मोबाइल ऐप कैसे बनाएं? सबसे आसान और सरल तरीका | Mobile app kaise banaye

|| App kaise banaye | मोबाइल ऐप कैसे बनाएं? | Mobile app kaise banaye | Khud ki app kaise banaye mobile se | App banane me kitna paisa lagta hai | How to make an app in Hind | App banane ka tarika | मोबाइल ऐप बनाने के लिए क्या चाहिए? ||

Mobile app kaise banaye :- एक समय पहले जब लोगों के पास मोबाइल नहीं था और केवल लैपटॉप या कंप्यूटर का ही वे उपयोग किया करते थे तब केवल वेबसाइट का ही बोलबाला हुआ करता था किन्तु समय बदलते देर नहीं लगती है। अब लोग वेबसाइट को जितनी प्राथमिकता देते हैं उतनी ही प्राथमिकता ऐप को भी देते हैं। ऐसा इसलिए क्योंकि इन ऐप को वे अपने मोबाइल में इनस्टॉल करते हैं और इसके माध्यम से उन्हें वेबसाइट से बढ़िया यूजर इंटरफ़ेस मिलता है और कार्यप्रणाली सरल हो जाती (App kaise banaye) है।

यही कारण है कि आज के समय में हर बड़ी कंपनी, इंस्टीट्यूट या व्यवसाय अपनी वेबसाइट के साथ साथ ऐप को भी बना रहा है ताकि लोगों के साथ बेहतर तरीके से संपर्क किया जा सके। ऐसे में यदि आपकी भी कोई वेबसाइट है या आप बिना वेबसाइट के ही किसी नए काम को करने के लिए मोबाइल ऐप को बनाने का सोच रहे हैं तो आज हम आपको इसके बारे में शुरू से लेकर अंत तक संपूर्ण जानकारी देने वाले (Khud ka app kaise banaye) हैं।

आज के इस लेख को पढ़ कर आपको यह जानने में मदद मिलेगी कि किस तरह से आप बिना प्रोग्रामिंग भाषा को जाने मोबाइल ऐप को बना सकते हैं और उसे लोगों तक पहुंचा सकते हैं। इसी के साथ ही इसके लिए आपको क्या कुछ करना होता है और किन किन बातों को ध्यान में रखना होता है यह भी जान लेते हैं। आइये जाने मोबाइल ऐप को बनाने के तरीके के बारे (How to make an app in Hindi) में।

मोबाइल ऐप क्या होती है?

पहले हम बात कर लेते हैं कि यह मोबाइल ऐप होती क्या है और इसको क्यों बनाया जाता है। तो आपके पास यदि स्मार्ट फोन है तो आपने अवश्य ही इस पर तरह तरह की ऐप को इनस्टॉल करके रखा होगा। कुछ ऐप तो पहले ही सिस्टम के द्वारा इनस्टॉल की हुई होती है जिन्हें आप हटा नहीं सकते हैं तो कुछ को आप अपनी पसंद के अनुसार डाउनलोड कर इनस्टॉल करते हैं। अब चाहे वह ऐप सोशल मीडिया की हो, शॉपिंग वेबसाइट की हो या न्यूज़ या पेमेंट वाली, है तो वह ऐप ही।

मोबाइल ऐप कैसे बनाएं सबसे आसान और सरल तरीका Mobile app kaise banaye

तो इन ऐप के माध्यम से आप उस कंपनी की लगभग हर सेवा का इस्तेमाल बिना उनकी वेबसाइट पर जाए कर सकते हैं। इसी के साथ ही आपको ऐप के माध्यम से बेहतर यूजर इंटरफ़ेस देखने को मिलता है जो आपके अनुभव को बेहतर बनाने का ही कार्य करता है। तो मोबाइल ऐप वह होती है जिसे हम प्ले स्टोर से डाउनलोड कर इनस्टॉल करते हैं और वहां मिल रही सुविधाओं का लाभ उठाते हैं। आइये जाने मोबाइल ऐप के बारे में अन्य जानकारी विस्तार से।

मोबाइल ऐप कैसे बनाएं? (Mobile app kaise banaye)

अब जब आपने मोबाइल ऐप के बारे में बेसिक जानकारी ले ली है तो अब बारी आती है मोबाइल ऐप को बनाये जाने की। तो यदि आपको प्रोग्रामिंग लैंग्वेज आती है जैसे कि जावा, एंगुलर जेएस, सी ++ इत्यादि तो आप आसानी के साथ बिना किसी सहायता के मोबाइल ऐप को बना सकते हैं। किन्तु जहाँ तक हमारा अनुमान है, आप मोबाइल ऐप को बनाने के लिए इसलिए ही सर्च कर रहे हैं क्योंकि आपको प्रोग्रामिंग लैंग्वेज नहीं आती होगी। ऐसे में आपको चिंता करने की कोई आवश्यकता नहीं है क्योंकि आपकी हर कदम पर सहायता करने और आपका मार्गदर्शन करने के लिए हम है (Khud ki app kaise banaye mobile se) ना।

ऐसे में यदि आपको प्रोग्रामिंग लैंग्वेज नहीं आती है और फिर भी आप अपनी वेबसाइट के लिए मोबाइल ऐप को बनाने के इच्छुक हैं और इसका समाधान या तरीका नहीं मिल पा रहा है तो चिंता मत कीजिये। वह इसलिए क्योंकि आज हम आपको मोबाइल ऐप बनाने के संपूर्ण तरीके के बारे में विस्तृत जानकारी देने वाले हैं। अब यदि आप किसी भी वेबसाइट से मोबाइल ऐप बनाने के बारे में जानकारी लेंगे तो वह आपको किसी ना किसी वेबसाइट के माध्यम से इसे बनाने को कहेंगे जो सही भी है लेकिन हम ऐसा नहीं (How to make an free app in Hindi) करेंगे।

यहाँ हम यह निर्णय पूर्ण रूप से आप पर छोड़ देते हैं कि आप किस वेबसाइट की सहायता से अपनी मोबाइल ऐप को बनाना चाहते हैं क्योंकि इसका निर्णय लेने का अधकार केवल आपका ही (Free android app kaise banaye) हैं। हालाँकि हम आपको उन चुनिंदा वेबसाइट के नाम अवश्य बता देते हैं जो मोबाइल ऐप को बनाने के लिए प्रसिद्ध है और जिनका उपयोग बहुत से लोगों के द्वारा किया भी जाता है।

  • AppsGeyser
  • Appy Pie App Maker
  • Andromo
  • App My Site
  • Apphive
  • Thunkable
  • Mobiroller
  • Build Fire
  • Mashable
  • App Institute इत्यादि।

तो आपके सामने मोबाइल ऐप को बनाने के लिए एक नहीं बल्कि कई तरह के विकल्प उपलब्ध (App banane wala app) हैं जिनमें से किसी एक विकल्प का इस्तेमाल आप अपनी मोबाइल ऐप को बनाने के लिए कर सकते हैं। हालाँकि इन सभी वेबसाइट के द्वारा अलग अलग तरह की सुविधाएँ दी जाती हैं और कुछ एक वेबसाइट के द्वारा बेहतर विकल्प प्रदान करने के लिए पैसे भी लिए जाते (Apna khud ka app kaise banate hain) हैं। आइये अब हम बात करते हैं इन वेबसाइट की सहायता से आप किस तरह से अपनी वेबसाइट की भी एक बेहतर मोबाइल ऐप बना सकते हैं।

किसी वेबसाइट को चुने और खोलें

सबसे पहले तो आपको ऊपर दी गयी वेबसाइट में से किसी एक वेबसाइट को चुनना होगा और उसे गूगल पर सर्च कर खोलना होगा। इस बात का ध्यान रखें कि आप उस वेबसाइट के फीचर्स तथा प्रदान की जा रही सुविधाओं के बारे में पहले से ही जानकारी ले लें क्योंकि हर किसी के द्वारा तरह तरह की सुविधाओं को प्रदान किया जाता (App banane me kitna paisa lagta hai) है।

कोई प्रोफेशनल ऐप को बनाने के लिए पैसे लेता है तो किसी के द्वारा सिंपल ऐप बनायी जाती है और कोई पैसे नहीं लिए जाते हैं। ऐसे में आपको इन वेबसाइट पर निजी रूप से विजिट कर इनके बारे में जानकारी लेनी चाहिए और इनके रिव्यु भी पढ़ लेने चाहिए। उसके बाद ही आपको उस वेबसाइट का इस्तेमाल अपनी मोबाइल ऐप को बनाने के लिए करना चाहिए।

मोबाइल ऐप की श्रेणी को चुने

अब जब आप एक वेबसाइट को मोबाइल ऐप बनाने के लिए चुन लेते हैं तो उसे खोलते ही आपको वहां पर ऐप बनाये या क्रिएट मोबाइल ऐप को बनाने का विकल्प मिल जाएगा। इस विकल्प पर क्लिक करते ही आपके सामने कई तरह की मोबाइल ऐप की केटेगरी या श्रेणी होंगी। उदाहरण के रूप में कोई शॉपिंग वेबसाइट बनाना चाहता है तो किसी को अपने बिज़नेस या कंपनी से जुड़ी हुई ऐप को बनाना होता (App banane ka tarika) है।

ऐसे में आपको दी गयी केटेगरी में से किसी एक केटेगरी को चुनना होगा और उसी के अनुसार ही आपके लिए आगे के विकल्प निर्धारित होंगे। वह इसलिए क्योंकि आपकी ऐप किस तरह की श्रेणी की होगी, उसी तरह से ही वह वेबसाइट निर्णय लेगी कि आगे क्या किया जाए और क्या नहीं।

वेबसाइट का यूआरएल डालें

अब जब आपने वेबसाइट पर अपने मोबाइल ऐप की केटेगरी को चुन लिया है तो अब बारी आती है वेबसाइट पर यूआरएल को डाले जाने की। अब यह जरुरी नहीं होता है कि इन वेबसाइट से मोबाइल ऐप को बनाने के लिए पहले से ही आपकी वेबसाइट हो क्योंकि बहुत से लोग बिना वेबसाइट के भी अपनी मोबाइल ऐप को बनाने के इच्छुक होते हैं और इसमें किसी तरह की दुविधा भी नहीं है।

वहीं यदि आपकी वेबसाइट पहले से है तो आपके लिए मोबाइल ऐप को बनाना बहुत ही सरल हो जाता है क्योंकि यह आपकी वेबसाइट से सभी तरह की जरुरी जानकारी को लेकर उसे एक ऐप में कन्वर्ट कर देती है। कहने का अर्थ यह हुआ कि जो भी जानकारी आपकी वेबसाइट पर उपलब्ध है, उसे अब आपके द्वारा बनायी गयी मोबाइल ऐप पर भी देखा जा सकता है। तो यदि आपकी वेबसाइट है तो आपको बस उसके होम पेज का यूआरएल इसमें डालना होगा।

अपने क्रेडेंशियल डालें

अब जब आप अपनी वेबसाइट का यूआरएल इस मोबाइल ऐप बनाने वाली वेबसाइट में डाल देंगे तो उसके बाद यह सीधे ही उस वेबसाइट की ऐप को नहीं बनाने लग जाएगा क्योंकि इसके लिए उस पर कानूनी एक्शन लिया जा सकता है। मान लीजिये कि कोई अन्य व्यक्ति इस वेबसाइट को खोलकर आपकी वेबसाइट का यूआरएल डाल देता है तो वह तो आपकी वेबसाइट को पूर्ण रूप से एक ऐप में कन्वर्ट कर देगा और आपके द्वारा किये जा रहे काम को खुद के काम में दिखा देगा।

इसलिए इसके बाद इस वेबसाइट के द्वारा आपसे उस वेबसाइट के लिए इस्तेमाल में लाया जाने वाला अधिकृत यूजर नाम, पासवर्ड इत्यादि के बारे में जानकारी मांगी जाएगी। इस जानकारी को पूरी तरह से सत्यापित करने के बाद ही उस पर आगे बढ़ा जाएगा। इसके लिए आपके अधिकृत मोबाइल नंबर और ईमेल आईडी पर कोड भी आएगा जिसे आपको उस वेबसाइट में दिख रहे बॉक्स में डालना होगा। इसके बाद ही आगे की कार्यवाही जारी की जाएगी।

ऐप को डाउनलोड करें

अब जब आप उस वेबसाइट पर अपनी वेबसाइट का यूआरएल व उसके क्रेडेंशियल भी डाल देते हैं तो अब बारी आती है ऐप का काम शुरू किये जाने की। इसके लिए आपको ज्यादा कुछ नहीं करना है क्योंकि अब जो काम होता है वह इस वेबसाइट का होता है जिसका उपयोग आप अपनी मोबाइल ऐप को बनाने के लिए कर रहे हैं। आपके द्वारा क्रेडेंशियल के डालते ही इस वेबसाइट के द्वारा आपकी वेबसाइट से सभी जरुरी जानकारी को एक एक करके उठा लिया जाएगा।

हालाँकि इस काम में थोड़ा बहुत समय लग सकता है क्योंकि आपकी वेबसाइट किस तरह की है, उस पर कितना कंटेंट डाला गया है, इस पर भी यह निर्भर करता है। जब यह वेबसाइट आपकी वेबसाइट से सारी जानकारी को उठा लेगी तो आपकी मोबाइल ऐप आपके समाने होगी। यदि आप इसमें कुछ परिवर्तन लाना चाहते हैं या इसकी दिखावट में परिवर्तन करना चाहते हैं तो वह आप पर निर्भर करता है।

यह सब हो जाने के बाद आपकी मोबाइल ऐप आपके सामने होगी और उसे डाउनलोड करने का विकल्प भी आपके सामने होगा। जैसे ही आप इसे डाउनलोड करेंगे तो आपकी मोबाइल ऐप आपके सिस्टम पर डाउनलोड हो जाएगी। इसे आप अपने मोबाइल में भेजकर इसे इनस्टॉल कर सकते हैं और इसका इस्तेमाल करके देख सकते हैं। अब आपको इस ऐप को और लोगों तक पहुँचाने के लिए इसे प्ले स्टोर पर डालना होगा।

मोबाइल ऐप को प्ले स्टोर पर डालना (App ko play store me kaise dale)

अपनी मोबाइल ऐप को बना लेना ही पर्याप्त नहीं होता है बल्कि इसे लोगों तक पहुँचाने के लिए उसे गूगल के प्ले स्टोर पर डाला जाना भी बहुत जरुरी होता है क्योंकि इसके बिना कुछ नहीं हो सकता है। कहने का अर्थ यह हुआ कि यदि आप अपनी मोबाइल ऐप को दूसरे लोगों तक पहुंचाकर अपने बिज़नेस को बढ़ाना चाहते हैं तो वह काम गूगल प्ले स्टोर से ही संभव हो पायेगा।

इसके लिए आपको गूगल के प्ले स्टोर पर जाकर वहां पर उन्हें कुछ रुपयों का भुगतान करना होगा जो कि दो से तीन हज़ार रुपये हो सकते हैं। इसके भुगतान करते ही गूगल प्ले स्टोर आपको अपनी मोबाइल ऐप को वहां अपलोड करने का विकल्प दे देगा। अब आपको अपनी मोबाइल ऐप को वहां अपलोड कर देना होगा। उसके बाद गूगल की टीम आपकी ऐप को वेरीफाई करेगी और देखेगी कि यह उनके मापदंडों के अनुरूप है या नहीं या उसका उल्लंघन तो नहीं कर रही है।

जब गूगल की टीम यह पक्का कर लेगी कि आपकी ऐप उपयोग करने योग्य है और किसी नियम का उल्लंघन नहीं कर रही है तो उसे सार्वजनिक रूप से लोगों के इस्तेमाल के लिए पब्लिश कर दिया जाएगा। इसके पश्चात दुनिया में बैठा कोई भी व्यक्ति गूगल प्ले स्टोर पर आपकी ऐप के नाम को लिखकर उसे सर्च कर सकता है और उसे अपने मोबाइल में डाउनलोड कर इनस्टॉल कर सकता है। तो इस तरह से आपकी मोबाइल ऐप दूसरों तक पहुँच जाएगी।

download app

मोबाइल ऐप कैसे बनाएं – Related FAQs

प्रश्न: मोबाइल ऐप बनाने के लिए क्या चाहिए?

उत्तर: मोबाइल ऐप बनाने के लिए अगर प्रोग्रामिंग लैंग्वेज आती है तो आप बहुत आसानी से ऐप बना सकते हो और साथ ही कुछ ऐप हमने मोबाइल ऐप बनाने के लिए ऊपर के लेख में दी है।

प्रश्न: क्या मैं खुद एक ऐप बना सकता हूं?

उत्तर: ऊपर का लेख पढ़ कर आप खुद का ऐप बनाना सीख सकते हो।

प्रश्न: अपना खुद का ऐप बनाने के लिए क्या करना पड़ेगा?

उत्तर: अपना खुद का ऐप बनाने के लिए हमने ऊपर कुछ ऐप बताई है उनमें से किसी एक का उपयोग आपको करना पड़ेगा।

प्रश्न: प्ले स्टोर में ऐप जोड़ने में कितना खर्च आता है?

उत्तर: प्ले स्टोर में ऐप जोड़ने के लिए आपको 2 से 3 हजार खर्च करने पड़ सकते हैं।

तो इस तरह से इस लेख के माध्यम से आपने मोबाइल ऐप बनाने के बारे में संपूर्ण जानकारी प्राप्त कर ली है। आपने जाना कि मोबाइल ऐप क्या होती है मोबाइल एप कैसे बना सकते हैं मोबाइल ऐप बनाने के लिए किस किस ऐप का इस्तेमाल किया जा सकता है और मोबाइल ऐप को प्ले स्टोर पर कैसे डाल सकते हैं इत्यादि। आशा है कि जो जानकारी लेने के लिए आप इस लेख पर आए थे वह आपको मिल गई होगी। यदि कोई प्रश्न आपके मन में मोबाइल ऐप बनाने से रिलेटेड है तो आप हम से नीचे कॉमेंट करके पूछ सकते हैं।

लविश बंसल
लविश बंसल
लविश बंसल वर्ष 2010 में लवली प्रोफेशनल यूनिवर्सिटी में कंप्यूटर साइंस इंजीनियरिंग में प्रवेश लिया और वहां से वर्ष 2014 में बीटेक की डिग्री ली। शुरुआत से ही इन्हें वाद विवाद प्रतियोगिता में भाग लेना या इससे संबंधित क्षेत्रों में भाग लेना अच्छा लगता था। इसलिए ये काफी समय से लेखन कार्य कर रहें हैं। इनके लेख की विशेषता में लेख की योजना बनाना, ग्राफ़िक्स का कंटेंट देखना, विडियो की स्क्रिप्ट लिखना, तरह तरह के विषयों पर लेख लिखना, सोशल मीडिया कंटेंट लिखना इत्यादि शामिल है।
WordPress List - Subscription Form
Never miss an update!
Be the first to receive the latest blog post directly to your inbox. 🙂

Leave a Comment