Lockdown Me Shadi Ki Permission Kaise Le, ऐसे ले शादी की परमिशन

इस समय कोरोना काल चल रहा है। और देश के तकरीबन हर राज्य में कर्फ्यू या लॉकडाउन लगा हुआ है। सार्वजनिक समारोह और शादियों वगैरह में भी लोगों की मौजूदगी पर संख्या को लेकर प्रतिबंध लगाया गया है। कहीं यह संख्या 50 निर्धारित की गई है तो कहीं 25। शादी करने से पहले प्रशासन की अनुमति भी आवश्यक है। आज इस पोस्ट में हम आपको बताएंगे कि आप लाकडाउन के दौरान शादी के लिए अनुमति कैसे ले सकते हैं। आइए, शुरू करते हैं-

कहीं आनलाइन तो कहीं आफलाइन व्यवस्था

दोस्तों, आपको बता दें कि हर राज्य में कोरोना कर्फ्यू कहिए या लाकडाउन, के दौरान शादी के लिए परमिशन की अलग-अलग व्यवस्था है। उत्तराखंड और हिमाचल में ऑनलाइन भी परमिशन ली जा सकती है। लेकिन अधिकांश स्थानों पर तहसीलदार के पास जाकर ही विवाह संबंधी अनुमति हासिल की जा सकती है।

Lockdown Me Shadi Ki Permission Kaise Le, ऐसे ले शादी की परमिशन

शादी समारोह के लिए निर्धारित कोविड गाइडलाइन

दोस्तों, आपको बता दें कि अधिकांश स्थानों पर शादी समारोह के दौरान कोविड-19 गाइडलाइन का पालन करना अनिवार्य किया गया है। इसी के तहत शादी में शामिल होने वाले लोगों की संख्या पर भी प्रतिबंध लगाया गया है। किसी स्थान पर 25 तो किसी स्थान पर 50 लोगों को शादी में शामिल होने की परमिशन दी गई है।

जैसे उत्तराखंड में केवल 25 लोग शादी में शामिल हो सकते हैं तो इसी तरह हिमाचल प्रदेश में केवल 20 लोग ही शादी में शामिल हो सकते हैं। उत्तर प्रदेश में केवल 30 लोगों के शादी में शामिल होने का प्रावधान किया गया है। यदि हिमाचल की बात करें तो इसके लिए एक सामान्य गाइडलाइन इस प्रकार से है-

  • अधिकतम 20 व्यक्तियों को विवाह कार्यों में शामिल होने की अनुमति दी जाएगी।
  • समारोह समाप्त होने तक आयोजकों सहित विवाह में शामिल होने वाले व्यक्तियों की कुल संख्या, किसी भी मामले में 20 से अधिक नहीं होगी।
  • किसी भी स्थिति में विवाह समारोह एक दिन से अधिक नहीं होगा।
  • डीजे का उपयोग करने की अनुमति नहीं होगी।
  • धाम या सामुदायिक रसोई के आयोजन पर पूर्ण प्रतिबंध होगा।
  • स्थानीय प्रशासन आयोजकों को अनुमति देते समय COVID-19 के प्रसार को नियंत्रित करने के लिए अतिरिक्त शर्तें लगा सकता है।
  • इन निर्देशों का उल्लंघन करने वाले किसी भी व्यक्ति के खिलाफ COVID-19 सुरक्षा उपाय आईपीसी की धारा 188 के तहत और आपदा प्रबंधन अधिनियम, 2005 की धारा 51-60 के प्रावधानों के अनुसार कानूनी कार्रवाई की जाएगी ।

लाकडाउन के दौरान शादी के लिए आनलाइन परमिशन ऐसे लें

Time needed: 20 minutes.

दोस्तों, अब हम आपको बताएंगे कि आप शादी के लिए आनलाइन परमिशन कैसे ले सकते हैं। हिमाचल प्रदेश का उदाहरण देख सकते हैं। यहां लाकडाउन के दौरान शादी की आनलाइन इजाजत लेने के लिए आपको निचे बताये जा रहे स्टेप्स फॉलो करना होगा –

  1. सबसे पहले covid.hp.gov.in पर जाएं। आपके सामने event registration portal खुल जाएगा।

  2. यहां आपको type of event के drop down menu में marriage के विकल्प को चुनना होगा। इसके बाद आपको समारोह अटैंड करने वाले लोगों की लिस्ट अपलोड करनी होगी।Lockdown Me Shadi Ki Permission Kaise Le, ऐसे ले शादी की परमिशन

  3. इतना करने के साथ ही पूछी गई अन्य जानकारी जैसे आयोजन स्थल, कार्यक्रम का प्रकार, आयोजन तिथि, आवेदक का नाम, संबंधित व्यक्ति (जिसकी शादी है) से संबंध, आवेदक का पता, मोबाइल नंबर, संबंधित पुलिस थाना आदि की जानकारी भरकर आवश्यक दस्तावेज जैसे-आधार कार्ड की कापी, निवास प्रमाण पत्र, शादी का कार्ड आदि अपलोड करने होंगे।

  4. इसके पश्चात निर्धारित बाक्स में कैप्चा कोड (captcha code) भरना होगा।

  5. इसके बाद आपको इस बात का declaration देखने को मिलेगा कि आपने सारा विवरण अपनी जानकारी के अनुसार सत्य दिया है। आपने राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण हिमाचल के सभी निर्देशों को ध्यान से पढ़ा है और आप इसका पालन करेंगे। ऐसा न करने पर कानून के तहत सजा के लिए उत्तरदायी होंगे।

  6. declaration के नीचे दिए box में आपको click करना होगा। इसके बाद नीचे दिख रहे register के option पर click कर दें।

  7. इसके तरह से शादी की permission के लिए आपका आवेदन जमा हो जाएगा। इसके पश्चात अनुमति संबंधी मैसेज दिए गए मोबाइल नंबर पर आ जाएगा। इसके अलावा इसे डाउनलोड भी किया जा सकता है।

शादी की permission को दिए आवेदन का status ऐसे चेक करें

  • आपको इसके लिए सबसे पहले covid.hp.gov.in पर जाना होगा।
  • यहां होम पेज पर epass status check का option मिलेगा।
  • इसमें आपको आयोजन का प्रकार drop down menu में marriage का विकल्प चुनना होगा।
  • इसके ठीक नीचे box में अपना मोबाइल नंबर डालकर search के option पर click करना होगा।
  • आपके आवेदन का status आपके सामने आ जाएगा।

शादी की इजाजत को यह दस्तावेज लगाने होंगे-

दोस्तों, आपको बता दें कि कोरोना कर्फ्यू के दौरान शादी की इजाजत लेने के लिए चाहे आनलाइन आवेदन करें या फिर आफलाइन। इसके लिए जिन दस्तावेजों की जरूरत है, उनमें शादी का निमंत्रण पत्र और आधार कार्ड सबसे अहम हैं। एक नज़र में देखें तो शादी की इजाजत के लिए इन दस्तावेजों की आवश्यकता है-

  1. शादी का कार्ड
  2. लड़के लड़की के साथ ही उनके मां-बाप का आधार कार्ड।
  3. आवेदक के निवास का प्रमाण।
  4. आवेदक का मोबाइल नंबर।
  5. शादी में शामिल होने वाले मेहमानों की सूची।
  6. कोरोना गाइड लाइन का पालन करने संबंधी उद्घोषणा पत्र।

साथियों, आपको बता दें कि यदि आप अन्य राज्यों में जहां यह सुविधा आनलाइन प्रदान की जा रही है, अनुमति लेना चाहते हैं तो उसके लिए आपको संबंधित राज्य की वेबसाइट पर जाना होगा।

शादी के लिए आफलाइन इजाजत इस तरह लें

  • सबसे पहले आपको संबंधित कलेक्ट्रेट या तहसील में जाना होगा।
  • यहां तहसील कार्यालय में आपको अनुमति के लिए आवेदन पत्र देना होगा। इसमें विवाह संबंधी ब्योरा जैसे शादी की तारीख, आयोजन स्थल, आवेदक के मोबाइल नंबर, घर के पते, थाना क्षेत्र के साथ ही मेहमानों की संख्या का उल्लेख करना होगा।
  • आवेदन पत्र के साथ ही निमंत्रण पत्र, आधार कार्ड की कापी जैसे आवश्यक दस्तावेज संलग्न करने होंगे।
  • मेहमानों की लिस्ट सौंपनी होगी।
  • कोविड गाइडलाइन का पूरी तरह से पालन करने संबंधी उद्घोषणा पत्र देना होगा।
  • इस तरह दस्तावेजों की जांच के उपरांत आपको शादी की इजाजत मिल जाएगी।

कोरोना काल में बहुत लोगों ने टाल दी शादी

दोस्तों, आपको बता दें कि 2021 में कोरोना की दूसरी लहर के विकराल होने के साथ ही बहुत से लोगों में अपनी शादी आगामी दिनों के लिए टाल दी है। हालांकि कुछ लोग ऐसे भी हैं, जिनकी शादी 2020 में भी टल चुकी थी और वह इस बार शादी नहीं टालना चाहते, क्योंकि उन्हें अंदेशा है कि आने वाले दिनों में स्थितियां शायद और प्रतिकूल हों।

यहां इस बात का जिक्र करना भी अतिशयोक्ति नहीं होगा कि विभिन्न शादियों के टाले जाने से मैरिज हाउस संचालकों के साथ ही ज्वेलर्स, हलवाई आदि को बड़ी संख्या में नुकसान पहुंचा है। लाखों के आर्डर शहर दर शहर कैंसिल हुए हैं।

मेहमानों की संख्या सीमित होने से एनिवर्सरी पर सबको न्योतने के मंसूबे

कोरोना को लेकर कोई भी कुछ मजबूत रूप से कह पाने की स्थिति में नहीं है। वैज्ञानिकों ने हाल ही में कोरोना की तीसरी लहर भी आने की चेतावनी दी है। लिहाजा आने वाले दिनों को लेकर लोगों में बहुत भरोसा उत्पन्न नहीं हो पाया है। लोगों ने इस साल होने वाले कई जरूरी उत्सव भी इसी वजह से रोक दिए हैं कि जब समय थोड़ा अनुकूल होगा तो वे इसे अच्छे से सेलिब्रेट करेंगे। ढेरों मां-बाप ऐसे हैं, जिन्होंने अपने बच्चों की शादी के लिए बड़े अरमान संजोए थे।

लेकिन मेहमानों की संख्या सीमित होने की वजह से उनके अरमानों पर पानी फिर गया। अब वे लोग शादी की एनिवर्सरी पर तमाम मेहमानों को बुलाकर पार्टी करने के मंसूबे पाल रहे हैं। बहुत से परिवार तो ऐसे भी हैं, जिनमें घरातियों की संख्या ही मेहमानों की संख्या से ज्यादा हुई जा रही है।

ऐसे लोग अपने रिश्तेदारों में चुन चुन कर अपने बेहद करीबियों को शादी समारोह में आमंत्रित कर रहे हैं। बाकियों को बाद में बुलावे का भरोसा दिया जा रहा है और कोरोना पर सारा दोष मढ़ते हुए अपनी मजबूरी जताई जा रही है।

केवल शादी ही नहीं हर समारोह पर पड़ा असर

साथियों, आप जानते ही हैं कि कई लोग अपने बर्थडे, एनिवर्सरी बड़े पैमाने पर सेलिब्रेट करते हैं। ऐसे में कोरोना का असर केवल शादी समारोह पर ही नहीं, इस तरह के समारोहों पर भी पड़ा है। कई लोगों ने अपने बर्थडे बेहद साधारण तरीके से घर में ही परिवार के बीच सेलिब्रेट किए।

उन्होंने तमाम बड़े आयोजन और पार्टियों को रद्द कर दिया। इसी तरह कुछ लोग अपनी कोरोना नेगेटिव रिपोर्ट लेकर ऐसी जगह पर निकल लिए, जहां पर कोरोना का असर कम है। उन्हें भी आने वाले अच्छे समय का इंतजार है। कई अरबपति ऐसे विकट समय में देश छोड़कर विदेश चले गए हैं।

सेलिब्रिटीज के साथ ही सोशल मीडिया बना सहारा

मित्रों, कई सेलिब्रिटीज ऐसे भी हैं, जो इस विकट समय में लोगों की मदद के लिए आगे आए हैं। सोनू सूद, जॉन अब्राहम, सलमान खान आदि का नाम उसी कैटेगरी में रखा जा सकता है। सोनू तो कोरोना काल में पिछले साल भी लोगों की मदद कर पूरी दुनिया में वाहवाही बटोर चुके हैं। वही, जॉन अब्राहम ने लोगों को ब्लड प्लाजमा मुहैया कराने की मुहिम चलाई है। जबकि सलमान खान ने कई लोगों को खाना मुहैया कराने का काम किया है। इस कोरोना काल में एक बार जरूर अच्छी निकल कर सामने आई है कि लोगों ने सोशल मीडिया के जरिए एक दूसरे की भरपूर मदद की है।

क्या सभी राज्यों में लाकडाउन के दौरान शादी के लिए आनलाइन अनुमति की व्यवस्था है?

जी नहीं, यह व्यवस्था सभी राज्यों में नहीं। अधिकांश स्थानों पर आफलाइन व्यवस्था है।

क्या सभी स्थानों पर सोशल डिस्टेंसिंग का पालन अनिवार्य है?

जी हां, सभी स्थानों पर समारोह के दौरान कोविड गाइडलाइन का पालन आवश्यक है। ये भी इसी गाइडलाइन का हिस्सा है।

विभिन्न राज्यों में शादी समारोह में कितने लोग शामिल हो सकते हैं?

यहां संख्या विभिन्न राज्यों में अलग-अलग निर्धारित की गई है। उत्तर प्रदेश में 30, उत्तराखंड में 25, हिमाचल में 20 लोग ही ऐसे समारोह में हिस्सा ले सकते हैं। इसी प्रकार अन्य राज्यों में मेहमानों की संख्या को सीमित किया गया है।

क्या लाकडाउन में विवाह की अनुमति को शादी का कार्ड दिखाना आवश्यक है?

जी हां, लाकडाउन में शादी की इजाजत को यह एक महत्वपूर्ण दस्तावेज है।

क्या शादी से जुड़ी कोविड गाइडलाइन में बदलाव संभव है?

जी हां, इस गाइडलाइन का निर्धारण विभिन्न राज्यों में सरकारें अपने यहां की स्थिति के अनुसार करती हैं।

दोस्तों, यह थी लॉकडाउन के दौरान शादी की परमिशन लेने संबंधी जानकारी। उम्मीद है कि यह जानकारी आपके लिए उपयोगी सिद्ध होगी। यदि आप ऐसे ही किसी जनहित से जुड़े विषय पर हमसे और जानकारी चाहते हैं तो उसके लिए हमें नीचे दिए गए कमेंट बॉक्स में कमेंट कर सकते हैं। हमारा पूरा प्रयास रहेगा कि आपको वह जानकारी प्रदान कर सकें। ।।धन्यवाद।।

Spread the love

Leave a Comment