अपनी राशि कैसे देखें? Naam Se Rashi Kaise Pta Kare?

|| अपनी राशि कैसे देखें? How to see your rashi? जन्मतिथि के अनुसार अपनी राशि कैसे जाने, जन्म तारीख से नाम राशि 2022, नाम के पहले अक्षर से जाने राशि, राशि की जानकारी हिंदी में, जन्म तारीख से नाम राशि 2022, जन्म तारीख से नाम राशि 2022, नाम का पहला अक्षर कैसे जाने? ||

भविष्य अनिश्चित है। बस यही बात उसे बेहद रहस्यमयी बना देती है। हर कोई अपना भविष्य जानने को इच्छुक रहता है। साथ ही अपनी राशि, ग्रहों, नक्षत्रों के सहारे अपने जीवन एवं व्यक्तित्व के बारे में जानने एवं उन्हें साधने के उपायों में जुटा रहता है। भारत में ज्योतिष को बेहद महत्वपूर्ण माना गया है।

माना गया है कि ग्रहों की गति का मानव जीवन पर बहुत अधिक प्रभाव पड़ता है। बहुत से लोग अपने नाम अथवा जन्म तिथि के अनुसार अपनी राशि तो देखना चाहते हैं, लेकिन इस संबंध में अधिक कुछ नहीं जानते।

आज इस पोस्ट में हम आपको इसी संबंध में विस्तार से जानकारी देंगे कि आप अपनी राशि कैसे देख सकते हैं? उम्मीद करते हैं कि यह पोस्ट आपको पसंद आएगी –

लोग राशि क्यों देखना चाहते हैं?

लोग अपने भावी जीवन का अनुमान लगाने के वास्ते अपनी राशि जानना, देखना चाहते हैं। यदि बात भारतीय ज्योतिष करें तो उसके अनुसार चंद्र राशि को महत्ता प्रदान की जाती है। इसका कारण यह कि चंद्रमा मन का कारक ग्रह माना जाता है। यदि बात पश्चिम की करें तो वहां ज्योतिष में सूर्य राशि को अधिक महत्ता दी जाती है।

वे सूर्य को आत्मविश्वास एवं आत्मा का कारक ग्रह पुकारते हैं। हम चूंकि भारत देश के निवासी हैं। ऐसे में हम चंद्र राशि को ही प्रमुखता देते हैं। वैदिक ज्योतिष में भी यही राशि महत्वपूर्ण हैं। इसी से व्यक्ति के गुणों के विषय में कुछ भी दावे के साथ कहना संभव हो पाता है।

अपनी राशि कैसे देखें? Naam Se Rashi Kaise Pta Kare?

इन दिनों साॅफ्टवेयर से निकाली जा सकती है कुंडली

यह जमाना इंटरनेट (internet) का है। ऐसे में ज्योतिष भी इससे अछूता कैसे रह सकता है। इन दिनों किसी भी व्यक्ति की कुंडली साॅफ्टवेयर (kundli software) के माध्यम से भी निकाली जा सकती है। इसके लिए संबंधित व्यक्ति से संबंधित जानकारी साॅफ्टवेयर में फीड (feed) की जाती है, जिसके बाद उसके आधार पर व्यक्ति की कुंडली बनाई जाती है।

कुंडली सामने आने के बाद जिस राशि में चंद्रमा दिखता है, वही आपकी चंद्र राशि कहलाती है। जैसा कि हम आपको स्पष्ट कर चुके हैं कि भारतीय ज्योतिष में चंद्र राशि का ही महत्व है। अधिकांश ज्योतिषी इसी के जरिए व्यक्ति के विषय में सटीक बात बताते हैं।

राशि जानने के लिए किन चीजों की जानकारी आवश्यक है?

अब आपके जहन में यह प्रश्न अवश्य उठ रहा होगा कि राशि जानने के लिए किन चीजों की जानकारी आवश्यक है? ज्योतिष विशेषज्ञों के अनुसार इसके लिए व्यक्ति के जन्म का समय, दिनांक, वर्ष एवं स्थान की जानकारी होनी आवश्यक है। यदि किसी व्यक्ति के जन्म का समय ठीक ठीक ज्ञात नहीं तो ऐसे व्यक्ति की कुंडली सही नहीं बनाई जा सकती।

नाम के अनुसार राशि कैसे जानें?

यद्यपि अधिकांश लोग नाम के हिसाब से अपनी राशि जानने के उत्सुक रहते हैं, लेकिन कहा जाता है कि नाम राशि से व्यक्ति के बारे में बहुत सही सही नहीं बताया जाता।

हालांकि यह भी सही है कि बहुत से लोग केवल नाम से अपनी राशि देखते हैं एवं उनके भविष्य की बहुत सी बातें सच हो जाती हैं। यदि आप भी नाम के अनुसार अपनी राशि जानने के इच्छुक हैं तो नाम के पहले अक्षर के अनुसार आपकी राशि निम्नवत होगी –

मेष (Aries)अ, च, चू, चे, ला, ली, लू, ले
वृषभ (Taurus)उ, ए, ई, औ, द, दी, वो
मिथुन (Gemini)के, को, क, घ, छ ह, ड
कर्क (cancer)हे, हो, डा, ही, डो
सिंह (Leo)म, मे, मी, टे, टा, टी
कन्या (Virgo)प, श, ण, पे, पो, प
तुला (Libra)रे, रो, रा, ता, ते, तू
धनु (Sagittarius)धा, ये, यो, भी, भू, फा, डा
वृश्चिक (Scorpio)लो, ले, नी, नू, या, यी
कुंभ (Aquarius)गे, गो, सा, सू, से, सो, द
मकर (Capricorn)जा, जी, खो, खू, ग, गी, भो
मीन (Pisces)दी, चा, ची, झ, दो, दू

तत्व के अनुसार किसकी कौन सी राशि होगी?

भारतीय दर्शन (indian philosophy) मानता है कि व्यक्ति का शरीर पंच तत्वों (five elements) से मिलकर बना है। इन पंच तत्वों में शामिल हैं – पृथ्वी, अग्नि, जल, वायु एवं आकाश। वहीं, यह माना जाता है कि राशियां चार तत्वों से मिलकर बनी हैं – पृथ्वी, अग्नि, जल एवं वायु।

अधिकांशतः माना जाता है कि एक ही तत्व की दो राशियों के बीच अच्छा तालमेल देखने को मिलता है। यद्यपि प्रत्येक क्षेत्र की भांति इसमें भी अपवादों की कोई कमी नहीं। तत्व के अनुसार राशियां इस प्रकार हैं –

तत्वराशि
पृथ्वीवृषभ, कन्या, मकर।
अग्निमेष, सिंह, धनु।
जलकर्क, वृश्चिक एवं मीन।
वायुमिथुन, तुला, कुंभ

जन्म तिथि के अनुसार राशि कैसे जानें? | जन्मतिथि के अनुसार अपनी राशि कैसे जाने –

कई बार यह होता है कि लोगों का घर का नाम दूसरा होता है, जबकि बाहर का नाम दूसरा। लेकिन यह तो आप जानते होंगे कि जन्म का समय नहीं बदला जा सकता। ऐसे में बहुत से लोग जन्म तिथि के अनुसार राशि जानने के लिए उत्सुक रहते हैं। जन्म समय के अनुसार राशि निम्न प्रकार जानी जा सकती है –

राशिजन्म का समय
मेष21 मार्च से 20 अप्रैल तक।
वृषभ21 अप्रैल से लेकर 21 मई तक।
मिथुन22 मई से लेकर 21 जून तक।
कर्क22 जून से लेकर 22 जुलाई तक।
सिंह23 जुलाई से होकर 21 अगस्त तक।
कन्या22 अगस्त से 23 सितंबर तक।
तुला24 सितंबर से 23 अक्तूबर तक।
वृश्चिक24 अक्तूबर से 22 नवंबर तक।
धनु23 नवंबर से 22 दिसंबर तक।
मकर23 दिसंबर से 20 जनवरी तक।
कुंभ21 जनवरी से 19 फरवरी तक।
मीन20 फरवरी से लेकर 20 मार्च तक।

किस राशि के व्यक्ति में कौन से गुण होते हैं?

आपने देखा होगा कि कई लोग बड़े गुस्सैल होते हैं तो कई विपरीत परिस्थितियों में भी धैर्य नहीं खोते। ऐसा उनकी राशि की वजह से होता है, जिसका उन पर प्रभाव पड़ता है। अब आपको जानकारी देते हैं कि किस राशि के व्यक्ति में कौन से गुण होते हैं-

1. मेष राशि का राशिफल 2022

इस राशि का चिन्ह मेढ़ा एवं स्वामी मंगल ग्रह होता है। यह ग्रह व्यक्ति के जीवन में उत्साह का संचार करता है। इस राशि के लोग सदैव नई ऊर्जा एवं उत्साह से संचरित होते हैं। ये अपनी शर्तों पर जीवन जीते हैं। ये समझौतों पर यकीन नहीं करते। लेकिन इस चक्कर में कई बार गुस्सा हो जाते हैं।

अपना अपमान इन्हें बर्दाश्त नहीं होता। अभिमानी होने की वजह से कई बार वे जीवनसाथी तक से लड़ जाते हैं। ये बहुत आदर्शवादी होते हैं। आम तौर पर सफाई पसंद एवं सतर्क रहते हैं।

इनकी कल्पना एवं मुआयना शक्ति बहुत बेहतर होती है। अपना हुनर दिखाने में भी इन लोगों का यकीन होता है। जैसे-एक्टिंग, डांस आदि। ये शिक्षा के क्षेत्र में बेहद सफल रहते हैं। लेकिन ईजी मनी (easy money) की ओर भी ये विशेष रूप से आकर्षित होते हैं।

  • इस राशि के जातकों का शुभ अंक: 9।
  • इस राशि के जातकों का शुभ दिन: मंगलवार।
  • इस राशि के लोगों का शुभ रंग: सफेद।
  • इस राशि के जातकों का शुभ रत्न: मूंगा।
  • इस राशि के जातकों की किससे बनती है: कुंभ, सिंह, धनु, एवं मिथुन राशि वालों से।

2. वृषभ राशि का राशिफल 2022

इस राशि का चिन्ह बैल होता है। आपने देखा होगा कि बैल शांत होता है, लेकिन जब से गुस्सा आता है तो वह उग्र हो जाता है बिल्कुल ऐसे ही वृषभ राशि के लोग भी होते हैं। वे अमूमन शांत होते हैं, लेकिन जब उन्हेें गुस्सा आता है तो वे बेहद उग्र हो जाते हैं।

इनकी त्वचा बेहद कोमल एवं चेहरा हंसमुख होता है। इस राशि के लोग किताबें पढ़ने, खेलने-कूदने एवं डांस के शौकीन होते हैं। यद्यपि इनका स्वभाव आलस भरा होता है। साथ ही ये अन्य लोगों की अपेक्षा अधिक जिद्दी एवं रूढ़िवादी होते हैं।

खेती, बैंकिंग, मेडिकल जैसे फील्ड्स में ये लोग कामयाबी की ऊंचाईचाई छूते हैं। प्यार के मामले में ये विश्वास चाहते हैं। इन्हें झूठ एवं बनावट से बहुत नफरत होती है। इन्हें जीवनसाथी के साथ वफादारी के लिए जाना जाता है।

  • इस राशि के जातकों का शुभ अंक: 6।
  • इस राशि के जातकों का शुभ दिन: शुक्रवार।
  • इस राशि के जातकों का शुभ रंग: नीला एवं जामुनी।
  • इस राशि के जातकों का शुभ रत्न: हीरा।
  • इस राशि के जातकों की किससे बनती है: वृषभ, मिथुन, मकर एवं कन्या राशि के लोगों से।

3. मिथुन राशि का राशिफल 2022

इस राशि के जातक शारीरिक रूप से आकर्षक एवं मित्रतापूर्ण व्यवहार वाले होेते हैं। उनके वाक्चातुर्य का कोई जवाब नहीं होता। अमूमन इनका कद औसत से लंबा ही होता है। पतली नाक एवं नुकीली ढोड़ी इस राशि के लोगों की खास पहचान होती है।

ये बेहद बेबाक होने के साथ ही स्वभाव से चंचल एवं अस्थिर प्रकृति के भी होते हैं। इस राशि के लोग राजनीति में खासे सफल होते हैं। यद्यपि ये लोग दृढ़ संकल्प के होते हैं, इसके बावजूद किसी भी काम में जल्दबाजी करते हैं। इन्हें जैक आफ आल ट्रेड्स, मास्टर आफ नन (jack of all trades, master of none ) पुकारना बेहतर होगा। ये नौकरी में ही सफल होते हैं।

अच्छे व्यक्तित्व वालों की ओर आसानी से आकर्षित हो जाते हैं, लेकिन कई बार अपनी लापरवाही से अपना प्रेम खो देते हैं। इनके हाथों में यश भी नहीं होता। ये लोगों के लिए अच्छा करने की कोशिश करते हैं, लेकिन इनके हाथ केवल बुराई हाथ आती है।

  • इस राशि के जातकों का शुभ अंक: 5।
  • इस राशि के जातकों का शुभ दिन: बुधवार।
  • इस राशि के जातकों का शुभ रंग: पीला।
  • इस राशि के जातकों का शुभ रत्न: पन्ना।
  • इस राशि के जातकों की किससे बनती है: वृषभ, कन्या, सिंह, तुला राशि वाले लोगों से।

4. कर्क राशि का राशिफल 2022

इस राशि का चिन्ह केकड़ा होता है। इनके भीतर चंचलता, भावुकता, शीतलता का मिश्रण होता है। इस राशि के लोग अन्य लोगों के दिलों को पढ़ना जानते हैं। इन्हें दूसरों की जिंदगी के बारे में जानने में दिलचस्पी भी खूब होती है। इनकी हथेली काफी कोमल, यद्यपि उंगलियां काफी मोटी होती हैं। ये जो काम शुरू करते हैं, उसे पूरा करके ही दम लेते हैं।

इनकी अर्थशास्त्र, लाॅ, ज्योतिष, इंजीनियरिंग आदि में खासी दिलचस्पी होती है। उद्यम एवं व्यवसाय में विशेष रूप से सफल रहते हैं। प्रेम के मामले में इन्हें बड़ा सावधान रहने की आवश्यकता होती है, क्योंकि ये अक्सर इस मामले में बेहद गंभीर हो जाते हैं। हल्का सा छल भी इन्हें बर्दाश्त नहीं होता।

इन्हें तैराकी, घुड़सवारी के साथ ही लोगों की सेवा करने में आनंद मिलता है। ये ईमानदार प्रवृत्ति के होते हैं एवं विवाह के पश्चात जीवनसाथी के प्रति अक्सर समर्पित रहते हैं।

  • इस राशि के जातकों का शुभ रंग: हल्का नीला, क्रीम एवं सफेद।
  • इस राशि के जातकों का शुभ दिन: सोमवार।
  • इस राशि के जातकों का शुभ अंक: 2,7।
  • इस राशि के जातकों का शुभ रत्न: मोती।
  • इस राशि के लोगों की बनती है: वृषभ, कन्या, मीन एवं वृश्चिक।

5. सिंह राशि का राशिफल 2022

इस राशि का चिन्ह शेर होता है। इस राशि के लोग बेहद महत्वाकांक्षी होते हैं। इन लोगों का माथा विशाल होता है। साथ ही आंखों में एक अलग चमक देखने को मिलती है। यद्यपि इन्हें गुस्सा बहुत जल्दी और अधिक आता है। ये अपने कार्य के प्रति लगनशील होते हैं।

ये अपने मन में किसी के प्रति दुर्भावना नहीं रखते। सोना, चीजों का संग्रह जैसे काम इनके पसंदीदा होते हैं। ये विशेशज्ञता वाले क्षेत्रों, जैसे साहित्य, पत्रकारिता, मेडिकल, पाॅलिटिक्स आदि के अध्येता रहते हैं।

धातु एवं स्टोन बिजनेस में ये खास तौर पर सफल रहते हैं। इनका अपनी माता से विशेष लगाव होता है। यद्यपि इनके विवाह में अधिकांशतः बाधा आती है, लेकिन माना जाता है कि विवाह के पश्चात इनका भाग्योदय हो जाता है।

  • इस राशि के जातकों का शुभ अंक: 1,4।
  • इस राशि के जातकों का शुभ दिन: रविवार।
  • इस राशि के जातकों का शुभ रंग: लाल, सुनहरा, क्रीम।
  • इस राशि के जातकों का शुभ रत्न: माणिक्य।
  • इस राशि के लोगों की बनती हैः वृश्चिक, धनु, मिथुन, कन्या एवं मीन राशि के लोगों से।

6. कन्या राशि का राशिफल 2022

इस राशि का चिन्ह हाथ में फूल लिए कन्या है। इस राशि के जातकों के हाथ सुडौल एवं अंगूठा थोड़ा छोटा होता है। माना जाता है कि इस राशि के जातकों के गले, कंधे, पीठ अथवा गाल पर तिल होता है। ये परफेक्शन (perfection) के दीवाने होते हैं। किसी भी कार्य को तरतीबी से करने में यकीन रखते हैं। इन्हें प्रकृति से बेहद प्रेम होता है। बागवानी, लिखे-पढ़ने, खाना आदि बनाने का इन्हें बेहद शौक होता है।

यद्यपि इस राशि के जातकों में उतावलापन, जल्दबाजी देखने को मिलती है, जिसकी वजह से कई बार बनता काम बिगड़ जाता है। इन्हें पढ़ने-लिखने में खासी दिलचस्पी होती है, यद्यपि ये अच्छे प्रशासक नहीं होते। ये जिससे प्रेम करते हैं, उसे बेहद से चाहते हैं।

दूसरों की मदद करना एवं दूसरों को खुश करना उन्हें बेहद पसंद है। मकर अथवा वृश्चिक जाति के जातकों के साथ इनका वैवाहिक जीवन बेहद सफल रहता है। ये अपने परिवार से बेहद प्रेम रखते हैं।

  • इस राशि के जातकों का शुभ अंक: 9।
  • इस राशि के जातकों के लिए शुभ दिन: बुधवार
  • इस राशि के जातकों के लिए शुभ रंग: हरा, पीला, सफेद एवं नारंगी।
  • इस राशि के जातकों का शुभ रत्न: पन्ना।
  • इस राशि के लोगों की किससे बनती है: वृषभ, मकर एवं वृश्चिक राशि के लोगों से।

7. तुला राशि का राशिफल 2022

इस राशि का चिन्ह तराजू होता है। इस राशि का स्वामी शुक्र होता है। इन्हें सुंदर चीजों से बेहद प्रेम होता है। इस राशि के लोगों के गालों पर अमूमन डिंपल पड़ते हैं एवं आंखें बेहद खूबसूरत होती हैं। ये लोग सोशलाइज (socialise) करने में निपुण होते हैं। ये अमूमन टकराव से बचते हैं।

इन्हें गाड़ियों के साथ ही प्रकृति (nature) से बेहद प्रेम होता है। इस राशि के जातक बेहद भावुक (emotional) किस्म के होते हैं। लिहाजा, साहित्य, संगीत, नृत्य आदि में इनकी विशेष दिलचस्पी होती है।

ये एक अच्छे व्यापारी साबित होते हैं। यद्यपि माना जाता है कि इस राशि के जातकों को संतान की वजह से काफी चिंता में रहना पड़ता है।

  • इस राशि के जातकों का शुभ अंक: 6
  • इस राशि के जातकों का शुभ रंग: सफेद, हल्का नीला।
  • इस राशि के जातकों का शुभ दिन: मंगलवार।
  • इस राशि के जातकों का शुभ रत्न: हीरा।

इस राशि के जातकों की किससे बनती है: मकर, मिथुन, कन्या एवं कुंभ राशि के लोगों से।

8. वृश्चिक राशि का राशिफल 2022

इस राशि का चिन्ह केकड़ा होता है। इस राशि के लोग बाहर से शांत, लेकिन भीतर से बदले की भावना से पूर्ण होते हैं। यद्यपि इन्हें परंपराओं से अधिक लगाव नहीं होता। इन्हें चुनौती देना एवं उन्हें पूर्ण करना दोनों पसंद होता है। ये स्वभाव से हठी होते हैं। इनकी उंगलियां मोटी एवं हथेली छोटी देखने को मिलती है।

ये लोगों से विनम्रता से मिलते हैं। समयानुसार ये निडरता एवं भावुकता का संगम होते हैं। इन्हें महंगी कारों एवं गहनों का शौक होता है। साथ ही ये प्रेम कहानी, किस्से सुनना एवं पढ़ना पसंद करते हैं।

ये सेल्स, मेडिकल आदि क्षेत्रों में अधिक सफल रहते हैं। बात विवाह की करें तो ये अपने जीवनसाथी से वफादारी की चाहना रखते हैं। ऐसा न होने पर वे रिश्ता खत्म कर लेने को प्राथमिकता देते हैं।

  • इस राशि के जातकों का शुभ रंग: लाल।
  • इस राशि के जातकों का शुभ अंक: 9।
  • इस राशि के जातकों का शुभ दिन: मंगलवार।
  • इस राशि के जातकों का शुभ रत्न: मूंगा।
  • इस राशि के जातकों को किन लोगों से बनती है: सिंह, कर्क, धनु, मीन एवं मेष राशि वालों से।

9 धनु राशि का राशिफल 2022

इस राशि का चिन्ह अश्व मानव होता है। इसका पिछला हिस्सा घोड़ा एवं आगे का हिस्सा मानव का होता है। इस राशि के बेहद प्रभावी (effective) एवं आशावान होते हैं। वे ईमानदार एवं फैशन परस्त (honest and fashionable) देखने को मिलते हैं। वे बहुत बुद्धिमान (intelligent) एवं साथ ही आध्यात्मिक प्रवृत्ति के इंसान भी होते हैं।

ये लोग शारीरिक तौर पर बहुत मजबूत होते हैं। ये किसी पर भी सहसा विश्वास नहीं करते। ये बंधकर रहने की बजाय आजादी पसंद होते हैं। इन्हें पढ़ना एवं घूमना विशेष तौर पर प्रिय होता है। इनमें एक प्रशासक (administrative) का गुण विद्यमान होता है।

ये एक बेहतर मैनेजर, नेता, टीचर आदि साबित होते हैं। इन्हें प्रेम से अधिक रोमांस की चाह होती है। यद्यपि इनका वैवाहिक जीवन अमूमन कामयाब एवं सुखद रहता है। यद्यपि कई बार ये जल्द गुस्सा हो जाते हैं, लेकिन उतनी ही तीव्रता से इनका गुस्सा शांत भी हो जाता है।

  • इस राशि के जातकों का शुभ अंक: 3।
  • इस राशि के जातकों का शुभ रंग: गुलाबी, जामुनी, हल्का हरा, पीला एवं आसमानी।
  • इस राशि के जातकों का शुभ दिन: बृहस्पतिवार।
  • इस राशि के जातकों का शुभ रत्न: पुखराज।
  • इस राशि के जातकों की बनती है-मेष, सिंह, कर्क एवं वृश्चिक राशि के लोगों के साथ।

10. मकर राशि का राशिफल 2022

इस राशि का चिन्ह एक जलीय जीव मकर है। इस राशि के जातक दुबले पतले के शरीर के एवं आत्मकेंद्रित होते हैं। ये स्वभाव से जिद्दी एवं महत्वाकांक्षी होते हैं। ये जिंदगी में आगे बढ़ने की इच्छा रखते हैं एवं अपने कार्य को पूरे समर्पण के साथ अंजाम देते हैं। ये आर्थिक मामलों में भी बहुत फूंक-फूंककर कदम आगे बढ़ाते हैं।

ये चिडचिड़े स्वभाव के होते हैं। अक्सर प्रत्येक कार्य में जल्दबाजी दिखाते हैं, जो नुकसान की वजह बनती है। हालांकि इनकी याददाश्त बेहद अच्छी होती है। ये पढ़ाई लिखाई में भी अच्छे होते हैं।

कमीशन से संबंधित कार्यों में ये अधिक सफल होते हैं। जैसे-इंश्योरेंस, कांटे्रक्टर आदि। बात प्रेम एवं विवाह की करें तो ये बेहद अच्छे पार्टनर (partner) समझे जाते हैं। इनका वैवाहिक जीवन (married life) अच्छा चलता है।

  • इस राशि के जातकों का शुभ अंक: 8।
  • इस राशि के जातकों का शुभ रंग: काला।
  • इस राशि के जातकों का शुभ दिन: शनिवार।
  • इस राशि के जातकों का शुभ रत्न: नीलम।
  • इस राशि के जातकों की किस राशि के लोगों से बनती है: मिथुन, कन्या, वृषभ, तुला एवं कुंभ राशि के लोगों से।

11. कुंभ राशि का राशिफल 2022

इस राशि का चिन्ह कुंभ अर्थात घड़ा होता है। इस राशि के जातक आजादी पसंद करते हैं। इस राशि का स्वामी शनि होने की वजह से इस राशि के लोगों को गति भी बहुत पसंद होती है। ये समाज के लिए कुछ करना चाहते हैं। आम तौर पर ये शर्मीले स्वभाव के होते हैं। इस राशि के लोगों को साहित्य एवं इलेक्ट्रानिक (electronic) वस्तुओं से बहुत लगाव होता है।

ये फोटोग्राफी, स्टोरी टेलिंग आदि बहुत पसंद करते हैं। लेकिन इनके साथ दिक्कत यह है कि ये कभी भी किसी एक व्यक्ति के होकर नहीं रह सकते। इन्हें नया व्यक्ति आकृष्ट करता है। इस राशि के लोग काफी बुद्धिमान होते हैं। विज्ञान (science) के रहस्यों को जानने एवं शोध (research) करने में इन्हें बहुत दिलचस्पी होती है।

इसके अतिरिक्त तंत्र मंत्र, ज्योतिष, मेडिकल, कंप्यूटर आदि में भी ये दिलचस्पी रखते हैं। एवं अक्सर इन व्यवसायों में भी सफल रहते हैं। ये बेहद कल्पनाशील होते हैं। ये अक्सर प्रेम में पड़ते हैं। इनका वैवाहिक जीवन आम तौर पर सफल ही रहता है।

  • इस राशि के जातकों का शुभ अंक: 8।
  • इस राशि के जातकों का शुभ दिन: शनिवार।
  • इस राशि के जातकों का शुभ रंग: काला, नीला एवं जामुनी।
  • इस राशि के जातकों का शुभ रत्न: नीलम।
  • इस राशि के जातकों की किससे बनती है: मिथुन, वृषभ, कन्या, तुला, मकर राशि के जातकों से।

12. मीन राशि का राशिफल 2022

इस राशि का चिन्ह मछली होती है। इस राशि का स्वामी बृहस्पति है। इस राशि के जातक अधिकांशतः आध्यात्मिक प्रवृत्ति के होते हैं। वे जीवन में आदर्शवाद पसंद करते हैं। ये मन से बेहद कोमल एवं दया से परिपूर्ण होते हैं। ये अन्य जीवों के प्रति दया एवं सहानुभूति का भाव रखते हैं। लोग इन्हें बेहद पसंद करते हैं।

ये शरीर से थोड़े मोटे होते हैं, लेकिन इनकी आंखें सुंदर होती हैं। इस राशि के लोग कला के धनी होते हैं। किसी भी माहौल में आसानी से रच बस जाते हैं। यद्यपि ये अक्सर आलसी स्वभाव के देखे जाते हैं। इनके साथ दिक्कत ये है कि ये अमूमन किसी पर भी बहुत जल्दी एवं हद से अधिक भरोसा कर लेते हैं।

ये कला, संगीत, साहित्य, लेखन आदि में दिलचस्पी रखते हैं। ये प्रेम के प्रति बेहद संवेदनशील होते हैं एवं अपना साथी चुनने में बहुत सावधानी बरतते हैं। इनके लिए अमूमन कन्या राशि का जीवनसाथी बेहतर माना जाता है। इनका वैवाहिक जीवन आम तौर पर सुखद रहता है।

  • इस राशि के जातकों का शुभ अंक: 3,9।
  • इस राशि के जातकों का शुभ रंग: पीला।
  • इस राशि के जातकों का शुभ दिन: बृहस्पतिवार।
  • इस राशि के जातकों का शुभ रत्न: पुखराज।
  • इस राशि के जातकों की किससे बनती है: कर्क, सिंह, मेष एवं धनु राशि के जातकों से।

हर कोई व्यक्ति अपनी राशि एवं जीवन पर उसका प्रभाव जानने को उत्सुक रहता है

दुनिया में ऐसा कोई व्यक्ति नहीं, जो अपना भविष्य जानने को उत्सुक न हो। अपनी राशि जानने के प्रति दिलचस्पी (interest) का यह एक बहुत बड़ा कारण है। हर कोई व्यक्ति अपनी राशि एवं अपने व्यक्तित्व तथा जीवन (personality and life) पर उसका प्रभाव जानने को उत्सुक रहता है।

यही वजह है कि जब व्यक्ति को पता चलता है कि उसकी राशि का स्वामी कौन है एवं उसे कैसे स्थिर/गतिमान रखा जा सकता है तो वह उसके उपायों में जुट जाता है। भारतीय ज्योतिष को बेहद वैज्ञानिक माना गया है। ग्रहों की गति के आधार पर ज्योतिषी किसी व्यक्ति विशेश को उपाय करने, कोई विशेष रत्न पहनने जैसी सलाहें देते हैं।

ऐसी सलाहें (advice) कई बार उसके जीवन में कमाल कर जाती हैं। साथ ही विवाह के वक्त यह देखा जाता है कि दूल्हा/दुल्हन की राशि क्या है, ताकि उसी राशि के व्यक्ति से उसका संबंध तय किया जाए, जिसकी अमुक राशि के व्यक्ति से अधिक बनती हो। यही सही राशि के व्यक्ति से मिलान उनके वैवाहिक जीवन को सुखद बनाने में अहम भूमिका अदा करता है।

राशियों से विभिन्न व्यक्तियों का व्यक्तित्व पता चलता है। कई लोग तो इसी के आधार पर दूसरे लोगों से मित्रता का प्रस्ताव आगे बढ़ाते हैं। नौकरी/व्यवसाय में चमकने अथवा नुकसान में भी राशि-ग्रह का योगदान महत्वपूर्ण माना जाता है। ऐसे ही बहुत से कारण हैं, जिनकी वजह से कोई भी व्यक्ति अपनी राशि जानने में बहुत उत्सुक रहता है।

व्यक्ति अपनी राशि क्यों देखना/जानना चाहता है?

कोई भी व्यक्ति अपने भावी जीवन एवं राशि के उस पर प्रभाव जानने के लिए अपनी राशि देखना चाहता है।

भारतीय ज्योतिष में किस राशि को महत्ता प्रदान की गई है?

भारतीय ज्योतिष में चंद्र राशि को महत्ता प्रदान की गई हैै।

पश्चिमी ज्योतिष किस राशि को अधिक अहम दर्जा देता है?

पश्चिमी ज्योतिष सूर्य राशि को अधिक अहम दर्जा देता है।

राशि जानने के लिए क्या जानकारियां आवश्यक हैं?

राशि जानने के लिए व्यक्ति का जन्म का समय, दिनांक, वर्ष एवं जन्म स्थान जैसी जानकारियां आवश्यक होती हैं।

राशि कितने प्रकार से देखी जा सकती है?

नाम के अनुसार तथा जन्म समय के अनुसार व्यक्ति अपनी राशि देख सकता है।

किस राशि के जातक के लिए शुभ रंग एवं शुभ अंक क्या है?

इस संबंध में हमने ऊपर पोस्ट में विस्तार से जानकारी दी है। आप वहां से पढ़ सकते हैं।

व्यक्ति का शरीर कितने तत्वों से निर्मित है?

व्यक्ति का शरीर पंच तत्वों से निर्मित माना जाता है। इन पांच तत्वों में शामिल हैं-पृथ्वी, अग्नि, जल, वायु एवं आकाश।

राशि कितने तत्वों से मिलकर बनती हैं?

राशि चार तत्वों से मिलकर बनती है-पृथ्वी, अग्नि, जल एवं वायु से।

कौन सी राशि किस तत्व से निर्मित हैं?

वृषभ, कन्या एवं मकर पृथ्वी से, मेष, सिंह, धनु अग्नि से, जल से कर्क, वृश्चिक एवं मीन तथा वायु से मिथुन, तुला, कुंभ राशि बनी है।

यदि किसी व्यक्ति के जन्म का दिनांक एवं समय ज्ञात नहीं तो क्या उसकी सही राशि ज्ञात हो पाएगी?

नहीं, ऐसी स्थिति में उसकी सही राशि ज्ञात नहीं हो पाएगी।

क्या नाम से सही राशि देखा जाना संभव है?

यद्यपि माना जाता है कि नाम से सटीक राशि का आकलन नहीं हो पाता। इसके बावजूद इस दावे के कई अपवाद भी सामने आए हैं।

किसी व्यक्ति की राशि से क्या पता चलता है?

किसी व्यक्ति की राशि से उसके गुणों का पता चलता है तथा उसके व्यक्तित्व का अंदाजा लगाने में आसानी हो जाती है।

किसी व्यक्ति की राशि क्या उसकी शारीरिक बनावट एवं गुणों को भी प्रदर्शित करती है?

जी हां, किसी व्यक्ति की राशि से इन सब चीजों का मोटा मोटा अनुमान लगाया जा सकता है।

नाम से राशि कैसे जानी जा सकती है?

नाम के पहले अक्षर अर्थात जिस अक्षर से आपका नाम शुरू हो रहा है, उसके आधार पर नाम से राशि जानी जा सकती है।

हमने इस पोस्ट में आपको अपनी राशि कैसे देखें? Naam Se Rashi Kaise Pta Kare? इस विषय पर विस्तार (details) से जानकारी दी। यदि आप भी अपनी राशि जानने के इच्छुक हैं तो इस लेख से लाभ उठा सकते हैं। यदि आपके मित्रों-परिचितों को भी अपनी राशि जानने में दिलचस्पी है तो इन तमाम जनों के लिए इस पोस्ट को अधिक से अधिक शेयर करें। आपकी कोई भी प्रतिक्रिया हो तो हम तक जरूर पहुंचाएं। धन्यवाद।

——————

Contents show
Spread the love:

Leave a Comment

सुकन्या समृद्धि योजना के नियम अपने बिज़नेस को ऑनलाइन कैसे करे? मुख्यमंत्री गौमाता पोषण योजना फ्लेक्स प्रिंटिंग का बिज़नेस कैसे करें? जिम कैसे खोले? | नया जिम खोलने की लागत, मुनाफा व मशीनें