगी।

Online Life Certificate कैसे बनायें? ऑनलाइन जीवन प्रमाण पत्र कैसे बनायें?

How to Make Life Certificate for Pensioner : Online Jeevan Praman Patra Kaise Banaye? यदि आप अपने लिये घर बैठे ऑनलाइन जीवन प्रमाण पत्र बनाना चाहते हैं। तो इसके लिये आपको जीवन प्रमाण के आधिकारिक पोर्टल पर जाकर अपना रजिस्‍ट्रेशन करना होगा।

Life Certificate के लिये केंद्र सरकार के द्धारा विंडोज तथा एंड्रायड दोनों ही प्रकार की सुविधायें दी गयी हैं। आपके लिये इन दोनों में कौन सी सुविधा ज्‍यादा सूटेबल हैं। इसका फैसला आपको ही करना है।

  • आपको सबसे पहले jeevanpramaan.gov.in पर जाकर अपना रजिस्‍ट्रेशन करना होगा।
  • यदि आप मोबाइल के जरिये अपना रजिस्‍ट्रेशन करना चाहते हैं, तो आप जीवन प्रमाण की मोबाइल एप्‍लीकेशन अपने एंड्रायड फोन में डाउनलोड करें।
  • रजिस्‍ट्रेशन करने के लिये आपको अपना आधार नंबर, ईमेल आईडी, मोबाइल नंबर, पेंशन पेमेंट आर्डर, बैंक का नाम तथा Account Number आदि देना होगा।
  • आधार कार्ड Authentication के लिये आपको अपने Finger Print देने होंगें।
  • Authentication की प्रक्रिया पूरी हो जाने के बाद आपके आधार रजिस्‍टर्ड मोबाइल नंबर पर एक SMS आएगा। जिसमें आपको Jeevan Praman की ID मिलेगी।
  • इस आईडी के जरिये आप पुन: आधार नंबर अंकित करके अपना जीवन प्रमाण पत्र डाउनलोड कर सकते हैं।
  • जिस बैंक अथवा संस्‍था के द्धारा आपको पेंशन प्रदान की जा रही है। वह भी इसी जीवन प्रमाण वेबसाइट के द्धारा आपका Life Certificate डाउनलोड करके उसका प्रयोग कर सकते हैं।
  • इस व्‍यवस्‍था के तहत ईमेल आईडी पर इलेक्‍ट्रोनिक जीवन प्रमाण पत्र की डिलीवरी भी की जाती है।

Digital Life Certificate क्‍या है?

Digital Life Certificate अथवा डिजीटल जीवन प्रमाण पत्र एक आधार Based प्रणाली है। Jeevan Praman Patra बनवाने के लिये आपको अनिवार्य रूप से आधार नंबर देना होता है, तथा बायो‍मेट्रिक डाटा के रूप में फिंगर प्रिंट भी देने होते हैं।

क्‍या जीवन प्रमाण पत्र Life Time के लिये Valid होता है?

जी नहीं, जीवन प्रमाण पत्र Time के लिये Valid नहीं होता है। इसे हर साल जेनरेट करना होता है। जिससे पता चलता है कि आप वर्तमान में जीवित हैं।

जीवन प्रमाण पत्र के लिये कौन पात्र माना जाता है?

इस प्रमाण पत्र के लिये मुख्‍य रूप से पेंशनभोगी लोगों को पात्र माना जाता है। लेकिन जो लोग Re-employed अथवा Re-married हैं, वह जीवन प्रमाण पत्र के लिये पात्र नहीं माने जाते हैं।

अधिक जानकारी के लिये आपको जीवन प्रमाण पत्र योजना से सं‍बंधित जारी सर्कुलर को पढ़ना होगा।

DLC जेनरेट करने के लिये किन चीजों की जरूरत पड़ती है?

  • Online DLC जेनरेट करने के लिये STQC प्रमाणित बायोमेट्रिक डिवाइस की जरूरत पड़ती है।
  • आपके PC / Mobile / Laptop में बायोमेट्रिक डिवाइस की RD Service installed होनी जरूरी है।
  • अपने पीसी अथवा मोबाइल से जीवन प्रमाण पत्र बनाने के लिये आपको अपनी डिवाइस में एप्‍लीकेशन अथवा Software डाउनलोड करना होगा। यह दोनों ही चीजें आपको जीवन प्रमाण की आधिकारिक वेबसाइट के जरिये ही मिलती हैं।
  • इसके अलावा आपके पास इंटरनेट कनेक्‍शन होना बेहद जरूरी है।

क्‍या Online Jeevan Praman Patra जेनरेट करने के बाद बैंक / पोस्‍ट ऑफिस में देना अनिवार्य होगा?

जी नहीं, यदि आप ऑनलाइन मोड से Jeevan Praman Patra हासिल कर लेते हैं, तो आपको इसे अपने बैंक अथवा पोस्‍ट ऑफिस में देने की कोई जरूरत नहीं है। बैंक व पोस्‍ट ऑफिस ऑटोमैटिक इसे जीवन प्रमाण पत्र की वेबसाइट से प्राप्‍त करेंगें।

जीवन प्रमाण पत्र स्‍टेटस कैसे चेक होता है?

यदि आपने जीवन प्रमाण पत्र के लिये आवेदन किया है और अब आप अपने प्रमाण पत्र का स्‍टेटस चेक करना चाहते हैं तो इसके लिये आपको जीवन प्रमाण की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा। आप इस वेबसाइट के जरिये ही अपने प्रमाण पत्र का स्‍टेटस चेक कर सकते हैं।

क्‍या Online Jeevan Praman Patra पूरे देश में वैध है?

जी हां, ऑनलाइन जीवन प्रमाण पत्र पूरे देश में IT Act के तहत वैध है और इसे कानूनी मान्‍यता प्राप्‍त है।

तो दोस्‍तों यह थी हमारी आज की पोस्‍ट Online Jeevan Praman Patra Kaise Banaye in Hindi यदि आप How to Apply for Online Digital Life Certificate के बारे में और अधिक जानकारी पाना चाहते हैं, तो आप हम से कमेंट बॉक्‍स के जरिये पूछ सकते हैं।

Spread the love

2 thoughts on “Online Jeevan Praman Patra Kaise Banaye – घर बैठे बनायें अपना जीवन प्रमाणपत्र”

Leave a Comment