बाल जीवन बीमा योजना | लाभ, पात्रता, प्रीमियम व नियम | Bal jeevan bima yojana post office in Hindi

|| बाल जीवन बीमा योजना क्या है? | Bal jeevan bima yojana post office in Hindi | बाल जीवन बीमा योजना किसे मिलती है? | बाल जीवन बीमा योजना कौन शुरू करवाता है? | बाल जीवन बीमा योजना का प्रीमियम | बाल जीवन बीमा योजना के लिए जरुरी डाक्यूमेंट्स | बाल जीवन बीमा योजना लेने के नियम ||

Bal jeevan bima yojana post office in Hindi :- भारत सरकार नागरिकों और उनके माता पिता सहित बच्चों की सुविधा को ध्यान में रखते हुए समय समय पर कई तरह की योजनाएं लेकर आती है। ऐसे में बुजुर्गों के लिए तो पहले से ही बहुत सारी योजनाएं चल रही है लेकिन आज के समय में माता पिता के द्वारा अपने बच्चों का भविष्य सुरक्षित बनाये रखने के लिए भी एक योजना बहुत प्रसिद्ध हो रही है जिसका नाम बाल जीवन बीमा योजना (Bal jeevan bima yojana in Hindi) है।

यह एक ऐसी योजना है जो आपके बच्चों के भविष्य के लिए बहुत ही लाभदायक सिद्ध होती है। इस योजना को भारत सरकार के द्वारा डाक घर के माध्यम से चलाया जा रहा है जिसका लाभ देश के लाखों करोड़ो लोग ले भी रहे हैं। ऐसे में आप भी बाल जीवन बीमा योजना का लाभ लेने से क्यों पीछे रह जाएं और क्यों ना आप भी अपने बच्चों का भविष्य सुरक्षित (Bal jeevan bima yojana eligibility in Hindi) करें।

यदि आपने अभी तक इस बाल जीवन बीमा योजना का नाम नहीं सुना है और यदि सुना भी है और आपको इसके बारे में ज्यादा जानकारी नहीं है तो आज के इस लेख में हम आपके साथ उसी विषय पर ही बात करने वाले हैं। आज के इस लेख को पढ़कर आपको बाल जीवन बीमा योजना के बारे में शुरू से लेकर अंत तक संपूर्ण जानकारी मिलने वाली है। कहने का अर्थ यह हुआ कि किस तरह से आप भी अपने बच्चों का भविष्य सुरक्षित कर सकते हैं, उसके बारे में जानकारी मिलने वाली (Bal jeevan bima yojana ke bare mein jankari) है।

बाल जीवन बीमा योजना क्या है? (Bal jeevan bima yojana post office in Hindi)

सबसे पहले तो हम बाल जीवन बीमा योजना के बारे में बात कर लेते हैं क्योंकि बहुत से लोगों ने तो इसका केवल नाम ही सुन रखा होता है और उन्हें इसके बारे में कुछ अन्य जानकारी नहीं होती है। बाल जीवन बीमा योजना एक ऐसी योजना है जो भारत सरकार के द्वारा चलायी व प्रबंधित की जाती है। इस योजना के तहत भारत का कोई भी नागरिक जो देश में रह रहा है, वह अपने 5 वर्ष से लेकर 20 वर्ष के बच्चों का भविष्य सुरक्षित करने या उन्हें लाभ देने के उद्देश्य से पैसों का निवेश कर सकता (Bal jeevan bima yojana in Hindi) है।

Bal jeevan bima yojana post office in Hindi

यह योजना भारत सरकार के द्वारा डाक घर में चलायी जाती है जिसे अंग्रेजी में पोस्ट ऑफिस भी कहते हैं। तो आपको यदि इस बाल जीवन बीमा योजना का लाभ लेना है तो आपको डाक घर जाकर उसके लिए आवेदन करना होता है और साथ ही उसके अंतर्गत सभी तरह की शर्तों का पालन करना सुनिश्चित करना होता (Bal jeevan bima yojana kya hai) है। इस योजना की अवधि 5 वर्ष से लेकर कई वर्षों तक की हो सकती है जो आप पर निर्भर करता है लेकिन आपको हर दिन के तौर पर मासिक या सालाना तौर पर पैसा जमा करवाना होता है।

कहने का अर्थ यह हुआ कि यदि आप अपने बच्चे के लिए बाल जीवन बीमा योजना लेने जा रहे हैं तो उसके लिए आपको हर कुछ दिन में उसका प्रीमियम भरते रहना होगा। फिर जब इस योजना की अवधि समाप्त हो जाती है तो आपको एकमुश्त पैसा मिल जाता है जिसका लाभ आप उठा सकते हैं। इसी बीच यदि बच्चे के माता पिता की या फिर बच्चे की ही मृत्यु हो जाती है तो उस स्थिति में भी सरकार के द्वारा कई तरह के लाभ प्रदान किये जाते हैं जिसके बारे में हम आपको एक एक करके बताएँगे।

बाल जीवन बीमा योजना कौन करता है? (Bal jeevan bima yojana kaun karta hai)

यह तो आपने जान लिया है कि बाल जीवन बीमा योजना एक सरकारी योजना है और इस पर भारत सरकार का नियंत्रण होता है। ऐसे में यदि आपको लगता है कि यह योजना राज्य सरकार भी प्रतिबंधित करती है या इसमें उसकी भी कुछ भागीदारी है तो आप गलत हैं क्योंकि राज्य सरकार की इस योजना में कोई भूमिका नहीं है। तो बाल जीवन बीमा योजना को पूर्ण रूप से भारत सरकार के द्वारा ही प्रतिबंधित किया जाता है।

अब दूसरा प्रश्न यह उठता है कि भारत सरकार अपने किस विभाग या संस्था के द्वारा इस बाल जीवन बीमा योजना को चला रही है तो इसका उत्तर है डाक घर या पोस्ट ऑफिस। भारत सरकार के अधीन रहकर काम करने वाला यह डाक घर ही इस बाल जीवन बीमा योजना को देने का कार्य करता है। ऐसे में इस बाल जीवन बीमा योजना को डाक घर की बाल जीवन बीमा योजना के नाम से भी जाना जाता है।

बाल जीवन बीमा योजना किसे मिलती है? (Bal jeevan bima yojana eligibility in Hindi)

अब अगला प्रश्न यह है कि यह जो बाल जीवन बीमा योजना है वह किसके नाम पर होती है। तो जब योजना का नाम ही बाल जीवन बीमा योजना है तो आप स्वयं ही अनुमान लगा लीजिये कि यह किसके नाम पर होती होगी। तो यह योजना केवल और केवल बच्चों के नाम पर आयोजित की जाती है लेकिन इसका अर्थ यह नहीं है कि किसी भी उम्र के बच्चे हो गए। इसके लिए बच्चों की भी एक उम्र तय की गयी है।

ऐसे में बाल जीवन बीमा योजना जिस भी बच्चे के नाम पर ली जा रही है उसकी न्यूनतम आयु 5 वर्ष की होनी चाहिए और अधिकतम आयु 20 वर्ष की होनी चाहिए। कहने का अर्थ यह हुआ कि जिस भी बच्चे या युवा की आयु 5 वर्ष से लेकर 20 वर्ष के बीच में है, केवल उन्हीं के नाम पर ही यह बाल जीवन बीमा योजना शुरू करवायी जा सकती है।

बाल जीवन बीमा योजना कौन शुरू करवाता है?

अब इसी कड़ी में ही अगला प्रश्न या संदेश यह उठता है कि इस बाल जीवन बीमा योजना को शुरू करवाने के पीछे किसका हाथ होता है। तो इसका उत्तर भी आपको ऊपर का लेख पढ़कर मिल गया होगा कि सामान्य तौर पर बच्चे के माता पिता ही इस योजना को शुरू करवाते हैं ताकि आगे चलकर उनके बच्चों का भविष्य सुरक्षित हो सके। ऐसा इसलिए किया जाता है ताकि बच्चे को उच्च शिक्षा लेने या या उनके विवाह में किसी तरह की बाधा ना आने पाए।

हालाँकि यह आवश्यक नहीं है कि इस बाल जीवन बीमा योजना को केवल बच्चे के माता पिता ही शुरू करवाएं लेकिन कई मामलों में या अधिकांश मामलों में यही देखने को मिलता है। यदि बच्चे के माता पिता की मृत्यु हो चुकी है और उन्हें किसी अन्य ने गोद लिया है या उसे कोई रिश्तेदार संभाल रहा है तो वे भी उन बच्चों के नाम पर बाल जीवन बीमा योजना शुरू करवा सकते हैं। एक तरह से बच्चे के माता पिता या अभिभावक ही इस योजना को शुरू करवा सकते हैं।

बाल जीवन बीमा योजना लेने के नियम (Bal jeevan bima yojana rules in Hindi)

अब यदि आपको अपने बच्चे के नाम पर बाल जीवन बीमा योजना को शुरू करवाना है तो उसको लेने के लिए भारत सरकार ने कई तरह के नियम बना रखे हैं जिनका पालन किया जाना हर किसी के लिए आवश्यक होता है। ऐसे में यदि आपको भी बाल जीवन बीमा योजना शुरू करवानी है फिर चाहे आपका बच्चा 5 वर्ष का हो या 10 वर्ष का 16 का तो उसके लिए आपको इन सभी नियमों का अनुपालन करना आवश्यक होता है। आइये जाने इन नियमों के बारे में।

  • सबसे पहला नियम तो यही है कि जब भी आप बाल जीवन बीमा योजना को शुरू करवाने जा रहे हैं तो उस समय तक आपका बच्चा 5 वर्ष की आयु का हो चुका हो और इसी के साथ ही उसकी आयु 20 वर्ष से कम की हो।
  • इसके लिए जहाँ एक ओर बच्चों की आयु निर्धारित की गयी है तो जो इस योजना को शुरू करवाने जा रहा है अर्थात जो माता पिता है, उनकी आयु की भी समय सीमा बनायी गयी है। आपकी आयु अर्थात बच्चे के माता पिता की आयु 45 वर्ष से अधिक की नहीं होनी चाहिए।
  • इसके लिए बच्चों की संख्या भी निर्धारित की गयी है। यदि आपके दो बच्चे हैं तो आप दोनों के नाम पर अलग अलग बाल जीवन बीमा योजना को शुरू करवा सकते हैं लेकिन यदि आपके तीन बच्चे हैं तो तीसरे बच्चे के नाम पर इसे शुरू नहीं किया जा सकता है।
  • इस योजना को शुरू करवाने के बाद उसे 5 वर्ष तक चालू रखना होता है और इसे बंद नहीं किया जा सकता है अन्यथा आप पर जुर्माना लगाया जाता है।
  • यह आप पर निर्भर करता है कि आप बाल जीवन बीमा योजना के तहत प्रीमियम का भुगतान किस तरह से और कितने समय के अंतराल में करना चाहते हैं लेकिन एक बार उसकी अवधि को चुने जाने के बाद उसे बदला नहीं जा सकता है।
  • इस बाल जीवन बीमा योजना के तहत जो प्रीमियम होता है उसे भी आपको ही भरना होता है अर्थात बच्चे के माता पिता ही उस प्रीमियम की राशि को भरने के लिए बाध्य होते हैं, और कोई नहीं।
  • यदि इस योजना के चलते समय ही माता पिता की मृत्यु हो जाती है तो ऐसे में उसके बाद के प्रीमियम की राशि भारत सरकार के द्वारा क्षमा कर दी जाती है और सरकार स्वयं उस राशि का भुगतान करती है।
  • यदि इस योजना के जारी रहते हुए बच्चे की ही मृत्यु हो जाती है तो योजना को बंद कर उस योजना का पैसा ब्याज सहित माता पिता को लौटा दिया जाता है।

इस तरह से यदि आप अपने बच्चे के लिए बाल जीवन बीमा योजना को शुरू करवाने जा रहे हैं तो आपको इन सभी नियमों का पालन करना आवश्यक होता है और ऊपर बताई गयी बातों का पूरा पूरा ध्यान रखना होता है।

बाल जीवन बीमा योजना का प्रीमियम (Bal jeevan bima yojana premium in Hindi)

अब आपका अगला प्रश्न होगा कि यदि आप अपने बच्चों के नाम पर इस बाल जीवन बीमा योजना को शुरू करवा भी लेते हैं तो उसके लिए आपको हर महीने या दिन के हिसाब से कितनी तक की राशि प्रीमियम के तौर पर जमा करवानी होगी। तो इसकी राशि बहुत ही कम है जो लगभग हर माता पिता अपने दिनभर की कमाई में से कुछ रुपये बचाकर अपने बच्चों का भविष्य सुरक्षित करने में योगदान के रूप में निवेश कर सकता है।

तो इस प्रीमियम की राशि एक दिन के हिसाब से 6 रुपये से लेकर 18 रुपये तक ही रखी गयी है। यदि बच्चा 5 वर्ष का है तो उसके लिए प्रीमियम की राशि 6 रुपये की होती है और यदि वह 20 वर्ष का हो गया है या होने वाला है तो उसके लिए प्रीमियम की राशि 18 रुपये प्रतिदिन के हिसाब से होती है। हालाँकि आपको हर दिन डाक घर में जाकर यह प्रीमियम नहीं भरना पड़ेगा। इसके लिए आप एक महीना, तीन महीने, छह महीने या एक वर्ष की अवधि को चुन सकते हैं।

बाल जीवन बीमा योजना के लिए जरुरी डाक्यूमेंट्स (Bal jeevan bima yojana documents required in Hindi)

बाल जीवन बीमा योजना को शुरू करवाने के लिए आपके पास सभी तरह के डाक्यूमेंट्स का होना बहुत ही जरूरी हो जाता है क्योंकि बिना इसके काम नहीं चल सकता है। इसके लिए आपको अपने बच्चे सहित खुद के डाक्यूमेंट्स डाक घर में जमा करवाने होते हैं ताकि इस योजना को शुरू करवाया जा सके। तो यह डाक्यूमेंट्स हैं:

  • स्वयं का आधार कार्ड
  • बच्चे का आधार कार्ड
  • बच्चे का जन्म प्रमाण पत्र
  • आवास प्रमाण पत्र
  • स्वयं का पैन कार्ड
  • स्वयं का आय प्रमाण पत्र
  • स्वयं का बैंक खाता
  • मोबाइल नंबर
  • ईमेल आईडी
  • स्वयं की पासपोर्ट साइज़ फोटो
  • बच्चे की पासपोर्ट साइज़ फोटो इत्यादि।

आपको इन सभी डाक्यूमेंट्स को तो देना ही होगा, इनके अलावा भी कुछ अन्य डाक्यूमेंट्स की माँग आपसे की जा सकती है। तो आपसे जो जो डाक्यूमेंट्स मांगे जा रहे हैं या जो जो जरुरी दस्तावेज हैं, वह आप पहले से ही अपने साथ लेकर जाएंगे तो ठीक रहेगा।

बाल जीवन बीमा योजना कैसे लें? (Bal jeevan bima yojana kaise le)

अब यदि आपको अपने बच्चे के नाम पर यह बाल जीवन बीमा योजना को शुरू करवाना है ताकि उसका भविष्य सुरक्षित हो सके तो उसके लिए आपको कुछ ज्यादा करने की जरुरत नहीं है। इसके लिए सबसे पहले तो आपको ऊपर बताये गए सभी तरह के डाक्यूमेंट्स की व्यवस्था करनी होगी और साथ ही उनकी दो दो फोटोकॉपी निकलवानी होगी। अब आपको असली डाक्यूमेंट्स, उनकी फोटोकॉपी, एक नीला पेन और बच्चे सहित अपने घर के पास के किसी डाक घर में जाना होगा और उन्हें बताना होगा कि आप अपने बच्चे के नाम पर बाल जीवन बीमा योजना को शुरू करवाना चाहते हैं।

इसके बाद डाक घर के अधिकारी आपको एक फॉर्म भरने को देंगे। आपको उस फॉर्म को बहुत ही सावधानी के साथ भर देना होगा और उसके साथ जो जो डाक्यूमेंट्स जरुरी हैं, उन्हें दे देना होगा। यह सब आपको वहां बैठे अधिकारी को देना होगा और वह इन सभी की जाँच करेगा। इसके बाद वह सब चीज़ों की एंट्री अपने कंप्यूटर सिस्टम पर कर देगा और आपको उन डाक्यूमेंट्स पर हस्ताक्षर करने को कहेगा।

इसी के साथ ही आपके और आपके बच्चे के अंगूठे के निशान भी उन पर लिए जाएंगे क्योंकि छोटी उम्र में बच्चा ठीक से हस्ताक्षर नहीं कर पाता है। जब यह सब हो जाएगा तो आपके मोबाइल नंबर और ईमेल आईडी पर सूचित कर दिया जाएगा कि आपके बच्चे के नाम पर बाल जीवन बीमा योजना शुरू हो चुकी है। इसी के साथ ही डाक घर का वह अधिकारी भी आपसे प्रीमियम की पहली राशि लेकर आपको स्लिप दे देगा।

बाल जीवन बीमा योजना के फायदे (Bal jeevan bima benefits in Hindi)

अंत में हम बाल जीवन बीमा योजना को शुरू करवाने के क्या कुछ लाभ मिलते हैं या इसे क्यों ही शुरू करवाया जाता है, इसके बारे में बात कर लेते हैं। वैसे तो आपको अभी तक का लेख पढ़कर यह समझ आ ही गया होगा कि इस योजना को शुरू करवाने के पीछे क्या कुछ उद्देश्य हैं या फिर माता पिता या बच्चों को किस तरह के लाभ देखने को मिलते हैं। फिर भी हम इन पर विस्तृत चर्चा कर लेते हैं ताकि आपके मन में किसी तरह की शंका ना रहने पाए।

download app
  • बाल जीवन बीमा योजना को शुरू करवाने का सबसे बड़ा उद्देश्य और लाभ तो यही है कि बच्चे के बड़े होने पर उसकी पढ़ाई या विवाह में जो खर्चा लगता है, उसकी भरपाई आसानी से की जा सके।
  • अब एक समय के बाद माता पिता को बच्चों की पढ़ाई या विवाह के लिए ऋण लेना पड़ता है जो बाल जीवन बीमा योजना के माध्यम से जरुरत नहीं पड़ती है।
  • यह भारत सरकार के द्वारा चलायी गयी एक योजना है। ऐसे में इसमें निवेश किया गया पैसा एकदम सुरक्षित रहता है और उसके डूबने की संभावना नहीं होती है।
  • इन पैसों पर किसी तरह का आय कर भी नहीं लिया जाता है। कहने का अर्थ यह हुआ कि एक वित्तीय वर्ष के दौरान आप जितना पैसा इस बाल जीवन बीमा योजना में डालते हैं, उस पर आय कर क्षमा कर दिया जाता है।
  • माता पिता की मृत्यु हो जाने के बाद भी यह योजना बंद नहीं होती है बल्कि उस स्थिति में भारत सरकार ही उस बच्चे के लिए अभिभावक की भूमिका में आ जाती है जो स्वयं अपनी और से प्रीमियम की राशि जमा करवाती है।

इस तरह से यदि आप अपने बच्चे के लिए बाल जीवन बीमा योजना शुरू करवाने जा रहे हैं तो उससे आपको कई तरह के लाभ देखने को मिलते हैं जो आपके बच्चे के सुनहरे भविष्य के लिए बहुत जरुरी होते हैं।

बाल जीवन बीमा योजना क्या है – Related FAQs 

प्रश्न: बाल बीमा योजना से आप क्या समझते हैं?

उत्तर: बाल जीवन बीमा योजना एक ऐसी योजना है जो भारत सरकार के द्वारा चलायी व प्रबंधित की जाती है। इस योजना के तहत भारत का कोई भी नागरिक जो देश में रह रहा है, वह अपने 5 वर्ष से लेकर 20 वर्ष के बच्चों का भविष्य सुरक्षित करने या उन्हें लाभ देने के उद्देश्य से पैसों का निवेश कर सकता है।

प्रश्न: चाइल्ड पॉलिसी के क्या फायदे हैं?

उत्तर: चाइल्ड पॉलिसी के फायदे जानने हैं तो आप ऊपर का लेख पढ़ कर जानकारी पा सकते हो।

प्रश्न: बच्चों का बीमा कैसे होता है?

उत्तर: बच्चों का बीमा करवाना है तो उसकी प्रक्रिया हमने ऊपर के लेख में विस्तार से दी है जो आप पढ़ सकते हो।

तो इस तरह से इस लेख के माध्यम से आपने बाल जीवन बीमा योजना के बारे में जानकारी हासिल कर ली है। आपने जाना कि बाल जीवन बीमा योजना क्या है बाल जीवन बीमा योजना किसे मिलती है बाल जीवन बीमा योजना लेने के नियम और फायदे क्या हैं इत्यादि। आशा है कि जो जानकारी लेने के लिए आप इस लेख पर आए थे वह आपको मिल गई होगी। फिर भी यदि कोई प्रश्न आपके मन में शेष है तो आप हम से नीचे कॉमेंट करके पूछ सकते हैं।

लविश बंसल
लविश बंसल
लविश बंसल वर्ष 2010 में लवली प्रोफेशनल यूनिवर्सिटी में कंप्यूटर साइंस इंजीनियरिंग में प्रवेश लिया और वहां से वर्ष 2014 में बीटेक की डिग्री ली। शुरुआत से ही इन्हें वाद विवाद प्रतियोगिता में भाग लेना या इससे संबंधित क्षेत्रों में भाग लेना अच्छा लगता था। इसलिए ये काफी समय से लेखन कार्य कर रहें हैं। इनके लेख की विशेषता में लेख की योजना बनाना, ग्राफ़िक्स का कंटेंट देखना, विडियो की स्क्रिप्ट लिखना, तरह तरह के विषयों पर लेख लिखना, सोशल मीडिया कंटेंट लिखना इत्यादि शामिल है।
WordPress List - Subscription Form
Never miss an update!
Be the first to receive the latest blog post directly to your inbox. 🙂