आनलाइन डिग्री कैसे प्राप्त करें? रजिस्ट्रेशन, फ़ीस और कोर्स सूची

अब केवल एक डिग्री के सहारे नौकरी प्राप्त कर लेना एवं उसी नौकरी में लंबे वक्त तक जमे रहना गुजरे जमाने की बात हो गई है। बात यदि प्राइवेट जाॅब की करें तो नौकरी में जमे रहने के लिए तो आपको नए नए स्किल सीखने की आवश्यकता होती है। इसके अलावा जाॅब पर रहते हुए आनलाइन डिग्री हासिल कर भी ढेरों लोग अपने आगे बढ़ने का मार्ग प्रशस्त कर सकते हैं।

बहुत सी कंपनियां ऐसे युवाओं को अपने यहां रखने में अधिक दिलचस्पी दिखाती हैं, जिन्होंने ग्रेजुएशन के साथ ही अन्य कई तरह के जाॅब से संबंधित आनलाइन डिग्री कोर्स किए हुए हैं।

आज हम आपको इस पोस्ट में इसी विषय पर जानकारी देंगे कि आनलाइन कोर्स कैसे कर सकते हैं? आनलाइन डिग्री कैसे प्राप्त कर सकते हैं? उम्मीद है कि यह पोस्ट आपको पसंद आएगी-

आनलाइन कोर्स का क्या अर्थ है?

सबसे पहले हम आपको समझाते हैं कि आनलाइन कोर्स (online course) अर्थात पढ़ाई का क्या अर्थ है? दरअसल, इस तरह की पढ़ाई इंटरनेट (internet) के माध्यम से होती है। छा़त्र को भौतिक रूप से कक्षा अटैंड नहीं करनी पड़ती वरन उसे वर्चुअल (virtual) रूप से कक्षा करनी होती है।

कोरोना (corona) महामारी के दौरान लाॅकडाउन (lockdown) की वजह से स्कूल काॅलेज बंद रहे। ऐसे में आनलाइन पढ़ाई की वजह से उने कोर्स पूरे कराए गए। रोजाना कक्षा उपस्थित होने में मुश्किल हो अथवा छात्र कहीं कार्यरत हो तो उसके लिए इस तरह का कोर्स करना बेहद सुविधाजनक रहता है।

आनलाइन डिग्री कैसे प्राप्त करें? रजिस्ट्रेशन, फ़ीस और कोर्स सूची

कौन से विश्वविद्यालय आनलाइन डिग्री कोर्स चला सकते हैं? (Which universities can run online degree course?)

जैसा कि आप जानते हैं कि भारत में विश्वविद्यालयों (universities) की गतिविधियों को नियंत्रित करने की जिम्मेदारी विश्वविद्यालय अनुदान आयोग अर्थात यूनिवर्सिटी ग्रांट्स कमीशन (University grants commission) यूजीसी (UGC) की है, उसी ने विश्वविद्यालयों को आनलाइन डिग्री कोर्स (online degree course) संचालित कराने की हरी झंडी (green signal) दी है।

लेकिन इसके साथ ही कुछ शर्तें भी हैं-जैसे जो विश्वविद्यालय पांच वर्ष से संचालित हो रहे हैं, केवल वही आनलाइन डिग्री (online degree) के लिए रजिस्ट्रेशन (registration) कर सकेंगे।

इसके अतिरिक्त वे केवल उसी विषय की आनलाइन डिग्री (online degree) दे सकेंगे, जो कोर्स उनके लिए यहां नियमित रूप से पढ़ाया जा रहा हो।

आनलाइन डिग्री के लिए रजिस्ट्रेशन कैसे करें? (How to register for online degree?)

सबसे पहली बात यह है कि आनलाइन डिग्री (online degree) प्राप्त करने के लिए पहले आपको संबंधित कोर्स (related course) के लिए रजिस्ट्रेशन (registration) कराना होगा। इसके लिए सबसे पहले आपको उस कालेज/विश्वविद्यालय की वेबसाइट (website) पर जाकर मनपसंद कोर्स का चुनाव करना होगा।

उसमें रजिस्ट्रेशन कराना होगा। रजिस्ट्रेशन के दौरान आवेदक को रजिस्ट्रेशन फार्म (registration form) में पूछी गई अपनी सारी जानकारी सही सही भरनी होगी।

इसके बाद आवश्यक डाक्यूमेंट्स (necessary documents) अपलोड (upload) कर फीस का भुगतान (fee payment) करना होगा। इस प्रकार आपका रजिस्ट्रेशन (registration) हो जाएगा।

भारत में कितने विश्वविद्यालयों को आनलाइन डिग्री कोर्स शुरू करने की मंजूरी मिली है? (How many universities have permission to run online degree course?)

यदि आप भी आनलाइन डिग्री कोर्स (online degree course) करने के इच्छुक हैं तो आपको जानकारी दे दें कि भारत में अभी तक करीब आधा दर्जन ही विश्वविद्यालयों को आनलाइन डिग्री कोर्स शुरू करने की मंजूरी दी गई है। इन विश्वविद्यालयों के नाम एवं इनमें संचालित किए जा रहे कोर्सेज के विषय में जानकारी निम्नवत है-

1. इंदिरा गांधी नेशनल ओपन यूनिवर्सिटी, नई दिल्ली (Indira Gandhi National open University, New Delhi)।

कोर्स (course)-

  • सर्टिफिकेट इन टूरिज्म स्टडीज (certificate in tourism studies)
  • सर्टिफिकेट इन रशियन लैंग्वेज (certificate in Russian language)
  • सर्टिफिकेट इन अरेबिक लैंग्वेज (certificate in arebic language)

2-जेएसएस एकेडमी आफ हायर एजुकेशन एंड रिसर्च, मैसूर कर्नाटक (JSS academy of higher education and research, Mysore, Karnataka)।

कोर्स (course)-

  • एमबीए इन हास्पिटल एडमिनिस्ट्रेशन (MBA in hospital administration)
  • पीजी डिप्लोमा इन बायो इफार्मेटिक्स (PG Diploma in bio informatics)

3-मणिपाल एकेडमी आफ हायर एजुकेशन, मणिपाल कर्नाटक। (Manipal academy of higher education, Manipal, Karnataka)

कोर्स (course)-

  • एमबीए। (MBA)

4-भारतीय विद्यापीठ, पुणे, महाराष्ट्र। (Bharatiya Vidya peeth, Pune, Maharashtra)।

कोर्स (course)-

  • बीबीए। (BBA)
  • एमबीए। (MBA)

5-डाॅ. डीवाई पाटिल विद्यापीठ, पुणे, महाराष्ट्र। (Dr. DY Patil Vidyapeeth, Pune, Maharashtra)

कोर्स (course)-

  • एमबीए। (MBA)
  • सर्टिफिकेट प्रोग्राम इन डिजिटल मार्केटिंग। (certificate program in digital marketing)
  • सर्टिफिकेट प्रोग्राम इन हास्पिटल एंड हेल्थकेयर मैनेजमेंट। (Certificate program in hospital and health care management)

6-शन्मुगा आर्ट्स, साइंस, टेक्नोलाॅजी एंड रिसर्च एकेडमी, तंजावुर, तमिलनाडु। (shanmuga arts, science, technology and research academy, tanjavur, tamilnadu)।

कोर्स (course)-

  • बीसीए। (BCA)
  • डिप्लोमा इन संस्कृत। (Diploma in sanskrit)

7-एमिटी यूनिवर्सिटी, नोएडा उत्तर प्रदेश। (Amity University, Noida, Uttar Pradesh)

कोर्स (course)-

  • बीए इन टूरिज्म एडमिनिस्ट्रेशन (BA in tourism administration)
  • बीबीए। (BBA)
  • बीसीए। (BCA)
  • बीए इन जर्नलिज्म एंड मास कम्युनिकेशन। (BA in journalism and mass communication)
  • बीकाॅम। (Bcom)
  • बीए। (BA)
  • एमकाॅम इन फाइनेंशियल मैनेजमेंट। (Mcom in financial management)

आनलाइन डिग्री लेने से पहले किन बातों का ध्यान रखें? (What things should be kept in mind while taking online degree?)

यह जानना बेहद आवश्यक है कि आनलाइन डिग्री कोर्स (online degree course) लेने से पहले किन बातों का ध्यान रखा जाए? किन बातों पर विचार किया जाए। आपने देखा ही होगा कि आनलाइन पढ़ाई के नाम पर छात्र छात्राएं अधिक रिसर्च (research) नहीं करते।

बस जहां किसी ने जरा सा किसी कोर्स के बारे में सुझाव दिया वे खट से रजिस्ट्रेशन (registration) करा लेते हैं। लेकिन कुछ बातें हैं, जिनका आपको आनलाइन डिग्री कोर्स (online degree course) के लिए रजिस्ट्रेशन कराने से पहले अवश्य ध्यान रखना चाहिए, ये निम्नवत हैं-

1. सबसे पहले निर्धारित करें कि आप कौन से विषय की डिग्री हासिल करना चाहते हैं-

यह सबसे पहला कदम है। आपको सबसे पहले यह डिसाइड (decide) करना होगा कि आप कौन से विषय की डिग्री हासिल करना चाहते हैं। ऐसा न हो कि आप केवल आनलाइन डिग्री (online degree) के नाम पर किसी कोर्स में दाखिला ले लें, और फिर आपको यह अहसास हो कि यह विषय तो आपकी रूचि का है ही नहीं। इससे बेहतर है कि उस विषय को चुनें, जिसमें आपकी दिलचस्पी है।

2. कोर्स ऐसा चुनें, जिसकी पढ़ाई से आपको भविष्य में फायदा हो-

यदि आप आनलाइन डिग्री कोर्स करना चाहते हैं तो किसी ऐसे विषय का चुनाव करें, जिसकी पढ़ाई से आपको भविष्य में लाभ हो। मसलन यदि आप जर्नलिस्ट बनना चाहते हैं तो आपके लिए एमबीए करने की अपेक्षा एमए इन जर्नलिज्म एंड मास कम्युनिकेशन करना लाभप्रद होगा।

इसी प्रकार यदि आप टूरिज्म के क्षेत्र में भविष्य बनाना चाहते हैं तो आपके लिए एमबीए टूरिज्म मैनेजमेंट में करना अधिक लाभप्रद होगा, बजाय इसके कि आप फाइनेंशियल मैनेजमेंट में एमबीए करें।

3. विभिन्न विश्वविद्यालयों में चलाए जा रहे कोर्स की तुलना करें, अपने लिए बेस्ट चुनें-

यदि आप अपने लिए बेस्ट कोर्स (best course) चुनना चाहते हैं तो विभिन्न विश्वविद्यालयों, कालेजों में चलाए जा रहे कोर्सेज की तुलना करें। कोर्स कंटेंट, जाॅब अपाॅरचुनिटी, फीस आदि के आधार पर इन्हें तोलें। इसके पश्चात ही अपने लिए सबसे बेहतर कोर्स का चुनाव करें।

जैसे यदि किसी विश्वविद्यालय में कोर्स कंटेंट (course content) अच्छा है, लेकिन वहां थोड़ी सी फीस (fee) अधिक भी है तो भी आप इसमें प्रवेश लेने से पीछे न हटें, क्योंकि जरा सा अतिरिक्त भुगतान (extra payment) आपको एक बेस्ट डिग्री (best degree) दिला सकता है।

4. फर्जी काॅलेजों/विश्वविद्यालयों के जाल में न फंसें-

इस प्रकार के कई काॅलेज/विश्वविद्यालय देश में संचालित हो रहे हैं, जिन्हें कहीं से भी मान्यता प्राप्त नहीं है। लेकिन यह संस्थान चमकदार विज्ञापन छात्र छात्राओं को अपनी ओर आकर्षित करते हैं। आवश्यकता इस बात की है कि छात्र. छात्राएं दिग्भ्रमित न हों।

ऐसे काॅलेज/विश्वविद्यालयों के फेर में न पड़ें। वे यूजीसी की वेबसाइट (ugc website) पर जाकर ऐसे फर्जी विश्वविद्यालयों की सची देख सकते हैं और इनमें आनलाइन डिग्री कोर्स के लिए रजिस्ट्रेशन कराने से परहेज कर सकते हैं।

शार्ट टर्म आनलाइन कोर्सेज से क्या लाभ होता है?

शार्ट टर्म आनलाइन कोर्सेज करने से बहुत लाभ होता है। आपको जानकारी दे दें कि इस प्रकार के कोर्स स्किल अपडेट (skills update) करने में बहुत मददगार साबित होते हैं। जैसे यदि कोई व्यक्ति टूरिज्म मैनेजमेंट में एमबीए कर रहा है और इसके साथ वह फ्रेंच लैंग्वेज का कोई शार्ट टर्म कोर्स कर ले तो यह उसके लिए सोने पे सुहागा जैसी बात होगी। बहुत से स्टूडेंट्स इसी प्रकार के कोर्सेज की बदौलत अपने आपको अपनी फील्ड की आवश्यकता को देखते हुए अपडेट करते रहते हैं।

यूजीसी की फुल फाॅर्म क्या है?

यूजीसी की फुल फाॅर्म यूनिवर्सिटी ग्रांट्स कमीशन है। इसे हिंदी में विश्वविद्यालय अनुदान आयोग भी पुकारा जाता है।

कौन से विश्वविद्यालय आनलाइन डिग्री कोर्स संचालित कर सकते हैं?

जिन विश्वविद्यालयों के संचालन को पांच वर्ष पूरे हो चुके हैं, वे आनलाइन डिग्री कोर्स संचालित कर सकते हैं।

आनलाइन डिग्री कोर्स कराने वाला संस्थान फर्जी है या नहीं, इस बात का पता कैसे चलेगा?

इसके लिए आप यूजीसी की वेबसाइट पर जाकर चेक कर सकते हैं कि कोई विश्वविद्यालय फर्जी है अथवा नहीं।

इन दिनों आनलाइन डिग्री कोर्स का क्रेज क्यों है?

रोजगार के अवसरों में बढ़ोत्तरी करने, वर्तमान नौकरी में स्किल अपडेट करने एवं बेहतर भविश्य के लिए इन दिनों आनलाइन डिग्री कोर्सेज का क्रेज है।

आनलाइन डिग्री कोर्स में दाखिले से पूर्व किन बातों का ध्यान रखें?

ऐसी सावधानियों के बारे में हमने आपको ऊपर पोस्ट में बता दिया है। आप वहां से पढ़ सकते हैं।

क्या आनलाइन डिग्री कोर्स स्किल अपग्रेडेशन में भी सहायक होते हैं?

जी हां, इस प्रकार के कोर्स स्किल अपग्रेडेशन में भी सहायक होते हैं।

क्या कोई विश्वविद्यालय ऐसा डिग्री कोर्स आनलाइन संचालित कर सकता है, जिसकी नियमित कक्षाएं न हो रही हों?

जी नहीं, भारत में अभी कोई विश्वविद्यालय ऐसा डिग्री कोर्स आनलाइन संचालित नहीं कर सकता।

इस पोस्ट में हमने आपको बताया कि आप आनलाइन डिग्री कैसे प्राप्त कर सकते हैं। यदि आप भी आनलाइन पढ़ाई के इच्छुक हैं तो ऊपर बताई गई बातों का खास तौर पर ध्यान रखें। आशा करते हैं कि इस पोस्ट से आपकी जानकारी में वृद्धि हुई होगी। आनलाइन कोर्सेज के प्रति जागरूकता के उद्देश्य से इस पोस्ट को अधिक से अधिक साझा करना न भूलें। धन्यवाद।

——————————–

Contents show
Spread the love:

Leave a Comment

शेयर मार्किट से पैसे कैसे कमाए? जमीन का सरकारी रेट कैसे पता करें? ओटीटी प्लेटफॉर्म क्या है? OTT कैसे काम करता है? सरकारी बैंकों से लोन कैसे लें? इनकम टैक्स चोरी की शिकायत कैसे करें?