NRA- नेशनल रिक्रूटमेंट एजेंसी क्या है? इसका काम क्या होगा?

सरकारी नौकरी पाने के लिए आपने भी सैकड़ों प्रयास किए होंगे। इसके लिए कई जगह आवेदन भरा होगा। फीस काउंटर पर लंबी लाइन का सामना किया होगा। तकलीफ़ झेलकर दूसरे शहरों में जाकर परीक्षा दी होगी। रातों को जागकर वक्त काटा होगा। अभ्यर्थियों को इस तरह की दिक्कत से निजात दिलाने के लिए इस बार के बजट 2020 में वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण नेशनल रिक्रूटमेंट एजेंसी (National Recruitment Agency) यानी NRA का शिगुफा लाई हैं। जैसा कि उन्होंने बताया है  इसका मूल उद्देश्य यह है कि परीक्षा पारदर्शी तरीके से हो, इसमें गड़बड़ी का अंदेशा नगण्य हो, जिले में ही परीक्षा कराई जा सके विद्यार्थियों को बाहर जाने की जरूरत ना पड़े, ताकि उनका समय और पैसा दोनों ही बचे। दोस्तों, बेरोजगारी इस समय अपने उच्चतम स्तर पर है।

युवाओं को सरकार से नए रोजगार, नई नौकरी की आस थी, वह पूरी नहीं हुई। फाइनेंस में एमबीए पास सेल्स मार्केटिंग की जॉब कर रहे हैं। नौकरीशुदा कंपनियों में छंटनी की मार झेल रहे हैं। लेकिन उन सब बात न होकर सरकार के बजट में नेशनल रिक्रूटमेंट एजेंसी की घोषणा की गई है। दोस्तों, आज इस post के माध्यम से हम आपको नेशनल रिक्रूटमेंट एजेंसी यानी NRA से जुड़ी बारीक से बारीक जानकारी देने की कोशिश करेंगे। जैसे नेशनल रिक्रूटमेंट एजेंसी क्या है? NRA क्या काम करेगी? इसके जरिए किन पदों पर भर्ती होगी? इससे क्या फायदा होगा आदि।

NRA- नेशनल रिक्रूटमेंट एजेंसी क्या है? इसका काम क्या होगा?

National Recruitment Agency क्या है? यह क्या करेगी?

दोस्तों, आप भी समझ गए होंगे, जैसा कि नाम से ही साफ है- यह National Recruitment Agency भर्ती यानी Recruitment का काम करेगी। और वह भी राष्ट्रीय स्तर पर। तमाम सरकारी विभागों से उनकी requirement का data इस Agency को भेजा जाएगा। जिसके बाद यह एजेंसी पद भरने का काम करेगी। जैसा कि हम पहले ही बता चुके हैं कि यह भर्ती National level पर होगी।

नेशनल रिक्रूटमेंट एजेंसी पर इन पदों पर भर्ती का जिम्मा होगा –

अब नान गजेटेड पदों यानी सरकारी विभागों में ग्रुप बी (अराजपत्रित), ग्रुप सी (गैर तकनीकी) और लिपिक पदों के साथ सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों में समकक्ष पदों पर भर्ती होगी। अब सरकारी और सार्वजनिक क्षेत्र के विभागों के साथ ही बैंकों आदि में non गजेटेड यानी गैर राजपत्रित पदों पर भर्ती के लिए उम्मीदवारों के चयन का जिम्मा केवल इसी एक एजेंसी का होगा। देश भर में इन पदों पर भर्ती इसी नेशनल रिक्रूटमेंट एजेंसी के माध्यम से होगी।

Computer आधारित होगी परीक्षा –

दोस्तों, आपको बता दें कि अब तक अलग अलग एजेंसियां इन non गजेटेड पदों के लिए भर्ती परीक्षा आयोजित कराती थीं। अब यह परीक्षा नेशनल टेस्टिंग एजेंसी यानी एनटीए (NTA) की तर्ज पर कराई जाएगी। साथियों, एनटीए अब नेशनल एलिजिबिलिटी टेस्ट यानी नेट (NET) की परीक्षा का आयोजन कराती है। यह कंप्यूटर आधारित परीक्षा यानी computer based test (CBT) होती है।

इसी तर्ज पर नान गजेटेड पदों के लिए भी कंप्यूटर आधारित परीक्षा का आयोजन किया जाएगा। अभी तक multiple test का आयोजन omr sheet के आधार पर किया जाता है। सभी स्थानों पर परीक्षा एक साथ आयोजित की जाती है। आवेदक एक निश्चित धनराशि फीस के रूप में अदा कर परीक्षा में बैठते हैं।

हर जिले में होगा NRA केंद्र, आसान होगी प्रक्रिया –

अभी तक National Recruitment Agency का जो प्रारुप है, उसके मुताबिक भर्ती के लिए इस एजेंसी का हर जिले में एक केंद्र होगा। जहां जाकर उस जिले के उम्मीदवार परीक्षा दे सकेंगे। एजेंसी नॉन गजेटेड पदों पर भर्ती के लिए एक स्पेशलाइज्ड कॉमन एलिजिबिलिटी टेस्ट यानी CET का आयोजन करेगी।

यह कंप्यूटर आधारित ऑनलाइन प्रक्रिया होगी। इसका फायदा यह है कि अब उम्मीदवारों को एक ही परीक्षा देनी होगी। इसके साथ ही उन्हें अलग अलग शहरों में जाकर परीक्षा देने की जरूरत नहीं रहेगी। बार बार आवेदन करने की जरूरत भी खत्म हो जाएगी। इससे उनका समय, पैसा और मेहनत एक साथ बचेगी।

अभी कौन सी Agencies करती हैं भर्ती –

अब हम आपको बताएंगे कि अभी तक कौन कौन सी Agencies नान गजेटेड पदों के लिए भर्ती कराती रही हैं। साथियों, इनमें कर्मचारी चयन आयोग यानी एसएससी (ssc), बैंकों के लिए IBPS आदि शामिल हैं। एसएससी ही विभिघ्न्न सरकारी विभागों में अनुभाग अधिकारियों, सीमाशुल्क और केंद्रीय उत्पाद शुल्क, आयकर विभाग और रेल मंत्रालय के लिए परीक्षाएं आयोजित कराता है।

इसके अलावा कंबाइंड ग्रेजुएट लेवल यानी सीजीएल (CGL) परीक्षा भी आयोजित की जाती है। रेलवे में भर्ती की जिम्मेदारी आरआरबी यानी रेलवे भर्ती बोर्ड उठाता है।

क्या करेंगी दूसरी भर्ती Agencies –

अब एसएससी की ओर से आयोजित होने वाली सभी परीक्षाएं एनआरए के जरिये ही कराए जाने का प्रस्ताव है। तो दोस्तों आपको बता दें कि सीधी सी बात है कि इसके बाद कर्मचारी चयन आयोग यानी एसएससी, बैंकिंग कार्मिक चयन संस्थान अर्थात आईबीपीएस (IBPS) की ओर से preliminary परीक्षा नहीं कराई जाएगी। नेशनल रिक्रूटमेंट एजेंसी प्रारंभिक यानी preliminary परीक्षा में चयनित प्रत्याशियों की सूची मुख्य यानी main परीक्षा के लिए संबंधित भर्ती एजेंसी को भेजेंगी। इससे तमाम Agencies का काम एकदम कम रह जाएगा।

माना जा रहा है कि NRA का हर जिले में एक केंद्र होने की वजह से उस राज्य से जुड़ी नियुक्ति की प्रक्रिया बेहद आसान हो जाएगी। अभी तक दूसरे शहरों में जाकर परीक्षा देने के लिए वहां रुकने, खाने पीने, आने जाने में होने वाला खर्च जिले में भर्ती का केंद्र हो जाने से काफी कम हो जाने की संभावना है।

भर्ती में पारदर्शिता होगी संभव –

कई बार भर्ती एजेंसियों पर भ्रष्टाचार और बैक डोर से नियुक्तियों के भी आरोप लगते रहे हैं। अगर जम्मू कश्मीर राज्य को ही देखा जाए तो वहां जम्मू कश्मीर पब्लिक सर्विस कमीशन यानी jkpsc और जम्मू कश्मीर कर्मचारी चयन आयोग यानी jkssc पर इस तरह के आरोप कई बार लगे हैं। यहां तक कि कश्मीर प्रशासनिक सेवा यानी KAS की भर्ती में भी भ्रष्टाचार के आरोप कई बार सामने आए हैं।

अफसरों को चहेतों और उनके परिजनों को आगे बढ़ाने के आरोप लगते रहे हैं। माना जा रहा है कि एक ही भर्ती एजेंसी हो जाने से इस तरह के आरोपों से सबका नहीं पड़ेगा। और सभी यानी हर वर्ग के आवेदकों को उनका जायज हक मिल सकेगा।

NRA पर विपक्ष ने उठाए सवाल –

विपक्ष ने बजट 2020 के अन्य कई प्रावधानों की ही तरह National Recruitment Agency के प्रावधान पर भी सवाल उठाए हैं। यह सवाल देश में बेरोजगारी की बढ़ती दर को देखते हुए भी उठाए गए। उसका कहना है कि सरकार को इसकी जगह बेरोजगारों के लिए नए रोजगार सृजन या नौकरियों की बात करनी चाहिए थी, जो कि बजट से एकदम नदारद है।

वहीं, युवा, जिनके लिए सरकार यह कदम उठाने का दावा कर रही है, उनका कहना है कि सरकार का यह कदम तो अच्छा है, लेकिन इसका फायदा तभी होगा, जबकि एजेंसी इस काम को उतनी ही मुस्तैदी से कर पाए, जितना सोचा जा रहा है। हालांकि यह बात भी गांठ बांधने लायक है, जैसा कि हम आपको ऊपर बता चुके हैं कि यह एजेंसी केवल नॉन गजेटेड पदों के लिए ही भर्ती करेगी।

आसान काम नहीं होगा परीक्षा का आयोजन –

इस वक्त देश में लाखों बेरोजगार हैं। और कहा तो यह जा रहा है कि देश 2016 के बाद पिछले साल बेरोजगारी सर्वोत्तम स्तर पर है। साथियों, हालत यह है कि 11 राज्यों में बेरोजगारी दर राष्ट्रीय बेरोजगारी दर से भी ज्यादा है। खुद सरकारी एजेंसी यानी National sample survey organization यानी NSSO (एनएसएसओ) का सर्वे इस बात की तस्दीक कर चुका है। उसके मुताबिक 2016 के बाद सबसे खराब हालात हैं। पिछले साल मार्च में आई report के आधार पर बेरोजगारी दर सबसे ऊंची निकल कर आई थी। जिसे लेकर सरकार पर बहुत निशाना भी साधा गया था। सभी का कहना है कि सरकार नई नौकरियां नहीं दे सकी।

वहीं जिन लोगों के पास पुरानी नौकरियां थी, वह भी उनसे छीन ली गई। कई कंपनियां बंद हो गई और हजारों रोजगारों के ऊपर कैंची चल गई। इस बीच पकौड़े और चाय को रोजगार के रूप में बढ़ाए जाने संबंधी बयानों पर सरकार की बहुत किरकिरी भी हुई। अब सरकार बजाय रोजगार के नेशनल रिक्रूटमेंट एजेंसी का प्रावधान लेकर आई है। ऐसे में यह साफ है कि लाखों बेरोजगारों के लिए भी परीक्षा का आयोजन कराना कोई आसान बात नहीं होगी। अभी सरकार इस एजेंसी से जुड़ी अन्य बारीकियों को जल्द सामने लाएगी।

फिलहाल students, job aspirants सभी को इस Agency से जुड़ी बाकी details का सरकार की ओर से इंतजार है। किसी भी नई भर्ती से पहले पूरी रूपरेखा के साथ यह details सामने होगी, ऐसा समझ लीजिए दोस्तों। जो लोग अभी तक सरकारी विभागों में भर्ती के लिए दूसरे शहरों में भाग दौड़ करते थक गए हैं, उन्हें खास तौर पर इसके अस्तित्व में आने का शिद्दत से इंतजार है।

RRB भी करेगा ERA Hire –

Railway Recruitment board यानी RRB भी ERA यानी External Recruitment Agency की मदद Recruitment के लिए लेने जा रहा है। वह इसे साफ कर चुका है। इस साल Railway ,जो भर्ती करेगा, उसकी Planning, resource mobilisation का जिम्मा इसी बाहरी एजेंसी का होगा। रेलवे कर्मचारियों की ओर से इस कदम का हालांकि विरोध किया जा रहा है। उनका मानना है दोस्तों कि यह कदम ठेका प्रथा से अधिक कुछ नहीं है। इसके संबंध में वह कई बड़े organization का हवाला देते हैं, जहां कर्मचारियों के हितों को बिल्कुल दरकिनार कर दिया गया।

दोस्तों, यह थी National Recruitment Agency के बारे में सारी जानकारी। उम्मीद है आपको यह जानकारी जरुर पसंद आई होगी। माना जा रहा है कि इसी साल से नान गजेटेड पदों पर भर्ती नेशनल रिक्रूटमेंट एजेंसी के जरिए ही होगी। दोस्तों, अगर आप इस Agency से जुड़े किसी अन्य बिंदु पर हमसे जानकारी चाहते हैं तो नीचे दिए comment box में comment करके अपनी राय हम तक पहुंचा सकते हैं। हम उस विशेष बिंदु से जुड़ी जानकारी से आपको अवगत कराने की पूरी कोशिश करेंगे।

इसके अलावा यदि किसी दूसरे विषय पर अगर आप जानकारी लेना चाहते हैं तो भी आप नीचे दिए comment box में comment कर विषय का नाम लिखकर हमें भेज सकते हैं। हम आपको उस विषय पर पूरी जानकारी देने की पूरी पूरी कोशिश करेंगे। इसके अलावा अगर कोई सुझाव भी आपके मन में चल रहा है तो भी आप उसे हमसे साझा कर सकते हैं। उसके लिए तरीका यही रहेगा कि आपको नीचे दिए गए comment box में comment करना होगा। हम आपके दिए सुझाव पर अमल करने की पूरी पूरी कोशिश करेंगे। इस post पर आपकी प्रतिक्रिया का हमें इंतजार रहेगा। ।। धन्यवाद।।

Spread the love

Leave a Comment