जमीन का सरकारी रेट कैसे पता करें? 2022 सर्किल रेट कैसे पता करें ऑनलाइन

Jamin ka sarkari rate kaise jane, क्या आप अपने शहर या क्षेत्र की जमीन का सरकारी रेट या सरकारी कीमत पता करना चाहते हैं? दरअसल बहुत से लोगों को किसी एरिया या शहर की किसी जमीन का सरकारी भाव (Jamin ka sarkari rate kya hai) पता करना होता हैं लेकिन उन्हें इस बारे में पता नही होता हैं। आजकल के समय में किसी भी जमीन का सरकारी रेट पता करना बहुत ही आसान कर दिया गया हैं।

ऐसा इसलिए क्योंकि पहले के समय में इसके लिए (Jamin ki sarkari kimat kya hai) सरकारी कार्यालय या तहसील कार्यालय के चक्कर काटने पड़ते थे और फिर बहुत देर तक प्रतीक्षा करनी पड़ती थी। ऊपर से अधिकारियों का बुरा बर्ताव या उनका टालमटोल रवैया बहुत दुखदायी रहता था। कभी कभी तो उस सरकारी जमीन का गलत भाव भी हमें बता दिया जाता था और हमें घाटा हो जाता था।

ऐसे में यदि आप सरकारी जमीन का रेट पता करना का तरीका जान चाह रहे हैं और इसके लिए क्या किया जाए और क्या नही, के बारे में विस्तार से जानना चाहते हैं तो आज के इस लेख में आपको जमीन की सरकारी कीमत कैसे पता करें के बारे में ही बताया जाएगा। आइए जाने जमीन का सरकारी रेट कैसे पता किया जा सकता हैं।

जमीन का सरकारी रेट कैसे पता करें? (Jamin ka sarkari rate kaise jane)

किसी भी जमीन का सरकारी रेट पता करने के लिए अब पहले के जैसे आपको किसी सरकारी कार्यालय में जाने की आवश्यकता नही हैं। इसके लिए भारत की हर राज्य सरकार के द्वारा ऑनलाइन व्यवस्था की गयी हैं। आपको बस अपने राज्य की सरकारी वेबसाइट पर जाकर वहां से किसी भी क्षेत्र की जमीन का सरकारी रेट पता करना होता हैं।

किसी भी जमीन का सरकारी भाव पता करने से पहले आपका यह जानना आवश्यक हैं कि सरकारी भाव आखिरकार होता क्या है और यह कैसे निर्धारित होता है। इसके साथ ही किसी भी जमीन का सरकारी भव कहां लिखा होता है और यह कैसे मिल सकता है। आइए जाने इन सभी के बारे में विस्तार से।

जमीन का सरकारी रेट कैसे पता करें? सर्किल रेट कैसे पता करें?

जमीन का सरकारी रेट क्या है (Jamin ka sarkari rate kya hota hai)

किसी भी जमीन का सरकारी रेट आखिरकार होता क्या हैं। दरअसल भारत के हर राज्य के अंतर्गत आने वाली कोई भी जमीन फिर चाहे वह शहर में हो या कस्बे में या गाँव में या कहीं ओर, हर जमीन की कीमत वहां की राज्य सरकार के द्वारा निर्धारित की जाती हैं।

इस जमीन की कीमत का निर्धारण वहां की राज्य सरकार के राजस्व विभाग के द्वारा किया जाता हैं। यह सब कुछ वहां के MVR रजिस्टर में अंकित होता हैं। पहले यह केवल इसी रजिस्टर में अंकित रहा करता था लेकिन आज के समय में बढ़ते आधुनिकीकरण के कारण यह सब जानकारी ऑनलाइन भी प्रविष्ट कर दी गयी हैं।

जमीन का सरकारी रेट क्यों पता करते है?

अब आप जानना चाहेंगे कि आखिरकार किसी भी जमीन का सरकारी रेट पता करने की आवश्यकता क्यों पड़ती है। ऐसा इसलिए क्योंकि जब भी आप किसी सजमीन का सौदा करने चाहेंगे फिर चाहे वह जमीन आपको बेचनी हो या खरीदनी हो तो आपके अपने यहाँ के तहसील कार्यालय में जाकर उस जमीन की रजिस्ट्री करवानी होगी।

बिना किसी जमीन की रजिस्ट्री करवाए आप वो जमीन ना तो बेच सकते हैं और ना ही खरीद सकते हैं। इसके साथ ही उस जमीन के साथ एक स्टाम्प ड्यूटी लगाना भी अनिवार्य होता हैं। अब चाहे आपने उस जमीन का सौदा कितने में भी कुया हो इससे अंतर नही पड़ता। आपने जो जमीन खरीदी या बेचीं हैं, उसकी सरकारी कीमत क्या हैं, उसी से ही जमीन की रजिस्ट्री व स्टाम्प ड्यूटी निर्धारित होती हैं।

MVR क्या होता है (MVR circle rate)

ऊपर हम ने आपको एमवीआए के बारे में बताया लेकिन आपके मन में यह शंका होगी कि आखिरकार यह MVR होता क्या हैं या फिर इसका जमीन के सरकारी रेट से क्या संबंध हैं। तो सबसे पहले आपका MVR का पूरा नाम या फुल फॉर्म जानने की आवश्यकता है।

MVR की फुल फॉर्म Minimum Value Register of Land होता हैं जिसका अर्थ हुआ किसी भी जमीन की न्यूनतम रजिस्टर कीमत। एक तरह से यह एक ऐसा सरकारी रजिस्टर होता है जहाँ पर हर भूखंड की न्यूतम कीमत लिखी होती हैं।

उदाहरण के तौर पर आप कान्हा गाँव में 3 नंबर जमीन की सरकारी कीमत पता करना चाह रहे हैं। अब सरकारी MVR रजिस्टर में उसकी कीमत 5 लाख हैं तो आप वह जमीन 5 लाख से कम में ना तो बेच सकते हैं और ना ही खरीद सकते हैं। यह कोई निर्धारित नही हैं। कहने का तात्पर्य यह हुआ कि आप उस जमीन को 5 लाख से ज्यादा खरीदने या बेचने के लिए बाध्य नही हैं।

एक तरह से सरकार ने किसी भी तरह की धोखाधड़ी इत्यादि से बचने के लिए उस जमीन की एक न्यूमतम कीमत तय की हैं ताकि कोई भी किसी के साथ जालसाजी ना कर सके।

स्टांप ड्यूटी क्या होती है? (Stamp duty kya hoti hai)

अब आपके मन में यह प्रश्न उठ रहा होगा कि आखिरकार यह स्टांप ड्यूटी किसे कहते हैं। दरअसल यदि आपने पहले कभी स्टांप ड्यूटी के बारे में नही सुना हैं तो आज इसके बारे में जान लीजिए क्योंकि यह किसी जमीन के सौदे के समय बहुत महत्वपूर्ण होती हैं।

जब भी आप किसी को जमीन बेचेंगे या खरीदेंगे तो आपको तहसील कार्यालय में जाकर वहां उस जमीन की रजिस्ट्री किसी और के नाम करवानी होगी। उस समय उस जमीन की रजिस्ट्री करवाने के लिए वहां की सरकार के द्वारा एक सरकारी कर या गवर्नमेंट टैक्स लिया जाता हैं। इसी टैक्स को स्टांप ड्यूटी के नाम से जाना जाता हैं।

यह स्टांप ड्यूटी वहां के क्षेत्र की जमीन की कीमत तथा रह्य सरकार के राजस्व विभाग के द्वारा लगाए जा आरहे टैक्स पर निर्धारित होती हैं। इसलिए पहले आपको उस जमीन पर लगने वाले सरकारी कर के बारे में पता करना होगा और फिर उतने की ही स्टांप ड्यूटी लेनी होगी।

सर्किल रेट क्या होता है?

जमीन का सरकारी रेट पता करते समय आपके मन में यह प्रश्न या शंका भी उठी होगी कि आखिरकार यह सर्किल रेट क्या होता हैं। दरअसल किसी भी जमीन का सरकारी रेट पता करने के लिए सर्किल रेट ही सबसे महत्वपूर्ण माना जाता हैं।

इसे एक उदाहरण से समझिये। दो जमीन जो एकदम पास में हैं और उनका क्षेत्रफल भी सामान हैं। तो ऐसी स्थिति में सरकार के द्वारा पहली जमीन की कीमत में और दूसरी जमीन की कीमत में कोई अंतर नही होगा। यदि पहली जमीन की सरकारी कीमत 2 लाख हैं तो दूसरी जमीन की भी उतनी ही कीमत होगी।

एक तरह से सरकार के द्वारा एक एरिया, सर्किल या क्षेत्र में हर भूखंड का एक रेट निर्धारित किया जाता हैं। अब उस सर्किल में जितने भी घर या जमीन आएंगे, उनका वही रेट होगा, ना कम और ना ज्यादा।

जमीन की सरकारी कीमत कैसे पता करें? (Jamin ki sarkari kimat kya hai)

अब बात करते हैं कि आप ऑनलाइन किसी जमीन का सरकारी रेट कैसे पता कर सकते हैं। दरअसल इसके लिए हर राज्य सरकार के द्वारा अलग अलग वेबसाइट दी गयी (Jameen ka sarkari rate kaise pata kare) हैं। कहने का अर्थ यह हुआ कि आप अपने राज्य की जमीन का सरकारी रेट देखने के लिए भारत सरकार की कोई वेबसाइट का इस्तेमाल नही कर सकते हैं।

इसके लिए आपको अपने राज्य सरकार की ही वेबसाइट पर जाना होगा और वहां दिए गए चरणों का पालन करना होगा। इसी तरह से आप वहां की जमीन का सरकारी रेट पता कर पाएंगे। आइए इसके लिए बिहार राज्य की जमीन का सरकारी रेट कैसे पता करें, उसी से समझते हैं।

बिहार राज्य की जमीन का सरकारी रेट कैसे पता करें (Jamin ka sarkari rate kya hai Bihar)

बिहार में बिहार राज्य की जमीन का सरकारी रेट पता करने के लिए नीचे बताये गए स्टेप फॉलो करें –

Total Time: 15 minutes

ऑफिसियल वेबसाइट पर जाएँ –

इसके लिए सबसे पहले तो वहां की सरकारी वेबसाइट पर जाना होगा। उसके लिए सबसे पहले आपको इस http://bhumijankari.bihar.gov.in/BiharPortal/Home.aspx पर क्लिक करना होगा। जैसे ही आप इस लिंक पर क्लिक करेंगे तो बिहार सरकार की वेबसाइट खुल जाएगी।

View MVR आप्शन पर क्लीक करें –

बिहार राज्य की जमीन का सरकारी रेट कैसे पता करें (Jamin ka sarkari rate kya hai Bihar)

अब वहां आपको मुख्य प्रष्ठ पर कई विकल्प दिखाई देंगे। इसमें से आपको सबसे पहले विकल्प View MVR पर क्लिक करना होगा। इसके बाद आपके सामने एक नया पेज खुल जाएगा जहाँ से आपको किस क्षेत्र के अंतर्गत सरकारी जमीन का रेट पता करना हैं, यह पूछा जाएगा। यह चार विकल्प होंगे निबंधन कार्यालय (Registration Office), अंचल नाम (Circle Name), थाना कोड (Thana Code) व भूमि प्रकार (Land Type)।

डिटेल्स सेलेक्ट करें –

बिहार राज्य की जमीन का सरकारी रेट कैसे पता करें (Jamin ka sarkari rate kya hai Bihar)

इसमें आपको रजिस्ट्रेशन ऑफिस के अंतर्गत अपना शहर या जिला चुनना होगा और फिर जब आप यह चुन लेंगे। तब आपको सर्किल नाम के अंतर किस गाँव, कस्बा, तहसील इत्यादि की जमीन की कीमत पता करनी हैं, वह चुननी होगी। इसके बाद थाना कोड में आपको अपने एरिया का नाम चुनना होगा और फिर लैंड टाइप में उस एरिया की किस गली या मोहल्ले इत्यादि के जमीन की सरकारी कीमत पता करनी हैं, इसके बारे में जानकारी निकालनी होगी।

बिहार राज्य की जमीन का सरकारी रेट चेक करें –

बिहार राज्य की जमीन का सरकारी रेट कैसे पता करें (Jamin ka sarkari rate kya hai Bihar)

जैसे ही आप यह यह जानकारी चुन लेंगे तो आपके सामने उसी पेज पर वहां की जमीन की सरकारी कीमत आ जाएगी। यहाँ पर आपको उस क्षेत्र की न्यूमतम सरकारी कीमत, उस पर लगने वाली रजिस्ट्री फीस, स्टांप ड्यूटी की कीमत व यदि कोई अन्य स्टांप ड्यूटी भी लग रही हैं तो उसकी भी कीमत आ जाएगी।

बस इस तरह से आप बिहार में किसी भी भूभाग की जमीन की सरकारी कीमत आसानी से पता कर सकते हैं। यह बस 5-6 क्लिक का खेल होगा और आपको घर बैठे ही उस जमीन की सरकारी कीमत व अन्य जानकारी मिल जाएगी।

बस इसी तरह से आप भारत के अन्य राज्य की वेबसाइट पर जाकर उस जमीन का सरकारी रेट पता कर सकते हैं। इनमें आप उत्तर प्रदेश, राजस्थान, मध्य प्रदेश, उत्तराखंड इत्यादि किसी भी राज्य के किसी भी भूभाग की सरकारी जमीन का रेट आसानी से पता कर पाएंगे।

सरकारी जमीन का रेट कैसे चेक करे – Related FAQs

प्रश्न: उत्तर प्रदेश में जमीन का रेट क्या है?

उत्तर: उत्तर प्रदेश में जमीन का रेट पता करने के लिए आपको उत्तर प्रदेश सरकार की आधिकारिक वेबसाइट पर जाकर पता करना होगा।

प्रश्न: 1 एकड़ जमीन की कीमत क्या है?

उत्तर: एक एकड़ जमीन की कीमत हर राज्य व वहां के भूभाग के आधार पर अलग अलग हो सकती है।

प्रश्न: मध्यप्रदेश में जमीन का क्या रेट है?

उत्तर: मध्य प्रदेश में किसी भी जमीन का सरकारी रेट पता करने के लिए आपको मध्य प्रदेश सरकार की आधिकारिक वेबसाइट पर जाकर पता करना होगा।

प्रश्न: अपनी जमीन को कैसे बेचे?

उत्तर: अपनी जमीन को बेचने के लिए आपको अपने यहाँ के तहसील कार्यालय जाकर उसकी रजिस्ट्री करवानी होगी व स्टांप ड्यूटी लेनी होगी।

प्रश्न: जमीन रजिस्ट्री करने में कितना पैसा लगता है?

उत्तर: यह हर राज्य व तहसील के अनुसार अलग अलग होता हैं और इसका पता आपको ऑनलाइन या तहसील कार्यालय से करना होगा।

तो आज आपने जाना कि किसी भी जमीन की सरकारी कीमत क्या होती है (Jameen ka sarkari rate kya hai), उसके लिए क्या अन्य चीज़े जरुरी होती है, जमीन की सरकारी कीमत को ऑनलाइन कैसे चेक किया जा सकता है तथा उसके अन्य मापदंड क्या है इत्यादि।

Contents show
Spread the love:

Leave a Comment

एक देश एक राशन कार्ड योजना नानाजी देशमुख कृषि संजीवनी योजना यूपी जनसंख्या कानून क्या है? मुख्यमंत्री कृषि आशीर्वाद योजना झारखण्ड कम्युनिकेशन स्किल इम्प्रूव करने के 8 तरीके