लॉकडाउन क्या होता है? लॉकडाउन पीरियड में क्या करें क्या न करें?

लॉकडाउन इन हिंदी – कोरोना वायरस से आज पूरा विश्व प्रभावित है। कई देशों में कोरोना वायरस ने हाहाकार मचा रखा है। कोरोना वायरस की चपेट में आए हुए देश युद्ध स्तर पर कार्य कर रहे हैं। चीन के वुहान शहर से निकलकर आज कोरोना वायरस पूरी दुनिया में कहा बरपा रहा है। जिसके कारण विश्व स्वास्थ्य संगठन ने कोरोनावायरस को महामारी घोषित कर दिया है। कोरोना वायरस से भारत की काफी प्रभावित हुआ है।

भारत में भी लगातार नए-नए मामले कोरोना वायरस के आ रहे हैं। जिसके कारण ही भारत के प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी के आह्वान पर 22 मार्च 2020 को जनता कर्फ्यू का पालन किया गया। साथ ही ऐसे नागरिकों का सम्मान में घंटीयां, तालियां आदि बजाई गई जो संकट की इस स्थिति में भी देश और समाज की सेवा करने में लगे हुए हैं।

Lockdown Meaning in Hindi –

कोरोना वायरस का अभी तक कोई भी इलाज खोजा नहीं जा सका है। जिसके कारण कोरोनावायरस से बचाव ही एकमात्र इलाज है। कोरोना वायरस से बचने के लिए कई देशों में लॉकडाउन किया जा चुका है। और कई देश इस पर विचार कर रहे हैं। भारत में भी कई प्रदेशों में लॉकडाउन का आदेश दिया जा चुका है।

लेकिन लॉकडाउन में भी नागरिक सही तरीके से नियमों का पालन नहीं कर रहे हैं। जिसके परिणाम स्वरूप कई प्रदेश की सरकारों ने कर्फ्यू लगाने का आदेश दिया है। साथ ही केंद्र सरकार एवं सुप्रीम कोर्ट से भी प्रदेश सरकारों को आदेश दिया गया है। कि वह नागरिकों से कड़ाई से Lockdown का पालन करवाएं।

जब से केंद्र और राज्य सरकार द्वारा Lockdown का आदेश दिया गया है। तब से देश के नागरिकों के मन में कुछ सवाल घूम रहे हैं। जैसे लॉकडाउन क्या होता है? लॉकडाउन पीरियड में क्या करना चाहिए? क्या नहीं करना चाहिए? और लॉकडाउन में किन-किन चीजों की छूट रहती है? तो आपको परेशान होने की जरूरत नहीं है। आपको इस आर्टिकल में आपके सभी सवालों का जवाब मिल जाएगा।

लॉकडाउन क्या होता है?

लॉकडाउन क्या होता है? लॉकडाउन पीरियड में क्या करें क्या न करें?

सबसे पहले बात करते हैं। लॉकडाउन क्या होता है? बात करें लॉकडाउन की तो यह एक ऐसी इमरजेंसी व्यवस्था होती है। जिसमें जिन क्षेत्रों में आदेश किया जाता है। उस क्षेत्र के लोगों को घरों से निकलने की अनुमति नहीं होती है। हालांकि जीवन के लिए जरूरी कुछ आवश्यक वस्तुओं के लिए बाहर निकलने की अनुमति होती है। लेकिन बिना वजह आप घर से बाहर नहीं निकल सकते हैं।

यदि किसी को दवा या अनाज की जरूरत है। तो वह बाहर जा सकता है। साथ ही अस्पताल, बैंक आदि में काम करने की भी अनुमति मिल सकती है। छोटे बच्चों और बुजुर्गों की देखभाल का काम करने के लिए भी बाहर निकलने की अनुमति होती है। साथ ही खाद्यान्न, मेडिकल और सब्जी आदि की दुकान खोलने की भी अनुमति होती है।

लॉकडाउन कब और क्यों किया जाता है?

लॉकडाउन क्या होता है? के बारे में जानने के पश्चात आपके मन में यह सवाल जरूर उत्पन्न होगा। कि आखिर क्यों सरकार को Lockdown करने की जरूरत पड़ती है। अथवा सरकार लॉकडाउन क्यों करती है? Lockdown किसी राष्ट्र द्वारा अपने राज्य के नागरिकों को किसी तरह के खतरे से बचाने के लिए किया जाता है। जैसे मौजूदा समय में कोरोना वायरस के संक्रमण से कई देशों में लॉकडाउन किया गया है। इसका मुख्य उद्देश्य यह संक्रमण एक से दूसरे इंसान में ना फैले।

जब लोग घरों से कम बाहर निकलेंगे तब संक्रमण फैलने का खतरा भी बहुत कम होगा। बाहर निकलने से कोरोना संक्रमण फ़ैलने का खतरा बढ़ जाता है। इसलिए लगभग सभी राष्ट्रों द्वारा लॉकडाउन न किया जा रहा है।

कौन-कौन से देशों में Lockdown किया गया है?

अगला सवाल यह है। कि मौजूदा समय में कौन-कौन से देशों में लॉकडाउन लागू किया गया है। तो आपकी जानकारी के लिए बता दें कि मौजूदा समय में कोरोना वायरस के संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए विश्व के कई देशों में लॉकडाउन लागू किया जा चुका है। और कई देश Lockdown करने के लिए विचार कर रहे हैं। इस समय डेनमार्क, फ्रांस, आयरलैंड, इटली, न्यूजीलैंड, पोलैंड, स्पेन और भारत आदि देशों में लॉकडाउन किया जा चुका है। और अन्य देश भी इस पर विचार कर रहे हैं।

कब-कब लॉकडाउन हुआ है?

यह पहला मामला नहीं है। जब किसी देश में Lockdown किया गया है। पहले भी कई ऐसी परिस्थितियां उत्पन्न हुई है। जब अलग-अलग देशों को अपने राष्ट्र में अथवा किसी विशेष शहर में लॉकडाउन न करना पड़ा। 9/11 के आतंकी हमले के बाद अमेरिका में 3 दिन के लिए Lockdown किया गया था।

इसी प्रकार 2015 में न्यू साउथ वेल्स पुलिस फोर्स ने भी दंगा रोकने के लिए लॉकडाउन जैसा कठोर कदम उठाया था। इसी तरह 19 अप्रैल 2013 को बोस्टन शहर में भी आतंकवादियों की खोज के लिए लागू किया गया था। इसके साथ ही पेरिस हमले के बाद संदिग्ध लोगों को पकड़ने के लिए भी नवंबर 2015 में लॉकडाउन किया गया था।

लॉकडाउन में क्या करें क्या ना करें?

यदि आपके क्षेत्र में भी सरकार द्वारा लॉकडाउन की घोषणा की गई है। तो आप सरकार के द्वारा दिए गए आदेश का पूरी ईमानदारी के साथ पालन करें। बिना किसी वजह के घर के बाहर ना निकले। जब जरूरत हो तब ही घर से निकले। यदि आप सरकार द्वारा दिए गए आदेशों का उल्लंघन करते हैं। अथवा जानबूझकर नियमों को तोड़ते हैं। तो सरकार लाल के खिलाफ कानूनी कार्रवाई भी कर सकती है। साथ ही आपको जेल की सजा भी काटनी पड़ सकती है।

तो दोस्तों यह थी लॉकडाउन क्या होता है? लॉकडाउन पीरियड में क्या करें क्या न करें? के बारे में आवश्यक जानकारी। यदि आपको क्या जानकारी अच्छी लगे तो अपने दोस्तों के साथ शेयर करना ना भूले। साथ ही यदि आपका किसी भी प्रकार का कोई सवाल हो तो नीचे कमेंट में कमेंट करें।। धन्यवाद।।

Spread the love

Leave a Comment