NIOS Kya Hai? NIOS में प्रवेश पाने के लिये योग्यता/पात्रता के बारे में पूरी जानकारी हिंदी में

What is NIOS in Hindi : दोस्‍तों जैसा कि आप सब जानते हैं, कि भारत में अनेक प्रकार के राज्‍य तथा केंद्र सरकारों के अधीन काम करने वाले Educational Board हैं। इन्‍हीं बोर्डों में से एक बोर्ड NIOS भी है।

NIOS बोर्ड का निर्मांण भारत सरकार के मानव संसाधन विकास मंत्रालय (MHRD) के द्धारा किया गया था।

What is NIOS in Hindi अपनी स्‍थापना के बाद से ही NIOS समाज के ग्रामीण तथा आर्थिक रूप से पिछड़े बच्‍चों को सेकेंडरी, सीनियर सेकेंडरी छात्रों को Vocational Courses के जरिये शिक्षा प्रदान करता है।

एनआईओएस देश के ऐसे छात्र छात्राओं को शिक्षा अध्‍ययन करने के लिये आमंत्रित करता है, जो छात्र छात्रायें देश अन्‍य वैधानिक माध्‍यमिक बोर्ड से अनुतीर्णं (Fail) हो कर अपनी पढ़ाई बंद कर चुके हैं अथवा अन्‍य कारणों से अपनी पढ़ाई जारी नहीं रख पा रहे हैं।

NIOS Kya Hai? एनआईओएस क्‍या है हिंदी में जानकारी

अनुक्रम

NIOS Kya Hai Hindi Me Jankari : भारत में NIOS मानव संसाधन विकास मंत्रालय के द्धारा संचालित किये जाने वाला बोर्ड है।

यह बोर्ड देश भर के ऐसे छात्र छात्राओं को Admission देता है। जो अन्‍य बोर्डों से अनुतीर्णं हो चुके हैं। एनआईओएस विभिन्‍न माध्‍यमिक शिक्षा परीषद बोर्ड तथा CBSE बोर्ड की परीक्षा में Fail छात्रों को On Demand Examination की सुविधा प्रदान करता है।

यह एक ऐसा Educational संगठन है, जो मुक्‍त तथा दूरस्‍थ शिक्षा प्रणाली के जरिये छात्रों को शिक्षा प्रदान करता है।

एनआईओएस के द्धारा 10वीं तथा 12वीं कक्षा तक की शिक्षा प्रदान करने के साथ साथ उत्‍तीर्णं छात्र छात्राओं को Certificate भी प्रदान करता है।

NIOS Meaning in English

NIOS Meaning in English – National Institute of Open Schooling है। कृप्‍या इसे अच्‍छे से याद कर लें।

NIOS Meaning in Hindi

NIOS का हिंदी में अर्थ – राष्‍ट्रीय मुक्‍त विद्धालयी शिक्षा संस्‍थान होता है।

NIOS की स्‍थापना कब हुई थी?

एनआईओएस की स्‍थापना सन 1979 में केंद्रीय माध्‍यमिक शिक्षा बोर्ड के Open Schooling परियोजना के रूप में हुई थी। लेकिन सन 1989 में National Institute of Open Schooling को सरकार के द्धारा Open School में परिवर्तित कर दिया गया।

इसके बाद सन 1990 में भारत सरकार ने एक गजट अधिसूचना जारी करके पूर्व डिग्री स्‍तर तक के छात्रो के लिये मानव संसाधन विकास मंत्रालय के अधीन शिक्षा बोर्ड में तब्‍दील कर दिया।

इसके बाद जुलाई 2002 में इसका नाम विधिवत रूप से राष्‍ट्रीय मुक्‍त विद्धालयी शिक्षा संस्‍थान रख दिया गया।

एनआईओएस के क्षेत्रीय केंद्र कौन कौन से हैं?

  • विशाखापत्‍तनम (उपकेंद्र दरभंगा)
  • हैदराबाद – पुणें
  • गुवाहाटी – कोलकाता
  • इलाहाबाद  – भोपाल
  • देहरादून – चंडीगढ़
  • कोच्चि – पटना
  • दिल्‍ली – जयपुर
  • गांधीनगर – रांची
  • धर्मशाला – रायपुर – चेन्‍नई

एनआईओएस के Educational Centers की संख्‍या कितनी है?

  • शैक्षिक (A) – 4201
  • वोकेशनल (AAVI) – 1374
  • UAE, मस्‍कट, नेपाल, कतर, कुवैत (AI) – 31
  • ओपन बेसिक शिक्षा (OBI), (AAS) – 853

NIOS के उद्देश्य क्‍या हैं?

  • एनआईओएस का मुख्‍य उद्देश्य ग्रामीण तथा दूरदराज के इलाकों बच्‍चों तथा आर्थिक रूप से पिछड़े बच्‍चों को शिक्षा प्रदान करना है।
  • जिन स्‍थानों पर स्‍कूलों की कोई सुविधा मौजूद नहीं हैं, वहां निवास करने वाले बच्‍चों को स्‍कूली शिक्षा प्रदान करना है।
  • ऐसे बच्‍चे जो फेल हो चुके हैं अथवा किसी अन्‍य कारण वश अपनी पढ़ाई बीच में ही छोडने पर मजबूर हुये हैं, उन्‍हें दूरस्‍थ शिक्षा प्रणाली के माध्‍यम से शिक्षा प्रदान कर प्रमाण पत्र जारी करना है।
  • देश भर के जरूरतमंद बच्‍चों को ऑन डिमांड परीक्षा के साथ उसी वर्ष परीक्षा करा कर उत्‍तीर्णं छात्रों को अंकतालिका व सार्टिफिकेट सौंपना है।

Also Read :

एनआईओएस सिलेबस तथा अध्‍ययन सामग्री किस रूप में मिलती है?

What is NIOS Syllabus? एनआईओएस के द्धारा सभी शिक्षार्थियों को स्‍वनिर्देशात्‍मक ऑडियो, वीडियो प्रोग्राम के द्धारा अध्‍ययन सामग्री तथा प्रिंटेड छमाही पत्रिका Open School के छात्रों को प्रदान की जाती है।

NIOS कौन कौन सी भाषाओं में शिक्षा प्रदान करता है?

माध्‍यमिक स्‍तर तक की शिक्षा इन भाषाओं में दी जाती है –

  • हिंदी – अंग्रेजी
  • मराठी – उर्दू
  • तेलुगु – मलयालम
  • गुजराती – पंजाबी
  • नेपाली – कन्‍नड़
  • बंगाली – असमिया
  • तमिल – उडिया

हायर सेकेंडरी की शिक्षा इन भाषाओं में दी जाती है –

  • हिंदी – तमिल
  • अंग्रेजी – बंगाली
  • उर्दू – गुजराती
  • उडि़या – पंजाबी

NIOS Tutor Marked Assignments क्‍या है?

राष्‍ट्रीय मुक्‍त विद्धालयी शिक्षा संस्‍थान में शिक्षा अध्‍ययन कर रहे छात्रों को अपने Assignments जमा करना अनिवार्य है।

यह Assignments 10वीं तथा 12वीं कक्षा के छात्रों के लिये होते हैं। यह Assignments NIOS द्धारा प्रदान किये गये कार्यक्रम में उल्लिखित Last Date से पहले जमा करने होते हैं।

Tutor Marked Assignments की प्रत्‍येक विषयों के लिये संख्‍या 3 होती है। तथा प्रत्‍येक Assignment में 6 प्रश्‍न होते हैं। इन्‍हीं Assignments के मूल्‍यांकन के लिये छात्रों को आवंटित मान्‍यता प्राप्‍त संस्‍थान के Teachers/Tutor/Coordinators के पास जमा कराने होते हैं।

Tutor Marked Assignments में अति लघुउत्‍तरीय प्रश्‍न, दीर्घ उत्‍तरीय प्रश्‍न तथा प्रोजेक्‍ट आधारित प्रश्‍न पूछे जाते हैं।

इन सभी TMA को अंतिम तिथि से पूर्व जमा करना जरूरी होता है। यदि अंतिम तिथि सार्वजनिक छुटटी पर पड़ती है। तो आप अगले Working Day पर अपना Assignment जमा करा सकते हैं।

NIOS Tutor Marked Assignments का प्रारूप क्‍या होता है?

Tutor Marked Assignment 20 अंकों का होता है तथा इसके प्रारूप के अनुसार कुछ प्रश्‍न पूछे जाते हैं। जिनके बारे में आपको क्रम से बताया जा रहा है।

  • 1 – पहला, दूसरा तथा तीसरा प्रश्‍न संक्षिप्‍त उत्‍तर वाले होते हैं। इसमें पूछे गये प्रश्‍नों के 2 Option होते हैं। जिनमें से केवल एक Answer देना होता है। इसमें प्रत्‍येक प्रश्‍न के लिये 2 अंक निर्धारित होते हैं। इस हिस्‍से में कुल 6 अंक निर्धारित होते हैं।
  • 2 – प्रश्‍न संख्‍या 4 व 5 दीर्घ उत्‍तरीय होते हैं। इनमें भी प्रश्‍न चुनने का विकल्‍प प्रदान किया जाता है। जिसकी वजह से आपको केवल 1 प्रश्‍न का उत्‍तर देना होता है। इस खंड में प्रत्‍येक प्रश्‍न के लिये 4 अंक निर्धारित होते हैं तथा कुल दोनों प्रश्‍नों के लिये 8 अंक निर्धारित होते हैं।
  • 3 – छठे प्रश्‍न में 2 प्रोजेक्‍ट होते हैं। जिनमें से आपको केवल केवल एक प्रोजेक्‍ट का उत्‍तर देना होता है। इसके लिये कुल 6 अंक निर्धारित होते हैं।

क्‍या एनआईओएस Worldwide (वैश्विक) बोर्ड है?

जी हां दोस्‍तों NIOS एक Worldwide (वैश्विक) बोर्ड है। इस बोर्ड के 31 स्‍टडी सेंटर सऊदी अरब, कुवैत, बहरीन, यूएई, मस्‍कट तथा नेपाल में भी संचालित हैं। इसलिये यह सीधे तौर पर वैश्विक बोर्ड है।

एनआईओएस भारत के दूसरे शिक्षा बोर्डों से अलग क्‍यों है?

जैसा कि आप सब जानते हैं कि CBSE, ICSE समेत भारत के सभी राज्‍यों के शिक्षा बोर्ड एक निर्धारित सिस्‍टम पर काम करते हैं। जबकि इसके उलट NIOS स्‍वैच्छिक शिक्षा बोर्ड के रूप में छात्र छात्राओं के लिये उपलब्‍ध है।

जबकि अन्‍य शिक्षा बोर्ड संस्‍थागत तथा व्‍यक्तिगत प्रणाली के तहत शिक्षा प्रदान करते हैं और उत्‍तीर्णं छात्रों को प्रमाण पत्र उपलब्‍ध कराते हैं। वहीं एनआईओएस के डिस्‍टेंस लर्निंग के तहत एजूकेशन प्रदान करता है।

Open and Distance Learning शिक्षा प्रणाली क्‍या है?

मुक्‍त एवं दूरस्‍थ शिक्षा प्रणाली को ही Open and Distance Learning कहा जाता है। इस प्रणाली के तहत मुक्‍त एवं दूरस्‍थ तरीके से स्‍व अध्‍ययन मैटेरियल के जरिये शिक्षा प्रदान की जाती है।

इस माध्‍यम के तहत शिक्षा पाने वाले छात्र छात्राओं को SLM के अलावा PCP तथा TMA के रूप में शिक्षा सहायता प्रदान की जाती है।

Open Schooling तथा Regular Schooling में क्‍या अंतर है?

भारत में Regular Schooling एक परंपरागत शिक्षा प्रणाली है। इस प्रणाली के तहत शिक्षा अध्‍ययन करने वाले छात्रों को नियमित रूप से स्‍कूल जाना पड़ता है तथा Class Rooms में बैठ कर शिक्षा हासिल करनी होती है।

जबकि Open Schooling में शिक्षा Distance Learning मोड में प्रदान की जाती है। इस प्रणाली में छात्रों को नियमित रूप से स्‍कूल जाने की आवश्‍यक्‍ता नहीं होती है। इस प्रणाली के तहत छात्र छात्रायें अपनी सुविधा के अनुसार शिक्षा पा सकते हैं।

NIOS के द्धारा कौन कौन से पाठयक्रम चलाये जाते हैं?

 NIOS के द्धारा मुक्‍त बेसिक शिक्षा कार्यक्रम तथा शैक्षिक कार्यक्रम के अनुसार निम्‍न पाठयक्रम चलाये जाते हैं।

शैक्षिक पाठयक्रम इस प्रकार हैं –

  • 1 – माध्‍यमिक पाठयक्रम – यह 10वीं कक्षा के समकक्ष होता है।
  • 2 – उच्‍चतर माध्‍यमिक पाठयक्रम – यह 12वीं कक्षा के समकक्ष होता है।
  • 3 – जीवन समृद्धि पाठयक्रम
  • 4 – व्‍यावसायिक शिक्षा पाठयक्रम

मुक्‍त बेसिक शिक्षा पाठयक्रम इस प्रकार हैं –

  • 1 – OBE (क) स्‍तर का पाठयक्रम – यह तीसरी कक्षा के समकक्ष माना जाता है।
  • 2 – OBE (ख) स्‍तर का पाठयक्रम – इसे पांचवीं कक्षा के समकक्ष माना जाता है।
  • 3 – OBE (ग) स्‍तर का पाठयक्रम – इसे आठवीं कक्षा के समकक्ष माना जाता है।

NIOS Ki Manyata Hai Ki Nahi

बहुत से ऐसे लोग जो Open and Distance Learning के माध्‍यम से 10वीं अथवा 12वीं कक्षा उत्‍तीर्णं करने के बारे में विचार कर रहे हैं।

उनके मन में एक प्रश्‍न जरूर उठता है, कि NIOS Ki Manyata Hai Ki Nahi, तो चलिये हम आपके मन में उमड़ रहे सवाल और भ्रम को दूर किये देते हैं।

दोस्‍तों एनआईओएस भारत सरकार के मानव संसाधन विकास मंत्रालय के द्धारा संचालित शिक्षा बोर्ड है। इसलिये इसकी मान्‍यता पर किसी प्रकार का शक नहीं किया जा सकता है। यह पूरी तरह वैधानिक तथा कानूनी एवं वैश्विक शिक्षा बोर्ड है।

इस बोर्ड के जरिये हासिल किया गया कोई भी प्रमाण पत्र अन्‍य राज्‍यों के शिक्षा बोर्ड के बराबर की Value रखता है। इसलिये आप इस बोर्ड से बिना किसी झिझक के शिक्षा तथा सार्टिफिकेट पा सकते हैं।

एनआईओएस मुख्‍यालय का पता क्‍या है?

NIOS Headquarter Address –

National Institute of Open Schooling

A – 24/25 Institutional Area

Sector – 62

Noida, Distt. Gautam Budh Nagar, Uttar Pradesh

Pincode – 201309

क्‍या NIOS से 10वीं तथा 12वीं कक्षा पास करने वाले Students देश के विश्‍वविद्धालयों में प्रवेश लेने के लिये योग्‍य माने जाते हैं?

जी हां दोस्‍तों, यदि आपने National Institute of Open Schooling से 10वीं अथवा 12वीं कक्षा उत्‍तीर्णं की है, तो आप देश के किसी भी विश्‍वविद्धालय अथवा व्‍यवसायिक शिक्षा संस्‍थानों में उच्‍च शिक्षा पाने के लिये प्रवेश ले सकते हैं।

चूंकि मुक्‍त विद्धालयी संस्‍थान के द्धारा प्रदान किया जाने वाली अंकतालिका तथा प्रणाम पत्र पूरी तरह वैध होता है। इसलिये कोई भी विश्‍वविद्धालय आपको अपने यहां प्रवेश देने से मना नहीं कर सकता है।

एनआईओएस की मुख्‍य विशेषतायें क्‍या हैं?

  • NIOS अपने यहां प्रवेश लेने वाले छात्रों को पाठयक्रमों के चयन की सुविधा प्रदान करता है।
  • राष्‍ट्रीय मुक्‍त विद्धालयी शिक्षा संस्‍थान में छात्रों को साल भर प्रवेश की सुविधा प्रदान की जाती है। इसलिये आप जब चाहें तब प्रवेश ले सकते हैं।
  • इस संस्‍थान क्रेडिट संचयन की सुविधा के साथ 9 बार परीक्षा में बैठने का मौका मिलता है।
  • इस संस्‍थान की सबसे खास बात यह है कि आप इसमें जब चाहें अपनी मनमर्जी के मुताबिक परीक्षा में बैठ सकते हैं।

NIOS में प्रवेश लेने के लिये कौन कौन से जरूरी Documents की आवश्‍क्‍यता पड़ती है?

  • कोई भी एक पहचान पत्र
  • जन्‍म प्रमाण पत्र
  • नवीनतम कलर फोटोग्राफ
  • आठवीं कक्षा की अंकतालिका
  • 10वीं कक्षा अनुतीर्णं अंकतालिका
  • निवास प्रमाण पत्र
  • जाति प्रमाण पत्र
  • भूतपूर्व सैनिक प्रमाण पत्र (लागु होने की दशा में)
  • विकलांगता प्रमाण पत्र (लागु होने की दशा में)
  • हस्‍ताक्षर करने के लिये काली स्‍याही वाला पेन

एनआईओएस में प्रवेश लेने के लिये जरूरी योग्‍यता क्‍या है?

  • माध्‍यमिक शिक्षा हासिल करने के लिये – आठवीं कक्षा की अंकतालिका अथवा स्‍व प्रमाण पत्र
  • उच्‍च माध्‍यमिक स्‍तर की शिक्षा हासिल करने के लिये – किसी भी मान्‍यता प्राप्‍त बोर्ड की अंकतालिका

NIOS D.EL.ED Eligibility क्‍या है?

यह सेवारत शिक्षकों के लिये होती है। D.EL.ED में प्रवेश लेने के लिये सामान्‍य वर्ग के लिये (EWS) शैक्षणिक योग्‍यता 12वीं कक्षा में 50 प्रतिशत अंक होना जरूरी हैं।

वहीं SC/ST/OBC/PH छात्रों के लिये 12वीं कक्षा में कम से कम 45 प्रतिशत अंक होना अनिवार्य हैं।

NIOS Date Sheet

परीक्षा कार्यक्रमआवेदन करने की तिथिपरीक्षा तिथि
प्रथम चरण16 मार्च 2019 – 31 जुलाई 2019अप्रैल/मई 2020
   
द्धितीय चरण16 सितंबर 2019 – 31 जनवरी 2019अक्‍तूबर/नवंबर 2020

NIOS Online Offline Admission कैसे लें?

आप NIOS के Basic Education अथवा Vocational Courses में प्रवेश लेने के लिये स्‍वतंत्र हैं। एनआईओएस शिक्षा बोर्ड आपको साल में 2 बार प्रवेश का मौका प्रदान करता है।

एडमीशन की यह प्रक्रिया ऑनलाइन तथा ऑफलाइन दोनों ही मोड में उपलब्‍ध होती है। अब आपको कौन सा तरीका सुटेबल लगता है। यह आपकी इच्‍छा पर निर्भर है।

एनआईओएस पर Registration कैसे करें?

जो छात्र Online प्रवेश लेना चाहते हैं। उन्‍हें अपना रजिस्‍ट्रेशन कराने के लिये Nios.ac.in पर जाकर अपना रजिस्‍ट्रेशन कराना होगा। (आप इस लिंक पर क्लिक करके डायरेक्‍ट एनआईओएस की आधिकारिक वेबसाइट पर जा सकते हैं)

  • आपके शहर के सबसे नजदीकी AI Centre अथवा स्‍टडी सेंटर पर जाकर ऑनलाइन आवेदन करने के संबंध में मदत ली जा सकती है।
  • आप अन्‍य रीजनल सेंटर्स पर भी जाकर अपना रजिस्‍ट्रेशन करा सकते हैं।
  • आप D.EL.ED पंजीकरण के लिये सेवारत संस्‍थान के प्रधानाचार्य के द्धारा ही शिक्षकों का फार्म अग्रसारित करवा सकते हैं।

NIOS की तैयारी कैसे करें?

  • NIOS में प्रवेश लेने के बाद आप अपनी तैयारी के लिये किसी अच्‍छे कोचिंग क्‍लासेज में प्रवेश ले सकते हैं।
  • एनआईओएस की तैयारी बाजार में उपलब्‍ध गाइडस तथा किताबों से भी की जा सकती है।
  • आप एनआईओएस की तैयारी के लिये विगत वर्षों के प्रश्‍न पत्रों को हल कर सकते हैं।
  • एनआईओएस आपको नजदीकी स्‍टडी सेंटर्स में भी पढ़ाई की सुविधा प्रदान करता है। आप अपने लिये नजदीकी स्‍टडी सेंटर तलाश करें।
  • आप जरूरी अध्‍ययन सामग्री को ऑनलाइन मोड में भी डाउनलोड कर सकते हैं।

तो दोस्‍तों यह थी हमारी आज की पोस्‍ट NIOS Kya Hai? यदि आपके मन में NIOS Kya Karta Hai, NIOS Admission से संबंधित कोई अन्‍य प्रश्‍न है, तो आप हमसें कमेंट बॉक्‍स में आकर पूछ सकते हैं।

Spread the love

Leave a Comment