जादूगर कैसे बने? मशहूर जादूगर कैसे बनतें हैं? Jadugar Kaise Bane?

|| Jadugar kaise bane, असली जादू कैसे सीखें, जादूगर का रहस्य, जादू सीखने का मंत्र, जादू सीखने की किताब, इंद्रजाल कैसे सीखते हैं, तिरिया राज का जादू, जादू का इतिहास ||

बचपन में हम कई बार जादू का शो देखने जाते थे और उसे देखकर बहुत उत्साहित भी होते थे। तब हम मन ही मन सोचते थे कि उस जादूगर के पास कुछ कमाल की शक्तियां और इसी कारण वह इतने बेहतर करतब (Magic kaise karte hain) दिखा पा रहा हैं।

आज भी जब हम कभी जादूगर का शो देखने जाए तो उसे देखकर आश्चर्य में पड़ जाते (Jadu kaise sikhe) हैं कि आखिरकार उसने यह जादू किया तो किया कैसे। ऐसे में यदि आपके मन में भी उन जादूगर को देखकर यह ख्याल आ रहा हैं कि आप भी एक जादूगर बने तो आज हम आपको वही बताएँगे।

इस लेख (Magician kaise bane) के माध्यम से आपको जादूगर कैसे बने, उसको बनने के लिए क्या क्या करना पड़ता हैं, प्रसिद्ध जादूगर के नाम तथा उनकी (Jadugar kaise banta hai) कला इत्यादि के बारे में सब कुछ बताएँगे।

Contents show

जादूगर कैसे बने? (Jadugar kaise bane)

यदि आप सच में जादूगर बनना चाहते हैं और अपना नाम कमाना चाहते हैं तो आपको सबसे पहले मैजिक सीखना होगा। क्योंकि बिना मैजिक सीखे आप जादू कैसे ही दिखा पाएंगे।

ऐसे में आपको जादू से लेकर जादूगर तक हर उस चीज़ के बारे में जानना आवश्यक हैं जिनकी सहायता से आप एक सफल जादूगर बन सकते हैं। आइए जानते हैं कि आप मैजिक कैसे सीख सकते हैं और उसके बाद एक सफल जादूगर कैसे बन सकते हैं।

जादूगर कैसे बने? मशहूर जादूगर कैसे बनतें हैं? Jadugar Kaise Bane?

जादू क्या है? (Jadu kya hota hai)

यदि आप अभी तक जादू को कोई दैवीय शक्ति, तांत्रिक शक्ति या अन्य कोई चमत्कारिक शक्ति समझ रहे अहिं तो आज हम आपकी सभी शंकाओं पर विराम लगाते हुए बता दे कि जादू कोई चमत्कारिक या दैवीय शक्ति ना होकर बस और बस हाथ की सफाई होती हैं। दरअसल जादू करने के लिए आपके अंदर कोई शक्ति नही होनी चाहिए और ना ही किसी जादूगर के अंसार ऐसी कोई शक्ति होती हैं।

जादू एक तरह से मैजिक ट्रिक होती हैं। तो किसी के सामने एक ऐसी चीज़ होना जो उस व्यक्ति की समझ से परे हो और वह यह समझ (Magic kya hai) ही ना पाए कि वह चीज़ हुई तो हुई कैसे, साथ ही वह उस चीज़ के होने पर उसे देखकर आश्चर्यचकित हो जाए और उसे वह काम असंभव लगे तो उस चीज़ को जादू कहा जाएगा।

मैजिक किसे कहते है (What is magic in Hindi)

दरअसल जादू को अंग्रेजी में मैजिक कहा जाता हैं। इसलिए आप किसी असंभव या असंभव दिखने वाली चीज़ को दूसरे के सामने आसानी से कर देना मैजिक कहलायेगा। इसमें एक व्यक्ति की हाथ की सफाई व कुछ यंत्रों का उपयोग किया जाएगा।

जादू कैसे करते है (Jadu kaise karte hain)

अब आपका अगला प्रश्न होगा कि आखिरकार एक जादू या मैजिक को किया कैसे जाता हैं। तो दरअसल इसमें तीन चीजों का योगदान होता हैं। पहले हैं एक व्यक्ति की हाथ की सफाई, दूसरा उसे करने का तरीका व तीसरा उसमे इस्तेमाल होने वाले प्रॉप्स या यंत्र। आइए तीनो के बारे में जाने।

  • किसी जादू को करने के लिए व्यक्ति को हाथ की सफाई रखनी पड़ती हैं क्योंकि इसमें जरा सी भी गलती हुई तो सारा का सारा जादू व्यर्थ हो जाएगा और सामने वाले को यह समझ में आ जाएगा कि वह जादू हो कैसे रहा हैं।
  • जादू को करने के लिए उसको करने का तरीका भी बहुत मायने रखता है। इस तरीके को ट्रिक भी कहा जा सकता है। इसी ट्रिक को ही ध्यान में रखकर एक जादूगर उस जदू को करता है। एक तरह से इसे उस जादू को करने का नियम भी कह सकते है।
  • तीसरी और सबसे महत्वपूर्ण चीज़ ओएर वह होती है उस जादू को करने के यंत्र या प्रॉप्स। दरअसल यह आवश्यक नही कि हमेशा ट्रिक से ही जादू किया जाए। कभी कभी उस जादू को करने के लिए कुछ स्पेशल प्रॉप्स या यंत्रों की आवश्यकता होती हैं और इन यंत्रों के बिना उस जादू को करना असंभव होता है।

जादूगर कौन होता है (Jadugar kon hota hai)

अब जब आपने जादू और जादू करने के तरीके के बारे में जान लिया तो आपका यह भी जानना आवश्यक हैं कि एक जादूगर होता क्या है। दरअसल एकजादूगर वह व्यक्ति होता हैं जो सभी तरह के जादू को सीखकर उसे करने में निपुणता प्राप्त कर ले। एक तरह से एक ऐसा व्यक्ति जो कई तरह के जादू को परफॉर्म कर सकता हो और वो भी एकदम सफाई के साथ तो उसे जादूगर कहा जा सकता हैं।

यदि कोई व्यक्ति केवल एक दो जादू को ही जनता हैं या उसे एक दो ट्रिक ही आती हैं तो उसे हम जादूगर नही कह सकते हैं। एक जादूगर 50 से अधिक जादू या उनकी ट्रिक्स को ना केवल जनता होगा बल्कि उसे सफलतापूर्वक कर भी सकता होगा। कहने का अर्थ यह हुआ कि वह सामने वाले के सामने उस जादू का पता लगे बिना उसे कर सकने में माहिर होगा।

जादूगर बनने के लिए क्या करें (Jadugar banne ka tarika)

अब आपके सबसे मुख्य प्रश्न पर आते हैं और वह यह हैं कि आपको एक सफल जादूगर बनने के लिए क्या क्या करना पड़ेगा। साथ ही इसके लिए आपको क्या क्या सीखना पड़ेगा और आपके अंदर किस तरह के गुण होने चाहिए। तो (Jadugar kaise bante hain) चलिए जानते हैं एक जादूगर बनने के लिए आपके अंदर क्या क्या गुण व विशेषताएं होनी चाहिए ताकि आप जल्द से जल्द एक सफल जादूगर बन सके।

#1. हाथों की सफाई

एक जादूगर की सबसे बड़ी पहचान उसके हाथ की सफाई होती हैं। यदि आपके पैर ही नही बल्कि आपके हाथ भी आपके इशारे पर नाचते हैं तो आप जादूगर बन सकते हैं। कहने का अर्थ यह हुआ कि जादूगर बनने के लिए पहले आपको अपने हाथों के कोआर्डिनेशन, उनके बीच सामंजस्य स्थापित करना होगा। यदि आपके हाथ आपके काबू में आ गए तो आप जादूगर बनने की दिशा में आगे बढ़ सकते हैं।

हाथों की सफाई आप इसी से चेक कर सकते हैं कि आप किसी काम को बिना गलती किये कितनी सफाई के साथ कर सकते हैं। यदि आप किसी काम को करने में बहु गलतियाँ करते हैं तो आपको उसे सुधारने की आवश्यकता हैं। इसलिए सबसे पहले अपने इस गुण को बेहतर बनाए।

#2. तेज हाथ चलाना

जादूगर बनने के लिए केवल हाथ की सफाई ही नही बल्कि उनका तेज गति से काम करना भी आवश्यक होता हैं। इसके लिए आपके साथ बहुत तेज गति से काम करे और वह भी एक साथ कई काम कर सके, यह बहुत जरुरी हैं।

इसलिए आप अपने हाथों को इस तरह से मैनेज करे कि वह अपने काम में सफाई तो रखे ही रखे बल्कि चीजों को तेज गति से मैनेज करना सीखे और उसे सही से समय पर कर भी दे। तो इसके लिए आप आज से ही मेहनत करना शुरू कर दे।

#3. आँखों को धोखा देना

हम आपको दूसरों को सच में दोखा देने या उनका दिल दुखाने की बात नही कर रहे हैं। दरअसल एक जादूगर की खूबियों में जो चीज़ प्रमुख होती हैं वह हैं अपने दर्शकों की आँखों को दोखा देना। ऐसा करके ही वह अपने जादू को सही तरीके से कर पाता हैं।

इसलिए यदि आपके हाथों में सफाई आ चुकी हैं तो भी कई लोग ऐसे होंगे जो उस जादू को पकड़ लेंगे या उनकी नज़र तेज होगी। ऐसे में आप सभी को दोखा देकर या चकमा देकर उस जादू को कैसे कर पाएंगे यही मायने रखता है। यदि आप इस काम को बेहतर तरीके से करना सीख गए तो समझ जाइये आपने जादू बनने की दिशा में आधा काम कर लिया हैं।

#4. दूसरों की आँखों में देखना

यह भी एक सफल जादूगर बनने की दिशा में एक महत्वपूर्ण कदम हैं। दरअसल जब आप जादू दिखा रहे होंगे तो आपको मुख्य तौर पर सामने वाले की आँखों में देखना होगा। एक तरह से ऐसा करके आप उसे दोखा ही दे रहे होंगे।

क्योंकि वह समझेगा कि उसे भी आपकी ओर ही देखना हैं और तब तक आप अपना जादू कर चुके होंगे। ऐसे में आप अपनी आँखों का इस्तेमाल किस तरीके से करते हैं, यह भी बहुत मायने रखता हैं।

#5. आत्म-विश्वास

एक जादूगर की खासियत में उसका आत्म-विश्वास भी बहुत मायने रखता हैं। यदि आपको लगता हैं कि आप यह जादू कर लेंगे तो आप अवश्य ही उसे कर लेंगे लेकिन यदि आपका अपने ऊपर ही विश्वास नही हैं तो आपको डर लगा रहेगा। और यदि आप जादू करते समय किसी डर में हैं तो अवश्य ही वह जादू फैल हो जाएगा।

इसलिए यदि आपको जादूगर बनना हैं तो आपको अपने मन से किसी भी तरह के डर को पूरी तरह निकालना होगा। इसी के साथ यदि आपका कोई जादू गलत भी हो जाता हैं तो आपको उसे मैनेज करना भी सीखना होगा। इसी में आपका आत्म विश्वास काम आएगा।

#6. जादू करना सीखें

अब जब आपको जादूगर बनना हैं तो यह तो सबसे महत्वपूर्ण हैं। यदि आपने ऊपर दिए काम में सफलता हासिल कर ली हैं तो अगला नंबर आता हैं जादू सीखने का। आप चाहे इसकी शुरुआत एक छोटे स्तर पर करें लेकिन करें जरुर। फिर धीरे धीरे आप अपने द्वारा जादू किये जाने का क्षेत्र बढ़ाते रहे और जादू सीखते रहे।

यदि आप जादूगर बनना चाहते हैं तो आपको कम से कम 50 से अधिक जादू की ट्रिक्स आनी चाहिए और उन्हें करने का तरीका भी। ऐसे में आप जादू को कैसे सीख सकते हैं, इसके बारे में हम आपको नीचे विस्तार से बताएँगे।

#7. जादू करके दिखाए

अब जब आपने जादू करना सीख लिया हैं तो इसका अंतिम चरण होगा लोगों को जादू करके दिखाना। इसके लिए आप अपने घरवालों, रिश्तेदारों, दोस्तों इत्यादि को जादू कर करके दिखाए। आप चाहे तो अपने मोहल्ले या गाँव में जादू के शो रख सकते हैं। या फिर किसी उत्सव, फंक्शन या ऐसी ही किसी जगह पर जादू का शो दिखा सकते हैं।

इस बात का ध्यान रखिए कि शुरुआत भले ही छोटी हो लेकिन यही प्रयास आपको एक दिन बड़ा जादूगर बनायेंगे। इस्लेलेये प्रयास करना मत छोडिये और लोगों को अपना जादू दिखाकर उनका मन जीत लीजिए।

मैजिक करना कैसे सीखे (Magic karna kaise sikhe)

अब बात आती हैं कि आप मैजिक करना सीखेंगे कैसे जिससे आप दूसरों के सामने जादू करके दिखा सके। तो इसके लिए भी आपको कुछ नियमों का पालन करने (Magic karne ka tarika) की आवश्यकता हैं तभी आप मैजिक करना या जादू करना सीख पाएंगे। आइए जाने मैजिक करना कैसे सीखें और उसके लिए क्या क्या करें।

#1. जादू की किताब लाये

आपको बाज़ार में कई तरह की जादू की किताब मिल जाएगी जिसमे कई तरह के जादू की ट्रिक्स लिखी होगी। एसेमे आपको बस बाजार जाना हैं और किसी पुस्तक की दुकान पर जाकर वहां से जादू की किताब मांगनी हैं। वह आपको कई तरह की जादू की किताब दिखा देगा जिसमें आप अपनी सहूलियत के अनुसार एक किताब चुन सकते हैं।

यह कितने जादू करने के तरीके के अनुसार अलग अलग भी हो सकती हैं। जैसे कि कोई कितन ताश के पत्तों का जादू तो कोई सिक्कों का जादू इत्यादि पर होगी। ऐसे में आप छोटे से लेकर बड़े जादू करने की किताब खरीद सकते हैं। अब इस किताब को प्रतिदिन पढ़ें और जादू करने की ट्रिक्स को सीखें।

#2. जादू करने की ट्रिक्स ऑनलाइन सीखें

अब आप किताब तो ले आये लेकिन आजकल ऑनलाइन का भी जमाना हैं और आप अपने इंटरनेट के माध्यम से कई ट्रिक्स ऑनलाइन भी सीख सकते हैं। इसलिए आप यूट्यूब या अन्य किसी विडियो के प्लेटफार्म पर जाकर जादू करने की ट्रिक्स ऑनलाइन भी सीखें। यहाँ पर आपको जादू करने की हजारों विडियो मिल जाएगी।

आप चाहे तो बेसिक ट्रिक से शुरुआत कर सकते हैं और फिर धीरे धीरे करके बड़े जादू करना सीख सकते हैं। साथ ही ऑनलाइन आपको कई तरह के जादू करने की ट्रिक्स मिल जाएँगी जिन्हें आप प्रतिदिन सीख सकते हैं। इसलिए यदि आप जादू सीखने को लेकर सीरियस हैं तो प्रतिदिन इसे 2 से 3 घंटे अवश्य दे।

#3. प्रसिद्ध जादूगरों की वीडियोस या शोज देखे

यदि आप सच में मैजिक सीखना चाहते हैं तो आपको प्रसिद्ध जादूगरों को भी फॉलो करना चाहिए और उनकी बनाई विडियो को भी देखना चाहिए। उनके कई शो व विडियो आपको ऑनलाइन मिल जाएगी। इन वीडियोस को आप बार बार देखे और तब तक देखे जब तक कि आपको वह जादू करने का तरीका समझ में ना आ जाये।

आप उस जादू करने वाले को ध्यान से नोटिस करे। इससे आपको पता चलेगा कि एक जादूगर कैसे अपने जादू को सफाई से करता हैं और इसके लिए वह क्या क्या तरीके अपनाता हैं। इससे आपको भी जादू सीखने में बहुत सहायता मिलेगी।

#4. खुद भी जादू करते रहे

अब जब तक आप जादू की किताब पढ़ते रहेंगे या फिर ऑनलाइन वीडियोस ही देखते रहेंगे और खुद उसे करके नही देखेंगे तो फिर कैसे मैजिक सीख पाएंगे। इसलिए यदि आप सच में मैजिक सीखना चाहते हैं तो उसके लिए आपको उसे खुद भी करके देखना ही होगा। बिना मैजिक किये आप उसे कभी नही सीख पाएंगे।

ऐसे में आप जो भी मैजिक किताब से या ऑनलाइन सीख रहे हैं उसे करके देखिये। इसे आप किसी के सामने भी कर सकते हैं और खुद भी अकेले में प्रैक्टिस कर सकते हैं। यदि आप रोजाना जादू करने की प्रैक्टिस करेंगे तो अवश्य ही मैजिक करना सीख जाएंगे। बार बार एक चीज़ को करते रहने से आप उसमे निपुण हो जाएंगे।

#5. खुद को दे नंबर

यह आवश्यक नही कि आप सभी तरह के जादू को कर पाए। किसी किसी जादू को आप जल्दी सीख जाएंगे तो किसी किसी को सीखने में बहुत मेहनत भी करनी पड़ेगी। अब जादू तो हजारो तरह के होते हैं और यह जरुरी नही कि आपको उनमे से हर तरह का जादू आये। अब आप जो बड़े बड़े जादूगर जानते होंगे उन्हें भी दुनिया का हर जादू नही आता होगा।

ऐसे में आप एक कॉपी बनाए और उसमे जादू का नाम लिखे। अब इसमें आपका हाथ कितना साफ हैं, उसमे से 10 में से अपने आप को नंबर दे। यदि किसी जादू में आप अपने आप को 5 में से कम नंबर देते हैं और बहुत मेहनत करने के बाद भी वह 5 से ऊपर नही जाता हैं तो उसे छोड़ दे और उसकी बजाए कोई और जादू को सीखे।

इस तरह जब तक आप किसी जादू में अपने आप को 9 या 10 नंबर ना दे दे तब तक उसे दूसरों के सामने ना करे। यदि आप कम तैयारी के साथ उस जादू को दूसरों के सामने करेंगे तो अवश्य ही वे इसे पकड़ लेंगे। इसलिए जिस जादू में आप पूरी तरह से निपुण हो सके हैं केवल उसे ही दूसरों को दिखाए।

जादूगर कैसे बने – Related FAQs

प्रश्न: जादूगर कैसे सीखते हैं?

उत्तर: जादूगर कई तरह की पुस्तकों व ऑनलाइन वीडियोस के माध्यम से जादू करना सीखते हैं।

प्रश्न: दुनिया का सबसे बड़ा जादूगर कौन है?

उत्तर: दुनिया के सबसे बड़े जादूगर का नाम हैरी होदिनी, अलेक्स, व शिन लिमो है।

प्रश्न: जादू कैसे किया जाता है?

उत्तर: हाथों की सफाई व दूसरों की आँखों को दोखा देकर जादू किया जाता है।

प्रश्न: क्या मैं जादूगर बन सकता हूं?

उत्तर: आप आसानी से जादूगर बन सकते हैं बस इस्ल्के लिए आपको ऊपर बताये गए चरणों का पालन करना होगा।

तो आज आपने जाना कि जादू क्या होता है और उसे कैसे किया जाता है, साथ ही एक जादूगर का क्या काम होता है और वह जादू को कैसे कर पाता है। इसके साथ (Magician kaise bante hain) ही मैजिक कैसे किया जाए और उसको कैसे सीखा जाए, यह भी आज आपने जान लिया है। आशा है कि अब आपकी जादूगर बनने की सभी शंकाएं समाप्त हो गयी होगी।

Leave a Comment

कंपार्टमेंट के लिए आवेदन कैसे करें? प्रधानमंत्री मुद्रा लोन योजना 2023 एमटीपी एक्ट 2021 क्या है? डेट फंड का क्या मतलब होता है? रिकरिंग डिपॉजिट क्या होता है?