केरल अभयाकिरणम योजना 2023 निराश्रित विधवाओं को वित्तीय सहायता के लिए आनलाइन आवेदन पत्र

केरल हमारे देश के सबसे अधिक शिक्षित प्रदेशों में शुमार है। यहां की साक्षरता दर भी सबसे अधिक है। यदि नर्सिंग की बात करें तो इस क्षेत्र में भी केरल की महिलाएं सर्वाधिक कार्यरत हैं। लेकिन पति की मृत्यु के पश्चात निराश्रित विधवाओं की जिंदगी बहुत आसान नहीं होती। समाज उन्हें अपनी रस्मों त्योहारों में शामिल नहीं करता। उन्हें रोजमर्रा के खर्च के लिए काफी मशक्कत करनी पड़ती है।

रिश्तेदार भी उन्हें आसरा देने से कतराते हैं। ऐसे में निराश्रित विधवाओं को बेहतर जीवन देने की मंशा से केरल सरकार ने अभयाकिरणम योजना शुरू की है। यह योजना क्या है? इसके अंतर्गत कितनी धनराशि की सहायता मिलती है? इस योजना के लिए आवेदन कैसे किया जा सकता है? जैसे आपके मन में उठ रहे असंख्य प्रश्नों का जवाब हम इस पोस्ट के माध्मय से देने का प्रयास करेंगे। योजना की पूरी जानकारी प्राप्त करने हेतु आपको यह पूरी पोस्ट ध्यान से पढ़नी होगी-

Contents show

अभयाकिरणम योजना 2023 क्या है?

अभयाकिरणम योजना 2023 के अंतर्गत केरल की बेसहारा विधवाओं को आश्रय देने वाले उसके करीबी रिश्तेदारों को वहां की सरकार 1000 रूपए की वित्तीय सहायता प्रदान करेगी। इससे उन्हें अपने जीवन यापन में किसी प्रकार की आर्थिक परेशानी का सामना नहीं करना पड़ेगा। केरल की राज्य कैबिनेट ने विधवा कल्याण आधारित इस योजना के लिए कुल 99 लाख रूपए की मंजूरी दी है। उम्मीद की जा रही है कि इस राशि से विधवाओं के जीवन में गुणात्मक सुधार आएगा। यह हम सभी जानते हैं कि पति के न रहने पर और जीविका का कोई साधन न होने पर विधवा महिलाओं को जीवनयापन के लिए सामाजिक व वित्तीय रूप से कितनी मुश्किलों का सामना करना पड़ता है।

केरल अभयाकिरणम योजना 2023 निराश्रित विधवाओं को वित्तीय सहायता के लिए आनलाइन आवेदन पत्र

अभयाकिरणम योजना को लाने के पीछे केरल सरकार का क्या उद्देश्य है

केरल की सरकार इस अभयाकिरणम योजना को वहां की बेघर, निराश्रित विधवाओं को बेहतर जीवन यापन में सहायता करने के लिए लाई है। पहले चरण में सरकार 200 लाभार्थियों को प्रत्येक व्यक्ति 1000 रूपए के हिसाब से छह माह के लिए वित्तीय सहायता प्रदान करेगी। यह सहायता निराश्रित विधवा का को आसरा देने वाले उसके रिश्तेदारों को ही प्रदान की जाएगी। इससे वे विधवा महिला को अपने ऊपर बोझ नहीं समझेंगे।

योजना का लाभ प्राप्त करने के लिए क्या मानदंड रखे गए हैं?

यदि कोई व्यक्ति इस योजना का लाभ प्राप्त करना चाहता है तो उसे केरल सरकार द्वारा निर्धारित मानदंडों को आवश्यक रूप से करना होगा। ये मानदंड निम्न प्रकार से हैं-

  • निराश्रित विधवा आवेदक की उम्र 50 वर्ष से अधिक हो।
  • आवेदक के परिवार की वार्षिक आय 1 लाख रुपए से कम हो।
  • आवेदक को सेवा अथवा किसी अन्य पेंशन का लाभ न प्राप्त हो रहा।
  • आवेदक सामाजिक न्याय विभाग की किसी वर्तमान में संचालित योजना का लाभार्थी न हो।
  • पात्र आवेदक को आवेदन पत्र के साथ कौन से दस्तावेज लगाने होंगे?

यदि आप ऊपर बताए गए मानदंड पूरे करते हैं और इस योजना का लाभ लेना चाहते हैं तो आपको आवेदन पत्र के साथ कुछ दस्तावेज या कागज भी लगाने होंगे, जो कि निम्न प्रकार से हैं-

  • आवेदक के बैंक खाते का विवरण जैसे-बैंक पासबुक का पहला पृष्ठ आदि।
  • आवेदक का हालिया खिंचा पासपोर्ट साइज फोटो।
  • आवेदक के आयु प्रमाण पत्र के रूप में उसका एसएसएलसी प्रमाण पत्र अथवा वोटर आईडी अथवा आधार कार्ड की प्रमाणित/सत्यापित प्रति।
  • आवेदक विधवा के उसके रिश्तेदार के संरक्षण/आश्रय में होने संबंधी संबंधित ग्राम अधिकारी का प्रमाण पत्र।

इस योजना के लिए आवेदन आफलाइन होगा या आनलाइन?

यदि आपको इस योजना के लिए आवेदन करना है तो आप केवल आनलाइन ही फार्म डाउनलोड कर उस पर आवेदन कर सकेंगे। इसके लिए आपको sjd.kerala.gov.in पर जाना होगा। फार्म डाउनलोड करना होगा। इसके बाद दिए गए निर्देशों को अच्छी तरह पढ़कर भरने के बाद एवं आवश्यक कागज लगाने के बाद ही आप इस सहायता को हासिल कर सकेंगे।

अभयाकिरणम योजना-2023 के लिए आवेदन कैसे करें?

  • अभयकिरणम योजना-2023 के लिए आवेदन के लिए आपको सर्वप्रथम केरल सरकार की सामाजिक न्याय विभाग की आधिकारिक वेबसाइट http://sjd.kerala.gov.in/ जाना होगा।
  • इसके पश्चात होम पेज पर मेनू में जाकर स्कीम के लिंक पर क्लिक करें।
  • यहां आपके सामने केरल सरकार की योजनाओं का पेज खुल जाएगा।
  • इसमें से आपको abhayakirnam scheme- financial assistance to destitute widows के लिंक पर क्लिक करना होगा।
केरल अभयाकिरणम योजना
  • अब यहां डॉक्यूमेंट्स सेक्शन पर जाकर application forms-abhayakirnam scheme- financial assistance to destitute widows के लिंक पर जाकर क्लिक करना होगा।
केरल अभयाकिरणम योजना 1
केरल अभयाकिरणम योजना 2023
  • इसके बाद इस फार्म को सही सही भरकर इसके साथ सारे कागज लगाकर संबंधित अधिकारी के पास जाकर जमा कर दें।
  • आवेदन पत्र में भरी जानकारी एवं कागजों का सत्यापन करने के बाद संबंधित अधिकारी आपके आवेदन पत्र को मंजूरी देगा।
  • अब वित्तीय सहायता का लाभ आपके खाते में भेजा जाना प्रारंभ हो जाएगा।

केरल अभयाकिरणम योजना की लाभार्थी सूची में अपना कैसे देखें?

यदि आपने केरल अभयाकिरणम योजना का लाभ लेने के लिए आवेदन कर दिया है और आप लाभार्थी सूची में अपना नाम देखना चाहते हैं तो उसके लिए आपको निम्न कदम उठाने होंगे-

  • सबसे पहले http://sjd kerala.gov.in/scheme-info.php के लिंक पर जाएं।
  • यहां target group के सेक्शन में जाएं।
  • इसके पश्चात beneficiaries details के लिंक पर क्लिक करना होगा।
  • नई विंडो में आपके सामने लाभार्थियों की पूरी लिस्ट खोलने के लिए वित्तीय वर्ष एवं जिले का नाम दर्ज करें।
  • इस योजना के लाभार्थियों की पूरी सूची आपके सामने आ जाएगी।

केरल में विधवाओं की क्या स्थिति है?

केरल में माकपा शासित पिनाराई विजयन की सरकार है। विधवाओं के लिए कई कल्याणकारी कार्यक्रमों की घोषणा सरकार ने की है। वह देश का अकेला राज्य है, जहां विधवाओं की सहायता के लिए विधवा मित्र बनाए जाने की भी घोषणा की गई है। इसके बावजूद यहां विधवाएं दयनीय स्थिति में जी रही हैं। इसे देखते हुए सरकार द्वारा विधवा कल्याण के लिए ऐसी कई योजनाएं चलाई जा रही हैं, जिनका उद्देश्य समाज में अलग थलग पड़ गईं विधवाओं को समाज की मुख्य धारा में शामिल करना है।

अभयाकिरणम योजना भी इन्हीं योजनाओं में से एक है। विशेष बात यह है कि केरल की वन्नपुरम पंचायत को पहली विधवा मित्र पंचायत भी केरल सरकार की ओर से घोषित किया गया है। उनके मनो सामाजिक समर्थन के लिए एक अदालत भी आयोजित की गई है। सरकार मानती है कि समाज में अलग थलग मानने के स्थान पर विधवाओं को विशेष देखभाल एवं कानूनी सहायता की आवश्यकता है।

क्या भारत के अन्य राज्यों में विधवाओं की स्थिति केरल से अलग है?

यदि हम भारत में विधवाओं की संख्या की बात करते हैं तो यह संख्या लगभग चार करोड़ के आसपास बैठती है। इसका सीधा सा अर्थ है- यह महिलाओं की कुल आबादी का लगभग 10 फ़ीसदी हिस्सा है। ऐसा नहीं कि भारत के अन्य राज्यों में विधवाओं की स्थिति केरल की विधवा महिलाओं से कुछ अलग है। इनकी समस्याएं भी प्रत्येक राज्य में लगभग ऐसी एक जैसी हैं। जैसे की विधाएं आत्मनिर्भर नहीं है या रिश्तेदारों, परिजनों का व्यवहार उनके प्रति ठीक नहीं रहता। या वे समाज से कटी रहती हैं। इसी के दृष्टिगत विभिन्न राज्यों ने विधवाओं के लिए पेंशन का भी प्रबंध किया है।

यह पेंशन प्रत्येक राज्य में अलग अलग है। जैसे कि उत्तराखंड में ₹1,500 हरियाणा में ₹1,800 दिल्ली में ढाई हजार रुपए तो वहीं, उत्तर प्रदेश और मध्य प्रदेश में ₹600 की दर से विधवा महिलाओं के लिए विधवा पेंशन का प्रावधान किया गया है। केरल में भी विधवा महिलाओं को पेंशन दी जाती है। लेकिन सरकार ने जो निराश्रित विधवाओं के लिए अभयाकिरणम नाम की जो योजना चलाई है, उसमें इन पेंशन वाली महिलाओं को शामिल नहीं किया जाता है। वह पैसा, जैसा कि हमने आपको अभी ऊपर बताया है, विधवा के उन रिश्तेदारों को प्रदान जाता है, जिन रिश्तेदारों के यहां महिलाओं को आश्रय मिलता है।

केरल अभयाकिरणम योजना 2023 क्या है?

इस योजना के अंतर्गत निराश्रित विधवा को आश्रय देने वाले रिश्तेदारों को 1000 रूपए की वित्तीय सहायता प्रदान की जाती है।

यह योजना किस सरकार द्वारा चलाई जा रही है?

नाम से ही स्पष्ट है। यह योजना केरल सरकार द्वारा चलाई जा रही है।

यह योजना किस विभाग द्वारा चलाई जा रही है?

केरल के सामाजिक न्याय विभाग द्वारा यह योजना चलाई जा रही है।

इस योजना के लिए केरल की राज्य कैबिनेट ने कितनी धनराशि मंजूर की है?

इस योजना के लिए केरल की राज्य कैबिनेट ने कुल 99 लाख रुपए की धनराशि मंजूर की है।

इस योजना का लाभ उठाने के लिए कितनी आयु होनी चाहिए?

इस योजना का लाभ उठाने के लिए आवेदक की आयु 50 वर्ष से अधिक होनी चाहिए।

यदि आवेदक की सालाना पारिवारिक आय एक लाख रुपए से अधिक है तो क्या उसे इस योजना का लाभ मिलेगा?

जी नहीं, ऐसा होने पर आवेदक को इस योजना का लाभ नहीं मिलेगा।

क्या आवेदक को निराश्रित विधवा को आश्रय मिलने संबंधी प्रमाण पत्र भी देना होगा?

जी हां, आवेदक को इस संबंध में प्रमाण पत्र देना होगा।

आवेदक ने किसी अन्य सरकारी पेंशन योजना का लाभ उठाया है तो क्या उसे इस योजना के तहत लाभ मिलेगा?

जी नहीं, ऐसी स्थिति में आवेदक को अभयाकिरणम योजना का लाभ नहीं मिलेगा।

केरल में कौन सी पंचायत को विधवा मित्र पंचायत घोषित किया गया है?

केरल में वन्नपुरम पंचायत को विधवा मित्र पंचायत घोषित किया गया है।

आशा करते हैं कि इस पोस्ट को पढ़कर आपको केरल सरकार द्वारा चलाई जा रही अभयाकिरणम योजना -2023 की पूरी जानकारी मिल गई होगी। यह पोस्ट आपको कैसी लगी है हमें बताना न भूलें। उम्मीद है कि आप इस आर्टिकल को अधिक से अधिक शेयर करेंगे, ताकि आपके मित्र, परिचित अथवा अन्य जो भी इस योजना का लाभ उठाना चाहते हैं, इस योजना के बारे में जानकारी प्राप्त कर सकें। धन्यवाद

Leave a Comment