ज्वेलरी का बिज़नेस कैसे शुरू करे? | निवेश, मुनाफा जगह व लाइसेंस | Jewellery ka business kaise kare

|| Jewellery business karne ke tarike | ज्वेलरी का बिज़नेस कैसे करे? | Jewellery ka business kaise kare | Jewellery business ideas in Hindi | ज्वेलरी के बिज़नेस के प्रकार (Jewellery business types in Hindi | ज्वेलरी के बिज़नेस में होने वाली कमाई (Jewellery business ke fayde in Hindi |

Jewellery ka business kaise kare :- भारतीय स्त्रियों को हमेशा से ही सजना संवरना पसंद होता है और इसके लिए वह कई तरह की ज्वेलरी को पहनती है। अब केवल महिलाएं ही क्यों पुरुष भी तो कई तरह की ज्वेलरी पहनने लगे हैं और इसका ट्रेंड बढ़ता ही जा रहा है। अब कोई सोने की ज्वेलरी पहनता है तो कोई चांदी की तो कोई आर्टिफीसियल ज्वेलरी भी पहनता (Jewellery business ideas in Hindi) है। कुल मिला कर हर तरह की ज्वेलरी का ही व्यापार किया जा सकता है और इसमें बहुत ज्यादा फायदा भी देखने को मिलता है।

इसलिए यदि आप भी ज्वेलरी का बिज़नेस शुरू करने का सोच रहे हैं और इसमें अपनी किस्मत आजमाना चाहते हैं तो आपका यह विचार बहुत ही उत्तम विचार ही कहा (Jewellery business karne ke tarike) जाएगा। आज के इस लेख के माध्यम से हम आपके साथ इसी विषय पर ही बात करने वाले हैं जिसे पढ़ कर आप यह जान पाएंगे कि यह ज्वेलरी का बिज़नेस किस तरह से शुरू किया जा सकता है और इसके लिए क्या कुछ तैयारियां किये जाने की जरुरत होती है। चलिए जानते हैं ज्वेलरी का बिज़नेस कैसे किया जाए।

Contents show

ज्वेलरी का बिज़नेस कैसे करे? (Jewellery ka business kaise kare)

ज्वेलरी का बिज़नेस शुरू करना चाहते हैं तो उसके लिए निवेश बहुत ज्यादा करना पड़ता है और बहुत बातों का भी ध्यान रखना होता है। सामान्य शब्दों में कहा जाए तो यह एक बहुत ही बड़ा बिज़नेस होता है जो बहुत ज्यादा पैसा भी मांगता है और अन्य तरह की सावधानियां (Jewellery ka business kaise shuru kare) भी। इसलिए यदि आप ज्वेलरी का बिज़नेस शुरू करने के प्रति गंभीर है तभी यह लेख पढ़िए क्योंकि इस लेख में आपको ज्वेलरी का बिज़नेस शुरू करने से संबंधित हरेक चीज़ को बारीकी से बताया जाएगा।

Jewellery ka business kaise kare

इसके लिए आपको यह लेख पूरा पढ़ना होगा क्योंकि इस लेख में आप यह जान पाएंगे कि ज्वेलरी का बिज़नेस किस तरह का बिज़नेस होता है और उसके लिए क्या कुछ तैयारियां किये जाने की जरुरत होती (Jewellery business kaise start kare) है। आइए जाने ज्वेलरी के बिज़नेस में आपको अभी से ही किन किन बातों का ध्यान रखते हुए आगे बढ़ना होगा ताकि यह बिज़नेस सही से चलता रहे।

ज्वेलरी के बिज़नेस के प्रकार (Jewellery business types in Hindi)

अब यदि हम ज्वेलरी के बिज़नेस की बात करें तो यह एक तरह का नहीं होता है बल्कि यह निवेश किये जाने के अनुसार तरह तरह का हो सकता है। अब इसे हम मुख्य तौर पर दो भागो में विभाजित करके जान सकते (Types of jewellery business in Hindi) हैं। पहले भाग में आता है सोने चांदी की ज्वेलरी का बिज़नेस और दूसरे भाग में आएगा आर्टिफीसियल ज्वेलरी का बिज़नेस और दोनों की ही अलग अलग महत्ता होती है। आइए दोनों के बारे में जान लेते हैं।

सोने चांदी की ज्वेलरी का बिज़नेस (Sone chandi ka business kaise kare)

सबसे पहले बात कर ली जाए सोने चांदी की ज्वेलरी के बिज़नेस के बारे में। तो यह बिज़नेस ज्वेलरी के बिज़नेस में सबसे मुख्य बिज़नेस होता है लेकिन इसमें बहुत ज्यादा निवेश करना पड़ता है। आपके शहर में भी सोने चांदी की कई दुकाने खुली हुई होंगी और लोग विवाह, उत्सव इत्यादि की खरीदारी वहीं से ही करते होंगे। वहां की दुकान के बाहर एक सिक्योरिटी गार्ड भी होता होगा जो उसकी देखभाल करता होगा।

तो यदि आप सोने चांदी की ज्वेलरी का बिज़नेस शुरू करने का सोच रहे हैं तो इसमें आपको लाखों तो क्या करोड़ों तक का भी निवेश करना पड़ सकता है जो पूर्ण रूप से आपकी दुकान और अन्य कई कारकों पर निर्भर करने वाला है। साथ ही इस तरह के बिज़नेस में रिस्क भी बहुत होते हैं और आपको उसी के अनुसार ही अपनी तैयारी मजबूत करनी होगी ताकि आगे चल कर किसी तरह की समस्या आड़े ना आने पाए।

आर्टिफीसियल ज्वेलरी का बिज़नेस (Artificial jewellery business kaise kare)

अब इसी में दूसरी श्रेणी का ज्वेलरी का बिज़नेस होता है आर्टिफीसियल ज्वेलरी वाला। इस तरह की ज्वेलरी का बिज़नेस भी बहुत ज्यादा लोकप्रिय है और लोग इसके माध्यम से बहुत पैसा बना भी रहे हैं। ऐसा इसलिए क्योंकि आर्टिफीसियल ज्वेलरी में तरह तरह के डिजाईन उपलब्ध होते हैं और इनकी सुरक्षा का इतना ध्यान भी नहीं रखना होता है। यही कारण है कि हर दिन के साथ इस तरह की ज्वेलरी में कमाई बढ़ती जा रही है।

इसलिए यदि आप आर्टिफीसियल ज्वेलरी का बिज़नेस शुरू करने का प्लान कर रहे हैं तो यह एक बहुत ही उत्तम विचार कहा जाएगा। वहीं यदि आपके पास ज्यादा पैसा नहीं है या आप कम निवेश करना चाहते हैं तो आपके लिए तो इस तरह की ज्वेलरी का बिज़नेस बहुत ही सही रहने वाला है।

ज्वेलरी का बिज़नेस क्यों करें? (Jewellery ka business kyo kare)

अब हम बात करेंगे कि आखिरकार क्यों आपको ज्वेलरी का बिज़नेस करना चाहिए और यह किस तरह से आपके लिए किस्मत बदलने वाला हो सकता है। तो यहाँ हम आपको एक चीज़ पहले ही बता दें कि आप चाहे किसी भी तरह की ज्वेलरी का बिज़नेस शुरू करें, उसमे आपका बहुत ही ज्यादा फायदा होने वाला है और यह हर तरह से आपके लिए कमाई का मुख्य स्रोत बनने वाला है। अब चाहे ज्वेलरी का बिज़नेस किसी बड़े शहर में शुरू किया जाए या किसी छोटे से शहर में, हर जगह इस तरह का बिज़नेस बहुत ही ज्यादा चलता है।

ऐसे में यदि आप अपने शहर में ज्वेलरी का बिज़नेस शुरू करने जा रहे हैं तो यह आपके लिए बहुत ही सही मौका रहेगा और इससे शहर में आपका नाम बनेगा वो अलग। हालाँकि इसमें आपको कई बातों का ध्यान रखना होगा और खासतौर पर सोने चांदी की सुरक्षा का। यदि आपका यह बिज़नेस सेट बैठ गया और लोगों को आपके द्वारा मंगवाई जा रही ज्वेलरी पसंद आ गयी तो आप निरंतर आगे ही बढ़ते चले जाएंगे।

ज्वेलरी का बिज़नेस करते समय सावधानियां

अब यदि आपको अपना ज्वेलरी का बिज़नेस शुरू करना ही है तो इसके लिए आपको कई तरह की सावधानियों को ध्यान में रख कर चलना होगा अन्यथा बहुत बड़ा नुकसान देखने को मिल सकता है। इसमें सबसे पहली जो सावधानी होगी वह यह होगी कि आपको एक ही तरह के ज्वेलरी के डिजाईन नहीं मंगवाने चाहिए क्योंकि यह पूर्ण रूप से या मुख्य तौर पर महिलाओं से जुड़ा हुआ बिज़नेस होता है। अब आपने यह कभी सुना है कि महिलाओं को पहली बार में ही या थोड़े बहुत डिजाईन देख कर ही कोई चीज़ पसंद आ गयी हो!!

इसलिए यदि आपको ज्वेलरी का बिज़नेस सही तरीके से चलाना है तो आपको अपने यहाँ तरह तरह के ज्वेलरी के डिजाईन मंगवा कर रखने होंगे। इसी के साथ साथ आपको अपनी दुकान पर जगह जगह cctv लगवाने होंगे ताकि किसी भी तरह की चोरी ना होने पाए और सभी पर नज़र रखी जा सके। इसी के साथ साथ आपको ज्वेलरी की दुकान के बाहर सुरक्षा की दृष्टि से एक सिक्योरिटी गार्ड को भी रखना होगा जो दुकान के बाहर बैठ कर उसकी रखवाली किया करेगा।

इनके अलावा भी बहुत सारी चीजें होती है जो आपको ज्वेलरी का बिज़नेस शुरू करने से पहले या उसके बाद में देखनी होगी। इसमें अपनी दुकान का व ज्वेलरी का बीमा करवाना, स्टाफ को सही से जांच परख कर ही रखना, हर दिन का पूरा हिसाब किताब रखना इत्यादि सम्मिलित है। तभी हमने आपको पहले ही कह दिया था कि यदि आप ज्वेलरी का बिज़नेस शुरू करने जा रहे हैं तो इसमें आपको कई तरह की बातों को ध्यान में रख कर ही चलना होगा।

ज्वेलरी का बिज़नेस कहां करें? (Jewellery ka business keha kare)

अब यदि आप यह सोच कर चिंतित है कि आपको अपने शहर में ज्वेलरी का बिज़नेस कहां पर शुरू करना चाहिए या इसके लिए किस जगह दुकान खोलना सही रहता है। तो हम आपकी यह चिंता दूर करते हुए यह बता दें कि इसके लिए आपके शहर की मुख्य सड़क या बाजार में इसकी दुकान खोलना सबसे उचित रहता है। यदि आप अपने शहर में खुली हुई पहले की ज्वेलरी की दुकानों को देखेंगे और उनकी लोकेशन का अवलोकन करेंगे तो पाएंगे कि उनमे से ज्यादातर शहर की मुख्य जगह या बाजार में खुली हुई ही होंगी।

इसलिए यदि आप चाहते हैं कि आपका ज्वेलरी का बिज़नेस चले ही चले और ज्यादा से ज्यादा ग्राहक आपके यहाँ खरीदारी करने आये तो आपको अपनी ज्वेलरी की दुकान बाजार में या फिर शहर की अन्य किसी मुख्य जगह पर खोलनी चाहिए।

ज्वेलरी का बिज़नेस करने के लिए स्टाफ (Jewellery business staff in Hindi)

ज्वेलरी का बिज़नेस शुरू करना है तो उसके लिए प्रॉपर स्टाफ को रखे जाने की भी जरुरत होगी जो आपका सभी तरह का काम करके दिया करेंगे। अब आप इस काम के लिए किसी ऐसे वैसे स्टाफ को ही नहीं रख सकते हैं क्योंकि यह बहुत ही जिम्मेदारी वाला बिज़नेस होता है और इसके लिए भरोसेमंद स्टाफ को ही काम पर रखा जाना चाहिए। साथ ही उस स्टाफ को बोलने की तमीज होनी चाहिए और हिंदी व अंग्रेजी भाषा का भी अच्छा ज्ञान होना जरुरी है।

इसके लिए आप जिस भी स्टाफ को रखें, उसका बैकग्राउंड अच्छे से चेक कर लेंगे और उसके बाद ही उसे अपने यहाँ काम पर रखेंगे तो बेहतर रहेगा। इसके लिए आप उसके सभी तरह के दस्तावेज भी ले लें और उसकी फोटोकॉपी करवा लें और उसका पुलिस वेरिफिकेशन करवा कर ही उसे अपने यहाँ स्टाफ की नौकरी पर रखें।

ज्वेलरी का बिज़नेस करने के लिए जगह (Jewellery business location in Hindi)

ज्वेलरी का बिज़नेस करने के लिए एक सही जगह की भी जरुरत होती है जहाँ पर आप अपनी दुकान खोल सकें और वहां पर सही से बिज़नेस की शुरुआत कर सकें। तो इसके लिए कितनी बड़ी जमीन चाहिए या दुकान का आकार क्या होगा, यह तो पूर्ण रूप से आपके द्वारा शुरू किये जा रहे ज्वेलरी के बिज़नेस पर ही निर्भर करने वाला है। अब कोई व्यक्ति शुरुआत में ही बड़ी दुकान खोल लेता है तो कोई धीरे धीरे इस दिशा में आगे बढ़ता है।

फिर भी यदि आपको ज्वेलरी का बिज़नेस शुरू करना ही है तो उसके लिए दुकान पर इतनी जगह तो होनी ही चाहिए कि कुछ ग्राहक वहां बैठ सकें और ज्वेलरी को देख कर उसे पसंद कर (Jewellery business land required in Hindi) सकें। तो इसके लिए कम से कम 700 वर्ग फुट की जमीन की तो जरुरत होती ही है और उसके बाद आप कितनी भी बड़ी दुकान खोल सकते हैं और ज्वेलरी का बिज़नेस शुरू कर सकते हैं।

ज्वेलरी का बिज़नेस शुरू करने के लिए निवेश (Jewellery business cost in Hindi)

ज्वेलरी का बिज़नेस शुरू करना है तो उसमे कितना निवेश करना होता है या आपका कितना तक का खर्चा हो जाता है, इसके बारे में भी यदि समय रहते जानकारी ले ली जाए तो बेहतर रहता है। ऐसे में यदि आपको अपना ज्वेलरी का बिज़नेस शुरू करना है तो उसके लिए आपको कम से कम 70 से 80 लाख रुपए का निवेश करना ही (Investment for jewellery business in Hindi) होगा। ज्वेलरी का बिज़नेस शुरू करने के लिए अनुमानित कीमत इतनी ही होती है लेकिन बहुत लोग इससे कम या ज्यादा में भी ज्वेलरी का बिज़नेस शुरू करते हैं।

यह तो हमने सोने चांदी के ज्वेलरी के बिज़नेस की बात की जिसमें इतना अधिक निवेश किये जाने की जरुरत होती है। वहीं यदि आप आर्टिफीसियल ज्वेलरी का बिज़नेस शुरू करने का सोच रहे हैं तो उसमें तो आपको 5 से 6 लाख रुपए तक का ही निवेश करना होगा और आपका काम बन जाएगा। तभी हमने पहले ही कहा कि दोनों तरह के ही ज्वेलरी के बिज़नेस में बहुत अंतर देखने को मिलता है और यह अंतर मुख्य तौर पर पैसों का ही होता है।

ज्वेलरी की दुकान का इंटीरियर सेट करवाना (Jewellery business interior design in Hindi)

अब जब आप अपनी खुद की ज्वेलरी की दुकान खोलने जा रहे हैं तो उसका सही तरीके से इंटीरियर सेट करवाया जाना भी बहुत जरुरी होता है। उदाहरण के लिए यदि किसी ज्वेलरी की दुकान में लाइट कम है तो गहनों की चमक धुंधली पड़ जाएगी और ग्राहक बिना उसे खरीदे ही वहां से चला जाएगा। इसलिए यह बहुत ही ज्यादा जरुरी होता है कि वहां पर प्रॉपर लाइटिंग हो और ग्राहक उसे अच्छे से देख सकें।

इसी के साथ साथ आपको ग्राहकों के बैठने के लिए प्रॉपर इन्तेजाम करने होंगे और गद्दियाँ भी सोफे टाइप की होनी चाहिए। ज्वेलरी को भी इस तरह से लगाया जाना चाहिए कि ग्राहक उसे शीशे में ही देख सके और उसे देख कर उसे पसंद कर सके। इसके बारे में बेहतर तरीके से जानना चाहते हैं तो आपको अपने शहर की पहले से ही खुली हुई ज्वेलरी की दुकान पर होकर आना चाहिए और वहां इंटीरियर के डिजाईन के बारे में पता लगाना चाहिए।

ज्वेलरी के बिज़नेस की मार्केटिंग करना (Jewellery business marketing strategy in Hindi)

ज्वेलरी का बिज़नेस शुरू करना ही पर्याप्त नहीं होता है बल्कि उसके लिए सही तरीके से मार्केटिंग किये जाने की भी जरुरत होती है। यदि आपने यह काम सही तरीके से कर लिया तो समझ जाइये की बात बन गयी और आपकी कमाई ही कमाई होने वाली है। सीधे शब्दों में कहा जाए तो आज के समय में यदि किसी बिज़नेस को आगे तक लेकर जाना है या उसमे बिक्री बढानी है तो उसकी मार्केटिंग स्ट्रेटेजी दमदार होनी (Jewellery ke business ki marketing kaise kare) चाहिए।

इसके लिए आपको अपने यहाँ आने वाले ग्राहकों के साथ अच्छा व्यवहार करना चाहिए और यदि वे कुछ नहीं भी खरीदते हैं तो भी उनके साथ अच्छे से ही पेश आना चाहिए। इसके अलावा आपको समय समय पर तरह तरह की योजनाएं जैसे कि छूट, ऑफर इत्यादि चलाते रहने चाहिए। बहुत से लोग केवल इन्ही योजनाओं को देख कर ही खरीदारी करने आ जाते हैं। इसके साथ ही आपको अपनी ज्वेलरी की फोटोज लेकर उसे ऑनलाइन भी डालना चाहिए ताकि लोग उसे देख कर आकर्षित हो।

ज्वेलरी के बिज़नेस में होने वाली कमाई (Jewellery business ke fayde in Hindi)

अब यदि हम ज्वेलरी के बिज़नेस में होने वाली कमाई को देखें तो वह भी कम नही होती है बल्कि यह हर दिन के साथ बढ़ती ही चली जाती है। इसलिए यदि आपको भी ज्वेलरी का बिज़नेस करना है और आप यह शुरू भी कर चुके हैं तो हर दिन आपके लिए एक नया दिन होगा और इसमें कमाई बहुत ज्यादा होने वाली (Jewellery business profit in Hindi) है। अब यदि आप आर्टिफीसियल ज्वेलरी का बिज़नेस कर रहे हैं तो इसमें आपकी कमाई हर महीने की 30 से 50 हजार रुपए के आसपास होने का अनुमान रहता है।

वहीं यदि आप सोने चांदी की ज्वेलरी का बिज़नेस शुरू करने जा रहे हैं तो उसमे तो आप महीने का 2 से 5 लाख रुपए तक कमा सकते (Jewellery business benefits in Hindi) हैं। यह पूर्ण रूप से इस बात पर निर्भर करने वाला है कि आपने उसके लिए कितना तक का निवेश किया है क्योंकि उसी के आधार पर ही आपकी कमाई निर्भर करने वाली है। अब यह कमाई प्रति महीने की 2 लाख भी हो सकती है तो 20 लाख रुपए भी।

ज्वेलरी का बिजनेस कैसे करें – Related FAQs

download app

प्रश्न: ज्वेलरी बिजनेस कैसे काम करता है?

उतर: ज्वेलरी बिजनेस के काम करने का तरीका हमने आपको इस लेख के माध्यम से बताने का प्रयास किया है।

प्रश्न: क्या ज्वेलरी बिजनेस शुरू करना मुश्किल काम है?

उतर: ज्वेलरी के बिजनेस में मुनाफा बहुत ज्यादा होता है लेकिन ये बहुत जोखिम भरा बिजनेस होता है क्योंकि इसमें निवेश अधिक करना पड़ता है।

प्रश्न: ज्वेलरी शॉप कैसे खोलें?

उतर: ज्वेलरी शॉप खोलने के बारे में संपूर्ण जानकारी हमने आपको इस लेख में दी है जिसे आपको पढ़ना चाहिए।

प्रश्न: क्या आर्टिफिशियल ज्वेलरी बिजनेस लाभदायक है?

उतर: आजकल लोग आर्टिफिशियल ज्वेलरी बहुत ज्यादा खरीदने लगे हैं इसीलिए यह बिजनेस बहुत ज्यादा लाभदायक है।

प्रश्न: ज्वेलरी बिजनेस से क्या फायदा होता है?

उतर: ज्वेलरी के बिजनेस में आपकी बहुत ज्यादा कमाई होगी और अगर आपके यहां की ज्वेलरी लोगों को पसंद आने लगी तो आपकी बिक्री बढ़ती चली जायेगी।

https://www.youtube.com/watch?v=5wZvxnRtLtw

तो इस तरह से आज के इस लेख को पढ़ कर आप यह जान चुके हैं कि ज्वेलरी का बिजनेस शुरू करने के लिए क्या क्या तैयारियां करनी होती है। इस बिजनेस में क्या योजना बनानी होती है, और उसके बाद क्या कुछ करना होता है। वहीं यदि आपका ज्वेलरी का बिजनेस चल पड़ा तो उसमें आपकी हर महीने की कमाई कितनी हो सकती है।

लविश बंसल
लविश बंसल
लविश बंसल वर्ष 2010 में लवली प्रोफेशनल यूनिवर्सिटी में कंप्यूटर साइंस इंजीनियरिंग में प्रवेश लिया और वहां से वर्ष 2014 में बीटेक की डिग्री ली। शुरुआत से ही इन्हें वाद विवाद प्रतियोगिता में भाग लेना या इससे संबंधित क्षेत्रों में भाग लेना अच्छा लगता था। इसलिए ये काफी समय से लेखन कार्य कर रहें हैं। इनके लेख की विशेषता में लेख की योजना बनाना, ग्राफ़िक्स का कंटेंट देखना, विडियो की स्क्रिप्ट लिखना, तरह तरह के विषयों पर लेख लिखना, सोशल मीडिया कंटेंट लिखना इत्यादि शामिल है।
WordPress List - Subscription Form
Never miss an update!
Be the first to receive the latest blog post directly to your inbox. 🙂

Leave a Comment