Maan Haani IPC ACT 499-500 क्या है ? मानहानि केस कब हो सकता है ?

आजकल हम अक्सर अखबारों, न्यूज़ चैनल और इंटरनेट पर मानहानि के बारे में पढ़ते रहते हैं। कि कोर्ट में किसी के खिलाफ Maan Haani IPC ACT 499-500 का केस दर्ज कराया। इस तरह  के अक्सर समाचार हमारे पास आते रहते हैं । लेकिन हममें से बहुत ही कम ऐसे लोग होंगे जिन्हें पता होगा की मानहानि क्या होता है ? और मानहानि का केस कैसे ? और कब दर्ज किया जाता है। यदि आपको भी जानकारी नहीं है । कि मानहानि क्या होता है ? मानहानि के नियम क्या हैं ? मानहानि का केस क्या है ? तो आज हम आपको इस पोस्ट के माध्यम से Maan Haani IPC ACT 499-500 केस के बारे में पूरी जानकारी प्रदान करने जा रहे हैं।

Maan Haani IPC ACT 499-500 kanoon kya hai

Maan Haani IPC ACT 499-500 क्या है –

Maan Haani IPC ACT 499-500 के बारे में जानने से पहले हम मानहानि क्या होता है। इसके बारे जान लेते है। साधारण शब्दो मे कहे तो मानहानि वह प्रभाव है। जब किसी व्यक्ति द्वारा किसी व्यक्ति पर आधार हीन आरोप, आलोचना, और उसके बारे में गलत धारणा बिना किसी पुख्ता सबूत के समाज मे पेश किया जाता है। जिससे प्रभावित व्यक्ति की छवि पर समाज मे बुरा असर पड़ता है। उसकी छवि समाज मे धूमिल होती है। तब प्रभावित व्यक्ति कोर्ट में अपने खिलाफ हो रहे दुष्प्रचार और अपनी छवि को हुए नुकसान की भरपाई करने के लिए केस फाइल करता है । तब हम उसे मानहानि कहते हैं।

बात करें Wikipedia की तो Wikipedia ने शुद्ध हिंदी भाषा में Maan Haani IPC ACT 499-500 को इस प्रकार परिभाषित किया है –

“किसी व्यक्ति, व्यापार, उत्पाद, समूह, सरकार, धर्म या राष्ट्र के प्रतिष्ठा को हानिहुँचाने वाला असत्य कथन मानहानि (Defamation) कहलाता है। अधिकांश न्यायप्रणालियों में मानहानि के विरुद्ध कानूनी कार्यवाही के प्रावधान हैं । ताकि लोग विभिन्न प्रकार की मानहानियाँ तथा आधारहीन आलोचना अच्छी तरह सोच विचार कर ही करें। “

Maan Haani IPC ACT 499-500 के प्रकार –

अक्सर हम मानहानि के बारे में सुनते रहते हैं । बहुत से लोग बिना कुछ सोचे समझे किसी के बारे में कुछ भी बोल देते हैं । और बाद में उनके वही शब्द उनके लिए मुसीबत बन जाते हैं।  समाज में मानहानि को 2 प्रकार से परिभाषित किया गया है।  मानहानि के यह दो प्रकार निम्नलिखित है –

जाति या समुदाय से संबंधित –

जब कोई व्यक्ति किसी व्यक्ति को नीचा दिखाने की मंशा से उसकी जाति, समुदाय और उसके धर्म के बारे में अपशब्दों का उपयोग करता  है।  तब उसे जातिगत या समुदायिक मानहानि की श्रेणी में रखा जाता है । इस श्रेणी के अंतर्गत किसी को जातिगत शब्दो ( जैसे – तुम भंगी हो, चमार हो , शुद्र हो, धानक हो, नीच जाति के हो इत्यादि) का उपयोग करके गाली देना सम्मिलित किया जाता है। साथ ही यदि कोई व्यक्ति किसी को उसके व्यवसाय को लेकर गाली देता है। तो उसे भी इस श्रेणी में सम्मिलित किया जाता है।

ऐसी स्थिति में जिस व्यक्ति या समुदाय के लिए इन अपमानजनक अपशब्दों का उपयोग किया जाता है । वह उस व्यक्ति जिसने ऐसे शब्दों का प्रयोग किया है , के खिलाफ मानहानि का मुकदमा कर सकता है । जिसका साबित होने पर कोर्ट द्वारा ऐसे व्यक्ति को सजा दी जा सकती है।

योग्यता और साख गिराना –

जब कोई व्यक्ति किसी अन्य व्यक्ति की योग्यता उसके ज्ञान अनुभव और तजुर्बे को झूठा साबित करने की कोशिश करता है । तो इस प्रकार के सभी मानहानि के अंतर्गत आते हैं।  इस तरह की केस में कोई व्यक्ति किसी विशेष व्यक्ति के खिलाफ झूठी अफवाह फैलाता है – जैसे वह चोर है , बेईमान है , अपराधी है , इत्यादि।  इसके साथ ही किसी को अपमानित करने के लिए उसे चरित्रहीन, रंडी ,पापी, नाजायज सन्तान और किसी के शारीरिक स्थिति देखकर उसे लगड़ा लूला, बदसूरत, पागल अंधा इत्यादि कहना भी इस श्रेणी में आते है।

तब इससे प्रभावित व्यक्ति उस व्यक्ति जिसने इस तरह से उसकी छवि समाज में धूमिल करने की कोशिश की है।  के खिलाफ Maan Haani IPC ACT 499-500 का मुकदमा कर सकता है । और आरोप साबित होने के पश्चात तो ऐसे व्यक्ति को न्यायालय द्वारा दंडित किया जाता है।

साइबर मानहानि कानून –

आधुनिक युग में जहां लोगों के जीवन जीने का ढंग बदल चुका है।  लोग डिजिटल होते जा रहे हैं।  डिजिटलीकरण के इस युग में अपराध करने के भी तरीके बदल गए हैं । बदले  इस समय में अब  फेसबुक, ट्विटर, यूट्यूब जैसी सोशल साइट पर भी किसी व्यक्ति , समाज या समुदाय के लिए उपयोग किए जा रहे अपशब्दों को अपराध घोषित किया गया है ।

सूचना और प्रौद्योगिकी अधिनियम 2000 की धारा 66 ए के तहत कोई भी व्यक्ति किसी कंप्यूटर, मोबाइल , इंटरनेट की मदद से फेसबुक, ट्विटर,  इंस्टाग्राम और यूट्यूब जैसी अन्य सोशल वेबसाइट पर किसी समाज,  संस्था,  व्यक्ति के खिलाफ उपर्लिखित अपमानजनक शब्दों का उपयोग करता है।  तो उस पर भी Maan Haani IPC ACT 499-500 का केस किया जा सकता है । ऐसी स्थिति में दोषी पाए गए अपराधी को कानून द्वारा निर्धारित की गई 3 वर्ष तक की कैद या जुर्माना या अपराध  की गंभीरता को देखते हुए अपराधी को सजा और जुर्माना दोनों हो सकती है ।

ऐसे तथ्य जो Maan Haani IPC ACT 499-500 के अंतर्गत नहीं आते हैं –

ऐसा नहीं है कि कोई भी व्यक्ति किसी भी व्यक्ति के खिलाफ बिना किसी आधार के मानहानि का केस कर सकता है । बल्कि किसी भी व्यक्ति को किसी अन्य व्यक्ति के खिलाफ Maan Haani IPC ACT 499-500 का केस दायर करने के लिए उसके पास सबूत भी होना आवश्यक है । यदि कोई व्यक्ति किसी व्यक्ति पर Maan Haani IPC ACT 499-500 का झूठा मुकदमा दायर करता है । तो उसके खिलाफ भी हमारे संविधान में सजा का प्रावधान किया गया है । कुछ ऐसे तथ्यों  के बारे में हम यहां पर बता रहे हैं । जिनका उपयोग करना मानहानि के अंतर्गत नहीं आता है वह इस प्रकार है –

  • किसी प्रकार के लड़ाई झगड़े में या सामान्य रूप से किसी व्यक्ति को अभद्र , चिड़चिड़ा , पिछड़ा और अनाड़ी जैसे शब्दों से संबोधित करना मानहानि के अंतर्गत नहीं आता है ।  हालाँकि फिर भी आपके द्वारा  किसी को ऐसे शब्दों से सम्बोधित किये जाने पर दण्डित किये जा सकते है ।
  • कोई व्यक्ति या समाज को किसी अपराधी, चोर और बेईमान व्यक्ति से आगाह करना भी मानहानि के अंतर्गत नहीं शामिल किया गया है ।
  • किसी पुस्तक, फिल्म , नाटक,  व्यक्ति या आदेश की आलोचनात्मक समीक्षा करना भी मानहानि के अंतर्गत नही शामिल किया गया है।
  • यदि किसी ने व्यक्ति पर किसी समाज की भलाई के लिए आरोप लगाए गए हो । तो वह भी मानहानि केश से बच सकता है। हालांकि उसे यह साबित करना होगा, कि उसने यह कार्य समाज की भलाई के लिए किया है।

Maan Haani IPC ACT 499-500 में सजा के प्रावधान –

भारतीय संविधान में मानहानि जैसे अपराध के लिए सजा का प्रावधान किया गया है । इस अपराध के लिए भारतीय कानून में दो धाराएं हैं । जो इसके लिए बनाई गई है । IPC यानी इंडियन पैनल कोर्ट के अनुसार धारा 499 धारा 500 के अनुसार  मानहानि के अपराध में दोषी पाए जाने वाले अपराधी को दंडित किया जाता है ।

भारतीय दंड संहिता की धारा 499 के अंतर्गत दोषी पाए जाने वाले अपराधी को भारतीय न्यायालय द्वारा दंडित किया जाता है । मानहानि के केस में प्रयोग की जाने वाली धाराएं और उनके अनुसार अपराधियों को दंड प्रदान करने की धाराएं कुछ इस प्रकार हैं –

IPC धारा 500 – धारा 500 के अनुसार यदि कोई व्यक्ति किसी दूसरे अन्य व्यक्ति की मानहानि करता है । तो उसे धारा 500 के तहत 2 साल की कैद और आर्थिक जुर्माना दिया जाता है । अपराध की गंभीरता को देखते हुए अपराधी को कैद की सजा और जुर्माना दोनों भी दी जा सकती है । 

IPS धारा 501 – इस धारा के अंतर्गत जब कोई व्यक्ति जानबूझकर किसी व्यक्ति विशेष की मानहानि करता  है । तो उसे धारा 501 के तहत 2 साल की सजा और आर्थिक जुर्माना द्वारा दंडित किया जाता है। या फिर जुर्माना और सजा दोनों दी जाती है ।

IPC धारा 502 – धारा के अंतर्गत जब कोई व्यक्ति किसी को आर्थिक उद्देश्य से  किसी व्यक्ति विशेष की मानहानि करता है । तो उसे धारा 502 के तहत 2 साल कैद की सजा या जुर्माना या सजा और जुर्माना दोनों दंड प्रदान किए जाते हैं ।

IPC धारा 505 – इस धारा के अंतर्गत किसी खबर, रिपोर्ट को इस तरह से पेश करना जिससे भारतीय जल , स्थल , वायु सेना का कोई भी सैनिक और अधिकारी विद्रोह या बगावत करने के लिए तैयार हो जाए । इसके साथ ही कोई भी ऐसी भ्रामक जानकारी जिससे समाज या समुदाय में डर और भय का माहौल उत्पन्न हो जाये । और लोग सरकार के खिलाफ हो जाये । इस दौरान आरोपित व्यक्ति को धारा 505 अंतर्गत 2 साल की कैद या जुर्माना या फिर दोनों सजाएं दी जा सकती है।

मानहानि होने पर मिलने वाला जुर्माना –

यदि किसी व्यक्ति के मानहानि से किसी प्रकार की आर्थिक क्षति पहुंची है। तो वह न्यायालय में मुवावजे के लिए अपील कर सकता है। ऐसी स्थित में पीड़ित व्यक्ति को अपनी हुई आर्थिक क्षति की रकम न्यायालय को लिखित रूप में बतानी होगी । साथ ही उसके साक्ष्य भी प्रस्तुत करने होंगे। जिसके पश्चात न्यायालय पीड़ित व्यक्ति के हुए आर्थिक नुकसान की भरपाई अपराधी से करवाती है।

तो दोस्तों यह थी Maan Haani IPC ACT 499-500  के बारे में कुछ आवश्यक जानकारी। यदि आपको यह जानकारी अच्छी लगे तो अपने दोस्तों के साथ शेयर करे। साथ ही यदि आपका किसी भी प्रकार का सवाल हो तो नीचे कमेंट बॉक्स में कमेंट करें। धन्यवाद।

Spread the love

294 thoughts on “Maan Haani IPC ACT 499-500 क्या है ? मानहानि केस कब हो सकता है ?”

  1. Sir ek ldki n mere bhai par phosco ka case dala hua h wo bh 2 bar bina kisi baat k 2 bar tihar jail mai 15-15 din lgake aya h.. wo ladki ki maa chahti h hum usse paise de.. bhai he h hmare ghr m jo kaam krta h hum bhai k jail jane se hmara sara kaam band hogya jo ki wo ladki chahti thi maa baap mere heart k patients h bhai jail m bnd pada h toh kya hum maan haani ka case dal skte h??

  2. Sir ji.
    Mare sadhi ma na rista Tay hua
    Or na hi koi lan Dan.
    Mujhe bo biyakti fijul ma jhuta
    Aarop laga Raha hai
    Ki mane in logo ko
    Ek lakh cash or kuch saman Diya hai
    Jab ki sab jhut hai
    To mujhe kiya krna chaye
    Or bo mujhe baar bar phone krke
    Parsan kr Raha hai
    Or bolta hai
    Ki dahaj parta lag baounga
    Bo ek advocate hai
    Sir Kiya isne maan Hani ka case ho jayga

  3. Sir kuch din pehhle mere pdos se ek ladki kisi ladke k saath khud bhag gai thi jis ka baad mai pulis ne khulasa bhi kr liya or ladke ko saja b ho gai lekin is case mai ladki k ghr walo ne mujh pe ilzam lagaya tha ki ladki ko mai apnni car mai le k gya or mere phone se baat b hoti thi lekin pulis investigation mai ye sab jhut nikla or lgaye gaye ilzam be bunniyad nikle mujhe or meri wife ko choki k chakkar katne pade meri 5 month ki ladki b hai or 1 hafte tak meri family or mera parivar bhut prbhvit huwa log mere bare mai galat sochne lage lekin jab mera koi haath nahi tha toh unhone mujhe fasane ki kosis ki wo bhi apharan case mai mai ladki walo k khilaf kya karvahi kkaru ki wo age se kisi pe ilazam na lgaue

  4. Respected sir
    मे
    ऐक सैनिक हूँ और कुछ लोगों के द्वारा ऐक सामाजिक wtsp ग्रुप में विना किसी तथ्य के मुझ पर समाज में बिगठन फैलाने, और कई प्रकार के फर्जी और मिथ्या आरोप लगाकर मुझे बेहद अपमानित किया गया है बेहद गंदी और अभद्र गालियो के साथ जान से मारने की धमकी दी गई और षडयंत्र स्वरूप कई प्रकार की बैठक आयोजित कर मुझे और मेरे परिवार को समाज से बहिष्कृत करबाने का प्रयास किया जा रहा है इस संदर्भ में मैने पुलिस अधीक्षक महोदय जिला कलेक्टर महोदय तथा थाना प्रभारी सभी जगह शिकायत कर चुका हूँ लेकिन राजनीति संरक्षण की बजह से उक्त वयक्तियो के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं हो रही है । तथा बाहरी दुनिया से अलग रहने के कारण किसी बकील तथा कानून की जानकारी भी नही है मे बेहद हताश और निराश हो चुका हूँ मेरी आपसे निवेदन है कि मेरी तकलीफ को दृष्टिगत रखते हुए मेरा मार्गदर्शन करें

    मेरा नंबर है
    8650209061wtsp
    7000422771

  5. Sir mere bhabhi ne… Jo ek saal bhi nahi rahi.. Aur humne bina dahej ke shadi ki.. Mere bhai par aur family par false case daala hai. Dahej aur maar pit ka. Unmarried behno ke character ko lekar gande comments kiye hai… Our family is well mannered n well educated… Sisters ki abhi shadi honi hai… Kya sisters maan haani ka dava kar sakti hai?
    Pls guide

    Thanks & regards

  6. Good evening sir meri shadi abhi 10th july 2018 ko hui thi meri sister in law in hamari shadi shuda life me bohut jyada interference kar diya hai and aaj ki situation ye ho gyi hai ki uski wajah se aaj me apne husband se dur hu ab uska husband kehta hai ki meri wife ke baare me kuch bolne ki jarurat nhi hai uski koi galti nhi hai agar bologe toh me mann haani ka case kar dunga or may be kar bhi diya hoga toh isse kaise check kare kya ispar ye case karna chaiyae tha

  7. सर ,
    कल २३ मार्च २०१९ में मुझे दो पुलिस वालों ने बिना किसी कारण के गाजियाबाद बस स्टैंड पर शाम को करीब ७ बजे के आसपास पकड़ा और थाने के अंदर ले जाकर मुझे बहुत प्रताड़ित किया बिना किसी सबूत के आधार पर मुझे परेशान करते रहे, फिर बाद में छोड़ दिया। मैं अपने जीवन में पहली बार थाने में गया वो भी बिना किसी कारण। क्या इस स्थिति में मैं मानहानि का मुकदमा दर्ज कर सकता हूं। परंतु मेरे पास उनके खिलाफ कोई सबूत नहीं है। कृप्या मार्गदर्शन करें।

  8. Sir mera friend Muslim hai unki do wives hai,dusre shadi ko 11saal ho chuka hai 11 Saal se mera friend second wife ke sath rehta hai aur usko hi jyada priority dete the,phir bhi 1 month pahele second wife ne uski husband aur first wife ke nam per marpit karne Ka, dekhbal acha Nahi karta hai aise galth complaint police me darj kiya hai Ye sare ke Sare galath hai kyu ki mai unko 9 saal se pehechanti hu..Ab aap batayeye mere friend ko kya karna Chahiye . Legal step lena Chahiye aur kaise please.

  9. सर मैं रोजगार सहायक सचिव हु जो कि ग्राम पंचायत में हूँ ,मुझे सरपंच ने किसी व्यक्ति से मिलकर लोकायुक्त में झूठा फसबा दिया था और मै कोर्ट से बरी हो गया हूँ तो मुझे सरपंच पर मानहानि का दावा करना है, प्लीज् सर मार्गदर्शन करें दावा होगा की नहीं

  10. Hello sir .kisi relationship me hone ke Doran agr kisi Ko apni photos send ki gyi ho and baad me rista khtm hone pr samne wala un pics Ko online dalne bdnaam krne ki dhmki de or hmari cast Ko lekr and mummy Papa Ko nicha dikhane ki dhmki de or relationship ke Doran apni mrji se kiye gye khrch ke paise hmse mange to hme kya karna chahiye. Baat baat pr cast bdi hone ki dhmki or bdnaam krne ki dhmki ke against kya action liya ja skta h and dhmki ke what’s app msgs as a proof valid honge kya??? please guide .thank you

  11. Sir I am defence persona hu mujhe police mere ghar ayi mujhe aur mere bhai ko utha ke le gyi laut mujhe frzi mukdma laga diya aur mai mukdma se bari ho gya mujhe 21days jail me rakha gya meri salary per month 73000/- hai ki aur govt insurance 50lakh ka haiii to mai police walo per kitne tak manhani ka dava karskata hu?

  12. meri shadi ko 1year 3 month ho gye hai or meri mother in law ki vjh se hum dono me ldai bhi hoti hai itne dino m 5 month mere pati ne mujhse bat ni ki or mene depration ki dwai leni suru kr di fir jan se hun sath me rhe rhe hai lekin hum dono m koi physical relation ni bn rhe or bat bhi ni krta mera phn chin liya kl tho or mere ghar pr bhi ekle me bat ni krne deta or hath bhi uthana bhi suru kr diya hai m kya kr skti hu

  13. सर मेरे मामा की लड़की ने 2011 में एक विद्यालय खोला था जिसमे में अच्छी जिम्मेदारी निभाता था मगर वह विद्यालय एक साल वाद उनसे नही चल सका और उसके बाद मेरी जॉब लग गयी और मेरी सिस्टर की भी उसके बाद 2016 से बह कहने लगी की मेरा पैसा दो तो मैने कहा कि विद्यालय आपने खोला था तो में किस में पैसे दू तो वह कहने लगी की मेने तो तुम्हारी मदद की थी विद्यालय का घाटा तो तुम्हे हुआ मुझे नही में देने लायक होगया तो मैने उनके बिना हिसाब किताब लिखित में बताए 2 लाख लौटाये की मेरी बदनामी न हो मगर आज उन्होंने मेरे घर आकर बहुत बेज्जती की है क्या मानहानि का केस हो सकता है

  14. एक pvt. Company के director ने मेरे को जॉब से निकाल दिया और sallery नहीं दी तो मेरे पास प्रूफ है ऑफिस मे job का तो पुलिस हेल्प नहीं करेगी इसलिए मे सोशल मीडिया पर उसे वायरल करना चाहता हूं ताकि सबको उसका असली रूप पता चले उसने मेरी लाइफ की वाट लगा दी सो अब इंसाफ होगा

  15. Sir
    यदि कोई व्यक्ति मेरी तरक्की को देख कर समाज मे झूटी अफवाह फैला रहा है कि में शराबी हु में गुंडा हु में जॉब नही करता में ओर यदि मेरे पास उसकी कॉल रिकॉर्डिंग है तो क्या में उस पर मान हानि का केस कर सकता हु

  16. Hlo sir.mere grandmother kuch din se bimar the 6th may ko unki death ho gai aur kisi ne 100 number par call kr k complaint krdi ki unko mere parents ne gla daba kr maar diya hai police ne postmadam krwa kiya lekin abi report nhi aai hai.death k time pe 4-5 neighbors pas me hi the.mere parents ne aisa kuch nhi kiya hai.police hume information nhi de rhi hai ki kisne call kr ke ye juthi complaint kri hai.plz aap muje bta sakte ho ki kya legal tarika hai pta krne ka ki kisne call kri hai ta ki vo future me aise person se dur hi rhe. Aur kya mere parents maanhin ka case kr sakte hain? Plz reply me must.

  17. सारे पत्रकार ने मेरे बारे में गलत लिख दिया कि मैंने एक व्यक्ति को लाठी और डंडों से पीटा जबकि में घटनास्थल पर था ही नहीं अपनी दुकान पर था और मेरे खिलाफ थाने में आज तक कोई भी रिपोर्ट दर्ज नहीं है मैं एक बहुत ही सभ्य आदमी हूं
    और एक पत्रकार ने मेरे बारे में फेसबुक पर भी लिखा है तो क्या मैं उन दोनों पत्रकारों पर मानहानि कर सकता हूं

  18. society mai 2 family ke aapas ke zhagade ke wajah se maarpit hoti hai aur un do family ki maarpit-zhagda chudane ke liye society ke log beech mai jate hai. dono family police station mai case karte hai. but 1 family FIR mai jo log zhagda chudane aaye the unka bhi naam add karta hai. abhi wo zhagde ke FIR mai 2 society members atak gaye hai. court kacheri ho gaya hai. ACP ke pas chapter case bhi ho chuka hai.
    Jis family ne un 2 members ka naam FIR mai dala hai un family ne New Paper mai bhi zhooti report chapwai ki wo 2 society members ne bhi lakdi, kaathi, hoky stick se unko mara hai. aur us family ne un 2 society members ke office mai bhi mail dala hai aur FIR ka copy attached karke bheja hai. ki aapke employee pe criminal FIR darj hai.

    society mai cctv installed hone ke karan un dono family ka zhagda record ho chuka hai aur usmai wo 2 society members sirf khade hoke zhagda band karte huwe dikh rahe hai.

    krupaya abhi aap bataye ki wo 2 society members us family pe jisne news paper mai news dala naam ke sath mai aur company mai mail dala, uske uper hum manhani ka dawa kar sakte hai?

    New, Panvel

  19. Meri chachi ne second marriage court me Kiya hai uske bad apni pahli saural me aakar rahne lgi Uske bad vo kahti hai ki mujhe tumhre father ne uske hath bech diya tha jiske sath vo second court marriage kr chuki hai.Mere father ki deth ho gyi lekin ab bhi vo Bechane Ka jhootha aarop badnam Karne ke liye kahti hain .jabki mere pita ji deth mansik roop se disturb inhi aropo ki vajah aur ganv valo ki vajah se mere pita ki bran hamrage se deth hui hai.kyain un pr manihani Ka Leah kr sakta hu.

  20. hello …..
    Mere husband ki death hue he 19/05/19 ko …. mere sasural me abhi me or meri shash he….. hamare bich kuch bat hue thi mere future ko leke ….. uske bad unhone sab ko bolna suru kar diya ki me unse ghar ki mang kar rahi hu…. muje law ke bareme nahi pata he jyada yaha tak mere husband ke account me jo paise he vo bhi mene nikal diye he asi juthi bate sab se kar rahe he…. jab ki mene asa kuch nahi kiya he na hi paise nikale he….. na hi mene jaydat me kuch manga he….. mere pas unke call recordings he jo vo sab ko bol rahehe mere or mere parivar ke bare me….. yaha tak jis ghar me hum rahe rahe he vo bhi apne ristedar ke naam karna chahte he……. muje janna he ki me is me kuch legal action le shakti hu?????

  21. शरीमानमोहदयजसेनीवदनहैहालसुरतमेहूजीमेरातरथहसलभीनमालजीवाजालोल
    मेरेधोकाहूआहैमूजेधमकीदी

    मदेदेकमेपहस

    नीवसथानराजसथानहै’गावलेदरमे

  22. Sir Mai shuru se clever hu sabko pata hai par sir mere pehechan wale kuch ladko ne unki ek adat ladki ke ghar ke bahar roj ki bhid karna aur roj piche piche ghumna ye unki adat unhone Mai ekdam sidha hone par ve sah na sake unhone mujhe chidana aur mere ghar par bhi Bata di ki Mai kisi ladki ke ghar ke bahar jakar khda rahta hu to mujhe mere ghar par bahri vahi ladko ke samne ghar walo ne mara tab se lekar sab mujhe bahut bura mante hai dost tak ghar wale tak mujhe Bura mante hai mera koi Vishwas nahi karta aur mujhe mara to kisi ne ghar walo ne ek sawal tak nahi puchha ki tune sach me Aisa Kiya hai kya mujhe 11salo se kadi mansik pareshaniya is bat Ko lekar dimag me hai Balki Mai to ekdam sidha hu ye unko bhi malum ,aur sir Mai aj tak ek bhi ladki se bat nahi ki.aur sir meri padhai tak jo mujhe karni chahiye thi wo bhi shuru hone pehle se hi na ho saki. Sir Mai in batose bahut itne salo se chintit hu .
    Sir ap meri madat karo mujhe padhna aur achhe se achha job karna hai.

  23. Sir mere patni dwara mere ghrwalo aur mujhe pareshan Kiya jaa rha hai,
    Meri patni kahti hai tere maa baap rishtedaar Abhi Ko chodna hoga tbhi tere saath rahungi,
    Jb Maine Aisa krne se mana Kiya to vo apna saman saath m mera saaaman bhi le gye,
    Aur mere jaane walo m ye faila rhe hai k vo ladka to hinjdaa hai,
    Sir kya m unke khilaaf maanhaani ka case kr skta hu?

  24. Sir mai excise dept.me constable ke post me service kar rha hu,july me ek new Sub inspector ki posting hui hai jis field me meri posting hai wo isi field ka incharge hai.
    Aur jab se wo aaya hai tab se mere work par doubt kar raha hai aur dusre staf ko bhi ye sab bolta btata h uske man me ye doubt hai ki mai field me unlegel paise wasuli krta hu.mujhe ab taq wo khud kabhi nhi bole per dusre co-staf ke madhayam se mujhe sunne ko milta hai
    Aur aaj ki date me wo na mujhe koi work bolte btate na hi field me le jate.jab uski posting hui yha to mere khilaf mere office ka hi senior staf jo head constable k post me hai, iska kaan bhar diya h aur wo ise hi sch man rha hai.jo staf ise mere khilaf bhadkaya h usse meri anban h pichle kuch bato ko leker kuch salo se…
    Ab aisi bato se mera manobal tut sa gya hai aur khud me mai mansik tension mahsus krta hu jisse office work me man nhi lag rha aur kabhi office ja rha hu kabhi nhi ja rha..
    Kuch btaoye sir mai kya kru isme is problem ko kaise shortout karu jabki baki office ke sare stafe nye sir ko mere kaam aur mere nature aur behaviour ke bare me batla chuke h pir bhi wo mujhe galat hi smjh rhe hai…
    Wo apratyaksh roop se mujhe preshan kar rhe hai,mansik tanav de rhe h aur ye sab wo mujhe direct nhi bol rhe isliye mai khud se is matter me sir se bat nhi kar pa rha na bol pa rha hu, dusro se khte bolte hai mere bare me.
    Please,Aap koi salah btaiye

Leave a Comment