किसान विकास पत्र / Kisan Vikas Patra 2018 (KVP​) क्या है ? ब्याज दर व खाता नियम की पूरी जानकारी

भारत के नागरिकों के लिए चलाई जाने वाली लघु बचत योजनाओं में से किसान विकास पत्र / Kisan Vikas Patra (KVP​) एक महत्वपूर्ण योजना है | इस योजना के अंतर्गत उच्च ब्याज दर का लाभ प्राप्त किया जा सकता है | इसलिए निवेश के क्षेत्र में यह एक महत्वपूर्ण योजना मानी जाती हैं | किसान विकास पत्र / Kisan Vikas Patra (KVP​) की शुरुआत वर्ष 1998 में की गई थी | लेकिन कुछ कारणों वश 2011 में सरकार ने इस योजना पर रोक लगा दी थी | जिसके पश्चात इस योजना का लाभ सरकार द्वारा प्रदान नहीं किया जा रहा था | लेकिन कुछ वर्षों बाद 2014 में इसे फिर से पूर्ण रुप से लागू कर दिया गया है | जिसका लाभ कोई भी नागरिक प्राप्त कर सकता है |

किसान विकास पत्र / Kisan Vikas Patra (KVP​) क्या है ? ब्याज दर व खाता नियम की पूरी जानकारी

यह योजना खासतौर पर देश के ग्रामीण और छोटे टाउन एरिया में रहने वाले लोगों के लिए लाभदायक है |  यदि आप भी किसान विकास पत्र / Kisan Vikas Patra (KVP​) के बारे में जानकारी प्राप्त करना चाहते हैं | किसान विकास पत्र  में निवेश करने की प्लानिंग कर रहे हैं | तो आज हम आपको इस आर्टिकल के माध्यम से किसान विकास पत्र / Kisan Vikas Patra (KVP​) के बारे में पूरी जानकारी प्रदान करेंगे | आपको यह जानकारी कहीं ना कहीं लाभ जरूर पहुंचाएगी |

किसान विकास पत्र / Kisan Vikas Patra 2018 (KVP​) क्या है –

किसान विकास पत्र / Kisan Vikas Patra (KVP​) के बारे में जानकारी प्राप्त करने से पहले हमें यह जानना बेहद आवश्यक है | कि किसान विकास पत्र आखिर होता क्या है | साधारण भाषा में बात करें तो किसान विकास पत्र एक प्रकार का सरकारी बांड है | जो कि अन्य निवेश पत्रों की तरह ही होता है | आप  इन प्रमाणपत्रों  की कीमत अदा करके अपने पैसे गवर्नमेंट के पास जमा कर सकते हैं | आप जितना पैसा  इन प्रमाण पत्रों में के द्वारा सरकार के पास जमा करते हैं | उस से 2 गुना पैसा एक निर्धारित अवधि के बाद गवर्नमेंट आपको वापस कर देती है |

इस समय सरकार द्वारा किसान विकास पत्र 1000 , 5000 , 10000 और ₹50000 की कीमत के उपलब्ध हैं | आप अपने निवेश की क्षमता और सुविधा के अनुसार किसी भी कीमत का किसान विकास पत्र खरीद सकते हैं | इस योजना के अंतर्गत आप कम से कम ₹1000 का निवेश कर सकते हैं | और जैसे ही आप इस अवधि को पूरा करते हैं | आप की धनराशि दोगुना हो जाती है |

किसान विकास पत्र / Kisan Vikas Patra (KVP​) की सबसे बड़ी खासियत यह है | कि आप किसान विकास पत्र 18 वर्ष से कम आयु के बच्चों के लिए भी खरीद सकते हैं | जिससे आप अपने बच्चे के भविष्य को सुरक्षित कर सकते हैं | सरकार की इस योजना के आधार पर देश के विभिन्न बैंक और डाक घरों से किसान विकास पत्र खरीदे जा सकते हैं | 1 अप्रैल 2016 से नेशनल सेविंग सर्टिफिकेट और किसान पत्र किसान विकास पत्र इलेक्ट्रॉनिक्स फार्म के रूप में भी खरीदे जा सकते हैं | इसके पहले आप सिर्फ छपे हुए प्रमाण पत्र के रूप में ही इसे खरीद सकते थे | हालांकि अभी तक बहुत से ऐसे बैंक अथवा पोस्ट ऑफिस है | जो कोर बैंकिंग से जुड़े नहीं हैं | उन्हें अभी भी छपे हुए प्रमाण पत्र जारी करने की छूट दी गई है |

Kisan Vikas Patra / किसान विकास पत्र के प्रकार  –

भारत सरकार द्वारा नागरिकों की सुविधा के लिए तीन प्रकार के किसान विकास पत्र / Kisan Vikas Patra (KVP​) तैयार किए गए हैं | जो कि इस प्रकार हैं  –

एकल किसान विकासपत्र / Single Holder Type Certificate (KVP​) –

एकल किसान विकास पत्र किसी वयस्क व्यक्ति की ओर से अपने स्वयं के लिए खरीदा जा सकता है | अथवा वह व्यक्ति किसी अवयस्क व्यक्ति के लिए भी खरीद सकता है | मैच्योरिटी पर इसकी कीमत किसान विकास पत्र धारक को मिलती है | मैच्योरिटी के पहले यदि किसान विकास पत्र धारक की मृत्यु हो जाती है | तो कानूनी तौर पर उसके उत्तराधिकारी को इसका लाभ प्रदान किया जाता है |

ज्वाइंट-ए टाइप किसान विकासपत्र / Joint A Type Kisan Vikas Patra (KVP​) –

जॉइंट टाईप किसान विकास पत्र किसी दो वयस्क व्यक्तियों द्वारा संयुक्त रुप से खरीदा जा सकता है | मैच्योरिटी पर इसकी कीमत किसान विकास पत्र धारक दोनों व्यक्तियों को बराबर – बराबर प्रदान की जाती है | यदि किसी एक धारक की मृत्यु हो जाती है | तो उसके हिस्से की धनराशि को दूसरे जीवित धारक को ट्रांसफर कर दी जाती है |

ज्वाइंट-बी टाइप किसान विकासपत्र / Joint B Type Kisan Vikas Patra (KVP​)  –

ज्वाइंट-बी टाइप किसान विकास पत्र भी दो वयस्क व्यक्तियों द्वारा संयुक्त रुप से खरीदा जा सकता है | लेकिन इस विकास पत्र का लाभ मैच्योरिटी के बाद मुख्य किसान विकास पत्र धारक को ही प्रदान किया जाता है | मुख्य किसान विकास पत्र धारक कौन होगा | यह किसान विकास पत्र खरीदते समय ही तय कर दिया जाता है | मुख्य किसान विकास पत्र धारक के ना रहने की स्थिति दूसरे धारक को पैसा मिल सकता है |

किसान विकास पत्र के लिए आवश्यक योग्यता मापदंड  –

किसान विकास पत्र कितनी धनराशि में प्राप्त किया जा सकता है –

किसान विकास पत्र ₹1000 से लेकर ₹50000 तक के खरीदे जा सकते हैं | कोई भी लाभार्थी अपनी सुविधानुसार 1000 , 10000 , 5000 , ₹50000 तक के किसान विकास पत्र खरीद सकता है |

क्या किसान विकास पत्र से हम मूलधन निकाल सकते हैं  –

किसान विकास पत्र / Kisan Vikas Patra (KVP​) के अंतर्गत एक निर्धारित समय के पश्चात आप मूलधन निकाल सकते हैं | किसान विकास पत्र खरीदने की डेट से लेकर 2.30 वर्षों तक आप पैसे नहीं निकाल सकते हैं | 2.30 वर्षों के पश्चात आप अपना मूल धन का पैसा निकाल सकते हैं | हालांकि मूल धन निकाल लेने के बाद आपके ब्याज दर में कमी जरूर आएगी |

किसान विकास पत्र / Kisan Vikas Patra (KVP​) खरीदने के लिए आवश्यक दस्तावेज  –

किसान विकास पत्र खरीदने के लिए आपको कुछ आवश्यक दस्तावेजों की भी जरूरत पड़ती है | जिनका उपयोग करके ही हम इसे खरीद सकते हैं |

  • दो पासपोर्ट साइज फोटो
  • पहचान प्रमाण पत्र जैसे – राशन कार्ड , वोटर ID कार्ड , पासपोर्ट , ड्राइविंग लाइसेंस आदि |
  • पते का प्रमाण पत्र जैसे  – बिजली बिल , टेलीफोन बिल , बैंक पासबुक , आधार कार्ड आदि |
  • यदि आप ₹50000 से अधिक निवेश करने की सोच रहे हैं | तो ऐसी स्थिति में आप को अनिवार्य रूप से पैनकार्ड प्रदान करना होगा |

किसान विकास पत्र / Kisan Vikas Patra (KVP​) के लाभ  –

किसान विकास पत्र पत्र के लाभ कुछ इस प्रकार हैं  –

  • किसान विकास पत्र की वर्तमान ब्याज दर 8.70% है |
  • 100 महीने के पश्चात आपके किसान विकास पत्र में इन्वेस्ट की गई धनराशि दोगुनी हो जाएगी |
  • आप अपना किसान विकास पत्र किसी अन्य व्यक्ति को भी ट्रांसफर कर सकते हैं |
  • किसान विकास पत्र आप 1000 , 5000 , 10000 और ₹50000 तक के खरीद सकते हैं |
  • किसान विकास पत्र एक सरकार द्वारा चलाई गई योजना है | इसलिए इस योजना में इन्वेस्ट की गई धनराशि आपकी एकदम सुरक्षित रहती है | और रिटर्न की पूरी गारंटी आप को मिलती है |
  • किसान विकास पत्र से आप अपना मूलधन निकाल सकते हैं |
  • किसान विकास पत्र / Kisan Vikas Patra (KVP​) को एक शहर से दूसरे शहर एक पोस्ट ऑफिस से दूसरे पोस्ट ऑफिस अथवा बैंक में ट्रांसफर कर सकते हैं |

किसान विकास पत्र / Kisan Vikas Patra 2018 (KVP​) के नियम  –

किसान विकास पत्र / Kisan Vikas Patra (KVP​) के दुरुपयोग को रोकने के लिए सरकार द्वारा कुछ नियम बनाए गए हैं | जिनके अनुसार ही आप इस योजना का लाभ प्राप्त कर सकते हैं |

  • यदि आप किसान विकास पत्र में ₹50000 से अधिक का निवेश करने करना चाहते हैं | तो आपको सभी दस्तावेजों के साथ पैन कार्ड भी अनिवार्य रूप से जमा करना होगा |
  • इसके साथ ही यदि आप 10 लाख से ऊपर का इन्वेस्टमेंट करना चाहते हैं | तो इसके लिए आपको अपने समस्त स्रोतों से आय का प्रमाण भी प्रस्तुत करना होगा |

किसान विकास पत्र 2018 के मूल्य वर्ग को समझें  –

जैसा कि ऊपर आपको बताया गया है | कि आप 1000 , 5000 , 10000 और 50000 मूल्यवर्ग के किसान विकास पत्र / Kisan Vikas Patra (KVP​) खरीद सकते हैं | यहां पर इन मूल्य वर्ग के किसान विकास पत्र को आप सरल भाषा में नोट जैसा समझ सकते हैं | मान लीजिए आप एक लाख रूपय का किसान विकास पत्र / Kisan Vikas Patra (KVP​) खरीदना चाहते हैं | तो आप 1000  – 1000 के सभी किसान विकास पत्र / खरीद सकते हैं | आप चाहे तो 5000  –  5000 के 20 किसान विकास पत्र खरीद सकते हैं | और या फिर आप चाहे तो 50000 – ₹50000 के दो किसान विकास पत्र खरीद सकते हैं | इसके साथ ही आप मिश्रित रूप में भी 1000,5000,1000,50000 रुपए की किसान विकास पत्र खरीद सकते हैं |

किसान विकास पत्र / Kisan Vikas Patra (KVP​) में इन्वेस्टमेंट करने पर टैक्स छूट की सुविधा  –

किसान विकास पत्र में आप जितना भी निवेश करना करते हैं | उसमें आपको सेक्शन – 80सी के अंतर्गत टैक्स बेनिफिट नहीं मिलता है | इसके साथ ही किसान विकास पत्र में जमा की जाने वाली पूरी धनराशि और उस पर मिलने वाला ब्याज भी कर योग्य आय है | इसलिए आपको ब्याज के रुप में मिलने वाली धनराशि को इनकम टैक्स रिटर्न में के अंतर्गत दर्ज करानी होगी | और इसका जितना भी ब्याज बनेगा | उस पर इनकम टैक्स स्लैब के अनुसार ही टैक्स की गणना की जाएगी | यहां पर आपको एक सुविधा यह मिल जाती है | कि आपका TDS नहीं कटता है | बल्कि आपको ही कैलकुलेट करके अपना टैक्स भरना होता है |

किसान विकास पत्र खरीदते समय ध्यान रखें  –

यदि आप किसान विकास पत्र में निवेश में करना चाहते हैं | तो आप अलग-अलग मूल्यवर्ग के किसान विकास पत्र में इन्वेस्ट करना ज्यादा अच्छा रहेगा | मान लीजिए आप ₹100000 का इन्वेस्टमेंट करना चाहते हैं | और आपने 50000 – ₹50000 के 2 किसान विकास पत्र खरीद लेते हैं | और कभी आपको अचानक ₹30000 की आवश्यकता पड़ जाती है | तो आपको अपना एक ₹50000 का किसान विकास पत्र तुडवाना पड़ जाता है | लेकिन यदि आप ₹10000 -10000 किसान विकास पत्र लेते हैं | तो आप 3 किसान विकास पत्र को तुड़वाकर अपनी जरूरत को पूरा कर सकते हैं | इस तरह से आपको नुकसान कम होता है | और आप इन्वेस्टमेंट पर अच्छा ब्याज का लाभ प्राप्त कर सकते हैं |

दोस्तों यह थी सरकार द्वारा देश की छोटे टाउन एरिया एंव ग्रामीण क्षेत्रों के नागरिकों में बचत को बढ़ावा देने के लिए चलाई जा रही किसान विकास पत्र / Kisan Vikas Patra (KVP​) के बारे में महत्वपूर्ण जानकारी | यदि आपको यह जानकारी अच्छी लगे तो अपने दोस्तों के साथ शेयर जरूर करें | ताकि उन्हें भी इस योजना के बारे में जानकारी प्राप्त हो सके | और वह इसका लाभ प्राप्त कर सकें | इसके साथ ही यदि आपका किसी भी प्रकार का सवाल हो तो नीचे कमेंट बॉक्स में कमेंट करें | हम जल्दी ही आपके सवालों का जवाब देंगे || धन्यवाद ||

3 COMMENTS

  1. मुझे ₹1000 का इन्वेस्ट करना है इसके बारे में मुझे कोई Jankari dijiye hey invest Kya Main Dak Vibhag se kar sakta Hoon

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here