Mobile Radiation क्या होता है ? और हमारे स्वास्थ्य पर क्या प्रभाव डालता है ?

Hello friends, दोस्तों मोबाइल phone का आज हर कोई उपयोग कर रहा है . मोबाइल ने हमारे जीवन को सरल बना दिया है . मोबाइल से आज हम लगभग हर काम कर सकते है . लेकिन दोस्तों जितना अच्छा मोबाइल हमारे लिए है . उतना ही खतरनाक भी है . अगर हम बात करे मोबाइल के अधिक उपयोग  से होने वाले हानिकारक प्रभावों के बारे में तो  सबसे खतरनाक मोबाइल रेडिएशन (Mobile Radiation) या मोबाइल विकिरण है । शायद आप नहीं जानते होंगे की  मोबाइल रेडिएशन (Mobile Radiation) आपके स्वास्थ्य पर कितना हानिकारक प्रभाव डालते है। आइये आज हम जानते है की हमारे स्वस्थ पर मोबाइल रेडियेशन कैसे प्रभाव डालता है ।

Mobile Radiation

क्या है मोबाइल रेडिएशन(Mobile Radiation ) ?

रेडिएशन या विकिरण हमारे वातावरण में फैली एक ऐसी ऊर्जा है जो तरंगों के रूप में चलती है। इन्हें आप रेडियो तरंगें (radio waves) भी कह सकते हैं । इन तरंगों का निर्माण मानव ने अपने हित के लिए किया है। और साथ ही कुछ प्राकृतिक भी होती है। सूर्य के प्रकाश में भी विकिरण होता है लेकिन हमारे वायुमंडल में ओजोन परत के कारण वह हमें हानि नहीं पहुचा पाता है। इसके अतिरिक्त टीवी का रिमोट, मोबाइल फोन और एक्स रे से भी रेडियेशन या विकिरण उत्पन्न होता है और जिस माइक्रोवेव में आप रसोई में खाना पकाते हैं उसमें भी रेडियो वेव्स से ही से खाना पकता है।

download app

जब आप एक्स रे करवाते  हैं तो यहीं तरगें आपकी हड्डियों को छोडकर आपके शरीर के आर-पार निकल जाती है, अधिक माञा में या अधिक समय तक Mobile Radiation के सम्पर्क में रहने से हमारे शरीर की कोशिकाओं पर बुरा प्रभाव पडता है।

ऐसा नहीं कि रेडशयन हमेशा खतरनाक ही होता है आजकल कैंसर जैसे रोग को ठीक करने के लिए रेडियेशन थेरेपी का प्रयोग किया जाता है, इसमें हाई वोल्टेज किरणों से कैंसर की कोशिकाओं का समाप्त किया जाता है ।

मोबाइल फोन use करते समय शरीर में जाने वाले Mobile Radiation की मात्रा को स्पेसिफिक एब्सार्पशन रेट (SAR) कहते है।

इंडिया में स्पेसिफिक एब्सार्पशन रेट (SAR) के लिये मानक पहले से तय है जिसके अनुसार प्रत्येक मोबाइल फोन का स्पेसिफिक एब्जार्प्शन मतलब SAR रेट 1.6 वॉट प्रति किग्रा से ज्यादा नहीं होना चाहिये अगर यह इससे ज्यादा है तो यह आपके शरीर के लिए नुकसानदेह है। एसएआर वह स्तर होता है, यह बताता है कि हमारा शरीर कितनी मात्रा में रेडिएशन को ग्रहण कर सकता है।

अपने मोबाइल का रेडियशन स्तर यानि स्पेसिफिक एब्सार्पशन रेट (एसएआर) जॉचने के लिये आप *#07# डायल करें, यदि  फोन का SAR वैल्यू  1.6 वॉट प्रति किग्रा (1.6 W/kg) से अधिक है तो तुरंत अपना फोन बदलें। 

तो दोस्तों आपको अपने मोबाइल को use करने के साथ ही अपने स्वास्थ्य का भी ख्याल रखना चाहिए।  यदि आपको ये पोस्ट अच्छी लगे तो अपने दोस्तोके साथ share करे ।

अनूप कुमार वैश्य
अनूप कुमार वैश्य
अनूप कुमार टेक यू हेल्प के संस्थापक हैं। वह मानव व्यवहार और समाज का अध्ययन करने के जुनून के साथ अत्यधिक प्रेरित व्यक्ति हैं। उन्होंने 2015 में कानपुर विश्वविद्यालय से समाजशास्त्र में मास्टर ऑफ आर्ट्स की डिग्री प्राप्त की है। पढ़ाई के दौरान, अनूप कुमार ने सामाजिक संरचनाओं और व्यक्तिगत अनुभवों को आकार देने के तरीकों की गहरी समझ विकसित की।
WordPress List - Subscription Form
Never miss an update!
Be the first to receive the latest blog post directly to your inbox. 🙂

Leave a Comment